विज्ञापन
विज्ञापन
क्या है पौष पूर्णिमा तिथि का शुभू मुहूर्त व पूजन विधि
Astrology

क्या है पौष पूर्णिमा तिथि का शुभू मुहूर्त व पूजन विधि

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

सुधांशु मलिक बने यूनिवर्सिटी टॉपर

चंडौस स्थित शहीद नरेंद्र कुमार आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेज के छात्र सुधांशु मलिक ने बीएएमएस में तीसरे वर्ष की वार्षिक परीक्षा में 819 सर्वाधिक अंक प्राप्त कर यूनिवर्सिटी में टॉप किया है। इस उपलब्धि पर कॉलेज के शिक्षकों और प्रबंध समिति सदस्यों ने सुधांशु को शुभकामनाएं प्रेषित की हैं।
उप निदेशक ललित चौधरी ने बताया कि सुधांशु मलिक ने फिर से यह इतिहास रचा है। 20 जनवरी को जारी वार्षिक परिणाम में तीसरे वर्ष की परीक्षा में सुधांशु ने सर्वाधिक अंक प्राप्त किए हैं। मूल रूप से सुधांशु मलिक मेरठ के निवासी हैं। वह बीएएमएस की शिक्षा अलीगढ़ से प्राप्त कर रहे हैं। इससे पहले वर्ष भी उन्होंने यूनिवर्सिटी में टॉप किया था। सुधांशु ने बताया कि इस सफलता का श्रेय माता-पिता व गुरुजनों को जाता है। चेयरमैन निर्भय सिंह व उप निदेशक ललित चौधरी, डॉ. दीप्ति नेगी, डॉ. रश्मि, डॉ. महेंद्र बोरा, डॉ. अजीत व डॉ विपुल ने सुधांशु को शुभकामनाएं प्रेषित कीं और उज्ज्वल भविष्य की कामना की है।
... और पढ़ें

अलीगढ़: फाइनेंस कर्मी की संदिग्ध हालत में मौत, बैड पर पड़ा मिला शव, परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल

महानगर के सासनी गेट थाना क्षेत्र के पला साहिबाबाद में बृहस्पतिवार की सुबह एक फाइनेंस कर्मी की संदिग्ध हालत में मौत हो गई। शव घर में बैड पर पड़ा मिला। घर में सिर्फ उसकी सात साल की बेटी थी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया। तीन डॉक्टरों ने वीडियो कैमरा की निगरानी में पोस्टमार्टम किया। प्रथम दृष्टय मौत का कारण स्पष्ट नहीं हो सका है।

मौत का कारण पता लगाने के लिए डॉक्टरों की टीम रिपोर्ट की गहन स्टडी के बाद आज उसे जारी करेगी। परिवार वाले इसे हत्या मान रहे हैं। वहीं, पुलिस सुसाइड मान रही है। फिलहाल दोनों पहलुओं पर जांच जारी है। फारेंसिक टीम ने भी घर के वीडियो-फोटो लिए हैं। साथ ही अस्त-व्यस्त मिले सामान से फिंगर प्रिंट भी लिए गए हैं। पोस्टमार्टम रिपोर्ट जारी होने के बाद मामला दर्ज होगा।

जिला पंचायत से सेवानिवृत राधेश्याम सक्सेना निवासी कृष्णा विहार, पला साहिबाबाद, सासनी गेट का 36 वर्षीय बेटा विकास सक्सेना रामघाट रोड स्थित एक निजी फाइनेंस कंपनी में काम करता था। विकास की पत्नी पल्लवी सक्सेना सरकारी शिक्षिका के पद पर बदायूं जिले के इस्लामनगर में तैनात हैं। बुधवार रात विकास और उनकी सात साल की बेटी ईवा खाना खाकर सोए थे। मगर, बृहस्पतिवार की सुबह वह समय से नहीं उठे। पड़ोस के एक व्यक्ति ने घर का दरवाजा खटखटाया लेकिन अंदर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई। काफी देर बाद बेटी ईवा रोते हुए गेट पर आई और पिता के न उठने की जानकारी दी। इस पर पड़ोसी ने पुलिस बुला ली। पुलिस ने आकर बेटी से दरवाजा खुलवाया। अंदर जाकर देखा तो विकास के मुंह से हल्के से झाग और नाक से हल्का का खून निकल रहा था। गर्दन पर खरोंज का भी निशान था।

साथ ही सीधे पैर में एक कट का निशान लगा मिला। हालांकि वह जख्म पुराना है। घर में कुछ सामान भी बिखरा पड़ा था। इस पर पुलिस ने उनको जिला अस्पताल भेजा। वहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। इस पर पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। तीन डॉक्टरों के पैनल ने पोस्टमार्टम की प्रक्रिया शुरू की। इधर, सूचना पर विकास की पत्नी और पिता सहित भाई आ गए। उन्होंने मामला देख विकास की मौत को हत्या बताया। इधर, पुलिस मामले को सुसाइड मान रही है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में प्रथम दृष्टय मामला साफ नहीं हुआ। इस पर डॉक्टरों की टीम फॉरेंसिंक टीम से बात कर पोस्टमार्टम रिपोर्ट आज जारी करेगी। फिलहाल परिवार वालों ने कोई तहरीर भी नहीं दी है।

