विज्ञापन
विज्ञापन
बनवाएं फ्री जन्मकुंडली और जानें , कही आपकी कुंडली में कोई दोष तो नहीं ?
astrology

बनवाएं फ्री जन्मकुंडली और जानें , कही आपकी कुंडली में कोई दोष तो नहीं ?

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

हाथरस: आलू के दाम आसमन पर, प्याज भी निकाल रहा आंसू

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हाथरस
सब्जियों के राजा आलू के दाम आसमान छू रहे हैं, वहीं प्याज के दाम भी आम लोगों के आंसू निकाल रहे हैं। आलू 40 से 45 रुपये और प्याज 60 से 70 रुपये प्रति किलो बिक रहा है। सब्जियों के दामों में आए उछाल ने आम आदमी को मुश्किल में डाल दिया है। मंडी प्रशासन प्याज के काउंटर लगवाकर भी ग्राहकों को राहत नहीं दे पा रहा। इस कारण लोगों की जेब पर आर्थिक बोझ बढ़ रहा है।
नवरात्र में कई घरों में प्याज बनाना तो दूर, उसको रखा भी नहीं जाता। इसके बावजूद प्याज के दामों में हो रही बढ़ोतरी सभी को चौंका रही है। बाजार में फुटकर में प्याज 60 से 70 रुपये प्रति किलो के भाव में बिक रहा है।
इसकी वजह यह है कि इन-दिनों आलू की बुवाई का काम भी शुरू हो गया है। पंजाब से अभी आलू की आवक नहीं हुई है। इस कारण आलू के दाम 40 से 45 रुपये प्रति किलो पहुंच गए हैं। नवरात्र में जरूरत के बावजूद लोगों को आलू की खरीदारी करने में कंजूसी बरतनी पड़ रही है। इसके अलावा हरी सब्जियों के दाम भी बढ़ गए हैं।
... और पढ़ें

फोटोग्राफरों को मिले अधिकार, आपस में हो सामंजस्य

संवाद न्यूज एजेंसी, हाथरस।
इंडियन फोटोग्राफर एसोसिएशन के बैनर तले प्रथम राष्ट्रीय अधिवेशन का आयोजन शहर के आगरा रोड स्थित राधा कृष्णा कृपा भवन गेस्ट हाउस में किया गया। इसमें फोटोग्राफरों ने एकजुट होने की योजना पर विस्तार से चर्चा की। अधिवेशन में फोटोग्राफरों को संगठित करने और उनकी समस्याओं का समाधान करने को लेकर मंथन किया गया।
अधिवेशन में इंडियन फोटोग्राफर एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेंद्र कुमार गुप्ता एवं राष्ट्रीय महासचिव योगेश नंदा मुख्य अतिथि के रूप में जबकि राजस्थान प्रदेश अध्यक्ष सुरेश काजला, दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष प्रवेश बंसल आदि मौजूद थे। राष्ट्रीय अध्यक्ष ने फोटोग्राफरों को संगठित होने की बात पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि फोटोग्राफरों को कोई अधिकार नहीं है, उन्हें अधिकार मिलें और फोटोग्राफरों में आपसी सामंजस्य भी बने। उन्होंने एसोसिएशन द्वारा राष्ट्रीय स्तर पर एक पोर्टल बनाने की बात कही। कार्यक्रम की अध्यक्षता उत्तर प्रदेश अध्यक्ष देवेश कुमार गुप्ता ने की। जबकि मंच पर नोएडा जिला अध्यक्ष उदय चौधरी, दिल्ली प्रदेश उपाध्यक्ष गौरव त्यागी, हर्ष जुनेजा, हरमीत सिंह, अमित कुमार मंचासीन थे।
कार्यक्रम का संचालन कर रहे एसोसिएशन के जिला अध्यक्ष अजय दीक्षित, जिला महासचिव सचिन शर्मा, जिला उपाध्यक्ष उमाकांत कुलश्रेष्ठ बॉबी, रामकिशन वर्मा आदि ने फूलों से स्वागत किया और प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया। मौके पर सबरस मुरसानी, देवेश वार्ष्णेय, विपिन वार्ष्णेय, राजीव गुप्ता, अलीगढ़ जिला अध्यक्ष सुधांशु सिन्हा, देवेश शर्मा, डिंपल गुप्ता, रामकिशन वर्मा, राजीव आर्य, राजकुमार, सुभाष ठाकुर, गुड्डू, त्रिभुवन कांत कुलश्रेष्ठ व अन्य फोटोग्राफर मौजूद थे।
... और पढ़ें

