300 युवाओं को नौकरी के नाम पर ठग गई फर्जी प्लेसमेंट कंपनी

अमर उजाला ब्यूरो, इलाहाबाद Updated Mon, 12 Jun 2017 02:09 AM IST
विज्ञापन
इलाहाबाद
इलाहाबाद - फोटो : अमर उजाला ब्यूरो, इलाहाबाद

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
 मुंबई बंदरगाह पर पानी के जहाज की कंपनी में नौकरी ्िदलाने के नाम पर प्लेसमेंट कं पनी ने करीब तीन सौ युवाओं से कई लाख रुपये ठग लिए। इन युवाओं को अपने साथ ठगी का अहसास रविवार को मुंबई जाने के लिए क्लाइव रोड स्थित कार्यालय पर बसों के न आने पर हुआ। प्लेसमेंट कंपनी के संचालक  और सहयोगियों को फोन किए तो उनका नंबर स्विच आफ था। कार्यालय के भवन भवन स्वामी से जानकारी करने पर पता चला कि दो दिन से कार्यालय में कोई  नहीं आ रहा है। कई दर्जन ठगी के शिकार युवक और युवतियों ने थाना सिविल लाइंस में मुकदमा दर्ज करा दिया है।
विज्ञापन

क्लाइव रोड पर इंटरनेशनल लिंक के नाम से छह महीने पहले महाराष्ट्र के  समुएल ़डेविड अकरल नामक युवक ने प्लेसमेंट कंपनी खोली थी। जिसके माध्यम से मुंबई स्थिति शिप कंपनी में 500 नौकरियों के लिए आन लाइन तथा आफ लाइन आवेदन मांगे गए । जिसके लिए इलाहाबाद, फतेहपुर, कौशांबी तथा अन्य जिलों के 300 युवक और युवतियों का चयन कर लिया। इनसे पदों के अनुसार पंद्रह हजार से लेकर 25 हजार रुपये जमानत राशि और छह - छह हजार रुपये मेडिकल चेकअप आदि के नाम से एक्सिस बैंक के एक खाते में जमा करा लिए। इन सभी को बारी बारी से समूह में प्रशिक्षण के लिए बुलाया गया। यहां से मुंबई जाने के लिए 11 तारीख तय की और कहा कि ट्रेन में रिजर्वेशन नहीं हुआ है। इसलिए एसी बसों से मुंबई जाने की व्यवस्था कराई जा रही है।
नौकरी के लिए युवक और युवतियां प्लेंसमेंट कार्यालय पहुंचे और काफी देर तक इंतजार किया। वहां न तो बस आई और न ही कंपनी के अधिकारी दिखे। उनके एक दर्जन मोबाइल नंबर मिलाए तो वह स्विच आफ थे। यह लोग अपनी पीड़ा दर्ज कराने के लिए थाना सिविल लाइंस पहुंचे। यहां पर पहले तो पुुलिस टालमटोल करती रही। इन युवाओं ने एसएसपी तक शिकायत की तो थाना सिविल लाइंस ने मुकदमा दर्ज कर लिया गया। तहरीर में समुएल अकरल का महाराष्ट्र प्रांत से बना ड्राइविंग लाइसेंस, दर्जन भर मोबाइल नंबर शामिल किए हैं। इनके अलावा वहां कार्यरत स्टाफ में अवधेश पांडे, राहुल, अनूप आदि को भी नामजद किया गया है।
थाना प्रभारी ने बताया कि भवन स्वामी से कह दिया है कि कार्यालय के  अंदर के सामान से छेड़छाड़ न करें। एक दो दिन में पुलिस सामान के आधार पर आरोपियों का वास्तविक पता लगाकर गिरफ्तार करेगी।
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us