घर का सामान अस्त व्यस्त, बेटी कुछ भी बताने में असमर्थ
विकास की मौत के पीछे का कारण जानने में पुलिस उलझ गई है। घटना के समय सिर्फ घर में सात साल की बेटी ईवा थी। परिवार वाले सिर्फ इतना बता पा रहे हैं कि रात नौ बजे करीब बाप-बेटी ने खाना खाया था। वहीं, विकास के कमरे में एक शराब की बोतल भी मिली है। पुलिस शराब की बोतल से अंदाजा लगा रही है कि विकास ने नशेबाजी में शायद कुछ ऐसा खा लिया, जो कि उसके लिए जहर साबित हुआ।

मगर, इस एंगल को विकास के कमरे में अस्त व्यस्त मिले कपड़े और सामान के चलते सटीक नहीं माना जा रहा है। वहीं, विकास की गर्दन पर लगे खरोंच के निशान भी हैं। इससे आत्महत्या या धोखे में कुछ भी खाने की बात सिद्ध नहीं हो पा रही है। इधर, घर का दरवाजा अंदर से बंद था। इस पर पुलिस इस बात में चकरा रही है कि अगर कोई हत्या करके घर से भागेगा तो दरवाजा अंदर से कैसे बंद हो सकता है। वहीं, किसी चोर ने भी घर के अंदर घुसकर चोरी की कोशिश की होगी तो वह सामान चोरी करके क्यों नहीं ले गया।

वहीं, अस्त व्यस्त मिले कपड़ों और बिखरे हुए सामान सहित गर्दन पर खरोंच के निशान देख परिवार वाले इस साफ तौर पर हत्या बता रहे हैं। बेटी ईवा इस मामले में कुछ भी बता नहीं पा रही है। वह सिर्फ पुलिस को इतना बता रही है कि पिता जब सोकर नहीं उठ रहे थे तो उसने उनको जगाने का प्रयास किया। मुंह पर पानी के छींटे भी मारे। पुलिस अब इस मामले की छानबीन के लिए आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज भी खंगाल रही है।

पत्नी इस्लामनगर में, पिता थे सादाबाद
विकास के पिता राधेश्याम सक्सेना ने बताया कि विकास की लव मैरिज हुई थी। उसकी दो बेटी ईशी (3) और कनी (2) बहू पल्लवी के साथ बदायूं के इस्लाम नगर में ही रहती हैं। वहीं उसकी बेसिक स्कूल में बतौर शिक्षक तैनाती है। घर में वह स्वयं, विकास व उसकी बेटी ईशी रहती है। पिछले दिनों वह छोटे बेटे के पास सादाबाद आ गए। इसके चलते विकास ईवा को हर रोज ड्यूटी पर जाते समय पड़ोसी के घर में छोड़ जाता था। बृहस्पतिवार को सुबह 10 बजे तक जब वह बेटी को छोड़ने पड़ोसी के घर नहीं गया। तब पड़ोसी घर पर आए और उन्होंने दरवाजा खटखटाया। इसके बाद पूरा मामला खुला।

परिवार वालों का रो-रोकर बुरा हाल
विकास की मौत की जानकारी होते ही उनके पिता और पत्नी सहित अन्य परिवार वाले आ गए। विकास की मौत से सभी हैरत में हैं। पत्नी पल्लवी व बेटी ईवा का रो-रोकर बुरा हाल है। पिता भी जवान बेटे की मौत से बदहवाश हैं।

-विकास की मौत संदिग्ध परिस्थितियों में हुई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट न आने तक इस विषय में कुछ भी कह पाना मुश्किल है। परिवार वाले हत्या की आशंका जता रहे हैं। पुलिस भी अपने एंगल पर काम कर रही है। जो भी तथ्य सामने आएंगे, उनके आधार पर कार्रवाई होगी।
- कुलदीप सिंह, एसपी सिटी
... और पढ़ें

8 घंटे तक 80 सवालों में उलझा रहा साइबर हैकर, बताया दो साथियों के नाम और 8 के सुराग, खुलेंगे कई राज

साइर थाना पुलिस द्वारा बृहस्पतिवार को रिमांड पर लिए गए फर्जी पेटीएम एकाउंट बनाकर बेचने वाले साइबर हैकर को रिमांड पर लिया गया। आठ घंटे की रिमांड पर रहे हैकर से 80 सवालों के जवाब सिलसिलेवार हुई पूछताछ में पूछे गए। इस दौरान पुलिस को घुमाते-फिराते हुए उसने आठ ऐसे क्लू दिए हैं, जिनके सहारे पुलिस आगे बढ़ने की तैयारी कर रही है। सुबह 9 बजे रिमांड पर लेने के बाद शाम पांच बजे उसे जेल में दाखिल कर दिया गया। इस दौरान पूरी रिमांड प्रक्रिया व पूछताछ प्रक्रिया की पुलिस ने न्यायालय के आदेश पर वीडियोग्राफी भी कराई। हैकर ने अपने दो साथियों के नाम बताएं हैं एक अमरोहा एक उन्नाव का रहने वाला है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

