विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

बिजली गिरने और ओला-बारिश से उत्तर प्रदेश में आठ लोगों की मौत, फसलों को नुकसान

प्रदेश में बृहस्पतिवार रात से ही अचानक मौसम बदल गया। कई जिलों में आंधी और बारिश हुई। शुक्रवार को भी दिनभर ऐसा ही दौर रहा।

22 फरवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

अलीगढ़

शनिवार, 22 फरवरी 2020

सीएए का विरोधः दिन में छातों की ओट में आराम, शाम को नारेबाजी

शाहजमाल ईदगाह के सामने एनआरसी के विरोध में 23 दिन से जारी धरना प्रदर्शन अब वीरान हो गया है। बृहस्पतिवार को दिन में धरना स्थल पर करीब 50 महिलाएं ही रह गईं। वह भी तेज धूप के चलते छातों की आड़ में आराम करने लगीं। शाम चार बजे तक यहां पूर्ण रूप से शांति छाई गई। करीब पांच बजे से यहां भीड़ का बढ़ना शुरू हुआ। लगभग सात बजे तक 300 महिलाएं धरना स्थल पर जुटीं। इसके बाद महिलाओं ने फिर से नारेबाजी शुरू कर दी। यह नारेबाजी देर रात दस बजे तक चली। इसके बाद अधिकांश महिलाएं अपने-अपने घरों को चली गईं। इधर, भीड़ की संख्या को देखते हुए प्रशासन की ओर से सुरक्षा बलों को भी कम कर लिया है। बृहस्पतिवार को धरना स्थल के आसपास करीब दो दर्जन ही पुलिसकर्मी तैनात रहे।
आज का दिन प्रशासन और पुलिस के लिए सुरक्षा एवं कानून व्यवस्था के लिहाज से बेहद खास है। जुमे और महाशिवरात्रि के एक साथ होने से प्रशासन अलर्ट मोड़ पर है। शहर को सात सेक्टरों में विभाजित किया है। एडीएम सिटी के कार्यालय को कंट्रोल रूम बनाया गया है। एडीएम सिटी राकेश कुमार मालपाणी के अनुसार जयगंज, सब्जी मंडी चौराहा, देहली गेट, मदार गेट, रसलगंज, जीटी रोड, जमालपुर, रामघाट रोड को सेक्टर बनाया गया है। यहां सेक्टर स्कीम लागू रहेगी। इसके साथ ही शाहजमाल ईदगाह पर दो अतिरिक्त सेक्टर मजिस्ट्रेटों को तैनात किया गया है। वहीं, स्पेशल सेक्टर में अचलेश्वर मंदिर और खेरेश्वर हैं। इन दोनों स्थानों पर भी मजिस्ट्रेटों की तैनाती की गई है। किसी भी प्रकार की अराजकता या कानून व्यवस्था पर खतरा होने पर मजिस्ट्रेटों को स्वत: संज्ञान लेने का अधिकार दिया गया है। हर आधे घंटे की रिपोर्ट कंट्रोल रूम को देनी होगी।
... और पढ़ें

मानसिक संतुलन खो चुके हैं सीएम योगीः संजय सिंह

एएमयू के 15 हजार छात्र शहर को जला देना चाहते थे, जैसी बातें कहने से साफ है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मानसिक संतुलन खो चुके हैं। वह तथ्यों से भी ठीक से परिचित नहीं हैं। यह बात राज्यसभा सांसद और आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने बृहस्पतिवार को अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) के स्ट्रैची हाल परिसर में पत्रकारों से बातचीत में कही।
उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में भी जल्द ही अरविंद केजरीवाल माडल लागू किया जाएगा। इसी के आधार पर जनता के बीच में जाया जाएगा। हमारे विधायक और मंत्री यूपी में जनता के बीच जाएंगे। हमारे 17 विधायक और पांच मंत्री हैं उनको हम जनता के बीच ले जाएंगे। उन्होंने कहा कि शाहीन बाग में चल रहे धरने को हटाने में दिल्ली की पुलिस और केंद्र सरकार सक्षम है। हमारे हाथ में न दिल्ली की पुलिस है, न कानून व्यवस्था है। केंद्र सरकार को प्रदर्शनकारियों से बातचीत करनी चाहिए।
उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने शिक्षा का भी बजट कम किया है। स्वास्थ्य का बजट भी कम किया है। बैंकों में जमा आम आदमी के पैसे को लेकर पूंजीपति भाग गया है। वास्तविक मुद्दे पीछे छूट रहे हैं। बेरोजगारी पिछले 45 वर्षों में सबसे ज्यादा है। उन्होंने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री पहले ऐसे मुख्यमंत्री हैं जिन्होंने जनता से कहा कि अगर उन्हें लगता है दिल्ली सरकार ने काम किया है तो वह उन्हें वोट दें, अगर जनता को लगता है दिल्ली सरकार ने कोई काम नहीं किया है तो वह उन्हें वोट न दें।
... और पढ़ें

