विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus in UP Live Updates: प्रदेश में 80 संक्रमित, लखनऊ में 9 दिनों से नहीं मिला कोई मरीज

शासन और प्रशासन संक्रमण के चेन को तोड़ने के लिए लगातार कोशिश कर रहा है। लोगों से भी हर वक्त घरों में रहने की अपील की जा रही है।

30 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

गोंडा

सोमवार, 30 मार्च 2020

प्रशासन घर-घर पहुंचाएगा सब्जी और राशन

गोंडा। कोरोना से बचाव के लिए लाक डाउन किए जाने के बाद प्रशासन ने लोगों को जरूरत की सामग्री उपलब्ध कराने की रणनीति तैयार कर ली है। मंडी में बड़ी संख्या में सामग्री मंगाई गई है और उसे आम लोगों तक पहुंचाने के लिए व्यापारियों को होम डिलवरी के तरीके बताए गए हैं। शहर में सभासदों और पंचायतों में प्रधानों को सहयोग करके सामग्री उपलब्ध कराने की जिम्मेदारी सौंपी है।
जिलाधिकारी डॉ. नितिन बंसल ने बताया है कि जनपद में राशन, दवा, सब्जी, दूध तथा फल जैसी आवश्यक वस्तुओं को कहीं कोई कमी नहीं है। गुरूवार को सब्जी मंडी में जिला प्रशासन के प्रयास से भारी मात्रा में सब्जी व फल की आवक हुई जिसमें 1200 क्विंटल प्याज, 1000 क्विंटल आलू, 400 क्विंटल मिर्चा, 400 क्विंटल लौकी व कद्दू, 400 क्विंटल अदरख तथा 200 क्विंटल लहसुन मंगवाया गया है। इसी प्रकार 300 क्विंटल केला, 400 क्विंटल सेब, 200 क्विंटल पपीता तथा अंगूर व अनार की आमद कराई गई है। जिलाधिकारी ने स्पष्ट किया है कि जनपद में किसी आवश्यक वस्तु की कमी नहीं होने दी जाएगी साथ ही ओवररेटिंग व जमाखोरी करने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
सिटी मजिस्ट्रेट वन्दना त्रिवेदी ने गुरुवार को सब्जी मण्डी में पहुंचकर आए हुए माल का निरीक्षण किया तथा स्वयं की उपस्थिति में निर्धारित मूल्य पर फुटकर दुकानदारों को सब्जियां व फल उपलब्ध कराया। लोगों को निर्धारित मूल्य पर सब्जियां मिलें इसके लिए आवश्यक सबिज्यों का मूल्य जिला प्रशासन द्वारा निर्धारित कर दिया गया है जिसके अनुसार प्रतिकिलो के हिसाब से आलू 20-22 रुपए में, प्याज 20-25 रुपए में, टमाटर 20-25 रुपए में, मिर्चा 25 रूपए, लौकी 5-10 रुपए कद्दू 20-25 रूपए, करैला 20-30 रुपए तथा भिण्डी 30 से 40 रुपए प्रतिकिलो की दर लोगों को घर-घर उपलब्ध कराया जाएगा। इसी प्रकार फलों में केला 40-50 रुपए प्रति दर्जन, सेब 65 रूपए प्रति किलो, पपीता 30 रूपए प्रतिकिलो, अंगूर 80 रूपए प्रतिकिलो तथा अनार 50-80 रुपए प्रतिकिलो के रेट से मिलेगा। मुहल्लों में घर-घर सब्जियों की आपूर्ति के लिए 350-450 ठेले लगवाए गए हैं जो मुहल्लों में सीटी बजाकर लोगों को सब्जियां उपलब्ध करा रहे हैं।
मोहल्लों में दुकानदारों के साथ कर्मियों की तैयार हो रही सूची
घर-घर राशन पहुंचाने के लिए सभासदों से वार्डवार किराना दुकानदारों के मालिक व उनके दो कर्मियों की सूची मोबाइल नम्बर के साथ एकत्र कराई जा रही है। रानी बाजार के सभासद विशाल अग्रवाल द्वारा जिला प्रशासन को उनके वार्ड के सभी किराना दुकानदारों की सूची नाम व मोबाइल नम्बर के साथ उपलब्ध करा दी गई है। जिलाधिकारी ने नगर के अन्य सभी सभासदों को निर्देश दिए हैं कि गुरुवार शाम तक अपने-अपने वार्ड के किराना दुकानदारों की सूची उनके दो कर्मियों के मोबाइल नंबर सहित प्रत्येक दशा में उपलब्ध करा दें ताकि हर वार्ड में लोगों को राशन की होम डिलीवरी सुनिश्चित कराई जा सकें। इसके अतिरिक्त जिलाधिकारी ने सभी सभासदों को निर्देश दिए हैं कि वे अपने-अपने मुहल्ले के ई-रिक्शा वालों के नाम व मोबाइल नंबर सिटी मजिस्ट्रेट अथवा मंडी निरीक्षक को उपलब्ध कराकर उनका पास बनवा लें जिससे राशन की आपूर्ति में दिक्कत न हो।
जिला अस्पताल में कोविड लेवल-2 अस्पताल स्थापित, आईसीयू भी तैयार
गोंडा। कोरोना संक्रमण की किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए एहतियात के तौर पर 34 बेड का कोविड लेवल-2 हास्पिटल स्थापित कर दिया गया है तथा 24 बेड का क्वारेन्टीन वार्ड भी बनाया गया है। इसके अतिरिक्त 01 आईसीयू (वेंटीलेटर) भी तैयार रखा गया है। जिलाधिकारी के निर्देश पर पण्डीरकृपाल सीएचसी को लेवल-1 अस्पताल के रूप में तैयार कर वहां पर 06 डाक्टर्स, 10 स्टाफ नर्स व पैरामेडिकल स्टाफ की तैनाती कर दी गई है। मेडिकल स्टाफ की ड्यूटी 24ग7 के क्रम में लगाई गई है। एम्बुलेन्स चालकों के साथ आवश्यक बैठक कर उन्हें हर समय तैयार रहने तथा क्विक रेस्पान्स की हिदायत दी गई है।
नगर की भीड़भाड़ वाली जगहों को किया गया सैनिटाइज
गोंडा। कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए जिलाधिकारी के निर्देश पर नगर के व्यस्ततम और भीड़ वाली जगहों को सैनिटाइज किया जा रहा है। नगर क्षेत्र में अग्निशमन के वाहन के माध्यम से सैनिटाइजर का छिड़काव कराया जा रहा है जिसकी जिम्मेदारी जिलाधिकारी द्वारा ईओ नगरपालिका को सौंपी गई है।
शाम 5 बजे के बाद मेडिकल स्टोर्स को छोड़कर नहीं खुलेगीं कोई भी दुकानें
गोंडा। कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए जिलाधिकारी ने आदेश दिए हैं कि मेडिकल स्टोर्स को छोड़कर पूरे जनपद में शाम 05 बजे के बाद कोई दुकान नहीं खुली रहेगी। उन्होंने सभी मजिस्ट्रेटों तथा पुलिस के अधिकारियों को आदेश का सख्ती से अनुपालन सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए हैं तथा आदेश का उल्लंघन करने वालों पर कानूनी कार्यवाही के भी निर्देश दिए हैं। जिलाधिकारी ने सभी पुलिस अधिकारियों को निर्देश दे दिए हैं कि यदि कोई भी व्यक्ति अनावश्यक रूप से रोड पर घूमे या एकत्र हो तो ऐसे सभी लोगों से सख्ती से निपटा जाए तथा सुसंगत धाराओं में मुकदमा लिखकर जेल भेजा जाए। इसके साथ ही यह भी निर्देश दिए है कि आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति से जुड़े किसी भी व्यक्ति या कर्मचारी को कतई परेशान न किया जायेगा।
कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए ग्राम पंचायतों में सफाई अभियान चालू
गोंडा। कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए मुख्य विकास अधिकारी शशांक त्रिपाठी ने गांवों में भी सफाई अभियान प्रारम्भ करा दिया है। गुरूवार से जिले की 1054 ग्राम पंचायतों में सफाइ अभियान चालू करा दिया गया। जिला प्रशासन द्वारा सफाईकर्मियों को बाकायदा पास जारी किए जा रहे हैं। मुख्य विकास अधिकारी ने बताया कि सफाई अभियान की मॉनीटरिंग वे स्वयं कर रहे हैं तथा सोशल मीडिया का भी सहारा लिया जा रहा है।
... और पढ़ें

