विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus Lockdown in UP Live Updates: 15 जिलों के हॉटस्पॉट आज रात 12 बजे से होंगे सील, जानिए उनके नाम

यूपी में लॉकडाउन की अवधि बढ़ाए जाने की अटकलों के बीच प्रदेश सरकार ने कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए प्रदेश के 15 जिलों को रात 12 बजे से सील करने का निर्णय लिया है।

8 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

प्रयागराज

बुधवार, 8 अप्रैल 2020

पान मसाला और सिगरेट के लिए तोड़ रहे लॉकडाउन, सड़क पर घूम रहे आधे लोग ढूंढ रहे नशे का सामान

लॉकडाउन में फंसे इलाहाबाद विश्वविद्यालय के छात्रों को तनाव से बचाएगी हेल्पलाइन

एपीओ भर्ती की मुख्य परीक्षा पर संकट, फिलहाल 16 मई को प्रस्तावित है परीक्षा

सहायक अभियोजन अधिकारी (एपीओ)-2018 की मुख्य परीक्षा पर संकट मंडरा रहा है। 16 मई को प्रस्तावित मुख्य परीक्षा का टलना तय माना जा रहा है, क्योंकि उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) ने अब तक एपीओ प्रारंभिक परीक्षा का परिणाम ही घोषित नहीं किया है।

प्रतियोगी छात्रों ने आयोग के अध्यक्ष से मांग की है कि मुख्य परीक्षा स्थगित किए जाने का नोटिस जारी करें ताकि लॉक डाउन में फंसे अभ्यर्थियों को तनाव से राहत मिल सके। एपीओ प्रारंभिक परीक्षा इस साल 16 फरवरी को प्रयागराज और लखनऊ के 95 केंद्रों में आयोजित की गई थी। एपीओ के 17 पदों पर भर्ती के लिए हुई परीक्षा में 45311 अभ्यर्थी पंजीकृत थे और इनमें से 18784 यानी 41 फीसदी अभ्यर्थी उपस्थित थे और 26527 अभ्यर्थियों ने परीक्षा छोड़ दी थी।
... और पढ़ें

Prayagraj: पुलिस मुठभेड़ में बदमाश के पैर में लगी गोली, घायल बदमाश अभिनेता सलमान खान को धमकी देने के आरोप में भी जा चुका है जेल

prayagraj me police encounter me ghayal criminal prayagraj me police encounter me ghayal criminal

इलाहाबाद हाइकोर्ट की सात न्यायपीठों में सुनवाई शुरू, लघु अपराधों और क्रिमिनल रिट को प्राथमिकता

यूपीः कैबिनेट मंत्री नंदी ने एक वर्ष की संपूर्ण विधायक निधि दी कोविड केयर फंड में

सूबे के कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी ने अपनी एक वर्ष की संपूर्ण विधायक निधि उतर प्रदेश कोविड केयर फंड में दी है। यह राशि तीन करोड़ रुपये की है। इसी तरह कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने भी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को कोविड केयर फंड में एक वर्ष की विधायक निधि देने के लिए पत्र लिखा है। 

कैबिनेट मंत्री नंदी ने कहा कि आज पूरा विश्व कोविड-19 महामारी की चपेट में है। प्रयागराज की जनता से निवेदन है कि वह सामाजिक दूरी का पालन करते हुए अपने-अपने घरों में ही रहे। अफवाहों पर कोई ध्यान न दें। वहीं सिद्धार्थनाथ ने फंड में एक करोड़ की धनराशि देने का ऐलान किया है।

यह राशि वह विधानमंडल विकास निधि के अंतर्गत अंश धन में से देंगे। कहा कि मुख्यमंत्री योगी के आह्वान पर उन्होंने विधानमंडल क्षेत्र विकास निधि से प्रयागराज एवं प्रदेशवासियों की कोविड से रक्षा हेतु आवश्यक उपकरण की खरीद के लिए एक करोड़ रुपये अवमुक्त करने की संस्तुति की है। 
... और पढ़ें

