विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus in Uttar Pradesh Live Updates: यूपी में एक दिन में 14 नए मरीज, अब तक 65 लोग कोरोना संक्रमित

यूपी में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। शनिवार को एक ही दिन 14 नए मरीज सामने आने के साथ ही प्रदेश में संक्रमितों की संख्या 65 हो गई है।

28 मार्च 2020

विज्ञापन

Sp baghpat said

28 मार्च 2020

विज्ञापन

बहराइच

रविवार, 29 मार्च 2020

यूपी: विदेश से बहराइच लौटे 116 लोग लापता, मोबाइल नंबरों की हो रही है ट्रैकिंग

यूपी सरकार कोरोना वायरस के संक्रमण रोकने लिए हरसंभव प्रयास कर रही है लेकिन संक्रमण झेल रहे देशों से वापस घर लौटे लोग शासन प्रशासन की चिंता बढ़ा रहे हैं।

बहराइच जिले में विदेश से लौटे 190 लोगों में से 16 लोगों को स्वास्थ्य विभाग एवं जिला प्रशासन अभी तक नहीं तलाश सका है। इन लोगों की तलाश के लिये शासन को सूचना भेजी गयी है।

विदेशी यात्रियों की निगरानी कर रहे मुख्य राजस्व अधिकारी (सीआरओ) प्रदीप यादव ने गुरुवार को बताया कि विदेश से आए सभी 16 लापता लोगों की तलाश में स्थानीय पुलिस और अभिसूचना इकाई को लगाया गया है और सरकारी रिकार्ड में मौजूद इनके मोबाइल नंबरों की ट्रैकिंग की जा रही है।

सीआरओ ने कहा कि ऐसा लगता है कि इन लोगों ने अपना पासपोर्ट तो बहराइच के पते से बनवाया होगा लेकिन बाद में ये कहीं और जाकर बस गए होंगे । उन्होंने कहा कि विदेश यात्रा से भारत वापस आने पर संभवतः ये बहराइच आए ही नहीं होंगे।

इस संबंध में जिले के मुख्य चिकित्साधिकारी डॉक्टर सुरेश सिंह ने बताया कि कोरोना वायरस को लेकर जारी अलर्ट के बाद से आव्रजन विभाग से प्राप्त सूचना के आधार पर चीन, थाईलैंड, दुबई, ईरान, सऊदी अरब, सिंगापुर, मलेशिया, कुवैत, मस्कट और शारजाह सहित विभिन्न देशों से भारत पहुंचे 190 ऐसे लोगों की सूची बनाई गई है जिनके पासपोर्ट में बहराइच निवास दर्ज है।
... और पढ़ें

24 घंटे बाद मिला नदी में डूबे युवक का शव

जरवल (बहराइच)। नासिरगंज के निकट घाघरा नदी में मंगलवार को 25 युवक स्नान करते वक्त डूबने लगे थे। 23 ने तैैरकर जान बचाई। जबकि एक युवक की मौत हो गई थी और एक युवक लापता हो गया था। बुधवार को गोताखोरों ने उसकी लाश बरामद कर ली। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।
जरवलरोड थाना अंतर्गत नासिरगंज के निकट घाघरा नदी में तीन मोहल्लों के लगभग 25 लोग मंगलवार को स्नान कर रहे थे। स्नान करते समय सभी डूबने लगे। 23 लोगों ने तैरकर जान बचा ली थी। जबकि जरवल नगर के मोहल्ला कटरा निवासी 19 वर्षीय रफी पुत्र नबी की मौत हो गई। जबकि कटरा उत्तरी निवासी मोहम्मद अजीज (18) पुत्र मोहम्मद कलीम लापता था।
बुधवार को पुलिस की मदद सेे गोताखोरों ने लाश बरामद की। इससे परिवार में कोहराम मच गया। प्रभारी निरीक्षक बृजेंद्र पटेल ने बताया कि मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। मुआवजे की कार्रवाई तहसील प्रशासन पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद करेगा।
... और पढ़ें

