विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus In Uttar Pradesh Live: नोएडा में चार और संक्रमित मरीज मिले, यूपी में संख्या बढ़कर हुई 70

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस का कहर देश में लगातार बढ़ता जा रहा है। रविवार को कोरोना से जम्मू-कश्मीर और गुजरात में एक-एक लोगों की मौत हो गई। वहीं, यूपी में भी लगातार संक्रमिता का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है।

29 मार्च 2020

विज्ञापन

Sp baghpat said

28 मार्च 2020

विज्ञापन

आजमगढ़

रविवार, 29 मार्च 2020

कोरोना पर जागरूकता को लेकर हो रही ऑनलाइन प्रतियोगिता, घर बैठे ऐसे लें हिस्सा

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए अधिक से अधिक लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य माध्यमिक शिक्षा विभाग ने एक नई मुहिम शुरू की है। इसके तहत घर बैठे छात्र-छात्राओं के लिए ऑनलाइन प्रतियोगिता की शुरुआत की जा रही है "कोरोना को हराना है भारत से भगाना है"। इस थीम पर छात्र छात्राओं के लिए पोस्टर, स्लोगन और निबंध प्रतियोगिता की शुरुआत की गई है।

जिले के इंटर कॉलेजों में पढ़ने वाले छात्र छात्रा हिंदी और अंग्रेजी माध्यम में प्रतियोगिता में भाग ले सकेंगे। खास बात यह है कि इस प्रतियोगिता में पंजीकरण और प्रविष्ठियां ऑनलाइन भेजनी होगी। जिला विद्यालय निरीक्षक डॉ. विजय प्रकाश सिंह ने बताया कि सभी इंटर कॉलेजों के प्रधानाचार्य को लिखे पत्र में इसकी जानकारी दी जा चुकी है।

साथ ही उनसे इस बारे में छात्र-छात्राओं को जानकारी देने को भी कहा गया है। बताया कि 31 मार्च की शाम 5 बजे तक प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए पंजीकरण कराया जा सकेगा और 8 अप्रैल तक ऑनलाइन आई प्रविष्टी पर ही विचार किया जाएगा। प्रतियोगिता में हर स्तर पर तीन विजेताओं को पुरस्कृत भी किया जाएगा।

रजिस्ट्रेशन के लिए छात्रों को अपना नाम, पिता का नाम, कक्षा, विद्यालय का नाम और मोबाइल नंबर भी देना होगा। लॉकडाउन में घर बैठे छात्र-छात्राओ का समय व्यतीत हो और कोरोना से बचाव के प्रति जागरूकता ही इसका उद्देश्य है। प्रतियोगिता के लिए जिले में 3 सदस्यीय टीम का गठन किया गया है।

इसमें वाराणसी के राजकीय क्वींस इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य डॉ. राजेश सिंह यादव, सीएम एंग्लो बंगाली कालेज के प्रधानाचार्य डॉ. विश्वनाथ दुबे और सनबीम ग्रुप के मुख्य कार्यकारी अधिकारी संदीप मुखर्जी को नोडल अधिकारी बनाया गया है।

 

 

 

 

 

... और पढ़ें

आजमगढ़ के कोरोना के संदिग्ध मरीज की हालत गंभीर, एक अन्य को आइसोलेशन वार्ड में किया गया भर्ती

यूपी के आजमगढ़ में कोरोना के एक संदिग्ध मरीज की हालत गंभीर है। अस्पताल प्रशासन के अनुसार वह टीबी का पुराना मरीज है। एक अन्य संदिग्ध मरीज को शुक्रवार को भर्ती किया गया। जबकि जौनपुर में घर में क्वारंटीन दो लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। दो का इंतजार किया जा रहा है।

आजमगढ़ में बृहस्पतिवार को तीन संदिग्ध मरीज मिले थे। इसमें अहरौला क्षेत्र के पिता-पुत्र को जिला अस्पताल में बने आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया है। इसमें पिता 10 दिनों पूर्व नेपाल से लौटा है। उसकी हालत गंभीर है। अस्पताल प्रशासन के अनुसार, वह टीबी का पुराना मरीज है।

