विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
चंद्र ग्रहण में छोटा सा दान, बनाएगा धनवान : 5 जून 2020
Puja

चंद्र ग्रहण में छोटा सा दान, बनाएगा धनवान : 5 जून 2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

पुलिस ने जुआ खेलते चार आरोपी को किया गिरफ्तार

अमेठी। अपराधियों की धर पकड़ के लिए चलाए जा रहे अभियान के तहत जायस पुलिस ने गुरुवार को जुआ खेलते चार लोगों को रंगे हाथ दबोच लिया। पुलिस ने फड़ से 18,540 रुपये तथा ताश का पत्ता बरमाद करते हुए केस दर्ज किया है।
एसपी डॉ. ख्याति गर्ग के निर्देश पर इन दिनों जिले की पुलिस अपराध पर अंकुश लगाने के लिए अपराधियों की धर पकड़ के लिए अभियान चला रही है। गुरुवार देर शाम मुखबिर ने जायस पुलिस को कस्बा के तिलोई मार्ग पर स्थित बाग में जुआ खेलने की सूचना दी।
सूचना पर सक्रिय एसओ भरत उपाध्याय पुलिस फोर्स के साथ बाग में पहुंचे तो जुआ खेल रहे लोग भागने लगे। पुलिस फोर्स ने भाग रहे जुआरियों को दौड़ा कर दबोच लिया। पुलिस ने फड़ से 16,770 रुपये व ताश का पत्ता तथा तलाशी में चारों के पास से 1,770 रुपये बरामद किए।
पूछताछ में इनकी पहचान कस्बा स्थित कंचाना मोहल्ला निवासी शकील ऊर्फ गुड्डू, गौरीगंज थाने के गुजर टोला निवासी मोहम्मद हसन, जगदीशपुर थाने के पालपुर निवासी केदार नाथ गुप्त तथा फुरसतगंज थाने के कस्बा निवासी बृजेश कुमार मोदनवाल के रुप में हुई।
पुलिस ने बरमाद नगदी व ताश का पत्ता जब्त करते हुए सभी के खिलाफ धारा 13 जुआ अधिनियम के तहत केस दर्ज किया है। एसओ ने जुआ खेलने तथा उन पर कार्रवाई किए जाने की पुष्टि की है।
... और पढ़ें

कंटेनमेंट जोन में क्लोज कांटैक्ट खंगालने में जुटी टीमें

अमेठी। जिले में बुधवार को आठ कोरोना संक्रमित मरीज मिलने के बाद डीएम की ओर से देर रात घोषित किए गए चार कंटेनमेंट जोन वाले गांवों को गुरुवार से संक्रमण मुक्त बनाने की कवायद शुरू हो गई है।
गठित टीम डोर-टू-डोर सर्वे कर संक्रमित के क्लोज कॉन्टैक्ट खंगालने के साथ निर्धारित प्रारूप पर सूचना संकलित करने में जुटी हैं। गांव की सीमा को सील करने के बाद सैनिटाइजर का छिड़काव करने के साथ ही लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग कर परीक्षण किया जा रहा है।
गांव में अग्रिम निर्देशों तक प्रवेश व निकास प्रतिबंधित करते हुए लोगों को आवश्यक सामग्री की डोर-स्टेप डिलीवरी करवाई जा रही है। जिले में बुधवार देर शाम आई रिपोर्ट में तिलोई तहसील के महोना, बहादुरपुर, जायस, सातन का पुरवा व सजनी, मुसाफिरखाना तहसील के अढ़नपुर व नारायनपुर तथा अमेठी तहसील के घोरहा गांव में गैर प्रांत से आए आठ युवक संक्रमित मिले।
युवकों के संक्रमित होने की पुष्टि के बाद डीएम अरुण कुमार ने सभी को इलाज के लिए असैदापुर स्थित लेवल-1 अस्पताल भेजते हुए गांव को कंटेनमेेंट जोन घोषित किया है।
कंटेनमेंट जोन घोषित करने के बाद डीएम ने गांव में मजिस्ट्रेट के साथ आशा बहु व आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के साथ पर्यवेक्षणीय अधिकारी की ड्यूटी लगाई है। नामित टीम गुरुवार को संक्रमित मरीजों के क्लोज कॉन्टैक्ट के साथ उनका नाम, पता, मोबाइल नंबर तथा किसी को भी बुखार, सर्दी, खासी तथा सांस फूलने आदि की समस्या के बारे में पूछने के साथ ही शासन की ओर निर्धारित बिन्दुओं पर सभी ग्रामीणों की सूचना डोर-टू-डोर संकलित करने में जुटी है।
स्वास्थ्य विभाग की टीमें ग्रामीणों की थर्मल स्क्रीनिंग व स्वास्थ्य परीक्षण तो फायर बिग्रेड के साथ सफाई कर्मी गांव को सैनिटाइज करने में जुटे हैं। गांव की सीमा सील करते हुए आवागमन को प्रतिबंधित कर दिया गया है।
गांव की सीमा पर बने बैरियर पर पुलिस कर्मी अधिकृत लोगों को प्रवेश देने के साथ ही माइक से लोगों को अपने घरों में रहने की अपील करने में जुटे हैं। ग्रामीणों को आवश्यक सामग्री की आपूर्ति डोर स्टेप डिलीवरी के माध्यम से हो रही है।
डीएम अरुण कुमार ने लोगों से अपील की है कि वे संक्रमण के खतरे को देखते हुए घरों से बाहर नहीं निकलें। बहुत जरूरी कार्य या कोई परेशानी होने पर अफसरों के मोबाइल नंबर या कंट्रोल रूम के फोन नंबर 05368-244577, 6394802956 तथा 9936534636 पर कॉल कर मदद मांग सकते हैं। अनावश्यक रूप से घर के बाहर निकलने पर प्रशासन की ओर से वैधानिक कार्रवाई की चेतावनी दी गई है।
... और पढ़ें

