उत्तराखंड के इस गांव में पहली बार पहुंचा 4G, जियो ने लगाए दो टावर

टेक, डेस्क अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Wed, 25 Nov 2020 04:52 PM IST
विज्ञापन
4G Tower in niti village of uttarakhand for demo only
4G Tower in niti village of uttarakhand for demo only - फोटो : social media

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
उत्तराखंड के चमोली में भारत-तिब्बत सीमा से लगी नीती घाटी में रिलायंस जियो के दो 4जी मोबाइल टावर शुरू हो गए हैं। रिलायंस जियो नीती घाटी में कुल 10 टावर लगाएगा। बाकी 8 टावर पर भी काम तेज गति से चल रहा है। घाटी में रहने वाले स्थानीय नागरिकों, ग्रामीणों के साथ सेना के जवानों को भी 4जी संचार सेवाए उपलब्ध हो पाएंगी।
विज्ञापन


उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बुधवार को नीती घाटी के सुग्गी और जुम्मा गांवों में मोबाइल टावर का उद्घाटन किया। जुम्मा गांव में हुए खास कार्यक्रम में मुख्यमंत्री वर्चुअली भाग ले रहे थे। उद्घाटन कार्यक्रम में सांसद तीरथ सिंह रावत और बद्रीनाथ के विधायक महेद्र भट्ट भी शामिल रहे।


रिलायंस के चेयरमैन मुकेश अंबानी को धन्यवाद करते हुए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा, 'सीमांत क्षेत्र में अंतिम व्यक्ति को कनेक्टिविटी देने का वायदा मुकेश अंबानी ने पूरा किया है। मैं उनका आभार व्यक्त करता हूं। मुकेश जी डाटा को फ्यूल कहते रहे हैं और मुझे विश्वास है कि हमारे उत्तराखंड के नौजवान इस नई तकनीक और संचार व्यवस्था का लाभ उठाएंगे।'

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने उन 11 गांवों के निवासियों को भी शुभकामनाएं दी जो पहले फेज में जियो के नए टावरों के जरिए संचार सेवाओं से जुड़ गए है। भारत में मोबाइल सेवाएं शुरू हुए 25 वर्ष हो चुके हैं लेकिन नीती घाटी के दर्जनों गांव आज तक मोबाइल सेवाओं से अछूते थे। ग्रामीणों को संचार सेवाओं के लिए 45 किलोमीटर दूर तक आना पड़ता था। 

भारत-तिब्बत सीमा से लगी इस घाटी में बड़ी संख्या में सेना और आईटीबीपी के जवान भी तैनात रहते हैं। ऐसे में जियो की 4जी सेवाओं के शुरू होने का लाभ सुरक्षा एजेंसियों  को भी मिलेगा। कठिन इलाकाई स्थितियों और प्रतिकूल जलवायु परिस्थितियों के बावजूद रिलायंस जियो यह उपलब्धि हासिल करने वाला पहला ऑपरेटर बन गया है। आज से पहले कोई भी ऑपरेटर इस सीमावर्ती घाटी में नही पहुंच पाया था। 

सर्दियों में यह इलाका भारी बर्फबारी की चपेट में रहता है ऐसे में टावर इंस्टालेशन का काम समय पर पूरा करना एक रिकॉर्ड है। रिलायंस जियो उत्तराखंड का सबसे बड़ा और सबसे तेज 4 जी नेटवर्क है। जियो के नेटवर्क पर उत्तराखंड का सबसे अधिक डाटा इस्तेमाल किया जाता है।  उत्तराखंड में 38.2 लाख ग्राहकों 4 जी ग्राहकों के साथ जियो निर्विवाद रूप से मार्केट लीडर बना हुआ है। 

अधिकतर प्रमुख संस्थान, कॉरपोरेट्स, कॉलेज, विश्वविद्यालय, होटल, अस्पताल, मॉल और अन्य वाणिज्यिक प्रतिष्ठान जियो नेटवर्क से जुड़े हैं। राज्य के 13 जिलों की लगभग सभी तहसील, उप तहसीलों सहित 12700 से अधिक गांव जियो से जुड़े हैं

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all Tech News in Hindi related to live news update of latest mobile reviews apps, tablets etc. Stay updated with us for all breaking news from Tech and more Hindi News.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X