विज्ञापन
विज्ञापन
घर बैठें निशुल्क जन्मकुंडली बनवाने हेतु अभी क्लिक करें !
Kundali

घर बैठें निशुल्क जन्मकुंडली बनवाने हेतु अभी क्लिक करें !

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

तीन स्कूलों में लटकता मिला ताला, समस्त स्टॉफ का रुका वेतन व मानेदय

बलरामपुर। बीएसए डॉ. रामचंद्र ने श्रीदत्तगंज शिक्षा क्षेत्र के सात स्कूलों का 20 अक्तूबर को औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान तीन स्कूलों में ताला लटकता मिला। समस्त स्टॉफ का वेतन व मानदेय अग्रिम आदेश तक के लिए रोक कर जवाब तलब किया गया है। बीएसए ने निरीक्षण के दौरान स्कूलों में मौजूद शिक्षकों व अन्य स्टॉफ को आवश्यक दिशा निर्देश दिया।
बीएसए ने बुधवार को बताया कि प्राथमिक विद्यालय महदेइया मोड़ श्रीदत्तगंज, उच्च प्राथमिक विद्यालय महदेइया मोड़ श्रीदत्तगंज व प्राथमिक विद्यालय अगयाबुजुर्ग श्रीदत्तगंज में निरीक्षण के दौरान ताला लटकता पाया गया।
प्राथमिक विद्यालय में कार्यरत शिक्षिका सुप्रिया द्विवेदी को छोड़कर अन्य सभी स्टॉफ का वेतन एवं मानदेय अग्रिम आदेश तक के लिए रोक दिया गया है। उच्च प्राथमिक विद्यालय महदेइया मोड़ के सभी स्टॉफ का वेतन और मानदेय रोका गया है। प्राथमिक विद्यालय अगया बुजुर्ग के शिक्षक कमाल अहमद व शिक्षिका ऊषा मिश्रा का वेतन अग्रिम आदेश तक के लिए रोका गया है। तीनों स्कूलों के समस्त स्टाफ से तीन दिन में जवाब तलब किया गया है। प्राथमिक विद्यालय मन्नीपुरवा में शिक्षक पुष्पेंद्र प्रताप सिंह व शिक्षिका प्रतिमा सिंह को विलंब से उपस्थित होने पर तीन दिन में जवाब तलब किया गया है।
उच्च प्राथमिक विद्यालय गुमड़ी में निरीक्षण के दौरान सभी व्यवस्थाएं ठीकठाक पाई गई। प्राथमिक विद्यालय पासीपुरवा में हेडमास्टर अजय शंकर वाजपेयी से 19 अक्तूबर से 20 अक्तूबर तक गायब रहने के चलते अग्रिम आदेश तक वेतन रोक दिया गया है। बिना किसी पूर्व सूचना के शिक्षक शिवा सिहं व कौशल किशोर सिंह से जवाब तलब किया गया है। प्राथमिक विद्यालय गुमड़ी में स्कूल की रंगाई पुताई कराने का निर्देश दिया गया है। प्राथमिक विद्यालय गुमड़ी में इंचार्ज हेडमास्टर के साथ साथ समस्त स्टॉफ के पदीय दायित्वों के निर्वहन में लापरवाही बरते जाने पर वेतन एवं मानदेय अग्रिम आदेश तक के लिए रोक दिया गया है।
... और पढ़ें

