विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Coronavirus in UP Live Updates: प्रदेश में 80 संक्रमित, लखनऊ में 9 दिनों से नहीं मिला कोई मरीज

शासन और प्रशासन संक्रमण के चेन को तोड़ने के लिए लगातार कोशिश कर रहा है। लोगों से भी हर वक्त घरों में रहने की अपील की जा रही है।

30 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

चित्रकूट

सोमवार, 30 मार्च 2020

मोबाइल से बात करने पर मना किया तो खुदकशी की

मऊ (चित्रकूट)। मोबाइल से बात करने से मना करने पर नाराज गांव बौसड़ा में किशोरी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। घटना की जानकारी होते ही पूरे गांव में हड़कंप मच गया। ग्रामीणों की सूचना पर पहुंचे परिजनों ने पुलिस सूचना दी।
मऊ थानाक्षेत्र के बौसड़ा गांव निवासी दुर्गी देवी (16) पुत्री मोतीलाल शुक्रवार की सुबह परिजनों को शौच की के लिए बोलकर निकली। नाले के पास जामुन के पेड़ में दुपट्टे से फंदा बनाकर झूल गई। कुछ देर बाद वहां पहुंचे ग्रामीणों ने किशोरी को पहचान कर परिजनों को सूचना दी।
जानकारी होते ही क्षेत्राधिकारी विजयेंद्र द्विवेदी, कोतवाल सुभाष चंद्र चौरसिया पुलिस बल के साथ घटना स्थल पर पहुंचे। शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम कराया है। एएसपी बलवंत चौधरी ने शीघ्र तप्तीश के निर्देश दिए हैं। थानाध्यक्ष ने बताया कि बृहस्पतिवार को किशोरी को परिजनों ने मोबाइल पर ज्यादा बात करने से रोका टोका था। संभवत: इसी बात से नाराज होकर उसने यह कदम उठाया है।
... और पढ़ें

विश्वविद्यालय के कुलपति ने एक लाख रुपए और एक दिन का वेतन किया दान

चित्रकूट। महामारी बन चुके कोरोना वायरस से निपटने के लिए महात्मा गांधी चित्रकूट ग्रामोदय विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. नरेश चंद्र गौतम ने मुख्यमंत्री राहत सहायता कोष में अपना एक दिन का वेतन और एक लाख रुपये देने की घोषणा की है।
कुलपति ने विश्वविद्यालय के शिक्षकों, अधिकारियों और कर्मचारियों से अपील की है कि वे भी इस आपदा से निपटने में आर्थिक मदद के रूप में अपना एक दिन का वेतन दें। अधिष्ठाता छात्र कल्याण के प्रोफेसर शशिकांत त्रिपाठी को निर्देश दिए कि ऐसे छात्र-छात्राओं की समस्याओं का समाधान करें, अपने-अपने घर नहीं जा सके हैं। जनसंपर्क अधिकारी जय प्रकाश शुक्ल ने कहा कि ऐसे छात्र-छात्राएं प्रोफेसर त्रिपाठी के मोबाइल नंबर 917933 6196 पर संपर्क कर सकते हैं।
... और पढ़ें

