विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus in UP Live Updates: 27 लाख मनरेगा मजदूरों के खाते में भेजे गए 611 करोड़ रुपये

शासन और प्रशासन संक्रमण के चेन को तोड़ने के लिए लगातार कोशिश कर रहा है। लोगों से भी हर वक्त घरों में रहने की अपील की जा रही है।

30 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

फतेहपुर

सोमवार, 30 मार्च 2020

माध्यमिक शिक्षा विभाग घरों में कराएगा प्रतियोगिताएं

फतेहपुर। माध्यमिक शिक्षा विभाग ने कोरोना वायरस हराना है, भारत से भगाना है विषयक विभिन्न प्रतियोगिताएं कराएगा। यह प्रतियोगिताएं 29 मार्च से प्रारंभ होकर 15 अप्रैल तक होंगी। प्रतिभागी प्रविष्टियां घर में ही तैयार कर डीआईओएस की वेबसाइट में भेजेंगे। जिला स्तर पर प्रथम, द्वितीय, तृतीय प्रतिभागी पुरस्कृत किए जाएंगे। प्रतियोगिता में सभी बोर्डों के कक्षा छह से 12 तक छात्र-छात्राएं शामिल होंगे।
प्रतियोगिताएं दो वर्गों में आयोजित होंगी। जूनियर वर्ग की प्रतियोगिता में कक्षा छह से आठ तक और सीनियर वर्ग में कक्षा नौ से 12 तक के छात्र-छात्राएं प्रतियोगिता में शामिल होंगे। चित्रकला प्रतियोगिता 29 मार्च 31 मार्च तक होगी। निबंध प्रतियोगिता पहली अप्रैल से तीन अप्रैल तक, स्लोगन प्रतियोगिता पांच अप्रैल से आठ अप्रैल तक, गीत प्रतियोगिता नौ अप्रैल से 11 अप्रैल तक और भाषण प्रतियोगिता 12 से 15 अप्रैल के मध्य छात्र-छात्राएं अपने घरों शामिल होंगे। प्रविष्टि में प्रतिभागी को कक्षा के साथ विद्यालय का नाम अंकित करना होगा। डीआईओएस महेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि सभी प्रतिभागी प्रविष्टियां हर हालत में आईडी डीआईओएस.फतेहपुर ऐटदरेट जीमेल.काम में 15 अप्रैल तक अपलोड करेंगे। सभी प्रतियोगिताओं के प्रथम, द्वितीय, तृतीय प्रतिभागियों को जिला स्तर पर पुरस्कृत किया जाएगा।
... और पढ़ें

सेब व गुड़ का चढ़ाया प्रसाद, बजाया गया शंख

फतेहपुर। नवरात्र का शुक्रवार को तीसरा दिन रहा। मां दुर्गा के तीसरे रूप चंद्रघंटा की पूजा हुई। पूजा-अर्चना के साथ सेब और गुड़ का प्रसाद चढ़ाया गया। घंटी व शंख बजाकर सुख शांति की कामना की गई।
मां दुर्गा के अलग-अलग स्वरूपों का पूजा करने के लिए घरों में भक्तों ने कलश स्थापित किया है। माता के तीसरे स्वरूप को शुक्रवार को भक्तों ने गाय के दूध से बने मिष्ठान, सेब, गुड़ का भोग लगाया। माता दुर्गा की आरती की। आचार्य दुर्गादत्त शास्त्री ने मां चंद्रघंटा की पूजा के महत्व को बताते हुए कहा कि देवी के मस्तक पर घंटे के आकर का अर्धचंद्र है। इसीलिए देवी के इस रूप को चंद्रघंटा कहा जाता है। माता चंद्रघंटा की पूजा करने से भक्त के सभी पाप और बाधाएं दूर हो जाती हैं। इसलिए भक्तों को नवदुर्गा के इस स्वरूप की विधि-विधान से पूजा-अर्चना करना चाहिए। इससे सांसारिक कष्टों से मुक्ति और सुखी जीवन का आशीर्वाद प्राप्त होगा। देवी के शरीर का रंग सोने जैसा चमकीला है। देवी के 10 हाथ हैं। देवी अपने दस हाथों में खड़क, तलवार, ढाल, गदा, पाश, त्रिशूल, चक्र, धनुष, भरे हुए तरकश लिए हैं, जो साधकों को मुग्ध करते हैं। इनका वाहन सिंह है। इनकी पूजा करने से साधक को निर्भय बनाता है। साधक सौम्य और विनम्र बनता है। साधक के मुख, नेत्र तथा संपूर्ण काया में एक अद्भुत चमक की वृद्धि होती है।
... और पढ़ें