हाथरस: अब किसानों को धान का मिलेगा पूरा मूल्य, लगेगी बोली

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हाथरस
मंडी समिति में धान लेकर आने वाले किसानों के लिए राहत भरी खबर है। अब उन्हें धान का पूरा मूल्य मिलेगा। उनका धान बोली के जरिये बिकेगा। आए-दिन कम मूल्य पर धान लेने की शिकायतों को ध्यान में रखते हुए मंडी सचिव ने किसान के धान की बोली लगवाने के लिए दो टीमों का गठन किया है। टीम की मौजूदगी में ही धान की बिक्री होगी।
उल्लेखनीय है कि हाथरस मंडी में अलग-अलग ब्लॉक में गल्ले की करीब 200 आढ़त हैं। इन पर हर रोज बड़ी मात्रा में धान की आवक होती है। कुछ आढ़तिया गुपचुप तरीके से किसानों से कम लागत पर धान खरीद रहे हैं। इसकी शिकायत हर रोज आला अफसरों तक पहुंच रही हैं। शिकायतों को ध्यान में रखते हुए मंडी प्रशासन ने धान की बोली लगवाने का फैसला लिया है। पहले किसान अपने माल का ढेर लगाएंगे।
उसके बाद गठित टीम के सदस्य आढ़तियों को बुलाएंगे। आढ़तियों द्वारा उसकी बोली लगाई जाएगी। जो ज्यादा बोली लगाएगा, उसी आढ़तिया को धान दिया जाएगा। साथ ही किसानों को भुगतान के लिए भी सरल प्रक्रिया अपनाई जाएगी, ताकि किसानों का कोई दिक्कत नहीं हो। मंडी सचिव यशपाल सिंह का कहना है कि अब मंडी में आने वाले धान की बिक्री बोली के माध्यम से ही कराई जाएगी, जिसके लिए दो टीमों का गठन किया गया है। टीमों को सही मूल्य पर धान बिक्री कराने के निर्देश दिए गए हैं।
... और पढ़ें

हाथरस केस: बिटिया के पिता बोले- राहुल गांधी ने जो चेक दिया था, वह अब तक लिफाफे में ही बंद है

बिटिया से परिवार से मिलते राहुल और प्रियंका बिटिया से परिवार से मिलते राहुल और प्रियंका

हाथरस: ट्रांसफॉर्मर में फॉल्ट से घरों में दौड़ा करंट, युवक की मौत, दो महिलाएं झुलसीं

हाथरस जिले के सादाबाद क्षेत्र के गांव बिसावर से सटे मथुरा जिले के बल्देव क्षेत्र के गांव सराय दाऊद में शनिवार की सुबह 10 केवीए के ट्रांसफॉर्मर में हुए फॉल्ट की वजह से कई घरों में हाईवोल्टेज करंट दौड़ गया। करंट की चपेट में आकर एक युवक की मौत हो गई, जबकि दो महिलाएं गंभीर रूप से झुलस गईं। 

इनका उपचार मथुरा के अस्पताल में चल रहा है। इधर, गुस्साए ग्रामीणों ने सादाबाद के जैतई रोड स्थित बिजलीघर को घेर लिया और आक्रोश जाहिर किया। मृतक के परिवार में कोहराम मच गया।

गौरतलब है कि मथुरा जिले के गांव सराय दाऊद को बिजली आपूर्ति सादाबाद क्षेत्र के गांव रसमई स्थित 33/11 केवी बिजलीघर से मिलती है। इस गांव की बिजली व्यवस्था भी सादाबाद विद्युत वितरण खंड के अधीन है। बताते हैं कि शनिवार की सुबह गांव सराय दाऊद में लगे ट्रांसफॉर्मर में अचानक फाल्ट हो गया। 

