विज्ञापन
विज्ञापन
कराएं वसंत पंचमी पर बासर के सरस्वती मंदिर में पूजा, पढ़ाई व प्रतियोगी परीक्षाओं में मिलती है सफलता :29 जनवरी 2020
Astrology Services

कराएं वसंत पंचमी पर बासर के सरस्वती मंदिर में पूजा, पढ़ाई व प्रतियोगी परीक्षाओं में मिलती है सफलता :29 जनवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

सीएए और एनआरसी के खिलाफ भारत बंद, तपन बोस बोले- पाकिस्तान दुश्मन देश नहीं

नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ देशभर में विरोध-प्रदर्शन का दौर थमता नजर नहीं आ रहा है। सीएए के खिलाफ बुधवार को कुछ संगठनों ने भारत बंद का एलान किया है।

29 जनवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

हापुड़

बुधवार, 29 जनवरी 2020

किसानों ने गन्ना समिति सचिव, मिल प्रबंधन का घेराव किया

गन्ना भुगतान न होने पर भड़के किसान
गढ़मुक्तेश्वर। गन्ने का भुगतान न होने से नाराज सिंभावली शुगर मिल क्षेत्र के दर्जनों गांवों के किसानों ने सोमवार को गन्ना समिति सचिव, ज्येष्ठ गन्ना विकास निरीक्षक समेत मिल प्रबंधन का घेराव कर हंगामा किया। किसानों ने 31 जनवरी तक बकाया गन्ना भुगतान न मिलने पर मिल का पेराई सत्र रोकने की चेतावनी दी है।
सिंभावली शुगर मिल क्षेत्र से जुड़े दर्जनों गांवों के किसानों ने एकत्र होकर सोमवार को गन्ना समिति परिसर में बैठक का आयोजन किया। जिसमें गत वर्ष और वर्तमान पेराई सत्र के बकाया गन्ना भुगतान को लेकर चर्चा की गई। जिसके बाद किसानों ने गन्ना समिति सचिव राकेश पटेल, ज्येष्ठ गन्ना विकास निरीक्षक अशोक कुमार यादव और मिल के केन मैनेजर अमानुल्ला खान का घेराव करते हुए हंगामा शुरू कर दिया। किसानों का कहना है कि क्षेत्र के लगभग सभी गांवों का गन्ना सिंभावली शुगर मिल में ही डाला जाता है। लेकिन कभी भी मिल प्रबंधन द्वारा किसानों को समय पर गन्ना भुगतान नहीं दिया गया। किसानों का कहना है कि वर्तमान पेराई सत्र समेत गत सत्र का करोड़ो रुपया मिल प्रबंधन पर बकाया है, बार-बार किसानों को अपने पैसे की मांग को लेकर आंदोलन करना पड़ रहा है, लेकिन शासन, प्रशासन और मिल प्रबंधन इस तरफ कोई ध्यान नहीं दे रहा। जिसके चलते किसानों को आर्थिक तंगी झेलनी पड़ रही है। घरेलू खर्च समेत अन्य जरूरतों के लिए ब्याज पर पैसा उधार लेना किसान की मजबूरी बनी हुई है। किसानों ने गन्ना समिति सचिव को ज्ञापन सौंपते हुए 31 जनवरी तक बकाया गन्ना भुगतान दिलाए जाने की मांग की है। ऐसा न होने की दशा में किसानों ने मिल कैलेंडर समिति में ही रोकने की चेतावनी दी है।
इस मौके पर अजयवीर सिंह, विकास चौधरी, संजीव, हरविंदर सिंह, मुखिया लटूर, सतेंद्र सिंह, रविंदर, राजवीर सिंह, पिंटू, प्रणाम सिंह, गुरेंद्र सिंह, जयवीर सिंह, रणपाल समेत दर्जनों किसान मौजूद रहे।
गन्ना समिति सचिव राकेश पटेल का कहना है कि किसानों की समस्या का जल्द समाधान कराया जाएगा।
... और पढ़ें

गंगा यात्रा के दौरान रहेगा रूट डायवर्जन

गंगा यात्रा के दौरान रहेगा रूट डायवर्जन
गढ़मुक्तेश्वर। गंगा यात्रा के दौरान जाम की संभावना और यात्रा की सुरक्षा के मद्देनजर क्षेत्र में रूट डायवर्जन रहेगा। जिसके चलते राहगीरों को कुछ समय के लिए परेशानी का सामना करना पड़ेगा।
सीओ डॉ. तेजवीर सिंह ने बताया कि मंगलवार की सुबह करीब 10 बजे गंगा यात्रा क्षेत्र के गांव नानपुर पहुंचेगी। जहां से यात्रा का काफिला गढ़-मेरठ रोड से होते हुए गढ़-चौपला पहुंचेगा। गढ़-चौपला से पुरानी दिल्ली रोड ओवरब्रिज से होते हुए नेशनल हाईवे पर स्याना चौराहे पर यात्रा पहुंच जाएगी। जहां से अल्लाबख्शपुर होकर ब्रजघाट के लिए प्रस्थान करेगी।
सीओ ने बताया कि यात्रा की सुरक्षा और जाम की समस्या से निजात पाने के लिए साढ़े नौ बजे जनपद मेरठ के किठौर क्षेत्र से रूट डायवर्जन लागू किया जाएगा। इसके अलावा नेशनल हाईवे पर भी रूट डायवर्जन की रूपरेखा तैयार कर ली गई है।
--रूट डायवर्जन की रूपरेखा
सीओ ने बताया कि सुबह नौ बजे से मेरठ से गढ़ की तरफ आने वाले वाहनों को किठौर से हापुड़ होते हुए नेशनल हाईवे पर डायवर्ट किया जाएगा।
वहीं मुरादाबाद और गढ़ से मेरठ की तरफ जाने वाले वाहनों को सिंभावली होते हुए नहर पटरी से किठौर की तरफ निकाला जाएगा।
सीओ ने बताया कि यात्रा के दौरान नेशनल हाईवे पर भी आधा घंटे के लिए वाहनों का रूट डायवर्जन किया जाएगा। जिसमें सिंभावली और गजरौला से वाहनों को दूसरे रास्तों पर भेजा जाएगा।
ब्रजघाट से स्याना-बुलंदशहर रोड पर यात्रा के पहुंचने पर भी वाहन चालकों को रूट डायर्वजन का सामना करना पड़ेगा। उन्होंने बताया कि इस दौरान स्याना से बीबीनगर होते हुए हापुड़ की तरफ वाहनों को निकाला जाएगा।
... और पढ़ें