प्रयागराजः एक लाख का इनामी शूटर नीरज सिंह नैनी में गिरफ्तार

सील किया गया अमेठी का अस्थाई जिला अस्पताल

अमेठी। शहर में संचालित अस्थाई जिला अस्पताल (सीएचसी असैदापुर) में भर्ती तीन प्रसूताओं की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव मिलने के बाद मचे हड़कंप के बीच मरीजों को लेवल-1 अस्पताल में शिफ्ट करने के साथ ही सीएचसी को सील कर उसे संक्रमण मुक्त करने की कवायद शुरू कर दी गई है।
अस्पताल अधीक्षक समेत सभी स्टाफ को क्वारंटीन कर दिया गया है। कोविड-19 के पीड़ितों का उपचार करने व इससे बचाव के लिए लोगों को जागरूक करने की जिम्मेदारी संभालने वाले स्वास्थ्य विभाग की ओर से बड़ी चूक सामने आई है।
रविवार को जिन 14 लोगों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है उनमें शामिल जामो ब्लॉक के पूरे सधई सिंह की एक गर्भवती महिला को 26 मई तो गौरीगंज के धनी जलालपुर व सरौली की एक-एक गर्भवती महिलाओं को प्रसव पीड़ा के बाद 27 मई को जिला अस्पताल लाया गया था।
अस्पताल में पूरे सधई सिंह की महिला का 26 मई की रात नौ बजे ऑपरेशन के जरिए प्रसव कराया गया। इसके बाद 27 को कोरोना जांच के लिए तीनों महिलाओं का का सैंपल लिया गया। सैंपलिंग के बाद सरौली गांव की महिला पीएचसी भटगवां चली गई।
वहां पर्यवेक्षक संगीता सिंह ने उसका प्रसव कराने के बाद उसे घर जाने दिया। धनी जलालपुर की महिला का सामन्य प्रसव 27 मई को जिला अस्पताल में ही हुआ और उसे उसी दिन डिस्चार्ज भी कर दिया गया जबकि पूरे सधई की वह महिला अस्पताल में भर्ती रही जिसका प्रसव ऑपरेशन के जरिए हुआ था।
तीन दिन तक सब कुछ सामान्य रहने के बाद रविवार शाम तब हड़कंप मच गया जब तीनों महिलाओं की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई। रिपोर्ट मिलने के तत्काल बाद जिला प्रशासन ने पूरे सधई सिंह गांव की महिला के साथ ही दोनों महिलाओं को घर से लाकर लेवल-1 अस्पताल में भर्ती करा दिया है।
जिला अस्पताल को अग्रिम आदेश तक के लिए सील कर उसे संक्रमण मुक्त बनाने के लिए सैनिटाइज किया जा रहा है। साथ ही संक्रमित मरीजों का उपचार करने वाले अस्पताल अधीक्षक आरके सक्सेना, एनेस्थिेटिक्स डॉ. एनके मिश्र और भटगवां पीएचसी की पर्यवेक्षक संगीता सिंह समेत सभी पैरामेडिकल स्टाफ को क्वारंटीन कर दिया गया है।
सीएमओ डॉ. आरएम श्रीवास्तव की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि मौजूदा अस्पताल अधीक्षक डॉ. आरके सक्सेना के क्वारंटीन रहने के दौरान डॉ. एके अजीजी को अस्थाई जिला अस्पताल के अधीक्षक के साथ लेवल-1 अस्पताल के नोडल की भी जिम्मेदारी दी गई है।
... और पढ़ें

