विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus in UP Live Updates: 27 लाख मनरेगा मजदूरों के खाते में भेजे गए 611 करोड़ रुपये

शासन और प्रशासन संक्रमण के चेन को तोड़ने के लिए लगातार कोशिश कर रहा है। लोगों से भी हर वक्त घरों में रहने की अपील की जा रही है।

30 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

हाथरस

सोमवार, 30 मार्च 2020

हाथरस: अब तक अन्य प्रदेशों व जिलों से आएं हैं जिले में 2656 लोग

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हाथरस
कोरोना को लेकर अन्य प्रदेशों व अन्य शहरों से यहां आने वाले लोगों का रिकॉर्ड एकत्रित किया जा रहा है। इस बारे में ग्राम प्रधान आदि की मदद की जा रही है। इस जिले में भी हजारों की तादाद में बाहर से लोग आए हैं।
अब इसे लेकर रिकॉर्ड तैयार किया गया है। अब तक जिले में 2656 लोग गैर प्रदेश और जिलों से आए हैं। डीपीआरओ बनवारी सिंह ने बताया कि ग्राम पंचायत सचिवों, ग्राम प्रधानों के माध्यम से दूरदराज क्षेत्रों से आने वाले लोगों का रिकॉर्ड तैयार किया जा रहा है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार अब तक ग्रामीण क्षेत्रों में 2,656 लोग अन्य प्रदेशों व जिलों से आए हैं।
इन लोगों की नामवार सूची पंचायतराज विभाग द्वारा स्वास्थ्य विभाग को दे दी गई है, जिससे इन लोगों का स्वास्थ्य चेकअप रखा जा सके और निगरानी रखी जा सके। डीपीआरओ बनवारी सिंह ने बताया कि गांवों में बाहर से आने वाले लोगों की निगरानी के लिए सभी ग्राम प्रधानों को निर्देश जारी किए जा चुके हैं।
... और पढ़ें

हाथरस: मनरेगा जॉब कार्डधारकों, श्रम विभाग व नगर क्षेत्र में सक्रिय पंजीकृत मजदूरों को मिलेगा निशुल्क अनाज

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हाथरस
कोरोना वायरस के प्रकोप के मद्देनजर अप्रैल माह में एक अप्रैल से राशन विक्रेताओं द्वारा खाद्यान्न का वितरण किया जाएगा। डीएसओ ने सभी राशन विक्रेताओं को सैनिटाइजर, हाथ धोने के लिए साबुन आदि की व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि जिले के अंत्योदय योजना के कार्डधारकों और पात्र गृहस्थी योजना के अंतर्गत सभी मनरेगा जॉब कार्डधारक, श्रम विभाग में सक्रिय पंजीकृत निर्माण श्रमिक एवं नगर क्षेत्र में सक्रिय पंजीकृत दिहाड़ी मजदूरों को ही निशुल्क राशन उपलब्ध होगा।
उन्होंने बताया कि ग्रामीण क्षेत्र में अंत्योदय राशनकार्ड धारकों को 20 किग्रा गेहूं, 15 किग्रा चावल निशुल्क उपलब्ध कराया जाएगा। पात्र गृहस्थी योजना के ऐसे राशनकार्डधारकों को जिनके पास सक्रिय मनरेगा जॉब कार्ड या श्रम विभाग में पंजीकृत हैं, उनको प्रति यूनिट तीन किग्रा गेहूं और दो किग्रा चावल का निशुल्क वितरण किया जाएगा। खाद्यान्न लेने के समय श्रम विभाग का रजिस्ट्रेशन नंबर व मनरेगा जॉब कार्ड लाना अनिवार्य होगा।
उन्होंने बताया कि नगरीय क्षेत्र में अंत्योदय राशनकार्ड धारकों को 20 किग्रा गेहूं व 15 किग्रा चावल, पात्र गृहस्थी योजना के ऐसे राशनकार्डधारकों को जो नगर निकायों में दिहाड़ी मजदूर या श्रम विभाग में श्रमिक के रूप में सक्रिय हैं, उनको प्रति यूनिट तीन किग्रा गेहूं और दो किग्रा चावल निशुल्क खाद्यान्न का वितरण किया जाएगा। खाद्यान्न लेने के समय नगर निकाय का दिहाड़ी मजदूर के रूप में रजिस्ट्रेशन एवं श्रम विभाग का रजिस्ट्रेशन नंबर लाना होगा।
उन्होंने बताया कि पात्र गृहस्थी योजना के राशनकार्ड धारकों, जिनके पास मनरेगा जॉब कार्ड, श्रम विभाग में सक्रिय पंजीयन कार्ड तथा नगरीय निकायों में सक्रिय दिहाड़ी मजदूर पंजीयन कार्ड नहीं है, उनको पूर्व की भांति ही खाद्यान्न का वितरण होगा। राशन दुकानों पर दुकानवार नोडल अधिकारी की ड्यूटी लगाई गई है। राशन वितरण के समय सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराया जाएं।
... और पढ़ें

