विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Corona Virus in UP Live: प्रदेश में 80 संक्रमित, लखनऊ में 9 दिनों से नहीं मिला कोई मरीज

शासन और प्रशासन संक्रमण के चेन को तोड़ने के लिए लगातार कोशिश कर रहा है। लोगों से भी हर वक्त घरों में रहने की अपील की जा रही है।

30 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

बलरामपुर

सोमवार, 30 मार्च 2020

विदेश से आए 146 लोगों की हो रही विशेष निगरानी

बलरामपुर। कोरोना वायरस को लेकर विदेश से आए 146 लोगों की विशेष निगरानी की जा रही है। इन लोगों में से 114 लोगों का परीक्षण किया जा चुका है। नौ लोगों को होम क्वारंटीन किया गया है। विदेश व राज्य के विभिन्न प्रांतों से आने वाले लोगों से घर के अन्य सदस्यों से दूरी बनाए रखने तथा स्वास्थ्य विभाग की एडवाइजरी का पालन करने की अपील की गई है।
मुख्य चिकित्साधिकारी डा. घनश्याम सिंह ने बताया कि फरवरी माह से लेकर अब तक 146 लोग विदेश से जिले में आए हैं। देश के विभिन्न प्रांतों में काम करने वाले जिले के करीब 6 हजार लोग अलग-अलग गांवों में पहुंचे हैं। विदेश से आने वाले 114 लोगों का परीक्षण किया गया है। शेष 28 लोग फरवरी के पहले सप्ताह में ही आए थे और उनमें कोई लक्षण नहीं दिखाई दिया है। कतर व सऊदी अरब से जल्द ही लौटे 9 लोगों में से गैड़ास बुजुर्ग ब्लाक के 4 व श्रीदत्तगंज ब्लॉक के 5 लोगों को घरों में ही क्वारंटीन किया गया है। विभिन्न प्रांतों से जिले में आने वाले लोगों की सूचना मिलते ही स्वास्थ्य विभाग की टीम भेजकर जांच कराई जा रही है।
आईसोलेशन वार्ड में भर्ती मरीज की रिपोर्ट निगेटिव
जिला संयुक्त चिकित्सालय के आईसोलेशन वार्ड में भर्ती युवक में कोरोना वायरस का संक्रमण नहीं पाया गया है। जांच में रिपोर्ट निगेटिव पाए जाने पर उसे आईसोलेशन वार्ड से डिस्चार्ज कर दिया गया है। मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. घनश्याम सिंह ने बताया कि कौवापुर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र क्षेत्र के एक युवक को पिछले दिनों कोरोना वायरस के संक्रमण का संदिग्ध मानते हुए आईसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया था। युवक का सैंपल जांच के लिए लखनऊ भेजा गया था। युवक की रिपोर्ट जांच में निगेटिव मिली है।
श्रीदत्तगंज में बनाया गया है कोविड-19 वार्ड
सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र श्रीदत्तगंज में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों को भर्ती करने के लिए 30 बेड का कोविड-19 वार्ड बनाया गया है। सीएचसी अधीक्षक डॉ. सुजीत पांडेय ने बताया कि सीएचसी में 10 बेड का आईसोलेशन वार्ड पूर्व से ही संचालित है। इस क्षेत्र में सऊदी अरब व कतर आदि देशों से काम करके लौटे व्यक्तियों में कोरोना वायरस की संभावना को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह सतर्क है।
... और पढ़ें

