बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
इस सप्ताह इन चार राशियों की होगी मौज, धनलाभ के हैं प्रबल योग
Myjyotish

इस सप्ताह इन चार राशियों की होगी मौज, धनलाभ के हैं प्रबल योग

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

मनरेगा : कोरोना काल में रोजगार में आई गिरावट

आशीष श्रीवास्तव
महामारी के दूसरे चरण में कोराना कर्फ्यू रोजगार पर बहुत भारी पड़ा। विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों में इस बीमारी के प्रसार ने खासा असर डाला। ग्रामीणों को वर्ष में 100 दिन घर के पास ही रोजगार की गारंटी देने वाली मनरेगा में मानव दिवसों की संख्या कम हो गई। रही सही कसर त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों ने पूरी कर दी।
इस वित्तीय वर्ष में मनरेगा में मानव दिवसों की खराब स्थिति का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि वर्ष 2020-21 में जहां 730947 के वार्षिक लक्ष्य के सापेक्ष जून तक 884955 मानव दिवस सृजित कर लिए थे। पूरे वित्तीय वर्ष में 1718995 मानव दिवसों का सृजन किया था, जो कुल लक्ष्य का 235.174 प्रतिशत था। इस वित्तीय वर्ष 2021-22 में 802215 के वार्षिक लक्ष्य के सापेक्ष एक अप्रैल 2021 से 20 जून 2021 तक 201239 मानव दिवस सृजित हो चुके हैं। अकेले जून में 60215 मानव दिवसों का सृजन हुआ है।
कोरोना व चुनाव ने डाला असर
अलीगढ़। मनरेगा के तहत मिलने वाले रोजगार पर कोरोना महामारी व त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों का सबसे ज्यादा असर रहा। वित्तीय वर्ष शुरू होते ही चुनाव आचार संहिता लग गई। 2 मई को चुनाव सम्पन्न हुए तो ग्राम पंचायत सदस्यों के उप चुनाव आ गए। रविवार को जिले की 388 ग्राम पंचायतों की पहली बैठक हुई। वहीं, कोरोना महामारी के चलते श्रमिक भी घरों से नहीं निकले। इन सभी का असर रोजगार सृजन पर भी पड़ा।
15 दिन में कार्यों ने पकड़ी रफ्तार
डीसी मनरेगा सचिन कुमार ने बताया कि पंचायत चुनाव व कोरोना के चलते अप्रैल व मई माह में नए काम शुरू ही नहीं हुए। पहले से चल रहे कुछ काम हुए, लेकिन उनमें श्रमिक कम ही रहे। पिछले पखवाड़े से काम मे तेजी आई है। वर्तमान में करीब 20 हजार से 22 हजार मनरेगा श्रमिक रोजाना काम कर रहे हैं।
... और पढ़ें

संगीत दिवसः संगीत के सिरमौर थे स्वामी हरिदास, शास्त्रीय संगीत में शफी, कमर बने उस्ताद

इकराम वारिस
आज (21 जून) संगीत दिवस है। संगीत का नाम आते ही उन संगीत दिग्गजों की याद बरबस ही आ जाती है, जिन्होंने अपनी संगीत से अलीगढ़ व अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय का नाम न केवल बॉलीवुड में बल्कि पूरी दुनिया में नाम चमकाया। इनमें संगीत सम्राट तानसेन के गुरु स्वामी हरिदास संगीत के सिरमौर माने जाते हैं, जिनका ताल्लुक खेरेश्वरधाम के हरिदासपुर से है। उन्हें भक्ति संगीत का पितामह भी कहा जाता है । स्वामी हरिदास के संगीत में ऐसा जादू था कि जो उनका संगीत सुनता था वह उन्हीं का होकर रह जाता था।
स्वामी हरिदास अपने हरि के आशीर्वाद से संगीत में पारंगत हुए।बाद में इनके कई शिष्य बने जो संगीत में अमर हो गए। पद्मश्री रविंद्र जैन, हिंदी फिल्मों के जाने-माने संगीतकार व गीतकार थे। उन्होंने कई फिल्मों में गीत भी लिखे और संगीत भी दिए। उन्हें बतौर संगीतकार वर्ष 1985 में फिल्म राम तेरी गंगा मैली के लिए फिल्म फेयर अवार्ड भी मिला। उनका भजो रे भैया राम गोविंद हरी, भजन काफी मशहूर है। रामायण धारावाहिक में मंगल भवन, अमंगलहारी भजन आज भी जादू बिखरे हुए है। पंडित सुरेश चंद शर्मा, पंडित किशन सिंह शास्त्रीय संगीत के गुरु थे। इसी तरह एएमयू के उस्ताद शफी, उस्ताद कमर मोहम्मद शास्त्रीय संगीत में उस्ताद थे। एएमयू के पूर्व छात्र तलत महमूद, उमा देवी जो बाद में फिल्मी दुनिया में टुनटुन नाम से जानी गईं, उन्होंने बॉलीवुड में संगीत में अपनी छाप छोड़ी। इसी इरादे से निकले उस्ताद वहीदुद्दीन डागर ने ध्रुपद धमार में कमाल किया। इनके बेटे डागर बंधु, ध्रुपद धमार में नाम कमाया। एएमयू से निकले डॉ. नूरुल हसन, कनान देवी, अजय झींगरन, डॉ. शमसुद्दीन शेख ने संगीत के क्षेत्र में झंडा गाड़ा। वहीं, कव्वाल हबीब पेंटर का कलाम बहुत कठिन है डगर पनघट, काफी मशहूर है। बॉलीवुड में मखमली आवाज से दिलों पर राज करने वाली पार्श्व गायिका अलका याज्ञनिक का भी रिश्ता अलीगढ़ से है। इन दिनों युवा पीढ़ी भी संगीत के क्षेत्र में सराहनीय कार्य कर रही है।
फ्रांस में मनाते हैं संगीत का त्योहार
संगीत दिवस हर वर्ष 21 जून को 120 से अधिक देशों में मनाया जाता है, जिसमें फ्रांस भी शामिल है, जिसे संगीत दिवस मनाने के लिए मूल देश माना जाता है, जहां इसे शौकिया और पेशेवर संगीतकारों दोनों को सम्मानित करने के लिए संगीत का त्योहार के रूप में जाना जाता है।
संगीत को रोजी-रोटी से जोड़ने की जरूरत: फॉस्टर
संगीतकार व गीतकार जॉनी फॉस्टर का कहना है कि भारतीय संगीत को ईमानदारी से रोजी-रोटी से जोड़ने की जरूरत है। संगीत की तरफ गंभीर होकर चिंतन-मनन करना होगा। सरकारी स्तर पर भी और आम जनमानस को भी सोचना होगा। हर स्कूल, कॉलेज, यूनिवर्सिटी में संगीत को सिखाने पढ़ाने का पाठ्यक्रम बनाना होगा। रोजी-रोटी से संगीत जुड़ेगा तो सब लोग अन्य विषयों की तरह से इसको भी कैरियर का हिस्सा बना पाएंगे।
... और पढ़ें