सूर्यकुंड में डुबकी लगाकर की मां पाटेश्वरी की पूजा

बलरामपुर। शक्तिपीठ देवीपाटन मंदिर सूर्यकुंड में डुबकी लगाकर श्रद्घालुओं ने मां पाटेश्वरी की पूजा-अर्चना की। जिले के देवी मंदिरों, पूजा-पंडालों व घरों में शारदीय नवरात्र के पाचवें दिन बुधवार को विधि-विधान के साथ मां स्कंदमाता के स्वरूप की पूजा-अर्चना की गई। श्रद्घालुओं ने बिजलीपुर मंदिर सहित जिले के प्रमुख देवी मंदिरों में भोर पहर से देर शाम तक पूजा-अर्चना की। कोविड-19 महामारी के चलते झारखंडी मंदिर में सामूहिक यज्ञ व कन्या पूजन कार्यक्रम स्थगित कर दिया गया है।
मां भगवती की पांचवी शक्ति स्कंदमाता के रूप में जानी जाती है। शारदीय नवरात्र के पांचवें दिन देवी के इसी स्वरूप की पूजा-अर्चना की गई। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार स्कंदमाता का स्वरूप नारी और मातृ शक्ति का सजीव चरित्र है। स्कंदकुमार की माता होने के कारण इनका नाम स्कंदमाता पड़ा। गणेश जी देवी के मानस पुत्र हैं और कार्तिकेय जी गर्भ से उत्पन्न हुए। तारकासुर को वरदान था कि वह शंकर जी के शुक्र से उत्पन्न पुत्र से ही मृत्यु को प्राप्त हो सकता है। इसी कारण देवी पार्वती जी का शंकर जी से मंगल परिणय हुआ। इससे कार्तिकेय पैदा हुए और तारकासुर का बध किया।
शंकर-पार्वती के मांगलिक मिलन को सनातन संस्कृति में विवाह परंपरा का प्रारंभ माना गया है। कन्यादान, गर्भधारण इन सभी की उत्पत्ति शिव और पार्वती से हुई है। शारदीय नवरात्र के पांचवें दिन शक्तिपीठ देवीपाटन मंदिर में भोर पहर से देर शाम तक मां पाटेश्वरी की पूजा-अर्चना की गई। श्रद्घालुओं ने सूर्यकुंड में स्नान किया और कतारबद्घ होकर मां पाटेश्वरी का दर्शन किया। श्रद्घालुओं ने नारियल व चुनरी चढ़ाकर देवी से परिवार की खुशहाली का आशीर्वाद मांगा। बिजलीपुर स्थित मां बिजलेश्वरी देवी मंदिर में देवी व श्रीयंत्र की पूजा के लिए दिन भर श्रद्घालुओं का तांता लगा रहा।
झारखंडी मंदिर, तुलसीपुर स्थित नई देवी मंदिर, सोहेलवा जंगल स्थित रहिया देवी मंदिर, सम्मय माता मंदिर, कालीथान, बड़की बहिनी मंदिर, उतरौला के ज्वाला महरानी मंदिर, पेहर बाजार स्थित दुर्गा मंदिर, महुआ स्थित करिया दुर्गा मंदिर में भी माता रानी की पूजा-अर्चना के लिए श्रद्घालुओं की भीड़ उमड़ी। झारखंडी मंदिर के प्रधान पुजारी लाल जी गिरि ने बताया कि प्रबंध समिति ने सर्वसम्मति से निर्णय लिया है कि कोविड-19 महामारी को रोकने के लिए शारीदय नवरात्र के अंतिम दिन मंदिर परिसर में सामूहिक यज्ञ व कन्या पूजन भोग के कार्यक्रम नहीं किए जाएंगे। एसपी देवरंजन वर्मा के निर्देश पर जिले के सभी कोतवाली व थानों की पुलिस प्रमुख देवी मंदिरों में मौजूद रहकर श्रद्घालुओं की सुरक्षा में दिन भर जुटी रही। भारत-नेपाल सीमा पर भी कड़ी चौकसी बरती गई।
... और पढ़ें