मंडी सचिव ने लोधीगंज की अवैध मंडी फिर बंद कराई

फतेहपुर। मंडी सचिव के साथ नायब तहसीलदार ने लोधीगंज के बेरुईहार की सब्जी मंडी में फिर छापा मारा। वहां पर 48 दुकानों में आलू, प्याज भरा मिला और दुकानों के बाहर जमीन में हरी सब्जी बेचते हुए लोग पाए गए। एक बार फिर सभी को हटाकर मंडी बंद कराई गई। मंडी सचिव अनिल कुमार यादव ने बताया कि आढ़तियों को
हिदायत दी गई कि लोधीगंज में किसी प्रकार का व्यापार नहीं होगा। यहां पर मंडी अवैध है। बता दें कि लोधीगंज के बेरुईहार में दिसंबर 2019 से अवैध सब्जी मंडी का संचालन हो रहा है। नवीन मंडी समिति के आढ़तियों ने इसका विरोध किया। तब एसडीएम के निर्देश पर मंडी सचिव ने अवैध सब्जी मंडी में व्यापार करने वाले 57 आढ़तियों के लाइसेंस निलंबित करने की कार्रवाई हुई। मंडी बंद कराई गई इसके बावजूद शुक्रवार को मंडी संचालित होती दिखी।
... और पढ़ें

बीते तीन महीना के औसत में आएगा अप्रैल का बिल

फतेहपुर। कोरोना के बढ़ते असर को देखते हुए बिजली उपभोक्ताओं के अप्रैल का बिल बीते तीन माह की औसत खपत के आधार पर बनाए जाएंगे। मीटर रीडर उपभोक्ताओं के यहां रीडिंग लेने नहीं जाएंगे। अधीक्षक अभियंता
आनंद प्रकाश शुक्ल ने बताया कि कोरोना का प्रभाव रोकने के लिए भारत सरकार की ओर से किए गए लॉकडाउन के अनुपालन में अप्रैल में फील्ड रीडिंग का काम स्थगित रहेगा। सभी बिल तीन माह के औसत उपभोग के आधार पर बनाए जाएंगे और उपभोक्ताओं को भुगतान के लिए विभागीय वेबसाइट penergy.in/uppcl पर उपलब्ध होंगे। बिल उपभोक्ता के पंजीकृत मोबाइल फोन पर एसएमएस व ई-मेल पर भी उपलब्ध होंगे। अधीक्षण अभियंता ने कहा है कि उपभोक्ता अपना बिल ऑनलाइन भुगतान करें। उन्होंने कहा कि अप्रैल के बिल नॉट रीडिंग (एनआर) आधारित होंगे और अगले बिलिंग के समय रीडिंग आधारित होगा। पूर्व में जमा बिल स्वत: समायोजित हो जाएगा। बिलिंग एजेंसियों को निर्देश दिए गए हैं कि लॉकडाउन की अवधि में कोई भी मीटर रीडर उपभोक्ता के परिसर पर रीडिंग के लिए नहीं जाएगा।
... और पढ़ें