हाथ्ररस: नोएडा में फंसे यात्रियों को लेने के लिए गईं दो दर्जन से अधिक बसें

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हाथरस
नोएडा में फंसे यात्रियों को लेने के लिए शनिवार को हाथरस डिपो ने दो दर्जन से अधिक बसों को रवाना किया। पुलिस की मौजूदगी में बसस्टैंड से लाल कुंआ तक भेजी जा रही बसें।
उल्लेखनीय है कि नोएडा सिटी सेंटर इन दिनों बड़े पैमाने पर यात्री फंसा हुआ है। काफी संख्या में यात्रियों को वाहन नहीं मिल रहे हैं तो वह पैदल ही गंतव्य की दूरी तय कर रहे हैं। शनिवार को हाथरस डिपो द्वारा करीब 40 बसों को रवाना किया गया।
ये बसें लाल कुंआ से लाकर आगरा, अलीगढ़, मथुरा आदि जिलों में बस स्टैंड पर यात्रियों को छोड़ रही है। इस मामले में कार्यवाहक स्टेशन प्रभारी वीरी सिंह का कहना है कि जो लोग हाथरस, अलीगढ़, आगरा मथुरा के नोएडा में फंसे हुए हैं। उनके निगम के अफसरों के निर्देश पर बसों का संचालन किया गया है।
... और पढ़ें

हाथरस: कोरोना पाजिटिव की फैलाई अफवाह, अब होगा मुकदमा

व्हाट्सएप के माध्यम से रविवार को शहर में एक महिला के कोरोना पॉजिटिव होने की अफवाह फैलाई गई। इससे स्वास्थ्य विभाग से लेकर प्रशासन तक में हड़कंप मच गया। जांच-पड़ताल की गई तो सच्चाई सामने आई। नोडल अधिकारी ने कोतवाली हाथरस गेट में दो लोगों के खिलाफ तहरीर दी है। नोडल अधिकारी ने संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज कराने की बात कही है।

ऑल मेडिकल स्टाफ हाथरस और हाथरस प्लांटेशन नाम के दो व्हाट्सएप ग्रुप हैं। रविवार को इन दोनों ग्रुपों में दो अलग-अलग व्यक्तियों ने एक मैसेज डाला। इस संदेश में लिखा था कि हाथरस में कोरोना का पहला केस सामने आया है।

कोरोना से पीड़ित महिला गोशाला क्षेत्र की है। इससे स्वास्थ्य विभाग से प्रशासनिक अधिकारियों में हड़कंप मच गया। व्हाट्सएप संदेश की जांच-पड़ताल की गई तो पता चला कि मैसेज में जिस महिला को कोरोना पीड़ित बताया है, वह दिल्ली से पिछले दिनों अपने घर आई है।