मस्जिदों में भी लाकडाउन,घरों में अदा की नमाज

चित्रकूट। लॉकडाउन के तीसरे दिन पुलिस ने सड़क पर बेवजह निकले युवकों को पकड़कर उठक बैठक कराई। डीएम-एसपी और सीडीओ ने सड़कों पर निकलकर लॉकडाउन का कड़ाई से पालन कराने के निर्देश देते रहे। शुक्रवार को जुमे की नमाज अदा करने के लिए मस्जिदों के आसपास नमाजियों को एकत्र नहीं होने दिया गया। मौलानाओं ने भी मस्जिदों में ताला बंद कर घरों में नमाज पढ़ने की हिदायत दी। सब्जी मंडी पहुंचने वाले आमजनों को पुलिस ने डंडे फटकार कर भगा दिया।
कई स्थानों पर भूखे व कई दिनों से पड़े बाहरी लोगों को डीएम की पहल पर भोजन उपलब्ध कराने का इंतजाम किया गया। बाहरी जिले को जाने वाले लोग वाहन न मिलने से परेशान रहे। जानकीकुंड के पास बालकदास आश्रम पर सौ श्रद्धालुओं का मेडिकल टेस्ट कराया गया। ये सब भिंड मुरैना जिले के निवासी हैं। जो कई दिनों से आश्रम में ठहरे हैं। जिला अस्पताल में भी 20 लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण हुआ। किसी में भी कोरोना वायरस के प्राथमिक लक्षण नहीं मिले।
जिलाधिकारी शेषमणि पांडेय, पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल व सीडीओ डा. महेंद्र कुमार ने जनपद में लागू लॉकडाउन व्यवस्था का औचक निरीक्षण किया। उन्होंने ट्रैफिक चौराहा, पुरानी बाजार, जामा मस्जिद, नूरानी मस्जिद, शंकर बाजार आदि विभिन्न स्थानों का भ्रमण कर जनता से घर में रहने को कहा है। फेसबुक से मिली जानकारी पर शिवरामपुर की एक बस्ती पहुंची प्रशासनिक टीम ने जरूरतमंदों को भोजन उपलब्ध कराया। इसके अलावा सदर कोतवाली क्षेत्र के नई दुनिया कंपोजिट विद्यालय के पीछे रहने वाली बस्ती के कुछ मजदूर परिवारों को भी भोजन उपलब्ध कराया गया है।
छात्र-छात्राओं से घरों में ही रहने की अपील
चित्रकूट। स्कूल और कालेजों के अभिभावक संघ व मदर एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने छात्र-छात्राओं से अपील की है कि अभिभावक संघ, माता,पिता आपके शुभचिंतक है। कोरोना वायरस से बचने के लिए छात्र-छात्राएं देश का सहयोग करें। जेएम आवासीय विद्यालय के अभिभावक संघ के अध्यक्ष पुष्पेंद्र सिंह व मंत्री ओंकार सिंह ने छात्र-छात्राओं से अपील किया है कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए पूरे देश को मिलकर लड़ाई लड़नी है। भीड़ भाड़ वाले इलाके में न जाए। किसी वाहन का इस्तेमाल न करे। किसी साधन से यात्रा करने पर संक्रमण फैल सकता है। देश की इस लड़ाई में सहयोग करें। संवाद
फल और सब्जियाें की खरीदारी
चित्रकूट। लॉकडाउन के तीसरे दिन शहर में सब्जी व फलों की ठेलियां भ्रमण करती नजर आई। लोगों ने खरीददारी भी की। इसके अलावा सड़कों पर सन्नाटा रहा। कुछेक लोग वाहन व पैेदल जरूरत की वस्तुओं की खरीददारी को घरों से बाहर निकले। पुलिस लगातार निगरानी करती रही। जहां भी दो-चार लोग खड़े दिखाई दिए तो उन्हें तत्काल घर जाने की हिदायत दी।
घूमने वालों को कराई उठक-बैठक
चित्रकूट। लॉकडाउन का पालन कराने के लिए यातायात प्रभार योगेश कुमार के नेतृत्व में ट्रैफिक चौराहा में यातायात पुलिस सक्रिय रही। वाहन से गुजरने वाले लोगों को रोक कर पूछताछ की। फालतू घूमने वालों को उठक बैठक कराकर छोड़ा। चेताया कि अनावश्यक घर से बाहर न निकले। दुबारा नजर आने पर सख्त कार्यवाही की जाएगी।
बीस लोगों की जांच हुई
चित्रकूट। जिला अस्पताल में लॉकडाउन के तीसरे दिन 20 लोगों की जांच की गई। इसके अलावा सीएचसी, पीएचसी में बीमार लोगों का इलाज हुआ। उधर, चैत्र नवरात्रि के तीन दिन सन्नाटे में गुजर गए। मंदिर के पुजारियों ने लोगों से घरों पर ही रहकर पूजापाठ करने की सलाह देते रहे। शुक्त्रस्वार को जुमे की नमाज पर भी लॉकडाउन का असर दिखा। मस्जिदों में ताला लटके रहे।
खाद्य सामग्री बांटी गई
चित्रकूट। जिला प्रशासन व नगर पालिका कर्वी की पहल से शहरी क्षेेत्र में डोर टू डोर खाद्य सामग्री का वितरण राष्ट्रीय जन उद्योग व्यापार संगठन के पदाधिकारी कर रहे हैं। राष्ट्रीय संगठन महामंत्री शानू गुप्ता ने बताया कि आपूर्ति लोगों को मिल रही है। सामान लेने व अपने घरों से ही जरूरत की चीजों का पर्चा भेजने को कह रहें है। ज्यादातर गरीब बस्तियों में घर घर राशन उपलब्ध कराने का किया जा रहा है। बताया कि आगे भी यह व्यवस्था जारी रहेगी।
अफसरों ने मुहैया कराई खाद्य सामग्री
मऊ । लॉकडाउन के चलते बाहर मजदूरी करने गए लोगों के वापस न आ पाने से परिवार के सामने जरूरत की वस्तुओं के लाले पड़ गए। ट्वीट के जरिये सूचना मिलते ही एसपी अंकित मित्तल ने तत्काल संज्ञान लिया है और उनके निर्देश पर प्रभारी निरीक्षक बरगढ़ राजेश कुमार ने विनोबा नगर मजरा नई बस्ती पहुंच कर लक्ष्मी देवी पत्नी भगवानदास को आटा, सरसों का तेल, मसाला, नमक के पैकेट समेत सब्जी आदि आवश्यक सामग्री मुहैया कराई है। साथ ही गांव के कोटेदार से कहा कि आवश्यकता अनुसार ऐसे परिवारों को खाद्यान्न सामग्री उपलब्ध कराते रहे। थानाध्यक्ष ने पीड़ित परिवार को सीयूजी नंबर देकर कहा है कि किसी भी समस्या पर सूचित करें।
Lockdown in mosques as well, prayers offered in homes
Lockdown in mosques as well, prayers offered in homes- फोटो : CHITRAKUTT
Lockdown in mosques as well, prayers offered in homes
Lockdown in mosques as well, prayers offered in homes- फोटो : CHITRAKUTT
Lockdown in mosques as well, prayers offered in homes
Lockdown in mosques as well, prayers offered in homes- फोटो : CHITRAKUTT
... और पढ़ें