बलरामपुर से सटी नेपाल की सीमा सील

बलरामपुर। कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए सावधानियां बरती जा रही हैं। जिले से सटी भारत नेपाल की सीमा को सील कर दिया गया है। सीमा क्षेत्र से देश-विदेश के सभी लोगों का आवागमन पूरी तरह बंद कर दिया गया है। छह अप्रैल के बाद आवागमन खुलने की संभावना जताई जा रही है। धार्मिक स्थलों पर भी दो अप्रैल तक कोई भी सामूहिक रूप से कार्यक्रम नहीं किए जा सकेंगे। जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में लगने वाले साप्ताहिक हाट बाजारों पर भी दो अप्रैल तक प्रतिबंध रहेगा।
डीएम कृष्णा करुणेश ने मंगलवार को बताया कि वर्तमान समय में कोरोना के संक्रमण व महामारी से बचाव के लिए भारत नेपाल सीमा पर स्थापित सभी एंट्री पॉइंट्स से यात्रियों/व्यक्तियों का प्रवेश तत्काल प्रभाव से प्रतिबंधित कर दिया गया है। छह अप्रैल तक प्रतिबंध लागू रहेगा। बलरामपुर जिले में लगने वाले ग्रामीण क्षेत्र के सभी साप्ताहिक हाट बाजार 25 से दो अप्रैल तक बंद रहेंगे।
जिले के सभी मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारा, गिरिजाघर व अन्य धार्मिक स्थलों के संचालकों/प्रबंधकों व धर्मगुरुओं से डीएम ने अपील की है कि धार्मिक स्थलों पर जन सामान्य को दो अप्रैल तक प्रवेश न करने के लिए और अपने घर में ही पूजापाठ, नमाज, प्रार्थना, अरदास व अन्य धार्मिक अनुष्ठान करने के लिए प्रेरित करें। आदेश का उल्लंघन करने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

मार्ग दुर्घटनाओं में एक की मौत, तीन घायल

बलरामपुर। दो थाना क्षेत्रों में मंगलवार को तीन मार्ग दुर्घटनाओं में एक की मौत हो गई और तीन गंभीर रूप से घायल हो गए है। तुलसीपुर थाना क्षेत्र के देवीपाटन चौकी प्रभारी आरके वर्मा ने बताया कि ग्राम प्रधान बनकटवा पुजारीलाल (45) अपनी बाइक से प्रिंस वर्मा (22) के साथ तुलसीपुर जा रहे थे। इसी बीच अज्ञात बोलोरो ने ठोकर मार दी। दोनों को सीएचसी तुलसीपुर में भर्ती कराया गया है वहां से जिला अस्पताल रेफर कर दिया है।
इसी थाना क्षेत्र के परसपुर करौंदा गांव के पास पुरवाडीह निवासी ओम प्रकाश ने बताया कि उनका भाई छोटकू (28) बालू भरकर ट्रैक्टर ट्रॉली से आ रहे थे। रास्ते में ट्रैक्टर पर बैठते समय पैर फिसल गया और नीचे आ गए। घटना में छोटकू की मौके पर मौत हो गई। प्रभारी निरीक्षक तुलसीपुर थाना वकील पांडेय ने बताया कि शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। मृतक के भाई ओम प्रकाश ने तहरीर दी है।
तीसरी घटना हरैया थाना क्षेत्र के झांगीडीह गांव के पास लालपुर चौराहा शिवपुरा मार्ग पर हुई है। अज्ञात वाहन की चपेट में आने से कोल्हुई निवासी मालिकराम (35) वाहन की ठोकर से अचानक बाइक से नीचे गिर गए और घायल हो गए। मालिक को इलाज के लिए सीएचसी शिवपुरा में भर्ती कराया गया है। डॉ. रजत शुक्ला ने बताया कि सिर में गंभीर चोट लगी है। इलाज किया जा रहा है।
... और पढ़ें