40 करोड़ के ठेकों में मनमानी की सीएम से शिकायत

ठेके चहेतों को देना, उनमें मोटा कमीशन लेना आम बात हो गई है। ताजा मामला धनीपुर मंडी के निर्माण कार्यालय से जुड़ा है, जहां 40 करोड़ के ठेकों में मनमानी कर ली गई है। अपने खास लोगों को ठेका दे दिया गया। धनीपुर मंडी के डिप्टी डायरेक्टर निर्माण कार्यालय से हाल ही में उप मंडी खैर, अतरौली, हरदुआगंज, छर्रा में सौंदर्यीकरण के अलग-अलग कार्यों के लिए 40 करोड़ रुपये के ठेके उठाए गए हैं। इन ठेकों को आगरा के कुछ एक-दो चहेते ठेकेदारों को देने का मामला सामने आया है।
न्यू अशोक नगर निवासी राजेंद्र मेहरा ने इस मामले में सीएम योगी आदित्यनाथ को शिकायत भेजी है। ये शिकायत आनलाइन पोर्टल पर की गई है। जिस पर जिलाधिकारी को जांच करने के लिए शिकायत ऑनलाइन आगे बढ़ा दी गई है। अब जिला प्रशासन इसकी जांच कराएगा। इन ठेकों में अतरौली में पांच, छर्रा में तीन, खैर में तीन, हरदुआगंज में तीन ठेकेदारों के आवेदन थे, लेकिन ई-टेंडर में जिसका नियमानुसार चयन हुआ उसको कार्य आवंटन किया गया है। इसमें 3.90 लाख, 8 करोड़, 6 करोड़ और 70 लाख के अलग अलग कार्य के ठेके हैं। इसके अलावा कुछ और ठेके इसमें शामिल हैं। इनकी कुल लागत 40 करोड़ रुपये है।
इस मामले में आरोपों के घेरे में आए डिप्टी डायरेक्टर निर्माण तीरन सिंह ने कहा है कि सभी ठेके शासन के निर्देश पर ई-टेंडरिंग की प्रक्रिया से आवंटित किए गए हैं। इसमें ये कहना कि ठेके अपने खास लोगों को दिए गए हैं, सरासर गलत है। अगर शासन से कोई जांच आई है तो उस पर नियमानुसार प्रक्रिया पूरी कर जवाब दिया जाएगा।
... और पढ़ें

सीएए के विरोध में एएमयू में धरना स्थल पर भूख हड़ताल शुरू

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में पिछले ढाई महीने से चल रहे धरने पर अब शुक्रवार से छात्रों ने क्रमिक भूख हड़ताल शुरू कर दी है।

इस संबंध में छात्रों ने जिलाधिकारी सहित भारत के राष्ट्रपति और विश्वविद्यालय प्रशासन को भी पत्र लिखकर अवगत करा दिया है। इसमें कहा गया है कि 72 घंटों में अगर मांगें नहीं मानी गईं तो अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल शुरू कर दी जाएगी। इससे पहले शुक्रवार को धरना स्थल पर जुमे की नमाज अदा की गई।

बाब ए सैयद पर चल रहे धरना स्थल पर क्रमिक भूख हड़ताल पर बैठने वालों में आरिफ त्यागी, बैचलर ऑफ सोशल वर्क्स तृतीय वर्ष के छात्र रवीश अली खान और मुजम्मिल शालिम थे।

भूख हड़ताल पर बैठे छात्रों ने राष्ट्रपति, जिलाधिकारी, प्रधानमंत्री कार्यालय, गृहमंत्री, मानव संसाधन विकास मंत्रालय, यूपी के मुख्यमंत्री आदि को भेजे पत्र में मांग की गई है कि एएमयू के कुलपति और रजिस्ट्रार इस्तीफा दें। डीएसडब्ल्यू भी इस्तीफा दें। 15 दिसंबर 2019 की घटना की पूरी फुटेज उपलब्ध कराई जाए।