कार पलटने से डाक्टर समेत चार लोग घायल

चित्रकूट। रैपुरा थानाक्षेत्र के रामनगर के समीप हाईवे पर अनियंत्रित हुई कार पुलिया से टकराकर खड्ड में जा गिरी। जिससे कार में सवार सीएचसी रामनगर प्रभारी समेत चार स्वास्थ्यकर्मी घायल हो गए हैं। कार का एयरबैग खुल जाने से ज्यादा गंभीर नहीं आई है। सभी लोग जिला मुख्यालय से जांच कर रामनगर लौट रहे थे।
जानकारी के मुताबिक जिले में बाहर से आ रहे लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग कराने के लिए मुख्यालय के बस स्टैैंड पर शनिवार को सीएचसी रामनगर प्रभारी डॉ. शैलेंद्र सिंह व फार्मासिस्ट सुंदरलाल व चतुर्थश्रेणी के कर्मचारी धर्मेंद्र व एक अन्य कर्मचारी की डयूटी लगी थी। रविवार सुबह चार बजे सभी ड्यूटी पूरी कर रामनगर अस्पताल लौटते समय कार रामनगर के समीप राजमार्ग पर अनियंत्रित होकर पुलिया से टकराकर गड्ढे में गिर गई। जिससे कार सवार डाक्टर समेत सभी की चीख पुकार मच गई। कार का एयरबैग खुलने से किसी को गंभीर चोट नहीं आई। हादसे में सभी बाल-बाल बच गए। रैपुरा थानाध्यक्ष रमेशचंद्र ने बताया कि सभी को सकुशल गड्ढे से बाहर निकाल लिया गया है। कार को क्रेन से बाहर निकाला गया।
... और पढ़ें