पूर्व मंत्री सलमान खुर्शीद ने स्थानीय नेताओं से की मुलाकात

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद रविवार को अलीगढ़ आए। उन्होंने यहां पर अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के हरियाणा के प्रभारी विवेक बंसल और रूही जुबेरी के आवास पर पहुंचकर उनसे मुलाकात की।
कांग्रेस नेता जियाउद्दीन रही ने बताया कि महामारी के दौरान सलमान खुर्शीद के कई परिचित और करीबी लोगों का निधन हो गया था। उस समय वह उनके परिवार वालों को सांत्वना देने के लिए नहीं आ सके थे। वह अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय की म्यूजियोलॉजी डिपार्टमेंट के रिटायर्ड प्रोफेसर इफ्तिखार आलम के आवास पर पहुंचे और वहां पर लंच किया। जियाउद्दीन राही ने बताया कि इस दौरान उन्होंने स्थानीय स्तर पर संगठन की गतिविधियों के विषय में जानकारी की। कहा कि वह 15 या 20 दिन बाद फिर से एक बार अलीगढ़ आएंगे और पूरा समय संगठन को देंगे।
... और पढ़ें

एएमयू की महिला प्रोफेसर का कथित अश्लील वीडियो बता पोस्ट वायरल

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) की एक महिला प्रोफेसर का कथित अश्लील वीडियो बताकर रविवार शाम एक ट्विटर हैंडल से प्रोफेसर को लंबी छुट्टी पर भेजे जाने की खबर वायरल कर दी गई। यह पोस्ट जब छात्र नेताओं की जानकारी में आई तो कैंपस में खलबली मच गई। आनन-फानन में प्रॉक्टर कार्यालय के जरिये पुलिस से शिकायत की गई। साथ में पुलिस की सोशल मीडिया सेल को शिकायत विवादित पोस्ट के साथ टैग की गई है। हालांकि शिकायत के बाद पोस्ट हटा दी गई है और ट्विटर हैंडल का नाम बदल दिया गया है। मगर छात्रों ने उसके स्क्रीन शॉट जुटा लिए हैं।
वाकया रविवार दोपहर करीब तीन बजे एएमयू छात्र नेता फरहान जुबैरी के संज्ञान में आया। विनय जर्नलिस्ट नाम के ट्विटर हैंडल से महिला प्रोफेसर के नाम से यह पोस्ट की गई कि इनको एएमयू ने लंबी छुट्टी पर भेज दिया है। जुबैरी के अनुसार, इसके पीछे की वजह बताई की कि इनका अश्लील वीडियो वायरल हो रहा है। वह वीडियो भी पोस्ट में दिखाया गया। जिसे कैंपस में शूट किया जाना बताया। जब छात्र नेताओं ने उक्त महिला के विषय में जानकारी की तो ऐसा कुछ नहीं था। जुबैरी ने बताया कि देखने से साफ लग रहा कि वीडियो से महिला प्रोफेसर का कोई मतलब नहीं है। उन्हें जानबूझ कर किसी साजिश के तहत बदनाम करने के इरादे से इससे जोड़ा गया है।
इस पर महिला प्रोफेसर की ओर से प्रॉक्टर कार्यालय में सिविल लाइंस थाने के लिए तहरीर दी गई। जिसमें बदनाम करने के इरादे से इस हरकत को करने का आरोप लगाया है। मुकदमा दर्ज करने का अनुरोध किया गया है। जुबैरी ने बताया कि शिकायत तत्काल सोशल मीडिया सेल से ऑनलाइन की गई, जिसके बाद पोस्ट हटाते हुए ट्विटर हैंडल का नाम बदल दिया गया है। मगर, हमारे पास सबूत हैं।
इंस्पेक्टर सिविल लाइंस रविन्द्र दुबे ने तहरीर मिलने की बात स्वीकारी है। उन्होंने बताया कि सोमवार को एएमयू प्रशासन से इस पर जानकारी ली जाएगी। जांच के आधार पर कार्रवाई की जाएगी। इधर एएमयू प्रशासन ने भी मामले में आंतरिक जांच शुरू करा दी है। फ रहान जुबैरी ने कहा है कि यह कैम्पस को बदनाम करने की साजिश हो सकती है। इसे बेनकाब कराया जाएगा।
... और पढ़ें