घटना वाली रात जेएन मेडिकल कॉलेज की एंबुलेंस के ड्राइवर, तैनात डॉक्टर और मौरिसन कोर्ट हास्टल के छात्रों व गेट कीपर से की गई बर्बरता के लिए दोषी पुलिस वालों पर रिपोर्ट दर्ज की जाए। दूसरी ओर छात्रों के भूख हड़ताल पर बैठने से विश्वविद्यालय प्रशासन की मुश्किलें और बढ़ गई हैं। मौके पर प्रॉक्टर टीम नजर रखे हुए है। इससे पहले धरना स्थल पर ही दोपहर को छात्रों ने जुमे की नमाज अदा की थी।

सीएए के विरोध में धरना स्थल पर पहुंचे सिख समुदाय के लोग
शुक्रवार को कुछ सिख समुदाय के लोग भी बाब-ए-सैयद पर सीएए के विरोध में चल रहे धरने पर पहुंचे। छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष फैजुल हसन ने बताया कि यह लोग भगवान सिंह के नेतृत्व में हर जगह पहुंच रह हैं। पंजाब से लेकर अलीगढ़ तक हर विरोध में शामिल हो रहे हैं। वह शाहीन बाग भी गए और अलीगढ़ के शाहजमाल भी गए।
... और पढ़ें
बाब ए सैयद पर नमाज अदा करते एएमयू छात्र। बाब ए सैयद पर नमाज अदा करते एएमयू छात्र।

बारिश-ओले से मची भगदड़ में महिला कांवड़िया की मौत

बृहस्पतिवार की देर रात बारिश और ओले गिरने से कांवड़ियों में भगदड़ मच गई। बारिश से हुई फिसलन के चलते बारिश व ओले से बचने की कोशिश में अलीगढ़ शहर निवासी एक महिला कांवड़िया फिसलकर गड्ढे में जा गिरी। उसे बाहर निकालकर कपड़े बदलवाए गए लेकिन कुछ देर बाद ही हालत बिगड़ी और जेएन मेडिकल कॉलेज पहुंचने से पहले दम तोड़ दिया।
आगरा के ताजगंज निवासी लाखन सिंह की 9 माह पहले फिरोजाबाद निवासी 20 वर्षीय कल्पना से शादी हुई थी। अलीगढ़ में काम के चलते दंपती अलीगढ़ शहर के बेगमबाग कालोनी में किराये पर रह रहे थे। महाशिवरात्रि पर जोड़े से कांवड़ चढ़ाने के लिये बृहस्पतिवार की रात दोनों कांवड़ लेकर अलीगढ़ लौट रहे थे। लाखन सिंह के अनुसार देर रात करीब ढाई बजे वह हरदुआगंज के इॅस्कान मंदिर के निकट पहुंचे तभी बारिश के साथ ओले पड़ने लगे। इससे बचने के लिए सड़क पर चल रहे कांवड़ियों में भगदड़ मच गई। भगदड़ की चपेट में आकर कल्पना फिसलकर गड्ढे में गिर गई। लोगों के सहयोग से उन्होंने पत्नी को गड्ढे से बाहर निकाला। उसने कपड़े बदले लेकिन कुछ देर में ही वह अचेत हो गई।
आननफानन में वह पत्नी को लेकर जेएन मेडिकल कॉलेज पहुंचे जहां डॉक्टर ने कल्पना को मृत घोषित कर दिया। युवती की मौत से परिवार में कोहराम मच गया। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया है। मकान स्वामी डॉ. शेरपाल सिंह के अनुसार लाखन शहर की एक दुकान पर काम करते हैं और दस साल से उनके मकान में रह रहे हैं।
... और पढ़ें

