विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus in Uttar Pradesh Live Updates: यूपी में एक दिन में 14 नए मरीज, अब तक 65 लोग कोरोना संक्रमित

यूपी में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। शनिवार को एक ही दिन 14 नए मरीज सामने आने के साथ ही प्रदेश में संक्रमितों की संख्या 65 हो गई है।

28 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

हापुड़

शनिवार, 28 मार्च 2020

रेलवे स्टेशन को 31 मार्च तक किया गया पैक

रेलवे स्टेशन 31 मार्च तक किया गया पैक
हापुड़। कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते हापुड़ के रेलवे स्टेशन को पूरी तरह से पैक कर दिया गया है। स्टेशन परिसर के पूछताछ केंद्र से लेकर टिकट बुकिंग काउंटरों पर सील लगा दी गई है।
कोरोना को लेकर रेलवे प्रशासन भी सतर्कता बरत रहा है। एक्सप्रेस से लेेकर पैसेेंजर ट्रेनों के संचालन पर भी पूरी तरह से रोक लगा दी गई है। मंगलवार को रेलवे स्टेशन परिसर को पूरी तरह से पैक कर दिया गया। जिससे रेलवे स्टेशन परिसर में कोई भी यात्री प्रवेश नहीं कर पाए।
रेलवे स्टेशन के पैक होने से केवल रेलवे कर्मचारी, आरपीएफ, जीआरपी कर्मचारियों की मौजूदगी ही दिखाई देगी। रेलवे प्रशासन ने ऐसा कदम कोरोना वायरस से मजबूत लड़ाई लड़ने के लिए उठाया गया है।
स्टेशन अधीक्षक कार्यवाहक अजब सिंह ने बताया कि रेलवे स्टेशन को 31 मार्च के लिए पैक कर दिया गया है। फिलहाल यह कदम कोरोना वायरस को लेकर उठाया गया है। फिलहाल अग्रिम आदेश आने पर फैसला लिया जाएगा।
... और पढ़ें

हापुड़-मेरठ बॉर्डर पर पुलिस ने रोके वाहन, सड़क किनारे लगी लंबी कतार

हापुड़-मेरठ बॉर्डर पर पुलिस ने रोके वाहन, सड़क किनारे लगी लंबी कतार
हापुड़। कोरोना के संक्रमण के चलते हापुड़ और मेरठ जिले में लॉकडाउन किया जा चुका है। गाजियाबाद, नोएडा भी लॉकडाउन हैं। ऐसे में पुलिस ने मुख्य बॉर्डर पर अभियान चलाकर वाहनों को वापस भेजा। इसके चलते भारी वाहनों की सड़क किनारे लंबी कतारें लग गई। पुलिस ने लोगों से घरों में रहने की अपील की, साथ ही मास्क पहनने की हिदायत दी।
कोरोना का प्रकोप तेजी से फैल रहा है। ऐसे में लोगों से घरों में रहने की अपील की गई है। शासन के आदेश पर जिलों को लॉक डाउन किया गया है। ऐसे में लोगों से अपील की गई है कि वह अपने घरों को छोड़कर किसी अन्य शहर आदि में न जाएं।
लेकिन लोग जान की परवाह किए बगैर अभी भी वाहनों में सवार होकर एक से दूसरे स्थान पर जा रहे हैं। आलम यह है कि मंगलवार को हापुड़ से मेरठ जाने के लिए बड़ी संख्या में वाहनों का आवागमन होने लगा। मामले की गंभीरता पर धीरखेड़ा पुलिस चौकी पर पुलिस ने अभियान चलाकर वाहनों को वहीं रुकवा दिया और वापस जाने को कहा।
भारी वाहनों की लंबी कतारें सड़क किनारे लग गई, जबकि गाड़ियों को वापस भेज दिया गया। इतना ही नहीं जिन लोगों ने मास्क नहीं लगाए हुए थे। उन्हें मास्क और सैनिटाइजर के प्रयोग की सलाह दी गई।
चिकित्सक का पर्चा दिखाने पर निकलने दिया
पुलिस सिर्फ उन्हीं लोगों के वाहन पास होने दे रहे थे जो जिनका जाना वास्तव में जरूरी था। ऐसे में पुलिस लोगों से चिकित्सकों का पर्चा आदि देख रहे थे। वहीं बहाने बनाने वाले लोगों को वापस भेजा जा रहा था।
... और पढ़ें

