विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

उत्तर प्रदेश में कोरोना के 15 नए मरीज मिले, तीन हुए ठीक, 96 पहुंची कुल संख्या

नोवेल कोराना वायरस के प्रकोप के बीच सोमवार को एक अच्छी खबर आई। पहले से अस्पतालों में भर्ती तीन पॉजिटिव मरीज पूरी तरह से स्वस्थ होने के कारण डिस्चार्ज कर दिए गए। इनमें से दो नोएडा और एक आगरा का मरीज है।

31 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

अलीगढ़

मंगलवार, 31 मार्च 2020

बाहर से आ रहे हैं लोगों की हो प्रॉपर चेकिंग : मंत्री

अमर उजाला ब्यूरो अलीगढ़। राज्य मंत्री संदीप सिंह ने जिलाधिकारी एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से कहा है कि बाहर से आ रहे लोगों की प्रॉपर चेकिंग जरूरी है। यह भी ख्याल रखा जाए कि किसी भी आदमी को खाने पीने की दिक्कत न हो। संदीप सिंह ने चुनौतीपूर्ण समय में बेहतरीन रिपोर्टिंग के लिए अमर उजाला की सराहना की। वित्त राज्य मंत्री संदीप सिंह अलीगढ़ में है और जिला प्रशासन द्वारा की जा रही तैयारियों पर नजर बनाए हुए हैं। उन्होंने बताया कि जिलाधिकारी और एसएसपी से उनकी बातचीत हुई है। लॉकडाउन के कारण वह जनता के बीच नहीं जा पा रहे हैं, लेकिन तमाम व्यवस्थाओं पर नजर बनाए हुए हैं। अतरौली विधानसभा क्षेत्र में किसी तरह की दिक्कत नहीं होने दी जाएगी। उन्होंने 5 क्विंटल आटा, 2 क्विंटल आलू और 50 किलो दाल अतरौली भिजवा दिया है। जिसे चेयरमैन के माध्यम से जरूरतमंद लोगों के बीच वितरित कराया जाएगा, जरूरत के हिसाब से आगे भी मदद करते रहेंगे। राज्य मंत्री संदीप सिंह ने कहा कि चुनौतीपूर्ण समय में अमर उजाला की टीम सराहनीय रिपोर्टिंग कर रही है। ... और पढ़ें

अलीगढ़: कामगारों को नौकरी से निकालने पर रद्द हो जाएगा पंजीकरण, डीएम ने जारी किए आदेश

अलीगढ़ जिला प्रशासन ने लॉकडाउन के कारण बंद पड़ी फैक्टरियों के मजदूरों व किराएदारों को राहत देने के लिए सख्त कदम उठाया है। कोरोना की रोकथाम के लिए किए गए लॉकडाउन के दौरान जिले की लगभग सभी कंपनी और प्रतिष्ठानों में कामकाज ठप हो गए हैं।
 
ताला फैक्ट्रियों में ताले लग गए हैं। ऐसे में मजदूरों को अपनी नौकरी जाने की चिंता सताने लगी है। इस समस्या को देखते हुए डीएम ने सभी फैक्ट्री संचालकों को निर्देश दिए गए हैं कि वह किसी को नौकरी से नहीं निकाल सकते हैं। इसके साथ ही फैक्टरी या कंपनी मालिकों को हर हाल में मजदूरों को 31 मार्च तक वेतन देना होगा। 

आदेश का पालन न करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उल्लंघन करने पर फैक्टरी या कंपनी का पंजीकरण भी रद्द किया जा सकता है। जिलाधिकारी चंद्रभूषण सिंह ने बताया कि श्रम विभाग के माध्यम से इस आदेश को सभी प्रतिष्ठान, कारखाने, कंपनी संचालकों को इस आदेश से अवगत करा दिया गया है। 