तीनों की जांच रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है। इसके अलावा मेंहनगर तहसील क्षेत्र के एक युवक को राजकीय मेडिकल कालेज के आईसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया। उसका सैंपल जांच के लिए भेजा गया है। वह दस-बारह दिन पूर्व विदेश से आया था।

गाजीपुर में भर्ती छह में से सभी की रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद होम क्वारंटीन कर दिया गया। साथ ही तीन नए मरीजों को आईसोलेशन वार्ड भर्ती कराया गया है। तीन मरीजों का सैंपल जांच के लिए वाराणसी भेजा गया है।

... और पढ़ें

पीएम मोदी के आह्वान पर आजमगढ़ में लॉक डाउन प्रभावितों की मदद के लिए हो रहा कुछ ऐसा

देश के साथ ही आजमगढ़ में भी लॉकडाउन की वजह से बहुत सारे परिवार रेलवे स्टेशनों, अस्पतालों में फंस गए हैं। ऐसे लोगों की मदद के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में ऐसे जरूरतमंदों, गरीब परिवारों के मदद की अपील कर चुके हैं।

प्रधानमंत्री की अपील पर आजमगढ़ जिले में व्यक्तिगत के साथ ही कई सामाजिक संगठनों की ओर से गरीब और दैनिक मजदूरी करके अपना और अपने परिजनों का भरण-पोषण करने वालों को अनाज के साथ ही भोजन उपलब्ध कराने का सराहनीय कार्य किया जा रहा है।
 
जानकारी के अनुसार आजमगढ़ जनपद में पंजीकृत श्रमिकों की संख्या 20000 के आसपास है। निर्माण क्षेत्र से संबंधित इन श्रमिकों को श्रम विभाग की ओर से ₹1000 रुपये देने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है और लगभग 7000 श्रमिकों के खाते में धनराशि भेज दी गई है।
 
... और पढ़ें

जरूरतमंदों के लिए आगे आए लोग, बांटी राहत सामग्री

आजमगढ़। कोरोना वायरस को लेकर पूरे जनपद में लाकडाउन है। बहुत से लोगों के लिए खाने का जुगाड़ करना मुश्किल है। इसके लिए जिला प्रशासन के साथ ही पुलिस विभाग और विभिन्न सामाजिक संगठनों की ओर से व्यवस्था की जा रही है।
डीएम एनपी सिंह ने लाकडाउन की स्थिति में जरूरतमन्द लोगों की मदद के लिए कम्हरिया बाजार में दिहाड़ी मजदूरों तथा पल्हना बाजार में बांसफोर और मुसहर परिवारों में खाद्य सामग्री का वितरण किया। भारत रक्षा दल ने पका-पकाया भोजन उनके घर तक पहुंचाया। प्रदेश उपाध्यक्ष हरिकेश विक्रम श्रीवास्तव ने बताया कि सब लोग अपनी- अपनी क्षमता के अनुसार लगे हुए हैं।
शनिवार को को तीसरे दिन प्रथम पाली में 99 लोगों को खाना पहुंचाया गया। अतरौलिया में मजदूरी व ठेला चलाने वालों को एसडीएम बूढ़नपुर दिनेश कुमार मिश्र, तहसीलदार शक्ति प्रताप सिंह और अधिशासी अधिकारी अतरौलिया अंजली वर्मा ने खाद्यान्न सामग्री बांटी। सरायमीर के मिर्जापुर ब्लाक अंतर्गत बस्ती (नहर) के समीप बसे गरीबों के लिए जय गुरुदेव आश्रम खानपुर की ओर से अनाज वितरण किया गया। सरायमीर में पूर्व सभासद वसीम अहमद ने गरीबों में आटा, आलू, दाल, चावल आदि वितरण किया। अतरौलिया में नगर पंचायत अध्यक्ष सुभाष चंद जायसवाल ने जरूरतमंदों को राशन वितरित किया। भाजपा नेता रमाकांत मिश्रा ने सफाई कर्मियों को मास्क दिया।
अंबारी में डायल 112 पर सहायता के लिए काल की गई। बताया गया कि प्रतिदिन कमाने खाने वाले परिवार में 17 लोग और चार बच्चे हैं। तहसीलदार नवीन प्रसाद, नायब तहसीलदार पंकज शाही समाजसेवी शाहिद शादाब ने लहिडीह बाजार में इन भूखे परिवारों को राहत सामग्री दी। तरवां थाना क्षेत्र के बोगरिया बाजार के मुस्लिम बस्ती में कुछ जरूरतमंदों को आजाद कल्याण समाज सेवा समिति की ओर से राशन वितरण किया गया। इस मौके पर सीओ लालगंज अजय कुमार यादव और चौकी प्रभारी शिवभजन थे। मेंहनगर के कम्हरिया गांव में पंकज कुमार सिंह ने दिहाड़ी मजदूरों और गरीब लोगों में राशन वितरण किया। खरिहानी बाजार में 15 परिवार को जिलाधिकारी ने राशन बांटा।
बेलइसा में दो दर्जन से ज्यादा लोगों को फंसा देखकर बेलइसा मंडी में फल विक्रेता राधेश्याम यादव ने उन्हें भोजन-फल आदि का प्रबंध कर मानवीयता की मिसाल पेश की। मजदूरों को बेबस देखकर बेइलसा से सटे शाहकुंदनपुर निवासी राधेश्याम यादव ने 35 लोगों का भोजन का प्रबंध किया। योग मंच ने पुलिसकर्मियों को खाद्य सामग्री वितरित की।
... और पढ़ें

