विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Corona Virus in UP Live: प्रदेश में 80 संक्रमित, लखनऊ में 9 दिनों से नहीं मिला कोई मरीज

शासन और प्रशासन संक्रमण के चेन को तोड़ने के लिए लगातार कोशिश कर रहा है। लोगों से भी हर वक्त घरों में रहने की अपील की जा रही है।

30 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

भदोही

सोमवार, 30 मार्च 2020

मुख्य आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़ा

ग्रामीण अंचलो में टूट रही लॉकडाउन की चैन

ज्ञानपुर/औराई। कोरोना वायरस जैसे संक्रमण के रोकथाम को लेकर जनपद को लॉकडाउन किया गया है। शहरी क्षेत्रों में इसका अनुपालन भी हो रहा है, लेकिन ग्रामीण अंचलों में इसकी चेन टूटने लगी है। दूसरे राज्यों से आए परदेशी घर में बैठने की बजाए गांव-गांव टहलकर एक दूसरे से मिल रहे हैं। इतना ही नहीं काफी संख्या मजदूर पैदल ही सोनभद्र भी जा रहे हैं। इससे हर कोई सहम गया है। ग्रामीणों ने ऐसे लोगों पर सख्ती करने के लिए पुलिस प्रशासन से मांग की है।
कोरोना महामारी से विश्वभर में हाहाकार मच गया है। देश में इसके संक्रमण को रोकने के लिए 25 मार्च से 14 अप्रैल तक लॉकडाउन किया गया है। दूसरे प्रांतों से सैकड़ों की संख्या में आ रहे लोग गांव की गलियों से बगीचों में पहुंचकर गप्पेबाजी कर रहे हैं। कुछ लोग इसका विरोध करते हैं तो वह गाली गलौज तक करने लगते हैं। ऐसे लोगों को कम से कम 14 दिनों तक अपने घरों में रहने की सलाह दी जाती है, लेकिन वह मानने के लिए तैयार नहीं है। भवानीपुर के ऋषि शुक्ला, शिवकांत शुक्ला, नटवां से मनोज शुक्ला, लक्षमणिया से भुल्लूर यादव, जेठूपुर से सुनील दूबे, गणेश यादव, सहसेपुर के तोयज मिश्रा, मदन केसरवानी, कमलाशंकर, विट्ठलपुर के त्रिलोकी शुक्ला, कठारी के बल्ले मिश्रा, रामाश्रय उपाध्याय ने पुलिस प्रशासन से मांग किया कि गांवों में सख्ती की जाए। कहा कि पीआरवी 112 और बीटा के जवानों को निर्देशित किया जाए कि गांवों में कम से कम दो घंटे पुलिस चक्रमण कर सख्ती करे।
जनता कर्फ्यू से एक दिन पूर्व 21 मार्च से अब तक करीब एक सप्ताह में तीन हजार से अधिक लोग मुंबई, बंगलूरू, दिल्ली समेत अन्य महानगरों से जिले में आए। प्रशासन के पास अब तक कोई तय आंकड़ा नहीं है लेकिन वार रूम ने अनुमान जताया कि 3500 के करीब लोग जिले के विभिन्न गांवों में आ चुके हैं। इसमें कुछ गांव के प्रधानों ने अच्छी पहल कर लोगों के स्वास्थ्य की जांच कराई। हालांकि अधिकांश लोगों की जांच नहीं हो सकी है।
... और पढ़ें