इसके साथ ही मकान मालिक किराएदारों पर किसी भी प्रकार से इस महीने का किराया देने को लेकर दबाव नहीं बनाएंगे। जब तक लॉक डाउन के बाद हालत सामान्य नहीं होंगे। यह आदेश लागू रहेगा। बता दें कि जिले की ताला फैक्टरियों में लाखों मजदूर काम करते हैं। लॉक डाउन के दौरान यह सभी फैक्टरियां बंद हो गई हैं। इनके मजदूरों को जिला प्रशासन की ओर से भोजन, राशन उपलब्ध कराया जा रहा है।

घास का भोजन करने की अफवाह
रविवार को शाहजमाल इलाके में रहने वाले एक मजदूर के संबंध में अफवाह भी फैल गई थी कि उसके फैक्ट्री संचालक ने उसे पैसे नहीं दिए, जिसके कारण वह घास का खाना बनाकर खाने को मजबूर हो गया। इस अफवाह पर जिला प्रशासन ने दौड़ लगा दी। 

एसडीएम ने मौके पर पहुंच कर सच्चाई जानी तो पता लगा कि मजदूर ने घास का खाना बनाकर नहीं खाया था। हां, यह बात सच निकली कि उसके पास पैसे न होने के चलते घर में राशन-भोजन की किल्लत थी। इस पर एसडीएम ने मौके पर ही मजदूर को राशन उपलब्ध कराया। 
... और पढ़ें

घंटे भर किया एंबुलेंस का इंतजार, नहीं आई तो मरीज को ले गए ई रिक्शे में

चाकू व हथौड़ी से वार कर बचपन के मित्र ने की थी रवि की हत्या

महानगर के क्वार्सी थाना क्षेत्र के मंजूरगढ़ी जंगल में 18 मार्च को हत्या कर शव फेंके जाने के मामले का सोमवार को पुलिस ने खुलासा कर दिया। खुलासे में मृतक रवि के बचपन का दोस्त मोहन ही उसका कातिल निकला। मोहन ने रवि की हत्या करने के लिए अपने एक साथी शारिक को 50 हजार रुपये देकर साथ मिलाया था। आरोपी ने बताया कि रवि से उसने पैसे उधार लिए थे। ब्याज और उधारी न चुका पाने पर रवि उसे गाली देता था। इस बात से आहत होकर रवि की हत्या कर दी। पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया है।
थाना क्वार्सी इंस्पेक्टर विनोद कुमार ने बताया कि मृतक रवि प्रताप (28) पुत्र ऋषिपाल सिंह निवासी आईटीआई रोड़, रामनगर बन्नादेवी का शव मंजूरगढ़ी जंगल में सड़क किनारे पड़ा मिला था। छानबीन में पता लगा कि रवि हत्या से पहले अपने दोस्त मोहन कुमार पुत्र जयपाल सिंह निवासी आईटीआई रोड, बन्नादेवी के साथ था। पुलिस ने उससे पूछताछ की तो वह बात को छिपाने लगा और बताया कि रेलवे रोड पुल के नीचे से वह रवि प्रताप के साथ आया था। मगर, शमशाद मार्केट पर रवि पर किसी का फोन आया। जिसके बद रवि उसे छोड़ बरौला की तरफ चला गया था।
शमशाद मार्केट के सीसीटीवी चेक करने पर मोहन व रवि की लोकेशन अलग-अलग मिली। इसके बाद मंजूरगढ़ी इलाके में लगे एक कैमरे में रवि प्रताप व मोहन एक साथ बाइक पर जाते दिखे। मोहन ने उस फुटेज को नकार दिया। आगे की छानबीन में पता लगा कि मोहन ने रवि से ढाई से तीन लाख रुपये कई साल पहले उधार लिए थे, जिसकी एवज में रवि उससे 20 हजार रुपये माह की ब्याज लेता था। यह बात मोहन के सामने रखी तो वह बिलखने लगा और उसने हत्या का खुलासा करते हुए बताया कि ब्याज और उधारी न चुका पाने के कारण रवि उससे गली देता था, जबकि रवि उसका बचपन का मित्र था। साथ पढ़ा था। गाली गलौज से परेशान होकर रवि को जान से मारने के लिए मामू भांजा मार्केट में दुकान पर काम करने वाले अपने साथी शारिक पुत्र बिलाल निवासी मौलाना आजाद नगर क्वार्सी को 50 हजार रुपये में अपने साथ मिलाया।
रवि को बहाने से बुलाकर उसकी चाकू और हथोड़ी से हत्या कर शव फेंका दिया। इंस्पेक्टर के मुताबिक छुरी, हथोड़ी व मोटरसाइकिल को बरामद कर आरोपी मोहन कुमार, शारिक को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। खुलासा करने वाली टीम में एसएसआई राजीव कुमार, एसआई अतुल कुमार, हेड कांस्टेबल विनोद कुमार (सर्विलांस टीम), कांस्टेबल राजेव मावी, सचिन कुमार शामिल रहे।
... और पढ़ें
अभियुक्त मोहन कुमार और शारिक पुलिस की गिरफ्त में। अभियुक्त मोहन कुमार और शारिक पुलिस की गिरफ्त में।