इससे जुड़ी विद्युत लाइन में हाइटेंशन करंट दौड़ गया। इस लाइन से जुड़े कई उपभोक्ताओं के घरों में भी अचानक हाई वोल्टेज करंट पहुंचने से बिजली के उपकरण धमाके के साथ फुंक गए। उपभोक्ताओं को इससे हजारों रुपये का नुकसान हुआ। वहीं इस हादसे में गांव सराय दाऊद निवासी सब्जी विक्रेता छीतर सिंह के 20 वर्षीय बेटे कन्हैयालाल की मौत हो गई, जबकि दो अन्य महिलाएं फूलमाला देवी और गौरा देवी गंभीर रूप से झुलस गईं। 

झुलसी महिलाओं को उपचार के लिए मथुरा के एक अस्पताल में ले जाया गया, जहां उनका उपचार चल रहा है। इधर, हादसे के बाद गुस्साए ग्रामीण सादाबाद के जैतई रोड स्थित बिजलीघर पर पहुंच गए। यहां ग्रामीणों ने आक्रोश जाहिर किया। मौके पर मौजूद मिले एसडीओ सुमित गोयल से ग्रामीणों ने बातचीत की। 

ग्रामीणों ने बताया कि गांव में बिजली की लाइनों के तार और खंभे जर्जर हैं, लेकिन कोई सुनने वाला नहीं है। ग्रामीणों ने मृतक के परिवार को मुआवजा दिए जाने की मांग की। इधर, एसडीओ ग्रामीण सुमित गोयल ने बताया कि गिलहरी के ट्रांसफॉर्मर पर चढ़ जाने की वजह से ट्रांसफॉर्मर में फॉल्ट हुआ था, जिससे यह हादसा हो गया। 

उन्होंने ग्रामीणों को आश्वस्त किया कि वह पीड़ित परिवार के साथ हैं। पूरे मामले की जांच कराकर नियमानुसार मृतक के परिजनों को मुआवजा दिलाया जाएगा।
... और पढ़ें

हाथरस: राहुल गांधी द्वारा दिया गया चेक अभी तक बंद है लिफाफे में, उसे नहीं खोला बिटिया के परिजनों ने

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हाथरस
बिटिया के परिजनों का कहना है कि राहुल गांधी ने उन्हें आर्थिक मदद के रूप में जो चेक दिया था, वह अभी भी एक लिफाफे में बंद है और उस लिफाफे को खोला नहीं है। बिटिया के परिजन यह भी चाहते हैं कि महीने दो महीने के अंदर सीबीआई अपनी जांच पूरी ले और उन्हें इस मामले में न्याय मिले। परिजनों का यह भी कहना है कि दुख की इस घड़ी में जो हमारा साथ दे रहे हैं, हम उनका कभी अहसान नहीं चुका सकते।
उल्लेखनीय है कि चंदपा क्षेत्र के एक गांव में एक बिटिया के साथ हुई घटना के बाद काफी राजनेता बिटिया के पर आए थे और उन्हें सांत्वना दी थी। कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी भी बिटिया के परिजनों से मिले और उन्हें सांत्वना देकर गए थे। इस दौरान राहुल गांधी ने आर्थिक मदद के रूप में चेक भी दिया था। अब इस सिलसिले में बिटिया के पिता ने बताया है कि इस लिफाफे में चेक होने की उन्हें जानकारी है, लेकिन अभी तक उन्होंने इस चेक को लिफाफे से नहीं निकाला है।
बिटिया के पिता का कहना है कि उन्हें यह जानकारी नहीं है कि यह कितनी धनराशि का चेक है। उन्होंने बताया कि वह नया खाता खोलकर ही इस चेक को बैंक में लगाने की सोच रहे हैं। बिटिया के परिजन यह भी कह रहे हैं सीबीआई अपनी जांच महीने-दो महीने के अंदर पूरी कर ले। उन्हें न्याय मिलना चाहिए। बिटिया के परिजन यह भी बोले कि दुख की इस घड़ी में जो लोग उनका साथ दे रहे हैं, उनका कर्ज वह कभी नहीं उतार सकते।
बिटिया के गांव, घर में तैनात है पुलिस बल
हाथरस। बिटिया के गांव में फिर काफी पुलिस बल तैनात रहा। यही स्थिति गांव को जाने वाले रास्ते की रही। गांव की दिनचर्या सामान्य होती जा रही है। वहीं बिटिया के परिजन अभी गांव से बाहर नहीं निकल रहे। बिटिया के पिता का कहना है कि उनकी एक रिश्तेदार की हाल में ही मौत हो गई, लेकिन परिवार का कोई सदस्य यहां से नहीं जा पाया। अब अपने ही मामले में उलझे हुए हैं।
... और पढ़ें

