विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Lockdown Update : कोरोना की जंग में लोगों की मदद के लिए उतरी सेना, स्कूल बसें भी लगीं

लॉकडाउन में लोगों की मदद के लिए अब सेना उतर आई है।

29 मार्च 2020

विज्ञापन

Sp baghpat said

28 मार्च 2020

विज्ञापन

फतेहपुर

रविवार, 29 मार्च 2020

कार्यालय प्रमुख के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज

मुंबई से लौटे बुजुर्ग की बीमारी से मौत

बहुआ(फतेहपुर)। मुंबई से परिवार संग लौटे बुजुर्ग की घर पहुंचने से पहले कस्बे में ही सांसें थम गईं। परिजनों की सूचना पर पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। परिवार के बाकी सदस्यों को जिला अस्पताल जांच के लिए भेजा गया है।
ललौली थाना क्षेत्र के तपनी गांव निवासी हाजी बशीर खान(65) करीब सात माह पहले बीमार चल रहा था। मुंबई में बीमारी के चलते इलाज हो रहा था। वह पैतृक घर लेकर लौट रहे थे। गांव से पहले बहुआ कस्बे के पास मौत हो गई। उनके साथ परिवार के सदस्यों को नोवल कोरोना की जांच के लिए जिला अस्पताल भेजा। बेटे मुनूरूद्दीन खान ने बताया कि उनके पिता बशीर खान क्षय रोग से पीड़त थे। उनका मुंबई में इलाज चल रहा था। नोवल कोरोना के डर की वजह से पिता बशीर खान, भाई अलाउद्दीन खान, भाभी जुबैदा खान, भतीजे सैफ खान, बहन काफिया, भांजे अयान, मां अहमदी खान को लेकर पैतृक गांव लौट रहे थे। उसने घटना की पुलिस और कंट्रोल रूम में सूचना दी। पुलिस मौके पर पहुंची। एसओ प्रदीप कुमार यादव ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद मौत कारण स्पष्ट होगा। परिवार को जिला अस्पताल जांच के लिए भेजा गया है।
... और पढ़ें

लॉकडाउन में जरूरत का सामान घरों में आपूर्ति करेगी पालिका

फतेहपुर। अब नगर पालिका लॉकडाउन के दौरान शहरवासियों को जरूरत के सामान की आपूर्ति कराएगी। इसके लिए नगर पालिका में कंट्रोलरूम बनाया गया है। वह 24 घंटे चालू रहेगा। जरूरत के सामान की आपूर्ति के लिए कोई भी 7497960105 मोबाइल नंबर पर संपर्क कर सकता है।
शहर में लॉकडाउन के दौरान जरूरत के सामान की आपूर्ति के लिए नगर पालिका को जिम्मेदारी सौंपी गई है। आटा, दाल, चावल, सब्जी, तेल, घी, दवाओं आदि की जरूरत पड़ने पर कोई भी शहरवासी नगर पालिका के कंट्रोलरूम से संपर्क कर सकता है। नगर पालिका की हर वार्ड में गठित निगरानी कमेटी के सदस्य अधिकृत दुकान से सामान लेकर संबंधित उपभोक्ता के घर पहुंचाएंगे। बीमारी आदि की सूचना पर प्रशासन और संबंधित व्यक्ति के बीच कड़ी की भूमिका निभाते हुए एंबुलेंस या वाहन पास उपलब्ध कराने का भी जिम्मा कंट्रोल रूम पर निर्भर होगा। ईओ नगर पालिका मीरा सिंह ने बताया कि कंट्रोल रूम 24 घंटे खुला रहेगा। इसके लिए तीन शिफ्टों में चार-चार कर्मचारी लगाए गए हैं।
डॉ. भीमराव आंबेडकर राजकीय महिला महाविद्यालय पैरेंट्स टीचर्स एसोसिएशन के सचिव एवं हाईकोर्ट के अधिवक्ता हर्ष कुमार श्रीवास्तव ने सभी से घरों से अंदर रहने की अपील की है। अधिवक्ता का कहना है कि वर्तमान समय में पूरे विश्व में कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा मंडरा रहा है। इससे जनपद अछूता नहीं है। इससे बचने के लिए शासन प्रशासन से जारी गाइड लाइन का पालन करें। भीड़भाड़ में जाने से बचें। साफ सफाई का विशेष ध्यान रखें। अपने आपको आइसोलेट कर घरों के अंदर सुरक्षित रहें। बचाव ही इस भयानक त्रासदी का उपचार है। संवाद
... और पढ़ें