लॉकडाउन : अलीगढ़ में सख्ती बढ़ी, घरों से न निकलें

जनता कर्फ्यू और उसके बाद से जारी लॉकडाउन को और प्रभावी बनाने के लिए जिला प्रशासन और सख्त हो गया है। हर हाल में लोगों को घरों पर रहने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। मजिस्ट्रेट, अधिकारी, पुलिस सभी सड़कों से लेकर गलियों तक घूम रहे हैं और लोगों को बाहर नहीं निकलने के लिए गुजारिश कर रहे हैं। कहीं-कहीं जरूरत के हिसाब से सख्ती भी की जा रही है। अधिकतर लोग इस बात को गंभीरता से लेकर अब घरों से बाहर नहीं निकल रहे हैं।
अलीगढ़ में रविवार 22 मार्च को जनता कर्फ्यू के बाद से लॉकडाउन चल रहा है। इस तरह से बंदी के आठ दिन सोमवार को पूरे हो गए हैं। संदिग्ध मरीजों की जांच करने और उनको समय से उपचार देने के लिए जिला प्रशासन ने युद्धस्तर की तैयारियां की हैं। शहर से लेकर तहसील तक हर जगह अस्पतालों का इंतजाम किया गया है। स्वास्थ्य विभाग ने सरकारी अस्पतालों और एएमयू के जेएन मेडिकल कॉलेज को मिलाकर जिले में 198 आइसोलेशन बेड और 58 क्वारंटीन बनाए हैं। सीएमओ वीपी सिंह कल्याणी ने बताया है कि सोमवार की दोपहर तक एक भी कोरोना पॉजिटिव केस नहीं आया है।
इधर, बाजारों में रोज की भांति ही सुबह खरीददारी हुई। लोगों को सब्जी, दूध, दवाएं, किराना मुहैया कराने के लिए होम डिलीवरी की प्रशासन की पहल भी रंग लाने लगी है। सैकड़ों लोग अब इसी माध्यम से इस्तेमाल कर रहे हैं।
..और अब खाली होने लगा हाईवे
अलीगढ़। दिल्ली, एनसीआर, पंजाब, हरियाणा से आने वाले हजारों मजदूरों से अब जीटी रोड बाईपास खाली होेने लगा है। पीएम मोदी के आदेश के बाद सभी जिलों की सीमाएं सील कर दी गई हैं। जो मजदूर जहां हैं, उनको वहीं पर रोका जा रहा है। इसलिए अलीगढ़ आने वाले मजदूरों की तादाद कम हो गई है। पैदल इक्का-दुक्का आने वालों को अब शिविर में रोका जा रहा है। लोधा के पास एक निजी स्कूल में एक अस्थायी शिविर बना दिया गया है। रविवार को तकरीबन 20 हजार लोगों को उनके गंतव्य की ओर रवाना किया गया।
तहसीलों में बनने लगे शिविर
अलीगढ़। जिले की सभी तहसीलों पर एक-एक शिविर बनाया गया है। जहां राहगीरों को 15 दिन तक ठहराने का इंतजाम किया गया है। इन शिविरों में नि:शुल्क खाना, रहना, दवा की व्यवस्था की गई है। इस दौरान लगाए गए मजिस्ट्रेट और राजस्व टीमें अब रास्तों पर घूम रहे राहगीरों को इन शिविरों तक पहुंचाने में लग गए हैं। जिससे ऐसे लोगों को दूसरों के संपर्क में आने से बचाया जा सके। एडीएम प्रशासन कृष्णलाल तिवारी ने बताया कि सभी एसडीएम इस काम में जुटे हैं।
रात से अलीगढ़ में फंसे
अलीगढ़। गाजियाबाद में दैनिक मजदूरी कर परिवार का पेट पालने वाले रामपाल इस बीच अलीगढ़ में फंस गए हैं। मूलरूप से भदोही के रहने वाले रामपाल अब यहां से जाने का साधन ढूंढ रहे हैं लेकिन कोई साधन नहीं मिल रहा है। फिलहाल वो मालवीय मार्केट रसलगंज में ठहरे हैं। अकेले रामपाल ही नहीं ऐसे कई परिवार जिले की सीमा में अलग अलग जगहों पर फंसे हैं जिनको शिविरों में पहुंचाया जा रहा है।
सुबह 10 बजे से पास बनना बंद
अलीगढ़। कलक्ट्रेट में सोमवार को भी कई लोग दूसरे शहरों को जाने का पास बनवाने पहुंचे थे, लेकिन यहां एक भी पास नहीं बनाया गया है। इस संबंध में शासन के निर्देशों का इंतजार किया जा रहा है। पीएम मोदी के द्वारा पूरी तरह से आवागमन बंद करने के निर्देश के बाद से पास बनना बंद हो गया है। यहां पहुंचे राहुल शर्मा घंटों के इंतजार के बाद लौट गए।
... और पढ़ें