सीओ दफ्तर के पास सेक्स रैकेट के संचालन की भनक पर छापा

फतेहपुर। सीओ सिटी दफ्तर के पास रविवार दोपहर पुलिस ने एक मकान में सेक्स रैकेट के संचालन की सूचना पर छापा मारा। मौके से दो लड़कियों और दो युवकों को पकड़ा गया। मकान के पीछे की दीवार फांदकर भाग रहे दो लोगों इलाकाई लोगों ने पकड़ लिया, लेकिन दोनों किसी तरह भीड़ के चंगुल से भाग निकले। कोतवाली पुलिस आरोपियों से पूछताछ में जुटी है।
कोतवाल रवींद्र श्रीवास्तव ने बताया कि शहर कोतवाली क्षेत्र के रानी कालोनी रोड पर एक मकान में कई दिनों से सेक्स रैकेट के संचालन की खबर मिल रही थी। इलाकाई लोगों ने भी शिकायत की थी। सटीक सूचना पर रविवार की दोपहर करीब डेढ़ बजे पुलिस ने मकान में छापा पारा। घर के बाहर दो बाइकें खड़ी थीं। पुलिस के मकान में
घुसते ही दो युवक पीछे के रास्ते से निकल रहे थे, लेकिन दोनों को मौके पर जुटे लोगों ने पकड़ कर पीटना शुरू कर दिया। दोनों किसी तरह भीड़ के चंगुल से बचकर भाग निकले। मौके से पुलिस ने दो लड़कियों और दो युवकों पकड़ा। पकड़ा गया एक युवक शहर के मुराइनटोला का रहने वाला है। पूछताछ के लिए पुलिस पकड़े गए लोगों को कोतवाली ले गई है। मोहल्ले के लोगों ने बताया कि यहां काफी दिनों से सेक्स रैकेट फलफूल रहा है। नई उम्र की लड़कियों और लड़कों की आवाजाही बनी रहती है। यह लोग चेहरा छिपाकर आते जाते हैं। कोतवाल ने बताया कि बाइकों को कब्जे में लिया गया है। आरोपियों से पूछताछ की जा रही है। छानबीन के बाद आगे की कार्रवाई होगी।
... और पढ़ें

जिले में फंसे 15 बिहारी मजदूरों को प्रशासन ने भेजा

फतेहपुर। भोजन जनसेवा समिति के प्रयास से पंद्रह बिहारी मजदूरों को रविवार को प्रशासन ने रोडवेज बस से गंतव्य के लिए भेज दिया। लॉकडाउन के कारण यह मजदूर आदर्शनगर मोहल्ले के बाहर कैंप में रह रहे थे। इनके सामने खान-पीने का संकट पैदा हो गया था।
शहर में रसोई गैस आपूर्ति की पाइप लाइन बिछाने के लिए ठेकेदार बिहार से 15 मजदूर लाए थे। आवास विकास कालोनी और खलीलनगर में पाइप लाइन बिछाने का काम पूरा होते ही कोरोना वायरस का संक्रमण से बचाने के लिए लॉकडाउन हो गया। ऐसे में यह मजदूर यहीं पर फंस गए थे। पिछले कई दिन से भोजन जनसेवा समिति के संस्थापक कुमार शेखर की टीम मजदूरों को राशन आदि की व्यवस्था कर रही थी। समिति के पदाधिकारियों ने मजदूरों के फंसे होने की सूचना एसडीएम सदर प्रमोद झा को दी। प्रशासन ने मामले को गंभीरता से लेते हुए रविवार को सुबह 10 बजे मजदूर मासूद आलम, आहद, रिहान, इस्तियाक, राहिल, कुरवान, मुनाजिर, शमीम, आबर, मुर्शीद, रिजवान, निजाम, शहनवाज, तालिब, समीर निवासी अररिया बिहार को रोडवेज बस से बिहार के लिए रवाना कर दिया गया। विदा होते समय मजदूरों मजदूरों ने अश्रुपूरित नेेत्रों से समिति के पदाधिकारियों का आभार जताया।
... और पढ़ें