लॉकडाउन: सख्ती बढ़ी, पुलिस ने फटकारी लाठियां

ज्ञानपुर (भदोही)। लॉकडाउन के दूसरे दिन बृहस्पतिवार को सख्ती बढ़ गई। इस दौरान कई स्थानों पर सड़कों पर आने-जाने वालों के साथ पुलिस सख्ती से पेश आई। कई लोगों को कान पकड़कर उठक-बैठक कराई गई तो तमाम लोगों को पुलिस ने डांटकर वापस कर दिया। कहीं डंडे भी फटकारे गए।
कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए घोषित लॉकडाउन को सफल बनाने के लिए बृहस्पतिवार को जिले की सड़कों पर पुलिस सख्त रुख अपनाती नजर आई। मना करने के बावजूद आने-जाने वालों पर पुलिस ने कई स्थानों पर लाठियां भी फटकारी। पुलिस के अधिकारी घूम-घूम कर माइक से प्रसारण कर लोगों को घरों में ही रहने को ताकीद कर रहे थे। कहा जा रहा था कि वायरस की चेन रोकने के लिए घर में ही रहें। अनावश्यक रूप से घर से बाहर निकले तो मुश्किल होगी। बाइक और कार से आने-जाने वाले कुछ लोगों को पुलिस के जवान समझा रहे थे कि कृपया घर में ही रहें तो बेहतर होगा। इसके बावजूद कुछ ट्रक और मालवाहक सड़कों पर आते-जाते दिखे। इससे पुलिस को कड़ा रुख अपनाना पड़ा। कुछ स्थानों पर बाइक और साइकल सवारों पर पुलिस लाठियां भांजते भी दिखी। कुछ लोगों को कान पकड़वाकर उठक-बैठक कराई गई और ताकीद किया गया कि बिना अनिवार्य वजह के बाहर नहीं निकलेंगे।
लॉकडाउन में बृहस्पतिवार को भदोही जिले की सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा। लोगों का आवागमन पूरी तरह बाधित रहा। जो लोग यात्रा में फंसे थे, वे दूसरे दिन भी झेलते रहे। पुलिस प्रशासन ने घूम-घूमकर लॉकडाउन में घर से बाहर न निकलने की अपील की। कहा कि वायरस के संक्रमण से बचने के लिए यह जरूरी है। लेकिन, जरूरी कार्यों से आने-जाने वालों की फजीहत होती रही। उन्हें साधन ही नहीं मिल रहे थे। गोपीगंज में वाराणसी-प्रयागराज राजमार्ग पर तमाम यात्री ट्रकों और ट्रैक्टरों पर बैठकर आवागमन करते दिखे। उनका कहना था कि किसी तरह पहले घर पहुंचा जाए, फिर देखा जाएगा।
--
... और पढ़ें

लॉकडाउन से बढ़ी घबराहट, तब घर आने का मन बना

ज्ञानपुर। दिल्ली, नोएडा और राजस्थान से नौकरीपेशा, श्रमिक वर्ग के लोग हाईवे के रास्ते जिले में आ रहे हैं। रविवार को भी बड़ी संख्या में लोग पहुंचे। सभी की स्क्रीनिंग की गई। जून तक लॉकडाउन बढ़ने के अफवाह, घबराहट और खाने की समुचित व्यवस्था न होने से अधिकतर लोगों ने घर आने के लिए मजबूर हुए।
उत्तर प्रदेश परिवहन की बस से रविवार को दिल्ली से गोपीगंज नगर में पहुंचे गजधरा के महेश कुमार ने आपबीती बताई। उसने बताया कि शादी-विवाह के सीजन में घर आने के लिए टिकट निकाल लिया था। जनता कर्फ्यू के बाद कोरोना संक्रमण को लेकर लॉकडाउन की घोषणा हो गई। दिल्ली सरकार की ओर से खाने की व्यवस्था की गई है, लेकिन उनके कमरे से तीन से चार किमी दूरी होने से दिक्कत होती। नोएडा में एक निजी कंपनी में नौकरी करने वाले कांवल के राज बहादुर ने बताया कि एक ही कमरे में बंद रहने से घबराहट होती थी। खाने-पीने की व्यवस्था भी सीमित थी। लॉकडाउन बढ़ गया तो कैसे रहेंगे यही सोचकर घर आने का फैसला लिया। चककलूटी श्याम सुंदर के सामने भी यही समस्या रही। श्याम सुंदर ने कहा कि दिल्ली और प्रयागराज के बाद गोपीगंज में स्क्रीनिंग की गई। सभी स्थानों पर रिपोर्ट निगेटिव रही। तीनों युवकों ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फैसले का वह विरोध नहीं करते लेकिन जान है तो जहान है। कहा कि वह घर जाकर 14 दिनों तक क्वारंटीन रहेंगे। जिससे गांव और घर वालों को कोई दिक्कत नहीं हो। योगी सरकार के प्रयास से वह घर आ सके।
द सरे प्रांतो से लौटते समय ट्रकों के केबिन पर बैठकर जाते मजदूर।
द सरे प्रांतो से लौटते समय ट्रकों के केबिन पर बैठकर जाते मजदूर।- फोटो : BHADOHI
गोपीगंज नगर में हाइवे से गुजरते ट्रेलर पर बैठकर जाते दूसरे प्रांतो से आने वाले लोग।
गोपीगंज नगर में हाइवे से गुजरते ट्रेलर पर बैठकर जाते दूसरे प्रांतो से आने वाले लोग।- फोटो : BHADOHI
... और पढ़ें
लॉकडाउन से ज्ञानपुर नगर में पसरा सन्नाटा। लॉकडाउन से ज्ञानपुर नगर में पसरा सन्नाटा।

