विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान - 8 अप्रैल 2020
Astrology Services

हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान - 8 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus in UP Live Updates: संक्रमितों की संख्या बढ़कर 127, मेरठ में मिले पांच नए मामले

यूपी में गुरुवार को कोरोना के नौ नए मामले सामने आए हैं। बुधवार को बस्ती जिले के मरीज की मौत के बाद दो अन्य व्यक्ति को कोरोना संक्रमित पाया गया है। वहीं मेरठ में पांच नए मामले मिले हैं तो गाजीपुर, लखनऊ, और हापुड़ में भी एक-एक मरीज मिला है।

2 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

फैजाबाद

शुक्रवार, 3 अप्रैल 2020

जैन मंदिर में बुजुर्ग साध्वी की मौत, अंतिम संस्कार में हंगामा

अयोध्या। रायगंज चौकी स्थित दिगंबर जैन मंदिर में मंगलवार को एक साध्वी की मौत के बाद मंदिर परिसर में ही अंतिम संस्कार संस्कार करने पर स्थानीय लोग भड़क गए और विरोध जताना शुरू कर दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने आक्रोशित लोगों को समझाकर शांत कराया।
रायगंज स्थित दिगंबर जैन मंदिर में 17 मार्च को ऋषभदेव जयंती पर जैन समाज के साधुओं का एक दल अयोध्या आया हुआ था। समारोह के उपरांत कोरोना वायरस को लेकर संपूर्ण देश में हुए लॉकडाउन के चलते यह सभी संत अयोध्या में रुक गए थे।
इनमें से एक साध्वी आर्यका श्री विहान मति माता (73) का मंगलवार दोपहर बाद निधन हो गया। वह बीमार बताई जा रहीं थीं। जैन समाज की परंपरा के अनुसार उक्त साध्वी को जैन मंदिर परिसर में ही अंतिम संस्कार करने की तैयारी शुरू कर दी गई।
यह देख स्थानीय लोग भड़क गए और इसका विरोध करना शुरू कर दिया। सूचना पुलिस को दी गई, सूचना पर पहुंची पुलिस ने विरोध कर रहे लोगों को समझाया, इस पर लोग मंदिर के परिसर में एक कोने में अंतिम संस्कार करने को राजी हो गए।
देर शाम तक काफी तनातनी के बाद भारी पुलिस बल व मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में शव का अंतिम संस्कार सल्लेखना कराया गया। अयोध्या सीओ अमर सिंह ने बताया कि विरोध कर रहे लोगों को शांत कर दिया गया है। पुलिस बल की मौजूदगी में मृतक साध्वी का अंतिम संस्कार कराया गया।
... और पढ़ें

कोरोना क्वारंटीन के लिए 12 होटल व गेस्ट हाउस का अधिग्रहण

अयोध्या। जिला प्रशासन शहर के 12 बड़े होटलों व गेस्ट हाउस का अधिग्रहण करेगा। मंगलवार को इसको लेकर जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने आदेश जारी कर दिया। इनमें कोरोना संक्रमित 500 लोगों को क्वारंटीन करने का इंतजाम होगा।
जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने बताया कि किसी भी आपदा की स्थिति में 500 संक्रमित लोगों को एक साथ क्वारंटीन किया जा सके, इसकी व्यवस्था की जानी है। बताया कि संक्रमित व्यक्तियों का इलाज कर रहे डॉक्टरों व चिकित्सीय स्टाफ को भी 7 दिन बाद 14 दिन के लिए क्वारंटीन किया जाएगा।
उन्होंने बताया कि हर संक्रमित व्यक्ति के लिए एक अलग कमरा एवं अलग शौचालय की आवश्यकता को देखते हुए यह व्यवस्था कराई जा रही है। संभावित संक्रमित व्यक्ति को 14 दिन के लिए क्वारंटीन किया जाएगा। कहा कि मरीजों के साथ उनकी देखरेख कर रहे डॉक्टरों व अन्य स्टाफ को भी 14 दिन के लिए क्वारंटीन किया जाए। नगर आयुक्त को इन परिसरों की सफाई व जलापूर्ति आदि हेतु अलग से आदेश भेजे जा रहे हैं।
इन होटलों का हुआ अधिग्रहण
डीएम ने बताया कि होटल कृष्णा पैलेस, शान-ए-अवध, तिरूपति, पंचशील, तारा जी रिसार्ट, आभा होटल, अवंतिका, विंध्वासिनी पैलेस नाका सहित नौरंग पैलेस सुल्तानपुर रोड, गौरव मैरिज लॉन निकट शंकरगढ़, सत्यम गेस्ट हाउस बाईपास दर्शननगर के साथ डॉ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के विशेष अतिथि गृह गेंदालाल दीक्षित को पूर्ण रूप से अधिगृहीत किया गया है।
... और पढ़ें

