विज्ञापन
Kumbh Mela Kumbh Mela

हरिद्वार कुंभ 2021

स्नान कार्यक्रम

मुख्य स्नान
14 जनवरी मकर संक्रांति पर
पहला शाही स्नान
11 मार्च को महाशिवरात्रि पर्व पर
दूसरा शाही स्नान
12 अप्रैल को सोमवती अमावस्या पर
तीसरा शाही स्नान
14 अप्रैल को बैसाखी मेष पूर्णिमा पर
चौथा शाही स्नान
 27 अप्रैल को चैत्र पूर्णिमा पर

हरिद्वार महाकुंभ महापर्व

समुद्रमंथन के बाद हरिद्वार , प्रयाग , उज्जैन और नासिक में अमृत कुंभ रखा गया था। अमृत छलकने के उसी योगके आने पर कुंभ मेले भरते हैं।

कुंभ मेले ग्रहों के राजा बृहस्पति और सूर्य के राशि परिवर्तन पर निर्भर हैं। बृहस्पति जब कुंभ राशि में आए और सूर्य मेष राशि में प्रवेश करे , तब हरिद्वार कुंभ मेला लगता है। इस बार कुंभ महापर्व केवल 14 अप्रैल को होगा और सूर्य के मेष में रहने से एक महीने बाद तक चलेगा । मुख्य शाही स्नान 14 अप्रैल को होगा । वैसे 11 मार्च को शिवरात्रि , 12 अप्रैल को सोमवती अमावस्या और 27 अप्रैल को वैशाख पूर्णिमा के अवसर पर भी तीन अन्य शाही स्नान होंगे ।

कुंभ मेला काल हर बार एक जनवरी से शुरू होकर 30 अप्रैल तक चार महीने रहता है। लेकिन कोरोना महामारी के कारण इस बार मार्च से ही मेला माना जाएगा । यद्यपि मार्च में एक ही शाही स्नान है। कुंभ मेले की अधिसूचना अभी जारी नहीं हुई है। माना जा रहा है कि इस बार कुंभ केवल 48 दिन का ही होगा। मेला अवधि निर्धारण के बाद ही सभी 13 अखाड़े अपनी पेशवाईयों और धर्मध्वजाओं के कार्यक्रम घोषित करेंगे ।

विज्ञापन
विज्ञापन
जल्द है SSC CHSL परीक्षा, मात्र 30 दिन की तैयारी दिलाएगी सफलता
Safalta

जल्द है SSC CHSL परीक्षा, मात्र 30 दिन की तैयारी दिलाएगी सफलता

सारी इच्छाओं को पूरा करने के लिए इस शिवरात्रि बाबा बैद्यनाथ ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक
Shivratri Special

सारी इच्छाओं को पूरा करने के लिए इस शिवरात्रि बाबा बैद्यनाथ ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X