विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus In Uttar Pradesh Live: नोएडा में चार और संक्रमित मरीज मिले, यूपी में संख्या बढ़कर हुई 70

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस का कहर देश में लगातार बढ़ता जा रहा है। रविवार को कोरोना से जम्मू-कश्मीर और गुजरात में एक-एक लोगों की मौत हो गई। वहीं, यूपी में भी लगातार संक्रमिता का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है।

29 मार्च 2020

विज्ञापन

Sp baghpat said

28 मार्च 2020

विज्ञापन

चित्रकूट

रविवार, 29 मार्च 2020

इलाज से इंकार गेट के बाहर लेटी रही प्रसूता

चित्रकूट/शिवरामपुर। जिला अस्पताल में दर्द से कराहती गर्भवती के परिजनों ने आरोप लगाया कि अस्पताल में जांच के बाद भी उसका इलाज नहीं किया गया। काफी देर तक वह अस्पताल गेट के बाहर एक झोपड़ी में लेटी रही। इसके बाद प्राइवेट एंबुलेंस से जानकीकुंड गई। जिला अस्पताल के जिम्मेदार डॉक्टरों ने आरोपों को गलत बताया। कहा कि भर्ती के बाद पूरी जांच कराई गई फिर मामला गंभीर होने पर उसे रेफर किया गया था।
सदर तहसील क्षेत्र के गोबरिया गांव निवासी राजरानी ने बताया कि उसकी जेठानी रूकमिन पत्नी किशोरीलाल गर्भवती थी। बृहस्पतिवार सुबह तेज दर्द होने पर सीएचसी शिवरामपुर लाया गया। आशा कस्तूरी देवी भी साथ में थी। वहां से जिला अस्पताल रेफर किया गया। यहां भर्ती करने के बाद कई जांच कराई गईं। आरोप लगाया कि स्टाफ ने कई घंटे तक उसका इलाज नहीं किया।
अस्पताल गेट के बाहर वह काफी देर तक पड़ी रही। परिजनाें ंने बताया कि उसे प्राइवेट एंबुलेंस से जानकीकुंड अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मामले में जिला अस्पताल के डॉ. जीसी पांडेय ने बताया कि आरोप गलत हैं। प्रसूता का इलाज भी हुआ और जांच रिपोर्ट के बाद उसे प्रयागराज रेफर किया गया था। वह अपने परिजनों के साथ बिना कुछ बताए खुद चली गईं हैं।
... और पढ़ें

तीन पालियों में अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई

चित्रकूट। कोरोना वायरस से बचने के लिए घरों में रहने वाले नागरिकों की समस्या के निदान के लिए कंट्रोल रूम व हेल्पलाइन जिले में संचालित किए गए है। इसमें तीन पालियों में आठ-आठ घंटे की अधिकारियों की ड्यूटी लगाई है।
प्रथम पाली सुबह 6 बजे से दोपहर 2 बजे तक
- प्रभारी अधिकारी: कार्मिक अधिकारी
1- जिला बेसिक शिक्षा: शत्रुघन सिंह - 9473525538
-अधिकारी प्रकाश सिंह: कौशल किशोर - 6386662159, 9453004125
-ओम प्रकाश: 9140814947
- डॉ. राहुल कुल श्रेष्ठ: 9457068083
- राहुल रजावत: 94119119691
द्वितीय पाली दोपहर 2 बजे से रात 10 बजे तक
- प्रभारी अधिकारी: कार्मिक अधिकारी-
1- बसंत कुमार दुबे, प्रदीप त्रिपाठी: 7408871371
जिला कृषि अधिकारी इलियास अहमद : 638662160, 9889104046
-ओम प्रकाश: 9140814947
- आरके चौरिहा: 9415182131
- अनिल तिवारी: 9453743164
तृतीय पाली रात्रि 10 बजे से सुबह 6 बजे तक
-प्रभारी अधिकारी: कार्मिक अधिकारी -
-जिला दिव्यांगजन: दिलीप कुमार - 8737837238
कल्याण अधिकारी: राममिलन - 6386662184
राजेश नायक, नसीम खान - 8737048040, 94529359805
- ज्ञानचंद्र शुक्ला: 8707051814
ड्यूटी पर तैनात अधिकारी व कर्मचारी सूचनाआें पर फौरन कार्रवाई कर जनता की समस्याओं का निदान कराएंगे। इसके साथ ही विशेष मामलों में मुख्य विकास अधिकारी,नोडल अधिकारी, अपर अपर जिलाधिकारी को जानकारी देंगे।
... और पढ़ें

