विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान - 8 अप्रैल 2020
Astrology Services

हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान - 8 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

यूपी में 16 और लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि, संख्या बढ़कर हुई 299

यूपी में कोरोना वायरस के संक्रमण से वाराणसी में रविवार को एक बुजुर्ग की मौत हो गई है। यूपी में कोरोना से यह तीसरी मौत है। बस्ती व मेरठ में एक-एक मौत हो चुकी है।

6 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

अम्बेडकरनगर

सोमवार, 6 अप्रैल 2020

जनता कर्फ्यू के बाद पटरी पर लौटा आम जनजीवन

अंबेडकरनगर। जनता कर्फ्यू के बाद सोमवार को पूरे जिले में जनजीवन पटरी पर लौट आया। दुकानें फिर से खुल गईं। हालांकि उम्मीद के अनुसार बाजारों में ज्यादा भीड़ नहीं जुटी। इस बीच तमाम गणमान्य नागरिकों व अधिकारियों ने जन सामान्य से आह्वान किया है कि बाजार खुला है, लेकिन फिर भी लोग जरूरी काम से ही बाहर निकले। कोरोना के फैलने का खतर अभी टला नहीं है। इसकी चेन को तोड़ना है तो आवाजाही व मिलना-जुलना कम ही रखना है। कोरोना को हराना है और खुद को बचाना है तो यह मान कर चलें कि कफ्यू अभी जारी रखना है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर रविवार को जिलेे में जनता कर्फ्यू पूरी तरह सफल रहा था। सुबह सात बजे से लेकर रात नौ बजे तक चलने वाले जनता कर्फ्यू को रविवार शाम 5 बजे शासन के निर्देश पर बढ़ा दिया गया। अधिकारियों ने बाकायदा प्रचार प्रसार कराया कि रविवार रात नौ बजे तक की बजाए अब सोमवार सुबह 6 बजे तक कफ्र्यू लागू रहेगा। नागरिकों ने इसका पूरी तरह पालन भी किया। जिला मुख्यालय से लेकर ग्रामीण क्षेत्र तक सभी दुकानें पूरी तरह बंद रहीं। चाय पान तक के लिए लोग तरस गए।
इस बीच सोमवार सुबह 6 बजे के बाद से ही दुकानों के खुलने का सिलसिला शुरू हो गया। इसमें चाय नाश्ते की दुकानें मुख्य रूप से शामिल थीं। सुबह नौ बजते बजते ज्यादातर दुकान खुल गईं। हालांकि विभिन्न मॉल व होटल तब भी बंद ही रहे। पूर्वाह्न 11 बजे तक अकबरपुर नगर समेत सभी छोटी बड़ी बाजारों में चहल पहल शुरू हो गई। जरूरमंदों ने घर से निकलकर आवश्यक सामानों की खरीददारी की। राशन, सब्जी तथा अन्य खाद्य सामग्री खरीदने पर नागरिकों का जोर ज्यादा दिखा। सामान्य चहल पहल रहने से दुकानों पर भी आवाजाही रही। हालांकि उम्मीद के अनुरूप भीड़ नहीं हुई। इस बीच तमाम गणमान्य नागरिकों तथा अधिकारियों ने जनसामान्य से आह्वान किया है कि अत्यंत जरूरी कार्य से ही बाहर निकलें।
प्रसिद्ध चिकित्सक डॉ. आरसी गुप्त ने कहा कि एहतियात के बलबूते ही कोरोना पर अंकुश पाया जा सकता है। बहुत जरूरी काम हो, तभी घर से निकलें। ऐसा कर ही हम इस बीमारी पर लगाम लगा सकते हैं। प्रसिद्ध शिक्षाविद नरेंद्र पाण्डेय ने जोर देकर कहा कि कोई भी सामान लेने के लिए परिवार का एक सदस्य ही घर से बाहर जाए। इसे पूरी मजबूती से लागू किया जाए। सामाजिक कार्यकर्ता आशुतोष द्विवेदी व प्रमोद गुप्ता ने कहा कि सिर्फ सरकार के भरोसे हमें नहीं रहना है। खुद भी एहतियात बरतना होगा। साफ सफाई पर जोर देने के साथ ही मास्क व सेनेटाइजर का प्रयोग करना है। इस बीच डीएम राकेश कुमार मिश्र ने नागरिकों से आह्वान किया कि वे सावधानी बरतें। घबराने व परेशान होने की बजाए सतर्कता पर ध्यान दें। बहुत जरूरी काम होने पर ही घर से बाहर निकलें।
... और पढ़ें