रेंज स्तरीय साइबर थाने में पहला मुकदमा मामू भांजा मंदिर वाली गली निवासी डॉ. पल्लवी अग्रवाल पुत्री संजय अग्रवाल ने दर्ज कराया था, जिसमें खुद के साथ एक लाख 34 हजार 960 रुपये की ऑनलाइन ठगी का आरोप था। इस मामले में ऑनलाइन ठगी का बेस तैयार करने वाले हैकर के रूप में 22 वर्षीय अफरोज अब्बासी पुत्र शहाबुद्दीन निवासी वार्ड नंबर 12 कृष्णा नगर नगर पंचायत निचलौल महाराजगंज को साइबर थाना टीम ने गोरखपुर से गिरफ्तार किया और 7 जनवरी को जेल भेजा। इससे पूछताछ के लिए पुलिस ने बृहस्पतिवार को उसे न्यायालय के निर्देश पर आठ घंटे के रिमांड पर लिया था।

इस दौरान साइबर थाना टीम ने वीडियोग्राफी के बीच उससे सवाल जवाब हुए। इस दौरान उसने 40 सदस्यीय हैकर गैंग के व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़े अपने आठ साथियों के विषय में आधी अधूरी जानकारी दी है। किसी का नंबर नहीं बताया तो किसी का पता नहीं बताया। इसके अलावा आधा दर्जन बैंक एकाउंटों के अलावा आठ ऐसे पेटीएम एकाउंट भी बताए हैं जो फर्जी नाम पर थे और उनसे ठगी के बाद के रुपयों का लेनदेन होता था। इसके अलावा पुलिस ने उससे उसकी आय, खर्चे, साथियों के कामकाज, खुद के कामकाज, लक्ष्य तय करने की प्रक्रिया, रुपये आने के बाद से लेकर बंटवारे तक की प्रक्रिया आदि पर लंबी पूछताछ की।

इंस्पेक्टर साइबर थाना सुरेंद्र सिंह के अनुसार रिमांड पर उससे जो पूछताछ हुई है, उससे जो क्लू मिले हैं। जिन साथियों व फर्जी एकाउंटों की जानकारी मिली है। उनका अध्ययन, उनके लिंक, उनके नाम पते आदि पर काम किया जाएगा। कुछ तथ्य तो ऐसे भी मिले हैं, जिनकी मदद से जल्द ही कुछ लोगों की गिरफ्तारी हो सकती है। खास बात यह है कि इस गिरफ्तारी के बाद हैकर गैंग छिप भी गया है। उसे खोजने का काम भी किया जाएगा।

कई व्हाट्सएप ग्रुप चलाता था, खुद था एडमिन
पुलिस पूछताछ में साइबर हैकर ने स्वीकारा और तथ्य भी उजागर कराए कि वह हैकर गैंग के कई व्हाट्सएप ग्रुप चलाता था और खुद भी कई में एडमिन था। कुछ में उसने दूसरों को एडमिन बना रखा था। उन सभी ग्रुपों का भी अध्ययन किया जाएगा।

चाय-नाश्ता और खाने-पीने के बीच पूछताछ
चूंकि अब हैकर जेल से पुलिस रिमांड पर वीडियोग्राफी और अपने अधिवक्ता की मौजूदगी में आया था। इसलिए उससे पूछताछ के दौरान पुलिस को उससे दोस्ताना माहौल बनाना पड़ा। उसे चाय-नाश्ता में ब्रेड मक्खन खिलाया गया। इसके बाद दोपहर में खाना भी खिलाया गया। तब कई दौर की पूछताछ में उससे बातों-बातों में काफी कुछ निकलवाया जा सका।

80 में से 60 सवालों के दिए जवाब, कई पर झूठ
पुलिस ने उससे पूछताछ के लिए पहले से 80 सवालों की सूची तैयार कर रखी थी। पूछताछ के दौरान उसने 60 करीब सवालों का जवाब दिया। 20 के जवाब देने से इंकार कर दिया। वहीं कई ऐसे जवाब भी दिए, जिन्हें सुनते ही पुलिस ने मान लिया कि वह झूठ बोल रहा है।

पिता ने डाल रखा है शहर में डेरा
पकड़े गए हैकर के पिता ने यहां शहर में ही डेरा डाल रखा है। वे एक होटल में ठहरे हुए हैं और लगातार बेटे की कानूनी पैरवी कर रहे हैं। बृहस्पतिवार को रिमांड के दिन भी अधिवक्ता के साथ वे थाना परिसर के बाहर मौजूद रहे। इस दौरान उनसे बातचीत की कोशिश की गई, मगर सफलता नहीं मिल सकी।
... और पढ़ें