तीन दिन में पैदल ही नाप दी 250 किमी सफर

गरीबों की मदद को बढ़ रहे हाथ, पहुंचा रहे भोजन

ज्ञानपुर/ गोपीगंज (भदोही)। कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन के पांचवें दिन रविवार को भी गरीबों की मदद के लिए लोगों ने हाथ बढ़ाया। सामाजिक संगठनों, व्यापारी, सभासद, ग्राम प्रधानों से लेकर पुलिस-प्रशासन भी गरीबों तक भोजन, राशन पहुंचा रहे हैं।
ज्ञानपुर के परशुरामपुर की मुसहर बस्ती में ग्राम प्रधान शरद कुमार दूबे ने 25 लोगों के खाने-पीने की व्यवस्था की। इस मौके पर लेखपाल बेलाल अहमद, सूर्य प्रकाश मिश्रा, सुरेश यादव, आरिफ आदि रहे। व्यापार मंडल गोपीगंज की ओर से विभिन्न बस्तियों में रविवार को भोजन पहुंचाने संग 30 कुंतल से अधिक खाद्य पदार्थों का वितरण किया। मौके पर कोतवाल कृष्णानंद राय, चौकी इंचार्ज दयाशंकर ओझा की देखरेख में श्रीकांत जायसवाल, सिराज अख्तर, शुभम पाठक ने बड़े शिवमंदिर, मुसहर बस्ती, रेलवे क्रॉसिंग, मिर्जापुर रोड बरदवारी, कठौता मोड मुसहर बस्ती, सोनखरी, ज्ञानपुर रोड मुसहर बस्ती, रेलवे स्टेशन ज्ञानपुर रोड आदि स्थानों पर लोगों की मदद की। नगर पालिका वार्ड नंबर 13 के मुकेश बिंद ने 100 पैकेट, बड़े शिव मंदिर पर संजय जायसवाल, ओमकार जायसवाल, गुप्तेश्वर जायसवाल, अमित गुप्ता ने 15 कुंतल आटा, दाल, चावल, चीनी, चाय पत्ती, नमक, आलू ,प्याज, तेल, घी जरूरतमंदों को दिया। रियावां क्षेत्र के पूरे खुशहाल में प्रधान की ओर से 200 वनवासियों को राशन वितरित हुआ।
अभोली के गुआली में ग्राम प्रधान राकेश कुमार पाल, रामअवतार मौर्य ने 30 गरीब और दिहाड़ी मजदूरों में चावल, तेल, नमक, सब्जी, आलू, आटा दिया। लोकमानपुर गांव में शिवम बिल्डिंग मैटेरियल की ओर से ईंट भट्ठे पर काम कर रहे मजदूरों में शिवम तिवारी ने 5-5 किलो गेहूं, चावल, 1-1 किलो दाल, 1-1 लीटर सरसों का तेल दिया। इसी तरह जंगीगंज के कलनुआ, महुआरी के वनवासी बस्ती में व्यापार मंडल और चौकी पुलिस चौकी के सहयोग से गरीबों, मजदूरों में राशन वितरित किया गया। इस मौके पर व्यापार मंडल अध्यक्ष जयदयाल मोदनवाल जगत, अनुज गुप्ता, अनीस अली बिकानू रहे। नगर पंचायत घोसिया में चेयरमैन रजिया नुमान, समाजसेवी नुमान अहमद ने दर्जनों गरीब और मजदूर परिवारों को खाद्य सामग्री दी गई। इसी तरह जेठूपुर में प्रधान राजेश यादव, सहसेपुर, अमीरपट्टी, मुक्तापुर, कैयरमऊ, उपरौठ के प्रधानों ने गरीब परिवारों को आटा, तेल, मसाला, सब्जी, दाल आदि देकर लॉकडाउन के समर्थन का आह्वान किया।
सिंहपुर सुरियावां की मुसहर बस्ती में सीओ भदोही भूषण वर्मा, थानाध्यक्ष विजय प्रताप सिंह, श्रीराम यादव, संतोष उपाध्याय, केशव प्रसाद आदि लोगों ने पहुंच कर खाने के सामान वितरित किए। अभोली के मकनपुर-रोही में प्रधान शीतला प्रसाद मिश्रा ने वनवासी और सरोज बस्ती के परिवारों में चावल, दाल, आटा, आलू, सरसों तेल, नमक, हल्दी, मसाला, धनिया बांटे। इस मौके पर सेक्रेटरी संजीव पांडेय, आरडी मिश्रा, लेखपाल हंसराज यादव रहे। दयालपुर-मसुधी में भी 40 वनवासी परिवारों को प्रभारी निरीक्षक ख़ुर्शीद अंसारी, प्रधान पुत्र गामा पांडेय ने दाल, तेल, नमक, साबुन वितरित कर कोरोना वायरस से बचने की नसीहत दी।
... और पढ़ें