विवाहिता ने फांसी लगा खुदकुशी की

सरैंया (चित्रकूट)। सूने घर में विवाहिता का शव फंदे से लटका मिला है। मायका पक्ष ने इसे मारपीट कर हत्या किए जाने का आरोप लगाया है। मृतका की शादी चार साल पहले हुई थी। उसके कोई संतान नहीं थी।
राजापुर थाना क्षेत्र के करौंदीकला गांव निवासी मंजू पाल (22) की शादी 2016 में रैपुरा थाना क्षेत्र के लोधौरा गांव के लालबहादुर के साथ हुई थी। पति ने बताया कि होली के पहले पत्नी अपने भाई के साथ मायके गई थी। चार दिन पूर्व वह पत्नी को विदा कराकर गांव लाया था। शनिवार की देर शाम को परिजन खेत में फसल काटने गए थे। वह घर में अकेली थी। लौटा तो कमरा बंद था, खटखटाने पर भी नहीं खुला, खिड़की से अंदर देखा तो मंजू का शव फंदे से लटका था। इधर, मृतका के पिता रामबहादुर व चचेरा भाई जयनारायण ने बताया कि पति-पत्नी व परिजनों से विवाद के चलते मंजू की मौत हुई है। इस मामले में हत्या का भी संदेह है। अभी थाने में कोई तहरीर नहीं दी है। मौत के पहले मंजू ने मायके में फोन से बात भी की थी। रैपुरा थानाध्यक्ष रमेशचंद्र ने बताया कि सूचना मिलने पर पुलिस टीम गांव भेजी गई। पंचनामा कर रविवार को पोस्टमार्टम कराया गया है।
फोटो नंबर- 8
... और पढ़ें

देवदूत बनकर कई जगह पहुंचे पुलिसकर्मी

राजापुर। बुजुर्ग, विधवा, निराश्रित, आदिवासियों को खाद्यान्न मुहैया कराने के एसपी अंकित मित्तल के निर्देशों के क्त्रस्म में रैपुरा थाना प्रभारी रमेशचंद्र ने ट्वीट के माध्यम से हनुमानगंज की विधवा पतंगी, गेंदिया पत्नी छंग्गा, सखिया पत्नी चुनका, छंग्गी पत्नी घुल्सू, मंटोरिया पत्नी विजय, ननकी पत्नी समयलाल, लंगड़ी पत्नी सुखलाल, संवरिया पत्नी शिवलखन व मानिकपुर थाना प्रभारी निरीक्षक केके मिश्रा ने बराहमाफी, बांसा पहाड़ रेलवे स्टेशन के पास वाराणसी जाने वाले 26 आदिवासी श्रमिकों के परिवार को भोजन उपलब्ध कराया। गंतव्य तक के लिए साधन की व्यवस्था की। थाना राजापुर के प्रभारी निरीक्षक गुलाब त्रिपाठी ने क्षेत्र भ्रमण कर लंच पैकेट बांटे। बरगढ़ थाना प्रभारी राजेश कुमार ने बांदा से मप्र जा रहे मजदूरों को लंच कराकर रवाना किया। शिवरामपुर चौकी प्रभारी अजीत सिंह ने महोबा जा रहे सात मजदूरों को रोककर भोजन देकर वाहन मुहैया कराया। सीतापुर चौकी प्रभारी रामवीर सिंह ने परिक्त्रस्मा मार्ग पर बेसहारा याचकों व बंदरों को चना खिलाया। राजापुर थाना के एसआई सुधीर सिंह ने 20 मजदूरों को भोजन, वाहन आदि के प्रबंध किए हैं। इसी प्रकार पीआरबी टीम ने राजापुर में पानी पूरी की ठेलिया लगाने वाले जालौन के कमल सिंह को राशन प्रदान किया है। ... और पढ़ें