कोरोनाः अब गांव-गांव खोजे जाएंगे परदेशी, बनेगी सूची

कोरोना वायरस के संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए हर स्तर पर एड़ी चोटी का जोर लगाया जा रहा है। इसी क्रम में देश-विदेश से लौट रहे अपनों की निगरानी का जिम्मा गांव में ग्राम प्रधान व शहर में वार्ड समिति-बीट सिपाही को सौंप दिया गया है। ऐसे लोगों की सूची बनाई जा रही है और उन्हें घरों में कैद रहने की हिदायत दी जा रही है। जो लोग पिछले एक पखवाड़े में विदेश से लौटे हैं, वह अगर खुद सूचना नहीं देंगे तो उनके खिलाफ विधिक कार्रवाई का आदेश जारी किया गया है। यह निर्णय पलायन के बाद बने हालात पर काबू पाने के लिए लिया गया है। इधर, लॉकडाउन के आठवें दिन जिले में सोमवार को भी आठ मुकदमे दर्ज किए गए हैं।
इन तमाम विषयों पर सोमवार को मंडललायुक्त जीएस प्रियदर्शी-डीआईजी डॉ.प्रीतिंदर सिंह ने मंडल भर के पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों की बैठक कर उनको आदेश-निर्देश जारी किए। इस बैठक में मंडल स्तर के स्वास्थ्य व अन्य महकमों के सभी अधिकारी मौजूद रहे। दूसरी ओर आज से पुलिस प्रशासन के साथ ही एलआईयू की टीम भी बाजार में खाद्य सामग्री की कालाबाजारी करने वालों पर निगाह रखेगी। डीएम ने मोहल्लावार कमेटी गठित कर ऐसे लोगों की सूची तैयार करने के निर्देश दिए हैं, जिन्हें सरकारी राशन कार्ड की सुविधा नहीं मिल रही। इन लोगों को राशन कार्ड के साथ ही राशन और तत्काल में भोजन उपलब्ध कराया जाएगा। साथ ही सरकारी सहायता राशि का भी लाभ दिया जाएगा। वहीं, सब्जियों की दरों की नई सूची भी जारी की गई है।
ग्राम प्रधानों को बिंदुवार दिशा-निर्देश
1. गांव से बाहर काम करने वालों पर पैनी नजर रखें।
2. गांव में फेरी वालों समेत अन्य बाहरी लोगों को न आने दें।
3. गांव में विदेश से लौटे व्यक्तियों की जानकारी तत्काल दें।
4. ग्रामीण अपने रिश्तेदारों को न बुलाएं, खुद भी किसी रिश्तेदारी में न जाएं।
5. गांव में कोई सामूहिक चौपाल न लगे।
6. बच्चों को घर से बाहर न खेलने दें।
7. गांव में किसी भी प्रकार के सामाजिक, धार्मिक एवं अन्य आयोजन न होने दें।
8-शादी, तिलक, मुंडन, भागवत कथा आदि जैसे कार्यक्रम स्थगित रहेंगे।
8. ग्रामीण हर हाल में मास्क और सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें।
9. खेतों में काम करने के दौरान आपस में दूरी बनाए रखने का ध्यान रखें।
10. खेतों में काम करने के लिए शहर से मजदूरों को न बुलाएं।
--
ये भी महत्वपूर्ण निर्देश दिए गए