युवती ने डीएम से कन्यादान में मांगी सड़क

आज तक आपने शादी में युवक-युवती को मंहगे तोहफे मांगते सुना होगा। मगर, इगलास तहसील के चूरा नगला की एक युवती ने अलीगढ़ डीएम से कन्यादान में अपने गांव की सड़क दुरुस्त कराने की मांग की है। इस अनोखी गुहार को सुन डीएम भी दंग रह गए। युवती ने बताया कि गांव की आधा किमी सड़क 20 साल से बदहाल है। उसके किनारे एक पोखर है। पोखर का पानी रोड पर ही भरा रहता है। बारात उसकी दहलीज तक नहीं आ पाएगी। डीएम चंद्रभूषण सिंह ने युवती की गुहार पर तत्काल पीडी डीआरडीए को आदेश दिए कि 27 फरवरी को युवती की शादी है। इससे पहले सड़क का हर हाल में निर्माण कार्य पूरा करा दिया जाए। अन्यथा की स्थिति में उनके व अन्य संबंधितों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
इगलास तहसील के गांव चूरा नगला की रहने वाली 25 वर्षीय करिश्मा पुत्री विशंबर सिंह बीएड डिग्री धारक हैं। करिश्मा ने बताया कि उनका रिश्ता पिता ने रामघाट रोड, पीएसी के पास रहने वाले युवक से तय किया है। शादी 27 फरवरी को होनी है। मगर, गांव की आधा किलो मीटर की सड़क 20 साल से बदहाल है। सड़क टूटी पड़ी है। उसके किनारे एक पोखर है, जिसका पानी सड़क पर भरा रहता है। गांव वालों को निकलने में काफी परेशानी होती है। गांव के अधिकांश लोग गांव से बाहर जाकर शादी करते हैं। मगर, उसके पिता की तमन्ना है कि बेटी की डोली घर की दहलीज से ही उठे। मगर, उक्त बदहाल सड़क से बारात का घर की दहलीज तक आना संभव नहीं है। बीते दिनों तहसील प्रशासन से इस मामले में गुहार लगाई गई। मगर, वहां से कोई कार्रवाई नहीं हुई। करिश्मा ने बताया कि इसके बाद वह शुक्रवार को जिलाधिकारी चंद्रभूषण सिंह के पास पहुंची। वहां उसने अपने कन्यादान में डीएम से सड़क को दुरुस्त कराने की मांग की है। डीएम ने शादी से पहले सड़क दुरुस्त कराने का आदेश दिया है। जिलाधिकारी चंद्रभूषण सिंह ने बताया कि करिश्मा की अनोखी गुहार पर एक बार को तो वह दंग रह गए। मगर, यह मामला बेहद गंभीर है। पीडी डीआरडीए को आदेशित किया है कि वह शादी से पहले सड़क की मरम्मत का काम कराएं। वरना, उनके व अन्य संबंधितों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
छह भाई-बहनों में तीसरे नंबर की है करिश्मा
करिश्मा ने बताया कि वह तीन भाई व तीन बहनों में तीसरे नंबर की है। बीएड तक पढ़ाई की है। गांव में अभी भी शिक्षा का अभाव है। वह गांव की लड़कियों को हमेशा शिक्षित होने के लिए जागरूक करती हैं। शिक्षित समाज ही अपने हक के लिए लड़ सकता है। उन्होंने बताया कि उनका एक भाई कृष्ण कुमार गाजियाबाद में रेलवे इंजीनियर के पद पर तैनात है।
... और पढ़ें
डीएम से शिकायत करती करिश्मा कुमारी डीएम से शिकायत करती करिश्मा कुमारी

2450 में से 1296 स्वास्थ्यकर्मियों ने लगवाया कोरोना का टीका

जनपद में 2450 स्वास्थ्यकर्मियों में से 1296 ने टीके लगवाए। कहीं से किसी तरह की दिक्कत की सूचना नहीं है। जनपद में शुक्रवार को 24 बूथों पर स्वास्थ्यकर्मियों को टीके लगाए गए। 2450 में से 1296 स्वास्थ्यकर्मियों ने टीके लगवाए। इसमें महिला स्वास्थ्यकर्मियों की संख्या 1043 एवं पुरुषों की 253 है। 1877 महिला एवं 573 पुरुषों को टीके लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था।
सीएमओ डॉ. बीपी सिंह कल्याणी ने मलखान सिंह जिला अस्पताल बूथ पर टीके लगवाएं। सीएमओ ने बताया कि जनपद में लक्ष्य के विरुद्ध 52.89 प्रतिशत स्वास्थ्यकर्मियों ने टीके लगाए हैं। कहीं से बीमार होने या किसी तरह की दिक्कत की सूचना नहीं है। टीकाकरण को लेकर जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा व्यापक इंतजाम किए गए थे। जिला प्रशासन द्वारा सेक्टर व नोडल मजिस्ट्रेट नियुक्त किए गए थे। स्वास्थ्य विभाग द्वारा सेक्टर एवं नोडल अधिकारी तैनात किए गए थे। टीकाकरण के दौरान जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने केंद्रों पर पहुंचकर जायजा लिया और जरूरी सुझाव दिए। अब 28 एवं 29 जनवरी को टीके लगने हैं।
जवां, इगलास में उत्साह
सीएचसी चंडौस में 186, धनीपुर में 94, इगलास में 199, जवां में 171, अतरौली में 144, बिजौली में 63, अकराबाद में 66, छर्रा में 181, गोंडा में 126 और मलखान सिंह जिला अस्पताल मे 61 स्वास्थ्यकर्मी टीके लगवाने पहुंचे।
... और पढ़ें