एमपी के सागर से रोजगार के लिए आए 15 परिवार के 100 लोग फंसे

एमपी के सागर से रोजगार के लिए आए 15 परिवार के 100 लोग फंसे
काम ठप, अब जैसे तैसे काट रहे जिदंगी, लॉकडाउन होने से घर भी नहीं जा सके
संवाद न्यूज एजेंसी
मुजेहना( गोंडा) । भूखों मरेंगे कोरोना से लड़ेंगे हम जनता कर्फ्यू का समर्थन करते हैं। यह उद्गार हैं मध्य प्रदेश से आए 15 परिवारों के लगभग 100 से अधिक लोगों का जो पत्नी बच्चों के साथ लोहा पीट कर विभिन्न प्रकार के कृषि औजारों को बनाकर अपना जीवन यापन करते हैं। इस समय मुजेहना ब्लॉक के धानेपुर और आसपास के बाजारों में मध्य प्रदेश के सागर जिले थे राजा मालथौल गांव से गढ़िया लुहार के लगभग 15 परिवार विभिन्न स्थानों पर पॉलिथीन के टेंट बनाकर पत्नी और बच्चों के साथ रह रहे हैं। जिनका मुख्य पेशा लोहे के विभिन्न प्रकार के कृषिऔजार कुदाल, फावड़ा कुल्हाड़ी आदि बनाकर अपने परिवार का भरण पोषण करना हैं।
यह परिवार आज के लगभग दो माह पूर्व आए थे। लेकिन बीच में कोरोना वायरस का संक्रमण होने के कारण अब यहां फंस गए हैं। क्योंकि इनका मुख्य व्यवसाय लोहे के कृषि उपकरण बनाकर बेंच कर उनसे हुई आमदनी से अपने परिवार का भरण पोषण करना था। जनता कर्फ्यू लग जाने के कारण इन परिवारों के समक्ष भरण-पोषण की समस्या खड़ी हो गयी है। लेकिन कोरोना के विरुद्ध छेड़े गए हर युद्ध से लड़ने के लिए तैयार हैं। यहां रहने वाले हरीश परिवार के सदस्यों की संख्या आठ है। इनका कहना है किसी प्रकार से समय काटेंगे जो पड़ेगा देखा जाएगा। परिवार के दस सदस्यों के साथ यहीं पर रुके हैं। इनका कहना है साहब लोहा पीट कर परिवार का भरण पोषण करने आए थे, कुछ भी जमीन नहीं है लेकिन यहां आकर कोरोना से रुके हैं। लेकिन समाज के बल पर हैं जो पड़ेगा देखा जाएगा। राजाराम के परिवार की संख्या 17 है, यह अपने बहु बेटे और नाती पोतों के साथ रामलीला मैदान मैदान में पॉलीथिन के टेंट में परिवार के साथ रह रहे हैं। इन्हीं के अनुसार इनके अतिरिक्त आठ लोग अपने परिवारों के साथ अन्य स्थानों पर यही कार्य अपनाकर जीविका चला रहे हैं।
... और पढ़ें

गोंडा-बहराइच की सीमा पर पुलिस का पहरा

गोंडा-बहराइच की सीमा पर पुलिस का पहरा
चेकिंग के बाद ही जनपद में हो रही एंट्री
करनैलगंज (गोंडा)। गोंडा-बहराइच की सीमा पर ग्राम छितौनी के पास लगातार पुलिस का पहरा जारी है। सीमा पर अंदर आने वाले प्रत्येक वाहनों की चेकिंग और वजह पूछने के बाद ही उन्हें आने की इजाजत दी जा रही है। अन्यथा की स्थिति में उन्हें बैरंग वापस किया जा रहा है। गोंडा बहराइच की सीमा पर पुलिस क्षेत्राधिकारी कृपाशंकर कनौजिया, कोतवाल के केके राणा, चौकी प्रभारी भभुआ मनोज राव भारी संख्या में पुलिस बल के साथ मंगलवार की रात्रि से ही डट गए और अवैध तरीके से वाहनों के संचालन पर रोक लगाई। बिना चेकिंग के किसी भी वाहन को जिले में प्रवेश नहीं दिया जा रहा है। आवश्यक वस्तुओं की लोडिंग करने वाले या किसी बीमार व्यक्ति का इलाज कराने के लिए आने वाले के साथ-साथ सरकारी कर्मचारियों को आने की अनुमति दी जा रही है। इसके अतिरिक्त किसी भी वाहनों का प्रवेश जिले में नहीं होने दिया जा रहा है। सीओ ने बताया कि किसी भी दशा में लॉक डाउन का उल्लंघन नहीं होने दिया जाएगा।
बैंक डिटेल अपडेट करने को व्हाट्सएप नंबर जारी
करनैलगंज (गोंडा)। देवीपाटन मंडल के उप श्रम आयुक्त रचना केसरवानी ने कोरोना वायरस का फैलाव रोकने व लॉक डाउन के चलते पंजीकृत सभी श्रमिकों को बैंक डिटेल अपडेट कराने के लिए हेल्पलाइन नम्बर व व्हाट्सएप नम्बर जारी किया है। उन्होंने जारी किए गए पत्र में कहा है कि गोंडा, बलरामपुर, श्रावस्ती, बहराइच के निर्माण, कर्मकार श्रमिक जो श्रम विभाग से पंजीकृत हैं। वह अपना बैंक डिटेल अपडेट कराना चाहते हैं। तो अपने बैंक पास बुक की स्कैन कापी के साथ अपना नाम/पिता का नाम पंजीयन संख्या वाट्सएप नं 6390805291 पर भेज सकते हैं। उन्होंने भवन निर्माण या किसी भी प्रकार के निर्माण को कराने वाले भवन स्वामी या ठेकेदार से भी अपील की है कि उनके यहां काम करने वाले श्रमिकों की डिटेल भिजवाये जिससे शासन के निर्देशों पर श्रमिकों को मिलने वाली सुविधाएं को मुहैया कराया जा सके।
... और पढ़ें