लखनऊ में प्रशिक्षण ले रहे युवकों को जिले की सीमा में छोड़ा

चित्रकूट/खोही। लखनऊ में एक अकादमी के हास्टल में रहकर सेना भर्ती की तैयारी करने वाले 35 युवकाें को जिले की सीमा पर एमपी प्रशासन ने रोक लिया। सभी युवक मप्र के रींवा, जबलपुर व सतना जिले रहने वाले हैं। वे लखनऊ से बस से निकले थे, जो उन्हें सीतापुर चौकीक्षेत्र के बेडीपुलिया के पास उन्हें छोड़कर चली गई थी। यहां से पैदल जा रहे थे। यूपी व एमपी सीमा पर जानकीकुंड में प्रशासनिक अधिकारियों ने रोक कर सभी का मेडिकल परीक्षण कराया। इसके बाद बस के माध्यम से उन्हें सतना के लिए भेज दिया गया। राहत की बात यह रही कि इनमें किसी में भी बीमारी के लक्षण नहीं मिले।
गुरूवार को धर्मनगरी मप्र क्षेत्र में एक साथ आधा सैकड़ा से अधिक युवक घूमते दिखे। जिनको देखकर मप्र के प्रशासनिक अधिकारी सहित स्थानीय निवासी दंग रह गए। सभी युवक पैदल सतना शहर के लिए जा रहे थे।नायब तहसीलदार गणेश ने मौके पर पहुंचकर युवकों से जानकारी ली तो बताया कि वह लोग फौज में भर्ती होने के लिए लखनऊ स्थित एक एकेडमी में रूके थे।
लॉकडाउन लगने के बाद वहां से निकले। एक बस ने उनको चित्रकूट जिले के बेडीपुलिया के पास छोड़ दिया गया। कोई साधन न होने से पैदल सतना जा रहे थे। जिस पर सभी युवकों की जानकीकुंड अस्पताल से स्क्रीनिंग जांच कराई गई। इसके बाद सभी युवको को सतना व रीवा जिले के लिए भेजा गया। सभी को सद्गुरू सेवा संघ के माध्यम से भोजन भी खिलाया गया। जिससे छात्रों ने राहत की संास ली।
... और पढ़ें

चित्रकूट: हाईवे पर बेकाबू होकर पलटी सीएचसी प्रभारी अधीक्षक की कार, बाल-बाल बचे

चित्रकूट में सड़क हादसा चित्रकूट में सड़क हादसा

चित्रकूटः लाकडाउन का उल्लघंन पर बने मुर्गा, परेशान यात्रियों की समस्या पर चेता प्रशासन