ठप हुई एंबुलेंस सेवा, चालकों ने की हड़ताल

अयोध्या। सेवा प्रदाता एजेंसी की कार्यप्रणाली से नाराज होकर एंबुलेंस चालकों ने मंगलवार दोपहर से हड़ताल कर दी। सभी 108, 102 एंबुलेंस चालक एंबुलेंस लेकर राजर्षि दशरथ मेडिकल कॉलेज में इकट्ठा हुए और अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए। यह महत्वपूर्ण सेवा ठप होने से जिले में हाहाकार मच गया।
जीवीकेईएमआरआई 108 सेवा प्रदाता कंपनी के अधीन जिले में करीब 62 एंबुलेंस संचालित हैं।, इनमें करीब 35 एंबुलेंस 102 व 27, 108 हैं। सेवा प्रदाता कंपनी पर कर्मचारियों का उत्पीड़न व नियम विरुद्ध कार्य कराने का आरोप लगाते हुए जीवनदायी स्वास्थ्य विभाग 108, 102 एंबुलेंस कर्मचारी संघ के आह्वान पर मंगलवार को सभी एंबुलेंस चालकों ने हड़ताल कर दिया और एक साथ एकत्र होकर मेडिकल कॉलेज दर्शननगर में सभी वाहनों को खड़ा कर दिया। एकाएक हड़ताल की वजह से जिले की स्वास्थ्य सेवाएं चरमरा गईं।
गंभीर समस्या से ग्रसित लोगों ने जब 102 व 108 नंबर पर कॉल किया तो घंटों मशक्कत के बाद हड़ताल की जानकारी हुई। चालकों ने समस्या का निस्तारण न होने तक हड़ताल जारी रखने का ऐलान किया है।
संगठन के जिला संयोजक अनिल पांडेय उर्फ गुड्डू ने बताया कि दो माह से सेवा प्रदाता कंपनी ने वेतन नहीं दिया है। साथ ही बीते अगस्त, 2019 से ही ईपीएफ का पैसा नहीं जमा किया है। इस समय कोरोना की महामारी बढ़ गई है।
ऐसे में एंबुलेंस चालकों को काफी खतरा बढ़ गया है। कई बार मांग के बावजूद भी अब तक सुरक्षा किट नहीं उपलब्ध कराया। कहा कि इस महामारी के दौरान अन्य स्वास्थ्यकर्मियों का 50 लाख का बीमा करने का ऐलान किया गया है, जिसमें एंबुलेंस चालकों को भी शामिल किया जाना चाहिए। बताया कि मांगों के निस्तारण तक हड़ताल जारी रहेगी। सभी मामलों से जिला प्रशासन सहित उच्चाधिकारियों तक को अवगत कराया जा चुका है।
... और पढ़ें