बाहर से आए दो हजार लोगों की स्क्रीनिंग, विदेश से आने वाले 237 से अधिक ‘होम क्वारंटीन’ पर

गोंडा। प्रदेश में कोरोना मरीजों की संख्या धीरे-धीरे बढ़ती जा रही है। अब तक यूपी के 13 शहरों में कोरोना पॉजिटिव मरीज मिल चुके हैं। लेकिन जिले में लोग अब तक पूरी तरह से सुरक्षित हैं। यहां अब तक एक भी कोरोना पाजिटिव मरीज की पहचान नहीं हुई है। यह अलग बात है कि बाहर से आने वाले लोग चिंता तो बढ़ा रहे हैं लेकिन प्रशासन हर व्यक्ति की स्क्रीनिंग कर रहा है।
अब तक करीब दो हजार लोगों की स्क्रीनिंग हो चुकी है। करनैलगंज स्क्रीनिंग हब बन गया है। दो हजार के करीब लोगों की अब तक स्क्रीनिंग हो चुकी है। वहीं विदेश से आने वाले 237 लोगों को होम क्वारंटीन किया गया है।
पिछले दो माह के दौरान जिले में विदेश यात्रा से आने वाले 281 लोगों की सूची अब तक प्रशासन को मिल चुकी है। इसमें 40 लोग चार सप्ताह से ज्यादा समय अपने घरों पर रह रहे हैं और पूर्ण स्वस्थ हैं। उच्च स्तर से प्राप्त विदेश से आने वालों की सूची में 29 लोगों का केवल नाम और पासपोर्ट नंबर ही था, पता नहीं था। परिणाम स्वरूप उनका अब तक पता नहीं लगाया जा सका है। पुलिस विभाग, ग्राम प्रधानों व ग्राम पंचायत स्तर पर काम करने वाले विभिन्न विभागों के कर्मचारियों के माध्यम से उनकी भी तलाश करने की कोशिश की जा रही है।
शेष व्यक्तियों को स्वास्थ्य विभाग द्वारा उनके घरों में क्वारंटीन किया गया है। उनके घरों के बाहर क्वारंटीन के पोस्टर लगाए गए हैं। स्वास्थ्य विभाग की टीमें नियमित रूप से उनसे संपर्क कर स्वास्थ्य की जानकारी ले रही हैं। यदि किसी में कोरोना के लक्षण दिखाई पडे़ंगे, तो तत्काल उनकी जांच करवाकर उपचारात्मक कार्रवाई की जाएगी। स्वास्थ्य विभाग के उच्च अधिकारियों के निर्देश पर एहतियान एक सैंपल जांच के लिए लखनऊ भेजा गया है, जिसके बारे में स्थानीय चिकित्सक पूरी तरह से आश्वस्त हैं कि उसमें कोरोना के लक्षण बिल्कुल नहीं हैं।
वहीं करनैलगंज के विवेकानंद स्कूल में सामुदायिक स्वास्थ्य टीम द्वारा थर्मल स्क्रीनिंग की जा रही है। सीएचसी अधीक्षक डॉ. सुरेश चन्द्रा के निर्देश पर डॉ. एके गुप्ता, रजनीकांत वरिष्ठ क्षय रोग पर्यवेक्षक, एसटीएस राहुल कुमार व विनोद पांडेय सहित अन्य लोगों की कर रहे हैं।
कोराना के बारे में एक पोर्टल पर ‘खरगूपुर के रहने वाले चार व्यक्तियों को हुआ कोरोना वायरस’ शीर्षक से खबर चलने के बाद प्रशासन में हड़कम्प मच गया। जिलाधिकारी डॉ. नितिन बंसल ने रविवार को जारी बयान में कहा है कि जिले में अब तक कोरोना वायरस का एक भी मरीज नहीं पाया गया है। कुछ लोग द्वारा इस सम्बंध में भ्रामक अफवाहें फैलाई जा रही हैं। उन्होंने कहा कि अफवाह फैलाने वाले लोगों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।
शहर के कई चौराहा पर कुछ पुलिस कर्मचारी आने-जाने वाले लोगों को मास्क पहनने के लिए परेशान कर रहे हैं। लोग बताते हैं कि जब दुकानों पर मास्क नहीं है तब कहां से पहन लें। डाक्टरों का कहना है कि हमें मरीजों को देखना है इसलिए मास्क पहनते हैं। स्वस्थ लोग मास्क पहनें यह उनके ऊपर निर्भर है, बस शर्ते एक मीटर की दूरी बनाए।
... और पढ़ें

बाहर से आए लोगों से बढ़ी चिंता, सड़कों पर अब भी निकल रहे लोग

गोंडा। दिल्ली, हरियाणा और एनसीआर क्षेत्र से आने वाले लोगों से चिंता बढ़ गई है। रविवार को शहर में आने वाले लोगों को लेकर अफरातफरी का माहौल रहा। रविवार को 50 से अधिक रोडवेज बसें लखनऊ से गोंडा लोगों को लेकर पहुंची थीं। यही नहीं जिले से बाहर जाने वाले लोग भी बस स्टाप पहुंच रहे थे, बस स्टाप से लोग घरों के लिए पैदल ही निकल रहे थे। कई लोगों की तो बस स्टाप पर स्क्रीनिंग भी नहीं हो पा रही थी। बहुत लोग बिना स्क्रीनिंग के भी घर जा चुके हैं।
माना जा रहा है कि ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य टीमें पहुंच कर स्क्रीनिंग तो कर रही है लेकिन लोगों को ऐसे मौके पर जागरूक रहने की जरूरत हैं। जिले के आला अफसरों के साथ ही समाजिक संगठन तक अपील कर रहे हैं कि घरों से लोग बाहर निकलें, इसी से कोरोना से बचाव संभव है।
फिर अनावश्यक बाहर आ रहे लोगों से चिंता बढ़ गई है। रविवार को भी शनिवार की तरह ही सैकड़ों की संख्या में लोगों का जिले में आने का सिलसिला जारी रहा। अपने छोटे -छोटे बच्चों के साथ लोग इधर-उधर भागते दिखाई दिए। बच्चों के मुंह पर न तो मास्क था और न ही सोशल डिस्टेंसिंग ही दिखी।
तीन दर्जन बसें लखनऊ भेजी गई जो लोग गोंडा में बाहर के जिलों से आकर रहते थे और लॉकडाउन होने के बाद फंस गये हैं। उन्हें भी यहां से अपने घरों को भेजा जा रहा है। एआरएम वीके वर्मा ने बताया कि अब 36 बसों में 2 हजार से अधिक लोगों को लखनऊ भेजा गया है।
छतों पर भी बैठे नजर आये लोग यात्रियों को लेकर आ रही बसों भी सारे नियम कानून ताक पर रख दिये गये। भीड़ इस कदर बेकाबू थी कि जो जहां मौका पाया बैठ गया। लखनऊ से आ रही बसों में बड़ी संख्या में लोग बस की छत पर बैठे नजर आये।
शहर के पटेलनगर मोहल्ले में विदेश से आये एक व्यक्ति की जानकारी होने पर आसपास के लोगों ने स्वास्थ्य विभाग और पुलिस को दी गई। पूरे परिवार की स्क्रीनिंग करने के घर में क्वारंटीन रहने के निर्देश दिए गए हैं। इसके साथ ही उनके घर के सामने एक पंपलेट भी चस्पा किया गया है।
जिला मजिस्ट्रेट डॉ. नितिन बंसल ने बताया कि कोरोना की महामारी के चलते पूरे देश में लॉकडाउन के बाद अचानक जिले से जो लोग बाहर रह रहे थे, उनका आना शुरू हो गया है। करनैलगंज और गोंडा में उनकी स्क्रीनिंग कराई जा रही है। कुछ कोरोना के पॉजीटिव केस मिलने की अफवाहें उड़ा रहे हैं, जो कि पूरी तरह से गलत है।
परदेश में रहना हो रहा था मुश्किल दिल्ली, नोयडा, फरीदाबाद सहित कई जगहों से गोंडा पहुंचे लोगों ने अपनी तकलीफ बताई। उनका कामकाज तो प्रभावित ही है, खाने पीने की भी समस्या है। रविवार को पहुंच दिलीप ने बताया कि 22 मार्च के बाद से परदेश में रहना मुश्किल हो रहा है। पारसनाथ ने बताया कि कमाई बंद हो जाने से परिवार के साथ समय वहां जीवन यापन कठिन था। मणिशंकर ने बताया कि सारा काम ठप हो गया है। टिंकू ने बताया कि जहां वो काम कर रहा था फैक्टरी बंद हो गई है। जग्गू ने बताया कि लाकडाउन के परिवार के लोग यहां परेशान थे। लखनऊ पहुंचने पर सरकार की ओर से खाना मिला था।
... और पढ़ें

