विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Coronavirus in Uttar Pradesh Live Updates: यूपी में एक दिन में 14 नए मरीज, अब तक 65 लोग कोरोना संक्रमित

यूपी में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। शनिवार को एक ही दिन 14 नए मरीज सामने आने के साथ ही प्रदेश में संक्रमितों की संख्या 65 हो गई है।

28 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

फर्रूखाबाद

शनिवार, 28 मार्च 2020

गैर प्रांत से आने वाले लोगों की सूचना देने पर नहीं पहुंची टीम

फर्रुखाबाद। गैर प्रांत से आने वाले लोगों पर निगरानी रखने की जिम्मेदारी अफसरों को दी गई है, ताकि उनकी जांच हो सके। गैर प्रांत से आने वाले लोगों की जब स्थानीय लोग सूचना देते हैं, तब एक अधिकारी दूसरे अधिकारी का मोबाइल नंबर देकर अपना पल्ला झाड़ लेते हैं। अफसरों के इस कार्य से लोग परेशान हैं। सीएमओ कार्यालय से चंद दूरी पर स्थित मोहल्ला हाथीखाना में दो परिवार में कुछ लोग दूसरे जिले से आए थे। इनको खासी और बुखार था। मोहल्ले के लोगों ने अफसरों को सूचना दी तो 24 घंटे बाद स्वास्थ्य टीम मौके पर गई और चेकअप किया।
मोहल्ला हाथीखाना में दो परिवार में कुछ लोग गैर जिले से कुछ दिन पूर्व आए थे। उनको खासी, बुखार की शिकायत थी। इसकी जानकारी आसपास के लोगों को हुई, तो उन्होंने बुधवार को सीएमओ, कोतवाल व अन्य अफसरों को चेकअप कराने के लिए सूचना कई बार दी थी। गुरुवार को स्वास्थ्य टीम पुलिस के साथ दोनों परिवार के घरों में पहुंची और खासी, बुखार से पीड़ितों की जांच कर लौट गई। मोहल्ला ग्वालटोली में पांच-छह लोग मुंबई व पूना से आए हैं। गैर प्रांत से आने की जानकारी पर सभासद आशीष कुमार व आसपास के लोगों ने प्रशासनिक व स्वास्थ्य विभाग के अफसरों को गैर प्रांत से आए लोगों का चेकअप कराने को सूचना बुधवार दोपहर को दी थी। जिस अधिकारी को बताया गया, उस अधिकारी ने दूसरे अधिकारी का नंबर देकर जानकारी देने की बात कहकर अपना पल्ला झाड़ दिया। गुरुवार शाम तक स्वास्थ्य टीम मोहल्ला ग्वालटोली गैर प्रांत से आए लोगों की जांच करने नहीं गई। इससे मोहल्ले के लोग भयभीत हैं। सभासद आशीष कुमार का कहना है कि कंट्रोल रूम पर भी गैर प्रांत से आए लोगों की जानकारी दी गई, इसके बाद भी कोई नहीं आया।
... और पढ़ें