सशस्त्र सीमा बल के कमांडेंट ने किया सीमा का निरीक्षण

रुपईडीहा (बहराइच)। भारत-नेपाल सीमा पर सशस्त्र सीमा बल के कमांडेंट प्रवीन कुमार ने बुधवार को निरीक्षण किया। उन्होंने जवानों को सजगता बनाए रखने के निर्देश दिए। वहीं प्रधानमंत्री द्वारा 21 दिनों के लिए लॉकडाउन के अंतर्गत दिए गए दिशा-निर्देशों का पालन करने संबंधी बातों की जवानों को जानकारी भी दी।
रुपईडीहा बीओपी पर तैनात सहायक कमांडेंट सुकुमार देववर्मन ने जवानों को मुस्तैदी से सीमा पर ड्यूटी करने के लिए लगाया है। भारत-नेपाल सीमा पर स्वयं भी अपनी नजरें बनाए रखें हुए हैं। बार्डर के गेट के पास जवानों की एक टुकड़ी को दिशा-निर्देशों के साथ ड्यूटी पर लगाया गया है। नेपाल में भी इन दिनों कोरोना को लेकर कर्फ्यू लगाया गया है।
भारत और नेपाल, दोनों देशों में कोरोना को लेकर स्थानीय अधिकारियों की पैनी नजर बनी हुई है। नेपाल के बांके के जिलाधिकारी कुमार बहादुर खड़का द्वारा यह बताया जा चुका है कि भारत-नेपाल सीमा पर केवल मालवाहक वाहनों का ही आवागमन हो सकेगा। एंबुलेंस व सरकारी महकमे से जुड़े लोगों का आवागमन जो आवश्यक है वही किया जाएगा।
अनावश्यक रूप से किसी भी प्रकार का आवागमन नहीं होने दिया जाएगा। कोरोना की भयावह स्थिति को देखते हुए इस प्रकार के कदम उठाने की आवश्यकता पड़ी है। कोरोना की चपेट में भारत व नेपाल ही नहीं पूरा विश्व आ चुका है।
... और पढ़ें

बहराइच की राजनीति के पितामह थे बेनी बाबू

बहराइच। पूर्व केंद्रीय मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा को बहराइच की राजनीति में पितामह का स्थान हासिल था। केंद्र में रहने के बाद भी वह बहराइच की जमीनी राजनीति से हमेशा से जुड़े रहे। उनके अचानक निधन की सूचना से करीबी लोगों में शोक की लहर दौड़ गई है। बेनी बाबू कैसरगंज लोकसभा क्षेत्र से लगातार चार बार सपा के टिकट से सांसद रहे थे।
पूर्व केंद्रीय मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा मूल रूप से बाराबंकी के रहने वाले थे। मगर उनका राजनीतिक कार्य क्षेत्र हमेशा बहराइच रहा। वह कैसरगंज लोकसभा क्षेत्र से समाजवादी पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ते थे। वर्ष 1996 से लेकर वर्ष 2004 तक वह सपा से चुनाव लड़े और सांसद निर्वाचित हुए। इसके बाद वर्ष 2009 में होने वाले लोकसभा चुनाव में उन्होंने कांग्रेस का दामन थाम लिया और कांग्रेस के टिकट से गोंडा से चुनाव जीतने के बाद केंद्र सरकार में इस्पात मंत्री बने।
केंद्रीय मंत्री बनने के बाद भी वह बहराइच की राजनीति से कभी अलग नहीं हुए। यहां पर जरवलरोड और रिसिया में स्टील फैक्ट्री की नींव रखी। केंद्रीय दूरसंचार मंत्री रहते हुए उन्होंने बहराइच में जगह-जगह बीएसएनएल के कार्यालयों को खोलने की दिशा में काम किया। जिससे गांव-गांव तक संचार की सेवाएं पहुंच सकीं। जब उनके निधन की सूचना बहराइच के लोगों को मिलीतो करीबी लोगों में शोक की लहर दौड़ गई।
एसकेडी का किया गठन
वर्ष 2005 में सपा की सरकार उत्तर प्रदेश में बनने के बाद टकराव के हालात पैदा हो गए थे। बहराइच के महसी निवासी रामभूलन वर्मा हत्याकांड ने भूचाल ला दिया था। जिसके बाद सपा से अलग होकर बेनी वर्मा ने समाजवादी क्रांति दल का गठन कर लिया था। वह वर्ष 2007 में हुए चुनाव में खुद अयोध्या सीट से चुनाव लड़े थे। जबकि सपा के उम्मीदवारों के खिलाफ भी पूूरे प्रदेश में प्रत्याशी उतारे थे। हालांकि करारी शिकस्त के बाद एसकेडी का अस्तित्व संकट में आ गया। वह कांग्रेस में चले गए। जिस पर पार्टी ही खत्म हो गई।
मां की ननिहाल में हुए थे पैदा
पूर्व मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा का जन्म शिवपुर ब्लॉक जिला बहराइच के गांव मटेरा कला में हुआ था। ये बहुत कम लोग जानते हैं। ज्यादातर लोग बाराबंकी के सिरौली गौसपुर को ही जानते हैं। मटेरा कला में उनकी माता का ननिहाल था। जिसके कारण उस गांव से उन्हें बहुत लगाव था। उनकी मृत्यु की सूचना पर पूरे गांव में शोक की लहर है। यह जानकारी उसी गांव के निवासी उनके बेहद करीबी और उनके सांसद प्रतिनिधि रह चुके सपा के वरिष्ठ नेता जितेंद्र पाण्डेय और उनके पुत्र समाजवादी लोहिया वाहिनी के प्रदेश सचिव अजितेश पांडेय मनी ने दी। अजितेश ने बताया काॉ पूरा गांव उनके निधन से शोक में डूबा हुआ है।
... और पढ़ें