इसके चलते उसे स्वास्थ्य विभाग द्वारा होम क्वारंटीन किया गया। इसी को ऑल इंडिया मेडिकल स्टाफ हाथरस वाले ग्रुप में नवीन नाम के व्यक्ति ने उक्त महिला को कोरोना मरीज बता दिया। इसी प्रकार का मैसेज हाथरस प्लांटेशन ग्रुप में विपिन भारद्वाज ने किया है।

नोडल अधिकारी एसीएमओ डॉ. डीके अग्रवाल ने नवीन व विपिन भारद्वाज के खिलाफ सोशल मीडिया से भ्रामक खबरें फैलाने के लिए कोतवाली हाथरस गेट में तहरीर दी है, जिसमें महामारी अधिनियम 1897 (अधिनियम संख्या-3 सन् 1897) की धारा 2 महामारी कोविड-19 विनियमावली 2020 एवं संबंधित धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज करने की बात कही है।
... और पढ़ें
demo pic demo pic

हाथरस: बाबू जी... मेरे पति दिव्यांग हैं, खाना भिजवा दीजिए....

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हाथरस
कलेक्ट्रेट के कंट्रोल रूम में फोन की घंटी बजी। फोन उठते ही उधर से एक महिला कहने लगी बाबू जी मेरे पति दिव्यांग हैं, घर में खाने के लिए कोई सामान नहीं है। खाने के लिए कुछ भी भिजवा दें। महिला के आवाज में दर्द था। उसकी आवाज सुनकर कंट्रोल रूम में तैनात कर्मियों ने तत्काल उस महिला को मदद पहुंचाई।
ओढ़पुरा से आई इस कॉल के बाद तत्काल कंट्रोल रूम में तैनात कर्मी हरकत में आ गए है। महिला का पता पूर्ति विभाग को दिया गया। पूर्ति विभाग ने तत्काल उक्त पते पर खाने के लिए सामान भिजवाया।
विभाग के कर्मी महिला के घर राशन का सामान लेकर पहुंचे और कहा कि अगर कोई मदद चाहिए तो इसी नंबर पर फिर कॉल कर दीजिएगा। मदद पहुंचने के बाद कंट्रोल रूम से फिर उसी नंबर पर कॉल कर यह कंफर्म किया गया कि मदद सही जगह पहुंची है या नहीं। वहीं, उक्त महिला की मदद के बाद से कंट्रोल रूम में और भी कॉल आने लगी है।
... और पढ़ें

हाथरस: आईशोलेट किए गए युवक की पांच दिन में हकीकत आएगी सामने

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हाथरस
सादाबाद के एक गांव निवासी को जिला अस्पताल में आईसोलेट किया गया है। पांच दिन की स्क्रीनिंग के बाद उसके खून के नमूने को कोरोना की जांच के लिए स्वास्थ्य विभाग भेजेगा।
उल्लेखनीय है कि सादाबाद के एक गांव निवासी युवक अपनी पत्नी का इलाज कराने के लिए न्यू आगरा थाना क्षेत्र के सार्थक नर्सिंग होम में 26 मार्च को गया था, जहां उसने उस डॉक्टर से मुलाकात की, जो अपने कोरोना वायरस से पीड़ित बेटे का इलाज अपने ही अस्पताल में कर रहा था। इसी के चलते युवक को शनिवार की देरशाम को जिला अस्पताल की आईसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया है।
डॉक्टरों की टीम उसकी पल-पल की जांच कर रही है। हालांकि उसमें अभी तक कोरोना वायरस से संबंधित कोई भी सिमटम नजर नहीं आए हैं, अहतियात के तौर पर उसे यहां पर भर्ती किया गया है। सीएमओ डॉ. बृजेश राठौर ने बताया कि युवक में कोरोना से संबंधित कोई लक्षण नहीं है। एहतियात के लिए उसे वार्ड में भर्ती किया गया है। पांच दिन पूरे होने पर उसके खून के नमूने को जांच के लिए भेजा जाएगा।
... और पढ़ें