थाने में सिपाही बनकर रौब जमाने में पकड़ा गया

थरियांव (फतेहपुर)। थाने में सिपाही बनकर पहुंचे कौशांबी के युवक और उसके साथी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पूछताछ में दोनों ने पुलिस की वर्दी में वाहनों से वसूली किए जाने की बात भी कबूली है।
थरियांव थाना क्षेत्र के लतीफपुर गांव में दो पक्षों के बीच विवाद हो गया था। एक पक्ष का खखरेरू थाना क्षेत्र के अंजना कबीरपुर गांव में रिश्तेदार अमर सिंह के यहां रहता है। उसके पक्ष से अमर सिंह अपने दोस्त सचिन कुमार निवासी लहना थाना करारी जिला कौशांबी के साथ बोलेरो से थाने पहुंचा। सचिन सिपाही की वर्दी में था। थानेदार विनोद कुमार पक्षों के बीच सुलह समझौते की बात कर रहे थे। सचिन ने थानेदार को परिचय दिया। उसे देखकर थाने में तैनात बाकी पुलिस कर्मी उसकी वर्दी टोपी, बेल्ट पर गौर करने लगे। हुलिया देखकर थाने के सिपाही सचिन से बैच, पोस्टिंग समेत कई सवाल पूछने लगे। टोपी उल्टी लगाए था। थानेदार ने पुलिस विभाग का कार्ड मांगा। तभी वह फंस गया। पूछताछ में घबराने लगा। सचिन और उसके साथी अमर को हिरासत में ले लिया। थानेदार विनोद कुमार ने बताया कि सख्ती से पूछताछ की गई। उसने कबूला कि तीन साल से वर्दी पहनकर घूमता है। वह कई लोगों को धोखा दे चुका है। वह खखरेरू में दोस्त अमर सिंह के घर में ही रहता है। अक्सर मौरंग के वाहनों से पुलिस कर्मी बनकर वसूली करता है। आरोपियों पर रिपोर्ट दर्ज की गई है। बोलेरो खखरेरू थाना क्षेत्र के एक गांव के रहने वाले व्यक्ति की है। बोलेरो का इस्तेेमाल वसूली में आरोपी ने करने की बात कबूली है। इसके बाद भी पुलिस ने बोलेरो और चालक को छोड़ दिया है। आरोपी सचिन ने पुलिस को बताया कि वह बोलेरो को बुकिंग पर प्रतिदिन बुलाता था। बोलेरो से घूमता रहता था। थानेदार ने बताया कि बोलेरो की कोई भूमिका नहीं है।
... और पढ़ें

जान हथेली पर रख लौट रहे घर

फतेहपुर। लॉकडाउन में घर वापसी के लिए मजदूर किसी भी तरह का खतरा मोल लेने में पीछे नहीं हट रहे हैं। लॉकडाउन के बाद घर लौट रहे प्रवासी मजदूरों की दशा देखते बन रही है। जिसे जो साधन मिल रहा है उस पर सवार होकर अपने गांव पहुंचने का जोखिम उठा रहे हैं। यही वजह है कि न तो सिलेंडर से भरे डाला में बैठने पर किसी को गुरेज है और न ही ट्राला पर सफर करने से ही किसी को एतराज।
लॉकडाउन के बाद सड़कों पर पलायन की तस्वीरें ही चिंताजनक हालात बयां कर रही हैं। दिल्ली और हरियाणा से बड़ी तादाद में मजदूरों की हो रही घर वापसी जिले की सड़कों की जुबानी बनी है। अपने-अपने घरों को लौटने के लिए प्रवासी मजदूर परिवार के साथ भी जोखिम मोल ले रहे हैं। रविवार की सुबह नौ बजे लखनऊ बाईपास पर एक ट्रक रुका। ट्रक के डाला पर चार महिलाएं और तीन बच्चों के साथ पांच पुरुष सवार थे। ट्रक चंद मिनट रुकने के बाद आगे बढ़ा तो उसमें सवार एक महिला झटका लगने की वजह से संतुलन खो बैठी। गनीमत रही कि बैठी महिला ने उसका कंधा पकड़ लिया। इसी तरह से लोधीगंज बाईपास से एक सिलेंडर लगने वाला ट्रक गुजरा। बेशक, इन तस्वीरों को लापरवाही से जोड़कर देखा जा सकता है लेकिन हकीकत यही है कि सब कुछ जानने और समझने के बावजूद प्रवासी मजदूर ऐसी जोखिम भरी यात्रा करने को मजबूर हैं।
... और पढ़ें