जमाखोरी और रेट बढ़ाने पर होगी जेल

मुबारकपुर/अमिलो (आजमगढ़)। थाना परिसर में शनिवार को कमिश्नर कनक त्रिपाठी और डीआईजी सुभाष चन्द्र दूबे ने बैठक की। लॉकडाउन का पालन करने के संबंध में दिशा निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि कालाबाजार करने वाले पर एनएसए लगेगा। मुहल्ला कटरा में बांसफोर बिरादरी के लोगों को लंच पैकेट का वितरण किया।
मातहत अधिकारियों को निर्देश दिया कि लॉकडाउन का पालन करने के साथ साथ मुबारकपुर नगरपालिका परिषद के सभी वार्डों में राशन, सब्जी, फल की होम डिलीवरी कराएं। जमाखोरी व अधिक रेट पर सामान बेचने पर कार्रवाई कर जेल भेजा जाए। अधिशासी अधिकारी राज अविचल प्रजापति से जानकारी ली। उन्होंने बताया कि कुल 211 ठेले हैं। कमिश्नर कनक त्रिपाठी ने कहा कि सभी 25 वार्डों में 64 ठेले का पास जारी कर उनका पता, मोबाइल नंबर नोट कर लें।
सुबह 10 से शाम चार बजे तक सब्जी, फल घर-घर पहुंचाएं। किसी भी तरह से रेट से अधिक मूल्य पर राशन व खाद्य सामग्री न बेचें। मेन बाजार में सब्जी मंडी न लगा कर रविवार को राम लीला मैदान में सुबह 7:30 बजे से 12:30 बजे तक मंडी लगाई जाए। डीआईजी सुभाष चन्द्र दूबे ने कहा कि भीड़ और जमाखोरी न होने पाएं।
थाना प्रभारी निरीक्षक अखिलेश कुमार मिश्र को कहा कि रामलीला मैदान में लाकडाउन का पालन कराएं। मुहल्ला कटरा में बांसफोर बिरादरी के लोगों को कमिश्नर व डीआईजी ने लंच पैकेट का वितरण किया। एसडीएम राघवेन्द्र सिंह, उपजिलाधिकारी राजीव रतन सिंह, क्षेत्राधिकारी अकमल खान, विनय कुमार सिंह, मौजूद रहे।
... और पढ़ें