देवीपाटन मंदिर का अस्पताल बनेगा क्वॉरंटीन सेंटर

बलरामपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर जिला प्रशासन ने शक्तिपीठ देवीपाटन मंदिर परिसर स्थित अस्पताल को क्वॉरंटीन सेंटर बनाने का निर्णय लिया है। डीएम कृष्णा करुणेश ने रविवार को बताया कि बाहर व विदेश से आने वाले लोगों को मंदिर परिसर के अस्पताल में बने क्वॉरंटीन सेंटर में रखा जाएगा। जिले के 101 न्याय पंचायतों में पहले से ही क्वॉजी क्वॉरंटीन सेंटरों का संचालन किया जा रहा है। डीएम ने जिले के लोगों से लॉकडाउन को सफल बनाने में सहयोग की अपील की है।
डीएम ने बताया कि सीएम के निर्देश पर शक्तिपीठ देवीपाटन मंदिर परिसर में स्थित अस्पताल को क्वॉरंटीन सेंटर में परिवर्तित किया जा रहा है। जरूरतमंदों को भोजन व राशन आदि का इंतजाम मंदिर प्रबंध समिति की तरफ से किया जाएगा। शक्तिपीठ देवीपाटन मंदिर के महंत मिथलेश नाथ योगी से सीएम के निर्देश का हवाला देकर वार्ता की गई है।
कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण संपूर्ण भारत में लॉकडाउन है। लॉकडाउन के कारण बाहर मजदूरी करने वाले काफी संख्या में जिले के लोग घर वापस आ रहे हैं। इसके अतिरिक्त लॉकडाउन में दिहाड़ी मजदूरों का काम भी पूरी तरह से ठप है। ऐसी परिस्थितियों के कारण आर्थिक दृष्टि से कमजोर व गरीब व्यक्तियों के सामने भोजन आदि की समस्या उत्पन्न हो गई है।
इसके अतिरिक्त विदेशों व अन्य राज्यों में आए व्यक्तियों को क्वॉरंटीन किया जा रहा है। ऐसे विषम परिस्थितियों से निपटने के लिए प्रशासन की तरफ से गरीबों व जरूरतमंदों को स्वास्थ्य सेवाओं, भोजन व राशन आदि का इंतजाम भी किया जा रहा है।
बलरामपुर जिले के 101 न्याय पंचायतों में पहले से ही क्वॉजी क्वॉरंटीन सेंटरों का प्राथमिक व उच्च प्राथमिक स्कूलों में भी संचालन किया जा रहा है। सीडीओ अमनदीप डुली की निगरानी में 101 क्वॉजी क्वॉरंटीन सेंटर संचालित किए जा रहे हैं। इन सभी क्वॉजी क्वॉरंटीन सेंटरों पर आशा, एएनएम, रसोइया, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं, सहायिकाओं, गांवों में तैनात सफाई कर्मियों व पुलिस की निगरानी में बाहर व विदेश से आने वाले लोगों की क्षेत्रवार आइसोलेशन कर निगरानी की जा रही है।
पीडी एके सिंह, डीपीआरओ अशोक कुमार दूबे, डीसी मनरेगा, डीआईओएस महेंद्र कुमार कन्नौजिया, बीएसए डॉ. रामचंद्र सहित सभी नौ ब्लॉकों के बीडीओ को निगरानी करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है।
... और पढ़ें