चंपा के फूल व मूंग के बने मिष्ठान चढ़ाकर की मां की पूजा

फतेहपुर। सूर्यमंडल की अधिष्ठात्री देवी मां स्कंदमाता की पूजा संतान सुख के लिए की जाती है। मां स्कंदमाता को प्रथम प्रसूता महिला भी कहा जाता है। मान्यता है कि मां भक्तों की रक्षा पुत्र के समान करती हैं। नवरात्र के पांचवें दिन मां स्कंदमाता की श्रद्धा भाव से पूजा अर्चना हुई।
भगवान स्कंद कुमार कार्तिकेय की माता होने की वजह से इन्हें स्कंदमाता के नाम से जाना जाता है। रविवार को मां दुर्गा के इसी स्वरूप की आराधना की गई। आचार्य दुर्गादत्त शास्त्री ने बताया कि स्कंदमाता की पूजा में चंपा के फूल चढ़ाना श्रेष्ठ माना जाता है। मूंग से बने मिष्ठान का भोग लगाया। मां के श्रृंगार में हरे रंग की चूड़ियां चढ़ाई। स्कंदमाता की उपासना से मंदबुद्धि व्यक्ति को बुद्धि व चेतना प्राप्त होती है, पारिवारिक शांति मिलती है, इनकी कृपा से ही रोगियों को रोगों से मुक्ति मिलती है तथा समस्त व्याधियों का अंत होता है। देवी स्कंदमाता की साधना उन लोगों के लिए सर्वश्रेष्ठ है, जिनकी आजीविका का संबंध मैनेजमेंट, वाणिज्य, बैंकिंग अथवा व्यापार से है।
स्कंदमाता शेर पर सवार रहती हैं। उनकी चार भुजाएं हैं। ये दाईं तरफ की ऊपर वाली भुजा से स्कंद को गोद में पकड़े हुए हैं। नीचे वाली भुजा में कमल का पुष्प धारण किए हुए हैं। मां का ऐसा स्वरूप भक्तों के लिए कल्याण कारी है।
चढ़ावा: मां स्कंदमाता को केले का भोग अति प्रिय है। इसके साथ ही इन्हें केसर डालकर खीर का प्रसाद भी चढ़ाना चाहिए।
... और पढ़ें

लॉकडाउन के लिए शुरू हुआ रामायण व महाभारत

फतेहपुर। एक दौर था जब दूरदर्शन पर रामायण और महाभारत जैसे एपीसोड के शुरू होते ही चौतरफा खुद ब खुद लॉकडाउन हो जाता था, अब शनिवार की सुबह लॉकडाउन कराने के लिए इसका प्रसारण दूरदर्शन पर शुरू कराया गया है। हालांकि पहले दिन लोग इतने संजीदा नहीं दिखे, क्योंकि कई परिवारों में सीरियल दोबारा प्रसारित किए जाने की सूचना ही नहीं थी। वहीं डीडी-2 पर दोपहर बारह से एक बजे तक महाभारत भी शुरू हुआ।
तीन दशक पहले 1988 तक 74 एपीसोड वाले रामायण के प्रसारण के समय लोग कामकाज छोड़कर टीवी के सामने पहुंच जाते थे। सड़कों पर सन्नाटा खिंचा देखकर लोगों को पता चल जाता था कि सीरियल शुरू हो चुका है। शनिवार को सीरियल का पहला दिन होने के बावजूद काफी घरों में यह उसी दिलचस्पी से देखा गया। 1988 में रामायण सीरियल खत्म होने के बाद महाभारत का प्रसारण शुरू हुआ था। इसे भी दर्शकों ने खासा तवज्जो दिया था।
दोनों सीरियलों की लोकप्रियता को देख इसका उपयोग लॉकडाउन में स्वस्थ मनोरंजन के लिए किया गया है। सीरियल के दोनों समय ऐसे में है, जिनमें बहुतायत लोग सड़कों और बाजारों में दिखाई पड़ते हैं। उधर, चौडगरा में एपीसोड शुरू होने के ठीक समय बिजली कट गई। युवा विकास समिति के जिला प्रवक्ता आलोक गौड़ ने इसकी शिकायत ट्विटर पर ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा से की है। अवर अभियंता कल्लूराम यादव का कहना है कि ग्रामीण इलाकों में 18 घंटे बिजली देने का नियम है। सुबह नौ बजे 18 घंटा पूरा हो जाने से बिजली काटी गई।
... और पढ़ें