गढ़ गंगानगरी में आज पहुंचेगी गंगा यात्रा

गंगानगरी में आज पहुंचेगी गंगा यात्रा, तैयारियां पूरी
गढ़मुक्तेश्वर। बिजनौर से आरंभ हुई गंगा यात्रा आज गंगानगरी गढ़-ब्रजघाट पहुंचेगी। यात्रा को लेकर जनपद समेत स्थानीय पुलिस-प्रशासनिक अधिकारियों ने गंगानगरी में डेरा डाला हुआ है। यात्रा में वाहनों के काफिले में प्रदेश के डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा समेत कई केंद्रीय और प्रदेश सरकार के मंत्री भी मौजूद रहेंगे। जिसे लेकर भाजपा कार्यकर्ता भी जोरदार स्वागत करने की तैयारियों में जुटे हुए हैं।
सीएम योगी आदित्यानाथ ने 27 जनवरी गंगा को गंगा को स्वच्छ और निर्मल बनाने के उद्देश्य से गंगा यात्रा को बिजनौर से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। मंगलवार को गंगा यात्रा जनपद मेरठ के हस्तिनापुर से होकर गढ़ क्षेत्र के गांव नानपुर पहुंचेगी। जहां जनपद के प्रभारी मंत्री संदीप कुमार और जिलाध्यक्ष उमेश राणा गढ़ सैकड़ों भाजपाइयों के साथ गंगा यात्रा का स्वागत करेंगे। मेरठ रोड पर गंगा यात्रा में काफिले में डिप्टी सीएम भी शामिल रहेंगे। जिसके बाद गंगा यात्रा गढ़ चौपला पर पहुंचेगी, जहां से पुष्प वर्षा के बीच यात्रा ब्रजघाट के लिए रवाना हो जाएगी। जिलाध्यक्ष उमेश राणा ने बताया कि इस यात्रा का मुख्य उद्देश्य गंगा को निर्मल और शुद्ध बनाने के लिए लोगों को जागरूक करना है। उन्होंने बताया कि गंगा यात्रा गढ़ चौपला के बाद ब्रजघाट में पहुंचेगी, जहां डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा समेत यात्रा में शामिल लोगों द्वारा गंगा आरती की जाएगी। उसके बाद गंगा घाट किनारे बने प्लेटफार्म पर बनाए गए सभा स्थल पर पहुंचकर निर्मल गंगा से जुड़े कार्यक्रम प्रस्तुत किए जाएंगे। वहीं डिप्टी सीएम भी लोगों को संबोधित करेंगे।
अधिकारियों ने तैयारियों का लिया जाएजा, दिए दिशा-निर्देश
- गंगा यात्रा को लेकर सोमवार को डीएम अदिति सिंह और एसपी संजीव सुमन ने ब्रजघाट पहुंचकर व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया। डीएम ने गंगा तट पर बने सभा स्थल पर पहुंचकर तैयारियों का जायजा लिया। उन्होंने सभा स्थल पर मंच और आरती स्थल का भी मुआयना किया। जिसमें कुछ खामियां मिलने पर अधिकारियों को दिशा निर्देश देकर सही कराया गया। वहीं उन्होंने गंगा स्वच्छता के लिए हो रहे सांस्कृतिक कार्यक्रम में भाग लेने वाले छात्रों के रिर्हसल के बारे में जानकारी ली। डीएम ने सख्ती से निर्देश देते हुए कहा कि कार्यक्रम मे किसी भी तरह की कोई परेशानी न बने, जिससे सभा में आने वाले वीआईपी समेत कार्यकर्ताओं को किसी भी तरह की दिक्कत का सामना न करना पड़े।
पुलिसकर्मियों को गंगा यात्रा की दी जानकारी
- एसपी संजीव सुमन ने सोमवार को सभा स्थल पर पहुंचकर पुलिसकर्मियों के साथ बैठक की। बैठक में पुलिसकर्मियों को गंगा यात्रा को लेकर जानकारी दी गई। उन्होंने कहा कि यात्रा में शामिल होने वाले लोगों पर पुलिस की पैनी नजर होनी चाहिए। वहीं उन्होंने पुलिसकर्मियों को समय पर अपने ड्यूटी प्वाइंट पर पहुंचने और सही ढंग में ड्यूटी निभाने का भी निर्देश दिया। उन्होंने सुरक्षा व्यवस्था में चूक होने पर थानाध्यक्ष की जवाबदेही भी तय की।
इस मौके पर सीडीओ उदय सिंह, एडीएम जयनाथ यादव, एएसपी सर्वेश मिश्रा, डीआईओएस निशा अस्थाना, सीएमओ रेखा शर्मा, बीएसए देवेंद्र गुप्ता, एसडीएम विजयवर्धन तोमर, एसडीएम हापुड़ सत्यप्रकाश, सीओ डॉ.तेजवीर सिंह, अशोक शुक्ल, इंस्पेक्टर राजपाल सिंह तोमर, मुकेश कुमार, सुनील कुमार समेत सैकड़ों पुलिसकर्मी मौजूद रहे।
चेयरमैन सोना सिंह ने किया निरीक्षण
- गढ़ नगर पालिका चेयरमैन सोना सिंह ने सोमवार को ब्रजघाट पहुंचकर गंगा तैयारियों का जायजा लिया। उन्होंने बताया कि पालिका क्षेत्र के अंतर्गत साफ सफाई दुरुस्त कराते हुए घाटों पर शौचालय, गंगा तट की सफाई करा दी है, इसके अलावा संपर्क मार्गों पर सफाई करा दी गई है।
पार्किंग से आगे नहीं पहुंचेगी बिना पास की कार
- एसपी संजीव सुमन ने पुलिस टीम को सख्ती से निर्देश दिया है कि गंगा यात्रा में शामिल होने वाले वाहनों को ही गंगा तट तक भेजा जाएगा, इसके अलावा जिन कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों के पास नहीं होंगे वह पार्किंग में अपनी कार खड़ी करेंगे।
डिप्टी सीएम को दिया जाएगा रिंग प्रोटेक्शन
- गंगा यात्रा में भारी संख्या में कार्यकर्ताओं के पहुंचने की उम्मीद है। भारी भीड़ के चलते धक्कामुक्की और अफरातफरी से बचाने के लिए पुलिस डिप्टी सीएम समेत अन्य वीआईपी लोगों को रिंग प्रोटेक्शन देगी। जिससे उन्हें बिना किसी परेशानी कार्यक्रम स्थल तक पहुंचाया जा सके।
सुरक्षा व्यवस्था में चार सौ पुलिसकर्मी रहेंगे तैनात
- एसपी संजीव सुमन ने बताया कि गंगा यात्रा को लेकर विभिन्न मार्गों समेत करीब चार सौ पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं। वहीं मेटल डिटेक्टर द्वारा सभा स्थल पर पहुंचने वाले लोगों की जांच भी होगी। इसके अलावा सादे कपड़ों में पुलिसकर्मी भी कार्यक्रम स्थल के आसपास मौजूद रहेंगे। जिससे सुरक्षा में कोई चूक न हो जाए।
... और पढ़ें