कोरोना लगा रहा रेलवे को लाखों का फटका

कोरोना लगा रहा रेलवे को लाखों का फटका
हापुड़। कोराना वायरस हापुड़ में रेलवे को लाखों का फटका लगा रहा है। हर दिन रेलवे को लाखों रुपये राजस्व का नुकसान हो रहा है। अभी फिलहाल 31 मार्च तक ट्रेनों के संचालन पर रोक लगी हुई है।
कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए सरकारी मशीनरी से लेकर हर कोई सतर्कता बरत रहा है। कोरोना के संक्रमण की चैन को तोड़ने के लिए परिवहन सेवाओं को भी बंद कर दिया गया है। जनता कर्फ्यू के बाद फिलहाल एक्सप्रेस से लेकर पैसेंजर ट्रेनों के संचालन पर 31 मार्च तक रोक लगाने का फैसला लिया गया है। देश में लॉकडाउन जैसी स्थिति भी देखने को मिल रही है। ट्रेनों के पहिए थमने से रेलवे को नुकसान भी होना शुरू हो गया है। रेलवे स्टेशन पूरी तरह से विरान पड़े हुए हैं। फिलहाल पहले से बंद ट्रेनों के लिए यात्रियों को रिफंड भी किया जाएगा।
सीएमआई आनंद पाल सिंह ने बताया कि हापुड़ रेलवे स्टेशन पर रेलवे की प्रतिदिन की कमाई लगभग 3.5 लाख रुपये के आसपास है। इसमें पार्सल, टिकट बुकिंग, चेकिंग, केटरिंग से होने वाली आय को शामिल किया जाता है, लेकिन फिलहाल रेलवे द्वारा कोरोना वायरस के चलते 31 मार्च तक ट्रेनों के संचालन पर रोक लगा दी गई है।
... और पढ़ें

आशाएं बनी जनप्रहरी, घर-घर जाकर कर रहीं सर्वे

आशाएं बनी जनप्रहरी, घर-घर जाकर कर रहीं सर्वे
हापुड़। कोरोना वायरस से लोगों को सुरक्षित रखने के लिए आशाएं अब जनप्रहरी का काम कर रही हैं। विभागीय अधिकारियों द्वारा उन्हें प्रशिक्षित किया गया है। जिसके बाद शहर, गांव के प्रत्येक गली मोहल्ले में जाकर आशाएं विदेश से लौटे लोगों की सूची बना रही हैं। साथ ही खांसी, बुखार से पीड़ित मरीजों को सावधान रहने की हिदायत दे रही हैं। कोरोना के लक्षण मिलने पर सैंपल भी स्वास्थ्य विभाग को मुहैया कराएंगी।
कोरोना वायरस को लेकर दुनिया भर में अलर्ट है। हापुड़ जिले में भी पूरी सतर्कता बरती जा रही है। स्वास्थ्य विभाग के रिकॉर्ड पर गौर करें तो अभी तक एक भी मरीज में कोरोना की पुष्टि नहीं हो सकी है। लोगों को घरों के अंदर ही रहने की हिदायत दी गई है। विदेश से आए लोगों की भी हेल्थ स्क्रीनिंग करायी जा रही है।
विभागीय अधिकारियों ने अब घर घर जाकर लोगों के स्वास्थ्य की जांच कराने का निर्णय लिया है। इसके लिए आशाओं को प्रशिक्षित किया गया है। आशाएं अब फील्ड में उतर गई हैं। प्रत्येक शहर, गांव की गली मोहल्लों में जाकर यह टीमें लोगों के स्वास्थ्य की जानकारी कर रही हैं। अधिकांश मरीज सामान्य बुखार और खांसी से पीड़ित मिल रहे हैं।
इसके अलावा आशाएं विदेश से लौटे लोगों की भी घर घर जानकारी कर रही हैं। ताकि उन्हें आइसोलेट कर, संक्रमण से बचाया जा सके। इतना ही नहीं आशाएं कोरोना के संदिग्ध मरीजों का सैंपल भी एकत्र करेंगी।
मुख्य चिकित्साधिकारी डा.रेखा शर्मा ने बताया कि कोरोना से जंग जीतने के लिए आशाएं पूरा सहयोग दे रही हैं। उन्हें बचाव के तमाम संसाधन दिए गए हैं। लोग आशाओं को सही जानकारी दें, ताकि सर्वे में परेशानी न हो।
... और पढ़ें