14 रैपिड एक्सपर्ट टीमें गठित

फर्रुखाबाद। कारोना वायरस का प्रकोप बढ़ने के साथ लोगों में खौफ भी बढ़ा है। इससे बाहर से आने वाले व्यक्ति की तत्काल पड़ोसी कंट्रोल रूम को सूचना दे रहे हैं। इसको देखते हुए जिलाधिकारी ने गुरुवार को कलेक्ट्रेट सभागार में कोरोना वायरस नियंत्रण को समीक्षा बैठक की। उन्होंने रैपिड एक्पर्ट की 14 टीमें गठित कर उन्हें वाहन भी उपलब्ध करा दिए हैं। इससे सूचना मिलते ही टीम मौके पर जाएगी और आवश्यकतानुसार जागरूकता, मरीज में लक्षण के अनुसार इलाज व जरूरत पड़ने पर आइसोलन वार्ड में भर्ती कराएगी। जिलाधिकारी मानवेंद्र सिंह ने कोरोना वायरस पर प्रभावी नियंत्रण को समीक्षा बैठक की। उन्होंने 14 रैपिड एक्सपर्ट टीमें गठित कीं। यह टीमें एक सप्ताह में बाहर से आने वाले प्रत्येक व्यक्ति की जांच करेंगी। इसके साथ ही संबंधित व्यक्तियों की 14 दिन तक एकांत (क्वारंटीन प्रोटोकॉल) के तहत निगरानी की जाएगी। गांवों में बाहर से लौटे व्यक्तियों को 14 दिन तक क्वारंटीन प्रोटोकॉल में रखने के लिए प्रधान, लेखपाल व सचिवों को भी सहयोग करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। सभी खंड विकास अधिकारी बाहर से आए व्यक्ति पर विशेष नजर रखेंगे। जिलाधिकारी ने लोगों से अपील की कि वह घर पर रहकर करोना वायरस के संपर्क से बचें। यदि किसी जरूरी काम से बाहर निकलना पड़े तो आसपास के लोगों से कम से कम एक मीटर की दूरी बनाए रखें। लॉकडाउन के समय में घर पर रहकर जिला प्रशासन का सहयोग करें। सैनिटाइजेशन के लिए बार बार साबुन व साफ पानी से हाथ धोते रहें। जिलाधिकारी ने बताया कि रैपिड एक्सपर्ट टीमों की मोबाइल सेवा होगी। बाहर से आने वाले व्यक्ति, किसी के बीमार होने पर इलाज व जागरूकता के लिए काम करेंगी। ... और पढ़ें

पिता की तेरहवीं करने में चार पुत्रों पर मुकदमा, पुलिस ने जमानत पर छोड़ा

फर्रुखाबाद। मोहम्मदाबाद के गांव पिपरगांव में पिता के देहांत हो जाने पर पुत्रों ने बुधवार को तेरहवीं भोज किया। इससे लोगों के एकत्र होने से लॉकडाउन के आदेशों की अवहेलना कर धारा 144 का उल्लंघन हुआ। इलाके के दरोगा ने मौके पर जाकर छानबीन की तो वहां पंडाल के अंदर पचास लोग खाना खाते मिले। पुलिस ने चार भाइयों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। पुलिस ने चारों भाइयों को गिरफ्तार कर मुचलके पर छोड़ दिया। उधर, शहर कोतवाली में आठ लोगों के खिलाफ धारा 144 के उल्लंघन का मामला दर्ज कराया गया।
गांव पिपरगांव निवासी रामसनेही की पिछले दिनों मौत हो गई थी। उनके पुत्र अमरेंद्र सिंह, सतेंद्र सिंह, देवेंद्र सिंह, उपेंद्र सिंह ने बुधवार को तेरहवीं भोज किया। तेरहवीं में लोगों की भीड़ एकत्र हुई जबकि लॉकडउन में लोगों के घरों से निकलने पर रोक लगी है। इसके चलते किसी ग्रामीण ने पुलिस अधीक्षक को सूचना दे दी। इस पर पुलिस अधीक्षक डा. अनिल मिश्रा ने मुकदमा दर्ज करने के आदेश कोतवाल को दिए थे। कोतवाल ने दरोगा रामशरण को मौके पर भेजा। वहां उन्हें पंडाल में पचास लोग खाना खाते मिले। इस पर दरोगा रामशरण ने अमरेंद्र सिंह, सतेंद्र सिंह, देवेंद्र सिंह, उपेंद्र सिंह के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। इसमें कहा कि देश में कोरोना को लेकर लॉकडाउन है। लोगों के घरों से बाहर निकलने पर रोक है। धारा 144 लागू है। इसके बाद भी कोरोना के संक्रमण को बढ़ावा देने का काम किया जा रहा था। पुलिस ने चारों भाइयों को गिरफ्तार कर लिया। कोतवाल राकेश कुमार ने बताया कि बाद में चारों भाइयों को कोतवाली से मुचलके पर छोड़ दिया गया।
... और पढ़ें