अमेठी के युवक की तंजानिया में मौत

अमेठी। दक्षिण अफ्रीका के तंजानिया में खेल शिक्षक के रूप में तैनात स्थानीय ब्लॉक के गांव कोरारी गिरधरशाह निवासी युवक की बीमारी से मौत हो गई। मृतक के पिता ने स्थानीय सांसद/केंद्रीय मंत्री को पत्र भेजकर बेटे के शव के साथ बहू व पोते को स्वदेश लाने की गुहार लगाई है।
स्थानीय ब्लॉक के गांव कोरारी गिरधरशाह निवासी रमेशचंद्र सिंह का पुत्र अभयराज सिंह (38) दक्षिण अफ्रीका के तंजानिया स्थित एक इंडियन स्कूल दार ईएस सलाम में खेल शिक्षक थे। अभयराज की पत्नी रुचि सिंह भी इसी स्कूल में संस्कृत विषय की शिक्षिका हैं।
शिक्षक दंपती के साथ उनका पुत्र देव आदित्य प्रताप सिंह (9) भी वहीं रहता है। शुक्रवार को तंजानिया में अभयराज की अचानक तबियत बिगड़ी। विद्यालय के सहयोगियों एवं पत्नी द्वारा उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां रविवार रात उनकी मौत हो गई।
घटना की सूचना मिलने के बाद गांव में रह रहे पिता रमेशचंद्र, माता पुष्पा देवी, छोटे भाई अनुराग सिंह सहित अन्य परिवारीजनों का रो-रोकर हाल बेहाल है। पीड़ित पिता ने जिला प्रशासन के साथ ही स्थानीय सांसद/केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी से बेटे का शव तथा बहू रुचि सिंह और पौत्र देव आदित्य प्रताप सिंह को स्वदेश लाने की गुहार लगाई है।
लॉकडाउन की वजह से नहीं आ सके थे घर
अभयराज सिंह छह वर्ष से दक्षिण अफ्रीका के तंजानिया स्थित स्कूल में अपनी पत्नी रुचि सिंह के साथ नौकरी कर रहे थे। बीते वर्ष अप्रैल में वह घर आए थे। इस वर्ष तीन अप्रैल को उनका फ्लाइट से घर आने का टिकट था। लॉकडाउन के चलते वह घर नहीं आ सके थे।
... और पढ़ें