अनियंत्रित कार गड्ढे में पलटी,दो घायल

गोपीगंज (भदोही)। कोतवाली क्षेत्र में राष्ट्रीय इंटर कॉलेज के सामने राजमार्ग पर रविवार की सुबह उस समय अफरातफरी मच गई जब तेज गति से आ रही कार अनियंत्रित होकर गड्ढे में पलट गई। इसमें महिला समेत दो लोग घायल हो गए। महिला की हालत नाजुक होने पर चिकित्सकों ने प्रयागराज के लिए रेफर कर दिया। बताया जाता है कि 25 मार्च से घोषित लॉकडाउन में जरूरी कार्यवश चल रहे वाहन चालक राजमार्ग पर अन्य दिनों की अपेक्षा गति सीमा बढ़ाकर गुजर रहे हैं। रविवार को भोर में बांका-बिहार से ऊषा देवी (45) पत्नी अशोक कुमार द्विवेदी निवासी कुलवारी थाना फुलवारी जिला बांदा कानपुर कार से जा रही थी। कॉलेज के पास पहुंचते ही चालक को झपकी आने से कार अनियंत्रित होकर गड्ढे में पलट गई। सूचना पर पहुंची 112 नंबर की पुलिस ने घायलों को सीएचसी में भर्ती कराया। ऊषा देवी को चोट अधिक लगने के कारण चिकित्सकों ने प्रयागराज रेफर कर दिया। ... और पढ़ें

दो शिफ्ट में अनाज वितरण करेंगे कोटेदार

ज्ञानपुर (भदोही)। कोरोना वायरस से बचाव के लिए घोषित लॉकडाउन में गरीबों को दिक्कत न हो इसके लिए एक अप्रैल से कोटे की दुकानों पर राशन वितरण शुरू हो जाएगा। सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने के लिए दो शिफ्टों में अनाज का वितरण होगा। पूर्ति विभाग की ओर से कोटेदारों को गाइडलाइन भेजकर उसे सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया है।
लॉकडाउन से जिले के बाजार से लेकर ग्रामीण अंचलों की अधिकतर दुकानों पर ताला लगा है। जरूरी सामान की दुकानें खुली हैं, लेकिन आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोग पैसे के अभाव में खरीददारी नहीं कर पा रहे हैं। ग्रामीण-नगरीय क्षेत्रों में दिहाड़ी मजदूरों को पेट भरने के लिए पूर्व से मिलने वाले राशन के साथ पांच किलोग्राम अतिरिक्त गेहूं, चावल, एक किलो दाल आदि देने की व्यवस्था की गई है। एक सप्ताह तक आपूर्ति विभाग से नामित निरीक्षकों ने अपनी-अपनी रिपोर्ट भी विभाग को सौंपकर एक अप्रैल से राशन वितरण सुनिश्चित कराने की रणनीति तैयार कर ली।
जिलापूर्ति अधिकारी अमित कुमार तिवारी ने बताया कि गाइड लाइन जारी कर ब्लॉकवार वितरण व्यवस्था सुनिश्चित करने का आदेश दिया है। प्रथम वरीयता में अंत्योदय, मनरेगा और श्रम विभाग में पंजीकृत लोगों को नि:शुल्क राशन दिया जाएगा। दुकानदार दो शिफ्टों में सुनिश्चित कर 40 से 50 की संख्या में लोगों प्रतिदिन राशन वितरण करेंगे। नि:शुल्क वितरण के बाद ही पात्र गृहस्थी का नंबर लगेगा। सभी कार्डधारकों, मजदूरों को अतिरिक्त राशन की भी व्यवस्था तीन माह तक मिलती रहेगी। पात्र गृहस्थी के कार्डधारक भी अतिरिक्त राशन का लाभ उठाकर निर्धारित दाम व्यय करेंगे। प्रति दुकानों पर एक-एक नोडल अधिकारियों को भी तैनात कर निरीक्षक अपनी जिम्मेदारी निभाते रहेंगे। वितरण व्यवस्था में किसी तरह की लापरवाही और मनमानी नहीं होने दी जाएगी।
... और पढ़ें