हाथरस: जातीय दंगे फैलाने की साजिश में एसटीएफ की जांच-पड़ताल जारी

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हाथरस
जातीय दंगे फैलाने की साजिश के मामले में एसटीएफ की जांच-पड़ताल जारी है। माना जा रहा है कि अपनी जांच का दायरा बढ़ाकर इससे संबंधित कुछ और मुकदमों की विवेचना भी एसटीएफ कर सकती है। अभी एसटीएफ इस जिले के दो मुकदमों की ही विवेचना कर रही है। एसटीएफ वीडियो फुटेज आदि के माध्यम से भी कुछ लोगों को चिन्हित कर रही है। सूत्रों की मानें तो इनमें कई संगठनों के लोग भी शामिल हैं।
बिटिया के प्रकरण की आड़ में जातीय हिंसा फैलाने की साजिश रचने का मुकदमा चंदपा थाने में दर्ज कराया गया था। यह मुकदमा राष्ट्रद्रोह जैसी संगीन धाराओं में दर्ज है। इसके अलावा थाना चंदपा में ही कांग्रेस नेता श्यौराज जीवन के खिलाफ भड़काऊ बयानबाजी करने का भी मुकदमा दर्ज है। इस समय दोनों मुकदमों की विवेचना शासन के आदेश पर अब एसटीएफ कर रही है। प्रदेश के कई जिलों में इसे मामले में मुकदमे दर्ज हैं। बिटिया की मौत के बाद जिले में कई स्थानों पर उपद्रव व हंगामे हुए।
ऐसे में पुलिस ने दर्जन भर से ज्यादा मुकदमे दर्ज किए। इसमें भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर आजाद,, भाजपा नेता पूर्व विधायक राजवीर सिंह पहलवान, कांग्रेस के जिलाध्यक्ष चंद्रगुप्त विक्रमादित्य, सवर्ण परिषद के राष्ट्रीय प्रचारक पंकज धवरैय्या सहित कई नेताओं के खिलाफ अलग-अलग मुकदमे दर्ज हुए। सूत्रों की मानें तो हो सकता है कि एसटीएफ अपनी जांच का दायरा बढ़ाकर इन मुकदमों की भी विवेचना शुरू कर दे। वहीं सूत्रों का कहना है कि एसटीएफ इस मामले में कुछ और लोगों को चिन्हित कर रही है। इसमें भीम आर्मी सहित कई संगठनों के लोग भी शामिल हैं। इसके लिए वीडियो फुटेज आदि लिए जा रहे हैं। राष्ट्रद्रोह के चारों आरोपी, जोकि मथुरा जेल में बंद है, उनसे भी एसटीएफ यहां के मुकदमे के सिलसिले में मथुरा जेल में जाकर पूछताछ कर सकती है।
... और पढ़ें

हाथरस: बिटिया प्रकरण

हाथरस: बिटिया के मामले में सीबीआई की छानबीन जारी

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हाथरस
सीबीआई की टीम शनिवार को बिटिया के गांव नहीं पहुंची, लेकिन गांव और क्षेत्र के कई लोगों को सीबीआई ने अपने शिविर कार्यालय पर पूछताछ के लिए बुलवाया। वहीं इस सिलसिले में सीबीआई की छानबीन जारी है।
बिटिया के प्रकरण में शनिवार को सीबीआई की टीम गांव नहीं गई। हालांकि इससे पहले कई बार सीबीआई की टीम बिटिया के गांव और घटनास्थल पर जा चुकी है। टीम कई बार रिकॉर्ड भी खंगाल चुकी है। अब टीम ने शनिवार को अपने शिविर कार्यालय पर कई लोगों को बुलाकर पूछताछ की। टीम ने गांव के उस व्यक्ति को भी बुलाया, जिसका खेत आरोपी संदीप के खेत के निकट है।
इसके अलावा टीम ने गांव एक और व्यक्ति से भी पूछताछ की। चंदपा के भी दो लोगों से टीम ने पूछताछ की। इन लोगों को पुलिस ने सुबह ही थाना चंदपा बुला लिया था और टीम के शिविर कार्यालय पर जाने के लिए कह दिया था।
... और पढ़ें