लोहिया की ओपीडी पहुंचे 420 मरीज, अन्य सेवाएं ठप

फर्रुखाबाद। डा. राममनोहर लोहिया पुुरुष अस्पताल में बाहर से आने वाले लोगों का चेकअप किया गया। ओपीडी में थर्मल स्कैनर के बीच से कुल 420 मरीजों को गुजारा गया। इनमें से 70 में बुखार मिलने पर फ्लू कॉर्नर में जांच की गई। बाकी को दवाएं देकर रवाना कर दिया। उन्हें 14 दिन तक एकांत में रहने की हिदायत दी गई। उधर, स्वास्थ्य महानिदेशक के आदेश के बावजूद ओपीडी में अन्य सेवाएं बहाल नहीं की गईं।
दिल्ली से जैसे ही रोडवेज पर यात्रियों का आना शुरू हुआ, तो उन्हें सीधा लोहिया अस्पताल भेज दिया गया। भीड़ बढ़ते ही सुरक्षा कर्मियों ने कई लाइनें लगा दीं। ओपीडी के मुख्य गेट पर थर्मल स्कैनर से सभी को गुजारा गया। जिसे बुखार की शिकायत थी, उसे फ्लू कॉर्नर में डा. मनोज पांडेय ने देखा। इस दौरान ही सभी लोगों को माइक से हिदायत दी गई कि वह सीधे घर जाकर 14 दिन किसी से न मिलें। अकेले ही रहना घर वालों के लिए भी हित में होगा।
उधर, स्वास्थ्य महानिदेशक को दो दिन पहले के आदेश के बावजूद अस्पताल में फ्लू कॉर्नर के अलावा अन्य कोई सेवाएं बहाल नहीं की गईं। इससे मरीजों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। ओपीडी में फ्लू के कुल 70 मरीज पहुंचे
पीलीभीत से लौटे कर्मचारी का नहीं कराया मेडिकल
फर्रुखाबाद। बेसिक शिक्षा विभाग में सर्व शिक्षा अभियान में तैनात कर्मचारियों में से एक कर्मचारी 20 मार्च को पीलीभीत गए थे। वित्तीय वर्ष 2019-20 के समापन को और बिलों को तैयार करने के लिए कर्मचारी कार्यालय में आने के लिए सूचित किया गया। गुरुवार को पीलीभीत से कर्मचारी लौट कर आया और शुक्रवार को कार्यालय गया। संविदा कर्मचारी के चेकअप न कराए जाने से अन्य कर्मचारी भयभीत हैं। बीएसए लालजी यादव ने बताया कि कर्मचारी ने मेडिकल कराया या नहीं, इसकी जानकारी नही है। वह कर्मचारी का मेडिकल कराएंगे।
... और पढ़ें
ोहिया अस्पताल की ओपीडी परिसर में जांच कराने को लाइन में खड़े लोग। संवाद ोहिया अस्पताल की ओपीडी परिसर में जांच कराने को लाइन में खड़े लोग। संवाद