मारपीट के बाद दरवाजों पर लिखा ‘घर बिकाऊ है’

रविवार की सुबह थाना क्षेत्र के गांव इनायतपुर बझेड़ा में दो पक्ष आमने-सामने आ गए। दोनों ओर से लाठी-डंडे चले। इसमें दो लोग घायल हुए हैं। इसके बाद ब्राह्मण समाज के लोगों ने अपने दरवाजों पर ‘यह घर बिकाऊ है’ लिख दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने ‘घर बिकाऊ है’ लिखे को पुतवाया। ब्राह्मणों की ओर से 13 लोगों पर रिपोर्ट दर्ज हुई है। गांव में पुलिस तैनात है।
बताते हैं कि इनायतपुर बझेड़ा निवासी नागेंद्र सिंह पुत्र भूपेंद्र सिंह मानसिक रूप से अस्वस्थ है। वह लोगों से अभद्रता कर देता है। चार दिन पहले उसने ब्राह्मणों के मोहल्ले में पहुंचकर अभद्रता की थी। तब संभ्रांत लोगों ने मामला शांत करा दिया था।
रविवार की सुबह नागेंद्र फिर ब्राह्मणों के मोहल्ले में पहुंचकर गालीगलौज करने लगा। इस पर एक युवक ने उसके पैर में बल्ला मार दिया। इसके बाद गांव के ठाकुर व ब्राह्मण पक्ष आमने-सामने आ गए। दोनों ओर से मारपीट में ब्राह्मण पक्ष के पंकज व ललित घायल हो गए। इस दौरान हवाई फायरिंग का भी आरोप है। मगर पुलिस ने फायरिंग की बात सिरे से नकार दी है। सूचना पर सीओ गभाना विशाल चौधरी और लोधा पुलिस पहुंच गई।
ठाकुर पक्ष पर दबंगई का लगाया आरोप
झगड़े के बाद गांव पहुंची लोधा पुलिस ने कई दरवाजों पर ‘यह घर बिकाऊ है’ लिखा देखा तो उसे पुतवा दिया। ब्राह्मण पक्ष का आरोप था कि ठाकुर दबंग किस्म के हैं। उन पर हावी रहते हैं। झगड़े के दौरान फायरिंग भी की। इससे वह लोग घर बेचकर गांव से चले जाना चाहते हैं। वहीं दूसरे पक्ष के ठाकुर दीपेंद्र सिंह का कहना था कि उनका चचेरा भाई नागेंद्र वर्ष 1991 से मानसिक रूप से अस्वस्थ है। आगरा में इलाज चला है। वर्ष 2020 से फिर से मानसिक अस्वस्थता का शिकार है। इसी के चलते वह किसी से भी अभद्रता कर देता है। झगड़े के दौरान फायरिंग की बात झूठी है।
-गांव में ब्राह्मण व ठाकुर पक्ष में झगड़ा हुआ था। उस मामले में ठाकुर पक्ष के 13 लोगों खिलाफ मिली तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। गांव में फोर्स तैनात है। किसी ने अपने घरों पर बिकाऊ है के संदेश लिखे थे, इस विषय में जानकारी नहीं है। आरोपियों की तलाश की जा रही है-विशाल चौधरी, सीओ गभाना
... और पढ़ें