22 करोड़ से 40 डीडीसी क्षेत्रों का होगा विकास

बलरामपुर। जिले के 40 डीडीसी क्षेत्रों का चालू वित्त वर्ष में 22 करोड़ रुपये से विकास कार्य कराए जाएंगे। जिला पंचायत सभागार की बैठक में बुधवार को चालू वित्तीय वर्ष की कार्ययोजना पर मोहर लगाई गई। जिला पंचायत सदस्यों ने गुपचुप तरीके से बैठक करने का आरोप लगाया है।
बैठक की अध्यक्षता जिला पंचायत अध्यक्ष रामावती ने की। कहा कि सभी डीडीसी के क्षेत्रों में विकास कार्य कराने के लिए समान तरीके से धनराशि आंवटित किए जाएंगे। बैठक में मौजूद कई डीडीसी ने विकास कार्यो में अनदेखी किए जाने और पूरी सूचना न दिए जाने का आरोप लगाया। अध्यक्ष ने सभी सदस्यों को समझा-बुझाकर शांत कराया।
बैठक का संचालन करते हुए अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत अशरफ अली ने कहा कि वित्त वर्ष 2020-21 में 15वां वित्त आयोग के तहत टाइड व अनटाइड फंड में 1906.45 लाख रुपये आवंटित किए गए। 50 प्रतिशत धनराशि 954.25 लाख रुपये प्राप्त हो चुका है। शेष धनराशि शीघ्र मिलने वाली है। टाइड फंड के तहत 953.22 लाख स्वीकृति हुआ है जिसकी तुलना में 477.14 लाख रुपये प्राप्त हो गया है।
इस फंड से सामुदायिक शौचालयों का निर्माण व रखरखाव, किचन व बाथरूम की मरम्मत, सीवर प्रणाली का विकास, सीवेज ट्रीटमेंट की व्यवस्था, सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट, सामुदायिक कंपोस्ट किट का निर्माण, पाइप पेयजल की सुविधा, वर्षा जल संचयन व प्लास्टिक वेस्ट मैनेजमेंट आदि कार्य कराए जाएंगे। अनटाइड फंड के तहत पंचायत घर का निर्माण, डीडीसी क्षेत्रों के सड़कों का रखरखाव, इंटरलाकिंग व नाली निर्माण आदि पर खर्च किया जाएगा।
चालू वित्त वर्ष में 40 डीडीसी क्षेत्रों में 22 करोड़ रुपये विकास कार्यो पर खर्च किए जाएंगे। तुलसीपुर विधायक कैलाश नाथ शुक्ल व गैसड़ी विधायक प्रतिनिधि अजीज खां ने सभी डीडीसी को समान रुप से कार्य आवंटित किए जाने का निर्देश दिया। इस मौके पर डीडीसी पार्वती, एलीना खान, शांति, रेशमा, पुष्पा सिंह, संतोष कुमार, साधूराम यादव, मिथिलेश कुमार सिंह, महबूब आलम, कमला सिंह, जोखूराम, राम सिंगार मौर्य, शीला, प्रदीप, राम नरेश आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

डायग्नोस्टिक सेंटर के अवैध संचालन पर कसा शिकंजा

बलरामपुर। सीएचसी अधीक्षक श्रीदत्तगंज ने दल-बल के साथ महदेइया बाजार स्थित डायग्नोस्टिक सेंटरों का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान सेंटर पर न तो विशेषज्ञ डॉक्टर मिले और न सेंटर से संबंधित कोई अभिलेख ही मिला। डायग्नोस्टिक सेंटरों का संचालन अवैध मानते हुए अधीक्षक ने कार्रवाई के लिए डीएम व सीएमओ को रिपोर्ट सौंपी है।
सीएचसी अधीक्षक श्रीदत्तगंज डॉ. सुजीत पांडेय, स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी विजय प्रताप सिंह एवं बीपीएम आशुतोष शुक्ला ने शुक्रवार को महदेइया बाजार स्थित डायग्नोस्टिक सेंटर जनता एवं सविता डायग्नोस्टिक सेंटर का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान सेंटर पर कोई भी पैथालॉजिस्ट या रिपोर्ट देने वाला डॉक्टर उपलब्ध नहीं मिला। डायग्नोस्टिक सेंटर का रजिस्ट्रेशन व अन्य अभिलेख भी मौके पर उपलब्ध नहीं था।
जनता डायग्नोस्टिक सेंटर पर अल्ट्रासाउंड व एक्स-रे मशीन तथा लैब संबंधी सामान मौके पर पाए गए लेकिन अल्ट्रासाउंड करने वाले डॉक्टर मौजूद नहीं मिले। डॉक्टर व अभिलेखों के संबंध में पूछताछ करने पर कोई संतोषजनक उत्तर नहीं दिया गया। सीएचसी अधीक्षक ने बताया कि निरीक्षण के दौरान संबंधित डॉक्टर व अभिलेख न मिलने पर सेंटरों का संचालन अवैध मानते हुए कार्रवाई के लिए रिपोर्ट डीएम और सीएमओ को भेजी गई है। इस संबंध में सीएमओ डॉ. घनश्याम सिंह ने बताया कि अधीक्षक की रिपोर्ट के आधार पर अग्रिम कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