साढ़े तीन किलो गांजा सहित युवक गिरफ्तार

संवाद न्यूज एजेंसी, हसायन।
कोतवाली पुलिस ने शुक्रवार की शाम एक युवक को साढ़े तीन किलो गांजा के साथ गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने युवक के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट में मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया।
कोतवाली प्रभारी मृदुल कुमार सिंह ने बताया कि वे शुक्रवार को वाहनों की चेकिंग कर रहे थे। इसी दौरान सूचना मिली कि एक युवक सिकतरा मार्ग की तरफ से गांजा लेकर हसायन की तरफ आ रहा है। मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने गोपालपुर तिराहे से सिकतरा गांव की ओर जाने वाले मार्ग पर युवक को गिरफ्तार कर लिया। तलाशी के दौरान युवक के कब्जे से तीन किलो 600 ग्राम गांजा बरामद हुआ है। पूछताछ में युवक ने अपना नाम सुजीत कुमार पुत्र यज्ञ दत्त शर्मा निवासी मोहल्ला किला खेड़ा हसायन बताया। मेडिकल परीक्षण के बाद युवक को जेल भेज दिया गया।
... और पढ़ें

हाथरस: एसआईटी के सदस्य डीआईजी की पत्नी के आत्महत्या करने पर सभी हतप्रभ

बिटिया के मामले में जांच कर रही एसआईटी में शामिल डीआईजी चंद्रप्रकाश की पत्नी द्वारा आत्महत्या की खबर जैसे ही स्थानीय अधिकारियों ने सुनी तो वह अचंभित रह गए। पिछले दिनों टीम जब छानबीन कर रही थी तो चंद्रप्रकाश यहां करीब ढाई सप्ताह तक रुके थे। चंद्रप्रकाश 2007-08 में बतौर पुलिस अधीक्षक तैनात रह चुके हैं।

उल्लेखनीय है कि योगी सरकार ने बिटिया के प्रकरण में सबसे पहले एसआईटी की जांच की बैठाई थी। तीन सदस्यीय इस टीम में गृह सचिव भगवान स्वरूप, डीआईजी चंद्रप्रकाश और एक आईपीएस अधिकारी पूनम शामिल हैं। यह टीम अपनी जांच कर यहां से करीब सप्ताह भर पहले जा चुकी है।

इस टीम की पहली रिपोर्ट पर ही यहां तत्कालीन एसपी, सीओ सिटी सहित छह पुलिसकर्मी निलंबित हुए थे। अब शनिवार को जैसे ही स्थानीय अधिकारियों को यह जानकारी मिली कि इस टीम में शामिल डीआईजी चंद्रप्रकाश की पत्नी ने लखनऊ में आत्महत्या कर ली है तो वह हतप्रभ रह गए। कुछ अधिकारी भी शोकाकुल दिखे।
... और पढ़ें