शराब कांडः शराब तस्करों के 22 बैंक खाते कराए गए फ्रीज

जहरीली शराब कांड में अवैध शराब का सिंडिकेट चलाने वाले शराब माफिया पर पुलिस की कार्रवाई जारी है। इसी कड़ी में अब शराब माफिया अनिल, ऋषि-मुनीष सहित उनसे जुड़े 9 लोगों के 22 बैंक खाते फ्रीज करा दिए गए हैं। साथ में अब तक 120 करोड़ की संपत्ति को चिह्नित कर लिया गया है। जल्द ही इस संपत्ति को कुर्क कराने की प्रक्रिया भी पूरी कराई जाएगी।
शासन व डीजीपी के निर्देश पर जहरीली शराब कांड में आरोपियों की गिरफ्तारी, अवैध शराब फैक्टरी व भंडारण पकड़े जाने के बाद अब उनकी अवैध संपत्तियों पर शिकंजा कसना शुरू हो गया है। इसी कड़ी में अनिल, ऋषि, मुनीष सहित उनसे जुड़े कुल 9 लोग चिह्नित किए गए हैं, जिनके 22 बैंक खातों का ब्योरा एकत्रित कर उन्हें बैंकों को सूचना भेजकर फ्रीज कराया गया है। साथ में आयकर अधिकारियों व सीए की मदद से उन खातों के पिछले एक दशक से अधिक समय के लेनदेन का ब्योरा एकत्रित कराया जा रहा है। रुपये ज्यादातर कहां से आते थे, किसे भेजे जाते थे। किस प्रयोग में रुपयों का लेनदेन होता था। इन सभी तथ्यों पर काम हो रहा है। इसके अलावा अब तक 120 करोड़ की संपत्तियों को चिह्नित किया गया है। गैंगेस्टर की प्रक्रिया पूरी होते ही इन संपत्तियों को कुर्क कराने की प्रक्रिया पूरी की जाएगी।
एक और शराब तस्कर गिरफ्तार, पूछताछ जारी
अलीगढ़। शराब कांड में गिरफ्तारी अभियान में जुटी पुलिस टीम ने ऋषि-मुनीष के करीबी एक और शराब तस्कर को गिरफ्तार किया है, जिससे माल बरामदगी आदि विषयों पर पूछताछ चल रही है। गिरफ्तार किए गए जगदीश पुत्र जयनारायन निवासी खडउआ पालीमुकीमपुर के विषय में मुनीष की गिरफ्तारी के बाद ही इनपुट मिला था। तभी से उसे खोजा जा रहा था। अब उससे पूछताछ जारी है।
जेल भेजा गया कारोबारी गौतम
अलीगढ़। हरदुआगंज पुलिस द्वारा रिमांड पर लिए गए तालानगरी में अवैध शराब फैक्टरी के संचालक गौतम कुमार को जेल भेज दिया गया है। उसे तीन दिन की रिमांड पर लिया गया था। उसने पहले दिन मिथाइल के दो ड्रम बरामद कराए थे। इससे ज्यादा वह कुछ बरामद नहीं करा सका। कुछ नाम जरूर बताए हैं, उन्हें तलाश किया जा रहा है। रविवार को उसे जेल भेज दिया गया।
-शराब कांड में शासन की मंशा के अनुसार अवैध शराब सिंडिकेट को जड़ से खत्म करने की दिशा में हर जरूरी कदम उठाया जा रहा है। इसी क्रम में अब उनके बैंक खातों व संपत्तियों का ब्योरा एकत्रित किया जा रहा है। खाते फ्रीज कराए गए हैं। आगे भी तगड़ी कार्रवाई होंगी।-कलानिधि नैथानी, एसएसपी
... और पढ़ें

बैंककर्मी की पत्नी ने की आत्महत्या, मुकदमा दर्ज

क्वार्सी क्षेत्र की एडीए कॉलोनी में बैंककर्मी की पत्नी ने शनिवार को फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। खबर पर पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया है, जिसमें आत्महत्या किए जाने की पुष्टि हुई है। इधर, मायके पक्ष ने पति आदि ससुरालियों पर मुकदमा दर्ज कराया है।
आगरा के शाहगंज सेवा नगला बारह खंभा निवासी खूबीराम कमलेश की ओर से दर्ज कराई गई रिपोर्ट में कहा गया है कि उन्होंने अपनी बेटी सविता की शादी दो दिसंबर 2014 को आगरा के ही एत्माउद्दौला कालिंदी विहार निवासी नवीन संग की थी। शादी के बाद से ही ससुरालियों ने दहेज में 25 लाख रुपये की मांग करते हुए बेटी का उत्पीड़न शुरू कर दिया। कुछ दिन बाद नवीन का ट्रांसफर हरदुआगंज सेंट्रल बैंक आफ इंडिया शाखा में कैशियर के पद पर हो गया। तब से दोनों यहां एडीए कालोनी में रह रहे थे। दंपती के दो बच्चे हैं। शनिवार को नवीन ने उसे धमकाया और ड्यूटी चला गया। इसके बाद सविता ने फांसी लगा ली। इससे पहले उसने अपनी बहन को पूरा वाकया बताया था। क्वार्सी पुलिस के अनुसार पोस्टमार्टम रिपोर्ट में आत्महत्या की पुष्टि हुई है। पिता की तहरीर पर पति नवीन, सास अखिलेश देवी, ससुर घनश्याम सिंह व ननद रश्मि के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।
... और पढ़ें