कच्ची सब्जी और दूध का पैकेट छुएं तो फौरन हाथ धोएं

गोंडा। सरकार ने पूरे देश में 21 दिन का लॉकडाउन आपके सुरक्षित व स्वस्थ रहने के लिए ही किया है, लेकिन घर में रहकर आप द्वारा की गई छोटी-सी चूक आपको कोरोना के नजदीक ला सकती है। लिहाजा सावधानी बरतें ताकि आप सभी महफूज रह सकें। विशेषज्ञों के मुताबिक घर में आई कच्ची सब्जी और फल को यूं ही नंगे हाथों से न पकड़ें। हाथों में गलब्ज लगाकर सब्जी को लें और फौरन धोएं। अगर नंगे हाथों में ले भी रहे हैं तो फौरन हाथों को सेनेटाइज करें।
सीएमएस जिला महिला चिकित्सालय डॉ. एपी मिश्रा के मुताबिक डोरबेल, कूड़ादान, लिफ्ट के बटन, कार के दरवाजे, बगीचे के फूल, जूते-चप्पल, दरवाजे के हैंडल और नोट व सिक्के जब भी छुएं तो हाथ फौरन धोएं। जरा भी कोताही न करें। उन्होंने कहा कि बच्चों व बुजुर्गों के लिए तो यह वायरस है ही नुकसानदेह, जवानों को भी लापरवाही नहीं करनी चाहिए।
... और पढ़ें

बना दिया लेवल-2 का अस्पताल, लेकिन सुविधा नदारद

गोंडा। जिला अस्पताल के नए भवन में कोरोना के संक्रमण से निपटने के लिए कोविड लेवल-2 अस्पताल स्थापित किया गया है। लेकिन यहां तैयारी के नाम पर स्वास्थ्य विभाग की ओर से केवल दिखावा किया जा रहा है। शनिवार को जब इस कोविड लेवल-2 अस्पताल की हकीकत देखी गई तो चौंकाने वाले तथ्य सामने आए। अब इसी अधूरी तैयारी के साथ प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग कोरोना की लड़ाई लड़ने का दावा कर रहा है।
बता दें कि कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए हाथों का सेनिटाइजेशन और साफ- सफाई बहुत जरूरी है। जिसके लिए डीएम, सीएमओ और तमाम अफसर लोगों को जागरूक कर रहे हैं। लेकिन इस कोविड लेवल-2 अस्पताल में हर जगह हैंडवॉश रखा तो दिखाई दिया लेकिन पानी कहीं नहीं था। ऐसे कोई हाथ कैसे साफ करेगा। इसके साथ टॉयलेट का उपयोग भी कैसे होगा।
कोविड लेवल-2 अस्पताल में निचले तल पर मौजूद कर्मचारियों के लिए जरूरी किट मौजूद नहीं है। पूछने पर कुछ कर्मचारियों ने बताया कि एक-एक किट दिया गया है जो कि मरीज के आने पर पहनने को कहा गया है। अभी तो खैर कोई भी संदिग्ध मरीज भर्ती नहीं हुआ है लेकिन आने पर परेशानी होगी। हम कैसे जानेंगे कि कौन सा मरीज कोरोना से संक्रमित है या नहीं। इसलिए ड्यूटी पर लगे कर्मचारियों को पर्याप्त मात्रा में किट की उपलब्धता होनी चाहिए।
कोविड लेवल-2 अस्पताल में मरीजों के इलाज और देखभाल के लिए 24 घंटे का ड्यूटी शेड्यूल बनाया गया है। लेकिन यहां कर्मचारियों के बैठने के लिए कोई जगह नहीं है। जिला अस्पताल के नए भवन में दो तलों पर अलग-अलग वार्ड बनाए गए हैं। लेकिन नीचे के तल को छोड़ दें तो ऊपर के तल पर कर्मचारियों के बैठने की सुविधा नहीं है।
कोरोना वायरस के संक्रमण में सबसे अधिक आइसोलेशन का महत्व होता है। ऐसे यहां इस स्तर पर भी बड़ी लापरवाही बरती जा रही है। क्योंकि कोरोना के मरीजों में गले में बलगम अधिक जमा होने लगता है इसलिए सक्शन मशीन की जरूरत पड़ती है लेकिन यहां केवल दो सक्शन मशीन ही मौजूद हैं। ऐसे में इनका स्टरलाइजेशन बड़ी चुनौती है। इतना ही नहीं वेंटिलेटर भी केवल एक ही है।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. मधु गैरोला ने बताया कि जैसा कि सीएमएस की ओर बताया गया है कि वहां सारी सुविधाएं मौजूद हैं। यदि नहीं हैं तो तुरंत कराई जाएगी। कर्मचारियों के लिए किट मंगवाई गई है। फीवल क्लीनिक में बराबर लोगों का परीक्षण किया जा रहा है।
गोंडा के जिला अस्पताल में बने कोविड-19 वार्ड में रखी सक्शन मशीन।
गोंडा के जिला अस्पताल में बने कोविड-19 वार्ड में रखी सक्शन मशीन।- फोटो : GONDA
... और पढ़ें