मजदूरी के बहाने ले जाकर मजदूर को मौत के घाट उतारा

महानगर के गांधी पार्क थाना क्षेत्र के सिंधौली गांव निवासी एक मजदूर की गांव के दो सगे भाइयों ने मजदूरी के बहाने ले जाकर जौनपुुर में हत्या कर दी। परिवार वालों ने शुक्रवार को इस मामले में थाना गांधी पार्क के सामने शव रख हंगामा काट दिया। इसके बाद हरकत में आई पुलिस गांव के ट्रक संचालक बिट्टू और दिनेश पर हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है। इधर, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सड़क हादसे में घायल होने जैसी चोटों के निशान शरीर पर मिले हैं। पुलिस मामले की तफ्तीश में जुटी है।
संधौली निवासी 45 वर्षीय विपिन कुमार गांव में ही कभी ट्रैक्टर चलाने का तो कभी किसी के खेत पर मजदूरी कर परिवार का पालन पोषण करता था। मृतक विपिन के चचेरे भाई पुष्पेंद्र द्वारा दर्ज कराए मुताबिक 15 फरवरी को उसे गांव के बिट्टू और दिनेश ट्रक पर मजदूरी कराने के बहाने बनारस ले जाने की बात कहकर बरगलाकर ले गया था। 19 फरवरी को वादी के पास एक अज्ञात नंबर से फोन आया। फोन करने वाले ने विपिन की हालत खराब होने और उसके जौनपुर के एक अस्पताल में भर्ती होने की जानकारी दी। इस पर विपिन का बेटा विशाल और एक पड़ोसी बंटी जौनपुर पहुंचे। वहां पिता की गंभीर हालत देख वह बृहस्पतिवार को उन्हें उपचार के लिए अलीगढ़ लाने लगे। विशाल का आरोप है कि रास्ते में ही पिता की मौत हो गई। साथ ही पिता के शरीर पर चोटों के निशान हैं। आरोप है कि ट्रक संचालक भाइयों ने ही पिता की पीट पीटकर हत्या की है।
पिता से उनका पूर्व में भी पैसों को लेकर विवाद हुआ था। तब उन्होंने जान से मारने की धमकी दी थी। इधर, गांव वालों का आक्रोश फूट पड़ा। वह थाने पर पहुंच गए। परिवार वालों का समर्थन करते हुए आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करने लगे। इंस्पेक्टर गांधी पार्क सुधीर पाल धामा के मुताबिक मृतक के भाई पुष्पेंद्र ने मामले में तहरीर दी है, जिसके आधार पर बिट्टू और दिनेश पर हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है। मामले की जांच जारी है। शव परिवार वालों को सौंप उन्हें समझा बुझाकर अंतिम संस्कार के लिए भेज दिया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में शरीर पर सड़क हादसे में घायल होने जैसी चोटों के निशान शरीर पर मिले हैं। पूरे मामले की तफ्तीश जारी है।
थाना गाँधीपार्क के बाहर शव रखकर जाम लगाते लोग।
थाना गाँधीपार्क के बाहर शव रखकर जाम लगाते लोग।- फोटो : CITY OFFICE
... और पढ़ें

रुपये के लेनदेन में भांजे ने की मामा की हत्या

थाना बन्ना देवी क्षेत्र के मोहल्ला बरौला बाईपास पर नशे में धुत युवक ने अपने मामा की चाकू व पेचकस से गोदकर हत्या कर दी। रुपये के लेनदेन को लेकर दोनों में विवाद हुआ था। दोनों इंडस्ट्रियल एरिया स्थित फैक्ट्री में काम करते थे। पुलिस ने हमलावर को गिरफ्तार कर लिया है।
मूल रूप से देहली गेट के भुजपुरा का रहने वाला जानी उर्फ जफरुद्दीन(40) पांच महीने से बन्ना देवी के बरौला जाफराबाद में यशवंत के मकान में किराए पर रहता था। उसका भांजा बबलू निवासी भुजपुरा भी साथ रहता था। जानी की पत्नी बहुत पहले ही उसे छोड़कर चली गई थी। जानी के पड़ोसी राम कुमार गुप्ता की बरौला बाईपास पर दुकान है। उन्होंने बताया कि बबलू व जानी के बीच पांच हजार रुपये को लेकर विवाद था। जानी पर बबलू के रुपये बकाया थे। शुक्रवार की दोपहर बरौली बाइपास पर इसी बात को लेकर एक बार फिर से दोनों में कहासुनी हुई। देखते ही देखते मामला तूल पकड़ गया। बबलू ने अपने मामा पर चाकू और पेचकस से हमला बोल दिया। चीख-पुकार सुनकर आसपास के लोग इकट्ठा हो गए। जानी पर ताबड़तोड़ कई वार किए गए, जिससे वह लहूलुहान हो गया। वहां मौजूद लोगों के अनुसार बबलू शराब के नशे में था। लोगों ने पुलिस को सूचना दी। हमले के बाद बबलू ने मौके से भागने की कोशिश की, लेकिन भीड़ ने उसे पकड़ लिया।
मौके पर पहुंची पुलिस ने जानी को एंबुलेंस से जिला अस्पताल भेजा, लेकिन चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इधर, भीड़ ने बबलू को पुलिस के हवाले कर दिया। उसे गिरफ्तार कर लिया गया है। मौके पर फॉरेंसिक विभाग की टीम ने साक्ष्य इकट्ठा किए हैं। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। थाना बन्ना देवी के इंस्पेक्टर रविंद्र कुमार दुबे ने बताया कि मकान मालिक की पत्नी नीलम की तहरीर पर हमलावर बबलू के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। पुलिस भुजपुरा में दोनों मामा और भांजे के घरों की तलाश कर रही है, लेकिन शुक्रवार देर शाम तक कुछ पता नहीं चल सका था।
-
... और पढ़ें