गरीबों के भोजन के लिए मिले तीन करोड़

अयोध्या। वैश्विक महामारी कोरोना से बचाव को लेकर कार्रवाई तेज है। लॉकडाउन में पीड़ितों और गरीबों के लिए भोजन की व्यवस्था के मद में जिले को तीन करोड़ रुपये मिले हैं। इसके जरिए अस्थायी आश्रय स्थलों या स्क्रीनिंग स्थलों के साथ अन्य स्थानों पर गरीबों के लिए भोजन की व्यवस्था की जाएगी।
देशव्यापी लॉकडाउन में गरीबों और योजनाओं से वंचित लोगों की दिक्कत न हो इसके लिए राशन वितरण से लेकर भोजन के पैकेट तक का वितरण कराया जा रहा है। जिससे आम लोगों को खाने पीने के सामानों की दिक्कत न हो। जिले में भोजन पैकेट के लिए 15 रसोइयों का संचालन हो रहा है। शासन ने जिले में आश्रय स्थलों, आम रसोइघरों के संचालन और अन्य स्थानों पर भी पात्र लोगों की आवश्यकता के अनुसार भोजन सामग्री, भोजन, फूड पैकेट का वितरण कराने के लिए तीन करोड़ रुपये दिए हैं। यह राशि किसी अन्य मद में व्यय नहीं की जा सकेगी। लॉकडाउन के चलते शहर से देहात तक लोगों को भोजन की उपलब्धता अतिआवश्यक सेवाओं में शुमार है।
तहसीलों में अस्थायी स्क्रीनिंग स्थलों या आश्रय स्थलों की स्थापना के लिए जिले की सभी पांच तहसीलों को जिला प्रशासन ने 20-20 लाख रुपये प्रदान किया है। इसके संचालन की जिम्मेदारी ब्लॉक के खंड विकास अधिकारी और संबंधित तहसीलदार और एसडीएम को संयुक्त रूप से सौंपी गई है। नगर पालिका और नगर पंचायतों में यह व्यवस्था राजस्व विभाग और नगर निकायों से संचालित की जाएगी। प्रत्येक स्थायी स्क्रीनिंग कैंप पर पर्याप्त भोजन, पेयजल, साफ-सफाई, शौचालय, साबुन, प्रकाश की व्यवस्था की जाएगी। यहां सोशल डिस्टेंसिंग और सुरक्षा का निर्देश दिया गया है। चिकित्सा विभाग यहां उपचार की व्यवस्था कराएगा।
... और पढ़ें

पहली बार रामनवमी पर सूनी रही अयोध्या

अयोध्या। रामनगरी अयोध्या के इतिहास में ऐसा पहली बार है जब रामनवमी पर पूरे शहर में अभूतपूर्व सन्नाटा पसरा रहा। कोरोना के लक्ष्मण रेखा के बीच सीमित अनुष्ठानों के माध्यम से रामनगरी के हजारों मठ-मंदिरों में रामजन्मोत्सव का पर्व सादगी के साथ मनाया गया। सरयू घाटों से लेकर मठ-मंदिरों तक रामनवमी पर उमड़ने वाली लाखों की भीड़ इस वर्ष कोरोना के कारण नदारद थी तो साधु-संतों ने भी लॉकडाउन का पूरी प्रतिबद्धता से पालन किया और मंदिरों का पट श्रद्धालुओं के लिए बंद रखे।
गृह गृह बाज बधाव सुभ प्रगटे सुषमा कंद। हरषवंत सब जहं तहं नगर नारि नर वृंद...भगवान राम के जन्मोत्सव को निरूपित करती यह पंक्ति गुरुवार को रामनगरी के विभिन्न मंदिरों में साकार होती दिखी। अवसर था भगवान श्रीराम के जन्मोत्सव का। जन्मोत्सव के मुख्य आकर्षण रामलला, कनक भवन समेत नगर के हजारों मंदिरों के गर्भगृह में घंटों से निष्पादित रामजन्म का कर्मकांड येन 12 बजे तब अभिव्यक्त हुआ जब मंदिरों में भए प्रगट कृपाला दीन दयाला कौशल्या हितकारी...के साथ आरती शुरू हुई।
वैष्णवों की प्रधानतम पीठ मानी जाने वाली कनक भवन में जैसे घड़ी की सुई दोपहर 12 पर पहुंची, संपूर्ण मंदिर परिसर घंटा, घड़ियाल व शंख ध्वनि से गूंज उठा। हालांकि कोरोना के साए के चलते इस वर्ष लाखों श्रद्धालुओं से पटा रहने वाला कनक भवन मंदिर वीरानी के आगोश में डूबा हुआ था।
यहां मंदिर के ही साधु-सेवक, कुछ मीडियाकर्मी व पुलिसकर्मी ही नजर आए। वहीं दूसरी तरफ कई स्थानीय भक्त रामजन्मोत्सव की खुशी में शामिल होने पहुंचे लेकिन मंदिर का पट बंद होने के कारण चौखट पर ही माथा टेककर लौट गये। स्थानीय भक्त पवन खरवार ने कहा कि यह विडंबना ही है कि राम की नगरी में रामजन्मोत्सव पर अयोध्या सन्नाटे में डूबी हुई है।
अयोध्या के प्रमुख मंदिरों दशरथ महल बड़ा स्थान, मणिरामदास की छावनी, श्रीरामबल्लभाकुंज, बिड़ला मंदिर, जानकीघाट बड़ास्थान, चौबुर्जी मंदिर, सियाराम किला, रंगमहल सहित हजारों मंदिरों में कोरोना के चलते रामनवमी का पर्व केवल परंपरा निर्वहन तक ही सीमित रहा। ठीक 12 बजे इन सभी मंदिरों में भगवान रामलला का जन्मोत्सव घंटा, घड़ियाल व शंख ध्वनि के बीच धूमधाम से मनाया गया।
मंदिरों के ही साधु-संत एवं सेवक बधाई गान के माध्यम से रामलला के जन्म का उत्सव मनाने में लीन रहे। मंदिरों में आरती तो हुई लेकिन इस दौरान श्रद्धालुओं का टोटा रहा। दशरथ महल बड़ा स्थान के महंत बिंदुगाद्याचार्य स्वामी श्री देवेंद्र प्रसादाचार्य ने उत्तरकांड के दोहे जो नहि देखा, नहि सुना, जो मनहु न समाई, सो सब अद्भुत देखऊ बरनि मौन विधि जाई...के माध्यम से कहा रामनगरी में रामनवमी पर ऐसा दृश्य न कभी देखा और न कभी सुना। यह प्रभु की लीला ही है। बताया कि मंदिर में सादगी के साथ बिना भीड़ भाड़ के जन्मोत्सव मनाया गया।
रामनवमी पर्व पर इस बार कोरोना के कहर के चलते प्रतिबंध लगा दिया गया था। जिस कारण रामनवमी में श्रद्धालुओं का प्रवेश प्रतिबंधित रहा। रामनगरी के प्रवेश मार्गों से लेकर प्रमुख मठ-मंदिरों एवं सरयू घाटों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम रहे। सरयू स्नान के लिए जहां रामनवमी में लाखों की भीड़ उमड़ती थी वहीं इस वर्ष स्थित विपरीत रही, किसी भी पुलिसकर्मियों ने सरयू तट की ओर जाने नहीं दिया। बाहरी श्रद्धालुओं का प्रवेश पूरी तरह प्रतिबंधित रहा। एसपी सिटी विजयपाल सिंह, सीओ अयोध्या अमर सिंह ने स्वयं लॉकडाउन के अनुपालन का जिम्मा उठा रखा था।
... और पढ़ें