पीडियाट्रिक वार्ड का काम अधूरा... न संसाधन पूरे

कौशल कुमार ओझा
कोरोना की तीसरी लहर से बच्चों को बचाने के लिए तैयारियां की जा रही हैं। जिले में 117 बेड का पीडियाट्रिक आईसीयू (पीकू) तैयार किया जा रहा है। लेकिन काम की रफ्तार बेहद सुस्त है। अभी तक 50 प्रतिशत भी काम पूरा नहीं हुआ है। स्वास्थ्य विभाग को बाल रोग विशेषज्ञ के अलावा डॉक्टर, स्टाफ व अन्य संसाधन जुटाना भी चुनौतीपूर्ण होगा। वर्तमान में दीनदयाल अस्पताल में दो, जिला अस्पताल में एक, सीएमओ के अधीन चार बाल रोग विशेषज्ञ हैं। हालांकि, महकमा दावा कर रहा है कि आउटसोर्स के जरिये स्टाफ जुटा लेंगे।
देश में सितंबर-अक्तूबर 2021 तक कोरोना की तीसरी लहर आने का अंदेशा जताया जा रहा है। आशंका है कि इस लहर से सबसे अधिक बच्चे प्रभावित होंगे। इसके मद्देनजर शासन-प्रशासन स्वास्थ्य सेवाओं को दुरुस्त करने में जुटे हैं। जेएन मेडिकल कॉलेज, पं. दीनदयाल उपाध्याय संयुक्त चिकित्सालय एवं मलखान सिंह जिला अस्पताल में क्रमश: 50, 47 और 20 बेड का पीडियाट्रिक आईसीयू (पीकू) तैयार किया जा रहा है। जेएन मेडिकल कॉलेज और पं. दीनदयाल उपाध्याय संयुक्त चिकित्सालय में करीब 50 प्रतिशत तक काम पूरा हुआ है। दीनदयाल अस्पताल में ऑक्सीजन पाइप लाइन एवं बिजली सहित अन्य कार्यों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। मलखान सिंह जिला अस्पताल में ग्राउंड पर काम होना बाकी है। जरूरी चीजों से संबंधित प्रस्ताव प्रशासन के पास भेजा गया है। इसके अतिरिक्त शहर के तीन निजी अस्पताल में भी पीडियाट्रिक आईसीयू तैयार किए जा रहे हैं।
बच्चों का मन बहलाने का भी इंतजाम
इन वार्डों में भर्ती होने वाले बच्चे परेशान न हों और उनका मन लगा रहे, इसका भी ख्याल रखा जाएगा। दीवारों, दरवाजों एवं खिड़कियों पर रंगीन पर्दे, कार्टून कैरक्टर्स आदि बनाए जाएंगे। खिलौनों आदि के इंतजाम पर भी विचार किया जा रहा है। जल्द रिकवरी के लिए अच्छा माहौल देने का प्रयास किया जाएगा। माता-पिता एवं अभिभावकों के लिए रैन बसेरा या अस्पताल में खाली बेड की व्यवस्था की जाएगी।
विशेषज्ञ डॉक्टर एवं समर्पित स्टाफ जुटाना चुनौती
विशेषज्ञ डॉक्टर एवं समर्पित स्टाफ का चयन सबसे बड़ी चुनौती है। दूसरी लहर में पर्याप्त देखरेख के अभाव में बहुत लोगों की जान गई थी। बार-बार शिकायतें सामने आ रही थीं कि डॉक्टर एवं स्टाफ संक्रमित मरीजों के पास जाने से कतराते हैं या जाते ही नहीं है। देखभाल के बदले पैसे मांगने की शिकायत भी सामने आई थी। कई स्वास्थ्यकर्मी स्वयं संक्रमित होने के डर से भी मरीजों से दूर भागते थे। ऐसे में हालात में बच्चों का इलाज कैसे होगा, यह बड़ा सवाल है। पीकू वार्ड में एक दिन से लेकर 18 साल तक के बच्चे होंगे। सबसे ज्यादा परेशानी छोटे एवं 10 साल से कम उम्र के बच्चों को लेकर है। आईसीयू में बच्चों की देखभाल बड़ी चुनौती है। इसके लिए विशेषज्ञ डॉक्टर व समर्पित भाव से काम करने वाले स्टाफ की जरूरत होगी।
एक शिफ्ट में चार डॉक्टर और 12 नर्स की जरूरत
स्वास्थ्य विभाग पहले से ही डॉक्टर एवं स्टाफ की कमी है। दीनदयाल अस्पताल में दो, जिला अस्पताल में एक, सीएमओ के अधीन चार बाल रोग विशेषज्ञ हैं। दीनदयाल अस्पताल के 47 बेड के पीकू वार्ड में मानक के अनुसार, एक शिफ्ट में कम से कम चार डॉक्टर (एक पीडियाट्रिक, एक एनेस्थेटिक एवं दो मेडिकल ऑफिसर) चाहिए। साथ ही कम से कम 12 स्टाफ नर्स के अतिरिक्त वार्ड ब्वाय एवं सफाईकर्मी की जरूरत होगी। यानी एक शिफ्ट में 4 डॉक्टर एवं 12 नर्स चाहिए। ऐसे में 24 घंटे की तीन शिफ्ट में 12 डॉक्टर एवं 36 स्टाफ नर्स की जरूरत होगी। लगातार 15 दिन ड्यूटी के बाद पूरी टीम बदल दी जाती है। दूसरी टीम में भी इतने ही दक्ष एवं अनुभवी स्वास्थ्यकर्मी चाहिए। इसके अतिरिक्त फिजियोथेरेपिस्ट, एक्सरे टेक्नीशियन, ईसीजी टेक्नीशियन एवं नर्सिंग सुपरवाइजर आदि की भी जरूरत पड़ेगी।
आउटसोर्स से रखेंगे स्वास्थ्यकर्मी
पीडियाट्रिक आईसीयू की युद्धस्तर पर तैयारी चल रही है। अगर आज मरीज आ जाएं तो हम भर्ती करने के लिए तैयार हैं। अभी हमारे पास स्टाफ है। बालरोग विशेषज्ञों की जरूरत पड़ेगी। आउटसोर्स से स्वास्थ्यकर्मी रखेंगे। बच्चों को यह न लगे कि अस्पताल में हैं, इसका भी ध्यान रखा जा रहा है। मन बहलाने के लिए दीवारों पर कार्टून कैरेक्टर, बलून एवं कलर आदि का ध्यान रखा जाएगा। अभिभावकों के लिए रैन बसेरा एवं वार्ड में व्यवस्था रखेंगे।
- डॉ. बीपी सिंह कल्याणी, सीएमओ
बेड की स्थिति
जेएन मेडिकल कॉलेज- 50
पं. दीनदयाल उपाध्याय संयुक्त चिकित्सालय - 47
मलखान सिंह जिला अस्पताल - 20
पीकू में ये रहेगा इंतजाम...
प्रशिक्षित डॉक्टर, स्टाफ, वेंटिलेटर, ऑक्सीजन मास्क, नेबुलाइजर, इंलुजन पंप, ईसीजी, बेड साइट एक्सरे, अल्ट्रासाउंड आदि।
... और पढ़ें