जिले में तीन हजार छह सौ लोग होम क्वारंटीन

परदेश से आए 3500 लोगों का होम क्वारंटीन
:- परीक्षण के बाद हाथ में लगाएं चिन्ह: डीएम
- दिल्ली, गाजियाबाद व महाराष्ट्र से आने वालों की जिले की सीमा पर जांच
संवाद न्यूज एजेंसी
चित्रकूट। परदेश से आए 3500 से अधिक लोगों को परीक्षण के बाद होम क्वारंटीन कराया गया है। अधिकांश के घर के बाहर नोटिस चस्पा कराकर एएनएम व आशा को देखरेख को निर्देशित किया है। डीएम ने बताया कि दिल्ली, गाजियाबाद व महाराष्ट्र की ओर से आने वालों के लिए जिले की सीमा पर ही जांच की व्यवस्था की गई है। वहीं जिले में फंसे लोगों के लिए प्रयागराज व बांदा के लिए एक एक रोडवेज बस लगाई गई।
सीएमओ डा. विनोद कुमार ने बताया कि अबतक मिली सूची के अनुसार जिले में बाहर से आए तीन हजार छह सौ से धिक लोगों को चिंहित कर होेम क्वारंटीन करा दिया गया है। गांव में आशा व एएनएम की डयूटी लगा दी गई है। सदर ब्लाक के तीन गांव के तीन घरों में विशेष संदेह होने पर स्वास्थ्य विभाग ने नोटिस चस्पा कराया है। घर पर रहने की सलाह दी है। निगरानी के लिए आशा, एएनएम तैनात हैं। मुख्यालय के शंकर ढाबा के मालिक जयशंकर मिश्रा ने दूरदराज से आए लोगों को भोजन का पैकेट देने का बीड़ा उठाया है। उन्होंने कहा कि प्रतिदिन एक हजार भोजन पैकेट मुहैया कराया जाएगा। इस अभियान में नगर पालिका परिषद के ईओ नरेंद्र मोहन मिश्र ने भी मदद की बात कही है। इसी क्त्रस्म में स्टेशन रोड निवासी समाजसेवी गणेश मिश्रा ने दूरदराज से आने वाले लोगों को पांच सौ लंच पैकेट वितरित किया है।
इनसेट
500 लोगों को बसों से भेजा
चित्रकूट। लॉकडाउन के पंाचवें दिन जिले में बाहर से आने वाले लोगों की जांच के लिए रविवार को जिले की सीमा से लेकर बस स्टैंड पर चलित स्वास्थ्य वाहन में मौजूद स्वास्थ्यकर्मियों ने लगभग 500 लोगों का परीक्षण किया। किसी में भी कोरोना वायरस के लक्षण नहीं मिले। बाहरी जिले से आए लोगों को गंतव्य तक भेजने व उनके भोजन का इंतजाम जिला प्रशासन व समाजसेवियों ने किया। लगभग एक हजार भोजन के पैकेट बांटे गए। प्रयागराज व बांदा के लिए एक एक रोडवेज बस भेजी गई। मुख्यालय के बस स्टैंड कर्वी पर रविवार की सुबह तैनात स्वास्थ्य टीम ने 500 लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। यहां एसपी के साथ पहुंचे जिलाधिकारी ने कहा कि इनके परीक्षण के उपरांत इनके हाथों में चिन्ह भी लगाया जाए। बस स्टैंड कर्वी से प्रयागराज व बांदा की ओर जाने वाले यात्रियों की जांच के बाद बसों से रवाना किया गया है। इसके साथ ही कुछ स्थानों पर पुलिसकर्मियों ने बेवजह घर से बाहर निकले युवकों को मुर्गा बनाकर सबक सिखाया।
----------------इनसेट
51-51 हजार के दिए चेक
चित्रकूट। कोरोना वायरस महामारी को देखते हुए मुख्यालय के डॉ सुधीर अग्रवाल तथा सर्राफा व्यापारी राजू बनारसी ने मुख्यमंत्री राहत सहायता कोष में जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय को कलक्ट्रेट सभाकक्ष में 51-51 हजार रुपये के चेक प्रदान किए। इस दौरान व्यापार मंडल के पंकज अग्रवाल, अर्पित अग्रवाल आदि मौजूद रहे। इसके अलावा समाजसेवी विवेक अग्रवाल (विक्की) ने एक लाख रुपये का चेक मुख्यमंत्री राहत कोष में दिया है।
-----------------इनसेट
बुंदेली सेना जिलाध्यक्ष ने बांटे लंच पैकेट
चित्रकूट। बुंदेली सेना के जिलाध्यक्ष अजीत सिंह ने लाक डाउन पर 25 गरीबों को लंच पैकेट मुहैया कराया है। उन्होंने जिलाधिकारी के अथक प्रयास से गुजरात के तीन, महाराष्ट्र के 18 तीर्थ यात्रियों को वाहन मुहैया कराने पर प्रशंसा की है। इसके अलावा पहाडी थाना क्षेत्र के पनौटी गांव के एक परिवार के मुखिया के मुम्बई में फंसे होने से परेशान है। ऐसे में उन्हें भी घर वापसी की व्यवस्था की जाए। बताया कि लंच पैकेट समाजसेवी जयशंकर मिश्रा ने उपलब्ध कराए हैं। सक्षम लोगों से गरीबों की मदद करने को कहा है।
... और पढ़ें