जिले में शुरू हुआ रोडवेज बसों का संचालन

अमेठी। शासन के निर्देश पर 70 दिन बाद सोमवार से परिवहन निगम की बसों का संचालन शुरू हो गया। पहले दिन डिपो से छह बसें अलग-अलग स्थानों के लिए रवाना हुईं। हालांकि पहले दिन किसी भी बस पर 10 से अधिक यात्री नहीं रहे।
22 मार्च को रहे जनता कर्फ्यू के दिन से बंद परिवहन निगम की बसों का संचालन अनलॉक-1 में केंद्र व प्रदेश सरकार की ओर से दी गई छूट और आम लोगों की सुविधा को देखते हुए 70 दिन बाद सोमवार से शुरू हो गया है। पहले दिन अमेठी डिपो की छह बसें सड़कों पर चलने के लिए डिपो से निकलकर बस स्टेशन पर खड़ी हुईं।
इन बसों को अलग-अलग स्थानों के लिए रवाना किया गया। सहायक क्षेत्रीय प्रबंधक आरएम पांडेय ने बताया कि बसों का संचालन शुरू करा दिया गया है। कहा कि बस में बैठने वाले यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग कराने के साथ ही उनके हाथ सैनिटाइज कराए जा रहे हैं। यात्रा कर रहे लोगों को मास्क लगाना अनिवार्य है। बताया कि बसों को सैनिटाइज कराकर पूरी सावधानी बरतते हुए रवाना कराया जा रहा है।
जागरूकता के लिए बस स्टेशन पर एनाउंसमेंट भी कराया जा रहा है। पांडेय ने बताया कि सोमवार को बस स्टेशन से बसों को प्रयागराज, कानपुर, सुलतानपुर व लखनऊ के लिए रवाना किया गया। पहले दिन किसी भी बस पर 10 से अधिक सवारियां नहीं रहीं। कहा कि यात्रियों की संख्या बढ़ेगी तो बसें अन्य स्थानों के लिए भी चलेंगी।
... और पढ़ें

जिले के सभी खंड विकास अधिकारी से जवाब-तलब

गौरीगंज (अमेठी)। आवास प्लस योजना के पोर्टल पर लाभार्थियों के आधार सीड करने में लापरवाही जिले के सभी 13 बीडीओ को भारी पड़ी। योजना में बरती जा रही लापरवाही से नाराज परियोजना निदेशक ने सभी को नोटिस जारी कर अपेक्षित प्रगति सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है।
आवासहीन गरीब परिवार को आवास मुहैया करवाने के लिए प्रदेश सरकार की ओर से संचालित योजना जिले में जिम्मेदारों की मनमानी की भेंट चढ़ रही है। आवास प्लस योजना के तहत गड़बड़ी रोकने के लिए लाभार्थियों के आधार को पोर्टल पर सीड किया जाना है। जनपद में योजना के तहत पंजीकृत 1,18,794 लाभार्थियों का आधार पोर्टल पर सीड करते हुए सत्यापन की जिम्मेदारी सभी ब्लॉकों के बीडीओ को दी गई है।
शासन के निर्देश पर परियोजना निदेशक ने आवास प्लस योजना में सीडिंग के प्रगति की समीक्षा की तो पता चला कि जिले में अब तक मात्र 2,618 लाभार्थियों का आधार नंबर आवास साफ्ट पर सीड मिला। बीडीओ की ओर से बरती जा रही लापरवाही से नाराज परियोजना निदेशक आशुतोष दुबे ने सभी को कारण बताओ नोटिस जारी किया है।
इसमें सभी को प्रतिदिन लक्ष्य के अनुरूप साफ्ट पर लाभार्थियों का आधार सीड करते हुए जवाब देने का निर्देश दिया गया है। परियोजना निदेशक ने शत-प्रतिशत लाभार्थियों का आवास प्लस योजना में सॉफ्टवेयर पर आधार सीड नहीं होने तथा जवाब से संतुष्ट नहीं होने पर कार्रवाई की चेतावनी दी है।
... और पढ़ें

अमेठी में लगे लापता सांसद के पोस्टर, पूछा... क्या अब सिर्फ कंधा देने के लिए आएंगी

अमेठी में कोरोना मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। इस दौरान वहां पोस्टर वार फिर शुरू हो गया है। अमेठी के कुछ इलाकों में सांसद स्मृति ईरानी को लापता बताते हुए पोस्टर लगाए गए हैं जिन पर सवाल लिखकर पूछा गया है कि सांसद जी अब क्या अमेठी सिर्फ कंधा देने के लिए आएंगी?

जिले के जामो के अतरौली व शाहबढ़ ब्लॉक के बहोरखा गांव में बिजली के खंभों पर सोमवार सुबह लापता सांसद से सवाल शीर्षक के पोस्टर चिपके दिखे। मामला सार्वजनिक होते ही पहुंचे प्रशासन ने पोस्टर को हटवा दिया।

पोस्टर में लिखा था कि अमेठी से सांसद बनने के बाद (साल भर में दो दिन) महज कुछ घंटे अपनी उपस्थिति दर्ज कराने वाली सांसद अमेठी स्मृति ईरानी जी आज कोरोना महामारी के दर्द से अमेठी की समस्त जनता भयभीत व त्रस्त है। हम यह नहीं कहते कि आप गायब हैं...हमने आपको ट्विटर के माध्यम से अंताक्षरी खेलते हुए देखा है।