वर्कशॉप पर नौकरी करता था कुख्यात सुनील राठी का शूटर

लखनऊ में मऊ के पूर्व ब्लाक प्रमुख अजीत सिंह हत्याकांड के तार अलीगढ़ से जुड़ रहे हैं। इस हत्याकांड में शामिल हरदुआगंज का रहने वाला शूटर राजेश तोमर पश्चिमी यूपी के कुख्यात अपराधी सुनील राठी गैंग का सदस्य माना जा रहा है। वह कुछ साल पहले तक शहर के खैर रोड पर एक ऑटो वर्कशॉप पर नौकरी करता था और वर्कशॉप स्वामी से उसकी गहरी दोस्ती थी। इस जानकारी के आधार पर पुलिस जिला पंचायत सदस्य के भाई वर्कशॉप स्वामी को लखनऊ पुलिस अपने साथ ले गई है। संकेत हैं कि वर्कशॉप स्वामी की मदद से पुलिस राजेश तोमर तक पहुंचने का प्रयास करेगी।
पुलिस सूत्रों की मानें तो मूल रूप से छलेसर आगरा के सत्यप्रकाश अपनी ससुराल हरदुआगंज आकर बस गए थे। उनके तीन बेटों में एक राजेश तोमर दिल्ली में रहते आपराधिक गतिविधियों में शामिल हो गया था। जानकारी में आया है कि इसी बीच वह किसी के जरिये बागपत जेल में मुन्ना बजरंगी की हत्या के आरोपी पश्चिमी यूपी के कुख्यात अपराधी सुनील राठी के गैंग से जुड़ गया। कुछ साल पहले तक यानि दिल्ली जाने से पहले राजेश यहां देहली गेट के खैर रोड जलालपुर में रहने वाले एक जिला पंचायत सदस्य के भाई के ऑटो वर्कशॉप पर नौकरी करता था और वर्कशॉप स्वामी से उसकी दोस्ती भी थी।
दो दिन से राजेश तोमर की खोज में जिले में ही डेरा डाले रही लखनऊ पुलिस टीम ने बुधवार को हरदुआगंज में दबिश दी। इसके बाद बृहस्पतिवार रात में खैर रोड पर वर्कशॉप स्वामी को दबिश देकर हिरासत में लिया। इसके बाद उसे अपने साथ लखनऊ ले गई। हालांकि जानकारी में आया कि कुछ साल पहले राजेश ने यहां से नौकरी छोड़ दी थी। मगर, दोस्ती होने के कारण वर्कशॉप स्वामी मोबाइल पर उससे संपर्क में रहता था। पुलिस को अंदेशा है कि वह राजेश के विषय में सूचनाएं उपलब्ध करा सकता है और उस तक पहुंचने का माध्यम भी बन सकता है।
इधर, चर्चा हरदुआगंज से राजेश की पत्नी को भी साथ ले जाने की है। मगर इस बात की पुष्टि नहीं हो रही। लखनऊ से यही जानकारी मिली है कि चार-पांच लोगों को हिरासत में ले जाकर पूछताछ की जा रही है। इधर, इंस्पेक्टर देहली गेट आशीष कुमार सिंह ने स्वीकारा कि लखनऊ पुलिस यहां से एक युवक को ले गई है। पुलिस से मदद मांगी थी। जिसे पुलिस ले गई है, उसका हमारे यहां कोई क्राइम रिकार्ड नहीं है। हां, हरदुआगंज निवासी राजेश तोमर नाम के दिल्ली के क्राइम रिकार्ड वाले शूटर की तलाश में पुलिस उसे ले गई है।
... और पढ़ें