चित्रकूट: हाईवे पर बेकाबू होकर पलटी सीएचसी प्रभारी अधीक्षक की कार, बाल-बाल बचे

चित्रकूटः लाकडाउन का उल्लघंन पर बने मुर्गा, परेशान यात्रियों की समस्या पर चेता प्रशासन

चित्रकूट। लॉकडाउन के चौथे दिन आखिरकार जिला प्रशासन ने सुदूर क्षेत्रों के फंसे भूख से तड़पते यात्रियों की सुध ली। कुछ स्थानों पर लॉकडाउन का उल्लघंन करने पर पुलिस ने युवकों को मुर्गा बनाकर सबक सिखाया। ग्रामीण इलाकों में भोजन सामग्री के पैकेट बंटवाए गए। सड़क पर दूर-दूर के शहरों से पैदल चलकर आए यात्रियों को भी आते जाते देखा गया। सांसद से लेकर कई समाजसेवियों ने नियमित रूप से निशुल्क कैंटीन चलाने की घोषणा की है। नयागांव थाना क्षेत्र में राजकोट राजस्थान से पहुंचे डेढ़ दर्जन लोगों को पुलिस ने रोककर मेडीकल चेकअप कराया। स्वास्थ्य विभाग ने बस स्टैंड के पास भी चेकअप करने वाली मेडिकल टीम लगाई है।
डीएम शेषमणि पांडेय तथा पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल ने शनिवार को ट्रैफिक चौराहा, पुरानी बाजार, बेड़ी पुलिया चौराहा, शिवरामपुर आदि विभिन्न जगहों पर भ्रमण कर जनपद में लागू लॉकडाउन की व्यवस्था का जायजा लिया है। लोगों से खानपान आदि व्यवस्थाओं की जानकारी करते हुए घर में रहने को कहा। तरौहा स्थित वार्ड में नगर पालिका परिषद के उपलब्ध कराएं भोजन पैकेट का वितरण असहाय एवं निराश्रित लोगों के मध्य किया गया। उन्होंने अधिशासी अधिकारी तथा सभासदों से कहा कि निराश्रित तथा असहाय लोगों को चिह्नित कर प्रतिदिन खाने-पीने की व्यवस्था सुनिश्चित कराएं।
शनिवार को डीएम ने कलक्ट्रेट स्थित कंट्रोल रूम का औचक निरीक्षण किया। जिला कृषि अधिकारी वसंत दुबे से विभिन्न बिंदुओं के बारे में विस्तृत जानकारी की। उन्होंने शासन से प्राप्त दिशा निर्देशों के तहत तत्काल कार्रवाई करने के निर्देश दिए। कहा कि जनपद स्तर पर जो भी समस्याएं मिलें उन्हें निस्तारित कराएं। किसी भी दशा में कहीं पर कोई समस्या नहीं होनी चाहिए। जिला अस्पताल में शनिवार को 21 मरीजों की जांच हुई, जिनमें कोरोना वायरस के लक्षण न पाए जाने पर इलाज कर घर भेजा गया है। इसी प्रकार जिले की सीमा से सटे नयागांव थाना क्षेत्र के प्रमोद वन के पास चार वाहनों से राजस्थान से आ रहे यात्रियों को पुलिस ने चेकिंग के दौरान रोक लिया। इसके बाद सभी का मेडीकल चेकअप कराया गया। शहर में दतिया जाने के िलए एक परिवार दो दिन से स्टेशन के पास बैठा रहा। शनिवार को वह पैदल ही जाने को निकला। इसकी जानकारी होने पर शहर कोतवाल अनिल सिंह ने तीन वाहनों से जा रहे कुछ लोगों को रोककर इस परिवार को भी ले जाने को कहा है। स्टेशन रोड पर कुछ समाजसेवियों ने इन यात्रियों को नमकीन व बिस्कुट खिलाया।
यात्री ले सकते हैं बस सेवा
चित्रकूट। रोडवेज बस स्टैंड के इंचार्ज सुरेश निगम ने कहा कि चित्रकूट में फंसे सतना व अन्य जगहों के यात्री बस सेवा ले सकते हैं। राष्ट्रीय जन उद्योग व्यापार संगठन के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री ने प्रधानमंत्री से मांग किया कि कोरोना महामारी के चलते देश में 21 दिनों के लॉकडाउन से खुदरा व्यापारी खुद को खतरे में डालकर आमजन को खाद्यान्न आदि सामग्री मुहैया करा रहे हैं। ऐसे में किराना, फल, सब्जी व्यापारियों को 50 लाख का बीमा अविलंब कराया जाए।
50 बंदियों की हो सकती है रिहाई
चित्रकूट। कोरोना वायरस से लड़ने के लिए जिले में हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। ऐसे में जिला जेल रगौली में बंद लगभग 50 बंदियों को भी राहत मिल सकती है। इन बंदियों को 42 दिन की छुटटी मिलने की संभावना है। जिला जेलर श्रीप्रकाश त्रिपाठी ने बताया कि अभी इसका फैसला नहीं हुआ है। रविवार को अदालत व उच्चाधिकारी इस पर कुछ फैसला ले सकते हैं।
... और पढ़ें