आज से आधी क्षमता के साथ खुलेंगे रेस्टोरेंट और होटल

कोरोना संक्रमण की धीमी रफ्तार को देखते हुए दुकानें और बाजार खोलने का समय बढ़ा दिया गया है। सोमवार से शुक्रवार के बीच अब बाजार सुबह सात बजे से रात 9 बजे तक खोले जा सकेंगे। शनिवार और रविवार को कोरोना कर्फ्यू लागू रहेगा। साथ ही कोविड कंटेनमेंट जोन को छोड़ कर सभी रेस्टोरेंट और होटल 50 प्रतिशत की क्षमता से खुलेंगे। जिलाधिकारी चंद्रभूषण सिंह ने रविवार शाम को इसका आदेश जारी कर दिया है। शासन के दिशानिर्देशों के तहत नई व्यवस्था सोमवार से लागू हो जाएगी।
जिलाधिकारी के आदेश के अनुसार, सरकारी कार्यालयों में सौ फीसदी की उपस्थिति के साथ कामकाज होगा। यथासंभव निजी कंपनियां फिलहाल वर्क फ्राम होम को प्रोत्साहित करेंगी। सभी निजी कंपनियों में कोविड हेल्प डेस्क अनिवार्य रूप से रहेगी। आदेश के अनुसार, रेस्टोरेंट, होटल सुबह सात से रात नौ बजे तक खोले जाएंगे। कोविड कंटेनमेंट जोन को छोड़ कर सभी रेस्टोरेंट और होटल 50 प्रतिशत की क्षमता से खुलेंगे। रेस्टोरेंट और होटल के एंट्री प्वाइंट पर पल्स ऑक्सीमीटर, इंफ्रारेड थर्मामीटर, सैनिटाइजर के साथ कोविड हेल्प डेस्क चालू रहेगी। ग्राहकों को एक-एक कुर्सी छोड़ कर सामाजिक दूरी का पालन करते हुए बैठाया जा सकेगा। बीच की कुर्सियों पर डू नॉट सिट लिख कर मार्किंग करना अनिवार्य होगा। मिठाई, फास्ट फूड और स्ट्रीट फूड की दुकानों में उपरोक्त शर्त की अनिवार्यता के पालन के साथ बैठकर अथवा खड़े होकर खाने की अनुमति होगी। सब्जी मंडियां पूर्व की भांति ही खुली रहेंगी। घनी आबादी की सब्जी मंडियों को यथासंभव खुले स्थानों पर संचालित किया जाएगा। सब्जी मंडी में भी एक कोविड हेल्प डेस्क होनी चाहिए।
शादी समारोह में 50 अतिथियों के साथ कार्यक्रम हो सकेगा। कोविड हेल्प डेस्क की स्थापना प्रवेश द्वार पर करनी होगी। सामाजिक दूरी का पालन करना अनिवार्य होगा। धार्मिक स्थलों पर एक समय में 50 से अधिक लोगों के आने की मनाही रहेगी। रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड में आने जाने वालों की कोरोना टेस्ट होता रहेगा। इस दौरान बीमार मिलने वालों को अस्पताल भेजा जाएगा। दोपहिया वाहनों पर हेलमेट, मास्क या फेसकवर पहनना अनिवार्य रहेगा। ऑटो में ड्राइवर के साथ केवल दो लोग चल सकेंगे। ई रिक्शा में भी यही नियम रहेगी। चार पहिया वाहन में चार लोग बैठ सकेंगे।
सिनेमा हाल, स्वीमिंग पुल, स्टेडियम, जिम अभी बंद रहेंगे। स्कूल, कॉलेज, शिक्षण संस्थाओं, कोचिंग आदि में पूर्व की भांति आनलाइन पढ़ाई ही हो सकेगी। बेसिक, माध्यमिक, उच्च शिक्षा के कर्मचारियों को कार्यालय आने की अनुमति रहेगी। पुलिस भीड़ को एकत्र होने से रोकेगी। भीड़भाड़ वाले कार्यक्रम, जुलूस आदि पर रोक रहेगी।
... और पढ़ें