13 शिक्षकों को मिला नियुक्ति पत्र

बलरामपुर। जिले में शिक्षकों की कमी दूर करते हुए माध्यमिक के 13 शिक्षकों को तैनात किया गया है। सदर विधायक पल्टूराम, तुलसीपुर विधायक कैलाश नाथ शुक्ल, उतरौला विधायक राम प्रताप वर्मा, गैसड़ी विधायक शैलेश कुमार सिंह व डीएम कृष्णा करुणेश की मौजूदगी में शुक्रवार को कलेक्ट्रेट कार्यालय में नवनियुक्त शिक्षकों को नियुक्ति पत्र बांटा गया।
नियुक्ति पत्र वितरण कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सभी विधायकों ने कहा कि प्रदेश सरकार की तरफ से शिक्षकों की कमी को दूर करने में प्रयास किया जा रहा है। बेसिक शिक्षा के स्कूलों में शिक्षकों की तैनाती के बाद माध्यमिक स्कूलों में कमी दूर करने का प्रयास किया गया है। डीएम ने नवनियुक्त शिक्षकों को आवंटित स्कूलों में बेहतर ढंग से शिक्षण कार्य करने का टिप्स दिया जिससे युवाओं के भविष्य को संवारकर उनके योगदान को देश की प्रगति में प्रयोग किया जा सके।
डीआईओएस डॉ. चंदन पांडेय ने नियुक्ति पत्र वितरण कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि जिले के राजकीय स्कूलों में शासन ने 13 नवनियुक्त शिक्षकों को तैनात किया है जिन्हें नियुक्ति पत्र बांटा गया है। नियुक्ति पत्र पाकर नवनियुक्त शिक्षक नवनीत श्रीवास्तव, सरोज वर्मा, व अमित कुमार आदि ने खुशी जताते हुए शिक्षण कार्य पर फोकस करने का संकल्प लिया।
... और पढ़ें

प्रतिमा विसर्जन की निगरानी करेंगे 22 मजिस्ट्रेट

बलरामपुर। डीएम कृष्णा करुणेश ने प्रतिमा विसर्जन की निगरानी के लिए 22 मजिस्ट्रेटों को तैनात किया है। 24 अक्तूबर को महानवमी व 25 अक्तूबर को दशहरा मनाया जाएगा। कानून व्यवस्था को चुस्तदुरुस्त रखने और शांति बनाए रखने के लिए मजिस्ट्रेटों की तैनाती की गई है।
डीएम ने शुक्रवार को बताया कि एडीएम वित्त एवं राजस्व अरुण कुमार शुक्ल को शांति व्यवस्था का प्रभारी बनाया गया है। सदर एसडीएम डॉ. नागेंद्र नाथ यादव, उतरौला एसडीएम अरुण कुमार गौड़ व तुलसीपुर एसडीएम विनोद कुमार सिंह को तहसील क्षेत्र के प्रतिमा विसर्जन व अन्य कार्यक्रमों की निगरानी के लिए मजिस्ट्रेट के रूप में जिम्मेदारी सौंपी गई है।
बीडीओ सदर राजेश कुमार को नगर कोतवाली, तहसीलदार न्यायिक उमेश चंद्र शुक्ल को देहात कोतवाली, नायब तहसीलदार सदर अंकुर यादव को थाना ललिया, तहसीलदार सदर शेख आलमगीर को मथुरा चौकी, बीडीओ हरैया सतघरवा सागर सिंह को थाना हरैया, जिला गन्ना अधिकारी आरएस कुशवाहा को थाना महराजगंजत तराई, सीवीओ डॉ. एके सिंह को थाना क्षेत्र गौरा चौराहा में मजिस्ट्रेट के रूप में तैनाती मिली है।
तहसीलदार उतरौला रोहित कुमार मौर्य को थाना सादुल्लाहनगर, बीडीओ उतरौला दिव्या त्रिपाठी को कोतवाली उतरौला, बीडीओ श्रीदत्तगंज अशोक दूबे को चौकी महदेइया, बीडीओ गेड़ास बुजुर्ग सुमित कुमार को थाना रेहरा बाजार, तहसीलदार न्यायिक तुलसीपुर नरेंद्र राम को थाना तुलसीपुर, बीडीओ पचपेड़वा अनुज कुमार को थाना पचपेड़वा, नायब तहसीलदार पचपेड़वा कृष्ण गोपाल त्रिपाठी को कोतवाली जरवा व बीडीओ गैसड़ी सुमित कुमार सिंह को कोतवाली क्षेत्र गैसड़ी में मजिस्ट्रेट के रूप में तैनात किया गया है।
जिला युवा कल्याण अधिकारी प्रदीप कुमार तिवारी, पीडी अनिल कुमार सिंह व अपर मुख्य जिला मजिस्ट्रेट अजीत कुमार जायसवाल को रिजर्व मजिस्ट्रेट के रूप में तैनात किया गया है। डीएम ने जिले के लोगों से शांतिपूर्ण ढंग से रामनवमी व दशहरा मनाने की अपील की है। मजिस्ट्रेटों को डीएम ने निर्देश दिया है कि अपने दायित्वों का निर्वहन निष्ठा से करें। लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
... और पढ़ें