अनियंत्रित होकर बाइक पिकअप से भिड़ी

अनियंत्रित होकर पिकअप से भिड़ी बाइक
हापुड़। कुचेसर चौपला स्याना मार्ग पर मंगलवार सुबह गांव बरखंडा के पास पिकअप और बाइक की भिंड़त में पति की मौत हो गई, जबकि पत्नी गंभीर रूप से घायल हो गयी। घायल को हापुड़ के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने पिकअप को कब्जे में ले लिया है।
थाना सिंभावली क्षेत्र के गांव नंगला कटक निवासी सुरेंद्र (40) अपनी पत्नी लता के साथ मंगलवार सुबह बाइक से हापुड़ आ रहा था। जैसे ही बाइक गांव बनखंडा के पास पहुंची तो सड़क पर फिसलन के कारण बाइक अनियंत्रित हो गई। इस दौरान बाइक सामने से आ रही एक पिकअप से भिड़ गई। हादसे में दंपती गंभीर रुप से घायल हो गए। लोगों ने मामले की सूचना पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने घायल दंपती को उपचार के लिए नगर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया। जहां उपचार के दौरान सुरेंद्र की मौत हो गई। जबकि महिला की हालत गंभीर बनी हुई है। व्यक्ति की मौत की सूचना पर परिजन अस्पताल पहुंचे और बिलख पड़े। पुलिस ने पिकअप को कब्जे में ले लिया है। जबकि चालक मौके से फरार हो गया, उसकी तलाश की जा रही है।
थाना प्रभारी निरीक्षक उत्तम सिंह राठौर ने बताया कि मृतक के शव तो पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। तहरीर के आधार पर मामला दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

गंगा यात्रा के आगमन ने बदल दी गंगा तटीय स्कूलों की तस्वीर

गंगा यात्रा ने बदली परिषदीय स्कूलों की सूरत
गढ़मुक्तेश्वर। गंगा स्वच्छ, निर्मल और अविरल बनाने के लिए निकाली जा रही गंगा यात्रा के आगमन ने गंगा तटीय परिषदीय स्कूलों की तस्वीर बदल कर रख दी है। पतित पावनी मोक्ष दायिनी गंगा तट के 15 गंगा ग्रामों को इसका लाभ मिला है।
जनपद हापुड़ में मंगलवार को गंगा यात्रा डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा के नेतृत्व में पहुंची। यात्रा की तैयारी को लेकर बेसिक शिक्षा विभाग करीब एक सप्ताह से कड़ी मशक्कत कर रहा था। यात्रा के रास्ते में आने वाले और गंगा ग्रामों में सफाई व्यवस्था दुरुस्त कराने के साथ जर्जर सड़कों की मरम्मत कराई गई। इन ग्रामों में स्थित परिषदीय स्कूलों में भी सफाई के साथ पेंट कराया गया। इसमें ऐसे स्कूल भी शामिल हैं, जो पिछले कई वर्षों से खराब हालत में थे। ग्रामीणों ने बताया कि अधिकारी शिकायत के बाद भी समस्या के निस्तारण को तैयार नहीं थे। बच्चों को गंदगी व असुविधाओं के बीच स्कूल जाना पड़ता था, लेकिन अब गंगा यात्रा के दौरान डिप्टी सीएम के आने के चलते अधिकारियों ने आनन-फानन में व्यवस्थाएं दुरुस्त करा दी हैं। परिषदीय स्कूलों में रंगाई, पुताई, टूट फूट की मरम्मत, साफ-सफाई, साफ-सुथरे शौचालय, खेल मैदान, शुद्ध पानी की व्यवस्था, दीवारों पर वाल पेंटिंग, कूड़ेदान और पौधे भी लगाए गए है। गंगा खादर के गांव में परिषदीय स्कूल की तस्वीर प्राइवेट स्कूल से किसी भी स्तर पर कम नहीं दिखाई दे रही है।
गांव मोहम्मदपुर रुस्तमपुर, अल्लाहबख्शपुर, पूठ, शंकराटीला, रहरवा किरावली, आलमगीरपुर, इनायतपुर, रामपुर न्यामतपुर, लठीरा, गड़ावली, आलमगीरपुर भगवंतपुर, आलमनगर, नवादा खुर्द, हैदरपुर, सैदपुर, झड़ीना के परिषदीय स्कूल की हालत बदलने से शिक्षकों, छात्रों और अभिभावकों में भी खुशी का माहौल है।
... और पढ़ें