- उपनिदेशक खाद्य आपूर्ति पात्र परिवार को राशन पोर्टेबिलिटी कार्ड बनवाएं। उन्हें चिन्हित कर राशन कार्ड बनवाए ताकि उन्हें खाद्यान्न प्राप्त हो सके।
- पुलिस, नगर पंचायत, नगर निगम एवं आपूर्ति विभाग घुमंतू परिवारों की भी खाने-पीने की स्थायी व्यवस्था करें।
- उपनिदेशक पंचायतीराज अन्य जनपदों से अपने-अपने ग्राम में आ चुके ग्रामीणों का आंकड़ा तैयार करें। इन सभी की स्क्रीनिंग कर क्वारंटीन करें।
- अगर गांव में कोई संक्रमित व्यक्ति है तो उसकी पहचान और सुरक्षा हो सके। गांवों में साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखते हुए स्प्रे और फॉगिंग की जाए।
- खाद्य सुरक्षा अधिकारी पान मसाला की बिक्री पर पूर्णत: प्रतिबंध लगाए। बिक्री एवं उत्पादन करने वाले प्रतिष्ठान को सील कर दें।
- प्रोविजन स्टोर्स से होम डिलीवरी सुनिश्चित कराई जाए। कालाबाजारी एवं घटतौली रोकने को छापा कार्रवाई अमल में लाई जाए।
- औषधि प्रशासन दवाओं की आपूर्ति सुनिश्चित कराएं। ओवररेटिंग अथवा ब्लैक मार्केटिंग न होने दी जाए।
- उपायुक्त श्रम पंजीकृत श्रमिकों के खाते में तत्काल शासन द्वारा निर्धारित आर्थिक सहायता राशि भेजें। श्रमिकों का शत-प्रतिशत भुगतान सुनिश्चित कराएं।
... और पढ़ें

यूजीसी के निर्देश के बाद शुरू होंगी एएमयू में कक्षाएं

लॉकडाउन में अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय प्रशासन ने विद्यार्थियों के शैक्षणिक करियर को प्रभावित होने से बचाने का फैसला लिया है। तय किया गया है कि आनलाइन क्लासेस ज्यादा से ज्यादा चलाई जाएंगी तथा इसमें शिक्षक एवं छात्र ज्यादा से ज्यादा संख्या में भाग लें।
कुलपति प्रो. तारिक मंसूर की अध्यक्षता में सोमवार को फैकल्टियों के डीन और प्रिंसिपलों की एक मीटिंग हुई। जिसमें इस बात पर बल दिया गया कि छात्र व छात्राओं का शैक्षिक करियर कम से कम प्रभावित होना चाहिए। मीटिंग में यह विश्वास व्यक्त किया गया कि सभी शिक्षक संकट की इस घड़ी में छात्रों के हित में अपना भरपूर सहयोग प्रदान करेंगे। क्योंकि यह जन स्वास्थ्य का विषय है।
इसलिए क्लासेस और शैक्षिक गतिविधियां यूजीसी व मानव संसाधन विकास मंत्रालय के निर्देशों के अनुसार प्रारंभ होंगी। इस दौरान सभी फैकल्टियों, विभागों और केन्द्रों में आनलाइन कक्षाओं को प्रोत्साहित किया जायेगा। शिक्षकों एवं छात्रों को इसमें ज्यादा से जयादा भाग लेने के लिये प्रेरित किया जायेगा। इस मामले की समय-समय पर समीक्षा की जाएगी।
... और पढ़ें