खचाखच भर कर दिल्ली से आईं बसें

फतेहपुर। लॉकडाउन के चलते दिल्ली और हरियाणा से घर लौट रहे प्रवासी मजदूरों के लिए लगीं रोडवेज की बसों में भीड़ का रेला दिखाई दिया। रविवार को दिल्ली से दोपहर तक आठ बसें आ चुकी थीं। इनमें करीब साढ़े बारह सौ लोग थे। बांदा और प्रयागराज भेजी गईं बसों में पैर रखने की जगह नहीं थी। यही हाल दिल्ली से लौट रही बसों में भी देखने को मिला। सारी बसों मेें सामाजिक दूरी की बात बेमानी नजर आई।
कोरोना वायरस के बाद प्रवासी मजदूरों को घर पहुंचाने के लिए लगाई गईं रोडवेज की बसों में भीड़ का आलम रहा। जिसे साधन मिल रहा है उस पर सवार हो रहा है। जिसे नहीं मिल रहा है, वह पैदल ही गांवों की तरफ चल पड़ा है। रविवार को दिल्ली से दोपहर तक आठ बसें आ चुकी थीं। इन पचास सीटर बस में किसी में 80 यात्री सवार थे तो किसी में 90। आपाधापी का माहौल कुछ ऐसा देखा गया कि महिलाएं और बच्चों को नीचे बैठकर यात्रा को मजबूर होना पड़ा। कमोबेश यही हाल बांदा और प्रयागराज गईं रोडवेज की बस में दिखा। इन बसों के लगने के कुछ देर बाद ही चालक को बस स्टाप से गाड़ी निकालनी पड़ गई। भीड़ इतनी बढ़ गई थी कि अंदर कदम रखने को जगह नहीं थी। एक अनुमान के मुताबिक आठ बस में करीब साढ़े 12 सौ प्रवासी मजदूर सवार होकर आए। इस मामले में एआरएम ने बताया कि रविवार की सुबह बांदा और प्रयागराज के लिए मांग के अनुरूप एक-एक बस को दौड़ाया गया। 25 बसें कानपुर भी भेजी गईं। 37 बसें दिल्ली-गाजियाबाद भेजी गई थीं। इनमें से दोपहर साढ़े तीन बजे तक आठ बसें लौट चुकी हैं। साथ ही माना कि सबको जल्दी होने की वजह से सीटिंग प्लान धरा रह गया।
फतेहपुर। कोरोना के खतरे से निपटने की जारी कोशिशों के बीच 270 लोग खाड़ी देशों समेत अन्य स्थानों से लौट चुके हैं। इनमें से दो यात्रियों को शंका के आधार पर ब्लड सैंपल लेकर भेजा गया था। रिपोर्ट निगेटिव रही। 23 यात्रियों ने 28 दिन का एकांतवास पूरा कर लिया है। सेल के प्रभारी डॉ. केके श्रीवास्तव बताते हैं कि जो 50 नाम हमारे लिए चुनौती बने हैं। पासपोर्ट में दिए गए पते के आधार पर खोजबीन की जाती है। कई मोबाइल नंबर ऐसे रहे जो मिलाने पर स्वीच आफ बता रहे हैं।
फतेहपुर। दिल्ली और गाजियाबाद से लौट रहे प्रवासी मजदूरों की जांच का काम रविवार को नऊवाबाग बाईपास पर किया गया। चिकित्सकों की टीम ने शहर की सीमा पर कदम रखने वालों की स्क्रीनिंग की। यहीं से उन्हें हरी झंडी मिलती रही। इस व्यवस्था के लागू होने से सदर अस्पताल के फीवर हेल्थ डेस्क का लोड कम रहा।
--------
... और पढ़ें

विदेश से लौटे पचास लोग अभी भी लापता

फतेहपुर। कोरोना संक्रमण के खतरे को टालने में जुटे स्वास्थ्य महकमे के लिए विदेश यात्रा कर लौटे 50 लोग परेशानी का सबब बने हैं। यह लोग ढूंढे नहीं मिल रहे हैं। इनमें किसी का मोबाइल नंबर काम नहीं कर रहा है तो किसी का पता गलत है। राज्य सर्विलांस इकाई की तरफ से अभी तक जिला सर्विलांस इकाई को विदेश यात्रा से लौटने वाले 266 लोगों की सूची सौंपी है। अब तक की कवायद में 23 यात्रियों ने 28 दिन का घर में एकांतवास पूरा कर लिया है। 164 ऐसे हैं जो एकांतवास के 14 दिन का वक्त गुजार चुके हैं। सेल प्रभारी डॉ. केके श्रीवास्तव बताते हैं कि जो 50 नाम हमारे लिए चुनौती बने हैं। उनमें नौ नाम दूसरे जिलों के रहने वालों के हैं। पासपोर्ट में दिए गए पते के आधार पर खोजबीन की जाती है। कई मोबाइल नंबर स्विच ऑफ बता रहे। ... और पढ़ें

