एएमयू में उपद्रव को उकसाने वाला शरजील उस्मानी गिरफ्तार

Aligarh Bureauअलीगढ़ ब्यूरो Updated Thu, 09 Jul 2020 06:25 PM IST
विज्ञापन
शरजील उस्मानी
शरजील उस्मानी - फोटो : ब्यूूराे

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
बीती 15 दिसंबर को एएमयू में हुए उपद्रव और हिंसक घटनाओं को भड़काने का मुख्य आरोपी एएमयू का पूर्व छात्र शरजील उस्मानी गिरफ्तार हो गया है। लखनऊ की एटीएस टीम ने इसको पूर्वांचल से गिरफ्तार किया है। जिसकी पुष्टि अलीगढ़ के एसपी क्राइम अरविंद कुमार ने की है। शरजील के खिलाफ सीएए और एनआरसी के विरोध प्रदर्शन में छात्रों को भड़काने, भड़काऊ भाषण देेकर शहर का माहौल खराब कराने, बवाल कराने सहित कई संगीन धाराओं में सिविल लाइंस थाने में मुकदमे दर्ज हैं। जिसमें अलीगढ़ सहित प्रदेश की पुलिस की अलग-अलग टीमें इसको कई दिनों से शिद्दत से ढूंढ रही थीं, लेकिन लॉकडाउन के चलते ये बचता रहा। बुधवार को इसको सुरागसी के आधार पर दबोचा गया। पुलिस का कहना है कि शरजील से पूछताछ में एएमयू में हुई हिंसक वारदात के कई अहम खुलासे करने में मदद मिलेगी। मसलन, उसके साथ कौन कौन लोग कहां कहां से आए थे। उन्होंने किस तरह से सहयोग किया। स्थानीय नेताओं की क्या भूमिका रही थी..? खास बात ये भी है शरजील पर जेएनयू के शरजील उस्मानी को बुलाने का भी आरोप है। इसको लेकर भी पुलिस की गहन जांच पड़ताल चल रही है।
विज्ञापन

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) में 15 दिसंबर की रात जो हुआ, वह सीएए व एनआरसी का विरोध नहीं, बल्कि सोची-समझी साजिश के तहत कराया गया उपद्रव था। इनमें से सात नाम पुलिस ने सार्वजनिक कर दिए थे। कैंपस के सीसीटीवी फुटेज, खुफिया इनपुट और अब तक की पुलिस जांच में यह साफ हो गया है कि इन्होंने कैंपस में सीएए व एनआरसी के विरोध की आड़ में छात्रों को भड़काया-उकसाया। जिसके बाद छात्र पुलिस पर हमलावर हुए। इनका मकसद सिर्फ इतना था कि पुलिस पर हमलावर होकर किसी तरह माहौल बिगड़े।
पुलिस के अनुसार बीती 15 दिसंबर की रात 8 बजे के करीब हजार-बारह सौ छात्र व बाहरी युवकों की भीड़ ने पहले बाब-ए-सैयद व पुलिस बैरिकेडिंग तोड़ी और फिर पुलिस पर हमलावर हुए थे। न तो इनकी कोई मांग थी, न एनआरसी या सीएए -जैसे किसी मुद्दे पर प्रदर्शन कर रहे थे। इनके हाथों में सीधे-सीधे पत्थर और अवैध हथियार थे। ये सीधे आकर पुलिस पर हमलावर हुए और अधिकारियों के समझाने व रोकने पर भी नहीं माने। जब काफी देर तक ये लोग नहीं माने तो मजबूरन पुलिस ने बचाव में आंसू गैस छोड़कर व लाठियां फटकारकर इन्हें करीब तीन घंटे के प्रयास पर नियंत्रित किया गया। कैंपस के सीसीटीवी, खुफिया जांच व मुकदमों की अब तक की जांच में साफ हुआ है कि यह काम छात्र नेता शरजील उस्मानी, अहमद मुज्तबा फराज, शमीम बारी, निवर्तमान छात्रसंघ अध्यक्ष सलमान इम्तियाज, अमीर उल जैस, नईम अली व जैद शेरवानी ने किया है।
ये हैं बवाल आरोपी
1- शरजील उस्मानी पूर्व छात्र
2- अहमद मुज्तबा फराज पूर्व छात्र
3- शमीम बारी वर्तमान रिसर्च स्कॉलर
4- सलमान इम्तियाज वर्तमान रिसर्च स्कॉलर
5- अमीर उल जैस एमएसडब्ल्यू छात्र
6- नईम अली एमए छात्र
7- जैद शेरवानी एमएसडब्ल्यू छात्र
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X
  • Downloads

Follow Us