विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus In Uttar Pradesh Live: नोएडा में चार और संक्रमित मरीज मिले, यूपी में संख्या बढ़कर हुई 70

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस का कहर देश में लगातार बढ़ता जा रहा है। रविवार को कोरोना से जम्मू-कश्मीर और गुजरात में एक-एक लोगों की मौत हो गई। वहीं, यूपी में भी लगातार संक्रमिता का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है।

29 मार्च 2020

विज्ञापन

Sp baghpat said

28 मार्च 2020

विज्ञापन

गाजीपुर

रविवार, 29 मार्च 2020

लाकडाउन: बंद रही मस्जिद, घरों में अदा की नमाज

गाजीपुर। लाकडाउन का अब व्यापक असर दिखाई देने लगा है। शुक्रवार को जुमे का दिन होने के कारण जिले भर की मस्जिदों में सन्नाटा रहा। मुस्लिम बंधुओं ने घरों में ही नमाज अदा किया। इधर नवरात्र में देवी मंदिरों के बंद होने से भी श्रद्धालु मायूस हैं। तीसरे दिन भी सड़कों पर सन्नाटा ही पसरा रहा। शहर, तहसील, कसबा सहित गांवों में भी लोग घरों में ही कैद रहे। आपातकालीन सेवाओं को छूट दिए जाने के बाद भी दवा आदि की छिटपुट दुकानें ही खुली रहीं। इस दौरान सड़कों पर बेवजह घूम रहे लोगों को घर भेजा गया।
शहर के टाउनहाल, महुआबाग, विशेश्वरगंज, नूरुद्दीनपुरा, नखास, गोराबाजार, गुदड़ी, शेखपुरा सहित शहर की सभी मस्जिद बंद रहीं। लोगों ने घरों में ही नमाज अदा किया। इसी तरह की स्थिति जिले के अन्य ग्रामीण क्षेत्रों में भी रही। इस दौरान जहां भी भीड़ दिख रही थी वहां रुककर तुरंत लोगों को घर भेजा गया। गाड़ियों में बैठे अधिकारी माइक लेकर लोगों को निर्देश देते रहे। हालांकि सड़कों पर पूरी तरह से आवाजाही रुक नहीं रही है। लोग वाहनों पर निकल रहे हैं। इधर खेती के कार्य, जानवरों को चारा लेने आदि जैसे जरूरी कामों के लिए लोगों को घरों से बाहर आना पड़ रहा है।
मुहम्मदाबाद संवाददाता के अनुसार जुमा की नमाज जामा मस्जिद में नहीं पढ़ी गई। छूट के समय लोग घरों से बाहर खरीददारी के लिए निकले। सुबह सात बजे से दिन के 11 बजे तक डोर-टू-डोर आवश्यक वस्तुओं, सब्जी, फलों की बिक्री का निर्देश दिया था। तीसरे दिन सब्जी के भाव में स्थिरता देखी गई। थोक किराना के दुकानदारों ने फुटकर दुकानदारों से मोबाइल पर आर्डर बुक कराने को कहा जिससे दुकान पर भीड़ न लगे और ग्राहक के आते ही उनका सामान मिल जाय। उपजिलाधिकारी राजेश कुमार गुप्ता एवं सीओ विनय गौतम क्षेत्र में चक्रमण करते रहे। जमानिया संवाददाता के अनुसार उपजिलाधिकारी सहित पुलिस विभाग की टीम ने सुबह से ही सख्त रुख अख्तियार कर लिया। सड़कों सहित बाजारों में सन्नाटा पसरा रहा। सुहवल में भी सडकें, गांव-गली मुहल्ले में वीरानी छाई रही। सड़कों के किनारे हाईवे पर वाहनों की लंबी कतार लगी है। गंगा घाटों पर नावें कतार से बांधी गई है। नंदगंज संवाददाता के अनुसार वाहनों की जांच की जा रही है। इस दौरान पुलिस फोर्स पूरे क्षेत्र में चक्रमण करती रही। बेवजह सड़क पर आए तीन बाइक एवं एक चार पहिया वाहन को सीज कर दिया गया। खानपुर में सीओ सैदपुर महिपाल पाठक चक्रमण कर वाराणसी जिले से सटे बार्डर सिधौना तथा जौनपुर से सटे सांईं की तकिया और आजमगढ़ से सटे जियापुर बार्डर पर पहुंचे तथा जानकारी ली। सादात संवाददाता के अनुसार कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए लाकडाउन का क्षेत्र में पुलिस द्वारा कड़ाई से पालन कराया जा रहा है। इसका उल्लंघन करने वालों को पुलिस सबक भी सिखा रही है। जनता को खाद्य सामग्री, सब्जी और दवा उपलब्ध कराने के लिए कुुल 16 दुकानों को प्रतिदिन निर्धारित समय पर खोलने के लिए अधिकृत किया गया है।
(फोटो)
... और पढ़ें