अलीगढ़ में प्रवेश करने वालों की करें सही ढंग से जांच : संदीप सिंह

प्रदेश के राज्य मंत्री संदीप सिंह ने जिलाधिकारी व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से कहा कि बाहर से आ रहे लोगों की सही ढंग से जांच जरूरी है। यह भी ख्याल रखा जाए कि किसी भी आदमी को खाने-पीने की दिक्कत न हो। संदीप सिंह ने चुनौतीपूर्ण समय में बेहतरीन रिपोर्टिंग के लिए अमर उजाला की सराहना की।
वित राज्य मंत्री संदीप सिंह अलीगढ़ में है और जिला प्रशासन द्वारा की जा रही तैयारियों पर नजर बनाए हुए हैं। उन्होंने बताया कि जिलाधिकारी और एसएसपी से उनकी बातचीत हुई है। लॉकडाउन के कारण वह जनता के बीच नहीं जा पा रहे हैं, लेकिन तमाम व्यवस्थाओं पर नजर बनाए हुए हैं।
अतरौली विधानसभा क्षेत्र में किसी तरह की दिक्कत नहीं होने दी जाएगी। उन्होंने पांच क्विंटल आटा, दो क्विंटल आलू और 50 किलो दाल अतरौली भिजवा दी है, जिसे चेयरमैन के माध्यम से जरूरतमंद लोगों के बीच वितरित कराया जाएगा। जरूरत के हिसाब से आगे भी मदद करते रहेंगे। राज्य मंत्री संदीप सिंह ने कहा कि चुनौतीपूर्ण समय में अमर उजाला की टीम सराहनीय रिपोर्टिंग कर रही है।
... और पढ़ें

अलीगढ़ में मदद के नाम पर पार्षद पर अवैध उगाही का आरोप, महिलाओं ने किया हंगामा

अलीगढ़ महानगर के बन्नादेवी थाना क्षेत्र के नगला कलार वार्ड के पार्षद रवि पर सरकारी लॉक डाउन के दौरान गरीबों को सरकारी मदद देने के नाम पर अवैध उगाही करने का आरोप लगाते हुए महिलाओं ने हंगामा काटा। महिलाओं ने कहा कि वह दिहाड़ी मजदूर हैं। 

पता लगा कि प्रशासन हमारे राशन कार्ड बनवा रहा है। साथ ही सहायता राशि देने की भी बात कह रहा है। इस योजना का लाभ पाने को पार्षद के पास पहुंचे तो वह दस रुपये में फार्म बेच रहा था। साथ ही फार्म भरकर जिला प्रशासन तक पहुंचाने की एवज में 100-100 रुपये मांगने लगा। 

विरोध करने पर उसने भगा दिया। मामले की सूचना पर थाना पुलिस पहुंच गई। पुलिस ने महिलाओं से लिखित में शिकायत लेते हुए जांच शुरू कर दी है। इधर, जिलाधिकारी से भी मामले को अवगत कराया गया है। जिलाधिकारी चंद्रभूषण सिंह के मुताबिक पार्षद के खिलाफ पुलिस की जांच पूरी होने के बाद ही सत्यता का पता लगेगा, जिसके आधार पर उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज करने सहित अन्य विधिक कार्रवाई की जाएगी। 

संकट की इस घड़ी में मजबूरों से अवैध उगाही करने वालों को बिल्कुल भी बख्शा नहीं जाएगा। शिकायत करने वाली महिलाओं में इलाके की अनीता, सुनीता, मंजू, रेखा, चंद्रवती, मधु, पूजा आदि शामिल रहीं।
... और पढ़ें