शिक्षण संस्थानों में आज होगा योग

शहर के शिक्षण संस्थानों में सोमवार को विश्व योग दिवस पर योग का कार्यक्रम आयोजित होंगे। योग शिक्षक जहां स्टाफ और शिक्षकों को योग कराएंगे, वहीं विद्यार्थियों को वर्चुअल रूप से जोड़ा जाएगा।
ब्रिलिएंट पब्लिक स्कूल के प्रिंसिपल श्याम कुंतैल ने बताया कि सीबीएसई, आईसीएसई और माध्यमिक शिक्षा विभाग के विद्यालयों में विद्यार्थियों को क्रीड़ा भारती ब्रज प्रांत की तरफ से वर्चुअल योगाभ्यास में जोड़ा जाएगा। ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराकर कार्यक्रम में प्रतिभाग किया जा सकता है। फीडबैक देने पर प्रशस्ति पत्र दिया जाएगा। शहर के विभिन्न सीबीएसई, आईसीएसई स्कूलों ने भी ऑनलाइन योग कार्यक्रम की तैयारियां की हैं। योग दिवस से जुड़ी विभिन्न गतिविधियों के लिए डीआईओएस डॉ. धर्मेंद्र शर्मा ने निर्देश जारी किए हैं। डिग्री कॉलेजों में भी आयोजन होंगे।
विश्व भारती पब्लिक स्कूल में किया योगाभ्यास
अलीगढ़। रोटरी क्लब अलीगढ़ पर्ल ने विश्व भारती पब्लिक स्कूल में रविवार को योगाभ्यास किया। पतंजलि की वरिष्ठ योग शिक्षिका रंजना चौधरी व पतंजलि युवा प्रभारी भूपेंद्र शर्मा ने योगाभ्यास कराया। इस मौके पर अखिल अग्रवाल, विनोद वार्ष्णेय, विपिन गुप्ता, मनीष गुप्ता, मनोज जादौन, सुनील कुमार वार्ष्णेय,, भुवनेश वार्ष्णेय, नितिन स्वरूप, योगेश गोयल, राजेश वार्ष्णेय, अतुल अग्रवाल आदि मौजूद रहे।
पतंजलि कराएगा 100 स्थानों पर योग
अलीगढ़। पतंजलि परिवार की तरफ से शहर के 100 स्थानों पर आज योग कार्यक्रम का आयोजन होगा। जिला युवा प्रभारी भूपेंद्र शर्मा ने बताया विश्व योग दिवस पर 100 स्थानों पर योग शिक्षकों की व्यवस्था की गई है। सभी कार्यकर्ता भारत सरकार प्रोटोकॉल के अनुसार योग शिविर का आयोजन करेंगे। मुख्य योग शिविर रघुनाथ पैलेस जीटी रोड में सुबह छह बजे से शुरू होगा।
आठ मंडलों में 16 स्थानों पर योग करेंगे भाजपा कार्यकर्ता
अलीगढ़। अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर भाजपा महानगर की ओर से आठ मंडलों में 16 स्थानों पर सुबह 6.30 बजे से योग शिविर का आयोजन किया जा रहा है। महानगर अध्यक्ष यतेंद्र वाईके को संयोजक की जिम्मेदारी सौंपी गई है।
रघुवीरपुरी मंडल में मंगलधाम मंदिर कामख्या रोड, आईटीआई कॉलेज मैदान, महावीरगंज मंडल में हरिहर बगीची खैर बाईपास रोड, वाटर वर्क्स कंपाउंड गुड़िया बाग, जयगंज मंडल में रमेश नंबरदार का फील्ड शाहपुर, अंजनी कुमार विद्यालय सासनी गेट, गांधी नगर मंडल में शिवाजी पार्क प्रीमियर नगर, कल्याणपुरम आगरा रोड, सिविल लाइन मंडल में भाजपा कार्यालय जमालपुर, अटल पार्क ज्ञानसरोवर, क्वार्सी मंडल में मॉडर्न स्कूल रामबाग, शंकर विहार कॉलोनी पार्क, विष्णुपुरी मंडल में गांधीपार्क, टीकाराम कॉलोनी, महाराणा प्रताप पार्क, साकेत कॉलोनी सुरेंद्रनगर और मडराक मंडल में आयुर्वेदिक चिकित्सा केंद्र नगला पानखानी, पंचायत घर मडराक में योग शिविर लगेगा।
... और पढ़ें

प्रेसिडेंशियल स्पेशल पौने दो घंटे में आई अलीगढ़

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की प्रेसिडेंशियल स्पेशल ट्रेन की रविवार को रिर्हसल हुई। ये ट्रेन दिल्ली के सफदरजंग रेलवे स्टेशन से चल कर लगभग एक घंटे 50 मिनट में अलीगढ़ आ गई थी। इस ट्रेन में आईआरसीटीसी की महाराजा स्पेशल ट्रेन के वीवीआईपी कोच लगाए गए हैं, इसलिए रिर्हसल में इसका नाम महाराजा स्पेशल रखा गया। राष्ट्रपति 25 जून को दिल्ली से अलीगढ़ होते हुए कानपुर जाएंगे। इसलिए उनकी यात्रा को यादगार बनाने के लिए रेलवे जुट गया है। रविवार को इसकी रिर्हसल कर सुरक्षा की मॉक ड्रिल भी की गई।
दिल्ली, एनसीआर व प्रयागराज मंडल के अफसरों की संयुक्त टीम ने इस वीवीआईपी ट्रेन को गुजारने से लेकर सुरक्षा तक हर बिंदु पर घंटों मंथन किया। रिहर्सल में सब कुछ ठीकठाक रहा। यहां पर एनसीआर के सीनियर र्डीईई ऑपरेटिंग, सीनियर डीएमई सीएंडडब्ल्यू, एडीआरएम, एसपी रेलवे मोहम्मद मुश्ताक, डीटीएम टूंडला संजय कुमार, सीओ आगरा हरिश्चंद्र समेत स्थानीय एलआईयू, सिविल पुलिस के अफसर मौजूद रहे। सफदरगंज दिल्ली से प्रेसिडेंशियल स्पेशल यानी महाराजा स्पेशल का ट्रायल रन 11:50 बजे शुरू हुआ। अलीगढ़ में यह ट्रेन दोपहर 01:50 बजे प्लेटफार्म संख्या छह पर पहुंची। इस रास्ते में पड़ने वाले सभी स्टेशनों को अलर्ट रखा गया और ट्रेन की स्पीड, ट्रैक, साफ-सफाई, सुरक्षा के मानकों को कसौटी पर परखा गया। रेलवे और पुलिस अफसरों ने सुरक्षा व्यवस्था का खाका खींचते हुए रिहर्सल में मिली छोटी से छोटी खामियों को तत्काल दूर करने के निर्देश दिए। इस स्पेशल ट्रेन के गुजरते वक्त रेलवे स्टेशन, रेलवे क्रासिंग, ओवर ब्रिज के पास विशेष सुरक्षा व्यवस्था रखने के निर्देश दिए गए। मॉक ड्रिल के बाद ट्रेन 2:25 बजे वापस दिल्ली चली गई।
... और पढ़ें