हाथरस: 3400 लोगों को किया गया होम क्वारंटीन

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हाथरस
दूसरे राज्यों व शहरों से लोगों को हाथरस में आना जारी है, जिन्हें लेकर स्वास्थ्य विभाग ने भी कमर कस ली है। इसके तहत 3,400 से अधिक लोगों को होम क्वारंटीन किया जा चुका है। इसे लेकर तरह-तरह की अफवाहें भी फैलती रहीं। लोग इन अफवाहों से खासे परेशान रहे। अभी तक जिले में कोरोना का कोई भी पॉजिटिव केस नहीं मिला है।
लॉकडाउन के बाद से ही दूसरे राज्यों और शहरों के लोग अपने-अपने घरों के लिए चल दिए हैं, फिर चाहे उन्हें वाहन मिले नहीं मिले, पैदल ही अपने ठिकाने की ओर चल पड़े हैं। इन लोगों के आने से पड़ोस व गांव के लोग परेशानी में आ गए हैं। तभी तो ऐसे लोगों की सूचना लगातार कंट्रोल रूम को दी जा रही है। तभी तो ऐसे लोगों को स्वास्थ्य विभाग द्वारा होम क्वारंटीन किया जा रहा है।
गोशाला पर एक महिला व उसके परिजनों को भी इसी के तहत होम क्वारंटीन किया। इसे लेकर कुछ लोगों ने उसे कोरोना होने की अफवाह फैला दी, जिसे लेकर अब जिला प्रशासन द्वारा अफवाह फैलाने वाले के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। सीएमओ डॉ. बृजेश राठौर ने बताया कि अभी तक जनपद में एक भी कोरोना वायरस से संक्रमित रोगी नहीं मिला है। जो लोग अफवाह फैला रहे हैं, उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
स्वास्थ्य विभाग की टीमोें की भागदौड़ जारी
हाथरस। तरह-तरह की सूचनाओं पर स्वास्थ्य विभाग की टीमें लगातार भागदौड़ भी कर रही हैं। टीमों ने फिर की सूचनाओं पर भागदौड़ की और काफी लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण भी किया, लेकिन अभी तक इनमें से किसी को कोरोना के संदिग्ध रोगी होने के लक्षण नहीं मिले।
... और पढ़ें

हाथरस: अब फंसे हुए यात्रियों के लिए चलाई गई रोडवेज बसें, मुफ्त यात्रा करेंगे ऐसे लोग

हाथरस: रोडवेज बस स्टैंड पर दिल्ली से आए लोगों की जांच करती स्वास्थ्य विभाग की टीम।
न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हाथरस
कोरोना की दहशत में बीच रास्तों में फंसे लोगों के लिए राहत की खबर है। अब उन्हें रोडवेज बसों से मुफ्त में नियत स्थान तक पहुंचया जाएगा। निगम के अफसरों को मुफ्त यात्रा कराने का आदेश जारी हुआ है, जिसकी शुरुआत रविवार रात 12 बजे से होगी। हाथरस डिपो के अधिकारी यात्रियों की उपलब्धता के आधार पर बसों का संचालन की कवायद में जुटे हैं।
हाथरस जिले के काफी यात्री बाहर फंसे हुए हैं। वाहनों के अभाव में वह अपने घरों तक नहीं आ पा रहे हैं। अब वह जल्दी अपने घर पहुंचेंगे, क्योंकि परिवहन निगम द्वारा इन यात्रियों को घरों तक पहुंचाने के लिए मुफ्त में यात्रा कराई जाएगी। यात्रा के दौरान इनका नाम, पता और मोबाइल नंबर आदि प्रारूप में अंकित किया जाएगा।
इस प्रारूप के आधार पर प्रदेश सरकार रोडवेज को भुगतान करेगा। इस मामले में हाथरस डिपो की एआरएम शशी रानी का कहना है कि बाहर फंसे यात्रियों को मुफ्त यात्रा कराने का आदेश हुआ है। यात्रियों की उपलब्धता के आधार पर बसों का संचालन किया जाएगा।
... और पढ़ें