लॉकडाउन से मैरिज लॉन, टेंट व्यवसाय प्रभावित

भदोही। कोरोना के कहर से 21 दिन के लॉकडाउन से भदोही जिले के कालीन व्यवसाय के साथ साथ अन्य व्यवसायों पर भारी असर पड़ा है। विशेष रूप से शादी के मैरिज लॉन और टेंट हाउस संचालकों को लाखों का नुकसान उठाना पड़ा है। लोगों में इस बात का भय है कि यदि कहीं यह स्थिति लंबा खिंचा तो निश्चित रूप से मध्यम से गरीब तबके पर व्यापक असर होगा।
टेंट हाउस व्यवसायी शफीक अहमद ने बताया कि प्रधानमंत्री के जनता कर्फ्यू से लेकर अब तक उनके पास आठ वैवाहिक कार्यक्रमों की बुकिंग थी। सब से सब कैंसल कर दिए गए हैं। चौरी रोड स्थित स्टार गैलेक्सी मैरिज लॉन में 24 से 31 मार्च तक कुल 6 शादियां होनी थीं जिन्हें हालातों को देखते हुए निरस्त कर दिया गया है। संचालक सेराज खालसा ने बताया कि अप्रैल माह की बुकिंग रोक दी गई है। कहा कि इससे उनका भारी नुकसान तो हुआ ही है एक शादी होने पर कम से कम 50 मजदूरों की कुछ आमदनी हो जाती है। ऐसे में उनकी व्यथा को समझा जा सकता है।
जानकारी हो कि शहर में एक दर्जन से अधिक वैवाहिक लान हैं जिनमें कुल 15 मार्च से 15 अप्रैल तक कुल 48 विवाह संपन्न होने थे लेकिन सब के सब टल चुके हैं। मैरिज हॉल संचालक कफील अहमद मोनू ने कहा कि एक विवाह के 25 से 30 हजार तक रेट है इससे नुकसान का आकलन किया जा सकता है। कुल मिलाकर कोरोना से मुख्यत: मजदूर वर्ग के सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया है।
--
... और पढ़ें

लॉकडाउन से मैरिज लान, टेंट व्यवसाय को चपत

भदोही। कोरोना के कहर से 21 दिन के लॉकडाउन से भदोही जिले के कालीन व्यवसाय के साथ साथ अन्य व्यवसायों पर भारी असर पड़ा है। विशेष रूप से शादी के मैरिज लॉन और टेंट हाउस संचालकों को लाखों का नुकसान उठाना पड़ा है। लोगों में इस बात का भय है कि यदि कहीं यह स्थिति लंबा खिंचा तो निश्चित रूप से मध्यम से गरीब तबके पर व्यापक असर होगा।
टेंट हाउस व्यवसायी शफीक अहमद ने बताया कि प्रधानमंत्री के जनता कर्फ्यू से लेकर अब तक उनके पास आठ वैवाहिक कार्यक्रमों की बुकिंग थी। सब से सब कैंसल कर दिए गए हैं। चौरी रोड स्थित स्टार गैलेक्सी मैरिज लॉन में 24 से 31 मार्च तक कुल 6 शादियां होनी थी जिन्हें हालातों को देखते हुए निरस्त कर दिया गया है। संचालक सेराज खालसा ने बताया कि अप्रैल माह की बुकिंग रोक दी गई है। कहा कि इससे उनका भारी नुकसान तो हुआ ही है एक शादी होने पर कम से कम 50 मजदूरों की कुछ आमदनी हो जाती है। ऐसे में उनकी व्यथा को समझा जा सकता है।
जानकारी हो कि शहर में एक दर्जन से अधिक वैवाहिक लान हैं जिनमें कुल 15 मार्च से 15 अप्रैल तक कुल 48 विवाह संपन्न होने थे लेकिन सब के सब टल चुके हैं। मैरिज हॉल संचालक कफील अहमद मोनू ने कहा कि एक विवाह के 25 से 30 हजार तक रेट है इससे नुकसान का आकलन किया जा सकता है। कुल मिलाकर कोरोना से मुख्यत: मजदूर वर्ग के सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया है।
भदोही। जिस समय कोरोना का संकट खड़ा हुआ वह शादी विवाह का मौसम चल रहा था। 21 दिन का लाक डाउन जिस प्रकार से अचानक किया गया उससे बहुत से लोग भदोही में आकर फंस गए। अभी भी लोग भदोही से किसी तरह निकल पाने के लिए दौड़ भाग कर रहे हैं लेकिन कोई रास्ता नहीं सूझ रहा है। ऐसे ही जबलपुर का 9 लोगों का पूरा परिवार शहर में 21 मार्च से ही फंसा है।
अकील अंसारी ने बताया कि वे परिवार के साथ 21 मार्च को एक वैवाहिक कार्यक्रम में शामिल होने भदोही आए थे। उन्हें क्या पता था कि वे अपना पूरा परिवार लेकर यहां फंस जाएंगे। कहा कि अब उनके पास एक ही रास्ता है कि प्रशासन पास मुहैया कराए ताकि वे निजी वाहन कर जबलपुर लौट सकें। उन्होने कहा कि अगर अनुमति नहीं दी गई तो हम कहीं के नहीं रह जाएंगे क्योंकि बच्चे और वृद्ध जबलपुर में अकेले में पड़ गए हैं जिससे समस्या खड़ी हो गई है।
... और पढ़ें