चित्रकूट। लॉकडाउन के चौथे दिन आखिरकार जिला प्रशासन ने सुदूर क्षेत्रों के फंसे भूख से तड़पते यात्रियों की सुध ली। कुछ स्थानों पर लॉकडाउन का उल्लघंन करने पर पुलिस ने युवकों को मुर्गा बनाकर सबक सिखाया। ग्रामीण इलाकों में भोजन सामग्री के पैकेट बंटवाए गए। सड़क पर दूर-दूर के शहरों से पैदल चलकर आए यात्रियों को भी आते जाते देखा गया। सांसद से लेकर कई समाजसेवियों ने नियमित रूप से निशुल्क कैंटीन चलाने की घोषणा की है। नयागांव थाना क्षेत्र में राजकोट राजस्थान से पहुंचे डेढ़ दर्जन लोगों को पुलिस ने रोककर मेडीकल चेकअप कराया। स्वास्थ्य विभाग ने बस स्टैंड के पास भी चेकअप करने वाली मेडिकल टीम लगाई है।
डीएम शेषमणि पांडेय तथा पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल ने शनिवार को ट्रैफिक चौराहा, पुरानी बाजार, बेड़ी पुलिया चौराहा, शिवरामपुर आदि विभिन्न जगहों पर भ्रमण कर जनपद में लागू लॉकडाउन की व्यवस्था का जायजा लिया है। लोगों से खानपान आदि व्यवस्थाओं की जानकारी करते हुए घर में रहने को कहा। तरौहा स्थित वार्ड में नगर पालिका परिषद के उपलब्ध कराएं भोजन पैकेट का वितरण असहाय एवं निराश्रित लोगों के मध्य किया गया। उन्होंने अधिशासी अधिकारी तथा सभासदों से कहा कि निराश्रित तथा असहाय लोगों को चिह्नित कर प्रतिदिन खाने-पीने की व्यवस्था सुनिश्चित कराएं।
शनिवार को डीएम ने कलक्ट्रेट स्थित कंट्रोल रूम का औचक निरीक्षण किया। जिला कृषि अधिकारी वसंत दुबे से विभिन्न बिंदुओं के बारे में विस्तृत जानकारी की। उन्होंने शासन से प्राप्त दिशा निर्देशों के तहत तत्काल कार्रवाई करने के निर्देश दिए। कहा कि जनपद स्तर पर जो भी समस्याएं मिलें उन्हें निस्तारित कराएं। किसी भी दशा में कहीं पर कोई समस्या नहीं होनी चाहिए। जिला अस्पताल में शनिवार को 21 मरीजों की जांच हुई, जिनमें कोरोना वायरस के लक्षण न पाए जाने पर इलाज कर घर भेजा गया है। इसी प्रकार जिले की सीमा से सटे नयागांव थाना क्षेत्र के प्रमोद वन के पास चार वाहनों से राजस्थान से आ रहे यात्रियों को पुलिस ने चेकिंग के दौरान रोक लिया। इसके बाद सभी का मेडीकल चेकअप कराया गया। शहर में दतिया जाने के िलए एक परिवार दो दिन से स्टेशन के पास बैठा रहा। शनिवार को वह पैदल ही जाने को निकला। इसकी जानकारी होने पर शहर कोतवाल अनिल सिंह ने तीन वाहनों से जा रहे कुछ लोगों को रोककर इस परिवार को भी ले जाने को कहा है। स्टेशन रोड पर कुछ समाजसेवियों ने इन यात्रियों को नमकीन व बिस्कुट खिलाया।
यात्री ले सकते हैं बस सेवा
चित्रकूट। रोडवेज बस स्टैंड के इंचार्ज सुरेश निगम ने कहा कि चित्रकूट में फंसे सतना व अन्य जगहों के यात्री बस सेवा ले सकते हैं। राष्ट्रीय जन उद्योग व्यापार संगठन के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री ने प्रधानमंत्री से मांग किया कि कोरोना महामारी के चलते देश में 21 दिनों के लॉकडाउन से खुदरा व्यापारी खुद को खतरे में डालकर आमजन को खाद्यान्न आदि सामग्री मुहैया करा रहे हैं। ऐसे में किराना, फल, सब्जी व्यापारियों को 50 लाख का बीमा अविलंब कराया जाए।
50 बंदियों की हो सकती है रिहाई
चित्रकूट। कोरोना वायरस से लड़ने के लिए जिले में हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। ऐसे में जिला जेल रगौली में बंद लगभग 50 बंदियों को भी राहत मिल सकती है। इन बंदियों को 42 दिन की छुटटी मिलने की संभावना है। जिला जेलर श्रीप्रकाश त्रिपाठी ने बताया कि अभी इसका फैसला नहीं हुआ है। रविवार को अदालत व उच्चाधिकारी इस पर कुछ फैसला ले सकते हैं।
... और पढ़ें

जानकीकुड अस्पताल से सैकड़ों मरीज बिना इलाज के लौट रहे

खोही। जिले की सीमा पर स्थित धर्मनगरी के मप्र क्षेत्र के सदगुरू सेवा संघ से संचालित जानकीकुड अस्तपाल में मात्र इमरजेंसी मरीजों को ही देखा जा रहा है। इससे अन्य बीमारियों से पीड़ित लोग गेट के बाहर ही बैठे रहते हैं। जब अस्पताल के अंदर नहीं जाने दिया जाता तो लौट जाते हैं।
जानकीकुंड अस्पताल जो आंखों के आपरेशन सहित कई बीमारियों के इलाज के लिए प्रसिद्ध है। हजारों मरीज दूर-दूर से आते हैं। अस्पताल में इस समय इमरजेंसी मरीजों का ही इलाज किया जा रहा है। प्रसव के मरीज भी देखे जा रहे हैं। अन्य बीमारियों का इलाज बंद होने से अस्पताल पहुंच रहे सैकड़ों मरीजों को गेट के अंदर नहीं जाने दिया जाता तो निराश होकर लौट जाते हैं। नया गांव की राजरानी, पथरापाल देव की रानीदेवी ने बताया कि बुखार के कारण अस्पताल में दिखाने आई हैं। अस्पताल कर्मचारी कहते हैं कि अस्पताल में मात्र इमरजेंसी वाले मरीजों को ही देखा जाता है। अन्य मरीजों का इलाज नहीं किया गया। इससे सैकड़ों लोगों को वापस लौटना पड़ रहा है।
... और पढ़ें