हाथरस: दूरदराज क्षेत्रों से आने वाले लोगों का अब नहीं होगा गांव में प्रवेश

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हाथरस
लॉकडाउन के बाद अपने गांवों व शहरों की ओर से तेजी से शुरू हुए पलायन ने जिला प्रशासन के साथ स्वास्थ्य विभाग और स्थानीय प्रशासन के भी हाथ पांव फुला दिए हैं। 30 मार्च से जितने भी लोग बाहर शहरों से अपने गांव आएंगे, वह सभी गांव से बाहर की रोके जाएंगे और वहां उन्हें क्वारंटीन में रखा जाएगा।
सीडीओ आरबी भास्कर ने यह निर्देश सभी ग्राम प्रधानों व पंचायत सचिवों को जारी कर दिए हैं। उन्होंने कहा हैं कि सभी को गांव से बाहर क्वारंटीन किया जाए और किसी भी ग्रामवासी को इन व्यक्तियों से नहीं मिलने दिया जाए। उनके खाने-पीने की व्यवस्था गांव के बाहर ही की जाए। हाथ धोने तथा सैनिटाइजर की व्यवस्था गांव से बाहर ही की जाए।
व्यक्तियों में कोरोना संक्रमण के लक्षण पाए जाएं पाए जाने पर कंट्रोल रूम नंबर 05722 227076 पर तत्काल सूचित किया जाए। उन्होंने निर्देश दिए हैं कि इन व्यक्तियों के रहने की व्यवस्था गांव से बाहर पंचायत भवन, विद्यालय आदि में की जाए तथा उनके खाने-पीने की व्यवस्था उनके घर से कराई जाए।
... और पढ़ें

हाथरस: 53 बसों से साढ़े चार हजार यात्री पहुंचे घर

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हाथरस
लॉकडाउन के बीच हाथरस डिपो की 53 बसों ने करीब साढ़े चार हजार यात्रियों को घरों तक पहुंचाया है। डिपो की बसों ने लाल कुआं से कासगंज, एटा, आगरा, मथुरा आदि जिलों के बसस्टैंड पर यात्रियों को उतारा है। लाल कुआं में फंसे यात्रियों को लाने का सिलसिला जारी है। हालांकि हाथरस डिपो के बस स्टैंड और रेलवे स्टेशन पर सन्नाटा पसरा हुआ है।
लॉकडाउन के बीच फंसे यात्रियों की मदद के लिए परिवहन निगम द्वारा लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। निगम के निर्देश पर डिपो द्वारा 27 मार्च को दस बसें का संचालन किया। इस दौरान नौ सौ यात्रियों को घर पहुंचाया गया। 28 मार्च को 43 बसों का संचालन किया गया। इस दौरान साढ़े तीन हजार यात्रियों को घर पहुंचाया गया। वहीं सात बसें और चलाई गई। कुल मिलाकर डिपो ने करीब साढ़े चार हजार यात्रियों को घरों तक पहुंचाया है।
निगम के अफसरों द्वारा बसों के संचालन और यात्रियों के आंकड़ों की पल पल की जानकारी मांगी जा रही है। वहीं डिपो के बसस्टैंड पर सामाजिक दूरी के लिए जगह जगह गोले भी बनाए गए हैं, लेकिन वहां एक भी यात्री नहीं है। यही हाल हाथरस सिटी रेलवे स्टेशन का है। इस मामले में हाथरस डिपो एआरएम शशी रानी का कहना है कि लाल कुआं से यात्रियों को अन्य जिलों में छोड़ा जा रहा है। बसों का संचालन जारी है।
... और पढ़ें