एमपीपी इंटर कालेज व रिश्ता दरबार बना क्वारंटीन सेंटर

बलरामपुर। एमपीपी इंटर कॉलेज व रिश्ता दरबार को क्वारंटीन सेंटर बनाया गया है। एडीएम वित्त एवं राजस्व अरुण कुमार शुक्ल ने रविवार को बताया कि दोनों क्वारंटीन सेंटर पर बाहर से आने वाले लोगों को आइसोलेशन के लिए रखा जाएगा। एडीएम ने नगर पालिका परिषद के ईओ राकेश कुमार जायसवाल को दोनों सेंटर की नियमित सफाई और सैनिटाइज कराने का निर्देश दिया है।
ईओ ने बताया कि एडीएम के निर्देश पर सफाई सहायक सुरेश गुप्ता को दोनों क्वारंटीन सेंटरों का पर्यवेक्षण करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। कोरोना संक्रमण के खतरे को ध्यान में रखते हुए लॉकडाउन के दौरान दूसरे प्रदेशों व विदेश से आने वालों को शेल्टर होम व क्वारंटीन सेंटर में रखा जाना है। इसी के तहत एमपीपी इंटर कॉलेज व रिश्ता दरबार को क्वारंटीन सेंटर बनाया गया है।
एमपीपी इंटर कॉलेज में सफाई व सैनिटाइज कराने की जिम्मेदारी बलवंत सिंह, अतीक अहमद व अजय पाल सिंह को और रिश्ता दरबार में इरफान, मुन्ना शुक्ला व देवी शंकर तिवारी को सफाई व सैनिटाइज कराने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। एमपीपी इंटर कालॅॅज के क्वारंटीन सेंटर का सफाई एवं खाद्य निरीक्षक शैलेंद्र कुमार को और रिश्ता दरबार हाल का सफाई व खाद्य निरीक्षक बहोरन सिंह को बनाया गया है।
... और पढ़ें

मांगों के समर्थन में एंबुलेंस कर्मियों ने किया प्रदर्शन

बलरामपुर। तीन माह से मानदेय का भुगतान न होने से नाराज एंबुलेंस कर्मियों ने रविवार को जिला संयुक्त चिकित्सालय में विरोध प्रदर्शन किया। मांगों के समर्थन में नारेबाजी करते हुए मानदेय व अन्य सुविधाएं शीघ्र दिलाने की मांग की। मांगें पूरी न होने पर एंबुलेंस सेवा का बहिष्कार करने की चेतावनी दी है।
एंबुलेंस कर्मचारी संघ के जिलाध्यक्ष भूपेंद्र सिंह के नेतृत्व में कर्मचारियों ने रविवार को सीएमओ कार्यालय परिसर में विरोध प्रदर्शन किया। सभी ने अपनी मांगों के समर्थन में नारेबाजी करते हुए कहा कि मानदेय का भुगतान न होने से वे भारी आर्थिक संकट से जूझ रहे हैं। एंबुलेंस में सुरक्षा किट न होने से जीवन को खतरा बना रहता है। इन लोगों ने मांग की कि बकाया मानदेय का भुगतान शीघ्र किया जाए।
सभी एंबुलेंस कर्मियों को मॉस्क, सैनिटाइजर व पीपीई किट मुहैया कराई जाए। एंबुलेंस कर्मियों को बीमा व प्रोत्साहन राशि सहित सभी सरकारी सुविधाएं घोषित की जाए। एंबुलेंस कर्मियों की सेवा संस्थागत न करके एनएचएम को सौंपी जाए। जीवीके-ईएमआरई संस्था को प्रतिबंधित किया जाए।
एंबुलेंस कर्मियों ने चेतावनी दी है कि यदि इन मांगों पर शीघ्र ही प्रभावी कार्रवाई न की गई तो वे एंबुलेंस सेवा का बहिष्कार करने के लिए बाध्य होंगे। प्रदर्शन के दौरान सूरज पांडेय, अजय तिवारी, बुद्धिराम वर्मा, कैलाश वर्मा, ओम प्रकाश यादव, प्रदीप यादव, रनजीत, राज कुमार पाल, वीरेंद्र यादव, अंकेेश, संजय, हरिओम, राजेंद्र तिवारी, विनय सिंह, बलजीत सिंह, रमेश यादव व अजय नायक आदि एंबुलेंस कर्मी मौजूद रहे।
... और पढ़ें