लॉकडाउन के लिए शुरू हुआ रामायण व महाभारत

फतेहपुर। एक दौर था जब दूरदर्शन पर रामायण और महाभारत जैसे एपीसोड के शुरू होते ही चौतरफा खुद ब खुद लॉकडाउन हो जाता था, अब शनिवार की सुबह लॉकडाउन कराने के लिए इसका प्रसारण दूरदर्शन पर शुरू कराया गया है। हालांकि पहले दिन लोग इतने संजीदा नहीं दिखे, क्योंकि कई परिवारों में सीरियल दोबारा प्रसारित किए जाने की सूचना ही नहीं थी। वहीं डीडी-2 पर दोपहर बारह से एक बजे तक महाभारत भी शुरू हुआ।
तीन दशक पहले 1988 तक 74 एपीसोड वाले रामायण के प्रसारण के समय लोग कामकाज छोड़कर टीवी के सामने पहुंच जाते थे। सड़कों पर सन्नाटा खिंचा देखकर लोगों को पता चल जाता था कि सीरियल शुरू हो चुका है। शनिवार को सीरियल का पहला दिन होने के बावजूद काफी घरों में यह उसी दिलचस्पी से देखा गया। 1988 में रामायण सीरियल खत्म होने के बाद महाभारत का प्रसारण शुरू हुआ था। इसे भी दर्शकों ने खासा तवज्जो दिया था।
दोनों सीरियलों की लोकप्रियता को देख इसका उपयोग लॉकडाउन में स्वस्थ मनोरंजन के लिए किया गया है। सीरियल के दोनों समय ऐसे में है, जिनमें बहुतायत लोग सड़कों और बाजारों में दिखाई पड़ते हैं। उधर, चौडगरा में एपीसोड शुरू होने के ठीक समय बिजली कट गई। युवा विकास समिति के जिला प्रवक्ता आलोक गौड़ ने इसकी शिकायत ट्विटर पर ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा से की है। अवर अभियंता कल्लूराम यादव का कहना है कि ग्रामीण इलाकों में 18 घंटे बिजली देने का नियम है। सुबह नौ बजे 18 घंटा पूरा हो जाने से बिजली काटी गई।
... और पढ़ें

विदेश से लौटे पचास लोग अभी भी लापता

फतेहपुर। कोरोना संक्रमण के खतरे को टालने में जुटे स्वास्थ्य महकमे के लिए विदेश यात्रा कर लौटे 50 लोग परेशानी का सबब बने हैं। यह लोग ढूंढे नहीं मिल रहे हैं। इनमें किसी का मोबाइल नंबर काम नहीं कर रहा है तो किसी का पता गलत है। राज्य सर्विलांस इकाई की तरफ से अभी तक जिला सर्विलांस इकाई को विदेश यात्रा से लौटने वाले 266 लोगों की सूची सौंपी है। अब तक की कवायद में 23 यात्रियों ने 28 दिन का घर में एकांतवास पूरा कर लिया है। 164 ऐसे हैं जो एकांतवास के 14 दिन का वक्त गुजार चुके हैं। सेल प्रभारी डॉ. केके श्रीवास्तव बताते हैं कि जो 50 नाम हमारे लिए चुनौती बने हैं। उनमें नौ नाम दूसरे जिलों के रहने वालों के हैं। पासपोर्ट में दिए गए पते के आधार पर खोजबीन की जाती है। कई मोबाइल नंबर स्विच ऑफ बता रहे। ... और पढ़ें

बेवजह घूमने वाले 66 वाहनों का चालान

फतेहपुर। लॉकडाउन के चौथे दिन पुलिस की नाकेबंदी सख्त रही। हाईवे और ग्रामीण इलाकों में गश्त पर रही पुलिस ने प्रतिबंध तोड़ने वालों पर कार्रवाई की। यातायात प्रभारी त्रिवेणी पांडेय ने शहर में बेवजह घूमने वालों की धरपकड़ की। 12 वाहन चालकों पर नौ हजार नौ सौ रुपये का जुर्माना वसूला। करीब 59 वाहनों चालान किया गया। गाजीपुर पुलिस ने दो वाहन सीज किए। चौडगरा प्रतिनिधि के अनुसार लॉकडाउन के चलते कल्यानपुर थाने के एसआई पवन कुमार सिंह ने चौडगरा के पास छह वाहनों पर कार्रवाई की। डेढ़ हजार का शमन शुल्क वसूला। कार और बाइक सवारों समेत छह का चालान किया गया। खखरेरू और हसवा पुलिस ने पांच लोगों को घूमने में पकड़ा। इनका शांतिभंग में चालान किया गया। इस तरह से लाक डाउन में कुल जिले में अब तक 39 लोगों पर एफआईआर और 45 वाहनों को सीज किया जा चुका है। ... और पढ़ें