लाकडाउन: दूसरे दिन भी सन्नाटे में रहे गांव, सड़कें रही सूनीं

गाजीपुर। लाकडाउन के दूसरे दिन बृहस्पतिवार को जिले भर के कसबे तथा गांवों में सन्नाटा पसरा रहा जबकि सड़कें सूनी रही। हमेशा चहल-पहल रहने वाली बाजार हो या अड़ी लगने वाले चबूतरे सभी सूनसान पड़े रहे। बच्चों को रोकना थोड़ा कठिन रहा। वह आंख बचाकर सड़कों तथा पार्कों में क्रिकेट और अन्य खेलों का आनंद लेते दिख जा रहे हैं। हालांकि पुलिस पूरी तरह से मुस्तैद है तथा बेवजह बाहर निकलने वालों पर खूब सख्ती की गई। कहीं लाठियां पीटकर लोगों को डराया तो कहीं लोगों के कान पकड़ कर उठक बैठक भी कराई। प्रशासनिक तथा पुलिस के अधिकारी भी जगह-जगह भ्रमण कर स्थिति का जायजा लेती रही।
शहर में सुबह बाजारों में थोड़ी चहल-पहल दिखी लेकिन कुछ ही देर बाद सन्नाटा पसर गया। बाजारों में अधिक देर तक लोगों को नहीं रहने दिया जा रहा है। सुबह शाम मिली छूट में लोग आवश्यक खरीददारी के लिए बाहर आए। सड़कों पर पूरी तरह से सन्नाटा पसरा रहा। अस्पताल, बैंक, दवा सहित आवश्यक वस्तुओं की दुकानों के अलावा सभी दुकानें बंद रहीं। गंगा पर बन रहे रोड कम रेल ब्रिज के निर्माण का काम भी बंद हो गया है। गाड़ियों पर घूम रहे अधिकारी माइक पर लोगों को घर में रहने की हिदायत देते हुए घूम रहे हैं। मुहम्मदाबाद संवाददाता के अनुसार पुलिस सड़क पर बेवजह घूमने वालों से सख्ती से पेश आई। पुलिस ने चौराहों तथा तिराहों पर ऐसे लोगों को पकड़ कर उठक-बैठक कराई। सादात संवाददाता के अनुसार सड़कों पर सन्नाटा छाया रहा और इसका उल्लंघन करने वालों को पुलिस जगह-जगह सबक भी सिखाती रही। बाजार में सब्जी, राशन और दवा की की छिटपुट दुकानें शाम के समय खुली देखी गई। मनिहारी संवाददाता के अनुसार क्षेत्राधिकारी भुड़कुड़ा मनिहारी, हंसराजपुर, नसीरपुर, ऊसरगांव, मलिकपुरा, सिखड़ी बाजार में घूमकर लोगों से घर से बाहर नहीं निकलने का आग्रह लाउडस्पीकर के माध्यम से करते रहे। नवरात्र के कारण बाजार में आए हुए लोगों से जल्द से जल्द सामान लेकर अपने घर को लौटने का आग्रह करते रहे। देवकली संवाददाता के अनुसार देवकली, भितरी, पियरी, धुवार्जुन, मौधिया, बासूपुर, पहाड़पुर, रामपुर मांझा, नारी पचदेवरा, देवल, देवचंदपुर, सौरी, बासूचक आदि बाजारों में पूर्ण रुप से समर्थन में नागरिक घरों में कैद रहे। इसके अलावा नंदगंज, करंडा, सैदपुर, जमानिया, भांवरकोल, सेवराई, दुल्लहपुर, कासिमाबाद, खानपुर, औड़िहार, बहरियाबाद, दिलदारनगर, बिरनो, जंगीपुर आदि क्षेत्रों में भी यही स्थिति दिखाई दी।
... और पढ़ें