खैर की सप्लाई इंस्पेक्टर पर भ्रष्टाचार का आरोप, हटाई गईं

खैर तहसील में तैनात सप्लाई इंस्पेक्टर नूर फातिमा पर भ्रष्टाचार का आरोप लगा है। उनकी एक ऑडियो वायरल हुई है, इसमें उनके व एक व्यक्ति के बीच खाद्यान्न से भरे एक ट्रक को छोड़ने की एवज में साठगांठ की बात हो रही है। फिलहाल इंस्पेक्टर को खैर से हटाकर डीएसओ राजेश कुमार सोनी ने मुख्यालय से संबद्ध तक दिया है। अब तक गभाना में तैनात इंस्पेक्टर वीर सिंह को खैर का चार्ज दिया गया है। वहीं, गभाना का अतिरिक्त चार्ज धनीपुर की सप्लाई इंस्पेक्टर अनुराधा गुप्ता को सौंपा गया है।
खैर में करीब 25 दिन पहले खाद्यान्न से भरा एक ट्रक पकड़ा गया था। इस खाद्यान्न को ले जाने वाले ने बताया था उसने इसे किसानों से खरीदा है। वहीं, सप्लाई इंस्पेक्टर इसे गरीबों में बंटने आए सरकारी खाद्यान्न बता रहीं थीं। इसको लेकर खाद्यान्न को पहले कब्जे में ले लिया गया। इसको लेकर खाद्यान्न को खुद का बताने वाले व्यक्ति ने नूर फातिमा से फोन पर संपर्क किया। 1 मिनट 11 सेकेंड की वायरल ऑडियो में नूर फातिमा व उक्त व्यक्ति के बीच में बात हो रही है। नूर फातिमा व्यक्ति को कार्यालय आकर बात करने की कह रहीं हैं। मगर, इसी बीच वह व्यक्ति कहता है कि वह सर से मिल आया था। इसके बाद वह कहता है कि वहां से कोई बात नहीं बनी है। फिर वह कहता है कि खाद्यान्न को छोड़ने की एवज में ‘50’ की बात हुई थी घर पर। इस बीच नूर फातिमा कहती हैं कि इतने में नहीं मान रहे हैं। यह पूरा मामला डीएम चंद्रभूषण सिंह के सामने आया। उन्होंने मामले की जांच एडीएम वित्त एवं राजस्व को सौंप दी है। जिला पूर्ति अधिकारी राजेश कुमार सोनी ने बताया कि फिलहाल नूर फातिमा को खैर से हटा दिया गया है। उनके स्थान पर वीर सिंह को तैनात किया है। मामले की जांच जारी है। खाद्यान्न के संबंध में किसानों से बयान लिए गए हैं। उन्होंने बताया कि व्यक्ति ने उनसे खाद्यान्न खरीदा था। इसके चलते खाद्यान्न अभी छोड़ दिया है।
कौन नहीं मान रहा’ किसके साथ होती है साठगांठ
वायरल ऑडियो ने कई सवाल खड़े कर दिए हैं। इसमें सप्लाई इंस्पेक्टर की ओर से ‘50’ वाली बात पर कहा जा रहा है कि इतने में नहीं मान रहे हैं। इस पर सवाल खड़ा हो गया है कि आखिर कौन नहीं मान रहा है। कौन-कौन इस भ्रष्टाचार के खेल में शामिल है। क्या बड़े स्तर पर चेकिंग में पकड़े जाने वाले माल को छोड़ने की एवज में हर बार साठगांठ होती है। फिलहाल विभाग भी इन सवालों पर मौन है। एडीएम वित्त एवं राजस्व के मुताबिक वह मामले की जांच कर रहे हैं। जो भी इस खेल में दोषी पाया जाएगा। उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी।
... और पढ़ें

कोरोना वायरस से 10 संक्रमित

अश्लील वीडियो वायरल करने के आरोपी के खिलाफ एनएसए की संस्तुति

जिला प्रशासन ने टप्पल थाने में दर्ज एक युवती की अश्लील वीडियो को इंटरनेट पर डालने के आरोपी के खिलाफ एनएसए की संस्तुति की है। शासन से इस संस्तुति पर अंतिम मुहर लगना बाकी है। आरोपी पर पूर्व के भी एक दर्जन मुकदमे दर्ज हैं।
आरोपी प्रशांत निवासी दमुआका, पिसावा सहित दो अन्य नामजदों के खिलाफ बीते वर्ष टप्पल थाने में एक मुकदमा दर्ज हुआ था।
मुकदमे में इन पर एक नाबालिग का अश्लील वीडियो इंटरनेट पर वायरल करने का आरोप है। साथ ही पीड़ित परिवार को वीडियो डिलीट करने की एवज में ब्लैकमेल करते हुए पैसे मांगने का आरोप है। आरोपी प्रशांत फिलहाल जेल में बंद है। वह अपनी जमानत के प्रयास कर रहा है। उसके खिलाफ पूर्व में इसमें मथुरा जिले के राया थाने में तीन, टप्पल में पांच, खैर में एक व पिसावा में तीन मुकदमे दर्ज हैं। ऐसे में जिला पुलिस की रिपोर्ट पर डीएम की ओर से एनएसए की संस्तुति की गई है।
... और पढ़ें