सन्नाटे में डूबा अकबरपुर स्टेशन

अंबेडकरनगर। अकबरपुर रेलवे स्टेशन पर सोमवार को अंतिम ट्रेन के रूप में साबरमती डाउन एक्सप्रेस ट्रेन पहुंची। अब 31 मार्च की आधी रात के बाद ही अकबरपुर रेलवे स्टेशन पर ट्रेन की आवाज सुनाई दे सकेगी। उधर अकबरपुर बस स्टेशन पर सोमवार को कुल 17 बसें पहुंची। उधर, विभिन्न क्षेत्रों से आने वाले यात्रियों की जांच के लिए रविवार देर रात तक सीएमओ के नेतृत्व में स्वास्थ्य कर्मियों की टीम डटी रही। कोरोना वॉयरस के संक्रमण को बढने से रोकने के लिए 31 मार्च को आधी रात तक ट्रेनों के संचालन पर रोक लगा दी गई है। इस आदेश के बाद सोमवार सुबह 7 बजे साबरमती डाउन एक्सप्रेस ट्रेन के रूप में आखिरी ट्रेन अकबरपुर रेलवे स्टेशन पहुंची।
इसके अलावा रविवार को दून अप, दून डाउन, इंदौर पटना अप, सियालदाह डाउन, सरयू यमुना डाउन, गंगा सतलज अप ट्रेनें अकबरपुर रेलवे स्टेशन होते हुए गुजरी थीं। संबंधित ट्रेन से आने वाले यात्रियों की जांच के लिए सीएमओ डॉ. अशोक कुमार के नेतृत्व में स्वास्थ्य टीम रविवार मध्यरात्रि तक रेलवे स्टेशन पर मौजूद रहीं। इस दौरान एसडीएम मोईनुल इस्लाम, कोतवाली प्रभारी अमित कुमार सिंह, स्टेशन अधीक्षक जयप्रकाश मौजूद रहे। उधर, अकबरपुर बस स्टेशन पर सोमवार को कुल 17 बसें पहुंची। इसके अलावा एक बस राजेसुल्तानपुर के लिएरवाना हुई, जो कि रविवार को अकबरपुर बस स्टेशन आई थी। एआरएम कमाल अहमद खां ने बताया कि यात्रियों की जांच के लिए डॉ. परवेज जफर, डॉ. ज्योति, एएनएम ज्योति व मनोज की टीम परिसर में मौजूद रही।
... और पढ़ें

नहीं चली टैक्सी व ईरिक्शा, परेशान हुए ट्रेनों से आए यात्री

अंबेडकरनगर। जनता कर्फ्यू को देखते हुए रविवार को सरकारी व निजी बसों के साथ ही ई-रिक्शा व टैक्सियों का भी संचालन पूरी तरह ठप रहा। इससे दूसरे जनपदों व प्रांतों से ट्रेन द्वारा अकबरपुर स्टेशन पर उतरने वाले लोगों को भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ा।
अकबरपुर डिपो में मौजूद सभी 62 बसें रविवार को परिसर से बाहर नहीं निकलीं। इसके अलावा आमतौर पर प्रतिदिन जिले के विभिन्न क्षेत्रों से लखनऊ, दिल्ली, सुल्तानपुर, वाराणसी जाने वाले डेढ़ सौ से अधिक निजी वाहनों का संचालन भी रविवार को नहीं हुआ। इसके अलावा जिले के नगरीय क्षेत्रों में बड़ी संख्या में चलने वाले ई-रिक्शे भी रविवार को सड़क पर नहीं उतरे। वैन व ऑटो रिक्शा संचालक भी रविवार को घर में ही कैद रहे। इससे आमतौर पर सड़कों पर वाहनों का दबाव रविवार को नदारद रहा।
जहांगीरगंज के अमित कुमार रविवार को ट्रेन से अकबरपुर स्टेशन पहुंचे। बस स्टेशन पर काफी देर तक इंतजार करते रहे लेकिन वाहन नहीं मिला। कहा कि वाहन न होने के चलते उन्होंने फोन कर छोटे भाई को बाइक लेकर बुलाया है। वह आ जाए, तब हम जाएं। इसी प्रकार बेवाना के संतोष कुमार व सैदापुर के गुड्डू ने कहा कि टैक्सी व ई-रिक्शा का संचालन न होने पर फोन कर घरवालों को बुलाया है।
कटेहरी के यात्री पंकज यादव ने बताया कि यह उम्मीद थी कि स्टेशन पर सवारी वाहन मिल जाएगा लेकिन सन्नाटा मिला। घर पर कोई ऐसा सदस्य नहीं था जिसे फोन कर बुलाया जाए। एक दोस्त को फोन किया है, वह कुछ देर में आएगा। तब तक पैदल ही आगे बढ़ने जा रहा हूं। जाफरगंज निवासी प्रमोद कुमार का कहना था कि उन्होंने ममेरे भाई को कार के साथ बुला लिया है। वह कुछ देर में स्टेशन तक आने वाला है। उसे फोन पहले ही कर दिया था लेकिन घरेलू कार्योँ में व्यस्तता के चलते कुछ लेट हो गया है।
... और पढ़ें