विवाहिता ने फांसी लगाकर दी जान

कासिमाबाद। थाना क्षेत्र के सोनबरसा गांव में एक पिता द्वारा डांटने पर एक विवाहिता ने बृहस्पतिवार की सुबह फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।
मालूम हो कि सोनबरसा गांव निवासी सुरेंद्र चौहान की पुत्री वंदना चौहान (19) का प्रेम विवाह परिवार वालों की रजामंदी से इसी थाना क्षेत्र के सत्यनारायण चौहान के पुत्र भगवान चौहान से 29 जून 2018 को मंदिर में हुआ था। बाद में ससुराल वालों से विवाद होने के बाद एक वर्ष से वंदना अपने पिता के साथ राजकोट गुजरात में रहती थी। छठ में भी वंदना पिता के साथ गांव आई थी और बाद में चली गई थी। कोरोना वायरस की वजह से बीते 17 मार्च को वंदना अपने माता-पिता के साथ गांव सोनबरसा आई थी। बृहस्पतिवार की सुबह करीब छह बजे किसी बात को लेकर वंदना का पिता से विवाद हो गया था। इस पर पिता ने डांट दिया। इस पर वंदना मकान के छत पर गई और टिनशेड के पाइप में साड़ी के फंदा पर लटक गई। जब काफी देर बाद भी वह नीचे नहीं आई तो परिवार के लोग छत पर गए तो उसे फंदे से लटकता देख चीख-पुकार करने लगे। मां मेवाती देवी दहाड़े मारकर रोने लगी। घटना की जानकारी होते ही पास-पड़ोस के लोग भी वहां पहुंच गए। परिवार के लोगों ने पुलिस के साथ ही मृतका के ससुराल वालों को घटना की जानकारी दी। कुछ ही देर में पुलिस के साथ ही नायब तहसीलदार चंद्रशेखर प्रसाद पहुंच गए। पुलिस ने लोगों की मदद से शव को नीचे उतरवाकर कब्जे में ले लिया। इस संबंध में थाना प्रभारी निरीक्षक बलवान सिंह ने बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। मृतका के पिता ने आत्महत्या करने की तहरीर दी है।
... और पढ़ें

विवाहिता ने फांसी लगाकर आत्महत्या की

खानपुर। थाना क्षेत्र के उचौरी गांव में एक विवाहिता ने शुक्रवार की दोपहर परिवार में कहासुनी होने से नाराज होकर दुपट्टा से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।
थाना प्रभारी निरीक्षक सुनील सिंह ने बताया कि गहमर थाना क्षेत्र के करहिया गांव निवासी नाजिया (30) की शादी नौ फरवरी 2019 को उचौरी गांव निवासी समीर से हुई थी। शुक्रवार को किसी बात को लेकर नाजिया के परिवार वालों से कहासुनी हुई। इसके बाद उसने कमरे में पंखा से दुपट्टा के सहारे लटककर आत्महत्या कर लिया। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को नीचे उतरवाकर कब्जे में ले लिया। उन्होंने बताया कि विवाहिता के मायके वालों ने इस मामले में कोई तहरीर नहीं दी। शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया गया।
... और पढ़ें

प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाएंगे मौसमी फल और हरी सब्जिया