रोडवेज पर उड़ी क्वारंटीन प्रोटोकाल की धज्जियां

फर्रुखाबाद। दिल्ली से छतों पर यात्रियों से फुल रोडवेज बसें शनिवार को यहां पहुंचीं, तो बस स्टैंड पर मारामारी की नौबत आ गई। पूरा परिसर यात्रियों से खचाखच भर गया। सोशल डिस्टेंसिंग (सामाजिक दूरी) की परवाह न करते हुए क्वारंटीन प्रोटोकाल की धज्जियां उड़ी। दोपहर में पुलिस प्रशासन को होश आया, तो यात्रियों को गंतव्य तक भेजने की व्यवस्था की गई। डीएम-एसपी, सिटी मजिस्ट्रेट ने यात्रियों के हालचाल जाने और बसों की व्यवस्था कराई। अपराह्न ढाई बजे तक यात्रियों को गंतव्य तक भेजा जा सका। इस दौरान एक-एक बस में सौ-सौ यात्रियों को भरकर भेजा गया। इस दौरान निजी बसें स्टैंड के अंदर से भरी गईं।
गाजियाबाद से शनिवार सुबह चार बजे से ही बसों का आना रोडवेज पर शुरू हो गया था। जो भी बसें आईं, उन्होंने हरदोई, शाहजहांपुर, सीतापुर, कानपुर, इटावा, मैनपुरी आदि के महिला-पुरुष यात्रियों को बस स्टैंड पर ही उतार दिया। इसके बाद वापस हो गईं। इससे बस स्टैंड पर यात्रियों की मारामारी हो गई। हजारों की संख्या में यात्री भरे होने से चंद पुलिस कर्मियों के हाथ-पांव फूल गए। अपराह्न 11 बजे तक यात्रियों को गंतव्य तक पहुंचाने की कोई व्यवस्था नहीं की गई। 12 बजे के करीब कोतवाल वेदप्रकाश पांडेय पहुंचे। उन्होंने यात्रियों को एक-एक मीटर दूरी पर खड़ा कराया। यात्रियों के हाथों को सैनिटाइज करवाया और बिस्कुट आदि वितरित किए। इसके बाद सीओ सिटी मन्नीलाल गौंड पहुंचे।
डेढ़ बजे के करीब डीएम मानवेंद्र सिंह, एसपी डा. अनिल मिश्र और सिटी मजिस्ट्रेट अशोक कुमार मौर्य पहुंचे। इससे पहले कुछ बसों को गैरजिलों के लिए भेजा जा चुका था। फिर भी यात्रियों की संख्या काफी ज्यादा देख, रोडवेज की 35 बसों को निकलवाकर भेजा गया। इन बसों में काफी कोशिशों के बावजूद छतों तक यात्री भरकर रवाना हुए। अफसरों ने खुद खड़े होकर निजी बसों को छतों तक भरवाकर भेजा।
रोडवेज बसें न हुईं सैनिटाइज, न मिले मॉस्क
निगम के सख्त निर्देश हैं कि कोई भी बस यात्रियों के प्रयोग में आने से पहले उसे सैनिटाइज कराया जाएगा। यही नहीं स्टाफ को मॉस्क दिए जाएंगे। मगर करीब 35 बसों को निकाला गया, इन्हें न तो सैनिटाइज किया गया और न ही स्टाफ को मॉस्क उपलब्ध करवाए गए। स्टाफ ने अपने स्तर से ही मॉस्क की व्यवस्था कर रिस्क लेकर यात्रियों को गंतव्य तक पहुंचाया।
‘करीब 35 बसें दिल्ली जा चुकी हैं। लोकल रूटों पर डीएम के आदेश पर बसें उपलब्ध करवा रहे हैं। सभी बसों को सैनिटाइज किया जा रहा है। स्टाफ का पूरा खयाल रखा जा रहा है।’
-गौरीशंकर, बस स्टेशन प्रभारी।
... और पढ़ें

रेलवे स्टेशन का टिकट घर किया गया सील

फर्रुखाबाद। लॉकडाउन के दौरान रेलवे स्टेशन पर पूरी तरह से सन्नाटा पसरा हुआ है। चौबीसों घंटे गुलजार रहने वाले प्लेटफामों पर अब सिर्फ आरपीएफ के मुलाजिम और सफाई कर्मचारी ही नजर आ रहे हैं। टिकटघर में वाणिज्य अधीक्षक ने ताला डालकर सील कर दिया है।
पांच-छह दशक बाद ऐसा हुआ कि ट्रेनों के पहिए पूरी तरह से थम गए। इस वक्त सिर्फ दो-चार मालगाड़ी ही गुजर रही हैं। इसलिए टिकटघर को सील कर दिया गया है। प्लेटफार्म पर तीन ट्रेनें खड़ी हैं। रेल संपत्ति की सुरक्षा के लिए आरपीएफ के जवान ड्यूटी पर मुस्तैद हैं और सफाई को कर्मचारी भी काम कर रहे हैं। यही नहीं मालगाड़ियों के संचालन के लिए चंद कर्मचारी ड्यूटी पर आ रहे हैं। रेलवे स्टेशन पर पूरी तरह से सन्नाटा पसरा हुआ है।
... और पढ़ें