एसपी साहब! भूखे हैं हम लोग, जाना चाहते हैं घर

बहराइच। फखरपुर थाने के सामने थक हारकर बैठे लगभग 40 लोगों को जब कोई सहारा नहीं मिला तो एसपी को फोन करके मदद की गुहार लगाई। एसपी ने सूचना को संज्ञान में लेकर थानाध्यक्ष के माध्यम से तत्काल सभी को जलपान कराया और रोडवेज एआरएम से बात करके रोडवेज बस बुलवाकर सभी को उनके गंतव्य भेजवाया। एसपी की पहल पर बाहर से आए व जाने वाले लगभग दो सौ लोग अपने घर पहुंच गए।
कोरोना के बढ़ते प्रकोप के बाद लॉक डाउन होते ही हर कोई अपने घर जाने के लिए पैदल ही निकल पड़ा है। श्रावस्ती जनपद के इकौना निवासी लगभग 40 लोग लॉकडाउन के बाद झांसी के लिए पैदल ही रवाना हुए। शनिवार दोपहर को जब वह बहराइच के फखरपुर थाने के पास पहुंचे तो थक हारकर बैठ गए। भूख के मारे बच्चे रो रहे थे। इसी दौरान रास्ते ही निकल रहे राहगीरों ने रोने की आवाज सुनी तो रोने का कारण पूछा।
उसमेें से एक ने कहा कि इस जिले के एसपी से मेरी बात करा दीजिए। राहगीर ने एसपी से बात कराई तो ग्रामीण फफक पड़ा और बोला, एसपी साहब! हम लोग भूखे हैं। अपने घर जाना चाहते हैं। आप हम लोगों की मदद कर दीजिए। एसपी ने तत्काल फखरपुर थानाध्यक्ष एके सिंह को सहायता करने के निर्देश दिए। थानाध्यक्ष ने सभी को जलपान कराया। तब तक एसपी की पहल पर रोडवेज से रूपईडीहा डिपो बस आ गई और सारे ग्रामीण बस पर बैठकर अपने घर के लिए रवाना हो गए।
उधर, देहात कोतवाली क्षेत्र के हरियाली रिसॉर्ट के पास पैदल आ रहे 70 लोगों व डीसीएम से 49 लोगों को रोककर पूछा गया तो लोगो ंने बताया कि वे महाराष्ट्र से आ रहे हैं। जिस पर सीओ नगर त्रयम्बक नाथ दुबे ने सभी लोगों को डॉक्टरों की टीम बुलवाकर जांच कराई। बिस्किट व लंच पैकेट की व्यवस्था कराई। सभी को बस की व्यवस्था कर उनके गंतव्य स्थान को रवाना कराया।
वाहन न मिला तो ठेलिया से आ गया परिवार
दिल्ली में बंदी के बाद जब एक परिवार को वाहन नहीं मिला तो वह अपने दो छोटे बच्चों समेत छह लोग ठेलिया पर बैठकर दिल्ली से श्रावस्ती जिले के इकौना के लिए चल दिया। पांच दिनों में वह बहराइच पहुंचा है। शनिवार देर रात तक वह अपने घर पहुंच जाएगा।
सहायता चाहिए तो करिए फोन
अगर आप बहराइच के किसी कस्बे में लॉकडाउन में फंसे हुए है तो घबराने की जरूरत नहीं है। आरएसएस के जिला प्रचारक ने अपनी टीम तैयार की है। उन्होंने अपील कीहै कि जरूरत पड़ने पर जिला प्रचारक राहुल 8009623534, जिला शारीरिक शिक्षण प्रमुख आलोक कुमार पाठक 8381821982, लव कुमार खंड कार्यवाह रिसिया 9721106767, हनुमान नगर कार्यवाह नानपारा नगर ़919125613918, अरुण कुमार बाबागंज ़ 919451784921, अनिल कुमार, दीपक खंड व्यवस्था प्रमुख बाबागंज ़917991247776 पर फोन करके अपनी समस्या बता सकते है।
... और पढ़ें