जिला आपदा राहत कोष से गरीबों को मिलेगी मदद

बलरामपुर। डीएम कृष्णा करुणेश ने रविवार को बताया कि लॉकडाउन के चलते बाहर से आने वालों के साथ जिले में पहले से रहने वाले गरीब परिवारों को खाने-पीने के संसाधन मुहैया कराने के लिए जिला आपदा राहत कोष से मदद मुहैया कराई जा रही है। आपदा कार्यों को बेहतर ढंग से संचालित कराने में डीएम ने जनप्रतिनिधियों, आम जनता, अफसरों व कर्मियों से दन देकर सहयोग करने की अपील की है। सहयोग की धनराशि जमा करने के लिए इलाहाबाद बैंक में आपदा राहत कोष खोल दिया गया है।
डीएम ने बताया कि बाहर से आने वाले व जिले में रहने वाले गरीब परिवार के लोगों के लिए जिले भर में शेल्टर होम, क्वॉरंटीन सेंटर्स व कम्युनिटी किचन आदि की स्थापना कर संचालित किया जा रहा है, इसके लिए काफी धन की जरूरत है। जनप्रतिनिधियों, जनता, अधिकारियों व कर्मचारियों की सहभागिता के लिए जनपद स्तर पर जिला आपदा राहत कोष बलरामपुर के नाम से इलाहाबाद बैंक में खाता खोला गया है। खाता संख्या 50517809138 में स्वेच्छा से सभी लोग दान कर सकते हैं।
उन्होंने बताया कि आप सभी की तरफ से जमा की गई धनराशि से गरीबों व बेसहारा लोगों को भोजन व राशन आदि संसाधन मुहैया कराए जाएंगे। डीएम ने जनप्रतिनिधियों, जनता, अफसरों व कर्मियों से जिला आपदा राहत कोष में दान की धनराशि जमा करने की अपील की है जिससे जरूरतमंदों को आसानी से संसाधन मुहैया कराए जा सकें। कोरोना वायरस के प्रकोप से लड़ाई लड़ने के लिए सभी को आगे आना होगा तभी महामारी का सामना किया जा सकता है।
डीएम कृष्णा करुणेश ने कोरोना से लड़ाई लड़ने के लिए अपना हाथ बढ़ाया है। उन्होंने जरूरतमंदों को संसाधन मुहैया कराने के लिए अपने वेतन की 50 प्रतिशत धनराशि जिला आपदा रहात कोष बलरामपुर को दान की है। विदेशों में रहने वाले बलरामपुर जिले के लोगों, आम जनता, अफसरों व कर्मियों से डीएम ने जिला आपदा राहत कोष में धन दान करने की अपील की है।
राहत कोष में दिए गए सहयोग के लिए डीएम ने युवक कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष दीपांकर सिंह, डॉ. रवि सिंह, डीएस त्रिपाठी, शैलेंद्र तिवारी व श्रेयांश शुक्ल की सराहना की है।
... और पढ़ें

नेपाल से इस बार नहीं आएगी पीर रतननाथ की यात्रा

तुलसीपुर (बलरामपुर)। कोरोना वायरस का प्रभाव धार्मिक परंपराओं पर भी पड़ रहा है। सैकड़ों वर्षो से चैत्र नवरात्र में नेपाल से प्रतिवर्ष देवीपाटन आने वाली पीर रतननाथ की यात्रा इस बार नहीं आएगी।
पीर रतननाथ मां पाटेश्वरी के परम भक्त थे। नेपाल के दांग चौघड़ा से पीर रतननाथ प्रतिदिन मां पाटेश्वरी की पूजा अर्चना के लिए देवीपाटन आते थे। भक्ति से प्रसन्न होकर मां पाटेश्वरी ने पीर रतननाथ को वरदान दिया था कि चैत्र नवरात्र में देश विदेश से आने वाले भक्त मेरी पूजा के साथ तुम्हारी भी पूजा करेंगे।
करीब 1300 वर्ष पूर्व पीर रतननाथ द्वारा शरीर त्यागने के बाद नेपाल राष्ट्र के दांग चौघड़ा स्थित मठ से प्रतिवर्ष पीर रतननाथ की शोभायात्रा चैत्र नवरात्र में पंचमी तिथि को देवीपाटन पहुंचती है। यात्रा में शामिल पात्र देवता को पीर रतननाथ का स्वरूप मानते हुए देवीपाटन स्थित पवित्र दरीचे पर स्थापित किया जाता है। यात्रा के साथ आने वाले दांग चौघड़ा के पुजारी ही देवीपाटन में मां पाटेश्वरी की पूजा का कार्य भी संभालते हैं।
नवरात्र पंचमी से लेकर नवरात्र समाप्ति तक भक्त मां पाटेश्वरी के साथ पीर रतननाथ की भी पूजा अर्चना करते हैं। इस बार कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए भारत में 21 दिन का लॉकडाउन सरकार ने घोषित किया है। लॉकडाउन के चलते नेपाल सीमा सील है। देवीपाटन शक्तिपीठ का पट भी इस बार नवरात्र में नहीं खुल रहा है। ऐसे में पीर रतननाथ की शोभायात्रा को भी स्थगित कर दिया गया है।
... और पढ़ें