ट्रैक्टर-ट्राली से गिरा किशोर, कुचलकर मौत

बहुआ (फतेहपुर)। भट्ठे से मजदूरी कर लौट रहे किशोर की शनिवार को ट्रैक्टर से गिरकर मौत हो गई। इससे गुस्साए ग्रामीणों ने पुलिस को शव उठाने से मना कर दिया। लोगों को समझाने के करीब डेढ़ घंटे बाद पुलिस शव को कब्जे में ले सकी। हादसे की वजह चालक के अचानक ब्रेक मारने से किशोर का नीचे गिरकर कुचलना बताया गया।
ललौली थानाक्षेत्र के सुजानपुर के पांडेतालाब कंजरनडेरा निवासी दिवंगत राजबहादुर का बेटा श्यामू गिहार(16) घर से गांव के ही शिवा गिहार के साथ एक भट्ठे में भोर तीन बजे कच्ची ईंट भराई करने गया था। लगभग दस बजे साथी मजदूरों धर्मवीर गिहार, नीरज गिहार, अमित गिहार व चालक के साथ घर लौट रहा था। ट्रैक्टर बहुआ गैस एजेंसी के पास पहुंचा तो ट्राली में लटककर बैठे श्यामू की टोपी हवा में उड़ गई। श्यामू ने चालक को रुकने के लिए आवाज लगाई, चालक ने तेज रफ्तार में इमरजेंसी ब्रेक मार दी। इससे श्यामू अनियंत्रित होकर ट्राली से नीचे गिरा और पहिए से कुचल गया। उसी ट्रैक्टर में उसके साथी किशोर को लेकर पीएचसी पहुंचे। डॉक्टर ने हालत
नाजुक देखकर जिला अस्पताल को रेफर किया। पीएचसी से कुछ दूरी पर किशोर की सांसें थम गईं। परिजन शव लेकर घर चले गए। घटना से कोहराम मच गया। पुलिस शव कब्जे में लेने पहुंची। परिजनों ने शव उठाने से रोक दिया। पुलिस शव को कब्जे में लेने की कोशिश करती तो बहनें शव से लिपट जाती। ग्रामीणों ने आरोपी ट्रैक्टर चालक को पकड़ने की मांग की। करीब डेढ़ घंटे बाद कुछ रिश्तेदार पहुंचे। पुलिस ने किसी तरह से परिजनों को समझा बुझाकर शांत किया गया। पुलिस ने ट्रैक्टर को पकड़ लिया है। घटना से मां पुष्पा देवी और बहनों बीनू, रीनू, शीलू, रीतू, गुड्डी, पूनम, आरती का हाल बेहाल हो गया। उसका एक बड़ा भाई रामू व छोटा भानू है। एसओ प्रदीप यादव ने बताया कि रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई की गई है।
फोटो संख्या एवं परिचय-
8- तालाब में मरी मछलियां दिखाता पट्टेधारक
तालाब में एक क्विंटल मछलियां मरीं
संवाद न्यूज एजेंसी
चौडगरा। कल्यानपुर थाना क्षेत्र के मौहार गांव में शनिवार को एक तालाब में करीब एक क्विंटल मछलियों की मौत हो गई। पहले यह शक जताया गया कि पानी जहरीला हो जाने से मछलियां मरी होंगी। पर, अन्य मछलियों के सुरक्षित होने से जहर की आशंका खारिज हो गई। पट्टाधारक राजू सोनकर ने बताया कि करीब एक क्विंटल मछलियां मरी है। काफी नुकसान हुआ है। बताया जा रहा है कि धूप तेज होने की वजह से ठहरे पानी में गैस बन गई होगी। इससे गैस खत्म करने को तालाब में और पानी डाला गया है। पहले तालाब के पट्टे को लेकर दो पक्षों के बीच विवाद रहता था। अब पक्षों के बीच समझौता हो चुका है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us