चित्रकूट में किसानों ने फसल काटने की मांगी इजाजत

चित्रकूट। कलक्ट्रेट परिसर में लॉकडाउन के समय खोल गए कंट्रोल रूम में शनिवार को 26 फरियारियों ने प्रशासन से सहयोग मांगा। इसमें कई का निवारण किया गया। कई किसानों ने फसल काटने को लेकर जानकारी मांगी जिस पर बताया कि खेतों में फसल काटने पर कोई रोक नहीं है।
लॉकडाउन के दौरान से ही कलक्ट्रेट परिसर में कंट्रोल रूम बनाया गया है। जिसमें टेलीफोन के माध्यम से जानकारी लेने के बाद संबंधित अधिकारी द्वारा उसका निराकरण किया जाता है। कंट्रोल रूम अधिकारी अलाउद्दीन अंसारी ने बताया कि को 26 लोगों ने समस्या के निराकरण के लिए जानकारी दी। इसमें रैपुरा से किसानों ने फसल काटने में सहयोग मांगा। इसी तरह से भोजन की व्यवस्था के लिए कई स्थानों से जानकारी दी गई। जिसका निराकरण कराया गया।
... और पढ़ें

लॉकडाउन: दर्जनों भूखे प्यासे छात्र पैदल पहुंचे चित्रकूट, बताया बीच रास्ते में छोड़ भाग गई बस

देश में लॉकडाउन की घोषणा के चाैथे दिन शनिवार तड़के दर्जनों भूखे प्यासे छात्र चित्रकूट पहुंचे। छात्रों ने बताया कि वो लखनऊ स्थित डीसीए एकेडमी में आर्मी की तैयारी कर रहे हैं। लॉकडाउन के बाद एक बस उन्हें छोड़ने के लिए लखनऊ से आई पर सभी को बीच रास्ते में छोड़कर भाग गई। 

सभी छात्र मध्यप्रदेश के सतना और रीवा जिले के रहने वाले हैं। छात्रों के पहुंचे की जानकारी मिलने पर चित्रकूट प्रशासन ने सबसे पहले उनकी जांच करवाई। इसके बाद सभी को भोजन और पानी उपलब्ध करवाया गया। प्रशासन ने छात्रों को हर संभव मदद करने का आश्वासन दिया है।

सभी छात्रों को चित्रकूट के शिवरामपुर कस्बे में रोका गया है। जिलाधिकारी शेषमणि पांडे पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल सीडीओ डॉ महेंद्र कुमार टीम के साथ वहां पहुंचे और सभी छात्रों से मिले। इसके बाद दो विशेष बसें बुक करा कर उन्हें रीवा शहडोल व अन्य स्थानों के लिए भेजा गया है।

इसके पूर्व बृहस्पतिवार को भी लखनऊ के इन्हीं छात्रों के एक अन्य दल को बस में बड़ी पुलिया के पास छोड़ा गया था। जो नया गांव मध्य प्रदेश थाना क्षेत्र की ओर से अपने गंतव्य गए थे। जानकीकुंड अस्पताल में उनका इलाज और मेडिकल चेकअप भी कराया गया था। वह सब छात्र सतना व रीवा जिला के निवासी थे।
... और पढ़ें

चित्रकूट: कुएं में गिरने से महिला की मौत, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप

बारिश होने से रबी की फ सल को हुआ नुकसान

मानिकपुर/भरतकूप। जिले में एक बार फिर से मौसम बदल गया। ग्रामीण क्षेत्रों में कई स्थानों पर जोरदार बारिश हुई है। जिससे रबी की फसल को नुकसान हुआ है ।बारिश होने से किसान में खासी चिंता देखी जा रही है।
शुक्रवार दोपहर को मानिकपुर, बहिलपुरवा व भरतकूप क्षेत्र के कई गांवों में जोरदार बारिश होने से फसल को नुकसान हुआ है। सबसे ज्यादा सरसों, व मसूर की फसलें प्रभावित हुईं। कई किसान अपने-अपने खेतों से फसल काटकर खलिहानोें में रख दिया है। वह भीग जाने से किसानों को नुकसान उठाना पड़ा। किसानों को चिंता सता रही है कि यही हाल रहा सारे अरमानों पर पानी फिर जाएगा। कृषि विभाग के उप कृषि निदेशक टीपी शाही ने बताया कि इस समय बारिश होने से फसल को अधिक नुकसान हो रहा है।
... और पढ़ें