नवरात्रि के चौथे दिन मां कूष्मांडा को भक्तों ने लगाया भोग

फतेहपुर। नवरात्र का चौथा दिन मां कूष्मांडा के नाम रहा। भक्तों ने पूजन और भोग लगाने के बाद देवी को प्रसन्न करने के लिए जयकारे लगाए। ब्रह्मांड की रचना कर सृष्टि का विस्तार करने वाले देवी कूष्मांडा देवी का यह स्वरूप अन्नपूर्णा का है, इसलिए इनके पूजन का विशेष महत्व है।
चैत्र नवरात्र के चौथे दिन भक्तों ने भक्तों ने मां कूष्मांडा की विधिवत पूजा की। देवी को पान, पुष्प, नारियल और प्रसाद चढ़ाया गया। फिर मंत्र और देवी पाठ का स्मरण कर भक्तों ने घी के दीपक जलाए। संक्रमण काल में देवी मंदिरो में पूजन बंद होने से भक्तों ने घरो में कलश स्थापित कर मां भगवती के नौ रूपों के उपवास रखे हैं। लोग अपने-अपने घरों में देवी का पूजन कर रहे हैं।
... और पढ़ें

एक अप्रैल से बंद हो सकती है एंबुलेंस

फतेहपुर। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सुरक्षा किट उपलब्ध न कराने से नाराज 108, 102 व एएलएस एंबुलेंस का संचालन एक अप्रैल से बंद हो सकता है। इस सेवा को देने वाले ईएमटी और पायलट की जेब खाली हो चुकी है। सुरक्षा के नाम पर ग्लब्स व मॉस्क तक से स्टाफ वंचित है। इस वक्त यही नाराजगी की मूल वजह बनती जा रही है। कर्मचारियों का कहना है कि सबसे पहला जोखिम तो वही उठाते हैं। इसके बावजूद उन्हेंकोई सुनने को तैयार नहीं है। एंबुलेंस यूनियन के जिलाध्यक्ष ने कहा कि 31 मार्च तक कोई ठोस फैसला नहीं लिया जाता है तो एंबुलेंस कर्मी हड़ताल पर चले जाएंगे।
कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन हुए समूचे मुल्क के बीच आपातकालीन सेवा की हर कड़ी मायने रखती है। खासकर स्वास्थ्य विभाग के लिए यह बात और भी अहमियत रखने वाली है। दस्तक दे रही आपदा से मोर्चा यही विभाग सीधे तौर पर ले रहा है। जिले में 270 का स्टाफ, 108, 102 व एएलएस एंबुलेंस के संचालन में लगा है। इस स्टाफ का कहना है कि उसे बिना किसी एहतियात के ड्यूटी पर लगाया जा रहा है। हर तरीके के मरीज लाने पड़ते हैं इसके बावजूद हाथ में पहनने को न ग्लब्स दिए जाते हैं और न ही मुंह ढंकने को मॉस्क। अभी हाल ही में
एक दो मामले ऐसे आए जब मरीज को लाने के मामले में एंबुलेंस कर्मियों में असंतोष देखा गया। जीवनदायिनी 108, 102 व एएलएस एंबुलेंस यूनियन के जिलाध्यक्ष अवनीश पांडेय कहते हैं कि सरकार का नजरिया समझ से परे हैं। सरकार, कोरोना से जुड़े काम में लगे कर्मचारियों को बीमा का लाभ दे रही है लेकिन इस लायक एंबुलेंस कर्मी को नहीं समझा गया है। सरकार हमको कर्मचारी नहीं समझती है तो हम भी काम करने को बाध्य नहीं हैं। जिलाध्यक्ष ने कहा कि 31 मार्च तक कोई ठोस फैसला नहीं लिया जाता है तो एंबुलेंस कर्मी हड़ताल पर चले जाएंगे।
उत्तर प्रदेश राजस्व संग्रह अमीन संघ ने कोरोना के बचाव के प्रयास में मददगार बनने का फैसला लिया है। जिलाध्यक्ष शिवकरन सिंह ने डीएम संजीव सिंह से मुलाकात करके जिले भर के संग्रह अमीनों का एक-एक दिन का वेतन, मुख्यमंत्री राहत कोष में देने की पेशकश की। अध्यक्ष ने बताया कि ऐसी घड़ी में जो जितना दूसरों के लिए काम आ जाए, वह कम है।
... और पढ़ें