पांच लोगों के जीवन में उजियारा कर पंचतत्व में विलीन हुईं पूजा

बीमारी से निधन के बाद शरीर के पांच प्रमुख अंगों को दान करके पूजा भार्गव एक नया इतिहास लिख गईं। शुक्रवार को उनका अंतिम संस्कार नुमाइश मैदान स्थित शवदाह गृह में किया गया। यहां पहुंचे हर व्यक्ति की आंखें नम थीं। हर किसी को उनके निधन का दुख तो उनके दान पर गर्व भी था। चिता पर लेटी पूजा पंचतत्व में विलीन हुई तो वहीं उनके अंग पांच अलग-अलग शरीरों में प्रत्यारोपण हुए। परिजन प्रत्यारोपण की रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं।
पूजा भार्गव के पति सौरभ भार्गव सराय रहमान में टूरिस्ट बस सर्विस संचालित करते हैं। उनका तेरह वर्षीय पुत्र अनंत भार्गव डीपीएस सीनियर विंग में आठवीं का छात्र है। परिवार को अभी तक यकीन नहीं हो रहा है कि उनकी चहेती भाभी अब इस दुनिया में नहीं हैं। पूजा 13 जनवरी को डीपीएस में आयोजित लोहड़ी के कार्यक्रम मेें शामिल हुई थीं। इससे पहले ऑनलाइन क्लास कर रही थीं। उनको बीते 10-12 दिन से सर्वाइकल का दर्द हो रहा था। इसी कारण स्कूल नहीं गई थीं। लोहड़ी के बाद से उन्होंने ऑफलाइन कक्षाएं लेने के लिए कहा था।
डीपीएस की प्रिंसिपल आरती निगम ने बताया कि स्कूल का ऐसा कोई काम नहीं था, जिसे वह न कर सकती हों। वह मैथ्स डिपार्टमेंट की एचओडी थीं। वह परीक्षा सेल की प्रभारी भी रहीं और 16 साल से यहां सेवा दे रही थीं। बेटे अनंत ने बताया कि मां उन्हें हमेशा प्रोत्साहित करती रहीं। अनंत ने यह भी बताया कि एक बार उन्होंने कहा था कि अगर मुझे कुछ हो जाए तो मेरे शरीर के अंग दान कर देना। पूजा के परिजनों ने बताया कि बीती 13 जनवरी की रात उनकी तबियत खराब हो गई थी। वरुण ट्रामा में डॉक्टरों ने ब्रेन हेमरेज बताया और फोर्टिस अस्पताल रेफर कर दिया। 14 की शाम को फोर्टिस हास्पिटल में दाखिल करा दिया। वहां पर उनके ब्रेन को डेड घोषित कर दिया गया। निधन के बाद बृहस्पतिवार को हदय, फेफड़े, लिवर और किडनी दान करने का निर्णय लिया। उसी दिन उनके अंग शरीर से अलग करके चेन्नई, मुंबई, शालीमार बाग और नोएडा फोर्टिस अस्पताल में जरूरतमंदों के शरीर में प्रत्यारोपण के लिए भेज दिए गए। इन अंगों के प्रत्यारोपण के संबंध में अस्पताल से शनिवार को परिजनों को जानकारी दी जाएगी।
डीपीएस में दौड़ी शोक की लहर
अलीगढ़। दिल्ली पब्लिक स्कूल में भी शोक की लहर दौड़ गई है। प्रिंसिपल आरती निगम ने बताया कि उनका मुस्कुराता हुआ चेहरा हमेशा याद आएगा। डीपीएस के शिक्षक उनकी अंत्येष्टि में भी शामिल हुए। साथ ही घर में शोक संवेदनाएं व्यक्त करने पहुंचे।
डीजे की धुन कर गई परेशान
अलीगढ़। पूजा भार्गव उर्फ अनन्या के देवर गौरव भार्गव ने बताया कि घर में मातम छाया हुआ है। इस दौरान पड़ोस के एक रेस्टोरेंट में देर रात तक डीजे बजता रहा। इसकी शिकायत भी कई बार की गई। कम से कम मातम के समय तो डीजे की आवाज बंद ही की जा सकती थी। गौरव ने मीडिया के सामने इस पर आपत्ति भी जताई।
सेंटर प्वाइंट स्थित आवास में लगा रहा लोगों का आना-जाना
अंग दान महादान जैसी सीख देने वाले भार्गव परिवार के सेंटर प्वाइंट स्थित आवास पर दिन भर लोगों का आना जाना लगा रहा। यहां संवेदनाएं और शोक व्यक्त करते हुए लोगों ने इस कार्य पर गर्व भी महसूस किया।
सभी को इस बात का है इंतजार कि अंग प्रत्यारोपण के बाद क्या कर रहे हैं काम
अंग प्रत्यारोपण के बाद परिजनों से लेकर मित्र और रिश्तेदार इसी इंतजार में हैं कि जिन लोगों के शरीर में अंगों का प्रत्यारोपण किया गया है। क्या वह स्वस्थ हैं। क्या प्रत्यारोपित अंग कार्य कर रहे हैं। इस संबंध में फोर्टिस अस्पताल की डॉ. शानू से वार्ता की गईं तो उन्होंने बताया कि 48 घंटे के बाद ही रिपोर्ट आएगी। तभी पता चलेगा कि प्रत्यारोपण सफल रहा या असफल।
पूजा की कम उम्र में मृत्यु हो गई। इसीलिए यह विचार मन में आया कि इनके अंग जरूरतमंदों को दे दिए जाएं। ताकि हम कह सकें कि पूजा के अंग आज भी सक्रिय हैं। ऐसे कार्यों में अन्य लोगों को भी आगे आना चाहिए। वह मिलनसार थीं, सभी की प्रिय थीं। बहुत अनुशासित थी।
- सौरभ भार्गव, पति
... और पढ़ें