जनता के विरोध को वोट में बदलें : मुनकाद

बहुजन समाज पार्टी अलीगढ़ मंडल की बैठक पटवारी नगला स्थित समर लॉज में हुई। जिसमें पूर्व सांसद व पूर्व प्रदेश अध्यक्ष व अलीगढ़ मंडल के मुख्य सेक्टर प्रभारी मुनकाद अली ने संगठन को मजबूत करने और जनता के विरोध को वोट में बदलने का आह्वान किया।
उन्होंने कहा कि प्रदेश व देश में जनता परेशान है। किसानों में सरकार के प्रति रोष है। प्रदेश में दलितों को चुन चुन कर निशाना बनाया जा रहा है । इसलिए जनता के विरोध को वोट में बदलकर प्रदेश में बसपा सुप्रीमो की सरकार बनानी है। बैठक में अलीगढ़ मंडल के मुख्य सेक्टर प्रभारी सूरज सिंह, अरविंद आदित्य, अशोक सिंह ने एटा, कासगंज, हाथरस व अलीगढ़ जिले के जिलाध्यक्ष से उनकी कमेटी व संगठन को लेकर समीक्षा कराई। अलीगढ़ मंडल के मुख्य सेक्टर प्रभारी सूरज सिंह ने बताया कि सभी विधानसभा अध्यक्ष इस माह के अंत तक अपनी अपनी सेक्टर कमेटियों का गठन कर लें। बैठक में अलीगढ़ जिलाध्यक्ष रतनदीप सिंह, हरदुआगंज के चेयरमैन तिलकराज यादव, पूर्व मंत्री राजवीर सिंह, जनपद एटा के जिलाध्यक्ष बलवीर भास्कर, कासगंज के जिलाध्यक्ष, हाथरस के जिलाध्यक्ष महेश बाबू कुशवाह, राजकुमार शम्मी, रजिया खान, फारुख अहमद, आरिफ बॉबी अब्बासी, मोहम्मद बिलाल, गजराज सिंह विमल, सुरेश गौतम एड, अर्जुन स्वामी एड, डॉ मेराज अली, डॉ पहल सिंह, जावेदुल हसन, केपी सिंह एड, रविंद्र बौद्ध और छत्रपाल सिंह आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

देश को सांप्रदायिकता की आग में झोंकने का काम कर रही भाजपा : तौकीर आलम

महानगर कांग्रेस कमेटी की बैठक संगठन की गतिशीलता 2022 के चुनाव को लेकर भुजपुरा में हाजी राशिद कुरैशी के स्थल पर महानगर अध्यक्ष परवेज अहमद की अध्यक्षता में हुई। इसमें अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के राष्ट्रीय सचिव तौकीर आलम, प्रदेश महासचिव बदरूद्दीन कुरैशी, जनपद प्रभारी मुकेश धनगर आदि शामिल रहे।
कांग्रेस नेताओं ने भाजपा की आलोचना करते हुए देश के लिए खतरा बताया और पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोतरी को देश को डुबोने वाला बताया। तौकीर आलम ने कहा कि देश में मुस्लिम समाज को भाजपा निशाना बना रही है और सांप्रदायिकता की आग में झोंकने का कार्य कर रही है। कांग्रेस पार्टी हर गांव, हर वार्ड में जाकर जागरूकता अभियान चला रही है, जिसमें हर वार्ड में 10 सदस्यीय कमेटी होगी, जो वार्ड स्तर पर संघर्ष करेगी और कोरोना पीड़ितों को दवा देगी।
प्रदेश महासचिव बदरुद्दीन कुरैशी ने कहा कि भाजपा की जनविरोधी नीतियों से जनता को अवगत कराने का काम वार्ड स्तर पर होगा। जनपद प्रभारी मुकेश धनगर ने कहा कि हमें संगठन को और गतिशील बनाना है जिसमें अल्पसंख्यक, दलित, पिछड़ों को जोड़ कर संघर्ष किया जाएगा। पूर्व राष्ट्रीय सचिव श्योराज जीवन ने कहा कि भाजपा की कथनी और करनी में अंतर है।
हरियाणा प्रभारी विवेक बंसल ने कहा कि अल्पसंख्यकों को एक जुट होकर भाजपा के खिलाफ लड़ना होगा। सभा में जिलाध्यक्ष सुरेंद्र सिंह, हाजी अरशान, जियाउर्रहमान, राजेश राज जीवन, राशिद कुरैशी, मुस्तकीम कुरैशी, नईम कुरैशी, वीरी सिंह बंजारा, मुश्ताक अहमद, अर्शी मालिक, सौरभ द्विवेदी, अभिषेक जैन, नितिन चौहान, प्रमोद शर्मा, रामगोपाल रैना, सुहेब हसन, अमित सिंह, सौरभ पाराशर, शारिक एडवोकेट, अनारशाह, आस मोहम्मद, पप्पन, अदीब हसन, साहिल, इकराम बैग, पप्पू कुरैशी, योगेश धनगर, मो.रजा आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us