कोरोना से बचाव के लिए गांव के रास्ते पर खींची लक्ष्मण रेखा

आजमगढ़। कोरोना वायरस से बचाव के लिए अब लोगों ने अपनी तरफ से भी कई प्रयास करने शुरू कर दिए हैं। ऐसा ही मामला देखने को मिला है आजमगढ़ के मेंहनगर तहसील के गांव उम्मरपुर में। गांव में ग्रामीणों ने बैरियर लगाकर के उस पर एक पोस्टर चस्पा कर दिया है। इस पोस्टर पर बाहरी लोगों का प्रवेश वर्जित कर दिया गया है। इसके साथ ही गांव के लोगों को भी आपस में दो मीटर की सामाजिक दूरी रखने के निर्देश लिख दिए हैं।
मेहनगर तहसील के सिंहपुर के पास स्थित गांव उम्मरपुर के ग्रामीणों का यह प्रयास लोगों के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है। यहां के ग्रामीणों ने डॉक्टर सुभाष सिंह के नेतृत्व में गांव के मुख्य रास्ते पर एक बैरियर लगा दिया है। बैरियर पर चस्पा किए गए पोस्टर पर लिखा गया है कि कोरोना एक जानलेवा बीमारी हैं। बाहरी लोगों से निवेदन है कि लाकडाउन का पालन करें और गांव में प्रवेश न करें।
इसके साथ ही समस्त ग्रामवासियों से निवेदन किया गया है कि दो मीटर की सामाजिक दूरी बनाए रखें। तथा अपने घर से बाहर न निकले ग्रामीणों की ओर से खींची गई यह लक्ष्मणरेखा की चर्चा हर तरफ फैल रही है। इस संबंध में ग्रामीणों से बातचीत की गई तो उन्होंने बताया कि कोरोना की भयावहता को देखते हुए सरकार ने 14 अप्रैल तक 21 दिन का लाकडाउन कर रखा है।
हम गांव के लोगों और इसके साथ ही बाहरी लोगों से निवेदन कर रहे हैं कि इसका पूरी तरीके से पालन किया की जाए, ताकि स्वयं के साथ ही दूसरे लोगों का भी इस गंभीर बीमारी से बचाव हो सके। कई स्थानों से मिल रही हैं ऐसी चर्चाएं आजमगढ़ की मेंहनगर तहसील के उमरपुर गांव से पहले अन्य जनपदों में भी इस तरीके की पोस्टर लगने की जानकारी सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। इसको देख कर के जनपद के ग्रामीण भी इस तरीके का कदम उठा रहे हैं।
... और पढ़ें

अगर अब भी नहीं सुधरे तो अस्पतालों में बेड भी पड़ जाएंगे कम

आजमगढ़। कोरोना वायरस वैसे तो फैला चाइना से है लेकिन आज इसने पूरी दुनिया को अपने कब्जे में ले लिया है। वहीं हम अपनी मूर्खता से इसे अपने देश में भी तबाही मचाने का आमंत्रण दे रहे हैं। अगर समय रहते नहीं हम नहीं चेते तो हो सकता है कि इसके पीड़ितों को इलाज के लिए भर्ती करने में अस्पतालों में बेड भी कम पड़ जाए। अभी तक इससे बचाने वाली दवा का इजाद नहीं हो सका है सिर्फ सोशल डिस्टेंसिंग ही इस बिमारी के प्रसार को रोक सकती है।
पूरे विश्व में कोरोना से हजारो की संख्या में लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। आज चीन से ज्यादा इटली और स्पेन में मौतें हो चुकी हैं। इन देशों ने कोरोना के खतरे को हल्के में लिया जिसका खामियाजा आज यह लोग भुगत रहे हैं। कहीं वही गलती तो हम भी नहीं कर रहे हैं। इस बात को सभी के सोचने की जरूरत है। क्योंकि अभी तक इस रोग के इलाज का कोई कारगर तरीका विकसित नहीं हो सका है।
सिर्फ सोशल डिस्टेंसिंग के जरिए ही इससे बचा जा सकता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने समय रहते इस पर लगाम लगाने के लिए पूरे देश में लाक डाउन घोषित कर दिया ताकि लोग घरों में रहें और सोशल डिस्टेंसिंग के नियम का पालन करें। जिससे इस वायरस को फैलने से रोका जा सके। लेकिन लोक डाउन है तो हमें क्या हम तो घरों में बैठे बोर हो रहे हैं इसलिए हमें सड़कों पर घूमकर अपना मनोरंजन करना है और हम करेंगे।
हमें कोई नहीं रोक सकता है। इस मानसिकता से हम शासन और प्रशासन की मंशा पर पानी फेर रहे हैं। इतना ही नहीं हम उन कर्मवीरों का भी अपमान कर रहे हैं जो हमारी सुरक्षा के लिए 24 घंटे सड़कों और अस्पतालों में अपना समय व्यतीत कर रहे हैं। चाहे वह पुलिस के लोग हों या अस्पतालों के चिकित्सक हों या सफाई कर्मी हर कोई हमारी सुरक्षा के लिए अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन कर रहा है। तो हमारा भी फर्ज है कि हम इनकी मेहनत को जाया न जाने दें और अपने देश के साथ जनपद को भी कोरोना से मुक्त रखने के लिए शासन और प्रशासन के निर्देशों के अनुसार सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें।
... और पढ़ें