देवी कालरात्रि की पूजा की

बलरामपुर। शारदीय नवरात्र के सातवें दिन शुक्रवार को देवी मंदिर में मां कालरात्रि की आराधना के लिए श्रद्धा का सैलाब उमड़ पड़ा। श्रद्धालुओं ने विधिविधान से माता रानी की पूजा-अर्चना कर परिवार की खुशहाली व सुख समृद्धि का आशीर्वाद मांगा। कालीथानों पर भी मध्यरात्रि तक साधकों ने मां कालरात्रि की साधना की।
मां भगवती की सातवीं शक्ति का नाम देवी कालरात्रि है और नवरात्र के सातवें दिन देवी के इसी स्वरूप की पूजा का विधान है। सृष्टि संयोजन और संचालन इन्हीं की कृपा का फल है। एक बार भगवान शिव ने इन्हें काली कह दिया तभी से इनका नाम काली पड़ा। ऐसी मान्यता है कि अखंड ज्योति जलाकर काले तिलों से पूजा करने और जप-तप करने से साधकों की साधना सिद्ध होती है और भक्तों के सारे मनोरथ पूर्ण होते है। इसी मान्यता के अनुसार नवरात्र के सातवें दिन शक्तिपीठ देवीपाटन मंदिर में मां कालरात्रि की पूजा के लिए भोर पहर से लेकर मध्यरात्रि तक श्रद्धालुओं की भीड़ जुटी रही।
श्रद्धालुओं ने सूर्यकुंड में स्नान कर मां पाटेश्वरी एवं देवी कालरात्रि की विधिविधान से पूजा-अर्चना की। नगर के स्वाभिमानपुरम में सुश्री कुमारी वैष्णवी महाशक्ति सेवा समिति की तरफ से सैनिटाइजर लगाया गया है। श्रद्धालुओं की थर्मल स्क्रीनिंग करने के बाद ही पूजा-अर्चना की अनुमति दी जाती है। आयोजक डीएन सिंह ने बताया कि नवरात्र पर्व के दौरान कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पालन कराया जा रहा है।
ग्राम सहिबरा बरईपुर में सजे पूजा पांडाल में माता रानी के दर्शन के लिए सुहब-शाम श्रद्धालु जुट रहे हैं। ग्राम प्रधान गुड़िया देवी ने बताया कि गुरुवार शाम पंडाल में विशेष आरती की गई। सदर विधायक पल्टूराम, बृजेंद्र तिवारी, पवन शुक्ला, आकाश पांडेय व विनोद कुमार गुप्ता आदि ने मां दुुर्गा की आरती उतारकर विश्व कल्याण की कामना की।
इसके अतिरिक्त बिजलीपुर स्थित बिजलेश्वरी देवी मंदिर, तुलसीपुर स्थित नई देवी मंदिर, सोहेलवा स्थित रहिया देवी मंदिर, वाराही देवी मंदिर, उतरौला स्थित ज्वाला देवी मंदिर, पेहर बाजार स्थित दुर्गा मंदिर, महुआ इब्राहिम स्थित करिया दुर्गा मंदिर, नगर स्थित झारखंडी मंदिर, समय माता मंदिर, बड़की बहिनी मंदिर व सभी कालीथानों पर भोर पहर से लेकर देर रात तक श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। श्रद्धालुओं ने अखंड ज्योति जलाकर मां कालरात्रि की साधना की और उनसे परिवार के लिए खुशहाली एवं सुख-समृद्धि का आशीर्वाद मांगा।
... और पढ़ें