मौलाना की नहीं मिली रिपोर्ट, दोबारा भेजा सैंपल

अयोध्या। तब्लीगी जमात में शामिल होकर लौटे रुदौली निवासी मौलाना के कोरोना की जांच रिपोर्ट नहीं मिली है। अब जांच के लिए दोबारा नमूना भेजा गया है। इसके साथ ही एक और व्यक्ति का नमूना भेजा गया है। हालांकि, जिले में अभी तक किसी भी व्यक्ति में कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला है।
दिल्ली में निजामुद्दीन तब्लीगी जमात से शामिल होकर लौटे रुदौली तहसील निवासी मदरसा संचालक और मस्जिद के मौलाना व उनके पुत्र सहित 28 लोगों को राजर्षि दशरथ मेडिकल कॉलेज में लाया गया था। इन्हें निगरानी वार्ड में रखते हुए मौलाना व उनके बेटे के सैंपल जांच के लिए भेजे गये थे।
बुधवार को बेटे की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई, जबकि मौलाना की रिपोर्ट अटक गई। इस पर बृहस्पतिवार को दोबारा जांच के लिए सैंपल भेजा गया है। इससे लोगों में मन में तमाम तरह के सवाल पनप रहे हैं। हालांकि स्वास्थ्य विभाग किसी भी तरह के संदेह से इनकार किया है।
इसके अलावा मौलाना के परिवार के शेष 24 लोगों में कोई लक्षण न होने से उनकी जांच नहीं कराई गई है। यह सभी मेडिकल कॉलेज में निगरानी में हैं। मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल प्रो विजय कुमार ने बताया कि किन्हीं कारणों से जांच रिपोर्ट अभी तक नहीं प्राप्त हुई है। निगरानी में रखे गए शहर के एक अन्य व्यक्ति का भी सैंपल भेजा गया है।
... और पढ़ें