गढ़ में 287 घरों पर नोटिस चस्पा

गढ़ में 287 घरों पर नोटिस चस्पा
गढ़मुक्तेश्वर। विदेशों और बाहरी राज्यों से वापस लौटे 287 लोगों को प्रशासन ने उनके घर पर आइसोलेट किया है। इसका पालन करने के लिए उनके घर के बार नोटिस चस्पा किए गए हैं।
एसडीएम विजयवर्धन तोमर ने बताया कि नगर समेत ग्रामीण क्षेत्रों में अभी तक 287 मकानों पर नोटिस चस्पा किए गए हैं। बाहरी क्षेत्रों और विदेशों से आए लोगों और उनके परिजनों को 14 दिनों तक अपने-अपने घरों में ही रहने और किसी से भी न मिलने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि 287 में से 16 लोग विदेशों से लौटे हैं। ऐसे सभी लोगों और उनके परिजनों के स्वास्थ्य पर भी नजर रखी जा रही है।
धौलाना में 111 लोगों को किया चिन्हित - कोरोना के चलते बाहरी शहरों व राज्यों से आए 111 लोगों को स्वास्थ्य विभाग ने चिन्हित कर उन्हें घर में ही आइसोलेट रहने की चेतावनी दी है। वहीं लोगों के स्वास्थ्य की जांच न करना चर्चा का विषय बना हुआ है। सपनावत गांव में भी लगभग 12 लोग बाहर से आएं हैं, लेकिन स्वास्थ्य विभाग ने उनकी जांच नहीं की। ग्रामीण स्तब्ध हैं कि यह लापरवाही लोगों पर भारी पड़ सकती है। तहसीलदार संजय सिंह ने बताया कि ऐसे लोगों पर निगाह रखी जा रही है। सभी के स्वास्थ्य की जांच कराई जाएगी।
... और पढ़ें