दिल्ली से लौटे मरीजों में बुखार, खांसी के लक्षण देख डॉक्टर घबराए

कायमगंज। दिल्ली से चलकर अपने अपने गांव पहुंचे करीब डेढ़ दर्जन लोगों को ग्रामीणों ने कोरोना के खौफ से गांव में घुसने से रोक दिया। स्पेशल फ्लू कैंप में पहुंचे मरीजों की लाइन लग गई। दो मरीजों को बुखार खांसी होने पर ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर भी घबरा गए। बाद में उनकी जांच कर दवा दी गई।
देश भर में लॉकडाउन होने पर दिल्ली में काम करने वाले लोग अपने घरों को पैदल ही चल दिए। बीच-बीच में सवारी का सहारा लेकर गांव लालपुर व कटरी क्षेत्र के गांव आजमपुर में लोग अपने घरों पर पहुंचे तो गांव वालों ने इन्हें रोक दिया और कहा पहले जांच कराकर आओ, एलवाई डिग्री कालेज में चल रहे स्पेशल फ्लू कैंप में ये लोग जांच कराने पहुंचे तो वहां लंबी लाइन लग गई। इसमें सभी की नॉनकांटेक्ट थर्मामीटर से जांच की गई। डेढ़ से अधिक मरीजों की जांच के बाद चार मरीजों में बुखार व खांसी के लक्षण पाए गए। इन्हें डॉक्टर के पास भेजा गया तो ड्यूटी पर तैनात डॉक्टरों ने हाथ खड़े कर दिए और कहा कि वे खुद शुगर के मरीज हैं। ऐसे मरीज को बिना साधनों के उनके पास न भेजें। व्यवस्था में मौजूद डॉक्टर विकास शर्मा व कानूनगो सतेंद्र कटियार ने कहा कि आप इन्हें फिलहाल दवा दे दीजिए। आगे व्यवस्था की जाएगी। इसके बाद उन्हें दवा दी गई और घर में आइसोलेट करने के लिए कहा गया।
... और पढ़ें

आसान किस्त योजना की किस्त जमा न होने से उपभोक्ता परेशान

आसान किस्त योजना की किस्त जमा न होने से उपभोक्ता परेशान
लॉक डाउन में कैश काउंटर बंद होने से ऑन लाइन किस्त का नहीं हो रहा भुगतान
संवाद न्यूज एजेंसी
फर्रुखाबाद। आसान किस्त योजना के तहत पंजीकरण कराने वाले विद्युत बकायेदारों के सामने किस्त जमा करने का संकट पैदा हो गया है। कार्यालय बंद होने से ऑन लाइन किस्त का भुगतान नहीं हो पा रहा है। इससे किसान व एक से चार किलोवॉट तक के पंजीकरण कराने वाले उपभोक्ता परेशान हैं। किस्त जमा न होने से ब्याज में माफी न मिलने का डर उपभोक्ताओं को सताने लगा है।
एक से चार किलोवॉट के शहरी व ग्रामीण क्षेत्र के बिजली बिल बकायेदारों के लिए आसान किस्त योजना एक जनवरी से शुरू हुई थी। एक मार्च से किसानों के लिए भी आसान किस्त योजना प्रारंभ हो गई थी। इसके तहत 31 मार्च तक पंजीकरण होना था। जिले में करीब 50 हजार से अधिक बकायेदार उपभोक्ता चिह्नित हुए थे। इसमें 40 फीसद उपभोक्ताओं ने ब्याज माफी और किस्तों में भुगतान को आसान किस्त योजना के तहत पंजीकरण कराया था। कोरोना वायरस को लेकर प्रधानमंत्री ने 21 दिन का लॉक डाउन कर दिया है। इससे विद्युत निगम के अफसरों ने पंजीकरण बंद करने के साथ कैश काउंटर भी बंद कर दिए हैं। जिन उपभोक्ताओं ने आसान किस्त योजना के तहत पंजीकरण कराकर किस्तें बंधवाईं थी। उन उपभोक्ताओं के सामने किस्त जमा करने का संकट पैदा हो गया है। आसान किस्त योजना के तहत पंजीकरण कराने वाले उपभोक्ता किस्त का ऑनलाइन भुगतान करना चाहते हैं तो उनको किस्त की बजाए बिल की पूरी धनराशि भुगतान करने का आप्शन आता है। किस्त का ऑन लाइन उल्लेख नहीं है। इससे उपभोक्ता परेेशान हैं। वह किस्त की धनराशि जमा नहीं कर पा रहे हैं। एक्सईएन शहरी आरबी यादव ने बताया कि ऑन लाइन किस्त में भुगतान नहीं हो सकता है। इस कारण यह संकट पैदा हुआ है। पंजीकरण की अंतिम तारीख 31 मार्च से पहले लॉकडाउन हो गया था। पंजीकरण की तारीख बढ़ाने और किस्त जमा करने का समय बढ़ाने को उच्च अधिकारियों को पत्र लिखा जाएगा। ताकि पंजीकरण उपभोक्ताओं को बिल भुगतान करने में किसी प्रकार की दिक्कत न हो सके।
... और पढ़ें