जेब में 1200 रुपये बचे थे, न आते तो भूख से मर जाते

बहराइच। रात के आठ बजे थे। हम लोग कंपनी में काम कर रहे थे। अचानक कंपनी के मालिक आए और बोले कि काम बंद करो। आज से काम नहीं होगा। आप लोग अपने घर जाओ। जाने के लिए किराया मांगा तो बोले कि जब पहले से कंपनी घाटे में चल रही है तो रुपये कहां से लेकर आएं। इतना कहने के बाद हम लोगों को कंपनी के बाहर कर दिया गया। दो दिन रुक कर वहां रहने के लिए व्यवस्था ढूंढते रहे। जब कोई व्यवस्था व काम नहीं मिला तो मजबूरन ट्रक के पीछे लटक कर आना पड़ा। अगर न आते तो हम लोगों को भूखे मर जाना पड़ता। क्योंकि हम लोगों की जेब में मात्र 1200 रुपये बचे थे। यह आपबीती दिल्ली से आए पांच युवकों ने बहराइच से गोंडा जाते समय सुनाई।
कोरोना को रोकने केे लिए पीएम ने देश को लॉकडाउन किया तो गरीब तबके के लोग इसकी चपेट में आ गए। पीएम की अपील के बाद भी प्राइवेट कंपनी के मालिकों ने अपने यहां काम करने वाले लोगों को अपने घर बिना किसी संसाधन के भेज दिया। ऐसी कुछ आपबीती बताई, गोंडा जिले के बेदौरा बाजार निवासी सैयद अली, नूरूल हसन, शकील अहमद व शफीक अली ने। सैयद ने बताया कि वह दिल्ली के नोहरा में प्लेट बनाने के कंपनी में काम करता था।
चार दिन पहले मालिक ने बिना रुपये व संसाधन दिए अपने घर जाने की बात कहकर कंपनी बंद कर दी। हम चारों लोगों ने दो दिन दिल्ली में काम व रहने की व्यवस्था ढूंढी तो सबने मना कर दिया। हम लोगों के पास ज्यादा पैसे भी नहंी थे। किसी के पास 1200 रुपये तो किसी के पास मात्र पांच सौ रुपये थे। आने-जाने के सारे रास्ते बंद थे। अब एक ही रास्ता था। कि किसी वाहन से लिफ्ट मांग कर आने का। दिल्ली में कोई रोका नहीं तो एक ट्रक के पीछे लटक कर हम लोग बरेली पहुंच गए। वहां से एक ट्रक बहराइच आ रहा था तो शनिवार को बहराइच आ गए। अब यहां कोई साधन नहीं है तो पैदल ही अपने घर जा रहे हैं। अगर वहां से आते न तो हम लोगों को भूखे मर जाना पड़ता।
दुकानें बंद थीं, इसलिए भूखे रहना पड़ा
जब हम लोग दिल्ली से चले तो सड़कों पर सन्नाटा था और दुकानें सब बंद थीं। इसलिए हम लोगों को भूखे रहना पड़ा। शनिवार को बहराइच पहुंचे हैं। यहां से अब घर ज्यादा दूर नहीं बचा है। घर पहुंचकर पेट भर के खाना खाएंगे। दिल्ली से बहराइच पहुंचे चार युवकों ने कहा कि जब से काम छूटा है तब से सिर्फ दिमाग में एक ही बात याद आ रही है कि जल्दी से अपने परिवार के बीच में पहुंच जाऊं। परिवार को देखने के लिए आंखें तरस गई हैं।
... और पढ़ें