गाजीपुर। कोरोना वायरस का खौफ बढ़ता ही जा रहा है। इसको लेकर लोग हर प्रकार के जतन और प्रयास कर रहे हैं। बैक्टीरिया के प्रभाव से व्यक्ति जल्दी बीमार पड़ जाता है। इससे बचाव के लिए शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने को लेकर चिकित्सा जगत से जुड़े लोग अलग-अलग सलाह दे रहे हैं। उनका कहना है कि विटामिन-सी से भरपूर मौसमी फलों के सेवन करने के साथ ही कुछ घरेलू नुस्खे भी अपनाया जा सकता है। चिकित्सकों का कहना है कि घरेलू तथा रोजमर्रा की वस्तुओं का प्रयोग कर हम जहां शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा सकते हैं वहीं नीम की पत्ती, फिटकरी आदि का प्रयोग कर साफ-सफाई भी रख सकते हैं।
दिन भर में शरीर को इस प्रकार का भोजन देना चाहिए जिससे शरीर की उर्जा बनी रहे। संतुलित और विटामिन युक्त आहार का सेवन करना चाहिए। दूध में हल्दी डालकर पीने से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता काफी बढ़ जाती है- डा. प्रगति कुमार
रोटी, चावल के साथ ही हरी सब्जियों के अपने अलग-अलग गुण हैं। पौष्टिक भोजन से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। खाना खाने के कम से कम आधा घंटा बाद पानी का प्रयोग करें जिससे पाचन शक्ति ठीक रहे। - डा. तपिश
मौसमी फलों के प्रयोग से शरीर को अतिरिक्त ऊर्जा मिलती है। बासी फलों की अपेक्षा ताजा संतरा, केला, मुसम्मी, नीबू , पपीता के साथ ही हरी सब्जियों आदि का सेवन प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए काफी है- डा. शरद कुमार वर्मा
तुलसी और नीम का पत्ता, फिटकिरी, दालचीनी, अदरक, काली मिर्च आदि सेहत के लिए काफी गुणकारी है। शरीर की बैक्टीरिया को समाप्त करने के लिए इनका अलग-अलग प्रकार से प्रयोग किया जाना चाहिए - डा. वीरभद्र मिश्र
... और पढ़ें

खरीददारी के लिए दुकानों पर भीड़ न लगाएं

कासिमाबाद। जिलाधिकारी ओमप्रकाश आर्य एवं पुलिस अधीक्षक डा. ओमप्रकाश सिंह ने तहसील के विभिन्न क्षेत्रों में भ्रमण कर लोगों से जिले में लागू लॉकडाउन को सफल बनाते हुए घरों में ही रहने की अपील की। अधिकारी रौजा होते हुए कठवामोड़ पहुंचे। वहां से कासिमाबाद कस्बा, धरवारकला एवं अन्य क्षेत्रों में लॉकडाउन का पालन होने की उपजिलाधिकारी से जानकारी ली तथा स्थलीय निरीक्षण किया। उन्होंने जनता से अपील किया कि लोग घरों में बने रहे तथा किराना, सब्जियों एवं रोजमर्रा की वस्तुओं की खरीददारी के लिए दुकानों पर दो से अधिक व्यक्तियों की संख्या में भीड़ न लगाएं। मौके पर उपजिलाधिकारी कासिमाबाद रमेश मौर्या, तहसीलदार कासिमाबाद एवं पुलिस बल उपस्थित थे। ... और पढ़ें

चौथे दिन हुई मां कूष्मांडा की आराधना

गाजीपुर। चैत्र नवरात्र के चौथे दिन शनिवार को शहर सहित ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों ने घरों में मां कूष्मांडा की आराधना की। घरों में श्रद्धालुओं द्वारा किए जा रहे पूजन-अर्चन की आवाज बाहर तक सुनाई देती रही। कोरोना वायरस की वजह से देवी मंदिरों का कपाट बंद होने से सन्नाटा पसरा रहा।
इस वर्ष कोरोना वायरस की वजह से लाकडाउन होने से जिले के मां कामाख्या धाम, रेवतीपुर स्थित मां भगवती, करीमुद्दीनपुर स्थित कष्टहरणी भवानी, मुहम्मदाबाद तहसील स्थित मनोकामना देवी, अमवा की सती मइया, सैदपुर स्थित मां काली मंदिर, देवकली के चकेरी धाम स्थित दुर्गा मंदिर, शादियाबाद स्थित टड़वा भवानी, बहादुरगंज स्थित मां चंडी, दिलदारनगर स्टेशन स्थित सायर माता सहित अन्य प्रसिद्ध देवी मंदिरों का कपाट बंद है। इससे श्रद्धालुओं को निराशा हुई है। श्रद्धालु सुबह शाम घरों में ही मां दुर्गा के पूजन-अर्चन का कार्य कर रहे हैं। घरों से देवी के पूजन-अर्चन की आवाज सुनाई दे रही है। दुल्लहपुर, मरदह, बिरनो, जंगीपुर, सादात, भीमापार, खानपुर, औड़िहार, सैदपुर, देवकली, नंदगंज, करंडा, बहरियाबाद, शादियाबाद, जखनिया, गहमर, सेवराई, रेवतीपुर, सुहवल, दिलदारनगर, जमानिया, मतसा, कासिमाबाद, मुहम्मदाबाद, भांवरकोल, सिधागरघाट, बहादुरगंज, कठवामोड़ संवाददाता के अनुसार चौथे दिन भी लोगों ने घरों में मां दुर्गा का पूजन-अर्चन किया।
... और पढ़ें