कोरोना : अमेरिका से आए चार लोगों को किया आइसोलेट

गोंडा जिला अस्पताल में बना कोविड-19 वार्ड।
खरगूपुर (गोंडा)। अमेरिका से आये एक ही परिवार के चार लोगों का स्क्रीनिंग कर उनको घर में आइसोलेट कर दिया गया। क्षेत्र के ग्राम पंचायत हिंदू नगर बांकी के मजरा अचलनगर में शनिवार को सुमित सिंह, अर्चना सिंह व इनके दो बच्चों के घर पर आने की सूचना मिली। सूचना पर स्थानीय सीएचसी की कोरोना वायरस की स्क्रीनिंग जांच टीम व थानाध्यक्ष राज कुमार सिंह मौके पर पहुंचे।
चारों परिवारीजनों को बाहर बुलाकर टीम के द्वारा स्क्रीनिंग की गई। चारों का फीवर साधारण था। लेकिन घर अन्य सदस्यों को कोरोना वायरस से बचाव को लेकर सभी को कमरे से बाहर न निकलने की सलाह दी गई और कहा गया कि चारों लोग घर से 14 दिन तक बाहर न निकलें। सुमित सिंह अपने पिता शिवराज सिंह व माता शांति सिंह सहित छ: लोग अमेरिका में रहते थे और वह इंजीनियर हैं।
लॉक डाउन से पहले सभी लोग दिल्ली अपने घर आ गए थे। अचानक लॉकडाउन की घोषणा हो गई, जिससे ये लोग दिल्ली में फंस गए। शिवराज सिंह व शांति सिंह की आयु 60 वर्ष से अधिक होेने के कारण दोनों लोगों को वहीं सरकारी अस्पताल में आइसोलेट कर दिया गया है। थानाध्यक्ष श्री सिंह ने बताया कि पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर उक्त चारों परिजनों का स्क्रीनिंग कराकर उनके घर के एक कमरे में ही नजरबंद कर घर के बाहर दो पुलिस तैनात कर दिया गया है।
... और पढ़ें

कोरोना के चलते 84 कोसी परिक्रमा टली

गोंडा। प्रतिवर्ष अप्रैल माह में आयोजित होने वाली अयोध्या अवध धाम की 84 कोसी परिक्रमा यात्रा पर भी कोरोना के प्रकोप का ग्रहण लग गया है। विश्व हिंदू परिषद द्वारा आयोजित होने वाली अवध धाम हनुमान मंडल 84 कोसी परिक्रमा समिति के अध्यक्ष राकेश वर्मा गुड्डू ने बताया कि वैश्विक महामारी कोरोना के चलते इस बार 8 अप्रैल को अयोध्या से आरंभ होने वाली व 21 अप्रैल को गोंडा जिले में प्रवेश करने वाली 84 कोसी परिक्रमा को स्थगित कर दिया गया है।
हनुमान मंडल 84 कोसी परिक्रमा के प्रभारी व विश्व हिंदू परिषद के संगठन मंत्री सुरेंद्र सिंह ने बताया कि ऐसे समय में जब पूरा विश्व और मानवता एक वैश्विक महामारी कोरोना से जूझ रही है तो इस परिक्रमा यात्रा को स्थगित कर देना ही देशहित व मानव हित में है। पदाधिकारी द्वय ने बताया कि उक्त परिक्रमा यात्रा सैकड़ों वर्षों से होते चली आ रही है, जिसका पौराणिक आध्यात्मिक महत्व है जिसमें हजारों श्रद्धालु व भक्त पूरे भारत के अनेक हिस्सों से आकर के परिक्रमा में भाग लेते हैं और पुण्य प्राप्त करते हैं।
परिक्रमा का 90 किलोमीटर मार्ग गोंडा जिले से होकर गुजरता है जिसमें अनेकों पौराणिक महत्व के स्थानों पर रात्रि विश्राम भी करती है जिससे स्थानीय लोगों में हर वर्ष उत्साह भी रहता है और लोग संत महात्माओं व श्रद्धालुओं का स्वागत सत्कार, भोजन, जलपान इत्यादि बड़े उत्साह से और श्रद्धा भाव से करते हैं।
... और पढ़ें

एक माह पहले नासिक से लौटी महिला की बीमारी से मौत

वजीरगंज (गोंडा)। क्षेत्र के चंदहा में गुरुवार की शाम को एक माह पूर्व नासिक से लौटी एक वृद्ध महिला की बीमारी के चलते मृत्यु हो हो गई। सूचना पर पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम ने महिला की मृत्यु का कारण सांस की बीमारी बताया है।
चंदहा गांव के मजरा चाई पुरवा निवासिनी सावित्री उर्फ कमला (58) पत्नी हरीराम चाई की बीमारी के चलते गुरुवार की शाम को घर पर ही मृत्यु हो गई। कमला अपने पति के पास नासिक में थी। एक माह पहले वह नासिक से वापस यहां लौटी थी। महिला की मृत्यु से गांव में दहशत फैल गई। मृत्यु को लोग कोरोना से जोड़कर देख रहे थे। गांव वालों ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने घटना से स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को अवगत कराया।
सीएचसी अधीक्षक डॉ. आशुतोष शुक्ल ने बताया कि पुलिस से सूचना मिलने पर तत्काल डॉ. सतेंद्र सिंह के नेतृत्व में एक टीम कमला के घर पर भेजी गई। जहां परिजनों ने बताया कि कमला को सांस की बीमारी थी। उसका अयोध्या के श्रीराम अस्पताल से इलाज चल रहा था। स्वास्थ्य कर्मियों के यह बताने पर कि महिला की मृत्यु कोरोना से नहीं बल्कि सांस की पुरानी बीमारी से हुई है, लोगों ने राहत की सांस ली। शव का शाम को ही अंतिम संस्कार कर दिया गया।
... और पढ़ें

दो दिन से भूखे मजदूरों को कराया भोजन

बाबागंज (गोंडा)। राजस्थान से आकर इटियाथोक बाजार के गोंडा-बलरामपुर रोड के किनारे रहकर मजदूरी करने वाले डेढ़ दर्जन मजदूर पिछले दो दिनों से भूखे थे। शुक्रवार को इसकी जानकारी होने पर भाजपा के मंडल अध्यक्ष ने भूखे मजूदरों को भोजन कराया।
भाजपा इटियाथोक के मंडल अध्यक्ष सत्यव्रत ओझा ने बताया कि राजस्थान के तकरीबन डेढ़ दर्जन मजदूर यहां इटियाथोक के गोंडा-बलरामपुर मार्ग पर रहकर मजूदरी करके अपना और परिवार का भरण पोषण करते थे। कोरोना को लेकर हुए लॉकडाउन के कारण क्षेत्र की सभी दुकानें बंद हो गईं। जिससे मजदूरों को भोजन के लिए दिक्कत हो गई। सारे मजदूर पिछले दो दिनों से भूखे थे। मंडल अध्यक्ष ने बताया कि भूखे मजदूरों के भोजन का इंतजाम करके थानाध्यक्ष इटियाथोक बीएन सिंह के साथ भूखेत मजदूरों समेत जरूरतमंद लोगों को भोजन मुहैया कराया। बताया कि सभी को भोजन कराने के बाद उन्हें अपना व थानाध्यक्ष का मोबाइल नंबर मुहैय्या करा दिया गया।
उन्हें भरोसा दिलाया है कि अगर किसी चीज की जरूरत हो तो फोन करने पर उन्हें दवा, भोजन समेत सभी जरूरत की चीजें उपलब्ध कराई जाएंगी। मजदूरों ने मंडल अध्यक्ष एवं थानाध्यक्ष के इस कार्य की लोगों ने प्रशंसा की। इस दौरान इटियाथोक मंडल के मंडल महामंत्री कपिलेश्वर शुक्ला, एडवोकेट राहुल ओझा, वरिष्ठ उप निरीक्षक राजेश कुमार पांडे, इटियाथोक सेक्टर संयोजक सुशील कुमार द्विवेदी, इटियाथोक बूथ अध्यक्ष सुनील तिवारी, मंत्री अजय राठौर मौजूद रहे।
... और पढ़ें