अलीगढ़ की नुमाइश में जावेद अली का धमाल, देर रात तक चली सुरों की महफिल।

बरौला बाइपास पर हुए मर्डर के बाद घटना की जानकारी करती पुलिस।
नुमाइश के कोहिनूर मंच पर आखिरी स्टार नाइट बेहद रंगीन और सुरीली रही। बॉलीवुड के पार्श्वगायक जावेद अली के सुरों से सजी महफिल में देर रात तक श्रोता झूमते रहे। जावेद ने एक से बढ़कर एक बॉलीवुड गीत सुनाकर लोगों को खूब रोमांचित किया।
बॉलीवुड की जोधा अकबर, रॉक स्टार, इशकजादे, रांझणा जैसी हिट फिल्मों में अपनी आवाज का जादू बिखेर चुकेजावेद अली की स्टार नाइट का उद्घाटन डीएम चंद्रभूषण सिंह, एडीएम सिटी राकेश मालपाणी, सीडीओ अनुनय झा ने दीप प्रज्वलित कर किया। इसके बाद जावेद ने तू मेरी अधूरी प्यास प्यास.., नैना लड़े के लड़े रह गए.., तू जो मिल गया तो हो गया सब हासिल.., कहने को जश्ने बहारा है.., फाया कुन फाया कुन.., मौला ए मेरे मौला.. जैसे एक से बढ़कर एक गीत गाए। उनके गीतों के समंदर में श्रोता गोता लगाते रहे। दर्शकों ने उनके सुरों से सुर मिलाते हुए गीत भी गाए। तालियों की गडग़ड़ाहट से पंडाल गूंज उठा। हालांकि नुमाइश की आखिरी नाइट होने के बावजूद इस बार उम्मीदों के मुताबिक दर्शक नहीं पहुंचे। ए और बी ब्लाक में ही दर्शकों का जमावड़ा रहा। मगर, इन दर्शकों ने भी जावेद अली को तालियों से खूब उत्साहित किया।
... और पढ़ें

किसानों पर शुक्रवार रात हुई आफत की बारिश, महनत पर बरसे ओले

गुरुवार रात हुई बारिश एवं ओलावृष्टि से किसान सांसत में हैं। करीब 20 मिनट तक पड़े ओलों से सरसों एवं आलू की फसल को नुकसान हुआ है। कहीं-कहीं गेहूं के फूल भी गिरने की खबर है। नुकसान के आंकलन के लिए कृषि एवं राजस्व टीमें जुट गई हैं। अब तक मिली जानकारी के अनुसार सर्वाधिक नुकसान कोल तहसील में हुआ है। यहां सरसों एवं आलू की लगभग सात फीसद फसल को क्षति पहुंची है।
गुरुवार देर रात दो बजे के करीब बारिश के साथ करीब 20 मिनट तक ओले पड़े। इस ओलावृष्टि से किसानों के चेहरों का रंग उड़ गया। विशेष रूप से सरसों एवं आलू उत्पादक किसान खासे परेशान दिखाई दिए। बताते चलें कि इस समय सरसों एवं आलू की फसलें लगभग तैयार हैं और गेहूं के पौधे में भी फूल आ गया है। ओलों से सरसों के पौधे गिर पड़े तो आलू के खेतों में भी पानी भर गया और पौधों को भी क्षति पहुंची। जिला कृषि अधिकारी विनोद कुमार ने बताया कि कोल तहसील में सरसों एवं आलू की फसलों को ओलों से नुकसान पहुंचा है।
अभी आंकलन चल रहा है। अन्य तहसीलों में भी इन्हीं फसलों को नुकसान बताया जा रहा है। उन्होंने किसानों को तैयार आलू को जल्द से जल्द खुदवाने एवं तैयार सरसों को काटकर सुरक्षित रखने को कहा है। विशेषज्ञों के मुताबिक यदि मौसम एक दो दिनों में नहीं खुला तो पानी भरे रहने से आलू की चमक कम हो जाएगी। इससे किसानों को सही दाम नहीं मिलेंगे।
एएमयू के भूगोल विभाग के चेयरमैन प्रो. अतीक अहमद ने बताया कि 21 मार्च को दिन और रात एक सामान होते हैं। इसके बाद दिन का समय बढ़ेगा और सूरज की किरणें पृथ्वी के सामने वाले भूभाग पर अधिक होंगी, जिससे तापमान बढ़ेगा और धीरे-धीरे गरमी की शुरुआत हो जाएगी। इससे पहले 22 फरवरी से 15 मार्च तक जब-जब तापमान में औसत से अधिक वृद्धि होगी तो इसी तरह से ओलावृष्टि या बारिश होगी जैसे बृहस्पतिवार की रात को हुई है। तापमान बढ़ने और पश्चिमी विक्षोभ के कुछ असर के कारण ऐसा हो रहा है। इस वक्त किसानों को अपनी फसलों को बचाने के उपाय करने चाहिए, जिससे उनका कम से कम नुकसान हो।
... और पढ़ें