अयोध्या वासियों की कोरोना जांच अब गोरखपुर में

अयोध्या। जिले के लोगों की कोरोना जांच अब गोरखपुर जिले में होगी। अब तक यह जांच लखनऊ में होती थी। माना जा रहा है कि लखनऊ में जांच के लिए अधिक जिले एलाट होने से यह निर्णय लिया गया है।
जिले के लोगों की कोरोना जांच अब तक लखनऊ स्थित लैब में होती थी। यहां पर प्रदेश के कई जिले होने से रिपोर्ट में विलंब होता था। हाल ही में रुदौली के मौलाना की रिपोर्ट तीसरे दिन भी नहीं मिल सकी। इधर, गोरखपुर में हाल ही में जांच के लिए लैब क्रियाशील हो गई है और जिले को गोरखपुर में शामिल किया गया है।
राजर्षि दशरथ मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल प्रोफेसर विजय कुमार ने बताया कि अब तक करीब आठ लोगों का नमूना लखनऊ की लैब में भेजा गया है। बृहस्पतिवार को भी दो नमूने लखनऊ ही भेजे गए हैं। संभवत: लखनऊ की लैब में अधिक जिले होने की वजह से अब गोरखपुर को अयोध्या की जांच के लिए कहा गया है। शुक्रवार से नमूने गोरखपुर ही भेजे जाएंगे।
... और पढ़ें

तब्लीगी जमात से लौटे सभी लोग क्वारंटीन

अयोध्या। दिल्ली में निजामुद्दीन के तब्लीगी जमात में शामिल होने के बाद जिले में पहुंचे मदरसा संचालक के पुत्र की कोरोना जांच निगेटिव आई, जबकि उसकी जांच रिपोर्ट आना शेष है। इससे महकमे ने राहत की सांस ली है। जबकि शेष 28 लोगों को अभी निगरानी वार्ड में रखा गया है। किसी में कोई लक्षण नहीं प्रतीत हो रहा है।
दिल्ली में तब्लीगी जमात से शामिल होकर लौटे रुदौली तहसील के मखदूमपुर निवासी मदरसा संचालक और मस्जिद के मौलाना शरीफ व उनके पुत्र तारिक सहित 28 लोगों को राजर्षि दशरथ मेडिकल कॉलेज में लाया गया था। इन्हें निगरानी वार्ड में रखते हुए मौलाना शरीफ व तारिक की जांच के लिए सैंपल भेजा गया था। बुधवार को तारिक की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है, जबकि मौलाना शरीफ की रिपोर्ट अभी नहीं आई है।
इसके अलावा शेष 26 लोगों में कोई लक्षण न होने से उनकी जांच नहीं कराई गई है। इनकी निगरानी स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा किया जा रहा है। अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. अजय मोहन ने बताया कि तारिक की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। मौलाना के परिवार के 24 और लोगों को देर रात लाया गया था। सभी को आइसोलेट किया जा रहा है।
कहा कि मदरसे और मौलाना के घर के आसपास रहने वालों को घर से बाहर निकलने से मना किया गया है। वहीं, मेडिकल कॉलेज के सीएमएस डॉ. अरविंद सिंह ने बताया कि बुधवार को किसी मरीज का सैंपल नहीं भेजा गया है। अब तक लिए गए सभी नमूने निगेटिव आए हैं।
... और पढ़ें

लॉक डाउन को लेकर बढ़ी पुलिस की सख्ती, सडक़ों पर सन्नाटा

अयोध्या। लॉकडाउन के आठवें दिन पुलिस प्रशासन और सख्त दिखाई पड़ा। घर से बिना काम निकलने वाले, गली मोहल्लों में टहलने वाले, बिना हेलमेट बाइक चलाने वाले लोगों से पुलिस अब कड़ाई से पेश आ रही है। थाना, चौकी, पीआरवी, चीता मोबाइल समेत गठित पुलिस के विशेष दस्ते द्वारा लगातार जिले के शहरी व ग्रामीण इलाकों में गश्त किया जा रहा है।
लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर मंगलवार तक जिले में 201 लोगों के खिलाफ 85 केस दर्ज किया जा चुका है। वहीं 9599 वाहनों को चेक किया गया, जिसमें 964 वाहनों का चालान किया गया जबकि 570 वाहन सीज किए जा चुके हैं।
कोरोना वायरस को लेकर संपूर्ण देश में किए लॉक डाउन का असर सड़कों पर दिख रहा है। गलिया, सड़कें व बाजार सूने पड़े हैं। आवश्यक काम होने पर ही लोग घरों से निकल रहे हैं। पुलिस व प्रशासन के अधिकारी 24 घंटे गश्त कर लोगों को घरों में ही रहने की अपील कर रहें हैं। बिना कार्य घर से निकलने वालें, गली मोहल्लों में टहलने वाले लोगों से सख्ती से पेश आया जा रहा है।
वहीं, बाइक से घरों से निकल रहे लोगों को सख्त हिदायत दी गई है कि वो आवश्यक काम से ही घर से हेलमेट पहन कर ही निकले। ऐसा न करने वाले लोगों के बाइकों का चालान व सीज करने की भी कार्रवाई की जा रही है।
लॉक डाउन का उल्लंघन करने पर मंगलवार तक जिले में 201 लोगों के खिलाफ 85 केस दर्ज किया जा चुका है। वहीं 9599 वाहनों को चेक किया गया, जिसमें 964 वाहनों का चालान किया गया जबकि 570 वाहन सीज किए जा चुके हैं। एसएसपी आशीष तिवारी ने बताया कि कोरोना के संक्रमण से बचने के लिए लॉक डाउन का पालन करना अनिवार्य है।
... और पढ़ें