महिला हेल्पडेस्क से मिलेगी सुरक्षा की गारंटी

बलरामपुर। महिला हेल्पडेस्क से बेटियों व महिलाओं को सुरक्षा की पूरी गारंटी मिलेगी। जिले के सभी कोतवाली व थानों में महिला हेल्प डेस्क संचालित करा दिया गया है। महिलाओं की शिकायत महिला हेल्प डेस्क पर 24 घंटे सुनी जाएगी।
नगर कोतवाली में सदर विधायक पल्टूराम, डीएम कृष्णा करुणेश व एसपी देवरंजन वर्मा ने हेल्प डेस्क का शुभारंभ करते हुए कहा कि मिशन शक्ति से बेटियों व महिलाओं को सुरक्षा की पूरी गारंटी मिलेगी। हेल्प डेस्क पर प्रतिदिन 24 घंटे महिलाओं तथा बेटियों की शिकायतें दर्ज की जाएंगी। इन शिकायतों का प्राथमिकता के आधार पर निस्तारण कराया जाएगा। बेटियों व महिलाओं की सुरक्षा में हीलाहवाली व लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
उतरौला कोतवाली में विधायक रामप्रताप वर्मा व सादुल्लाहनगर थाने में सीओ आरआर सिंह ने महिला हेल्प डेस्क का शुभारंभ किया। ललिया थाना में तुलसीपुर विधायक कैलाश नाथ शुक्ल ने महिला हेल्प डेस्क का शुभारंभ किया। तुलसीपुर तथा पचपेड़वा थाने में गैसड़ी विधायक शैलेश कुमार सिंह ने और जरवा कोतवाली में भाजपा जिलाध्यक्ष प्रदीप सिंह ने महिला हेल्प डेस्क का शुभारंभ किया।
हरैया थाने में सीओ सदर प्रेमकुमार थापा व गैसड़ी कोतवाली में गैसड़ी विधायक के प्रतिनिधि दयाराम प्रजापति ने महिला हेल्प डेस्क का शुभारंभ किया। इसी तरह बाकी अन्य सभी थानों में महिला हेल्प डेस्क स्थापित किये गये हैं। सभी महिला डेस्क पर 24 घंटे शिफ्ट वाइज दो-दो पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगाई जाएगी। सभी थानों में रैली निकालकर लोगों को मिशन शक्ति के उद्देश्यों से अवगत कराया गया।
... और पढ़ें

बलरामपुर में मिले आठ कोरोना पॉजिटिव

बलरामपुर। एसएसबी जवान सहित आठ लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। सभी को लेवल-1 कोविड केयर सेंटर में शिफ्ट किया गया है। इनके कांटेक्ट की तलाश शुरू कर दी गई है।
जिला सूचना कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार शुक्रवार को आई कोरोना रिपोर्ट में एसएसबी का एक जवान पॉजिटिव पाया गया है। इसके अतिरिक्त बलरामपुर नगर क्षेत्र के मोहल्ला पहलवारा में तीन, विशुनापुर में एक व पुरानी बाजार में एक तथा बलरामपुर ग्रामीण क्षेत्र के ग्राम कोलवा एवं बनकटवा में भी एक-एक व्यक्ति की रिपोर्ट पॉजिटिव मिली है।
जिले के विभिन्न स्थानों पर रखे गए नौ लोगों की दूसरी रिपोर्ट निगेटिव पाई गई। स्वस्थ होने वाले इन मरीजों को 14 दिन होम क्वारंटीन रहने का निर्देश देते हुुए घर भेज दिया गया है। जिले में कोरोना पॉजिटिव केस की कुल संख्या 1739 हो गई है। 1598 लोग स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं। 26 लोगों की मौत हो चुकी है। कुल एक्टिव केस 115 हैं।
... और पढ़ें