खेती-किसानी करने की अन्नदाताओं को मिली छूट

बलरामपुर। खेती किसानी के कार्य करने के लिए प्रशासन की तरफ से अन्नदाताओं को छूट मिली है। लॉकडाउन में सतर्क होकर कार्य करने की अन्नदाताओं को सलाह दी गई है। अन्नदाताओं को खाद्य, बीज व अन्य जरूरी सामान मुहैया कराने का निर्देश दिया गया है। डीएम कृष्णा करुणेश ने संबंधित विभाग के अफसरों व कर्मियों को सतर्कता के साथ काम करने की जिम्मेदारी सौंपी है।
जिला कृषि अधिकारी मनजीत कुमार ने शनिवार को बताया कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए पूरे देश में 21 दिन का लॉकडाउन किया गया है। राज्य सरकार ने आवश्यक सेवाओं के तहत कृषि उत्पादों व उनसे जुड़ी निर्माण इकाइयों की थोक व फुटकर बिक्री को लॉकडाउन से मुक्त रखने का निर्णय लिया है।
शासन ने 27 मार्च को गन्ने के साथ जायद के मूंग, मक्का, मूंगफली, बाजरा, हरा चारा, सब्जियों आदि की बोआई व रबी फसलों जैसे गेहूं, मटर, सरसों, मसूर व अरहर आदि के कटाई व छनाई कार्य को भी लॉकडाउन में किसानों और श्रमिकों को छूट देने का निर्णय लिया है। इसी के तहत उर्वरक, बीज व कृषि रसायनों की थोक व फुटकर बिक्री के लिए प्रात: आठ से दोपहर दो बजे तक खोलने और आपूर्ति के लिए सड़क व रेल मार्ग संचालित रहेगा।
रेलवे रैक से उर्वरकों आदि की आपूर्ति, लोडिंग व अनलोडिंग कार्य में लगे श्रमिकों व ढुलाई वाले वाहनों को छूट प्रदान की गई है। मालवाहक वाहनों में मालिकों व चालकों को आवश्यक वस्तु जनपद बलरामपुर का स्टीकर लगाना होगा। उर्वरक, बीज व कीटनाशकों के कारोबारियों को प्रतिष्ठान तक आने-जाने के लिए सक्षम स्तर से जारी लाइसेंस परिचय पत्र का कार्य करेंगे।
लाइसेंस दिखाने वाले वाहनों को रोका नहीं जाएगा। रबी फसल की कटाई में प्रयोग होने वाले संसाधनों जैसे कंबाइन हारवेस्टर व कृषि क्षेत्र में कार्य करने वाले श्रमिकों को सावधानी बरतने के साथ कार्य करने की छूट दी गई है। इस अवधि में रबी फसलों के बीज उत्पादक क्षेत्रों के निरीक्षण से संबंधित अफसरों व कर्मियों को सावधानी के साथ शासकीय कार्य करने की छूट दी गई है।
इस अवधि में कार्य करने वाले सभी श्रमिकों, किसानों, अफसरों व कर्मियों को सोशल डिस्टेसिंग का कड़ाई से अनुपालन करना होगा। खेत, प्रतिष्ठान आदि स्थलों पर एक समय में चार से अधिक व्यक्तियों को एकत्रित नहीं होने दिया जाएगा। हर व्यक्ति के बीच कम से कम एक मीटर की दूरी होनी चाहिए। बिक्री करने वाले कारोबारियों को किसानों व श्रमिकों के लिए सैनेटाइजर, साबुन व पानी आदि का इंतजाम करना होगा।
पीओएस मशीन का प्रयोग करने से पहले हाथ को साबुन से धुलाना व सैनेटाइजर लगवाना होगा, जिससे लोगों को काम करने के साथ कोरोना संक्रमण से सुरक्षित किया जा सके। खाद्य, बीज व उर्वरकों को निर्धारित मूल्य से अधिक की बिक्री करने की शिकायत मिलने पर संबंधित थोक व फुटकर कारोबारी के खिलाफ विधिक कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