जरूरी सामान अधिक दामों पर बेचा तो होगी कार्रवाई

बहराइच। लॉकडाउन के दौरान जिला प्रशासन द्वारा जरूरी सामानों को बेचे जाने की व्यवस्था तय की गई है। मगर कुछ स्थानों से सामानों को अधिक दामों पर बेचे जाने की शिकायत सामने आने के बाद डीएम ने सख्त रुख अपनाया है। डीएम ने कालाबाजारी करने और अधिक पैसे लेने पर कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी है।
लागू की गई लॉकडाउन अवधि में जनसामान्य को आवश्यक खाद्य सामग्री व दैनिक उपयोग की वस्तुयें उचित मूल्य पर उपलब्ध कराये जाने तथा मुनाफाखोरी को रोके जाने के दृष्टिगत जिलाधिकारी शंभु कुमार द्वारा थोक एवं फुटकर मूल्यों का निर्धारण कर दिया गया है। साथ ही सभी को सचेत किया गया है कि निर्धारित मूल्य से अधिक मूल्य पर बिक्री किये जाने पर कठोर कार्रवाई की जाएगी।
जिलाधिकारी द्वारा चावल थोक 2200-3000 रुपये प्रति क्विंटल व फुटकर 2500-3500, उर्द दाल थोक 7000-8000, फुटकर 8200-8500, अरहर दाल थोक 7000-8200 व फुटकर 7500-8500, मसूर दाल थोक 7000-8200 व फुटकर 7500-8500, चना दाल थोक 5500-6500 व फुटकर 6500-7000, मटर दाल थोक 6000-7000 व फुटकर 7000-8000, आटा (गेहूं) थोक 2500 व फुटकर 2600, गेहूं थोक 2000-2100 व फुटकर 2000-2200 रुपये प्रति क्विंटल बेचा जाएगा।
आलू थोक 1900-2100 व फुटकर 2500-2700, प्याज थोक 1900-2100 व फुटकर 2300-2800, लहसुन थोक 6000-7500 व फुटकर 8000-8500, टमाटर थोक 2000 व फुटकर 2500, मक्का थोक 1500 व फुटकर 1600, सरसों थोक 3200 व फुटकर 3400, मसूर थोक 6200, फुटकर 6400, चना थोक 4000, फुटकर 4500, धान थोक 1400 व फुटकर 1500-1600, बेसन थोक 8000 व फुटकर 8500, सूजी थोक 2700 व फुटकर 3000, चावल कामन थोक 2300 व फुटकर 2500, राजमा थोक 8000 व फुटकर 8500, सरसों तेल थोक 12000 व फुटकर 13000, रिफाईण्ड थोक 10000 व फुटकर 11000, गुड़ थोक 3100 व फुटकर 3200 व चीनी थोक 4000 व फुटकर 4200 रुपये प्रति क्विंटल दर निर्धारित की गई है।
फलों व दूध के रेट भी किए तय
जिलाधिकारी शंभु कुमार ने फलों के लिए भी प्रति किलो थोक व फुटकर बिक्री दर निर्धारित की गई है। सेब थोक 80 व फुटकर 100, सन्तरा थोक 20 व फुटकर 25, अंगूर थोक 50 व फुटकर 60 रुपये प्रति किलो दर तय की गई है। जबकि दूध फुल क्रीम 56 रुपये प्रति लीटर, टोण्ड मिल्क 46 रुपये प्रति लीटर तथा लूज मिल्क के लिए 44 रुपये प्रति लीटर की दर निर्धारित की गई है।
... और पढ़ें