‘शाहीन’ उठे तो ‘शाह जमाल’ घर चले

नागरिकता संशोधन कानून(सीएए), एनआरसी, एनपीआर के विरोध में शाह जमाल ईदगाह के सामने महिलाएं धरना दे रही हैं। धरने का यह 24वां दिन था। धरने को समर्थन देन भटिंडा (पंजाब) से सिख समुदाय के दो व्यक्ति पहुंचे। धरना दे रहीं महिलाओं का समझाने गए ऑल इंडिया बाबरी मस्जिद एक्शन कमेटी के सदस्य सलीम मुख्तार से महिलाओं ने ही सवाल दाग दिया। बोलीं, ‘शाहीन बाग में धरने पर बैठीं महिलाएं हट गईं तो मैं भी यहां से हट जाऊंगी। महिलाओं ने कहा कि मैं मानती हूं कि ज्यादा पढ़ी-लिखी नहीं हूं। यह भी मानती हूं कि मुस्लिम अपने नफा-नुकसान के लिए सीएए, एनआरसी, एनपीआर का विरोध कर रहे हैं, लेकिन यह हरगिज नहीं मान सकती हूं कि जो हिंदू भाई सीएए, एनआरसी, एनपीआर का विरोध कर रहे हैं, वे गलत हैं।
अगर इतने पढ़े-लिखे लोग इसका विरोध कर रहे हैं, तो मामला गंभीर है। यह लोग आकर कह दें कि विरोध गलत है तो मैं उठ जाऊंगी’। दोपहर करीब डेढ़ बजे भटिंडा (पंजाब) से जावर जंग सिंह व भगवान सिंह धरने को समर्थन देने पहुंचे। जावर जंग सिंह ने कहा कि जो धरना चल रहा है, उसे समर्थन देने आए हैं। भारत सभी धर्मों के लोगों से मिलकर बना है। अच्छा चल रहा है। ऐसे चलने देना चाहिए। उन्होंने कहा कि सीएए के खिलाफ नहीं हूं, लेकिन जो धर्म व देश के आधार पर किया गया है, उसके खिलाफ हैं।
तयशुदा तारीख के खिलाफ हैं। कहीं से भी कोई प्रताड़ित आए, उसका स्वागत करना चाहिए, क्योंकि भूखे का कोई धर्म नहीं होता है, बल्कि उसका धर्म रोटी होता है। अगर कहीं से सात भाई आ रहे हैं। इनमें कह दें कि छह लोगों को लेंगे, लेकिन एक को नहीं लेंगे। ऐसा नहीं होना चाहिए। सभी धर्मों का सत्कार होना चाहिए। धरना स्थल पर महिलाएं भगवान सिंह को ले गई थीं, लेकिन पुलिस के कहने पर वह वापस आ गए।
बारिश में भीगीं महिलाएं पर धरना स्थल से नहीं हटीं
बृहस्पतिवार देर रात ओले के साथ तेज बारिश हुई, लेकिन शाह जमाल ईदगाह पर धरना दे रहीं महिलाएं भीगती रहीं, लेकिन वह से हटी नहीं। हालांकि, बारिश से बचने के लिए वह तिरपाल बांध रही थीं, तभी पुलिस कर्मियों ने ऐसा करने से मना कर दिया। इससे महिलाओं व पुलिस में नोकझोंक हुई। बहरहाल, लोगों के घर से काफी तादाद में छाते पहुंच गए, जिसने बारिश से महिलाओं की हिफाजत की।
एएमयू : बाब-ए- सैयद पर पढ़ी जुमे की नमाज
ऊपरकोट स्थित जामा मस्जिद व जमालपुर ईदगाह मस्जिद में जुमे की नमाज पढ़ी गई। सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त रहे। नमाज मुकम्मल होने के एक घंटे तक फोर्स तैनात रहा। वहीं, एएमयू के बाब-ए-सैयद के पास धरना स्थल पर छात्रों ने नमाज पढ़ी।
... और पढ़ें