लॉकडाउन: मुर्गा कारोबार ठप, बेच रहे सब्जी

कहीं लॉकडाउन तो कहीं टूटी पाबंदी

ज्ञानपुर। जिले में लॉकडाउन के चौथे दिन शनिवार को व्यवस्था कुछ इलाकों में फेल हो जा रही है। गरीबों की सहायता संग मास्क आदि के वितरण में भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हो रहा है। अनाज, दवा की कुछ दुकानों की स्थिति ठीक है, लेकिन अधिकांश पर लापरवाही की जा रही है। जिससे आने वाले समय में मुश्किलें बढ़ सकती हैं।
कोरोना वायरस महामारी को लेकर देश में 21 दिनों की लॉकडाउन की घोषणा की गई है। जिले में सुबह और दोपहर में स्थिति सामान्य रहती है लेकिन शाम के समय दुकानों पर पाबंदी बेअसर हो जाती है। जगह-जगह लोगों की भीड़ होने संग दुकानों पर भी लापरवाही बरती जाती है। पांच फीट की जगह में 10 से 15 लोग सामान लेने के लिए एक दूसरे से सटे रहते हैं। कुछ लोग इसका विरोध करते हैं लेकिन बाद में वह भी चुप हो जाते हैं। समाजसेवा के नाम पर क्षेत्रों में मास्क, सैनिटाइजर वितरण में भी सोशल डिस्टेंसिंग तार-तार हो रही है। मुश्किल से लोग एक फिट की दूरी पर खड़े हो जाते हैं। दुर्गागंज बाजार समेत आसपास के गांवों में स्थिति काफी विकट है। पुलिस की ओर से सख्ती न होने से बड़ी संख्या में लोग शाम को एक जगह एकत्रित हो जाते हैं। समय रहते ध्यान न दिया गया तो आने वाले समय में यह एक जटिल समस्या हो जाएगी।
... और पढ़ें

विधान परिषद सदस्य ने दिए 10 लाख (पुनप्रेषित)

भदोही। भयावह कोरोना वायरस से बचाव के लिए जनप्रतिनिधि भी आगे आ रहे हैं। विधान परिषद सदस्य ब्रिजेश सिंह ने भदोही जिले को अपनी निधि से 10 लाख रुपये देने की घोषणा की है। उन्होंने मुख्य विकास अधिकारी को पत्र जारी कर 10 लाख रुपया कोरोना से बचाव के मद में देने की बात कही। उन्होंने अपने पत्र में यह भी कहा कि उनके धन को चिकित्सकों, नर्सों तथा स्वास्थ्य कर्मियों के बचाव के लिए पर्सनल प्रोटेक्शन इक्विपमेंट (पीपीई) आदि की व्यवस्था कराने का आग्रह किया। इसी तरह भदोही ब्लाक प्रमुख प्रशांत सिंह चिट्टू ने भी ब्लाक क्षेत्र में छिड़काव, मास्क, उपकरण आदि की खरीदारी के लिए क्षेत्र पचायत निधि से जिला प्रशासन को 11 लाख रुपये देने घोषणा की है। उन्होंने मुख्यमंत्री को इस आशय का पत्र भेजा है। कहा कि इससे कोरोना से बचाव में क्षेत्र पंचायत का सहयोग माना जाए। ... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us