पीएचडी, एमफिल के लिए मिले छह माह का अतिरिक्त समय

लौटन निषाद (फाइल फोटो)
लॉकडाउन में फंसे रिसर्च स्कॉलर्स के लिए मुसीबत बढ़ गई है। प्रयोगशालाएं और पुस्तकालय बंद पड़े हैं। फील्ड वर्क भी ठप हो गया है, जबकि बहुत से रिसर्च स्कॉलर्स के लिए थीसिस जमा करने या पीएचडी/एमफिल पूरा करने की समय सीमा बीत रही है। मामले में अखिल भारतीय केंद्रीय विश्वविद्यालय महासंघ (फेडकुटा) की ओर से विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) को पत्र भेजकर मांग की गई है कि देश के सभी केंद्रीय विश्वविद्यालयों में रिसर्च स्कॉलर्स को छह माह का अतिरिक्त समय दिया जाए।

फेडकुटा के उपाध्यक्ष प्रो. रामसेवक दुबे एवं अन्य पदाधिकारियों की ओर से यूजीसी के चेयरमैन प्रो. डीपी सिंह को लिखे पत्र में कहा गया है कि लॉकडाउन में फंसे रिसर्च स्कॉलर्स को कई तरह की दिक्कतें झेलनी पड़ रही हैं। कई पीएचडी एवं एमफिल रिसर्च स्कॉलर्स लॉकडाउन में अपना शोध कार्य नहीं कर पा रहे हैं।

सेमिनार आदि पर भी प्रतिबंध लगा है, सो रिसर्च स्कॉलर्स इससे भी वंचित हो गए हैं। प्रयोगशाला एवं पुस्तकालय की सुविधा न मिल पाने के कारण रिसर्च स्कॉलर्स संसाधन विहीन हो गए हैं। लॉकडाउन के कारण रिसर्च स्कॉलर्स फील्ड वर्क भी नहीं कर पा रहे हैं। फेडकुटा ने यूजीसी के चेयरमैन से मांग की है कि इन कठिन परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए देश के सभी केंद्रीय विश्वविद्यालयों को निर्देश जारी करें कि सभी रिसर्च स्कॉलर्स के लिए थीसिस जमा करने, पीएचडी या एमफिल पूरा करने की समय सीमा कम से कम छह माह के लिए बढ़ा दी जाए।
... और पढ़ें

प्रयागराजः मोतीलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज में कोरोना टेस्ट लैब स्थापित, डीएम ने किया उद्घाटन

CoronaVirus: प्रयागराज में एक और संदिग्ध मरीज की रिपोर्ट निगेटिव, अब दो संदिग्धों की रिपोर्ट का इंतजार

Prayagraj: आठ हजार से अधिक परिवार चिह्नित, स्वास्थ्य विभाग की ओर से घर-घर चला सर्वे 

स्वास्थ्य विभाग की ओर से कोरोना संदिग्धों का घर-घर पता लगाने के लिए रविवार से शुरू हुआ सर्वे अभियान मंगलवार को भी जारी रहा। स्वास्थ्य टीमों ने मंगलवार को आठ हजार से अधिक परिवारों से संपर्क कर हजारों लोगों को चिह्नित किया। बुधवार को भी यह अभियान चलाया जाएगा। अभियान में आयुष के 18 चिकित्सकों को भी जोड़ लिया गया है।

सर्वे अभियान शहर के साथ ग्रामीण इलाकों में चलाया गया। इसके लिए 69 टीमें लगाई गईं थीं। अभियान के नोडल अफसर डॉ. सतेंद्र राय ने कहा कि तीसरे दिन कुल 8063 परिवारों तक पहुंचा गया। इसमें 64334 लोग संपर्क में आए। इस दौरान 11 लोग बाहर से आने वालों की पहचान की गई। हालांकि उन्हें किसी तरह की कोई समस्या नहीं थी। 10 लोग ऐसे मिले जिन्हें सामान्य जुकाम, बुखार की शिकायत थी। उनकी मौके पर स्क्रीनिंग की गई। 
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us