खाली पेट पानी के सहारे तीन दिनों से सफर कर रहे 20 से अधिक मजदूर

आजमगढ़। बिहार के समस्तीपुर क्षेत्र में मजदूरी करने वाले 20 अधिक मजदूर तीन दिन से खाली पेट सफर करते हुए शनिवार को रानी की सराय थाने के बेलईसा सब्जी मंडी पहुंचे। इस दौरान थाने के दरोगा की उन पर नजर गई। दरोगा के पूछने पर मजदूरों ने बताया की लाकडाउन होने पर कंपनी बंद हो गई। मालिक बगैर तनख्वाह दिए ही निकाल दिया। ऐसे में कोई रास्ता नहीं बचा तो पैदल ही घर के लिए निकल दिए। शनिवार की सुबह करीब नौ बजे समस्तीपुर से 320 किलोमीटर की दूरी तय कर स्थानीय सब्जी मंडी पहुंचे थे।
दरोगा अनुपम जायसवाल ने बताया की करीब 20 से अधिक की संख्या में मौजूद लोगों में औरैया जिले के पतवारी सिंह, कानपुर जिले के अनुप सिंह, जितेंद्र सिंह, हाटमपुर का दीपक, फरूखाबाद का राजेंद्र सिंह आदि बिहार प्रदेश के समस्तीपुर में किसी कंपनी में सभी काम करते थे। कोरोना महामारी पर नियंत्रण के लिए पूरे देश को लाकडाउन किया गया है। ऐसे में इनकी कंपनी भी बंद हो गयी। घरेलू उपयोगी सामानों के दाम दो से ढाई गुना अधिक दुकानदार लेने लगे। कंपनी मालिक ने भी सभी को बगैर तनख्वाह दिए ही निकाल दिया। ऐसे में सभी अपना सामान समेटकर पैदल ही घर के लिए निकल दिए।
दरोगा ने बताया की सुबह वह अपनी ड्यूटी से जा रहा था। तभी इन लोगों पर नजर पड़ी। इनमें से कोई लंगड़ा रहा था, तो कोई चलने की स्थिति में नहीं दिख रहा था। इनके पैर में छाले पड़ गया थे। यह लोग रात को रूक जाते थे। सबह फिर चलते थे। तीन दिन में यहां पहुंचे थे। इन सभी लोगों को मंडी परिषद के दुकानदारों के सहयोग से सभी को फल से नाश्ता कराया गया। साथ ही पुड़ी सब्जी खिलाया गया। इसके बाद मंडी परिषद फल और सब्जी लाने वाले छोटे बड़े वाहनों में दो, चार की संख्या में बैठाकर गंतव्य के लिए रवाना किया गया।
रुपये खत्म हो गए थे इसलिए चल दिए पैदल
लॉकडाउन होने के बाद जो उनके रुपयेे बचे थे वे उनसे अपना खर्च चलाया। बंदी जब लंबी हो गई तो वे घर के लिए पैदल ही निकल पड़े। करीब चार दिनों की यात्रा के बाद वे आजमगढ़ जिले में पहुंचे। जहां पुलिस ने रोका और उनके खाने पीने का इंतजाम किया।
कई जिलों को पार किया पर किसी ने नहीं पूछा
मजदूरों ने बताया वे बिहार से लेकर आजमगढ़ तक कई जिलों को पार कर यहां पहुंचे, लेकिन इस बीच में किसी ने उन्हे नहीं पूछा। उन्होंने आजमगढ़ पुलिस की इस पहल के लिए धन्यवाद दिया। कहा कि वो भूख से काफी परेशान थे। एसपी त्रिवेणी सिंह ने बताया कि मजदूरों के खाने-पीने की व्यवस्था कराई गई है। गांव तक भेजने का इंतजाम किया जा रहा है।
... और पढ़ें