जानकीकुड अस्पताल से सैकड़ों मरीज बिना इलाज के लौट रहे

खोही। जिले की सीमा पर स्थित धर्मनगरी के मप्र क्षेत्र के सदगुरू सेवा संघ से संचालित जानकीकुड अस्तपाल में मात्र इमरजेंसी मरीजों को ही देखा जा रहा है। इससे अन्य बीमारियों से पीड़ित लोग गेट के बाहर ही बैठे रहते हैं। जब अस्पताल के अंदर नहीं जाने दिया जाता तो लौट जाते हैं।
जानकीकुंड अस्पताल जो आंखों के आपरेशन सहित कई बीमारियों के इलाज के लिए प्रसिद्ध है। हजारों मरीज दूर-दूर से आते हैं। अस्पताल में इस समय इमरजेंसी मरीजों का ही इलाज किया जा रहा है। प्रसव के मरीज भी देखे जा रहे हैं। अन्य बीमारियों का इलाज बंद होने से अस्पताल पहुंच रहे सैकड़ों मरीजों को गेट के अंदर नहीं जाने दिया जाता तो निराश होकर लौट जाते हैं। नया गांव की राजरानी, पथरापाल देव की रानीदेवी ने बताया कि बुखार के कारण अस्पताल में दिखाने आई हैं। अस्पताल कर्मचारी कहते हैं कि अस्पताल में मात्र इमरजेंसी वाले मरीजों को ही देखा जाता है। अन्य मरीजों का इलाज नहीं किया गया। इससे सैकड़ों लोगों को वापस लौटना पड़ रहा है।
... और पढ़ें

दिल्ली नहीं कौशांबी दूर है साब, किसी तरह भेज दीजिए

चित्रकूट। लॉकडाउन का असर मजदूरों पर दिख रहा है। शहर में आए दिन सुदूर क्षेत्र से पैदल चलकर लोग आ रहे हैं। जिले की सीमा से सटे कौशांबी जिले के तीन मजदूरों की कहानी भी कुछ ऐसी ही दर्द भरी है। 21 मार्च को कोई साधन न मिलने पर पैदल ही कौशांबी के लिए निकले तीन मजदूर आठवें दिन 28 मार्च को चित्रकूट पहुंचे। इनका कहना है कि अब उन्हें दिल्ली नहीं कौशांबी दूर लगता है। भूखे प्यासे और थके हारे इन मजदूरों का शहर के ट्रैफिक चौराहे पर पुलिस ने रोककर मेडीकल कराया। कई घंटे तक गुजारिश करने के बाद पुलिस ने तीनों को एक ट्रक में बैठाकर कौशांबी रवाना करा दिया।
साहबपुर जिला कौशांबी निवासी राजाराम, रज्जन और बचोली दिल्ली में मजदूरी करते हैं। बताया कि जनता कर्फ्यू की घोषणा होते ही दिल्ली से ट्रेन बसें बंद हो गईं। फैक्टी भी बंद हो गई तो भरण पोषण के लाले पड़ गए। उनके पास इतने रुपये भी नहंी थे कि किसी प्राइवेट वाहन को बुक करते। इसके बाद तीनों पैदल ही वहां से निकले। बायां झांसी होते हुए शनिवार को मुख्यालय पहुंचे थे।
पन्ना पुलिस पर पिटाई का आरोप, टीआई ने बांटे बिस्किट ब्रेड
चित्रकूट। इंदौर से प्रतापगढ़ के लालगंज झारा जा रहे जितेंद्र यादव, धर्मेंद्र यादव, दिलीप यादव बाइक से मुख्यालय आए तो यातायात प्रभारी योगेश कुमार ने उन्हें रोककर पूछताछ की। इन लोगों ने बताया कि टाइल्स लगाने का काम करते हैं। लॉकडाउन होने से भोजन का संकट खड़ा हो गया। इस कारण अब घर जा रहे हैं। पन्ना पुलिस पर पिटाई व पांच सौ रुपये का चालान करने का आरोप लगाया है। टीआई ने उन्हें बिस्किट, ब्रेड देकर घर तक पहुंचने के बारे में जानकारी दी। इसके अलावा प्रयागराज हंडिया के मनोज, बारा का समर मौर्य, कौशांबी का आदित्य कुशवाहा, सत्येंद्र बांदा से बस से आ रहे थे। शिवरामपुर में बस चालक के उतारने पर पैदल मुख्यालय तक आए।
... और पढ़ें