कोरोना: तीनों भरती मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव

गाजीपुर। कोरोना वायरस को लेकर जिले में पूरी तरह से सतर्कता बरती जा रही है। विदेशों और देश के विभिन्न राज्यों से आए करीब 12 हजार लोगों की स्क्रीनिंग और प्रथम चरण की जांच का काम करीब-करीब पूरा हो गया है। सभी को जरूरी एहतियात बरतने को कहा जा रहा है। इधर, जिला अस्पताल के कोरोना वार्ड में आए तीनों संदिग्ध मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। एक को छोड़ कर, दो को देर रात तक घर भेज दिए जाने की संभावना है। इसके एक दिन पहले यहां से आठ को घर भेजा गया था। इस समय अस्पताल में एक भी मरीज नही हैं। जिले में करीब 42 संदिग्ध मरीज हैं, जिनकी निगरानी चल रही है।
कोरोना के कहर और लॉकडाउन के बाद विदेशों तथा देश के विभिन्न राज्यों से जिले में आए करीब 12 हजार लोगों की जांच के प्रथम चरण का काम पूरा कर लिया गया है। इसके लिए शहर तथा ब्लाक स्तर पर स्वास्थ्य विभाग की 19 टीमें बनाई गई हैं, जो घर-घर जाकर जांच कर रही है। ऐसे करीब दो हजार व्यक्तियों की जिला अस्पताल में भी स्क्रीनिंग की जा चुकी है। इसमें लोग कोरोना प्रभावित देशों कुवैत, ईरान, सिंगापुर, थाईलैंड, सऊदी अरब, दुबई के अलावा देश के मुंबई, सूरत, चेन्नई, कोलकाता, पटना आदि हिस्सों से आए थे। इनसे परिवार तथा गांव के अन्य लोगों को भी संक्रमण का खतरा था। अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. उमेश कुमार ने बताया कि गांव-गांव स्तर पर कंट्रोल रूम के नंबरों की सूचना दे दी गई है। काल करने पर तुरंत टीम मौके पर पहुंच जाएगी।
जिला अस्पताल में बना 12 बेड का नया आइसोलेशन वार्ड
गाजीपुर। जिला अस्पताल में 10 बेड का एक कोरोना वार्ड तो था ही अभी गंभीर स्थिति को देखते हुए 12 बेड का एक और अइसोलेशन वार्ड बना दिया गया है। इसके अलावा, जिले के 15 निजी अस्पतालों को भी हाई अलर्ट किया गया है। इनमें कोरोना के लिए अलग से वार्ड बनाए रखने तथा औषधि का स्टाक बनाए रखने का निर्देश दे दिया गया है। अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा. प्रगति कुशवाहा ने बताया कि कोरोना के लक्षण या संदिग्ध स्थिति को देखते हुए जिले के संजीवनी हास्पिटल, आस्था हास्पिटल, नर्सिंग होम प्रकाशनगर, मां राधिका देवी चिकित्सालय रौजा, सिंह हास्पिटल, धनरावती हास्पिटल जखनियां, वर्ल्डग्रीन हास्पिटल सैदपुर, अमन सर्जिकल सेंटर प्रकाश नगर, लाइफ लाइन आमघाट सहकारी कालोनी, शम्मे हुसैनी हास्पिटल, चंद्र ललित हास्पिटल, राज नर्सिंग होम बड़ीबाग, आरएस हास्पिटल देवा आदि में संपर्क किया जा सकता है।
... और पढ़ें