कनिका से मिलकर आए व्यापारी परिवार को ‘कोरोना’ नहीं

फर्रुखाबाद। शहर के लालगेट निवासी एक व्यापारी 15 मार्च को परिवार सहित लखनऊ में कोरोना वायरस से संक्रमित गायिका कनिका कपूर के कार्यक्रम में शामिल हुए थे। इसके बाद वह गायिका से कानपुर में भी मिले और उनके साथ पूरे परिवार ने फोटो खिंचवाने के साथ हाथ भी मिलाया था। व्यापारी परिवार के वापस आने पर उसे घर में ही आइसोलेट किया गया। इसके बाद व्यापारी, उसकी पत्नी, पुत्र व पुत्री का कोरोना जांच को नमूना लिया गया।
नोडल अधिकारी डिप्टी सीएमओ डा.राजीव शाक्य ने बताया कि लालगेट निवासी व्यापारी, उनकी पत्नी, बेटा व बेटी की कारोना जांच रिपोर्ट शुक्रवार रात 11:30 बजे आ गई है। चारो लोगों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। इससे उन्हें कोरोना की पुष्टि नहीं हुई। एहतियात तौर पर उन्हें 14 दिन तक क्वारंटीन प्रोटोकाल का पालन करने की सलाह दी गई है।
... और पढ़ें