विदेश से आये 200 लोगों की स्क्रीनिंग की गई

गोंडा। स्वास्थ्य विभाग की ओर से कोरोना वायरस से बचाव का पूरा दावा किया जा रहा है। सर्दी जुकाम और बुखार की शिकायत लेकर आने वाले मरीजों की जांच भी की जा रही है लेकिन अभी जिले में कोई भी संदिग्ध सामने नहीं आया है। जिला अस्पताल में बने आइसोलेशन वार्ड और क्वारंटाइन वार्ड में अभी तक कोई भी मरीज भर्ती नहीं हुआ। शासन की ओर भेजे गए आंकड़ों के मुताबिक जिले में कुल 275 लोग विदेशों से आये हैं। उन सभी की स्क्रीनिंग का काम किया जा रहा है।
सीएमओ कार्यालय के मुताबिक गुरुवार तक जिले भर में कुल 200 लोगों की स्क्रीनिंग कराई जा चुकी है। अभी तक इनमें से किसी में भी कोरोना के लक्षण नहीं मिले हैं। इनसेट सभी को क्वारंटाइन में रहने को कहा गया है सीएचसी स्तर पर टीम भेजकर विदेश से आये लोगों की जांच कराई जा रही है। सभी को क्वारंटाइन में रहने के निर्देश दिए गए हैं। परिवार के सदस्यों और आसपास के लोगों से दूर रहने को कहा गया है।
कोविड लेवल-2 अस्पताल स्थापित, आईसीयू भी तैयार
कोरोना संक्रमण की किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए एहतियात के तौर पर 34 बेड का कोविड लेवल-2 हॉस्पिटल स्थापित कर दिया गया है। 24 बेड का क्वारंटीन वार्ड भी बनाया गया है। इसके अतिरिक्त 01 आईसीयू (वेंटीलेटर) भी तैयार रखा गया है। जिलाधिकारी के निर्देश पर पंडीरकृपाल सीएचसी को लेवल-1 अस्पताल के रूप में तैयार कर वहां पर 06 डॉक्टर्स, 10 स्टाफ नर्स व पैरामेडिकल स्टाफ की तैनाती कर दी गई है। मेडिकल स्टाफ की ड्यूटी 24 घंटे लगाई गई है। एंबुलेंस चालकों के साथ आवश्यक बैठक कर उन्हें हर समय तैयार रहने तथा क्विक रेस्पांस की हिदायत दी गई है।
विदेश से आये लोगों की स्क्रीनिंग स्वास्थ्य विभाग की टीम कर रही है। रोजाना उनका हाल चाल लिया जा रहा है। हालांकि मुंबई और अन्य प्रदेशों से आये लोगों की पड़ताल बड़ी चुनौती है। कोई भी सूचना मिलने पर सीएचसी स्तर पर तुरंत एक्शन लिया जायेगा।
-डॉ. मधु गैरोला, मुख्य चिकित्सा अधिकारी।
... और पढ़ें