...और पैदल ही निकल पड़े 250 किमी के सफर पर

गाजीपुर। कहा जाता है कि अगर आपके पास हौसला है तो बड़ी से बड़ी मुश्किलों का आप सामना कर सकते हैं। कोई बाधा आपको रोक नहीं सकती। कुछ इसी तरह का हौसला दिखाया कुशीनगर जिले के पडरौना थाना के कोकिल पट्टी गांव निवासी चार युवकों ने। लाकडाउन से ट्रेन और यात्री वाहनों पर प्रतिबंध होने से वह वाराणसी के पांडेयपुर से पैदल ही 250 किमी के सफर पर निकल पड़े। युवकों के माथे पर किसी तरह की चिंता नहीं दिख रही थी। उनका इरादा इस बात से पूरी तरह से बुलंद था कि वह आराम से अपनी मंजिल तय करते हुए घरों को पहुंच जाएंगे।
पीठ पर बैग लटकाए गाजीपुर जिले से गुजर रहे कुशीनगर जिले के पडरौना थाना के कोकिल पट्टी गांव निवासी संजय, कन्हैया, कृष्णा और सूरज ने बताया कि वह वाराणसी के पांडेयपुर में पाइप फिटर का काम करते हैं। कोरोना वायरस से बचाव के लिए लाकडाउन होने से एहतियातन ट्रेन के साथ ही बसों के संचालन पर सरकार की तरफ से प्रतिबंध लगा दिया गया। इससे हम लोग भी साधन के अभाव में फंस गए। फिर हम लोगों के मन में यह बात आई कि घर तक का सफर पैदल ही तय किया जाए। हम लोग बृहस्पतिवार की रात दस बजे पैदल ही पडरौना के लिए निकल पड़े। हम लोगों को 250 किलोमीटर की दूरी तय करनी है। बताया कि रास्ते में कई अधिकारियों के साथ ही अन्य लोग मिले। कई घरों के लोगों ने नाश्ता-पानी भी कराया और कइयों ने आर्थिक मदद भी की। ऊपर वाले की कृपा होगी तो हम लोग सही-सलामत अपने घरों को पहुंच जाएंगे। भीमापार संवाददाता के अनुसार आजमगढ़ के जियापुर क्षेत्र में पानी टंकी का निर्माण करने में जुटे कन्नौज जिले से आए पांच मजदूर लाकडाउन में फंस गए। कन्नौज जिले के थाना तालग्राम के अमोलर गांव निवासी पुष्पेंद्र, अशोक, दीपचंद, सुनीत और अजीत पैदल ही कन्नौज के लिए भीमापार होते रवाना हुए।
... और पढ़ें