धरने पर बैठीं महिलाओं ने घेरी कोतवाली, जमकर नारेबाजी

शाहजमाल ईदगाह के सामने सीएए और एनआरसी के विरोध में धरना-प्रदर्शन कर रहीं महिलाओं ने शुक्रवार की रात को ऊपरकोट कोतवाली का घेराव कर लिया और जमकर नारेबाजी की। महिलाओं ने मांग रखी कि उनको धरना स्थल पर टेंट लगाने की अनुमति दी जाए, वरना वह कोतवाली के सामने ही धरना देती रहेंगी। 800 के करीब महिलाओं की संख्या को देखते हुए आला अधिकारियों ने तत्काल वहां महिला पुुलिस बल को भेजा। साथ ही खुद भी उनको समझाने-बुझाने में जुटे रहे। हालांकि महिलाओं ने पुलिस अधिकारियों की बातों को अनसुना करते हुए जोरदार नारेबाजी जारी रखी। पुलिस को महिलाओं को रोकने के लिए बैरीकेडिंग करनी पड़ी। धरने पर बैठ महिलाओं को समझाने के लिए शहर मुफ्ती पहुंचे। लेकिन धरने पर बैठी महिलाओं ने शहर मुफ़्ती की कोई बात नहीं मानी और लगातार नारेबाजी करती रहीं।
बृहस्पतिवार की रात को बारिश और ओलावृष्टि के बाद महिलाओं ने वहां टेंट लगाने की मांग कर दी थी। पुलिस ने इस मांग को नकारते हुए अनुमति देने से इंकार कर दिया। इसे लेकर देर रात को भी वहां महिलाओं की अधिकारियों से काफी बहस हुई। मामला शुक्रवार की रात को करीब साढ़े नौ बजे आक्रोश में बदल गया। शाहजमाल धरने से उठकर करीब 800 महिलाएं ऊपरकोट कोतवाली के सामने पहुंच गईं। यहां महिलाओं ने सरकार विरोधी और पुलिस प्रशासन विरोधी नारेबाजी शुरू कर दी। महिलाओं की संख्या को देखते हुए तत्काल मामला एसएसपी तक पहुंचा। एसएसपी के निर्देश पर वहां आला अधिकारी भी पहुंच गए। इधर, सिटी मजिस्ट्रेट, एसपी सिटी और सीओ द्वितीय महिलाओं को समझाने में लगे रहे। अधिकारियों ने मामले को शांत कराने के लिए महिलाओं को समझाया। देर रात करीब एक बजे तक वहां महिलाएं जुटी रहीं। रात एक बजे के बाद कोतवाली का घेराव करने पहुंची महिलाएं धीरे-धीरे कर अपने घरों को रवाना हो गईं। देर रात तक इनमें से काफी महिलाएं वापस शाहजमाल में धरना-प्रदर्शन करने पहुंच गईं और वहां पूरी रात धरने पर बैठी रहीं।
इलाहाबाद से धरने में पहुंच वकील
शाहजमाल धरनास्थल पर कुछ वकील भी पहुंच गए। वकीलों ने बताया कि वह अलीगढ़ में धरना प्रदर्शन को लेकर सजग हैं। प्रशासन को सोचना चाहिए कि ओलावृष्टि और बारिश में महिलाएं किस तरह से बिना टेंट के धरना प्रदर्शन करेंगी, इसलिए जिला प्रशासन को प्रदर्शन कर रहीं महिलाओं को टेंट लगाने की अनुमति देनी चाहिए।
उपरकोट कोतवाली पर एनआरसी व सीएए के विरोध में प्रदर्शन करती महिलाएं।
उपरकोट कोतवाली पर एनआरसी व सीएए के विरोध में प्रदर्शन करती महिलाएं।- फोटो : CITY OFFICE
... और पढ़ें

हाथरस: दिल्ली से हाथरस तक दो बार टूटी संपर्क क्रांति एक्सप्रेस की कपलिंग, रेल यातायात बाधित