आजमगढ़ में मिला एक और कोरोना संदिग्ध, आइसोलेशन वार्ड में भर्ती

आजमगढ़ जिले में एक और कोरोना संदिग्ध पाया गया है। वह हाल ही में दुबई से लौटा है। उसे राजकीय मेडिकल कालेज के आईसोलेशन वार्ड में भर्ती कर उसका सैंपल जांच के लिए भेजा गया है। तरवां थाना क्षेत्र का युवक 20 मार्च को दुबई से लौटा था। शनिवार को सर्दी-खांसी होने पर वह राजकीय मेडिकल कालेज चक्रपानपुर पहुंचा। उसे आइसोलेशन में वार्ड में रख कर उसका सैंपल जांच के लिए भेजा गया है। पहले के भर्ती तीन मरीजों की रिपोर्ट अभी आनी बाकी है।
 
अब तक नौ लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आ चुकी है। इनमें कुछ लोगों को होम क्वारंटीन कर दिया गया है। गाजीपुर जिला अस्पताल के कोरोना वार्ड में भरती तीन संदिग्ध मरीजों की निगेटिव रिपोर्ट आने के बाद उन्हें जरूरी निर्देश देकर घर भेज दिया गया है। इसके पहले कल भी आठ लोगों को घर भेज दिया गया था। जिले में अभी कुल 42 संदिग्ध मरीज निगरानी में चल रहे हैं।
 
मऊ जिले  सरकारी अस्पताल में वेंटीलेटर नहीं होने पर प्रशासन ने निजी अस्पतालों के वेंटीलेटर का अधिग्रहण कर लिया है। जौनपुर में बाहर से आने वाले मजदूरों के वाहन के देर रात तक जिले में पहुंचने की सूचना के मद्देनजर प्रशासन उनके खानपान की तैयारी कर रहा है। सभी मजदूरों की थर्मल जांच करने के बाद ही उन्हें आगे जाने दिया जाएगा।
... और पढ़ें

सोशल डिस्टेंसिंग सिस्टम का पालन नहीं करा रही गैस एजेंसी

आजमगढ़। गैस एजेंसी संचालकों द्वारा वैसे तो पूछने पर होम डिलीवरी करने का दावा किया जाता है। गोदाम से किसी को भी गैस न देने की बात कही जाती है। लेकिन जब सबसे ज्यादा होम डिलीवरी की जरूरत है तो गैस एजेंसी संचालक गोदाम से ही गैस वितरण करा रहे हैं। इतना ही नहीं वितरण के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन नहीं किया जा रहा है।
लाक डाउन के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग को लागू करने के लिए जिला प्रशासन की ओर से लोगों को जरूरी सामानों की होम डिलीवरी कराने का निर्णय लिया गया है। वहीं अपने जनपद में होम डिलीवरी का दावा करने वाले गैस मालिकों द्वारा शुक्रवार को होम डिलीवरी के बजाए एक स्थान पर लाइन लगाकर लोगों में गैस वितरित की जा रही थी। इसकी फोटो सोशल मीडिया पर अपलोड होने के बाद डीएम एनपी सिंह ने इसे संज्ञान लिया और जिला पूर्ति अधिकारी को तत्काल कार्रवाई करने का निर्देश दिया। जिला पूर्ति अधिकारी देवमणि मिश्रा ने बताया कि उक्त गैस व एजेंसी के मालिक को नोटिस जारी कर चेतावनी दे दी गई है कि अगर दोबारा उनके द्वारा ऐसा किया गया तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इसलिए वह होम डिलवरी शुरू करें।
... और पढ़ें