हमने आपके माध्यम से एकाध व्यक्ति को लंच देते हुए देखा है लेकिन अमेठी का सांसद होने के नाते आज इस विपरीत समय में अमेठी की मासूम जनता अपनी आवश्यकताओं और परेशानियों के लिए आपको ढ़ूंढ़ रही है। विगत कई महीनों की परेशानियों के बीच यूं ही अमेठी की जनता को निराश्रित छोड़ देना यह दर्शाता है कि शायद अमेठी आपके लिए महज टूर हब है। क्या अब अमेठी में सिर्फ कंधा देने आएंगी’।

इस पोस्टर के सामने आने के बाद कांग्रेस एमएलसी दीपक सिंह ने भी अपने ट्विटर अकाउंट पर पोस्टर की फोटो के साथ एक पोस्ट कर स्मृति से अमेठी में कुछ दिन बिताने की बात कही है।
... और पढ़ें

छप्पर पर गिरा पेड़, दो सगे भाइयों की मौत

अमेठी। जिले में शनिवार देर शाम आई तेज आंधी व पानी के दौरान छप्पर पर पेड़ गिरने से दो सगे भाइयों की मौत हो गई। आंधी के कारण बड़ी संख्या में बिजली के खंभे टूटने से पूरे जिले की आपूर्ति व्यवस्था चरमरा गई। आधे से अधिक जिले में 24 घंटे बाद भी अंधेरा है।
जिले में शनिवार देर शाम अचानक तेज आंधी के साथ हुई मूसलाधार बरसात के दौरान भादर ब्लॉक के टंड़वा मजरे भेवई निवासी राम सजीवन की छप्पर पर पेड़ गिर पड़ा। इसकी चपेट में आए छप्पर के अंदर मौजूद रामसजीवन (70) व रामकरन (55) व रामकरन के पुत्र संजय (22) गंभीर रूप से घायल हो गए।
एंबुलेंस की मदद से ग्रामीण तीनों घायलों को जिला अस्पताल सुल्तानपुर ले गए। जहां चिकित्सकों ने रामकरन को लखनऊ रेफर कर दिया। उपचार के दौरान राम सजीवन की देर रात तो रामकरन की ट्रॉमा सेंटर में रविवार दोपहर मौत हो गई।
घायल संजय को रविवार दोपहर बाद घर जाने के लिए छोड़ दिया गया। आंधी से जिले में बड़ी संख्या में पेड़ व बिजली के खंभे भी टूट गए। इससे पूरे जिले की बिजली गुल हो गई। सड़क किनारे लगे पेड़ों के टूटकर गिरने से जहां रास्ता बाधित हो गया।
वहीं आबादी वाले क्षेत्रों में बड़ी संख्या में लोगों के छप्पर के आवास, बाउंड्रीवाल को भी नुकसान हुआ। शहरी क्षेत्रों के अलावा कुछ इलाकों की बिजली तो देर रात बहाल हो गई लेकिन आधे से अधिक जिले में रविवार शाम तक आपूर्ति बहाल नहीं हो सकी।
अमेठी तहसीलदार घनश्याम भारतीय ने बताया कि टंड़वा गांव में छप्पर पर पेड़ गिरने से जिन सगे भाइयों की मौत हुई है उनके परिवारीजनों को दैवीय आपदा राहत कोष से निर्धारित आर्थिक सहायता दी जाएगी।
... और पढ़ें