हापुड़ के लाल कार्तिक त्यागी ने अंडर -19 क्रिकेट विश्वकप में गाड़ा झंडा

हापुड़ के लाल कार्तिक ने विश्वकप में लहराया परचम
हापुड़। हापुड़ के गांव धनौरा के लाल कार्तिक त्यागी ने अफ्रीका में खेले जा रहे अंडर-19 क्रिकेट विश्वकप में अपनी धारदार गेंदबाजी से विपक्षी बल्लेबाजों को घुटने टेकने पर मजबूर कर दिया है। मंगलवार को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चार विकेट लेकर, कार्तिक ने परचम लहराया।
धनौरा निवासी योगेंद्र त्यागी के पुत्र कार्तिक त्यागी की गेंदबाजी का लोहा दुनियाभर के बल्लेबाज मान रहे हैं। अंडर-19 क्रिकेट विश्वकप के शुरूआती मैचों से ही कार्तिक ने विपक्षी टीमों के दिग्गज बल्लेबाजों को टिकने नहीं दिया।
मंगलवार को भारत का मुकाबला ऑस्ट्रेलिया से था। ऑस्ट्रेलिया की गेंदबाजी के सामने भारतीय टीम निर्धारित ओवर में 233 ंन बना सकी। ऐसे में गेंदबाजों से बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद थी। कार्तिक त्यागी ने टीम की ओर से पहला ओवर करते हुए पहली ही गेंद पर बल्लेबाज को रन आउट, इसी ओवर की चौथी गेंद पर एलपीडब्ल्यू और पांचवीं गेंद पर बल्लेबाज को बोल्ड कर दिया। इस मेच में कार्तिक ने चार विकेट झटके।
कार्तिक की धारदार गेंदबाजी के चलते ऑस्ट्रेलिया की टीम पत्तों की तरह बिखर गई। इस मैच में कार्तिक ने चार विकेट लेकर, परचम लहरा दिया है। उसकी उपलब्धि से परिजनों समेत जिलेवासियों में खुशी का माहौल है।
... और पढ़ें

चकबंदी प्रकिया किसी भी सूरत में साकार नही होने दी जाएगी- ग्रामीण

ग्रामीणों ने चकबंदी अधिकारी के कार्यालय का किया घेराव
धौलाना। फगौता में मंगलवार को ग्रामीणों ने पुरानी तहसील स्थित सहायक चकबंदी अधिकारी के कार्यालय का घेराव कर प्रदर्शन किया। इस दौरान ग्रामीणों ने गांव में चकबंदी नहीं कराने की मांग की।
ग्रामीणों का कहना कि गांव निवासी चकबंदी प्रक्रिया लागू नहीं कराना चाहते हैं। इस दौरान सूचना पर पहुंची पुलिस ने आक्रोशित किसानों को समझा-बुझाकर मामला शांत कराया। ग्रामीण वेदपाल सिंह ने बताया कि पूर्व में चकबंदी विभाग ने संबंधित अधिकारियों की मौजूदगी में बैठक आयोजित की थी। जिसमें 12 सौ किसानों में से मात्र तीन सौ खाताधारक किसानों द्वारा चकबंदी का समर्थन किया गया था, जबकि नौ सौ किसानों ने विरोध जताया था। सहायक चकबंदी अधिकारी रविंद्र सिंह ने बताया कि आकार-पत्र 5 में दिए गए विवरणों और खातेदारों से मिलने वाली आपत्तियों के आधार पर अभिलेखों को शुद्ध कर आदेश पारित किए जाएंगे। जो इन आदेशों से सहमत नहीं होगा वो बंदोबस्त अधिकारी चकबंदी के यहां अपील कर सकता है।
प्रदर्शन के दौरान छबील सिंह, चेयरमैन रविंद्र सिंह, राजकुमार, मान सिंह, सुमेर सिंह, राजवीर सिंह, सुरेश सिंह, देवेंद्र सिंह, अनिल सिंह, पदम सिंह, अतुल गहलोत, जयवीर सिंह, सोनी सिंह, कैलाश सिंह, अनिल सिंह, कृष्ण सुंदर सिंह, इन्द्रपाल सिंह, अजब सिंह, नरेन्द्र शर्मा, धूम सिंह आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