बाहर से आ रहे लोगों को नहीं घुसने दे रहे गांवों में-।

बाहर से आ रहे लोगों को गांव में नहीं घुसने दे रहे
गढ़मुक्तेश्वर। कोरोना की दहशत नगरों, कस्बों समेत गांवों में पूरी तरह हावी है। इसके चलते लोग अपनों से भी परायों जैसा बर्ताव कर रहे हैं। बाहरी क्षेत्रों से घर लौट रहे लोगों को ग्रामीण गांव की सीमा में नहीं घुसने नहीं दे रहे। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जांच के बाद ही ग्रामीण सगे संबंधियों तक को घरों में आने दे रहे हैं।
विदेशों समेत देश में कोरोना की दहशत इस कदर व्याप्त है कि लोग एक दूसरे से हाथ मिलाने, छूने और बात करने से भी कतरा रहे हैं। वहीं संक्रमण और मौत का डर लोगों से अपने परिजनों के साथ भी सौतेला व्यवहार करा रहा है। बता दें कि कोरोना के चलते कामकाज बंद होने के कारण गढ़ नगर समेत ग्रामीण क्षेत्र के ऐसे लोग जो बाहरी क्षेत्रों में कामकाज कर अपने परिवारों का पालन-पोषण कर रहे थे, अब अपने गांवों को रास्ते में परेशानियां झेलते हुए वापस लौट रहे हैं। महानगरों से गांव लौट रहे लोगों को अपने घर पहुंचकर परेशानियों के कम होने की सोच लेकर चले हैं, लेकिन अपने-अपने गांव पहुंचने के बाद ऐसे लोगों की परेशानी कम होने के बजाय बढ़ती नजर आ रही हैं। बाहरी क्षेत्रों से लौट रहे लोगों को अपनों से ही परायों जैसा बर्ताब झेलना पड़ रहा है। तहसील क्षेत्र के कई गांवों में बृहस्पतिवार की देर शाम और शुक्रवार को पहुंचे लोगों को परिजनों और ग्रामीणों ने गांव की सीमा के अंदर नहीं घुसने दिया। वहीं स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन को फोन कर बाहरी क्षेत्र से आए लोगों की सूचना दी। जिसके बाद मौके पर पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम ने उक्त लोगों की मॉनिटरिंग करने के बाद उनके परिजनों और ग्रामीणों को उनके स्वास्थ्य के बारे में अवगत कराया, जिसके बाद ही उन्हें गांव और घरों के अंदर आने दिया गया। बावजूद इसके बाहरी क्षेत्रों से आए लोगों से 14 दिनों तक अपने ही लोग दूरी बनाए हुए हैं।
कोट
सीएचसी अधीक्षक डॉ. दिनेश भारती ने बताया कि पिछले दो दिनों में गांव नयाबांस, सेहल, ढोलपुर, सरदपुर, भैना समेत कई गांवों के प्रधानों समेत लोगों की सूचनाएं प्राप्त हुए हैं। सूचना के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम को भेजकर बाहरी क्षेत्रों से आए लोगों की जांच कराई गई है। जिसके बाद ही ग्रामीणों ने उन्हें गांवों में घुसने दिया।
... और पढ़ें

मेडिकल स्टोर पर छापे के बाद हड़ताल

मेडिकल स्टोर पर छापे के बाद हड़ताल
हापुड़। स्वर्ग आश्रम रोड स्थित एक मेडिकल स्टोर पर दवाईयों का स्टॉक किए जाने की सूचना पर औषधि निरीक्षक ने टीम के साथ छापा मारा। जिससे गुस्साए मेडिकल स्टोर संचालकों ने हड़ताल की घोषणा करते हुए सभी दुकानें बंद कर दीं।
शुक्रवार को किसी ने स्वर्ग आश्रम रोड स्थित एक मेडिकल स्टोर पर जरूरी दवाईयां और मास्क आदि स्टॉक करने की शिकायत की थी। जिसके बाद औषधि निरीक्षक लवकुश प्रसाद, तहसीलदार गजेंद्र सिंह व डीएलए मेरठ ने संबंधित दुकान पर पहुंचकर छापा मारा। इस दौरान किसी प्रकार की जमाखोरी नहीं मिली, लेकिन इस दौरान गुस्साए मेडिकल स्टोर संचालकों ने हड़ताल की घोषणा कर दी। मेडिकल स्टोर की दुकानें बंद हो गयी। शाम के समय कुछ मेडिकल स्टोर संचालकों ने एडीएम के समक्ष पहुंचकर कार्रवाई का विरोध किया। इनका कहना था कि जिस समय देश कोरोना के संकट से जूझ रहा है, ऐसे में प्रशासन इस प्रकार की कार्रवाई कर रहा है। बाद में डीआई ने रेलवे रोड पहुंचकर खुद मेडिकल स्टोरों को खुलवा दिया।
इस संबंध में डीआई लवकुश प्रसाद का कहना था कि यह शिकायत मुख्यमंत्री पोर्टल पर की गयी थी। जिसके बाद उच्चाधिकारियों के निर्देश पर कार्रवाई की गयी। हालांकि वहां कुछ नहीं मिला। सभी दुकानें खुलवा दी गयी हैं।
... और पढ़ें