लोगों ने कंट्रोल रूम में फोन कर बताई समस्या

बहराइच। हेलो कंट्रोल रूम... मैं छावनी बाजार से बोल रहा हूं, आज चौथा दिन हो गया और हमारे मोहल्ले में सब्जी वाला नहीं है...। मैं डीएम कॉलोनी से बोल रहा हूं। जो लिस्ट डीएम कार्यालय से पास हुई है। उससे अधिक रेट पर ठेले वाले फल बेच रहे है...। हेलो साहब! मेरे घर में कुट्टु़ का आटा खत्म हो गया है। दुकान पर मिल नहीं रहा है? आटा दिलवा देंगे? कुछ ऐसे ही समस्याएं कंट्रोल रूम में लोगों ने फोन करके बताईं। कंट्रोल रूम में बैठे अधिकारियों ने जवाब दिया कि आप परेशान न हों। आपकी समस्या को नोट कर लिया गया है। जल्द ही आपके पास टीम के लोग पहुंचकर आपकी समस्या दूर करेंगे।
देश में बढ़ रहे कोरोना के प्रकोप को देखते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने पूरे देश को लॉकडाउन कर दिया। लॉकडाउन के दौरान बहराइच में किसी को भी कोई समस्या न हो। इसके लिए मेडिकल कॉलेज परिसर में स्थित सीएमओ कार्यालय सभागार में कंट्रोल रूम बनाया गया है। इसमें तीन शिफ्ट में अधिकारियों व कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई जा रही है। कंट्रोल रूम के प्रभारी सीआरओ प्रदीप कुमार यादव व पीडी अनिल सिंह को बनाया गया है।
सीआरओ ने बताया कि अधिकतर कालें मोहल्ले में सब्जी वाले नहीं आए हैं। फोन मिलाया जा रहा है तो लगातार बिजी बता रहा है जैसी शिकायतें आ रही हैं। शिकायतों के निस्तारण के लिए गठित की गई टीमों को अवगत कराया जाता है। टीमें पीड़ित परिवार या लोगों के पास पहुंचकर उनकी समस्या का समाधान कराती हैं। शनिवार को ऐसी लगभग दो सौ शिकायतें आईं।
एक शिफ्ट में हैं नौ कर्मचारी
कंट्रोल रूम में शिकायतों के निस्तारण के लिए तीन शिफ्ट में बांटा गया है। पहला शिफ्ट सुबह सात बजे से दोपहर तीन बजे तक। दूसरा शिफ्ट तीन बजे से रात 10 बजे तक और तीसरा शिफ्ट रात 10 बजे से सुबह सात बजे तक। हर शिफ्ट में नौ कर्मचारी तैनात हैं। जो समस्याएं सुनकर नोट करते हैं और संबधित मोहल्ले में अधिकारी को बताकर समस्या के समाधान केे लिए तैनात अधिकारी को अवगत कराते है।
... और पढ़ें