आईसीयू तैयार, 50 अस्पतालों में हाई अलर्ट

गोंडा। कोरोना से बचाव के लिए लॉकडाउन से आम लोगों को कोई असुविधा न होने पाए, इसके लिए प्रशासन ने रणनीति तैयार कर ली है। 35 लाख आबादी से सीधे जुड़ने का खाका खींचा है, शहरी क्षेत्रों में सभासदों तो ग्रामीण क्षेत्रों में ग्राम प्रधानों के जरिए जानकारी की जा रही है। कोरोना के संदिग्ध मिलने पर उन्हें हर संभव सुविधा देने के लिए जिला अस्पताल में आइसोलेशन वार्ड के साथ ही पंडरीकृपाल सीएचसी में कोविड- 19 लेवन- 1 अस्पताल और आईसीयू तैयार किया गया है। जिलाधिकारी डॉ. नितिन बसंल ने सीएमओ डॉ. मधु गैरोला के साथ अस्पताल की व्यवस्था को देखा और तैयारियों की समीक्षा किया।
शुक्रवार को जिलाधिकारी ने कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखते हुए आपात स्थिति से निपटने के लिए पण्डीरकृपाल सीएचसी में बनाए गए 34 बेड का कोविड-19 लेवल-1 अस्पताल का निरीक्षण किया, वहां पर किए गए प्रबंधों का जायजा लिया। सीएमओ डॉ. मधु गैरोला ने बताया कि कोविड-19 लेवल-1 के रूप में तैयार अस्पताल में छह डॉक्टर्स, 10 स्टाफ नर्स व पैरामेडिकल स्टाफ की तैनाती कर दी गई है। मेडिकल स्टाफ की ड्यूटी 24 घंटे के क्रम में क्रमवार लगाई गई है। यहां पर इलाज की पूरी सुविधा के साथ ही निगरानी की विशेष व्यवस्था की गई है। इसके अलावा जिला व महिला अस्पताल में संक्रमण नियंत्रण के लिए प्रभावी व्यवस्था की गई है, किसी तरह के मरीजों के आने पर उन्हें इलाज की सुविधा के साथ ही बचाव की व्यवस्था उपलब्ध कराई जा रही है।
50 सीएचसी व पीएचसी में हर तरह की सुविधा मुहैय्या कराई जा रही है। शुक्रवार को हर गांव में स्थिति की जानकारी की गई, कहीं से कोई सूचना मिलने पर टीम भेजकर जांच भी कराई गई है। जिलाधिकारी डॉ. नितिन बसंल ने आम लोगों से अपील की है कि लोग घरों में रहें। प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद है, बस लोग बाहर न निकलें तो इस संक्रमण नहीं फैलेगा। गांवों में डुग्गी-मुनादी से लोगों को जागरूक किया जा रहा है। इसके अलावा शहर में नगर पालिका ने सेनेटाइज करने का अभियान चलाया। नगर मजिस्ट्रेट वंदना त्रिवेदी लगातार हर स्थिति को संभालने में जुटी हैं।
अब तक केवल रानी बाजार के दुकानों की ही सूची ले पाया है प्रशासन
जिला प्रशासन द्वारा घर-घर राशन पहुंचाने के लिए सभासदाें से वार्डवार किराना दुकानदारों के मालिक व उनके दो कर्मियों की सूची मोबाइल नम्बर के साथ एकत्र कराई जा रही है। शुक्रवार को कई मोहल्लों में सभासदों की ओर से दी गई दुकानदारों की सूची जारी की गई है और मेडिकल स्टोर के साथ दूध व चारा की उपलब्धता के बारे में मोबाइल नंबर जारी किए गए हैं। जिससे लोगों को घर-घर सेवाएं उपलब्ध कराई जाएंगी।
शाम 05 बजे बंद हो जाएंगी सभी दुकानें
जिलाधिकारी ने आदेश दिया है कि मेडिकल स्टोर्स को छोड़कर पूरे जनपद में शाम 05 बजे के बाद कोई दुकान नहीं खुली रहेगी। यह आदेश पेट्रोल पम्पों पर भी लागू होगा। उन्होंने सभी मजिस्ट्रेटों तथा ड्यूटी पर तैनात पुलिस के अधिकारियों व कर्मचारियों को आदेश का सख्ती से अनुपालन सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया है। डीएम ने कहा है कि आदेश का उल्लंघन करने वालों पर सख्त कानूनी कार्यवाही की जाय। जिलाधिकारी ने कहा है कि यदि कोई भी व्यक्ति अनावश्यक रूप से रोड पर घूमे या एकत्र हो तो ऐसे सभी लोगों से सख्ती से निपटा जाए तथा सुसंगत धाराओं में मुकदमा लिखकर जेल भेजा जाए। इसके साथ ही यह भी निर्देश दिए है कि आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति से जुड़े किसी भी व्यक्ति या कर्मचारी को कत्तई परेशान न किया जायेगा। प्रभारी निरीक्षक आलोक राव ने बताया कि पूरे शहर में ध्वनि विस्तारक यंत्र से पांच बजे से पूर्ण बंदी की घोषणा करा दी गई है। इसका उल्लंघन करने वालों पर कार्रवाई की जाएगी।
बिना फार्मासिस्ट नहीं खुलेंगे मेडिकल स्टोर
समझा जाता है कि नगर मजिस्ट्रेट ने इस घटना की जानकारी डीएम को भी दी। इसके चंद मिनट बाद ही डीएम की तरफ से एक आदेश जारी किया गया कि कोई भी मेडिकल स्टोर की दुकान फार्मासिस्ट की उपस्थिति के बिना नहीं खोली जाएगी। डीएम ने आदेश दिया है कि ड्यूटी पर मौजूद प्रशासन व पुलिस के अधिकारी यह सुनिश्चित कराएं कि यदि किन्हीं कारणों से फार्मासिस्ट मौजूद न हो, तो मेडिकल स्टोर अनिवार्य रूप से बंद रखा जाय। इस बीच जिला महिला चिकित्सालय के पास आज पूर्वान्ह एक मेडिकल स्टोर पर काफी भीड़ देखी गई। यद्यपि नियत दूरी सुनिश्चित कराने के लिए वहां एक होमगार्ड का जवान तैनात था, किंतु वह एक किनारे खड़ा था और लोग दुकानों पर धक्का मुक्की की हालत बनाते हुए दवाएं ले रहे थे।
मुख्य बाजार में दिखा पूर्ण बंदी का नजारा
नगर के मुख्य बाजार में गुरुवार को पूर्ण बंदी का नजारा देखने को मिला। गुरुनानक चैक पर वाहनों का स्वच्छंदता पूर्वक आवागमन रोकने के लिए चारों तरफ बैरियर लगाया गया था। महिला अस्पताल के आसपास मेडिकल स्टोर्स को छोड़कर सभी प्रकार की दुकानें बंद रहीं। चैक क्षेत्र में भी पीपल चैराहा, भरत मिलाप, मनोरंजन तिराहा, एकता चैक, महराजगंज तिराहा आदि इलाकों में बाजार पूर्ण रूप से बंद रहा। सड़कों पर इक्का दुक्का लोग चलते नजर आए। भ्रमण के दौरान पीपल चैराहा, भरत मिलाप, महराजगंज तिराहे पर पुलिस नजर नहीं आई। यहां कोई रोकने टोकने वाला नहीं था। महराजगंज पुलिस चैकी के सामने अलबत्ता कुछ सिपाही खड़े थे।
लॉकडाउन में महिला अस्पताल में जन्मे 67 बच्चे
24 मार्च की रात 12 बजे लॉकडाउन शुरू होने से आतज दोपहर एक बजे तक जिला महिला चिकित्सालय में सामान्य प्रसव एवं आपरेशन के माध्यम से कुल 67 बच्चों ने जन्म लिया है। यह जानकारी देते हुए मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. एपी मिश्र ने बताया कि इनमें 35 बालक व 32 बालिकाएं हैं। सभी जच्चा-बच्चा स्वस्थ हैं। उन्होंने बताया कि अस्पताल प्रशासन की तरफ से मरीजों का पूरा देखभाल किया जा रहा है। डॉ. मिश्र ने कहा कि लॉकडाउन के बाद अस्पताल में भर्ती मरीजों के तीमारदारों के भोजन का संकट पैदा हो गया था। उन्होंने इस समस्या के बारे में जिलाधिकारी से चर्चा की। डीएम के अनुरोध पर रानी बाजार के समाजसेवी दीपक अग्रवाल ने खाद्यान्न अस्पताल प्रशासन को उपलब्ध करवाया है। यहीं पर बनवाकर उन्हें उपलब्ध कराया जा रहा है। डॉ. मिश्र ने कहा कि डीएम ने सभी तीमारदारों से प्रति खुराक पांच रुपए का टोकन मनी जमा कराने का निर्देश दिया था। यह धनराशि भी वह अपने पास से जमा करके लोगों को सुविधाएं प्रदान कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि पिछले दिनों यहां से सेवानिवृत्त हुई डॉक्टर ललिता तिग्गा ने भी शासन के निर्देश पर आज दुबारा कार्यभार ग्रहण कर लिया। वह सोमवार से ओपीडी में बैठना शुरू कर देंगी। डॉ. तिग्गा की नियुक्ति आगामी तीन वर्ष के लिए हुई है। उन्होंने आशा व्यक्त किया कि डॉ. तिग्गा के दुबारा आ जाने से मरीजों को काफी सहूलियत होगी।