पिलखुवा पालिका द्वारा बनाया गया 50 वैड़ का आश्रय स्थल

पालिका ने बेसहारा लोगों के लिए बनवाया आश्रय स्थल
पिलखुवा। कोरोना के चलते नगर पालिका द्वारा शहर के शैलेष फार्म में 50 बेड का आश्रय स्थल बनाया गया है। उक्त आश्रय स्थल को पूरी तरह से सैनिटाइज किया गया है। पालिका द्वारा शुक्रवार को आश्रय स्थल व उसके आसपास के इलाके में हाइपोक्लोराइड से छिड़काव कराया गया। जिससे कोरोना वायरस की महामारी से सुरक्षित रहा जा सके। नगर पालिका पिलखुवा द्वारा बनाए गए आश्रय स्थल में बेसहारा लोगों को ठहरने के लिए 50 बेड का आश्रय स्थल बनाया गया है। इसमें सड़क पर रहने वाले बेघर, भीख मांगने वाले 50 लोगों को आश्रय स्थल में रोका जा सके। पालिका कर्मियों द्वारा बनाए गए आश्रय स्थल को पूरी तरह से सैनिटाइज किया गया है।
नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी विकास कुमार ने बताया कि आश्रय स्थल में रहने वाले लोगों को किसी तरह की परेशानी नहीं होने दी जाएगी। उनके स्वास्थ्य, खाने-पीने आदि सुविधाओं का पूरा ध्यान रखा जाएगा।
... और पढ़ें

दिमागी बुखार से हुई युवक की मौत, लोगों में कोरोना की दहशत

दिमागी बुखार से हुई युवक की मौत, लोगों में कोरोना की दहशत
गढ़मुक्तेश्वर। जयपुर से लौटे तार गली निवासी युवक की अचानक हुई मौैत से लोगों में कोरोना की दहशत फैल गई। हालांकि स्वास्थ्य विभाग दिमागी बुखार से मौत का कारण बता रही है। मौके पर पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम ने एहतियातन मृतक के नमूने लेकर जांच को भेज दिए वहीं परिजनों को 14 दिन तक घर में ही आइसोलेट रहने के आदेश दिए हैं।
गढ़ नगर की तार गली निवासी कपिल कौशिक (30) पुत्र सुभाष कौशिक गढ़ के गांव लोधीपुर सोभन के बिजली घर पर एसएसओ के पद पर कार्य करता था। जो करीब 20 दिन पहले घूमने के लिए जयपुर गया था। वहां से लौटने पर कुछ दिन पहले कपिल की तबियत बिगड़ गई। उपचार के बाद भी उसे कोई लाभ नहीं हुआ। जिसके चलते परिजनों ने उसे बृहस्पतिवार को गढ़ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती करा दिया था, जहां से उसे मेरठ मेडिकल के लिए रेफर कर दिया गया। मेरठ मेडिकल में उपचार के दौरान कपिल की मौत हो गई। मौत की सूचना मिलने पर परिजनों में कोहराम मच गया और क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ गई। मोहल्ले के लोगों का कहना है कि जयपुर से लौटने के बाद कपिल को तेज बुखार, खांसी और जुकाम की शिकायत हुई, जो संभवत: कोरोना है। जिसके चलते लोगों में दहशत का माहौल बना हुआ है। क्योंकि जयपुर से लौटने के बाद मृतक कई लोगों से मिला भी है और नगर में कई स्थानों पर गया भी था। जिससे लोगों को संक्रमण के फैलने की आशंका बनी हुई है।
वहीं सीएचसी अधीक्षक डॉ. दिनेश भारती ने बताया कि दिमागी बुखार के चलते युवक की मौत हुई है, कोरोना वायरस को लेकर लोगों में डर बैठा हुआ है। सूचना मिलते ही डीएम अदिति सिंह के निर्देश पर हापुड़ से पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम में डॉ. राजश्री और पुलिस प्रशासन मृतक के घर पहुंच गया और जांच पड़ताल करनी शुरु कर दी। सीएचसी अधीक्षक ने बताया कि मृतक के नमूने जांच के लिए प्रयोगशाला भेज दिए गए हैं। रिपोर्ट आने के बाद भी कोरोना के संबंध में कुछ कहा जा सकेगा।
एसडीएस विजयवर्धन तोमर का कहना है कि कोरोना की आशंका के चलते मृतक के परिजनों को 14 दिनों तक होम आइसोलेशन का कड़ाई से पालन करने का निर्देश दिया गया है, जिनके स्वास्थ्य पर नजर रखी जा रही है।
... और पढ़ें