जानकीकुड अस्पताल से सैकड़ों मरीज बिना इलाज के लौट रहे

खोही। जिले की सीमा पर स्थित धर्मनगरी के मप्र क्षेत्र के सदगुरू सेवा संघ से संचालित जानकीकुड अस्तपाल में मात्र इमरजेंसी मरीजों को ही देखा जा रहा है। इससे अन्य बीमारियों से पीड़ित लोग गेट के बाहर ही बैठे रहते हैं। जब अस्पताल के अंदर नहीं जाने दिया जाता तो लौट जाते हैं।
जानकीकुंड अस्पताल जो आंखों के आपरेशन सहित कई बीमारियों के इलाज के लिए प्रसिद्ध है। हजारों मरीज दूर-दूर से आते हैं। अस्पताल में इस समय इमरजेंसी मरीजों का ही इलाज किया जा रहा है। प्रसव के मरीज भी देखे जा रहे हैं।
अन्य बीमारियों का इलाज बंद होने से अस्पताल पहुंच रहे सैकड़ों मरीजों को गेट के अंदर नहीं जाने दिया जाता तो निराश होकर लौट जाते हैं। नया गांव की राजरानी, पथरापाल देव की रानीदेवी ने बताया कि बुखार के कारण अस्पताल में दिखाने आई हैं।
अस्पताल कर्मचारी कहते हैं कि अस्पताल में मात्र इमरजेंसी वाले मरीजों को ही देखा जाता है। अन्य मरीजों का इलाज नहीं किया गया। इससे सैकड़ों लोगों को वापस लौटना पड़ रहा है।
... और पढ़ें

कोरोना वायरस से न घबराएं, खुद बचें दूसरों को बचाएं

चित्रकूट। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. विनोद कुमार यादव ने बताया कि बुखार और खांसी होने पर केवल पैरासीटामाल लें और घर पर आराम करें। कोरोना वायरस को लेकर हम तीन महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर फोकस करने के साथ ही उन्हें क्या सावधानी बरतनी है, उस बारे में जागरूक कर रहे हैं।
इसमें पहला है अगर आप विदेश से लौटे हैं, दूसरा अगर आप दूसरे राज्य या शहर से गाँव लौटे हैं और तीसरा अगर आप सामान्य नागरिक हैं तो क्या जरूरी सावधानी बरतनी है। विदेश से लौटे हैं तो वैश्विक महामारी कोरोना के दौरान विदेश से आने वालों को बताया जा रहा है कि घबराएं नहीं, 14 दिनों तक घर के एक अलग कमरे में परिवार वालों से दूर रहें। इस तरह से आप अपने साथ परिवार वालों को भी कोरोना से बचा सकते हैं। जिस कमरे में रह रहे हैं उसमें एक लीटर पानी में 15 ग्राम ब्लीचिंग पाउडर मिलाकर पोछा लगाएं।
इस दौरान परिवार वालों के साथ ही किसी अन्य से भी हाथ मिलाने और गले मिलने से बचें। विदेश से लौटने के 28 दिनों के भीतर अगर खांसी, बुखार या सांस लेने में तकलीफ जैसे कोई भी लक्षण दिखें तो तत्काल स्वास्थ्य विभाग के टोल फ्री नंबर 18001805145 अथवा जिले में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कर्वी में स्थापित कंट्रोल रूम के फोन न 233066, 233685 पर संपर्क करें।
... और पढ़ें

मोबाइल से बात करने पर मना किया तो खुदकशी की

मऊ (चित्रकूट)। मोबाइल से बात करने से मना करने पर नाराज गांव बौसड़ा में किशोरी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। घटना की जानकारी होते ही पूरे गांव में हड़कंप मच गया। ग्रामीणों की सूचना पर पहुंचे परिजनों ने पुलिस सूचना दी।
मऊ थानाक्षेत्र के बौसड़ा गांव निवासी दुर्गी देवी (16) पुत्री मोतीलाल शुक्रवार की सुबह परिजनों को शौच की के लिए बोलकर निकली। नाले के पास जामुन के पेड़ में दुपट्टे से फंदा बनाकर झूल गई। कुछ देर बाद वहां पहुंचे ग्रामीणों ने किशोरी को पहचान कर परिजनों को सूचना दी।
जानकारी होते ही क्षेत्राधिकारी विजयेंद्र द्विवेदी, कोतवाल सुभाष चंद्र चौरसिया पुलिस बल के साथ घटना स्थल पर पहुंचे। शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम कराया है। एएसपी बलवंत चौधरी ने शीघ्र तप्तीश के निर्देश दिए हैं। थानाध्यक्ष ने बताया कि बृहस्पतिवार को किशोरी को परिजनों ने मोबाइल पर ज्यादा बात करने से रोका टोका था। संभवत: इसी बात से नाराज होकर उसने यह कदम उठाया है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं
Banda + Chitrakoot Ad
Banda + Chitrakoot Ad
Banda + Chitrakoot Ad

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us