बूंदाबांदी से शहर व ग्रामीण इलाकों की घंटो बिजली रही बंद

फर्रुखाबाद। लॉकडाउन के बीच शुक्रवार सुबह शुरू हुई बूंदाबांदी सड़कों पर सन्नाटे में और सहायक बनी। इस दौरान लोग घरों से नहीं निकले और पुलिस प्रशासन को भी ज्यादा मशक्कत नहीं करनी पड़ी। उधर, शहर व ग्रामीण क्षेत्र में 11केवी लाइनों में कई जगह फाल्ट आ गया। इससे शहरी व ग्रामीण इलाकों की तीन से चार घंटे तक बिजली गुल रही। फाल्ट ठीक होने के बाद बिजली चालू हो सकी। दूसरी ओर बूंदाबांदी देख किसानों की धड़कन तेज हो गई। मौसम के हाल देखकर बोले बारिश तेज हुई तो गेहूं सहित अन्य फसलों में नुकसान तय है।
लॉकडाउन का शुक्रवार को तीसरा दिन था। सुबह से ही आसमान में घने बादल, ठंडी हवाएं और बूंदाबांदी के चलते लोग घरों में ही दुबके रहेे। डीएम, एसपी का काफिला भी शहर में राउंड पर रहा। बूंदाबांदी के दौैरान सड़क पर दिखने वाली पुलिस भी काफी कम नजर आई। हालांकि दोपहर के वक्त कुछ देर के लिए लोगों की चहलकदमी बढ़ी, तो पुलिस ने कुछ स्थानों पर डंडे दिखाकर लोगों को आदेशों का पालन करने की हिदायत दी। एएसपी त्रिभुवन सिंह, सीओ सिटी मन्नीलाल गौंड दो घंटे लालगेट चौराहे पर डटे रहेे। उन्होंने निकलने वाले दोपहिया, चौपहिया वाहनों को रोककर पूछताछ भी की। हालांकि ज्यादा सख्ती न बरतते हुए सिर्फ हिदायत देकर ही जाने दिया। लोगों में कोरोना का खुद भय बना हुआ है।
उधर, बूंदाबांदी से शहरी क्षेत्र के फतेहगढ़ विद्युत उपकेंद्र की 11केवी लाइन में फाल्ट आया गया। घुमना बाजार में चौक फीडर की 11 केवी लाइन का बंच केबल जल गई। इटावा-बरेली हाईवे पर एक रेस्टोरेंट के पास सूखा पेड़ 33केवी लाइन पर गिर गया। इससे जसमई विद्युत उपकेंद्र ठप हो गया। शहरी क्षेत्र की बिजली बंद हो गई। फाल्टों को कर्मचारियों ने खोज कर ठीक किया। इसमें करीब तीन से चार घंटे का समय लग गया। जब फाल्ट ठीक हुआ तब बिजली चालू की गई। गंगापार क्षेत्र के अमृतपुर, राजेपुर, सलेमपुर और तहसील अमृतपुर विद्युत उपकेंद्र की भी 11केवी में फाल्ट आने से ग्रामीण क्षेत्रों की करीब ढाई घंटा बिजली गुल रही।
उधर, बूंदाबांदी देख किसान चिंतित हो गए। दरअसल, इन दिनों खेतों में गेहूं की फसल लगभग तैयार खड़ी है। आलू भी अभी खेतों में ही पड़ा है। बारिश से सरसों, चना व मटर की फसलों में भी नुकसान होना तय है। मौसम का मिजाज देखकर किसानों की धड़कनें बढ़ गई हैं। ओले गिरने की आशंका से किसान ईश्वर से दयादृष्टि बनाए रखने की मन्नतें मांग रहे हैं।
... और पढ़ें

लॉकडाउन: फर्रुखाबाद में अफवाह फैलाने पर नौ के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज

यूपी के फर्रुखाबाद  जिले में लॉकडाउन का उल्लंघन कर बाहर निकलकर कोरोना को लेकर तरह-तरह की बातें करने के मामले में पुलिस ने नौ लोगों को गिरफ्तार कर निजी मुचलकों को छोड़ दिया है।
कंपिल थाना के दरोगा देवी प्रसाद गौतम ने जिला एटा के थाना अलीगंज के गांव पड़ाव निवासी राघव मिश्रा, गजेंद्र सिंह, अरुण कुमार को गिरफ्तार कर लिया।

गांव रायपुर के अरीब, आशू, नकीम, राजिद के खिलाफ धारा 144 का उल्लंघन कर लॉकडाउन में अपने घरों से निकलकर कोरोना को लेकर अफवाह फैलाने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया है। एसओ देवेंद्र सिंह गंगवार ने बताया कि  इन सभी सात लोगों को रात में निजी मुचलके पर छोड़ दिया गया है।

उधर, राजेपुर प्रतिनिधि के अनुसार थाना पुलिस ने लॉकडाउन का उल्लंघन करने के मामले में कसबा निवासी इंद्रपाल व गांव तुषौर निवासी राजीव कठेरिया के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है। एसओ जयंती प्रसाद गंगवार ने बताया कि लॉकडाउन के उल्लंघन में मुकदमा दर्ज किया गया। दोनों को बाद में निजी मुचलके पर छोड़ दिया गया है।
... और पढ़ें