चित्रकूट में किसानों ने फसल काटने की मांगी इजाजत

चित्रकूट। कलक्ट्रेट परिसर में लॉकडाउन के समय खोल गए कंट्रोल रूम में शनिवार को 26 फरियारियों ने प्रशासन से सहयोग मांगा। इसमें कई का निवारण किया गया। कई किसानों ने फसल काटने को लेकर जानकारी मांगी जिस पर बताया कि खेतों में फसल काटने पर कोई रोक नहीं है।
लॉकडाउन के दौरान से ही कलक्ट्रेट परिसर में कंट्रोल रूम बनाया गया है। जिसमें टेलीफोन के माध्यम से जानकारी लेने के बाद संबंधित अधिकारी द्वारा उसका निराकरण किया जाता है। कंट्रोल रूम अधिकारी अलाउद्दीन अंसारी ने बताया कि को 26 लोगों ने समस्या के निराकरण के लिए जानकारी दी। इसमें रैपुरा से किसानों ने फसल काटने में सहयोग मांगा। इसी तरह से भोजन की व्यवस्था के लिए कई स्थानों से जानकारी दी गई। जिसका निराकरण कराया गया।
... और पढ़ें

लॉकडाउन: दर्जनों भूखे प्यासे छात्र पैदल पहुंचे चित्रकूट, बताया बीच रास्ते में छोड़ भाग गई बस

देश में लॉकडाउन की घोषणा के चाैथे दिन शनिवार तड़के दर्जनों भूखे प्यासे छात्र चित्रकूट पहुंचे। छात्रों ने बताया कि वो लखनऊ स्थित डीसीए एकेडमी में आर्मी की तैयारी कर रहे हैं। लॉकडाउन के बाद एक बस उन्हें छोड़ने के लिए लखनऊ से आई पर सभी को बीच रास्ते में छोड़कर भाग गई। 

सभी छात्र मध्यप्रदेश के सतना और रीवा जिले के रहने वाले हैं। छात्रों के पहुंचे की जानकारी मिलने पर चित्रकूट प्रशासन ने सबसे पहले उनकी जांच करवाई। इसके बाद सभी को भोजन और पानी उपलब्ध करवाया गया। प्रशासन ने छात्रों को हर संभव मदद करने का आश्वासन दिया है।

सभी छात्रों को चित्रकूट के शिवरामपुर कस्बे में रोका गया है। जिलाधिकारी शेषमणि पांडे पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल सीडीओ डॉ महेंद्र कुमार टीम के साथ वहां पहुंचे और सभी छात्रों से मिले। इसके बाद दो विशेष बसें बुक करा कर उन्हें रीवा शहडोल व अन्य स्थानों के लिए भेजा गया है।

इसके पूर्व बृहस्पतिवार को भी लखनऊ के इन्हीं छात्रों के एक अन्य दल को बस में बड़ी पुलिया के पास छोड़ा गया था। जो नया गांव मध्य प्रदेश थाना क्षेत्र की ओर से अपने गंतव्य गए थे। जानकीकुंड अस्पताल में उनका इलाज और मेडिकल चेकअप भी कराया गया था। वह सब छात्र सतना व रीवा जिला के निवासी थे।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं
Banda + Chitrakoot Ad
Banda + Chitrakoot Ad
Banda + Chitrakoot Ad

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us