214 महिलाओं को मिला रोजगार

बलरामपुर। बिजली विभाग में रोजगार पाकर स्वयं सहायता समूहों की 214 महिलाओं के चेहरे खुशी से खिल गए। कमीशन पर बिजली बिल की घर-घर वसूली करके पैसा कमाएंगी। महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने में स्वयं सहायता समूह का अहम योगदान है।
सीडीओ अमनदीप डुली ने शुक्रवार को एक्सईएन पावर कार्पोरेशन दफ्तर में उत्तर प्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराकर बिजली बिल वसूली की जिम्मेदारी सौंपी।
सीडीओ ने कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकार ने महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए छह माह तक विशेष फोकस करने का निर्देश दिया है। स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं को रोजगार के अवसर दिलाने के लिए नोडल एजेंसी अनमोल प्रेरणा संकुल स्तरीय संघ की तरफ से प्रयास शुरू किया गया है।
जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में दो लाख 14 हजार 150 उपभोक्ताओं से बिजली बिल वसूलने के लिए स्वयं सहायता समूह की 214 महिलाओं को जिम्मेदारी सौंपी गई है। बिल की वसूली करने वाली महिलाओं को कमीशन दिया जाएगा। कमीशन का रेट निर्धारित कर दिया गया है।
152 स्वयं सहायता समूहों की 214 महिलाओं को यूपीपीसीएल के साथ पंजीकृत कर दिया गया है। प्रिंटर भी उपलब्ध करा दिये गये हैं। सदर ब्लॉक में 24, गेड़ास बुजुर्ग में 17, श्रीदत्तगंज में 20, हरैया सतघरवा में 24, पचपेड़वा में 15, रेहरा बाजार में 22, तुलसीपुर में 20 और उतरौला में 10 स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को बिजली बिल वसूलने की जिम्मेदारी दी गई है। रोजगार पाकर समूह की महिलाओं के चेहरे खुशी से खिल गए।
कार्यक्रम को पीडी अनिल कुमार सिंह, डीडीओ गिरीश कुमार पाठक, अधीक्षण अभियंता पावर कार्पोरेशन ललित कुमार, एक्सईएन पावर कार्पोरेशन सुनील कुमार व डीसी एनआरएलएम सूबेदार सिंह यादव आदि ने संबोधित कर महिलाओं को बिजली बिल वसूली करने के टिप्स दिए।
... और पढ़ें