अवैध भंडारण और जमाखोरी की होगी जांच

आजमगढ़। लॉकडाउन के दौरान अचानक सब्जियों के मूल्य में इजाफा कर दिया गया है। इसकी लगातार शिकायतें जिला प्रशासन को मिल रही है। इससे प्रशासन की नजर अवैध भंडारण और जमाखोरी करने वालों पर हैं। डीएम ने इसकी जांच के लिए जिला उद्यान अधिकारी और सचिव मंडी समिति को निर्देश जारी किए हैं।
डीएम ने कहा कि जनपद में जितने भी शाक-सब्जी और फल का उत्पादन करने वाले किसान हैं, उनकी सूची तत्काल बनाएं। पिछले तीन माह में शाक-सब्जी, फल का उत्पादन एवं विक्रय की क्या स्थिति रही और ये उत्पादक किन आढ़तियों को सामान बेचते हैं। आढ़तियों से किन-किन क्षेत्र के फुटकर विक्रेता सब्जी ले जाते हैं, इनकी भी सूची तैयार करें। सुनिश्चित करें कि ग्रामीण बाजारों में फुटकर सब्जी विक्रेताओं की दुकानें खुली रहें। किसानों को सब्जी, फल आपूर्ति में परिवहन का कोई व्यवधान आ रहा है तो इसका भी आंकलन कर लें। परिवहन का कोई संकट है तो मुख्य विकास अधिकारी से संपर्क कर उचित समाधान कराएं। यदि ग्रामीण बाजारों में दुकानें बंद हैं तो उनको खुलवाने का प्रयास किया जाए। एसडीएम और प्रभारी निरीक्षक से मदद ली जाए। फुटकर विक्रेता अपनी दुकानें खोलने को तैयार न हो तो किसी स्थल का चयन कर मोबाइल वाहन के माध्यम से सब्जी आपूर्ति की व्यवस्था की जाए। कोताही न बरती जाए। इसी प्रकार गल्ला और दवा की थोक दुकानों की भी जांच के निर्देश दिए गए हैं।
... और पढ़ें

मिला एक और संदिग्ध, मेडिकल कालेज में भर्ती

आजमगढ़। स्वास्थ्य महकमे ने एक और कोरोना संदिग्ध की पहचान किया है। मेंहनगर तहसील क्षेत्र के रहने वाला यह युवक दस-बारह दिन पूर्व विदेश से लौटा था। उसे राजकीय मेडिकल कालेज के आईसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया है। मेडिकल कॉलेज की टीम ने उसका सैंपल लेकर जांच के लिए भेज दिया है। जिले में अब तक 13 संदिग्ध सामने आ चुके है। जिसमें नौ की रिपोर्ट निगेटिव आ चुकी है। शेष चार संदिग्धों के रिपोर्ट का अभी इंतजार है। सीएमओ डॉ. एके मिश्रा ने बताया कि जिले में विदेश से कुल 1435 लोग आये है तो वहीं देश के अलग-अलग हिस्सों से जिले में आने वालों की कुल संख्या 8598 है। ज्यादातर लोगों की स्क्रीनिंग की जा चुकी है। जो बचे है, उनकी स्क्रीनिंग के लिए विभाग की टीम लगायी गई है। 4312 लोगों को होम क्वारंटीन में रहने का निर्देश दिया गया है। फिलहाल चार कोरोना संदिग्धों में दो राजकीय मेडिकल कालेज व दो जिला अस्पताल के आईसोलेशन वार्ड में भर्ती है।
वहीं बृहस्पतिवार को जिले में तीन नए कोरोना संदिग्ध मिले थे। इनमें से दो पिता-पुत्र हैं। जिन्हें जिला अस्पताल के आईसोलेशन वार्ड में रखा गया है। बाप-बेटा अहरौला क्षेत्र के रहने वाले है और बाप कुछ दिनों पूर्व नेपाल से लौटा है। उसकी हालत वर्तमान में अन्यंत खराब बतायी जा रही है। इस बाबत एसआईसी डॉ. एसकेजी सिंह ने बताया कि दो मरीजों में वृद्ध मरीज की हालत गंभीर है। कोरोना की जांच के लिए सेंपल भेज दिया गया है लेकिन वह टीबी का पुराना मरीज है। जिसके चलते ही उसकी स्थिति गंभीर बनी हुई है। फिलहाल आईसोलेशन वार्ड में बाप-बेटा दोनों भर्ती है। जांच रिपोर्ट आने के बाद ही उनकी स्थिति के बारे में ज्यादा कुछ बताया जा सकेगा। वहीं बृहस्पतिवार को ही मिले एक अन्य संदिग्ध राजकीय मेडिकल कालेज के आईसोलेशन वार्ड में भर्ती है। वह शहर कोतवाली क्षेत्र का रहने वाला है।
... और पढ़ें