होम क्वारंटीन तोडने वालों पर दर्ज होगा केस

अमेठी। गैर प्रांत से हर रोज बड़ी संख्या में गांव पहुंच रहे लोग होम क्वारंटीन को धता बताते हुए खुले में घूम रहे हैं। ऐसे में ग्रामीण कोरोना वायरस के आम लोगों में फैलने को लेकर भयभीत हैं।
आए दिन मिल रही शिकायतों को गंभीरता से लेते हुए जिला व पुलिस प्रशासन ने सख्त रुख अख्तियार किया है। डीएम ने जहां ऐसे लोगों को दिए जा रहे एक हजार रुपये के भत्ता राशि पर रोक लगाने तो एसपी ने सभी एसओ को ऐसे लोगों को चिन्हित कर केस दर्ज कर कार्रवाई का निर्देश जारी किया है।
कोरोना वायरस को बढ़ने से रोकने के लिए घोषित लॉकडाउन के बीच गैर प्रांत में फंसे लोगों के अपने गांव आने का सिलसिला जारी है। हर रोज स्पेशल ट्रेन, प्राइवेट साधन से बड़ी संख्या में आ रहे लोगों को प्रशासन की ओर से होम क्वारंटीन कराया जा रहा है।
शासन के निर्देश पर ऐसे लोगों को राशन के साथ ही एक हजार रुपये क्वारंटीन भत्ता के रूप में प्रशासन की ओर से दिया जा रहा है। गांव पहुंच रहे ज्यादातर प्रवासी होम क्वारंटीन न रहकर जहां परिवार के साथ रहे रहे हैं वहीं खुले में समूह के टहलते हुए बाजारों में भी जा रहे हैं।
ग्रामीणों के विरोध करने वह मारपीट पर उतर आ रहे हैं। ऐसे में ग्रामीण कोरोना वायरस के आम लोगों में फैलने को लेकर भयभीत हैं। ग्रामीणों की ओर से आए दिन मिल रही ऐसी शिकायतों को जिला व पुलिस प्रशासन ने गंभीरता से लिया है।
एसपी डॉ. ख्याति गर्ग ने बताया कि सभी एसओ को अपने क्षेत्र के ऐसे लोगों को चिन्हित कर उनके खिलाफ केस दर्ज कर कार्रवाई का निर्देश दिया गया है। एडीएम वंदिता श्रीवास्तव ने बताया कि सभी एसडीएम को होम क्वारंटीन का पूरी तरह से पालन कराने का निर्देश दे दिया गया है। कहा कि उल्लंघन करने वालों को दी जाने वाली होम क्वारंटीन भत्ते की राशि नहीं दी जाएगी।
... और पढ़ें

जिले में अब तक बने 90 कंटेनमेंट जोन

अमेठी। कोरोना महामारी के बीच संक्रमित पाए जाने पर अब तक जिले में 90 कंटेनमेंट जोन घोषित किए जा चुके हैं। कोरोना संभावित कैरियर मानते हुए 2,375 लोगों की सैंपलिंग कराई जा चुकी हैं जिनमें से 104 पॉजिटिव केस मिले हैं। इलाज के दौरान 28 मरीजों को स्वस्थ होने के बाद उन्हें डिस्चार्ज कर घर भेजते हुए 14 दिनों के लिए होम क्वारंटीन कराया गया है।
देश में कोरोना महामारी शुरू होने के बाद पांच मई से जिले में शुरू हुआ पॉजिटिव मरीज मिलने का सिलसिला लगातार जारी है। पॉजिटिव मरीज मिलने पर जिला प्रशासन की ओर से अब तक 90 कंटेनमेंट जोन घोषित किए जा चुके हैं।
इनमें से सर्वाधिक अमेठी तहसील में 27, गौरीगंज में 26, मुसाफिरखाना में 21 तो तिलोई में 16 जोन शामिल हैं। मार्च माह के पहले सप्ताह से 30 मई तक जिले में कुल 2375 कोरोना संभावितों की सैंपलिंग कराई जा चुकी है। इनमें से अब तक 132 पॉजिटिव तो 1689 की रिपोर्ट निगेटिव आई है।
132 संक्रमितों के सापेक्ष 30 मई तक इलाज के दौरान 28 मरीज स्वास्थ हुए हैं। स्वस्थ होने के बाद सभी को एल-1 अस्पताल से डिस्चार्ज करते हुए घर भेजा जा चुका है। जिला प्रशासन को 30 मई तक 1,853 सैंपलों की रिपोर्ट मिल चुकी है।
डीएम अरुण कुमार के अनुसार लक्षण वाले लोगों के साथ ही गैर प्रांत से आ रहे प्रवासी श्रमिकों की सैंपलिंग कराई जा रही है। वहीं जिले में पहुंच रहे प्रवासियों को होम क्वारंटीन कराकर वायरस को फैलने से रोकने की कवायद चल रही है।
... और पढ़ें