बूंदाबांदी ने फिर बदला मौसम का मिजाज

बारिश से लुढ़का तापमान, सर्द हवाओं ने बढ़ाई ठंड
हापुड़। मौसम लगातार करवट बदल रहा है। सोमवार रात को एक बार जिले में मौसम ने करवट बदली और बूंदाबांदी शुरू हो गयी। सुबह तक रुक रुककर हुई बारिश से मौसम में एक बार फिर ठंडक महसूस की गयी। बुधवार को बारिश के साथ तापमान में और गिरावट दर्ज की जाएगी। बृहस्पतिवार से मौसम एक बार फिर खुलने की उम्मीद है।
सोमवार रात को हल्की धुंध थी। लेकिन ऐसी उम्मीद नहीं थी कि सोमवार की सुबह से ही बूंदाबांदी शुरू हो जाएगी। लेकिन देर शाम से बूंदाबांदी शुरू हो गई। बूंदाबांदी होते ही पारा अचानक गिर गया। मंगलवार को पारा अधिकतम 18 तो न्यूनतम 11 डिग्री दर्ज किया गया। रात भर रुक रुककर बूंदाबांदी होती रही, जिससे ठंड बढने के अलावा शहर की सड़कों पर गंदगी की वजह से फिसलन भी हुई। जिसके कारण लोगों को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ा। हालांकि दिन भर बादलों और सूर्य देवता के बीच आंख मिचौली का खेल होता रहा। कभी तेज धूप निकल आती तो कभी आसमान में काले बादल छा जाते।
उधर, मंगलवार को बूंदाबांदी से जहां ठंडक बढ़ी वहीं, बुधवार को भी बारिश होने की संभावनाएं जताई जा रही हैं। मौसम विभाग के अनुसार बुधवार को अभी पारा और गिरेगा और शीतलहर बढ़ेगी।
... और पढ़ें

मौसम में बदलाव से कोल्ड डायरिया की चपेट में बच्चे

मौसम में बदलाव से कोल्ड डायरिया की चपेट में बच्चे
हापुड़। मौसम के बदलाव से बच्चे कोल्ड डायरिया की चपेट में आ गए हैं। बड़ी तादात में बच्चे इस रोग से पीड़ित होकर, अस्पतालों में पहुंच रहे हैं। चिकित्सक बच्चों के रख रखाव में सावधानी बरतने की हिदायत दे रहे हैं। आती जाती सर्दी ही बच्चों की सेहत को सबसे ज्यादा प्रभावित करती है।
आसमान में छाए बादल और हल्की बूंदाबांदी ने मौसम में ठंडक बढ़ा दी है। सामान्य तापमान में इसके चलते काफी बदलाव आ रहा है। इसके चलते बच्चे कोल्ड डायरिया का शिकार हो रहे हैं। आलम यह है कि थोड़ी सी लापरवाही बरतने से ही बच्चे गंभीर बीमार हो रहे हैं।
इन दिनों बड़ी तादात में निजी, सरकारी अस्पतालों में कोल्ड डायरिया से पीड़ित मरीज पहुंच रहे हैं। इनमें काफी बच्चों की हालत नाजुक भी बनी हुई है। कोल्ड डायरिया के साथ ही निमोनिया का असर भी देखने को मिल रहा है। कुल मिलाकर यह मौसम बच्चों के लिए काफी खतरनाक साबित हो रहा है। इसलिए परिजन बच्चों के रख रखाव में सावधानी बरतें।
बाल रोग विशेषज्ञ डा. राकेश अनुरागी का कहना है कि आती जाती सर्दी में ही बच्चों की सेहत प्रभावित होती है। इन दिनों कोल्ड डायरिया के मरीज सबसे ज्यादा देखने को मिल रहे हैं। अभिभावक बच्चों के रख रखाव में सावधानी बरतें।
... और पढ़ें

ोरोना वायरस को लेकर स्वास्थ्य विभाग अलर्ट

कोरोना वायरस : जिले में अलर्ट, जारी हुई गाइड लाइन
हापुड़। चीन में बेकाबू होते कोरोना वायरस को लेकर हापुड़ जिले में अलर्ट घोषित कर दिया गया है। वायरस पर नियंत्रण को लेकर मुख्यालय की ओर से गाइड लाइन भी जारी की गई है। जिले से कितने लोग चीन गए हुए हैं इसकी भी जानकारी जुटाई जा रही है। वहीं चिकित्सकों को संदिग्ध लक्षणों वाले लोगों पर नजर रखने के निर्देश दिए गए हैं। हालांकि जिले में अभी तक यह रोग देखने को नहीं मिला है।
जनवरी महीने के अंत में हापुड़ जिले में स्वाइन फ्लू का वायरस सक्रिय हो जाता है। स्वास्थ्य विभाग इस रोग पर काबू पाने के प्रयास में जुटा हुआ है। इस बीच चीन में बेहद खतरनाकर कोरोना वायरस का हमले ने स्वास्थ्य विभाग की नींद उड़ा दी है। देश के कुछ राज्यों में संदिग्ध मरीज होने की बात कही गई है। हालांकि इनकी पुष्टि नहीं हो सकी है। ऐसे में एहतियातन स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी अलर्ट हो गए हैं। मुख्यालय से इस वायरस पर नियंत्रण लगाने के संबंध में गाइड लाइन जारी कर दी गई है। वहीं प्रशासन की ओर से जिले से चीन जाने वाले लोगों की जानकारी जुटाई जा रही है। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार चीन से आने वाले प्रत्येक व्यक्ति की स्क्रीनिंग होगी। जिसके बाद ही उसे स्वस्थ घोषित किया जा सकेगा। सीएमओ ने सभी चिकित्साधिकारियों को अपने अपने क्षेत्रों में संदिग्ध लक्षण वाले लोगों पर नजर रखने के निर्देश जारी कर दिए हैं।
यह हैं कोरोना वायरस के लक्षण
- तेज बुखार
- सिर में दर्द
- नाक का लगातार बहते रहना
- खांसी, सर्दी-जुकाम
- अंगों का काम करना बंद करना।
इसलिए खतरनाक है कोरोना
- चिकित्सकों ने बताया कि कोरोना वायरस में कोई एंटीबायोटिक काम नहीं करती है। फ्लू में दी जाने वाली एंटीबायोटिक भी इस वायरस में बेअसर है। अस्पताल में भर्ती कराए जाने वाले मरीजों को अंगों को फेल होने से बचाने के लिए ज्यादा से ज्यादा मात्रा में तरल पदार्थ दिया जाता है।
कोट
मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. रेखा शर्मा ने बताया कि जिले में फिलहाल इस तरह का कोई वायरस सक्रिय नहीं है। फिर भी चिकित्सकों को अलर्ट कर दिया गया है। प्रत्येक संदिग्ध मरीजों पर नजर रखी जा रही है।
... और पढ़ें