नगर आयुक्त पर मुकदमा के मामले में जांच के आदेश

सासनी गेट थाना क्षेत्र के महेंद्र नगर में 13 दिसंबर 2020 की तड़के बाइक सवार डॉ. राजीव गुप्ता की सीवर लाइन डालने के लिए खोदे गड्ढे में गिरने से मौत के प्रकरण में नगर आयुक्त पर दर्ज हुआ मुकदमा पुलिस-प्रशासन के गले की हड्डी बन गया है। इस मामले में नगर आयुक्त प्रेम रंजन सिंह ने शासन के विशेष सचिव इंद्रमणि त्रिपाठी को पत्र लिखा था। इस पत्र में उन्होंने पुलिस-प्रशासन पर मनमाने ढंग से मुकदमे की कार्रवाई करने का आरोप लगाया था। इस पर विशेष सचिव ने इस मामले में जिलाधिकारी को पत्र लिखा है। उक्त पत्र में उन्होंने जिलाधिकारी को अपने स्तर से जांच कराने का आदेश दिया है। डीएम ने मामले की जांच एडीएम सिटी को सौंपी है।
कोतवाली इलाके की बाबरी मंडी में क्लीनिक चलाने वाले व मानव सेवा ट्रस्ट के सक्रिय कार्यकर्ता डा. राजीव गुप्ता (45) पुत्र श्रीराम निवास निवासी कटरा स्ट्रीट, देहली गेट दूध लेने के लिए महेंद्र नगर सासनी गेट पहुंचे थे। वहां गड्ढे में उनकी बाइक गिर गई और वह मौत के आगोश में समा गए। गड्ढा जल निगम द्वारा सीवर लाइन डालने को खोदा गया था। नगर निगम के अधिकारियों व ठेकेदार के खिलाफ थाना सासनी गेट में डाक्टर की पत्नी रश्मि गुप्ता ने तहरीर दी थी, जिसके आधार पर धारा 304 में नगर आयुक्त, मेयर, निर्माण विभाग, जलकर विभाग, जेई व ठेकेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ था।
बाद में मुकदमा एक्सपंज की कार्रवाई शुरू कर दी गई थी। मगर, पीड़ित परिवार ने इसका विरोध शुरू कर दिया। पुलिस पर जबरन बयान लिखाने का आरोप लगा दिया था। इस मामले में इंस्पेक्टर जावेद खां को सासनी गेट थाने से हटा दिया गया था। अब बीते दिनों नगर आयुक्त ने विशेष सचिव इंद्रमणि त्रिपाठी को इस मामले में पत्र लिखा। उन्होंने आरोप लगाया कि एक आईएएस अधिकारी पर बिना शासन की अनुमति के मुकदमा दर्ज किया गया। इस मुकदमे से वह बेहद मानसिक तनाव में हैं। पुलिस-प्रशासन ने मनमाने ढंग से इस मामले में कार्रवाई की। डीएम के मुताबिक विशेष सचिव का पत्र लिखा है। उन्होंने जांच का आदेश दिया है। एडीएम सिटी को प्रकरण सौंप दिया गया है।
... और पढ़ें

नगर निगम कार्यकारिणी की बैठक आज

नगर निगम कार्यकारिणी सदस्यों की बैठक शनिवार को जीटी रोड स्थित होटल रॉयल रेजीडेंसी में होने जा रही है। इसमें 6 नए सदस्यों का चुनाव होना है।
नगर निगम कार्यकारिणी सदस्य पुष्पेद्र सिंह जादौन, अलका गुप्ता, नीलेश उपाध्याय, सूरज माहौर एवं मो. शाकिर आदि का कार्यकाल खत्म हो रहा है।
इनके स्थान पर नए सदस्यों का चुनाव होना है। बैठक में कार्यकारिणी सदस्य नीलेश उपाध्याय वार्ड नंबर 22 स्थित नगला मसानी हजीरा रोड में जलभराव का मुद्दा उठा सकते हैं। कार्यक्रम में नगर निगम बोर्ड अधिवेशन की तिथि घोषित हो सकती है। कार्यक्रम में महापौर मो. फुरकान एवं नगर आयुक्त प्रेमरंजन सिंह सहित नगर निगम के अधिकारी शामिल होंगे।
... और पढ़ें
Karwachauth Coupon
Karwachauth Coupon
Karwachauth Coupon
Karwachauth Coupon
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X