दिल्ली से आए 85 लोगों की तलाश

अंबेडकरनगर। कोरोना संक्रमण के बाद दिल्ली के संवेदनशील इलाके से लौटे 85 नागरिकों की जनपद पुलिस को तलाश है। संबंधित इलाकों में मार्च माह के दौरान उनकी उपलब्धता पाए जाने की पहचान इलेक्ट्रानिक सर्विलांस के आधार पर हुई। इसके बाद ऐसे नागरिकों को खोज निकालने, उनकी जांच कराने तथा उन्हें क्वारंटीन करने की मुहिम पुलिस व प्रशासन ने एक साथ शुरू कर दी है।
कोरोना संक्रमण रोकने के लिए जिले में प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद है। बाहर से आए नागरिकों को न सिर्फ शहरी क्षेत्रों में बने बड़े क्वारंटीन सेंटरों में रोका जा रहा वरन गांवों के परिषदीय विद्यालय में बने क्वारंटीन सेंटरों में भी ठहराया जा रहा।
इनमें विभिन्न प्रकार के धार्मिक जलसे से भाग लेकर आए पंद्रह नागरिक भी शामिल हैं। इस बीच प्रशासन को अब 85 ऐसे नागरिकों की तलाश है, जो मार्च माह के दौरान दिल्ली के संवेदनशील इलाकों में मौजूद थे। संबंधित क्षेत्रों में सर्विलांस के माध्यम से पुलिस ने ऐसे मोबाइल नंबरों को खोज निकाला, जो अलग अलग जनपदों व प्रदेशों के थे, लेकिन मार्च माह में दिल्ली के संवेदनशील इलाकों में मौजूद थे।
इसके बाद संबंधित जिलों को भेजी गई सूची के आधार पर अंबेडकरनगर में भी प्रशासन ने मोर्चा संभाल लिया है। जिला प्रशासन को जो सूची ऊपर से उपलब्ध हुई है, उसमें 85 नाम का उल्लेख है। संबंधित नाम के साथ ही मोबाइल नंबर भी अंकित कर प्रशासन को सूची भेजी गई है।
सूची मिलने के बाद से जिले के सभी थाना प्रभारियों, एसडीएम व सीओ को संबंधित व्यक्तियों की तलाश का जिम्मा सौंप दिया गया है। प्रशासन के अनुसार ऐसे व्यक्तियों के मिलने पर उनकी प्रारंभिक जांच की जाएगी। ऐसा इसलिए, जिससे कोरोना संक्रमण रोकने की अंतिम संभावना तक काम किया जा सके। संबंधित व्यक्तियों की जांच के साथ ही उन्हें क्वारंटीन भी कराया जाएगा। जिन व्यक्तियों का मोबाइल नंबर बंद है, उनके पते की तलाश कर टीम घर भेजी जा रही है।
एडीएम डॉ. पंकज वर्मा ने बताया कि सूची के आधार पर काम किया जा रहा है। कुछ नागरिक पहले से ही क्वारंटीन सेंटरों में हैं, जो अन्य नागरिक सेंटरों में नही हैं, उन्हें वहां भेजा जाएगा।
... और पढ़ें