करोड़ो का विकास कराने वाली पालिका में ही जलभराव

शहर के विकास का दम भरने वाली पालिका में ही जलभराव
हापुड़। नगर पालिका भले ही शहर में करोड़ो रुपये की धनराशि से शहर में विकास की अविरल धारा बहाने का दंभ भर रही हो, लेकिन पालिका परिसर से ही विकास का पहिया नहीं चल पा रहा है। इसकी पोल मंगलवार को हल्की बूंदाबांदी ने ही खोलकर रख दी। हल्की बारिश से पालिका परिसर में भी जलभराव होने से पालिका कर्मचारियों को परेशानी हुई। जगह-जगह गंदगी ने स्वच्छता की भी पोल खोल दी।
नगर पालिका परिषद हापुड़ में 41 वार्ड हैं। पालिका शहरवासियों से जल व घर कर वसूल कर रही है। इसके एवज में सड़क, स्वच्छ पेयजल, प्रकाश पथ, सुंदरीकरण आदि जैसी सुविधाएं मुहैया करा रही है। लेकिन धरातल पर विकास का पहिया घूमता नहीं दिख रहा है।
पालिका परिसर में ही विकास की गंगा सूखी दिखाई दे रही है। मंगलवार को हुई बारिश से पालिका के विकास कार्यों की परत दर परत पोल खोल दी। पालिका परिसर में ही मुख्य सफाई निरीक्षक कार्यालय के निकट जलभराव की समस्या रही। ऐसे में पालिका कर्मचारियों को सफाई निरीक्षक कार्यालय से लोक निर्माण विभाग कार्यालय की ओर आवागमन में परेशानी हुई। स्वयं पालिका कर्मचारियों केा ईंट डालकर व साइड से होकर बचकर निकलना पड़ा।
वहीं मुख्य सफाई निरीक्षक कार्यालय में शिकायत लेकर पहुंचने वाले लोगों को भी परेशानियों का सामना करना पड़ा। उन्होंने जलभराव को लेकर भी नाराजगी जताई। पालिका के विकास कार्यों कराने की पद्धति पर प्रश्न चिन्ह लगाए।
सड़कों से लेकर मोहल्लों में गंदगी
मंगलवार को हुई बारिश से बुलंदशहर रोड, मेरठ रोड, दोयमी रोड, तहसील चौपले, अपना घर कॉलोनी के गेट सहित कई स्थानों पर जलभराव और कीचड़ की समस्या देखने को मिली। कीचड़ व जलभराव की वजह से लोगों को परेशानियों सामना करना पड़ा। कई लोग कीचड़ होने की वजह से गिर भी गए।
बरसात में रहती है समस्या
भले ही बरसात किसानों के लिए राहत देती हो, लेकिन सावन की बारिश नगर पालिका परिषद हापुड़ के लिए परेशानी ही लाती है। फिर शहर के नाले हो, सड़क हो या फिर नगर पालिका परिसर ही क्यों ना हो? बरसात के दिनों में पालिका परिसर में जलभराव हो जाता है। ऐसे में पालिका से होकर पुरानी कलक्ट्रेट व कोठीगेट जाने वाले लोगों को परेशानी होती है।
विगत दो बोर्ड बैठक में प्रस्तावों की भरमार
विगत दो पालिका बोर्ड बैठक में सैकड़ों प्रस्ताव पास हो चुके हैं। 22 सितंबर 2019 को हुई बोर्ड बैठक में 186 प्रस्ताव करीब 19 करोड़ की धनराशि खर्च व 27 जनवरी 2020 को हुई बोर्ड बैठक में 161 प्रस्ताव करीब 18 करेाड़ धनराशि के प्रस्तावों पर मोहर लगाई गई है। फिर भी पालिका परिसर को जलभराव की समस्या से छुटकारा नहीं मिल पा रहा है।
सड़कों की सफाई नहीं होने से फैलती है कीचड़
हालांकि नगर पालिका परिषद हापुड़ ने लाखो रुपये की लागत से सड़क की सफाई करने के लिए स्विपिंग मशीन खरीद रखी है। बाकायदा मशीन का रखरखाव व चलाने का खर्चा भी वहन होता है, लेकिन मशीन के कम चलाने और सड़क किनारे जमी मिट्टी की सफाई नहीं होने से बरसात होने पर कीचड़ जैसी समस्या उभर आती है। अगर स्विपिंग मशीन नियमित चलवाया जाए तो धूल व कीचड़ की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है।
नगर पालिकाध्यक्ष प्रफुल्ल सारस्वत ने बताया कि पालिका परिसर का लेवल सड़क से काफी नीचा है। जल्द ही पालिका सभागार की मरम्मतीकरण व तीनों गेटों का निर्माण कार्य होने के बाद लेवल को ऊंचा उठाया जाएगा। आने वाले समय में जलभराव की समस्या से निजात दिलाने की दिशा में प्रयास किया जाएगा।
... और पढ़ें