एएमयू में कक्षाएं यूजीसी के निर्देश के बाद शुरू होंगी कुलपति की अध्यक्षता में हुई बैठक में लिया गया फैसला

अलीगढ़ । कोरोना वायरस की महामारी के चलते हुए लॉक डाउन में अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय प्रशासन ने विद्यार्थियों के शैक्षणिक करियर को प्रभावित होने से बचाने का फैसला लिया है। तय किया गया है की आनलाइन क्लासेस ज्यादा से ज्यादा चलाई जायेंगी तथा इसमें शिक्षक एवं छात्र ज्यादा से ज्यादा संख्या में भाग लें।  कुलपति प्रो. तारिक मंसूर की अध्यक्षता में सोमवार को फैकल्टियों के डीन और प्रिन्सिपलों की एक मीटिंग हुई जिसमें इस बात पर बल दिया गया कि छात्र व छात्राओं का शैक्षिक करियर कम से कम प्रभावित होना चाहिये।  मीटिंग में यह विश्वास व्यक्त किया गया कि सभी शिक्षक संकट की इस घड़ी में छात्रों के हित में अपना भरपूर सहयोग प्रदान करेंगे। क्योंकि यह जनस्वास्थय का विषय है इसलिये क्लासेस और शैक्षिक गतिविधियां यूजीसी व मानव संसाधन विकास मंत्रालय के निर्देशों के अनुसार प्रारंभ होंगी। इस दौरान सभी फैकल्टियों, विभागों और केन्द्रों में आनलाइन कक्षाओं को प्रोत्साहित किया जायेगा। शिक्षकों एवं छात्रों को इसमें ज्यादा से जयादा भाग लेने के लिये प्रेरित किया जायेगा। इस मामले की समय-समय पर समीक्षा की जायेगी।  ... और पढ़ें

अलीगढ़ में पार्षद गुमशुदा के पोस्टर लगाए, इस वजह से नाराज हैं लोग

अलीगढ़ के बन्नादेवी क्षेत्र में नगर निगम के वार्ड 49 प्रतिभा कॉलोनी मोहन नगर में लोगों ने पार्षद गुमशुदा के पोस्टर लगा दिए हैं। दरअसल, कोरोना वायरस महामारी से बचाव  के लिए नागरिकों के अनरोध के बाद भी क्षेत्रीय पार्षद द्वारा क्षेत्र में एक बार भी सैनिटाइजिंग नहीं कराया। इससे नाराज स्थानीय नागरिकों ने क्षेत्र में पार्षद गुमशुदा के पोस्टर लगा दिए हैं।

वहीं सोमवार को नगर निगम और स्वास्थ्य विभाग ने कॉलोनी में एक परिवार को कोरोना वायरस की आशंका में आइसोलेट कर दिया है। पार्षद की अनदेखी से क्षेत्रीय लोगों में आक्रोश व्याप्त है।

क्षेत्रीय नागरिक संजीव शर्मा उर्फ सोनू ने बताया कि वार्ड संख्या 49 प्रतिभा कॉलोनी मोहन नगर में मधु सिंघल पार्षद हैं। क्षेत्र में पार्षद के पति योगेश सिंघल क्षेत्र में विकास कार्यों की देख-रेख करते हैं। क्षेत्रीय लोगों ने पार्षद पति से कोरोना वायरस महामारी के संक्रमण से बचाव के लिए क्षेत्र में सैनिटाइजिंग कराने का अनुरोध किया। लेकिन उन्होंने क्षेत्रीय लोगों की बात को अनसुना करके एक तरीके से नकार दिया है। 

स्थानीय पार्षद को क्षेत्र की स्वच्छता और नागरिकों के स्वास्थ्य की कोई चिंता नहीं है। जहां आज स्वास्थ विभाग और नगर निगम की टीम ने कॉलोनी में कोरोना वायरस की आशंका के चलते एक परिवार को घर में ही आइसोलेट कर दिया है। 