लॉकडाउन में दवा खरीदने को लग रही एक किलोमीटर की लाइन

बहराइच। लॉकडाउन के तीसरे दिन बाजारों में पूरी तरह से सन्नाटा पसरा दिख रहा है। दवा खरीदने के लिए एक किलोमीटर तक की लाइन दिख रही है। वहीं दूध, सब्जी, फल व जरूरत के सामान की आपूर्ति कराने में प्रशासन लगा हुआ है। कोरोना की जंग में जिलेवासी भी एकजुट दिखाई दे रहे हैं। चौराहों पर लगे पुलिस कर्मी हर आने-जाने वाले पर नजर रख रहे हैं। बिना पूछताछ किसी को भी प्रवेश नहीं दिया जा रहा है।
कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए केंद्र सरकार ने 21 दिनों का लॉकडाउन घोषित कर रखा है। लॉकडाउन घोषित होने के बाद हर जगह पुलिस कर्मी मुस्तैद कर दिए गए हैं। जिले की सीमाओं को सील कर रखा गया है। जरूरी सामानों की आपूर्ति में लगे वाहनों को ही प्रवेश दिया जा रहा है। उधर मेडिकल स्टोरों पर बदलते मौसम व बीमारी के कारण दवा लेने वालों की कतार भी लगी हुई देखी जा रही है।
शहर के हीरा सिंह मार्केट स्थित अरविंद मेडिकल स्टोर पर शुक्रवार को सुबह से एक किलोमीटर तक की कतार लगी रही। जिसको नियंत्रित करने के लिए पुलिस को भी लगाना पड़ा। वहीं प्रशासन द्वारा शहर व कस्बों के हर मोहल्लों में ठेलों के माध्यम से सब्जी व फल की आपूर्ति कराई जा रही है। किराना की दुकानों से घरों में जरूरी सामान और पराग, लक्ष्मी डेयरी, मदर डेयरी आदि के माध्यम से घर-घर तक दूध की आपूर्ति भी कराई जा रही है।
जिले के सभी स्वयंसेवी संगठनों द्वारा लॉकडाउन में लोगों तक भोजन पहुंचाने की पहल की जा रही है। लोगों के लिए पका भोजन और सूखे राशन के पैकेट उपलब्ध कराने के लिए अपर जिलाधिकारी जयचंद्र पांडेय के मोबाइल नंबर 9454417606 व सीवीओ डॉ. बलवंत सिंह के मोबाइल नंबर 9450451956 पर संपर्क किया जा सकता है। इन दोनों लोगों को नोडल अधिकारी नामित किया गया है।- शंभु कुमार, जिलाधिकारी, बहराइच
मटेरा बाजार के श्री आनंद जन सेवा संस्थान की टीम द्वारा मजदूरों को खाद्य सामग्री का वितरण किया गया है। संस्थान के अध्यक्ष व अखिल भारतीय ब्राह्मण युवक एकता परिषद के विवेक शुक्ला व अभय प्रताप शुक्ला द्वारा क्षेत्र के 50 मजदूर परिवारों को चावल, दाल, आटा, चीनी, नमक आदि के पैकेट का वितरण किया गया। साथ ही साबुन, हैंडीप्लास्ट व दस्ताने भी बांटे गए। इस दौरान गोलू गुप्ता, राजा गुप्ता, प्रदीप कश्यप, कमल ठाकुर, विकास गुप्ता, अमन गुप्ता आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

दिल्ली व लखनऊ से आए 13 लोगों की चिकित्सकों ने की जांच

जिले में विभिन्न क्षेत्रों से आए 10 हजार लोग: डीएम

जिलेे में विभिन्न क्षेत्रों से आए 10 हजार लोग : डीएम
बहराइच। जिलाधिकारी शंभु कुमार ने बताया कि जिले में लगभग 10 हजार लोग उत्तर प्रदेश के साथ अन्य प्रदेशों से आए हैं। इनकी लिस्ट तैयार करवाई गई है। चिकित्सकों की टीम नगर व ग्राम पंचायतवार पहुंचकर इनकी सेहत जांच रही है। संदिग्ध लोगों का सैंपल जांच के लिए लखनऊ भेजा जा रहा है। सभी लोग सजग रहें, यह बहुत ही जरूरी है।
जिलाधिकारी शंभु कुमार ने शुक्रवार को बताया कि जिले में मजदूरों के साथ प्राईवेट कंपनी में काफी संख्या में लोग उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों के अलावा दिल्ली, मुंबई, राजस्थान व गुजरात में काम कर रहे हैं। ऐसे में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए सरकार ने लॉकडाउन की घोषणा की है। लॉकडाउन को देखते हुए सभी लोग जिले में वापस आ रहे हैं।
डीएम ने बताया कि लगभग 10 हजार लोग जिले में आए हैं। इनकी लिस्ट नगर व ग्राम पंचायतवार मिल गई है। चिकित्सकों की टीम को लिस्ट दे दी गई है। स्वास्थ्य टीम गांव जाकर इन सभी लोगों की जांच कर रही है। हालांकि जांच में सभी का स्वास्थ्य ठीक मिल रहा है। ऐसे में जिले के लोग जागरूक रहें। लॉकडाउन के समय घर से बाहर न निकलें। प्रशासन का पूरा सहयोग करें।
... और पढ़ें