तहसीलदार का तबादला न होने पर आंदोलन होगा उग्र

तहसीलदार के तबादले को अधिवक्ता करेंगे आंदोलन
गढ़मुक्तेश्वर। तहसीलदार के खिलाफ हड़ताल पर बैठे अधिवक्ताओं ने जल्द तबादला न होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है। सुनवाई न होने तक दोनों गुटों के अधिवक्ताओं ने कामकाज बंद कर हड़ताल जारी रखने की घोषणा की है।
तहसीलदार पर अभद्रता समेत न्यायिक कार्यों में स्थिलता बरतने का आरोप लगाते हुए गढ़ बार एसोसिएशन और बार एसोसिएशन गढ़मुक्तेश्वर के अधिवक्ता एक सप्ताह से कामकाज बंद कर हड़ताल पर डटे हुए हैं। बार एसोसिएशन गढ़मुक्तेश्वर अध्यक्ष कृष्ण लाल चौहान और गढ़ बार एसोसिएशन अध्यक्ष कुंवरपाल सिह का कहना है कि एक सप्ताह से हड़ताल होने के चलते एसडीएम और तहसीलदार कोर्ट में कामकाज बंद पड़ा हुआ है। दोनों न्यायालयों में मुकदमों की सुनवाई न होने के चलते वादकारियों को परेशानी झेलनी पड़ रही है, इसके बावजूद भी तहसील प्रशासन समेत उच्चाधिकारियों द्वारा अधिवक्ताओं की मांग की तरफ कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा। जो बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। सचिव मोहम्मद कलीम खान और संजीव कुमार चौहान का कहना है कि एसडीएम विजयवर्धन तोमर भी बिना कोई जांच किए तहसीलदार का पक्ष ले रहे हैं, जिसे बार एसोसिएशन किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करेगी। अधिवक्ताओं का कहना है कि यदि जल्द ही तहसीलदार का तबादला नहीं किया गया, तो बार के दोनों गुट मिलकर उग्र आंदोलन करने के लिए मजबूर हो जाएंगे।
हड़ताल में शीशपाल सिंह चौहान, अनुज कुमार, कृष्ण कुमार प्रजापति, रिजवान अहमद, पीयूष गोयल, राजवीर सिंह राणा, निरंजन राणा, राकेश बजरंगी, अरूण कुमार भारद्वाज, सीएस यादव, जुनैद अहमद, अशरफ अली, रामरतन, वीरेंद्र कुमार अग्रवाल, बीबी गर्ग, सुबोध त्यागी, बलराज त्यागी, नरेंद्र गुप्ता, चंद्रशेखर शर्मा, मिलिन कुमार, आनंद भाटी, हेमंत गौड़, सुहेल आलम, विकास गुप्ता, अवनीश चौहान, नरेश गिल, दीपक चौहान, सत्यप्रकाश चौहान, चौधरी अमरपाल सिंह, प्रवेश चौहान, शाकिर अली, संदीप निषाद, सुकेंद्र सिंह, सुशील दहिया, रोहताश सिंह, राजकुमार चौधरी, चंद्रशेखर चौहान, श्रीनिवास, सुरेंद्र नागर, खालिद चौधरी, नैनपाल सिंह, नरेश कुमार, राजेंद्र वर्मा, ओमपाल मावी समेत समस्त अधिवक्ता शामिल रहे।
एसडीएम विजयवर्धन तोमर का कहना है कि गंगा यात्रा के चलते अधिवक्ताओं से वार्ता संभव नहीं हो सकी है। बुधवार को वार्ता कर समस्या का समाधान करने का प्रयास किया जाएगा।
... और पढ़ें