क्वारंटीन केंद्र से गायब दो लोगों पर डीएम ने दर्ज कराया केस

अंबेडकरनगर। क्वारंटीन केंद्र बनाए गए इंग्लिश मीडियम प्राथमिक विद्यालय फतेहपुर ककरडिला में क्वारंटीन के लिए रखे गए दो नागरिक शनिवार को भाग निकले। निरीक्षण के दौरान मामला सामने आने पर जिलाधिकारी राकेश कुमार मिश्र ने एसडीएम सदर को दोनों के विरुद्ध केस दर्ज कर कार्रवाई किए जाने का निर्देश दिया। इससे पहले डीएम व एसपी ने जिला कारागार का निरीक्षण किया। साफ सफाई पर विशेष ध्यान दिए जाने का निर्देश देते हुए कहा कि इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाए। इस बीच जिला कारागार में लगे सुरक्षाकर्मियों में सैनिटाइजर, गलब्ज व मास्क का भी वितरण किया गया।
शनिवार पूर्वाह्न जिलाधिकारी राकेश कुमार मिश्र व एसपी आलोक प्रियदर्शी ने क्वारंटीन केंद इंग्लिश मीडियम प्राथमिक विद्यालय फतेहपुर ककरडिला का औचक निरीक्षण किया। क्वारंटीन के लिए रखे गए चिंटू व आशाराम को नदारद पाया। बताया गया कि वे दोनों मनमाने ढंग से सेंटर से चले गए, जबकि उन्हें रोका जा रहा था। इस पर डीएम ने नाराजगी व्यक्त करते हुए एसडीएम सदर मोईनुल इस्लाम को दोनों के विरुद्ध केस दर्ज कर जरूरी कार्रवाई किए जाने का निर्देश दिया।
जिम्मेदार अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि क्वारंटीन केंद्र पर सभी जरूरी व्यवस्थाएं रखी जाएं। क्वारंटीन के लिए रखे गए नागरिकों के लिए भोजन की भी व्यवस्था की जाए। इससे पहले अधिकारियों ने जिला कारागार का जायजा लिया। सीसीटीवी कैमरे की जांच के साथ ही साफ सफाई का भी जायजा लिया। उन्होंने जिम्मेदार अधिकारियों को साफ सफाई पर विशेष ध्यान दिए जाने का निर्देश दिया। बाद में जिला कारागार में लगे सुरक्षाकर्मियों के बीच सैनिटाइजर, गलब्ज व मास्क का भी वितरण किया गया।
... और पढ़ें

रोक के बावजूद नमाज अदा करने पहुंचे 18 लोगों पर केस

अंबेडकरनगर। लॉकडाउन के बीच शुक्रवार को जिले की मस्जिदों में नमाजियों के न पहुंचने से सन्नाटा पसरा रहा। जगह जगह न सिर्फ पुलिसकर्मी नागरिकों से मस्जिदों में न आने का लाउड स्पीकर से एलान करते रहे बल्कि उलेमा भी लगातार नागरिकों से घर में ही नमाज अदा करने की अपील करते रहे। इस बीच टांडा कोतवाली के सकरावल स्थित मस्जिद में नमाज अदा करने के लिए पहुंचे 18 नमाजियों के विरुद्ध लॉक डाउन का उल्लंघन करने का केस कोतवाली में दर्ज हुआ है।
कोरोना वॉयरस के संक्रमण को बढने से रोकने के लिए 21 दिन के लंबे लॉकडाउन के चलते शुक्रवार को होने वाली विशेष नमाज ज्यादातर मस्जिदों में नहीं हुई। जिला मुख्यालय से लेकर जिले की अन्य मस्जिदों में पूरी तरह सन्नाटा पसरा रहा। लॉकडाउन का पालन कराने के लिए सुबह से ही जिला मुख्यालय से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित मस्जिदों के आसपास पुलिस कर्मियों द्वारा नागरिकों से नमाज के लिए मस्जिद में न आने का एलान लाउडस्पीकर द्वारा किया जा रहा था। इसके अलावा सुन्नी व शिया धर्मगुरुओं द्वारा भी लगातार नागरिकों से अपील की जा रही थी कि वे घर में ही नमाज अदा करें। लॉकडाउन का शतप्रतिशत पालन करें। पुलिस कर्मियों व धर्मगुरुओं की अपील का असर भी दिखा। ज्यादातर नागरिकों ने शुक्रवार की विशेष नमाज घरों में ही अदा की।
उधर टांडा कोतवाली अन्तर्गत सकरावल स्थित मौलाबाबा मस्जिद में पेश इमाम के अलावा तीन को ही शुक्रवार की नमाज अदा करने की अनुमति प्रशासन ने दी थी। इसमें यह भी निर्देश दिया गया था कि नमाज अदा करते समय सोशल डिस्टेंस का भी ध्यान दिया जाए। बताया जाता है कि पेश इमाम ने भी लाउडस्पीकर से बाकायदा नागरिकों से अपील की थी कि वे मस्जिद न आएं और घर पर ही नमाज अदा करें। टांडा प्रतिनिधि के अनुसार पेश इमाम व पुलिस कर्मियों की तमाम अपील के बावजूद 18 अन्य नागरिक नमाज अदा करने पहुंच गए। इस दौरान सोशल डिस्टेंस का भी ध्यान नहीं रखा गया। इस पर टांडा कोतवाली के उपनिरीक्षक जयकिशन पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे। 18 नमाजियों का नाम नोट कर उनके विरुद्ध केस दर्ज करने के लिए तहरीर दी। टांडा कोतवाल बृजेश पाण्डेय ने बताया कि 18 नमाजियों के विरुद्ध लॉकडाउन का उल्लंघन का मामला दर्ज किया गया है।
... और पढ़ें