85 की दाल बेच रहा था 115 में, दुकान सील

अयोध्या। राशन की दुकानों पर कालाबाजारी की मिल रही शिकायत पर लगातार कार्रवाई की जा रही है। बुधवार दोपहर सिविल लाइन स्थित एक राशन की दुकान पर सीओ सिटी अरविंद चौरसिया सादी वर्दी में पहुंचे और खुद सामान खरीदा।
यहां सामान के तय मूल्य से ज्यादा रुपये मांगने पर कार्रवाई करते हुए मौके पर ही दुकान को सील कर दिया। सीओ की इस कार्रवाई से शहर के व्यापारियों में हड़कंप मच गया। उन्हें रोजमर्रा के सामानों को तय मूल्य से ज्यादा कीमत पर बेचे जाने की शिकायत मिली थी।
सिविल लाइन चौराहे स्थित बेहरमल दासू मल की राशन की दुकान पर तय मूल्य से ज्यादा की कीमत पर राशन बेचे जाने की शिकायत पुलिस को मिली थी। शिकायत के आधार पर बुधवार दोपहर सीओ सिटी अरविंद चौरसिया ग्राहक बनकर दुकान पर पहुंचे और दुकानदार दीपचंद निवासी रामनगर से एक किलो दाल खरीदी।
दाल लेने के बाद जब उन्होंने उसका मूल्य पूछा तो उसने 110 रुपये प्रति किलो की कीमत बताई। इस पर सीओ ने कहा कि प्रशासन ने तो अरहर की दाल का मूल्य 85 से 90 रुपये प्रति किलो तय किया है और सामानों के तय मूल्य की सूची दुकान पर लगाने के निर्देश दिए हैं। इस पर दुकानदार ने कहा कि लेना है तो लो, नहीं तो चले जाओ। इसके बाद जब सीओ ने उक्त दुकानदार को अपना परिचय दिया तो उसके होश उड़ गए।
उन्होंने मौके पर ही दुकान को सील कर दिया। सीओ ने बताया कि उक्त दुकानदार के खिलाफ केस दर्ज करने के लिए जिलाधिकारी को पत्र लिखा गया है, अनुमति मिलने पर उसके खिलाफ केस दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी। कहा कि राशन आदि की दुकानों पर कालाबाजारी रोकने के लिए दुकानदार को अपनी दुकान पर सामानों के तय मूल्य की सूची लगाने के निर्देश दिए गए हैं। तय मूल्य से ज्यादा कीमत पर सामान बेचने वाले दुकानदार के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