इसके बाद क्षेत्रीय नागरिकों के सब्र का बांध टूट गया और नागरिक स्थानीय पार्षद की अनदेखी के विरोध में आ गए हैं और उन्होंने कॉलोनी में गुमशुदा पार्षद के पोस्टर लगा दिए हैं। 
अब देखना है कि नगर निगम के अधिकारी कब तक क्षेत्रीय लोगों की आवाज को सुनकर क्षेत्र में सैनिटाइजिंग कराकर क्षेत्रीय जनता को राहत देते हैं।
 
... और पढ़ें

6 और मामलों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि पांच नोएडा के और एक केस बुलंदशहर का मिला, अलीगढ़ का अभी तक कोई केस नहीं

जेएन मेडिकल कॉलेज में कोरोना संदिग्ध मामलों की जांच के लिए बनाई गई लैब में सोमवार को 6 और केस कोरोना वायरस के संक्रमण के पाए गए हैं। इसमें पांच मामले नोएडा के थे जबकि एक केस बुलंदशहर का पाया गया।

इस तरह जेएन मेडिकल कॉलेज में अब तक 407 कोरोना संदिग्ध मामलों की जांच हो चुकी है ।इसमें 31 मामले पॉजिटिव पाए गए। यानि यह व्यक्ति कोरोना से संक्रमित थे। अब तक सबसे अधिक पॉजिटिव नोएडा के पाए गए हैं। नोएडा में अब तक सबसे अधिक 28 केस कोरोना संक्रमण के पाए गए हैं।

एक मामला मुरादाबाद का है । एक आगरा का और एक बुलंदशहर का है। एएमयू जनसंपर्क विभाग के एमआईसी प्रोफेसर शाफे किदवाई कहते हैं जितने भी केस कोरोना संक्रमण के पाए गए हैं इनमें एक बात सामान्य थी कि इन सभी की ट्रैवल हिस्ट्री रही है। यह लोग बाहर से सफर करके आए हैं।
... और पढ़ें

अलीगढ़ डीएम की फर्जी फेसबुक आईडी बनाई, साइबर सेल जांच में जुटा

साइबर शातिर ने अलीगढ़ के डीएम की फर्जी फेसबुक आईडी बना ली है। सोमवार को जिलाधिकारी को इस मामले की जानकारी हुई तो उनके होश उड़ गए। तुरंत मामले में एसएसपी को अवगत कराते हुए साइबर सेल से इसकी जांच शुरू करा दी है। डीएम ने बताया कि जांच में जो भी शातिर इस काम में संलिप्त पाया जाएगा, उसके खिलाफ आईटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।

डीएम अलीगढ़ के नाम से फेसबुक पर एक अधिकारिक आईडी संचालित है। इस पर डीएम कार्यालय के जनता के हित के आदेश और अधिकारियों की दिनभर की गतिविधियों को सार्वजनिक किया जाता है। अज्ञात शातिर ने डीएम का फोटो लगाते हुए इसी नाम से एक फर्जी आईडी बना ली है और वह लोगों को लगातार दोस्ती का प्रस्ताव भेज रहा है।

सोमवार को इस मामले की जानकारी जैसे ही जिलाधिकारी को हुई उन्होंने तत्काल ईडीएम मनोज राजपूत से आईडी को चेक करने को कहा। चेक करने पर मामला सही पाया गया। इसके बाद तत्काल जिलाधिकारी ने एसएसपी को अवगत कराते हुए साइबर सेल से जांच कराने के निर्देश देते हुए अधिकारिक आईडी से पोस्ट जारी कर लोगों को सावधान किया। एसएसपी मुनीराज जी के अनुसार साइबर सेल मामले की जांच कर रहा है। आईडी कहां से और किसके मोबाइल या लैपटॉप से संचालित हो रही है। इसकी जानकारी मिलते ही उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाएगा।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं
Aligarh Dueshera Coupon
Aligarh Dueshera Coupon
Aligarh Dueshera Coupon
Aligarh Dueshera Coupon

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us