किसानों की समस्याओं को लेकर 29 को करेंगे धरना-प्रदर्शन

संवाद न्यूज एजेंसी, सिकंदराराऊ।
पूर्व एमएलसी डॉ. राकेश सिंह राना ने कहा है कि धान कम कीमत पर बिकने से किसान खून के आंसू रोने को मजबूर हैं। कुछ वर्ष पूर्व तीन हजार रुपये क्विंटल से ज्यादा दामों पर बिके धान के भाव वर्तमान में महज दो हजार रुपये प्रति क्विंटल ही रह गए हैं। किसान विरोधी तीन कानून अलग से आ गए हैं। इन मुद्दों को लेकर 29 अक्तूबर को तहसील परिसर में धरना-प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री के नाम संबोधित ज्ञापन सौंपा जाएगा।
जीटी रोड स्थित हुमैरा गेस्ट हाउस पर पत्रकारों से बातचीत में राना ने कहा कि 2018 में उन्नत किस्म का धान 3,300 रुपये क्विंटल के भाव में बिका था। उसके बाद 2019 में 2,200 रुपये प्रति क्विंटल के भाव में धान बिका, लेकिन वर्तमान में बमुश्किल किसान को दो हजार रुपये क्विंटल के दाम मिल पा रहे हैं। सरकारी धान खरीद केंद्र दिखावा साबित हो रहे हैं। किसान वहां धान बेचने जा रहे हैं, लेकिन कई आपत्तियां लगाकर किसान का धान नहीं खरीदा जा रहा।
मजबूरी में किसान को औने-पौने दाम पर धान बेचना पड़ रहा है। इसी प्रकार सरकार ने किसान हित में बताकर तीन कानून पास किए हैं। राना ने कहा कि ज्यादातर किसान छोटी जोत वाले हैं। वह अपना माल बाहर बेचने जा ही नहीं सकते, क्योंकि उनकी उपज कम है। आवश्यक वस्तु अधिनियम हटाने से जमाखोरी और कालाबाजारी को बढ़ावा मिलेगा। इन सबके विरोध में 29 अक्तूबर को तहसील पर धरने के बाद एसडीएम को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन दिया जाएगा। इस मौके पर अजय पुंढीर, जहीर अख्तर कुरैशी, राजा कुरैशी, अतुल चौहान, विजय मेदवार, प्रशांत पुंढीर, मुन्ना मेंबर, जावेद, हाजी अब्दुल, अमित ठेकेदार, वीरपाल सिंह प्रधान, धर्मेंद्र सिंह, आकिब कुरैशी, सोनू यादव, रिंकू यादव, काका राणा आदि मौजूद थे।
... और पढ़ें

हाथरस: इस बार नहीं फुंकेगा रावण का पुतला, प्रशासन ने नहीं दी अनुमति

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हाथरस
शहर में इस बार 130 साल पुरानी रावण दहन की परंपरा टूट जाएगी। कोरोना के चलते इस बार रावण के पुतले का दहन नहीं होगा। रामलीला आयोजन समिति ने इसके लिए पूरी तैयारी कर ली थी, लेकिन जानकारी मिलने पर एसडीएम सदर पॉलिटेक्निक के मैदान पर पहुंच गए। वहां उन्होंने स्पष्ट रूप से मना कर दिया कि इस बार पुतला नहीं फुंकेगा। इसकी अनुमति नहीं है। ऐसे में पुलिस ने गिजरौली बिजलीघर पर पहुंचकर पुतला बना रहे कारीगरों से अधबने पुतले को अपने कब्जे में ले लिया।
कोरोना के चलते इस बार प्रशासन ने रामलीला के आयोजन की अनुमति नहीं दी थी। जैसे-तैसे अनुमति मिली तो रामलीला मंचन के साथ आयोजकों ने हर साल की तरह इस बार भी पॉलीटेक्निक के मैदान पर रावण के पुतले के दहन की तैयारी कर ली। इसके लिए पुतला बनवाना भी शुरू कर दिया। विजयादशमी के दिन रविवार को इसका दहन होना था। इसकी जानकारी शनिवार को जब एसडीएम सदर प्रेमप्रकाश मीणा को हुई तो वह वह पॉलिटेक्निक के मैदान पहुंच गए।
हालांकि वहां से प्रशासन ने जलभराव दूर कराया था। एसडीएम सदर ने वहां स्पष्ट रूप से कह दिया कि रावण के पुतले का दहन और मेले का आयोजन नहीं होगा। इसकी अनुमति नहीं दी गई है। इसके बाद कोतवाली सदर के प्रभारी निरीक्षक जगदीशचंद्र ने मय पुलिस बल के अधबने पुतले को अपने कब्जे में ले लिया और पुलिस इसे वहां से ले आई। वहीं आयोजकों का कहना है कि हर साल यह मेला लगता है और रावण का पुतला फुंकता है, लेकिन प्रशासन ने इसकी अनुमति इस बार नहीं दी है।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X