गंगा को स्वच्छ किए बिना देश का विकास संभव नहीं: दिनेश शर्मा

गंगा को स्वच्छ किए बिना देश का विकास संभव नहीं : दिनेश शर्मा
गढ़मुक्तेश्वर। गंगा यात्रा के दौरान प्रदेश के उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कहा कि गंगा को स्वच्छ किए बिना देश का विकास संभव नहीं है। यात्रा का मकसद गंगा को स्वच्छ बनाने के लिए लोगों को जागरूक करना है। कार्यक्रम की अध्यक्षता विधायक डॉ. कमल सिंह मलिक और संचालन पोस्टमास्टर अरूण मोहन ने किया।
गंगा नगरी ब्रजघाट में लोगों को संबोधित करते हुए उपमुख्यमंत्री ने कहा कि गंगा भारत देश की प्रमुख नदियों में से एक है। जो लोगों की आस्था का प्रतीक होने के साथ ही देश की अर्थव्यवस्था का एक आधार भी है। गंगा समेत नदियों को स्वच्छ, निर्मल और अविरल होना बेहद जरूरी है। नदियों के स्वच्छ हुए बिना देश का विकास पूरी तरह संभव नहीं है। उन्होेंने कहा कि जिस तरह केंद्र और प्रदेश सरकार के आह्वान पर हिंदु, मुस्लिम, सिक्ख, ईसाई समेत सभी जाति और धर्मों के लोग गंगा को अविरल बनाने में जुटे हुए हैं, वह सराहनीय कदम है। बिना जनसहयोग किसी भी सरकार का कोई भी कार्यक्रम सफल होना मुमकिन नहीं है।
उन्होंने कहा कि देश के सभी गांवों, कस्बों को खुले में शौच मुक्त बनाना शासन की प्राथमिकता में शामिल है। केंद्र और प्रदेश सरकार द्वारा चलाए जा रहे अभियान के तहत गंगा के तटों पर स्थित लगभग सभी गांव और कस्बे ओडीएफ हो चुके हैं। उन्होंने कहा कि सभी गांवों-कस्बों में कूड़े का सुनियोजित ढंग से प्रबंधन भी किया जा रहा है, जिसके लिए भी लोगों का जागरूक होना आवश्यक है।
डिप्टी सीएम ने कहा कि शहरों का गंदा पानी गंगा में डाले जाने से रोकने के लिए वाटर ट्रीटमेंट प्लांट लगाए जा रहे हैं, केंद्र और प्रदेश सरकार द्वारा गंगा को उसका पुराना स्वरूप प्रदान करने का पूरा प्रयास किया जा रहा है। 2014 से पहले मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रयागराज आए थे, जो गंगा में आचमन किए बिना ही लौट गए थे। लेकिन अब मॉरीशस के प्रधानमंत्री ने प्रयागराज पहुंच कर गंगा स्नान किया। इससे साफ जाहिर है, कि केंद्र और प्रदेश सरकारें अपने अभियान में सफल हो रहीं हैं। उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायत स्तर पर खेल के मैदान बनाए जा रहे हैं, ताकि गांव के बच्चे खेलकूद की प्रतिभा को निखार सकें।
डिप्टी सीएम ने तट पर मौजूद लोगों को सरकार द्वारा चलाए जा रहे गंगा स्वच्छता अभियान में सहयोग देने और गंगा को निर्मल बनाने, जैविक खेती अपनाने और पॉलीथिन मुक्त भारत बनाने की की शपथ भी दिलाई।
केंद्रीय मंत्री जरनल वीके सिंह ने कहा कि यह कार्यक्रम लोगों में गंगा स्वच्छता के लिए एक नई ऊर्जा जगाने के लिए चलाया जा रहा है। ताकि गंगा गोमुख से गंगा सागर तक निर्मल और स्वच्छ दिखाई दे। उन्होंने कहा कि गंगा जल को पूजा घर में स्थान दिया जाता है। उन्होंने सभी लोगों से अपील करते हुए कहा कि गंगा में गंदगी न डालें, इसे अविरल और स्वच्छ बनाए रखने में शासन का सहयोग करने का भी आह्वान उन्होंने किया।
ग्राम्य विकास मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति ने कहा कि गंगा को साफ करने के लिए जाति प्रथा को छोड़कर सभी लोग एकजुट होकर प्रयास कर रहे हैं। मोदी का गंगा को स्वच्छ करने के अभियान के नतीजे अब दिखाई देने लगे हैं। उन्होंने कहा कि प्रयागराज में महाकुंभ का आयोजन किया जा रहा है। पहले श्रद्धालु गंगा में आचमन करने से भी डरते थे, लेकिन अब निसंकोच होकर गंगा स्नान का पुण्य अर्जित कर रहे हैं। यदि सभी लोग मिलकर ठान लें, तो गंगा का पूरी तरह स्वच्छ और निर्मल होने का सपना साकार होना दूर नहीं है।
क्षेत्रीय विधायक डॉ. कमल सिंह मलिक ने भी सभी लोगों से केंद्र और प्रदेश सरकार के अभियान को सफल बनाने का आह्वान किया।
इस मौके पर डीएम अदिति सिंह, एसपी संजीव सुमन, एडीएम जयनाथ यादव, एएसपी सर्वेश मिश्रा, सीडीओ उदय सिंह, डीआईओएस निशा अस्थाना, क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी अंजू चौधरी, बीएसए देवेंद्र गुप्ता, एसडीएम विजयवर्धन तोमर, सीओ डॉ. तेजवीर सिंह, बीईओ पंकज अग्रवाल, मोहम्मद राशिद समेत सभी विभागों के अधिकारी-कर्मचारी मौजूद रहे।
इस मौके पर राज्य सभा सांसद कांता कर्दम, पूर्व विधायक कृष्णवीर सिरोही, प्रवीण सेठी, पंडित सुनील भराला, डॉ. हरेंद्र सिंह, हरिराज सिंह, धनौरा विधायक राजीव तरारा, आशीष शर्मा, अशोक शर्मा, प्रदीप भाटी, भारत भूषण गर्ग, इकबाल अहमद, इदरीश खां, मेजर भीष्म त्यागी, संजीव त्यागी, परवेज चौधरी, अंकुर त्यागी, राजेश अधाना, संदीप तंवर, अशोक पहलवान, कुलदीप गोयल, मोहित गुप्ता, कमल त्यागी, विनय त्यागी, राजू भैया, महेेंद्र चौहान, सुमन प्रकाश त्यागी, पूर्व चेयरमैन रामौतार राजौरा, विनय मिश्रा, गौरव मिश्रा, ब्रह्मनंद प्रजापति, दीपक शर्मा, पिंकी त्यागी, हरेंद्र चौधरी, राकेश बजरंगी, बॉबी अग्रवाल, सतनाम यादव, राजबल गुर्जर, राबमीर पावटी, सरदार सुरेंद्र सिंह, मनोज प्रजापति, डॉ. शेर सिंह, कपिल नागर, धर्म सिंह, अजय दादू समेत हजारों लोग मौजूद रहे।
स्वयं सहायता समूहों को भेंट किया चेक
कार्यक्रम के दौरान डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए योजनाएं चलाई जा रहीं है। जिनमें से एक स्वयं सहायता समूह का गठन कर कुटीर उद्योग लगाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। डिप्टी सीएम ने पांच स्वयं समूहों की महिलाओं को 19 लाख 30 हजार रुपये का चैक भी भेंट किया।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us