ग्राम पंचायतों में सफाई अभियान चालू
कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए मुख्य विकास अधिकारी शशांक त्रिपाठी ने गांवों में भी सफाई अभियान प्रारम्भ करा दिया है। गुरुवार से जिले के सभी ग्राम पंचायतों में सफाई अभियान चालू करा दिया गया। जिला प्रशासन द्वारा सफाई कर्मियों को बाकायदा पास जारी किए जा रहे हैं। मुख्य विकास अधिकारी ने बताया कि सफाई अभियान की समीक्षा वह स्वयं कर रहे हैं तथा सोशल मीडिया का भी सहारा लिया जा रहा है। इस बीच कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए जिलाधिकारी के निर्देश पर नगर के व्यस्ततम और भीड़ वाली जगहों को सैनिटाइज किया जा रहा है। नगर क्षेत्र में अग्निशमन के वाहन के माध्यम से सैनिटाइजर का छिड़काव कराया जा रहा है। नगरपालिका के अधिशासी अधिकारी को यह जिम्मेदारी सौंपी गई है।
स्वयं सेवी संस्थाओं ने गरीबों की मदद के लिए बढ़ाए हाथ
कोरोना संक्रमण के दृष्टिगत लॉक डाउन के कारण गरीबों को भोजन मुुहैया कराने के लिए जिले के कई संभ्रान्त जन व स्वयं सेवी संस्थाएं आगे आ रही हैं। जिलाधिकारी डॉ. नितिन बंसल ने जनसहयोेग से गरीबों को नि:शुल्क भोजन उपलब्ध कराने के लिए उपनिदेशक कृशि डॉ. मुकुल तिवारी को नोडल अधिकारी नामित किया गया है। जिलाधिकारी ने जिले के संभ्रांतजनों से अपील की है कि जो भी लोग गरीबों निशुल्क भोजन उपलब्ध कराना चाहते हों, वे निर्धारित प्रारूप पर अपनी डिटेल्स भरकर उपनिदेशक कृषि के व्हाट्सएप नंबर 8318437395 पर भेंजे ताकि प्रशासनिक स्वीकृति के बाद जनसहयोग से लोगों को नि:शुल्क भोजन के पैकेट उपलब्ध कराए जा सकें। बताते चलें कि जिले के तमाम संभ्रांत एवं सक्षम जनों द्वारा लगातार जिलाधिकारी से गरीबों की मदद के लिए संपर्क कर रहे थे। गरीबों के लिए लोगों द्वारा सहयोग के प्रयासों को देखते हुए जिलाधिकारी ने व्यवस्था बनाते हुए अपील की है कि कोरोना महामारी के दौरान गरीबों की मदद करें जिससे जिले में कोई गरीब व्यक्ति भूखा न रहने पाए।
मंडी में न खरीदें सब्जी, घर-घर सब्जी पहुंचाने के लिए की गई है व्यवस्था
जिलाधिकारी डॉ. नितिन बंसल ने नगरवासियों से अपीील की है कि नगर के लोग सब्जी मण्डी खुद जाकर सब्जी न खरीदें। उन्होंने बताया है कि पूरे नगर क्षेत्र के हर मुहल्ले में ठेलों के माध्यम से सब्जी पहुंचाई जा रही है। इसलिए मण्डी में जाकर अनावश्यक भीड़ न लगाएं तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। उन्होने बताया है कि जिले में सब्जी, राशन, दूध, गैस, दवा आदि किसी भी आवश्यक वस्तु की कोई कमी नहीं है तथा नगर क्षेत्र के अलावा ग्रामीण अंचलों में हर आवश्यक वस्तु की उपलब्धता सुनिश्चित कराने की व्यवस्था की गई है। सभी उपजिलाधिकारियों को इसकी जिम्मेदारीज देते हुए हर कस्बे में होम डिलीवरी की व्यवस्था बनाने का काम किया जा रहा है। जिलाधिकारी ने बताया कि जिले में आटा तथा चावल का उत्पादन मिलों में शुरू करा दिया गया है जिससे अब हमें बाहर से आटा, चावल व दाल जैसी मूलभूत जरूरत के लिए निर्भर नहीं रहना पड़ेगा।
आपात स्थिति में जाना है तो भेजें डिटेल, मिलेगा पास
आपात स्थिति के दौरान गैर जनपद जाने के लिए व्हाट्सएप नम्बर 9452549998 पर भेजें डिटेल्स, प्रशासन पास जारी करेेगा। अपर जिलाधिकारी राकेश सिंह ने बताया है कि जनपदवासी किसी भी इमरजेन्सी जैसे दुर्घटना, बीमारी की स्थिति, प्रसव अथवा किसी की मृत्यु आदि हो जाने पर यदि जनपद से बाहर जाने की आवश्यकता पड़े तो डिटेल भेजें। संदीप तिवारी, कलेक्ट्रेट के व्हाट्सएप नम्बर 9452549998 पर अपनी समस्या तथा अपना पूरा विवरण भेजेगें जिससे उन्हें जनपद से बार जाने के लिए पास निर्गत किया जा सके। अनावश्यक पास की मांग न करने की अपील की गई है।
पशु चारे के लिए जिला प्रशासन ने की व्यवस्था
लॉकडाउन के दौरान पशुओं के लिए भी भूसा इत्यादि की व्यवस्था सुनिश्चित कराने के लिए जिलाधिकारी के निर्देशन में भूसा व्यापारियों से समन्वय बनाकर व्यवस्था बनाई गई है तथा भूसा व्यापारियों की सूची तैयार कर सार्वजनिक की गई है। सूची के अनुसार कोई पशुपालक हरीनन्द पाण्डेय बादशाह बाग मो0- 6306009046, दीनानाथ वर्मा पीएसी गेट के सामने मो0- 73988015771, राजेशधर द्विवेदी पोर्टरगंज 6307226175, भगौती प्रसाद मिश्र चाौपाल सागर के सामने 9721974187, सुरेशचन्द्र पाण्डेय आरा मशीन के बगल बादशाह बाग मो0- 9161997639, ठाकुर भूसा मो0-7398825082 बलरामपुर रोड सुभागपुर रेलवे स्टेशन के पास ग्राम सभा इन्द्रापुर, महराजगंज चैकी के निकट प्रदीप कुमार गुप्ता मो0- 9415458149 पर कॉल करके भूसे की होम डिलीवरी प्राप्त की जा सकती है।
जरूरत हो तो यहां करें फोन, मिलेगी मदद
रेलवे हेल्पलाइन नंबर - 9794 84 25 10
कोरोना हेल्पलाइन 05262 - 2278552.
इलाज के लिए - 05262 - 2278553
मेडिकल इमरजेंसी- 05262 - 227855
टोल फ्री नंबर -1800-180-51454
कही सड़क पर फंसे हैं तो काल करें 1125
दूध व राशन के लिए- 9648940498, 63937549436
पुलिस हेल्पलाइन नम्बर - 1127
एम्बुलेंस के लिए नम्बर - 108
जिलाधिकारी - 9454417537
पुलिस अधीक्षक- 9454400272
अपर जिलाधिकारी- 9454417608
नगर मजिस्ट्रेट- 9454416081
दवा की होम डिलीवरी करने वाले दुकानदारों के नाम
शहर में सीबा मेडिकल स्टोर के मो.सारिकवीर अब्दुल हामिद चौराहा 9335240596, नयू पोपुलर मेडिकल स्टोर के मो शब्बीर जय नारायण चौराहा 9839917454, ऊषा मेडिकल स्टोर के मनीष मिश्रा आवास विकास कलोनी निकट जे पी होटेल 9452690249 व 8738864126, अपोल्लो मेडिकल स्टोर के अब्दुल्ला अंसारी निकट महिला अस्पताल 8090272271 से दवा मांगा सकते हैं। करनैलगंज में मनोहर मेडिसिन कम्पनी के राजीव पुरवार स्टेशन रोड 9792310101 व महेश मेडिसिन कम्पनी के महेशबत्र्ुरवार स्टेशन रोड करनैलगंज 9450518925 है। परसपुर में भारत मेडिकल स्टोर के हबीबपुर रहमान खान निकट देवीपाटन ग्रामीण बेंक परस्पुर बाजार 7800912290 से दवा कर मंगा सकते हैं।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us