आनंद विहार रेलवे स्टेशन से भुवनेश्वर जा रही संपर्क क्रांति एक्सप्रेस शुक्रवार को कपलिंग टूटने से दो बार दो भागों में बंट गई। हालांकि बड़ा हादसा होने से बच गया। साहिबाबाद और हाथरस जंक्शन के निकट दो बार कपलिंग टूटी। इस घटना के बाद यात्री आक्रोशित हो गए और हंगामा किया। करीब 40 मिनट बाद कपलिंग जोड़कर संपर्क क्रांति एक्सप्रेस को रवाना किया गया।
शुक्रवार को भुवनेश्वर जाने वाली संपर्क क्रांति एक्सप्रेस जब आनंद विहार से रवाना हुई तो चंद मिनट बाद ही साहिबाबाद पर उसकी कपलिंग टूट गई। तब कपलिंग को जोड़कर इसे रवाना किया गया। थोड़ी देर बाद ही फिर हाथरस जंक्शन रेलवे स्टेशन से पहले धौरपुर चौकी के निकट साढ़े 10 बजे फिर से इस ट्रेन की कपलिंग टूट गई और ट्रेन दो भागों में बंट गई।
अचानक तेज झटका लगने से यात्री दहशत में आ गए। दो बार कपलिंग टूटने से डरे यात्रियों ने हंगामा शुरू कर दिया। सूचना पर रेलवे प्रशासन ने कुछ कर्मियों को वहां भेजा। कपलिंग को फिर से जोड़ा गया। करीब 40 मिनट बाद 11.10 बजे ट्रेन को रवाना किया गया। हाथरस जंक्शन स्टेशन अधीक्षक पवन कुमार का कहना था कपलिंग टूटने से ट्रेन दो हिस्सों में बंट गई थी। इसको ठीक कर ट्रेन को आगे रवाना कर दिया गया।
... और पढ़ें

भोले के जयकारों से गूंज उठे शिवालय

शिव शक्ति की आराधना के लिए सबसे अधिक महत्व रखने वाले महाशिवरात्रि के पावन पर्व पर शुक्रवार को जिले के सभी शिवालय जय भोले, शंभूनाथ, बम भोले आदि जयकारों से गूंज उठे। हर जगह शिव आस्था की बयार देखने को मिली। मंदिरों में लाखों की संख्या में श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ने से मेले जैसा माहौल रहा। खेरेश्वर, अचलेश्वर व मंगलेश्वर महादेव मंदिर में गुरुवार रात 12 बजे से शुरू हुआ श्रद्धालुओं का रैला शुक्रवार देर शाम तक जारी रहा।
शहर के अचलेश्वर महादेव मंदिर, खेरेश्वर धाम, गभाना स्थित भूमिया बाबा आश्रम, बिजौली शिव मंदिर पर दिनभर श्रद्धालुओं की भारी भीड़ रही। कांविड़यों के जलाभिषेक के बाद सुबह नव विवाहिताएं और पहली बार मां बनी महिलाओं ने अपनी गाजे बाजे के साथ जेहर चढ़ाई। महिलाओं की टोली लोक गीत गाते हुए मंदिर पहुंची।
घर-घर महिला, पुरुष और बच्चों ने उपवास रखकर महादेव का जलाभिषेक किया और मनौती मांगी। शहर में पूजा सामग्री के लिए बाजारों और मंदिरों के पास लोगों के फड़ लगे। मंदिर समिति के सदस्य भीड़ को व्यवस्थित करने में जुटे रहे। दोपहर तक जहां शिव परिवार पर जल चढ़ता रहा। वहीं शाम को शिव मंदिरों और विभिन्न मोहल्लों से शिव की बारात, शोभायात्रा और ढोले निकाले गए।
खेरेश्वर, मंगलेश्वर व अचलेश्वर मंदिर पर मंडलायुक्त गौरी शंकर प्रियदर्शी, प्राविधिक शिक्षा राज्य मंत्री संदीप सिंह सहित प्रशासनिक अधिकारियों और कर्मचारियों ने पूजा अर्चना में भाग लिया। दिन में जहां जलाभिषेक किया गया। वहीं शाम को हुई महाआरती में सम्मिलित भी हुए।
खेरेश्वर मंदिर में मंडलायुक्त, एसपी सिटी अभिषेक, जिला जज राम मनोहर मिश्रा की पत्नी, एसडीएम कोल अनिरुद्ध प्रताप सिंह पहुंचे और पूजा अर्चना की। रात को भव्य रूप से महाआरती हुई और उसके बाद रातभर रुद्राभिषेक चला।
मंगलेश्वर महादेव मंदिर में दोपहर को प्राविधिक शिक्षा राज्य मंत्री संदीप सिंह पहुंचे और गुंबद के पत्थर का शिलान्यास किया। पूजा अर्चना भी की। जबकि अचलेश्वर महादेव मंदिर में शाम को आरती के बाद रात दस बजे से रुद्राभिषेक प्रारंभ हुआ। इन कार्यक्रमों में ठा. सत्यपाल सिंह, हरि गोस्वामी, अंकित वार्ष्णेय, राजा शर्मा, यतेंद्र वार्ष्णेय, पंकज धीरज आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं
Aligarh Dueshera Coupon
Aligarh Dueshera Coupon
Aligarh Dueshera Coupon
Aligarh Dueshera Coupon

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us