लॉकडाउन के चौथे दिन भी सड़कों पर सन्नाटा

बलरामपुर। लॉकडाउन के चौथे दिन शनिवार को भी सड़कों पर सन्नाटा रहा। सरकार व प्रशासन के फैसले में लोग बढ़-चढ़कर सहयोग कर रहे हैं। प्रशासन की तरफ से भी लोगों को जरूरी सामान घर पर ही मुहैया कराए जा रहे हैं। प्रशासन ने सभी लोगों से सुरक्षित रहने और बेवजह घर से न निकलने की अपील की है जिससे कोरोना के बढ़ते संक्रमण को हराने में मदद मिल सके।
डीएम कृष्णा करुणेश व एसपी देवरंजन वर्मा ने जिलेवासियों के साहस की सराहना करते हुए कहा कि लोगों ने लॉकडाउन को सफल बनाने में मदद की है। इसी तरह से हम सभी को मिलकर 21 दिन तक लॉकडाउन को सफल बनाना है और कोरोना को हराना है। प्रशासन की तरफ से सभी लोगों को डोर टू डोर खानपान सामग्री मुहैया कराई जा रही है।
निर्धारित दुकानों व प्रतिष्ठानों पर फोन करके लोग होम डिलेवरी कराएं। घरों से बाहर न निकलें। भीड़भाड़ बढ़ने से कोरोना पर काबू नहीं पाया जा सकता है। ऐसे में जरूरी है कि हर व्यक्ति अपनी जिम्मेदारी समझे। एसपी ने जिले के सभी कोतवाली व थानों के प्रभारी निरीक्षकों को क्षेत्र में भ्रमण कर लोगों को घरों से बाहर न निकलने देने और जरूरी संसाधन मुहैया कराने की निगरानी करने का निर्देश दिया है।
... और पढ़ें