50 लाख की लागत से मंगवाए जा रहे मेडिकल के सामान

अयोध्या। स्वास्थ्य विभाग कोरोना महामारी से बचाव के लिए 50 लाख रुपये का मेडिकल सामान मंगवा रहा है। यह सामान माननीयों की निधि से मिले धन से मंगवाया जा रहा है। इसमें प्रोटेक्शन किट, इंफ्रारेड थर्मामीटर, फेस मास्क शामिल हैं। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने इसको लेकर मुख्य विकास अधिकारी को पत्र भेज दिया था।
कोरोना को लेकर प्रशासन अलर्ट है। बाहर से आने वालों की जांच के साथ ही उनको क्वारंटीन करने के लिए जगह-जगह स्थान बनाए गए हैं। लॉक डाउन के चलते लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।
प्रशासन, पुलिस और स्वयंसेवी संगठनों लोगों को भोजन के पैकेट के साथ ही अन्य सामानों की आपूर्ति में जुटे हैं। लॉकडाउन के दौरान विभिन्न विभागों के लोग देवदूत की तरह काम कर रहे हैं। स्वास्थ्य महकमे के लोग अग्रिम पंक्ति में हैं। इसका कारण बाहर से आने वालों की जांच के मोर्चे पर डॉक्टर और पैरामेडिकल स्टाफ ही होता है। उनकी सुरक्षा सबसे महत्वपूर्ण है।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. घनश्याम सिंह ने आवश्यक सामानों की सूची सीडीओ को भेजी थी। इसमें कोरोना की जांच के दौरान डॉक्टर और पैरामेडिकल स्टाफ की सुरक्षा को ध्यान में रखा गया है। सूची में मेडिकल पर्सनल के लिए पर्सनल प्रोटेक्शन किट दो हजार, इंफ्रारेड थर्मामीटर (नान कांटेक्ट) 12, पांच हजार फेस मास्क एन-95 को शामिल किया गया है। यह सभी सामान 50 लाख रुपये कीमत के बताए गए हैं।
मुख्य विकास अधिकारी ने माननीयों की निधि से प्राप्त धन से आवश्यक मेडिकल सामानों की सूची के साथ बैंक अकाउंट की जानकारी मांगी थी। इसके बाद वह धन संबंधित खाते में भेजने के लिए कहा गया था। जानकारी मिलने के बीद डीआरडीए कार्यालय के मुताबिक यह पैसा सामानों की खरीद के लिए भेज दिया गया है।
... और पढ़ें

शॉर्ट सर्किट से दुकान में लगी आग, दो सिलेंडर फटे

अयोध्या। नगर कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत देवकाली-बेनीगंज मार्ग स्थित बहारगंज इलाके में बुधवार दोपहर एक जलपान की दुकान में शॉर्ट सर्किट से आग लग गई। इस दौरान दुकान में रखे दो गैस सिलेंडर भी फट गए। हालांकि आग देख लोगों पहले ही सतर्क हो गए थे, जिससे किसी को नुकसान नहीं पहुंचा। सूचना पर पहुंची दमकल टीम ने आग पर काबू पाया।
बहारगंज इलाके में बुधवार दोपहर बाद करीब 2:30 बजे भगवान मौर्या की जलपान की दुकान में शॉर्ट सर्किट से आग लग गई। आग देख लोगों में अफरातफरी मच गई। किसी तरह लोगों ने दुकान का गेट तोड़कर बचाव कार्य प्रारंभ किया। इस दौरान दुकान में रखे दो गैस सिलेंडर ने भी आग पकड़ ली। यह देख लोग सुरक्षित स्थान पर चले गए और फायर ब्रिगेड को सूचना दी।
आग की लपटों में घिरकर दोनों सिलेंडर तेज धमाके के साथ फट गए, जिससे दुकान की छत, दीवाल बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई। मौके पर पहुंची फायरब्रिगेड के वाहनों ने आग पर काबू पाया। मुख्य अग्निशमन अधिकारी राजकिशोर राय ने बताया कि शार्ट सर्किट से आग लगी, लोगों की सजगता से किसी का नुकसान नहीं हुआ। सूचना पर पहुंचे सांसद लल्लू सिंह ने पीड़ित दुकानदार को 11 हजार की आर्थिक सहायता प्रदान की।
... और पढ़ें

गृहमंत्री अमित शाह पर अभद्र टिप्पणी करने वाले पर रिपोर्ट दर्ज

अयोध्या। पूराकलंदर थाना क्षेत्र के भदरसा कस्बे के निवासी सोनू अंसारी ने फेसबुक पर गृहमंत्री अमित शाह पर अभद्र टिप्पणी की। मामला संज्ञान में आते ही पूरा कलंदर पुलिस ने आरोपी युवक को हिरासत में लेकर केस दर्ज कर उसका चालान कर दिया है।
नगर पंचायत भदरसा के भाजपा नेता प्रेम बाबू मौर्य ने पुलिस को दी तहरीर में बताया कि भदरसा के ही सोनू अंसारी ने भाजपा के वरिष्ठ नेता व गृहमंत्री अमित शाह पर अभद्र टिप्पणी कर फेसबुक के माध्यम से वायरल कर दी, जिसे तमाम लोगों ने शेयर भी किया और कमेंट किया है। मामले में थाना पूरा कलंदर के भदरसा चौकी प्रभारी अमित मिश्रा ने सक्रियता दिखाते हुए आरोपी युवक सोनू को हिरासत में ले लिया।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us