धान बेचने वाले किसान का तिलक लगाकर किया स्वागत

बलरामपुर। धान बेचने वाले अन्नदाता का गुरुवार को तिलक लगाकर स्वागत किया गया। जिले में धान खरीद की बोहनी हो गई है। मंडी समिति बलरामपुर में धान खरीद का शुभारंभ हो गया है। अन्नदाताओं को मिठाई खिलाकर क्रय केंद्र के कर्मचारियों ने खुशी जताई है। डीएम कृष्णा करुणेश, एडीएम वित्त एवं राजस्व अरुण कुमार शुक्ल व डिप्टी आरएमओ ने किसानों से सरकारी क्रय केंद्रों पर धान बेचने की अपील की है। क्रय केंद्र कर्मचारियों को खरीद में लापरवाही न बरतने का निर्देश दिया है।
डिप्टी आरएमओ नरेंद्र कुमार तिवारी ने बताया कि जिले में अब तक आठ किसानों से 450 क्विंटल आठ किलोग्राम धान खरीदा जा चुका है। 12 हजार एमटी धान खरीद का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। अब तक 650 से अधिक किसानों ने पंजीकरण करा लिया है। खाद्य विभाग व पीसीएफ क्रय केंद्रों पर धान का सरकारी समर्थन मूल्य 1868 रुपये प्रति क्विंटल व ए ग्रेड धान का 1888 रुपये प्रति क्विंटल निर्धारित किया गया है।
उन्होंने बताया कि ब्लॉकवार केंद्र संचालित करा दिए गए हैं। खाद्य विभाग को छह केंद्रों पर 3500 एमटी और पीसीएफ को 25 केंद्रों पर 8500 एमटी धान खरीद करने का लक्ष्य आवंटित कर दिया गया है। ऑनलाइन पंजीकरण की प्रक्रिया जारी है। ओटीपी आधारित पंजीकरण कराने की व्यवस्था शासन स्तर से की गई है। किसानों को पंजीकरण कराने के लिए अपना मोबाइल नंबर प्रयोग करना होगा जिससे एसएमएस के जरिए भेजे गए ओटीपी को भरकर पंजीकरण करा सके।
सप्ताह के प्रत्येक मंगलवार व शुक्रवार को लघु व सीमांत किसानों से धान खरीदा जाएगा। सुबह नौ से सायं पांच बजे तक धान क्रय केंद्रों का संचालन किया जाएगा। रविवार व अन्य अवकाश में सरकारी क्रय केंद्रों पर धान खरीद नहीं की जाएगी। डीएम ने तीनों तहसीलदारों, जिला कृषि अधिकारी, उप कृषि निदेशक, जिला उद्यान अधिकारी, जिला गन्ना अधिकारी और हरैया सतघरवा, श्रीदत्तगंज व रेहरा बाजार के बीडीओ को धान क्रय केंद्रों का औचक निरीक्षण करने का निर्देश दिया।
... और पढ़ें

ड्यूटी से नदारद मिले चार कर्मचारी

बलरामपुर। सहायक शिक्षा निदेशक बेसिक देवीपाटन मंडल विनय मोहन वन ने गुरुवार को नगर व ब्लॉक संसाधन केंद्र का औचक निरीक्षण किया। उन्हें चार कर्मचारी बिना सूचना के नदारद मिले। उन्होंने सभी गैरहाजिर कर्मियों पर कार्रवाई को बीएसए को पत्र लिखा। दोनों शिक्षा क्षेत्रों के बीईओ को मिशन प्रेरणा व अन्य कार्यक्रमों में बेहतर कार्य करने का निर्देश दिया।
एडी बेसिक ने बताया कि निरीक्षण के दौरान नगर संसाधन केंद्र में तैनात लेखाकार विजय गुप्ता, ऑपरेटर सुधीर कुमार सिंह, कनिष्ठ सहायक विनय मिश्र व भोलानाथ बिना सूचना के नदारद पाए गए। मौके पर मौजूद बीईओ नगर मनीराम वर्मा ने बताया कि भोलानाथ बीएसए कार्यालय से संबद्ध हैं। इस पर एडी बेसिक ने जब बीएसए कार्यालय से संपर्क किया तो बताया गया कि भोलानाथ वहां भी अनुपस्थित पाए गए। इस पर उन्होंने सभी नदारद कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए बीएसए को पत्र लिखा।
नगर क्षेत्र के विद्यालयों के कायाकल्प के लिए डीएम कृष्णा करुणेश की तरफ से पांच लाख की धनराशि स्वीकृति कराई गई है। बीईओ कार्यालय को भी दुरुस्त कराने का निर्देश दिया गया है। मौके पर मौजूद शिक्षक अरुण कुमार मिश्र व राकेश गुप्ता ने नगर संसाधन केंद्र से संबंधित रिपोर्ट प्रस्तुत की। कार्यालय में सीसीटीवी कैमरा लगवाने का निर्देश दिया गया।
सदर ब्लॉक संसाधन केंद्र के निरीक्षण में एडी बेसिक ने बीईओ को दिशा-निर्देश दिया। इसके बाद उन्होंने जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान में सभी बीइओ के साथ बैठक की और उन्हें मिशन प्रेरणा व कायाकल्प योजनाओं को परवान चढ़ाने का निर्देश दिया।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X