एंबुलेंस कर्मियों को नहीं मिले मास्क व सैनेटाइजर

बलरामपुर। कोरोना के संक्रमण को देखते हुए स्वास्थ्य कर्मियों को सभी संसाधन मुहैया कराने का दावा हवा-हवाई साबित हो रहा है। एंबुलेंस कर्मियों को मास्क व सैनेटाइजर नहीं दिया गया है। एंबुलेंस चालक संघ ने सीएमओ से शिकायत कर मास्क व सैनेटाइजर उपलब्ध कराने की मांग की है।
एंबुलेंस चालक संघ के जिलाध्यक्ष भूपेंद्र सिंह व अन्य पदाधिकारी राजेंद्र तिवारी, सूरज पांडेय, राजकुमार, रामकुमार, प्रिंस सिंह, अमरदीप उपाध्याय आदि ने बताया कि जिले में 54 एंबुलेंस मरीजों को अस्पताल पहुंचाने के लिए लगी हैं। 52 एंबुलेंस वर्तमान समय में कार्य कर रही हैं। पूरे विश्व में कोरोना का प्रकोप है। भारत में भी कोरोना के मरीज प्रतिदिन बढ़ रहे हैं। ऐसे में मरीजों को अस्पताल पहुंचाने वाले एंबुलेंस कर्मियों को कोरोना के संक्रमण का खतरा बना रहता है।
स्वास्थ्य विभाग द्वारा अभी तक केवल पांच एंबुलेंस कर्मियों को ही मास्क, सैनेटाइजर, फिनायल व गलब्स उपलब्ध कराया गया है। शेष एंबुलेंस कर्मियों को कोई सामान नहीं दिया गया है। ऐसे में एंबुलेंस कर्मी भयभीत हैं। इन लोगों ने सीएमओ से शिकायत करते हुए मास्क, सैनेटाइजर, फिनायल, गलब्स आदि उपकरण कराने की मांग की है। इस संबंध में मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. घनश्याम सिंह ने बताया कि केवल पांच एंबुलेंस को ही कोरोना के संदिग्ध मरीजों के लिए आरक्षित किया गया है। शेष एंबुलेंस सामान्य मरीजों के लिए लगाई गई हैं। ऐसे में पांच एंबुलेंस पर ही आवश्यक सामान उपलब्ध कराए गए हैं।
... और पढ़ें

लॉकडाउन के उल्लंघन पर 15 के खिलाफ केस

बलरामपुर। लॉकडाउन का अनुपालन न करने पर महराजगंज तराई थाने की पुलिस ने 15 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है। लॉकडाउन के दौरान बेवजह घर से बाहर निकलने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी गई है। एसपी देवरंजन वर्मा के निर्देश पर सभी थानों की पुलिस अपने-अपने क्षेत्र में भ्रमण कर लोगों को लॉकडाउन का अनुपालन कराने के लिए प्रयास कर रही है।
प्रभारी निरीक्षक थाना महराजगंज तराई राजेश कुमार ने बताया कि शनिवार को लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर 15 लोगों के खिलाफ सुसंगत धाराओं में केस दर्ज किया गया है। सादुल्लाहनगर पुलिस ने क्षेत्र भ्रमण कर लोगों से घरों में रहने की अपील की। प्रभारी निरीक्षक सादुल्लाहनगर महेंद्र कुमार सिंह व एसआई दुर्गा विजय सिंह के नेतृत्व में टीम ने विशुनपुर, खरहना, हनुमानपुरवा, नौडिहवा, हतवा, खानपुर, भैसाही, मुबारकपुर, रामपुरपुरवा आदि गांवों का भ्रमण किया और लोगों से घर से बाहर न निकलने की अपील की। इस दौरान पुलिस टीम ने लोगों को फल आदि वितरित किया।
... और पढ़ें

10 से दो बजे तक ही खुलेगी किराना की दुकानें

बलरामपुर। लॉकडाउन को पूरी तरह से प्रभावी बनाने के लिए प्रशासन ने आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति के समय में कुछ फेरबदल किया है। 10 बजे से चार बजे तक खुलने वाली बलरामपुर नगर की राशन व किराना की दुकानें अब 10 बजे से दोपहर दो बजे तक ही खुलेगी।
डीएम कृष्णा करुणेश ने बताया कि ऐसा करने से लोग सड़क पर कम निकलेंगे और समय से जरत का सामान खरीद कर घर के अंदर चले जाएंगे। डीएम कृष्णा करुणेश ने इस भीड़ को नियंत्रित करने के लिए मजीद मोड़-गदुरहवा होते हुए गर्ल्स कालेज चौराहा, खलवा, पूरबटोला, मेजर चौराहा से कालीथान रोड तथा डिग्री कालेज से भंडारखाना रोड पर पुलिस गश्त बढ़ाने का निर्देश दिया है ताकि लोगों को अनावश्यक घर से निकलने से रोका जा सके।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us