आसमान में बादल घिरा, किसानों की बढ़ी चिंता

फतेहपुर। मौसम ने एक बार फिर से किसानों की चिंता बढ़ा दी है। आसमान में घने बादल और तेज हवा के रुख को देखकर किसान सुबह होते ही खेत और खलिहान में पहुंच गए। वहां पर कटी हुई फसलों को सुरक्षित करने में जुट गए हैं। पूरे दिन बादल छाए रहे। थरियांव कृषि विज्ञान केंद्र के मौसम विशेषज्ञ सचिन कुमार शुक्ला ने बताया कि शनिवार तक तेज हवा चलने और बारिश होने की संभावना है। जिले में 15 दिन पहले तेज बारिश के साथ ओलावृष्टि हुई थी। उसमें किसानों की फसलों का नुकसान हो चुका है। जो फसलें बची हुई हैं, उनके पकने का किसान इंतजार कर रहे हैं। शुक्रवार की सुबह बादल देख कर किसानों के चेहरे में चिंता की लकीरे बढ़ गई हैं। जिन किसानों के राई, सरसों की फसल खेत और खलिहान में कटी पड़ी हैं। उसको सुरक्षित करने में किसान जुटे दिखे। ... और पढ़ें

सेब व गुड़ का चढ़ाया प्रसाद, बजाया गया शंख

फतेहपुर। नवरात्र का शुक्रवार को तीसरा दिन रहा। मां दुर्गा के तीसरे रूप चंद्रघंटा की पूजा हुई। पूजा-अर्चना के साथ सेब और गुड़ का प्रसाद चढ़ाया गया। घंटी व शंख बजाकर सुख शांति की कामना की गई।
मां दुर्गा के अलग-अलग स्वरूपों का पूजा करने के लिए घरों में भक्तों ने कलश स्थापित किया है। माता के तीसरे स्वरूप को शुक्रवार को भक्तों ने गाय के दूध से बने मिष्ठान, सेब, गुड़ का भोग लगाया। माता दुर्गा की आरती की। आचार्य दुर्गादत्त शास्त्री ने मां चंद्रघंटा की पूजा के महत्व को बताते हुए कहा कि देवी के मस्तक पर घंटे के आकर का अर्धचंद्र है। इसीलिए देवी के इस रूप को चंद्रघंटा कहा जाता है। माता चंद्रघंटा की पूजा करने से भक्त के सभी पाप और बाधाएं दूर हो जाती हैं। इसलिए भक्तों को नवदुर्गा के इस स्वरूप की विधि-विधान से पूजा-अर्चना करना चाहिए। इससे सांसारिक कष्टों से मुक्ति और सुखी जीवन का आशीर्वाद प्राप्त होगा। देवी के शरीर का रंग सोने जैसा चमकीला है। देवी के 10 हाथ हैं। देवी अपने दस हाथों में खड़क, तलवार, ढाल, गदा, पाश, त्रिशूल, चक्र, धनुष, भरे हुए तरकश लिए हैं, जो साधकों को मुग्ध करते हैं। इनका वाहन सिंह है। इनकी पूजा करने से साधक को निर्भय बनाता है। साधक सौम्य और विनम्र बनता है। साधक के मुख, नेत्र तथा संपूर्ण काया में एक अद्भुत चमक की वृद्धि होती है।
... और पढ़ें