दुकान में लगी आग, जिंदा जला युवक

अंबेडकरनगर। भीटी थाना क्षेत्र में मिझौड़ा स्थित चीनी मिल गेट नंबर सात के निकट दुकान में आग लगने से उसमें सो रहा युवक गंभीर रूप से झुलस गया। सूचना पर जब तक पुलिस मौके पर पहुंचकर युवक को अस्पताल पहुंचाती तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। बाद में पुलिस ने पंचनामा कर शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। हालांकि आग लगने का कारण स्पष्ट नहीं हो पाया है। युवक की मौत से परिवारीजनों में कोहराम मचा हुआ है।
भीटी थाना क्षेत्र के इच्छुकपुर गांव निवासी बच्चू लाल (36) पुत्र रामलौट ने मिझौड़ा चीनी मिल गेट नंबर सात के निकट छप्पर में चाय की दुकान है। बुधवार देर शाम वह खाना खाने के बाद दुकान के अंदर सो गया। बताया जाता है कि बुधवार रात्रि करीब 12 बजे छप्पर से अचानक आग की लपटें निकलने लगीं। शोरगुल होने पर आसपास के ग्रामीण मौके पर पहुंचे। लोगों ने दुकान में फंसे बच्चूलाल को कड़ी मशक्कत से किसी तरह बाहर निकाला।
मगर तब तक वह आग की चपेट में आने से बुरी तरह से झुलस चुका था। ग्रामीणों ने घटना की जानकारी तत्काल पुलिस को दी। जब तक पुलिस मौके पर पहुंचकर बच्चूलाल को अस्पताल ले जाती, तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। उधर, आग से दुकान व उसमें रखा सारा सामान जलकर नष्ट हो गया।
सूचना पर भीटी पुलिस ने घटनास्थल का निरीक्षण किया। बाद में पंचनामा कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। उधर घटना को लेकर स्थानीय लोग स्तब्ध हैं। ग्रामीणों की मानें तो दुकान में शॉर्ट सर्किट से आग लगी है। बताया जाता है कि बच्चूलाल के दो पुत्र और तीन पुत्रियां हैं। वह चाय की दुकान चलाकर परिवारीजनों का भरण पोषण करता था। घटना से परिवारीजनों के समक्ष मुश्किल खड़ी हो गई है।
... और पढ़ें

घरों में छिपे मिले 12 तब्लीगी जमाती

अंबेडकरनगर। दिल्ली के निजामुद्दीन तब्लीगी जमात से भाग लेकर लौटे 12 नागरिकों को प्रशासन ने गुरुवार को खोज निकाला। डीएम व एसपी के निर्देश पर टांडा के एसडीएम व सीओ ने पुलिस बल के साथ टांडा नगर व हंसवर थाना क्षेत्र में छापा मारकर इन नागरिकों को खोजा। यह सभी 11 व 20 मार्च को यहां पहुंचे थे। इन सभी को राजकीय मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है, जहां शुरूआती जांच में सब कुछ सामान्य मिला है। इस बीच प्रशासन ने सभी 12 नागरिकों के विरुद्ध केस दर्ज करने की तैयारी शुरू कर दी है।
दिल्ली के धार्मिक जलसे भाग लेने वाले नागरिकों के बड़ी तादाद में कोरोना से संक्रमित होने की खबर सामने आने के बाद देशभर में हड़कंप का माहौल है। ऐसे धार्मिक आयोजनों में भाग लेकर वापस आए नागरिकों की खोज शुरू कर दी गई है। एक दिन पहले ही इब्राहिमपुर थाना क्षेत्र से 14, जबकि अकबरपुर नगर से 2 नागरिकों को प्रशासन ने खोजा था।
प्रशासन के अनुसार यह नागरिक मेरठ में आयोजित धार्मिक जलसे में गए थे, लेकिन स्थानीय लोगों के अनुसार मेरठ से पहले इन सभी ने निजामुद्दीन तब्लीगी जमात में भी शिरकत की थी। इन 16 नागरिकों को आइसोलेट किए जाने के बाद भी प्रशासन ने अन्य नागरिकों की उपलब्धता टटोलना जारी रखा। इस बीच इसमें गुरुवार को एक महत्वपूर्ण उपलब्धि तब हासिल हुई, जब पता चला कि टांडा तहसील क्षेत्र में अभी भी कई नागरिक छिपे हुए हैं।
एसडीएम टांडा अभिषेक पाठक व सीओ अमर बहादुर ने कई थानों की पुलिस टीम के साथ हंसवर व टांडा नगर में छापेमारी की। कुल 12 नागरिक यहां से ऐसे निकाले गए, जिन्होंने दिल्ली के धार्मिक जलसे में भागीदारी की थी। एसडीएम टांडा ने बताया कि तीन लोग 11 मार्च को टांडा आ गए थे, जबकि नौ 20 मार्च को हंसवर पहुंचे हैं। यह सभी पहले मुंबई गए थे। वहां से दिल्ली होते हुए वापस आए हैं।
एसडीएम ने बताया कि इन सभी को राजकीय मेडिकल कॉलेज सद्दरपुर में क्वारंटीन किया गया है। प्रारंभिक जांच में सभी की दशा पूरी तरह सामान्य पाई गई है। उधर डीएम राकेश कुमार मिश्र ने कहा कि लगातार सतर्कता बरती जा रही है। यह लोग तब्लीगी जमात में शामिल होने की बात छिपाकर रह रहे थे। इसलिए इन पर केस भी दर्ज कराया जा रहा है।
... और पढ़ें