कृषि बीज, उर्वरकों की खरीद में नहीं होगी परेशानी, खुलेंगे प्रतिष्ठान

कृषि बीज, उर्वरकों की खरीद में नहीं होगी परेशानी, खुलेंगी दुकानें
हापुड़। कोरोना वायरस के चलते किसानों को गन्ना बुवाई के दौरान उर्वरक, कीटनाशक, बीज खरीद के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा। बाजारों में इन चीजों की दुकानें खुली रहेंगी। किसानों की समस्या को देखते हुए अपर मुख्य सचिव ने यह आदेश जारी कर दिए हैं। हालांकि किसानों को सतर्कता बरतनी होगी, भीड़ एकत्र नहीं होने दी जाएगी।
इन दिनों जिले में गन्ने की बुवाई का समय चल रहा है। किसान आलू की खुदाई में जुटे हैं, ऐसे में गन्ना बुवाई के समय कीटनाशक, उर्वरकों की आवश्यकता पड़ती है। बहुत से किसान सब्जी आदि की खेती करते हैं। लेकिन लॉक डाउन के चलते बीते कई दिनों से यह दुकानें बंद चल रही थी। जिसके चलते किसान खासे परेशान थे।
बहरहाल, अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी ने कृषि क्षेत्र में उर्वरक, कीटनाशक, बीज आपूर्ति एवं बिक्री में छूट के आदेश दिए हैं। ऐसे में किसान अब अपनी जरूरत के हिसाब से सामान खरीद सकेंगे। हालांकि यह ध्यान रखें कि एक स्थान पर ज्यादा लोगों की भीड़ एकत्र न हो सके। दुकानदार भी इस बात का पूरा ध्यान रखें।
... और पढ़ें

दौताई में आधा दर्जन घरों पर नोटिस चस्पा

विदेश से लौटे छह लोगों के यहां चस्पा किए नोटिस
गढ़मुक्तेश्वर। कोरोना के डर से पिछले दो सप्ताह में विदेशों से गांव दौताई लौटे छह युवकों को प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की टीम ने होम आइसोलेट किया है। वहीं उनके घरों पर नोटिस चस्पा करके 14 दिन तक घर में ही रहने की हिदायत दी है।
कोरोना वायरस की दहशत देश समेत विदेशों में पूरी तरह व्याप्त है। जिसके चलते विदेशों से लोग वापस भारत लौटे हैं। गढ़ क्षेत्र के गांव दौताई में भी 10 से 12 दिनों के अंदर छह युवक सऊदी अरब से अपने-अपने घर लौट आए हैं। जिसकी सूचना मिलते ही जनपद समेत क्षेत्रीय प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया। डीएम अदिति सिंह के निर्देश पर शुक्रवार को एसडीएम विजयवर्धन तोमर, राजस्व और स्वास्थ्य विभाग की टीम को लेकर दौताई पहुंच गए। जहां ग्राम प्रधान पति राशिद को साथ लेकर विदेश से लौटे सभी युवकों के घर पहुंचें। एसडीएम ने सभी युवकों और उनके परिजनों को 14 दिनों तक अपने-अपने घरों में रहने और किसी से भी न मिलने की हिदायत दी। वहीं ग्रामीणों से भी उक्त सभी परिवारों से दूर रहने की हिदायत दी। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सभी युवकों और उनके परिजनों के स्वास्थ्य की जांच भी की।
एसडीएम विजयवर्धन तोमर ने बताया कि सभी घरों पर नोटिस चस्पा कर दिए गए हैं। विदेश से लौटे युवाओं और उनके परिजनों को होम आइसोलेशन का पालन न करने पर कड़ी कार्रवाई और एफआईआर की चेतावनी भी दी गई है। उन्होंने बताया कि उक्त सभी लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव है, लेकिन फिर भी पूरी एहतियात बरती जा रही है।
... और पढ़ें