मुंबई से फखरपुर पहुंचे 30 लोग, पुलिस ने पकड़ा

फखरपुर (बहराइच)। मुंबई से वाहन से 30 लोग गुरुवार को फखरपुर पहुंचे। यहां पर पुलिस ने वाहन को रोक लिया। सभी को थाना लाया गया। पुलिस की सूचना पर पहुंची स्वास्थ्य टीम ने उन सभी की जांच की। इनमें छह लोगों को होम आइसोलेट रहने के लिए शपथ भरवाया गया। इसके बाद सभी को गंतव्य के लिए रवाना किया गया।
महाराष्ट्र की बस से 30 लोग लखनऊ होते हुए फखरपुर पहुंचे। यहां पर प्रभारी निरीक्षक अशोक कुमार सिंह की अगुवाई में पुलिस टीम ने वाहन की जांच की तो उसमें कई लोग सवार मिले। इस पर प्रभारी निरीक्षक सभी को लेकर थाने पहुंच गए। मुंबई से 30 लोगों के आने की सूचना कंट्रोल रूम को दी। इस पर चिकित्सकों की टीम सीएचसी अधीक्षक डॉ. प्रत्यूष सिंह टीम के साथ पहुंचे। उन्होंने सभी लोगों की स्वास्थ्य जांच की।
डॉ. प्रत्यूष ने बताया कि छह लोग मुंबई के भिवंडी बाजार में काम कर रहे थे। भिवंडी में कोरोना फैला है। ऐसे में छह लोगों को 14 दिन होम आइसोलेट के लिए शपथ पत्र भरवाया गया। इन सभी को 14 दिन घर पर रहने की सलाह दी गई। चिकित्सीय जांच के बाद सभी को गंतव्य के लिए रवाना कर दिया गया।
... और पढ़ें

आग लगने से 18 घर जले

उर्रा (बहराइच)। गड़रियनपुरवा में गुरुवार दोपहर में अज्ञात कारणों से आग लग गई। ग्रामीण जब तक आग बुझाने की कोशिश करते, तब तक लपटों ने अन्य मकानों को आगोश में ले लिया। इससे 18 घर जलकर राख हो गए। एक मवेशी की झुलसकर मौत हो गई। ग्रामीणों ने दो घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। अग्निकांड में लगभग 10 लाख की संपत्ति का नुकसान हुआ है। पुलिसकर्मियों ने मौके का मुआयना कर रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को भेज दी है।
मोतीपुर तहसील अंतर्गत ग्राम गड़रियनपुरवा में दोपहर में लोग बैठे थे। इसी दौरानगांव निवासी हरद्वारी के घर में अज्ञात कारणों से आग लग गई। ग्रामीण जब तक आग बुझाने की कोशिश करते, तब तक लपटों ने पड़ोसी मोंगरे, रामनाथ, रामनरेश, विश्राम, गोविंद, सुनेसर, मायाराम, राम मूरत, मनोहर, तीरथराम समेत 18 ग्रामीणों के मकान को आगोश में ले लिया। पछुवा हवा के कारण आग ने विकराल रूप ले लिया।
देखते ही देखते 18 ग्रामीणों के मकान पूरी तरह जलकर राख हो गए। एक मवेशी की झुलसकर मौत हो गई। लोगों ने सूचना तहसील व पुलिस को दी। आग लगने की सूचना पाकर प्रभारी निरीक्षक जेएन शुक्ला, चौकी इंचार्ज हरीश कुमार सिंह पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे।
ग्रामीणों ने दो घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। अग्निकांड में लगभग 10 लाख की संपत्ति का नुकसान हुआ है। इस मामले में उपजिलाधिकारी ज्ञानप्रकाश त्रिपाठी ने बताया कि आग लगने की सूचना मिली है। लेखपालों को गांव भेजा गया है। क्षति रिपोर्ट मिलने के बाद मुआवजे की कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us