साढ़े तीन लाख लोगों को मिलेगा मुफ्त अनाज

आजमगढ़। लॉकडाउन में रोज कमाने और खाने वालों के समक्ष भुखमरी की समस्या उत्पन्न हो गई है। सरकार की ओर से इन गरीबों को मुफ्त में राशन दिया जाएगा। ऐसे लाभार्थियों की संख्या जिले में साढ़े तीन लाख के आसपास है। गरीबों को अनाज वितरण के लिए सरकारी गोदाम से राशन का उठान शुरू हो गया है। 31 मार्च से नोडल अधिकारी के नेतृत्व में राशन वितरण होगा।
जिले में करीब एक लाख से अधिक अंत्योदय कार्डधारक हैं। इन्हें इस बार नि:शुल्क 35 किलो राशन दिया जाएगा। इसमें 20 किलो गेहूं और 15 किलो चावल है। इसके अलावा जिले में करीब छह लाख पात्र गृहस्थी कार्ड धारक हैं। इनमें से लगभग ढाई लाख लोग मनरेगा जॉब कार्ड धारक या श्रम विभाग के रजिस्टर्ड मजदूर हैं। मनरेगा मजदूरों और श्रम विभाग के रजिस्टर्ड श्रमिकों को मुफ्त राशन का लाभ मिलेगा। इन सभी को भी 35 किलो राशन दिया जाएगा। डीएम के आदेश पर मनरेगा और श्रम विभाग से मजदूरों का आंकड़ा मांगा गया है। ब्लाक स्तर पर सूची तैयार करने का काम अंतिम समय में चल रहा।
बता दें की पूरे जिले में शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में मिलाकर कुल 22 सौ सरकारी सस्ते गल्ले की दुकान है। यहां से राशन वितरण का कार्य किया जाता है। योजना के तहत ज्यादातर कोटेदार गोदाम से राशन उठा चुके हैं। जो नही उठाए हैं उन्हें जल्द से जल्द राशन का उठान करने का निर्देश दिया गया है। ताकि 31 मार्च से हरहाल में राशन का वितरण शुरू हो सके।
22 सौ तैनात किए जाएंगे नोडल अधिकारी
सरकार के आदेश पर जिला प्रशासन द्वारा गरीबों को मुफ्त में अनाज दिया जा रहा। कोटेदारों के माध्यम से बंटने वाले राशन में किसी भी प्रकार की लापरवाही न होने पाए। इसको ध्यान में रखते हुए सभी 22 सौ सरकारी सस्ते गल्ले की दुकानों पर नोडल अधिकारी नियुक्त किए जाएंगे। नोडल अधिकारियों की तैनाती के लिए ब्लाकवार सूची मांगी गयी है। सूची मिलते है ही उनकी ड्यूटी लगायी जाएगी। गरीबों को बंटने वाले राशन का भुगतान डीएम को करना है। इसलिए पूरी तरह से पारदर्शिता बरती जाएगी।
मशीन न चलने पर रजिस्टर में दर्ज होगा
सभी कोटेदारों के यहां से राशन लेने वालों का पूरा रिकार्ड इलेक्ट्रानिक मशीन में मौजूद है। आधार कार्ड के जरिए इनका अंगूठा लगाने के बाद राशन दिया जाएगा। जिन स्थानों पर नेटवर्क या अन्य किसी गड़बड़ी की वजह से राशन वितरण में परेशानी हुई तो। पूरा विवरण नोडल अधिकारी के समक्ष रजिस्टर में दर्ज होगा ताकी पारर्दिता बनी रहे।
मुफ्त में 35 किलों अनाज पाने वाले ज्यादातर लोगों की सूची तैयार हो गयी है। लगभग साढ़े तीन लाख से अधिक लोगों को यह लाभ मिलेगा। 31 मार्च से वितरण शुरू हो जाएगी। देवमणि मिश्रा, डीएसओ, आजमगढ़
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं
deshara coopan
Badhai coopan
DIWALI COOPAN
DIWALI COOPAN

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us