माध्यमिक शिक्षा विभाग घरों में कराएगा प्रतियोगिताएं

फतेहपुर। माध्यमिक शिक्षा विभाग ने कोरोना वायरस हराना है, भारत से भगाना है विषयक विभिन्न प्रतियोगिताएं कराएगा। यह प्रतियोगिताएं 29 मार्च से प्रारंभ होकर 15 अप्रैल तक होंगी। प्रतिभागी प्रविष्टियां घर में ही तैयार कर डीआईओएस की वेबसाइट में भेजेंगे। जिला स्तर पर प्रथम, द्वितीय, तृतीय प्रतिभागी पुरस्कृत किए जाएंगे। प्रतियोगिता में सभी बोर्डों के कक्षा छह से 12 तक छात्र-छात्राएं शामिल होंगे।
प्रतियोगिताएं दो वर्गों में आयोजित होंगी। जूनियर वर्ग की प्रतियोगिता में कक्षा छह से आठ तक और सीनियर वर्ग में कक्षा नौ से 12 तक के छात्र-छात्राएं प्रतियोगिता में शामिल होंगे। चित्रकला प्रतियोगिता 29 मार्च 31 मार्च तक होगी। निबंध प्रतियोगिता पहली अप्रैल से तीन अप्रैल तक, स्लोगन प्रतियोगिता पांच अप्रैल से आठ अप्रैल तक, गीत प्रतियोगिता नौ अप्रैल से 11 अप्रैल तक और भाषण प्रतियोगिता 12 से 15 अप्रैल के मध्य छात्र-छात्राएं अपने घरों शामिल होंगे। प्रविष्टि में प्रतिभागी को कक्षा के साथ विद्यालय का नाम अंकित करना होगा। डीआईओएस महेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि सभी प्रतिभागी प्रविष्टियां हर हालत में आईडी डीआईओएस.फतेहपुर ऐटदरेट जीमेल.काम में 15 अप्रैल तक अपलोड करेंगे। सभी प्रतियोगिताओं के प्रथम, द्वितीय, तृतीय प्रतिभागियों को जिला स्तर पर पुरस्कृत किया जाएगा।
... और पढ़ें

मंडी सचिव ने लोधीगंज की अवैध मंडी फिर बंद कराई

फतेहपुर। मंडी सचिव के साथ नायब तहसीलदार ने लोधीगंज के बेरुईहार की सब्जी मंडी में फिर छापा मारा। वहां पर 48 दुकानों में आलू, प्याज भरा मिला और दुकानों के बाहर जमीन में हरी सब्जी बेचते हुए लोग पाए गए। एक बार फिर सभी को हटाकर मंडी बंद कराई गई। मंडी सचिव अनिल कुमार यादव ने बताया कि आढ़तियों को
हिदायत दी गई कि लोधीगंज में किसी प्रकार का व्यापार नहीं होगा। यहां पर मंडी अवैध है। बता दें कि लोधीगंज के बेरुईहार में दिसंबर 2019 से अवैध सब्जी मंडी का संचालन हो रहा है। नवीन मंडी समिति के आढ़तियों ने इसका विरोध किया। तब एसडीएम के निर्देश पर मंडी सचिव ने अवैध सब्जी मंडी में व्यापार करने वाले 57 आढ़तियों के लाइसेंस निलंबित करने की कार्रवाई हुई। मंडी बंद कराई गई इसके बावजूद शुक्रवार को मंडी संचालित होती दिखी।
... और पढ़ें

बढ़ी पेट की हूक तो पैदल ही निकल पड़े

फतेहपुर। मेहनत का पसीना बहाकर दो वक्त की रोटी का जुगाड़ करने वाला तबका पेट की हूक के आगे निढाल पड़ता जा रहा है। लंबी दूरी नाप कर घर और परिवार के बीच पहुंचने की जद्दोजहद में जुटे इस तबके की राह चलते बेबसी देखते बन रही है। थकान से भरा चेहरा, उस पर पुलिस की सख्ती के डर से परेशान हैं। बहुआ के ऐसे ही दो लोग पैदल ही कानपुर से चले पड़े।
लॉकडाउन से मजदूरी करने वाला तबका प्रभावित है। घर में रहकर कोरोना से बचाव की शुरू हुई कवायद के चलते इस तबके की मजदूरी छिन गई है। काम धंधा बंद हो जाने से महानगरों को छोड़कर यह लोग गांवों को लौट रहे हैं। शुक्रवार को पटेलनगर रोड पर तेज कदमों से आगे बढ़ रहे बहुआ ब्लाक पलटू का पुरवा के लक्ष्मी नारायन और विजयसेन पुलिस की बाइक को देखकर एक पल के लिए ठिठक गए। दोनों ने बताया कि वह कानपुर के ट्रांसपोर्ट नगर में नौकरी करते हैं। बाजार बंद हो जाने से मजदूरी नहीं मिल रही थी। जेब में पैसा नहीं था कि वहीं पर रहकर इतने दिन तक का गुजर बसर किया जा सकता। ऐसे में पैदल ही घर के लिए निकल लिए। इन दोनों का कहना रहा कि सात घंटे में इतना आ गए हैं तो गांव भी तीन घंटे में मिल ही जाएगा।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us