तालाब में शव मिलने से मचा हड़कंप

तालाब में शव मिलने से मचा हड़कंप
हापुड़। देहात थाना क्षेत्र के अंतर्गत स्वर्ग आश्रम रोड स्थित तालाब में एक व्यक्ति का शव मिलने से हड़कंप मच गया। लोगों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को तालाब से बाहर निकाला। काफी प्रयास के बावजूद भी शव की शिनाख्त मोहल्ला कन्हैयापुरा निवासी व्यक्ति के रुप में हुई। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम को भेज दिया है।
देहात थाना क्षेत्र के अंतर्गत स्वर्ग आश्रम रोड पर चौराखी के पीछे स्थित तालाब में लोगों को करीब 40 वर्षीय युवक का शव तैरता हुआ दिखाई दिया। शव तालाब में पड़े होने की सूचना पर क्षेत्र में हड़कंप मच गया। आसपास के लोग मौके पर एकत्र हो गए। इसके बाद मामले की सूचना पुलिस को दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को बाहर निकाला। पुलिस द्वारा काफी प्रयास के बाद शव की शिनाख्त हो पाई। थाना प्रभारी राजेश भारती ने बताया कि शव की शिनाख्त नगर क्षेत्र के मोहल्ला कन्हैयापुरा निवासी रॉकी (38 वर्ष ) के रुप में हुई है। करीब एक सप्ताह से वह लापता था। सूचना मिलने पर मृतक के परिजन मौके पर पहुंचे और शव को देखकर बिलखने लगे। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम को भेज दिया। परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।
... और पढ़ें

छिजारसी टोल हुआ फ्री, नहीं कटेगा टैक्स

छिजारसी टोल हुआ फ्री, नहीं कटेगा टैक्स
पिलखुवा। कोरोना वायरस के चलते देशभर में लॉकडाउन का असर टोल प्लाजाओं पर भी पड़ा है। छिजारसी टोल को भी बुधवार रात्रि 12 बजे से बंद कर दिया गया। हाईवे पर वाहन कम होने व कोरोना का संक्रमण टोल कर्मियों पर न फैले इसके चलते सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने आदेश जारी किए हैं। सभी टोल कर्मियों को घर पर भेज दिया गया है। टोल से गुजरने वाले वाहनों का कोई शुल्क नहीं कटेगा।
कोरोना वायरस का असर देश की आर्थिक व्यवस्था पर भी पड़ा है। यातायात सेवाएं बंद होने के चलते टोल प्लाजा को भी बंद करने का निर्णय लिया गया है। केंद्र सरकार के सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने स्थिति को देखते हुए देश के सभी टोल प्लाजाओं को बुधवार की रात 12 बजे से बंद कर उन्हें फ्री करने के निर्देश दिए हैं। आदेश मिलने के बाद छिजारसी टोल प्लाजा को बीतीरात से फ्री कर दिया गया। टोल कंपनी द्वारा सभी कर्मियों को उनके घर पर भेज दिया गया हैं।
छिजारसी टोल के प्रबंधक शेषनाथ ने बताया कि आदेश मिल गए हैं। बुधवार की रात 12 बजे से टोल प्लाजा को बंद कर फ्री कर दिया गया हैं। अग्रिम आदेश तक टोल बंद रहेगा। लॉकडाउन खत्म होने के बाद ही टोल चालू करने के संबंध में आदेश मिलने की संभावना है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us