धार्मिक जलसे से भाग लेकर लौटे 15 किए गए क्वारंटीन

अंबेडकरनगर। मेरठ के धार्मिक जलसे से होकर अंबेडकरनगर पहुंचे 15 नागरिकों को प्रशासन ने खोज निकाला। एसडीएम व सीओ की टीम ने गांव व कस्बा पहुंचकर ऐेसे सभी व्यक्तियों को चिह्नित किया और उन्हें मंगलवार देर शाम ही राजकीय मेडिकल कॉलेज में भर्ती करा दिया। एडीएम के अनुसार सभी व्यक्ति पूरी तरह से सामान्य हैं।
दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज के मजहबी जलसे में शामिल हुए लोगों में से बड़ी तादाद में कोरोना के लक्षण पाए गए। इसके बाद से ही हड़कंप मचा हुआ है। ऐसे धार्मिक जलसे में भाग लेने वाले नागरिकों की पहचान प्रशासन ने फोकस करना शुरू कर दिया।
केदारनगर प्रतिनिधि के अनुसार एक दिन पहले मंगलवार दोपहर प्रशासन को जानकारी मिली कि इब्राहिमपुर थाना क्षेत्र के महेशपुर, अलनपुर, अमीनपुर गांव में दिल्ली की तबलीगी मजलिस से भाग लेकर कई नागरिक लौटे हैं। प्रशासन ने इस पर स्थानीय स्तर से जानकारी एकत्र कराई तो ग्रामीणों ने टाल मटोल कर दिया। एसडीएम टांडा अभिषेक पाठक व सीओ अमरबहादुर भारी फोर्स के साथ गांवों में पहुंचे।
इसके बाद ऐसे नागरिकों को चिह्नित करने का दौर शुरू हो गया। चेतावनी भी दी गई कि यदि इसके बाद कोई नागरिक मिला तो कार्रवाई होगी। इस पर एक-एक कर 14 ग्रामीण सामने आए। ग्रामीणों ने बताया कि वे धार्मिक जलसे में भाग लेने दिल्ली गए थे।
वहां से वे सब मेरठ पहुंचे। वहां भी एक कार्यक्रम में शिरकत किया। इसके बाद गांव लौट आए। बताया कि वे सभी स्वस्थ हैं। प्रशासन ने इसके बाद इन सभी 14 ग्रामीणों को एंबुलेंस से सीधे राजकीय मेडिकल कॉलेज सद्दरपुर भिजवा दिया। वहां उन्हें रात पर भर्ती किया गया। जरूरी जांच भी हुई। इसके बाद बुधवार दिन में उन्हें एकलव्य खेल स्टेडियम अकबरपुर में बने क्वारंटीन सेंटर भेज दिया गया।
उधर, अकबरपुर नगर के मीरानपुर पेवाड़ा में दिल्ली की तबलीगी मजलिस से भाग लेकर एक व्यक्ति के पहुंचने की खबर से बुधवार को हड़कंप मच गया। एएसपी अवनीश कुमार मिश्र के साथ एसडीएम सदर मोइनुल इस्लाम व सीओ धर्मेंद्र सचान पहुंच गए। वहां पाया गया कि स्थानीय निवासी कमाल अहमद के रिश्तेदार जौनपुर जनपद के मड़ियाहूं निवासी मुख्तार अहमद आए हुए हैं। वे मेरठ में आयोजित धार्मिक जलसे से भाग लेकर लौटे हैं। इनके बारे में भी बताया गया कि यह भी दिल्ली में आयोजित धार्मिक जलसे में भाग लेकर मेरठ आए थे। प्रशासन ने इन्हें भी राजकीय मेडिकल कॉलेज सद्दरपुर में भर्ती करा दिया।
... और पढ़ें