ट्रांसफार्मर जलने से अंधेरे में हैं 40 घर

जमानिया। क्षेत्र के हेतिमपुर कटहरा गांव के बाहर तिराहा पर लगे 25 केवीए के ट्रांसफार्मर में बुधवार की रात आग लग गई। इससे वह जल गया। जलने के बाद तो ट्रांसफार्मर की आग अपने आप शांत हो गई, लेकिन 40 घरों में अंधेरा छा गया। तीसरे दिन भी ट्रांसफार्मर बदलकर आपूर्ति सुचारू न कराए जाने से उपभोक्ता परेशान रहे।
मालूम हो कि हेतिमपुर कटहरा गांव के बाहर तिराहा पर लगे 25 केवीए के ट्रांसफार्मर से लगभग 40 घरों में बिजली आपूर्ति होती थी। बुधवार की रात करीब 12 बजे अचानक ट्रांसफार्मर में आग लग गई। लोगों ने इसकी सूचना विभाग को दी। रात होने पर किसी के न पहुंचने से आग तो अपने आप बुझ गई, लेकिन इससे संबंधित घरों में अंधेरा छा गया। रामावतार बिंद, गुड्डू बिंद, अजय, सीताराम, चंद्रलोक शर्मा, गुलाब आदि ने कहा कि बिजली आपूर्ति ठप होने से तरह-तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। कोरोना वायरस को लेकर लाकडाउन चल रहा है। ऐसे में घरों में रहना पड़ रहा है। बिजली के अभाव में टीवी न चलने से समय काटना मुश्किल हो रहा है। मोबाइल भी चार्ज नहीं हो पा रहा है। दिन तो किसी तरह से बीत जा रहा है, लेकिन शाम ढलते ही अंधेरे की वजह से उलझन हो रही है। बताया कि ट्रांसफार्मर जलने की सूचना विभाग को दी गई। बावजूद इसके तीसरे दिन भी उसे बदलकर आपूर्ति सुचारू नहीं कराई गई। इससे परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इस संबंध में जेई इंद्रजीत पटेल ने बताया कि ट्रांसफार्मर जलने की बात मेरे संज्ञान में है। प्रयास किया जा रहा है कि जल्द उसे बदलवाकर आपूर्ति सुचारू करा दी जाए।
... और पढ़ें

अफजाल ने उपकरण खरीदने को 39 लाख 50 हजार रुपए देने की घोषणा की

गाजीपुर। महामारी घोषित हो चुके कोरोना वायरस से बचाव के लिए जिले के सांसद अफजाल अंसारी भी आगे आए हैं। उन्होंने सांसद निधि से वायरस से संक्रमित लोगों के इलाज के लिए उपकरण खरीदने को 39 लाख 50 हजार रुपए देने की घोषणा की है। इस संबंध में उन्होंने गाजीपुर के जिलाधिकारी को पत्र भी लिखा है। पत्र में खरीदे जाने वाले उपकरणों के नाम भी लिखे हैं।
सांसद अफजाल अंसारी ने गाजीपुर की जनता से अपील किया है कि कोरोना वायरस से लड़ाई में उनकी सहभागिता जरुरी है। वह घर में रहकर इस लड़ाई में अपना योगदान दे सकते हैं। साथ ही उन्होंने डब्ल्यूएचओ की गाइड लाइन मानने का भी आह्वान किया है। बार-बार हाथ धोते रहने और कुछ दिनों के लिए एक-दूसरे से दूरी बनाने की अपील की है। आसपास जिसमें भी कोरोना के लक्षण दिखें उसके बारे में स्वास्थ्य विभाग को सूचना देने को कहा है। सांसद ने जिलाधिकारी को लिखे गए पत्र में इंफ्रारेड थर्मामीटर एव पांच वेंटिलेटर खरीदने के लिए धनराशि की संस्तुति की है। सांसद ने जिलाधिकारी से सभी सुविधाओं को जल्द उपलब्ध कराने को कहा है, जिससे कोरोना से संक्रमित लोगों का इलाज अच्छे से किया जा सके। साथ ही मरीजों का इलाज कर रहे डॉक्टर, नर्स और वार्ड ब्वाय से भी सुरक्षित रहने को कहा है। जिला अस्पताल के दस रूम को आइसोलेशन वार्ड को सेनेटाइज करने को भी कहा है। इसी वार्ड में खरीदकर आने वाले वेंटिलेटर रखे जाएंगे। उन्होंने कहा कि इस आपदा में वह जिले की जनता के लिए हमेशा खड़े हैं। वह उनकी हर जरूरतों को पूरा करने की कोशिश करेंगे। साथ ही सभी लोग मिलकर कोरोना से लड़ेंगे और जीत हासिल करेंगे।
0000 सांसद की आर्थिक मदद से खरीदे जाएंगे ये उपकरण 0000
1- 25 इंफ्रारेड थर्मामीटर, 200 पर्सनल सुरक्षा किट, पांच आईसीयू पोर्टेबल वेंटिलेटर, 1000 फेस मॉस्क, 100 सर्जिकल दस्ताने, 100 हैंड सैनेटाइजर तथा 1000 कोरोना टेस्टिंग किट है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं
DIWALI COOPAN
CHHAT COOPAN

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us