खाद्य सामग्री के वाहन में सवारियां मिलने पर दर्ज होगी एफआईआर

कायमगंज। डीएम व एसपी ने कायमगंज में लॉकडाउन का जायजा लिया। पहले नगर पालिका व स्पेशल फ्लू कैंप देखा। उन्होंने एसडीएम को लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराने के साथ खाद्य सामग्री भरे वाहन न रोकने के निर्देश दिए। साथ ही कहा कि खाद्य सामग्री भरे वाहन में सवारियां मिलने पर उसे सीज कर चालक पर एफआईआर दर्ज करें।
डीएम मानवेंद्र सिंह व एसपी डॉ. अनिल मिश्रा शुक्रवार सुबह नगर पालिका पहुंचे। वहां पर घर-घर खाने पीने की चीजें पहुंचाने की व्यवस्था देखी। पालिका अध्यक्ष सुनील चक व ईओ सीमा तोमर से जानकारी ली। कुछ देर बाद पूर्व पालिका अध्यक्ष मिथलेश अग्रवाल पहुंची। उन्होंने जरूरतमंदों को राशन व तेल बांटने को कहा। पहले तो मना किया पर बाद में कुछ महिलाओं को खाद्य सामग्री के पैकेट बांटे। डीएम ने कहा सामाजिक दूरी बनाए रखें। भीड़ न हो इसलिए थोड़े-थोड़े जरूरतमंदों को पैकेट बांटे जाएं। डीएम ने एसडीएम अमित आसेरी से कहा कि लॉकडाउन के तहत बाजार में विशेष नजर रखें। खाने-पीने की चीजें लोगों के घरों पर ही पहुंचे। इसके बाद उन्होंने एटा जनपद की सीमा के गांव विराहिमपुर जाकर देखा। सीमा पर कड़ाई से नजर रखने को कहा गया।
संवाद न्यूज एजेंसी शमसाबाद के अनुसार, डीएम ने शाहजहांपुर बार्डर ढाईघाट पर लगे बैरियर का निरीक्षण किया। जिलाधिकारी ने निर्देश दिए कि बैरियर पर खाद्य सामग्री, सब्जी, फल, दूध, आटा, पशु आहार, चारा, भूसा, आलू आदि के वाहन न रोके जाएं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अन्य निजी वाहनों को बिना लिखित अनुमति के जिले में प्रवेश न दिया जाए। किसी खाद्य सामग्री भरे वाहन में सवारियां मिलने पर उन्हें सीज कर चालक के विरुद्ध एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश दिए गए।
... और पढ़ें

कोरोना को लेकर अफवाह फैलाने में 9 के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज

कंपिल (फर्रुखाबाद)। लॉकडाउन का उल्लंघन कर क्षेत्र में निकलकर कोरोना को लेकर तरह-तरह की बातें करने के मामले में पुलिस ने जिला एटा व थाना क्षेत्र के सात लोगों के खिलाफ मुुकदमा दर्ज किया है। पुलिस ने सभी लोगों को पकड़ने के बाद मुचलके पर छोड़ दिया। उधर, राजेपुर थाने में भी दो लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।
कंपिल थाना के दरोगा देवी प्रसाद गौतम ने जिला एटा के थाना अलीगंज के गांव पड़ाव निवासी राघव मिश्रा, गजेंद्र सिंह, अरुण कुमार के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर सभी को पकड़ लिया। दरोगा देवी प्रसाद ने गांव रायपुर के अरीब, आशू, नकीम, राजिद के खिलाफ धारा 144 का उल्लंघन कर लॉकडाउन में अपने घरों से निकलकर कोरोना को लेकर अफवाह फैलाने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया है। एसओ देवेंद्र सिंह गंगवार ने बताया कि यह सात लोग लॉकडाउन में घरों से निकल कर जगह-जगह खड़े होकर कोरोना को लेकर अफवाहें फैला रहे थे। इसमें जिला एटा के थाना अलीगंज के तीन लोग भी शामिल हैं। इन सभी लोगों को पकड़ लिया गया था। रात में इन लोगों को निजी मुचलके पर छोड़ दिया गया है। राजेपुर प्रतिनिधि के अनुसार थाना पुलिस ने लॉकडाउन का उल्लंघन करने के मामले में कसबा निवासी इंद्रपाल व गांव तुषौर निवासी राजीव कठेरिया के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है। एसओ जयंती प्रसाद गंगवार ने बताया कि लॉकडाउन के उल्लंघन में मुकदमा दर्ज किया गया। दोनों को पकड़ने के बाद मुचलके पर छोड़ दिया गया है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us