अमेठी: दो मासूम समेत 14 कोरोना पॉजिटिव मिले, इलाज के लिए लेवल-1 अस्पताल भेजा गया

अमेठी जिले में कोरोना पॉजिटिव मिलने का सिलसिला रविवार को भी जारी रहा। रविवार को जिले में दो मासूम समेत 14 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले। पहली बार पांच स्थानीय भी पॉजिटिव मिले हैं। प्रशासन सभी को इलाज के लिए लेवल-1 अस्पताल भेजकर अन्य आवश्यक कार्रवाई में जुटा है।

जिलाधिकारी अरुण कुमार ने बताया कि रविवार को 14 लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जिन लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉज़िटिव आई है उनमें चार दिल्ली, तीन मुंबई व दो सूरत से पिछले दिनों अपने घर आए थे। शिकायत पर इनकी जांच कराई गई थी।

डीएम ने बताया कि रविवार को पहली बार पांच स्थानीय भी पॉजिटिव पाए गए हैं। पॉजिटिव मिले लोगों में सूरत से अमेठी के जंगल रामनगर गाँव आई एक पाँच वर्षीय मासूम बच्ची और उसकी माँ के अलावा संग्रामपुर के टिकरिया गाँव की नौ वर्षीय मासूम बच्ची और उसकी मां भी शामिल है।

पॉजिटिव लोगों में जामों गौरीगंज ब्लॉक के दो-दो, अमेठी व संग्रामपुर ब्लॉक के चार-चार तथा एक-एक लोग मुसाफ़िरखाना व सिंहपुर ब्लॉक के हैं। डीएम ने बताया कि पॉजिटिव मिले सभी लोगों को गौरीगंज स्थित लेबल-1 अस्पताल में भर्ती कराने के बाद संबंधित गांवों के सैनिटाइजेशन व उनके संपर्क में आए लोगों की तलाश समेत अन्य आवश्यक कार्रवाई की जा रही है। रविवार को मिले 14 मरीजों के बाद जिले में कोरोना के कुल मरीजों की संख्या 146 पहुँच गई है। अब तक 29 मरीज स्वस्थ हो गए हैं। इस प्रकार ज़िले में एक्टिव मरीजों की कुल संख्या 117 है।
... और पढ़ें

तीन पॉजिटिव अयोध्या मेडिकल कॉलेज रेफर

अमेठी। दिल्ली से वापस आए एक दंपती की रिपोर्ट शुक्रवार देर शाम पॉजिटिव आने पर उन्हें एल-2 श्रेणी में नामित जगदीशपुर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। आयुष्मान भारत का कार्ड नहीं होने तथा प्राइवेट अस्पताल का खर्च व्यय करने में असमर्थता जाहिर करने के बाद शनिवार को उन्हें राजा दशरथ मेडिकल कॉलेज अयोध्या रेफर कर दिया गया।
तिलोई के एक गांव निवासी दंपती अपने चार वर्षीय पुत्र के साथ दिल्ली से घर पहुंचे थे। घर पहुंचने पर इन्हें सांस लेने में परेशानी सीने में जलन/दर्द होने की सूचना पर जिला प्रशासन की ओर से 25 मई को सभी की सैंपलिंग कराकर जांच के लिए भेजा गया था।
शुक्रवार देर शाम आई रिपोर्ट में सभी की रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई। रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद संक्रमितों की ओर से आयुष्मान कार्ड धारक होने तथा निजी अस्पताल में इलाज कराने की सहमति देने पर तीनों को एल-2 श्रेणी में नामित जगदीशपुर के प्राइवेट हास्पिटल राधेश्याम सत्य प्रकाश ट्रामा सेंटर में भर्ती करा दिया गया।
शनिवार को अस्पताल की ओर से जब आयुष्मान योजना का कार्ड मांगा गया तो इनकी ओर से आधार कार्ड दिया गया। इलाज पर आने वाले खर्च की राशि मांगने पर इन लोगों ने धनराशि देने में असमर्थता जाहिर की। सूचना पर अस्पताल पहुंचे डीएम अरुण कुमार व सीएमओ डॉ. आरएम श्रीवास्तव ने तीनों को राजा दशरथ मेडिकल कॉलेज अयोध्या रेफर कराते हुए आधुनिक एंबुलेंस से रवाना कराया।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us