मास्क वितरण कर कोरोना को परास्त करने का जज्बा

अंबेडकरनगर। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए लोगों में नि:शुल्क मास्क वितरण के लिए अकबरपुर नगर के मोहसिनपुर निवासी रामचंदर आगे आए हैं। पेशे से टेलरिंग का कार्य करने वाले रामचंदर अब तक 1200 मास्क का वितरण कर चुके हैं। उनका लक्ष्य तीन हजार से अधिक मास्क बांटना है।
कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए जिले के विभिन्न क्षेत्रों में आर्थिक रूप से कमजोर नागरिकों की मदद के लिए आम नागरिक सामने आ रहे हैं। कोई भोजन उपलब्ध करा रहा, तो कोई आर्थिक मदद कर रहा। इन सबके बीच अकबरपुर नगर के मोहसिनपुर निवासी पेशे से टेलर का कार्य करने वाले रामचंदर भी आगे आए हैं।
वे निजी संसाधन से मास्क तैयार कर नागरिकों में निशुल्क वितरण कर रहे हैं। रामचंदर ने सोमवार को अमर उजाला से वार्ता के दौरान बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए वे किसी की आर्थिक मदद तो नहीं कर सकते हैं, ऐसे में उन्होंने मास्क का वितरण करने की ठानी। बताया कि अब तक 1200 मास्क का वितरण निशुल्क कर चुके हैं। उनका लक्ष्य तीन हजार से अधिक मास्क तैयार कर बांटना है।
... और पढ़ें

बैंकों में धन निकासी के लिए दिखी लंबी लाइन

अंबेडकरनगर। लॉक डाउन के बीच धन निकासी के लिए सोमवार को जिले के विभिन्न बैंक शाखाओं में उपभोक्ताओं की लंबी लाइन देखने को मिली। इस दौरान उपभोक्ताओं ने सोशल डिस्टेंस का पूरा ध्यान रखा।
लंबे लॉकडाउन के बीच जरूरी सामग्रियों की खरीददारी व अन्य जरूरत के लिए उपभोक्ताओं को धन की जरूरत पडने लगी है। उपभोक्ताओं को धन निकासी में किसी भी प्रकार की समस्या न हो, इसके लिए एटीएम सेवा सुचारु रूप से कार्य करने का आश्वासन दिया गया था। हालांकि, मौजूदा समय में ऐसा होता नहीं दिख रहा। लॉक डाउन का लगभग एक सप्ताह बीतने को है, ऐसे में जिले के विभिन्न क्षेत्रों में अलग अलग बैंकों के स्थापित 125 एटीएम के सापेक्ष लगभग 40 एटीएम कार्य नहीं कर रहे। इनमें कैश की कमी के चलते इसका लाभ उपभोक्ताओं को नहीं मिल पा रहा है। इसका नतीजा है कि उपभोक्ताओं को अब संबंधित बैंक में लाइन लगाकर धन निकासी करने को मजबूर होना पड़ रहा है।
सोमवार को जिले के अलग अलग बैंक शाखाओं में धन निकासी के लिए उपभोक्ताओं की लंबी लाइन देखने को मिली। हालांकि इस दौरान अच्छी बात यह रही कि उपभोक्ताओं ने सोशल डिस्टेंस का पूरा ध्यान रखा। एक दूसरे से एक मीटर से अधिक दूरी बनाकर लाइन में लगे। टांडा रोड स्थित बैंक ऑफ इंडिया, रेलवे क्रासिंग स्थित स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ बड़ौदा ग्रामीण सूरापुर समेत कई अन्य बैंकों में उपभोक्ताओं की लंबी लाइन धन निकासी के लिए लगी रही। बैंक ऑफ इंडिया के समक्ष लाइन में लगे उपभोक्ता केदारनाथ ने कहा कि उन्होंने दो तीन एटीएम तक की दौड़ लगाई, जब वहां धन निकासी नहीं हो सकी तो मजबूरन बैंक में लाइन लगानी पड़ी। उधर, एलडीएम आशीष सिंह ने बताया कि सभी एटीएम सुचारु रूप से कार्य कर रहे हैं।
... और पढ़ें

गैर जनपदों से आए 25 मजदूर ठहराए गए क्वारंटीन सेंटर में

अंबेडकरनगर। कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए क्वारंटीन वार्ड बनाए गए देव इंद्रावती महाविद्यालय कटेहरी में सोमवार को दूसरे प्रांतों व शहरों से आए लगभग 100 मजदूरों को रोका गया। पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों की देखरेख में मौजूद स्वास्थ्य कर्मचारियों ने उनका मेडिकल परीक्षण किया। शरीर का तापमान अधिक होने के चलते 25 मजदूरों को रोककर उनका क्वारंटीन किया गया।
गौरतलब है कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए विद्यालय प्रबंधक डॉ. राणा रणधीर सिंह ने कटेहरी स्थित देव इंद्रावती महाविद्यालय को क्वारंटीन वार्ड बनाए जाने का प्रस्ताव दिया था। इस पर प्रशासन ने उसका अधिग्रहण करते हुए 200 बेड का वार्ड तैयार कर दिया। सोमवार को एडीएम पंकज वर्मा, एएसपी अवनीश कुमार मिश्र व सीडीओ अनूप कुमार श्रीवास्तव ने सोमवार को महाविद्यालय पहुंचकर तैयारियों का जायजा लिया। साथ ही जरूरी दिशा निर्देश दिए। इस बीच विभिन्न प्रांतों से बस द्वारा मजदूर व अन्य नागरिक वहां पहुंचे। उन्हें परिसर में सोशल डिस्टेंस का ध्यान रखते हुए दूर दूर बैठाया गया। लंच पैकेट दिया गया।
इसके बाद सीएमओ डॉ. अशोक कुमार के नेतृत्व में पहुंची स्वास्थ्य कर्मचारियों की टीम ने एक एक कर मजदूरों के स्वास्थ्य का परीक्षण किया। सीएमओ ने बताया कि 25 ऐसे यात्री मिले, जिनके शरीर का तापमान सामान्य ताप से अधिक था। ऐसे में उन्हें क्वारंटीन के लिए रोक लिया गया। अब उन्हें 14 दिन तक यहां रखकर उनका क्वारंटीन कराया जाएगा। बताया कि शेष यात्रियों को उनके गंतव्य के लिए भेज दिया गया। एडीएम पंकज वर्मा ने बताया कि जिले के अलग अलग क्षेत्रों में बनाए गए क्वारंटीन वार्ड में ऐसे यात्रियों को रोककर उनकी जांच कराई जाएगी। यदि किसी का तापमान इस दौरान अधिक मिला, तो उन्हें 14 दिन के लिए रोका जाएगा।
... और पढ़ें

जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में हुई 30 लोगों की जांच

अंबेडकरनगर। जिला अस्पताल में शनिवार को पहुंचे 15 से अधिक मरीजों का इमरजेंसी में तैनात चिकित्सकों ने इलाज किया। साथ ही जिला अस्पताल परिसर स्थित मातृ शिशु विंग में तैयार किए गए 12 बेड के एक आइसोलेशन वार्ड में 30 से अधिक नागरिकों की जांच की गई। जांच के बाद सभी को घर भेज दिया गया।
लॉकडाउन के बीच जिला अस्पताल में मरीजों के आने की संख्या अब कम होने लगी है। शनिवार को 15 मरीज इलाज के लिए जिला अस्पताल पहुंचे। इनमें ज्यादातर सामान्य बीमारी से ग्रस्त थे। इमरजेंसी में तैनात डॉ. आरके सिंह व डॉ. योगेश ने आने वाले सभी मरीजों का समुचित इलाज किया। दवा काउंटर बंद होने के चलते मरीजों को बाहर से ही दवा लेने को मजबूर होना पड़ा। उधर दूसरे प्रांतों से जिले के विभिन्न क्षेत्रों में आने वाले नागरिकों की जांच जिला अस्पताल परिसर में स्थित मातृ शिशु विंग में बनाए गए 12 बेड के आइसोलेशन वार्ड में जांच भी की जा रही है।
शनिवार को ऐसे 30 से अधिक नागरिक जिला अस्पताल स्थित संबंध वार्ड में जांच के लिए पहुंचे। डॉ. आशुतोष व डॉ. मनोज शुक्ला ने ऐसे नागरिकों की गहनता से जांच की। सभी का तापमान नापा गया। इसके बाद सभी को वापस घर भेज दिया गया। डॉ. आशुतोष ने बताया कि दूसरे प्रांतों से आने वाले नागरिकों की जांच की जा रही है। उन्होंने ऐसे नागरिकों से आह्वान किया वे दूसरे प्रांत से आने के बाद पहले खुद की जांच जरूर करा लें।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us