हाथरस: अब उपभोक्ताओं के यहां रीडिंग लेने नहीं जाएगा मीटर रीडर

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हाथरस
कोरोना के बढ़ते असर को देखते हुए बिजली उपभोक्ताओं का बिल बीते तीन माह की खपत के आधार पर बिल बनाया जाएगा। इस माह मीटर आपके घर बिलिंग करने के लिए नहीं जाएगा। बिल विभाग की बेबसाइट पर उपलब्ध होंगे। साथ ही ये बिल उपभोक्ता के पंजीकृत मोबाइल फोन पर एसएमएस और ईमेल पर भी भेज जाएंगे, ताकि उपभोक्ता घर बैठे ऑनलाइन भुगतान कर सकें।
जिले के 64 बिजलीघरों के जरिये करीब डेढ़ लाख कनेक्शनों पर बिजली आपूर्ति दी जाती है। उपभोक्ताओं को बिल पहुंचाने के लिए दो कार्यदायी संस्था महकमे में कार्यरत हैं। इनके मीटर रीडर घर जाकर उपभोक्ताओं को बिल उपलब्ध कराते हैं, लेकिन लॉकडाउन के चलते अप्रैल माह का बिल देने के लिए मीटर रीडर नहीं जाएगा। विभाग द्वारा पिछले तीन माह के औसत बिल के आधार पर बिल बनाया जाएगा, जिसको उपभोक्ताओं तक मेल आइडी, मोबाइल पर एसएमएस के जरिये भेजा जाएगा।
मई माह में बिलिंग होने की उम्मीद है। साथ ही निगम के अफसरों ने कहा कि उपभोक्ताओं को ऑनलाइन बिलिंग के लिए प्रोत्साहित करने की अपील भी की है। इस मामले में एक्सईएन खानचंद्र का कहना है कि अप्रैल माह का बिल पिछले तीन माह औसत के आधार पर बनाया जाएगा, जिसे उपभोक्ता ऑनलाइन जमा कर सकते हैं। कोरोना को देखते हुए निगम के अफसरों ने निर्णय लिया है।
... और पढ़ें

हाथरस: 22 सेक्टर प्रभारियों के खिलाफ शासन से कार्रवाई की संस्तुति

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हाथरस
कोरोना वायरस के लेकर लॉकडाउन की घोषणा के बाद जिले को 33 सेक्टरों में बांट दिया गया है। सभी क्षेत्रों में सेक्टर प्रभारियों को तैनात किया गया है, जिससे सेक्टर प्रभारी अपने क्षेत्रों में शांति और कानून व्यवस्था को बनाए रखेंगे। तैनाती स्थलों पर नहीं पहुंचने और जिला मुख्यालय से लापता रहने के मामले में 22 सेक्टर प्रभारियों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। डीएम ने सभी सेक्टर प्रभारियों के खिलाफ कार्रवाई की शासन को संस्तुति की है।
जिला प्रशासन की ओर से 33 सेक्टरों में 66 सेक्टर प्रभारियों को तैनात किया गया है, ताकि क्षेत्र में शांति और कानून व्यवस्था की निगरानी की जा सके। जिला प्रशासन के निर्देशों के बाद 22 सेक्टर प्रभारी अपने अपने क्षेत्रों से गैरहाजिर मिले। यहां तक कि कुछ सेक्टर प्रभारी तो जिला मुख्यालय से बाहर मिले। पिछले दिनों एडीएम ने सभी गैरहाजिर सेक्टर प्रभारियों के खिलाफ कार्रवाई की है।
एडीएम ने सभी गैरहाजिर सेक्टर प्रभारियों को कारण बताओ नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण तलब किया है। सभी गैरहाजिर सेक्टर प्रभारियों का मार्च माह का वेतन रोकने के आदेश दिए हैं। अब इस मामले में डीएम प्रवीण कुमार लक्षकार ने सख्त रुख अपना लिया है। डीएम ने सभी गैरहाजिर विभागीय अधिकारियों पर कार्रवाई के लिए शासन से संस्तुति की है।
... और पढ़ें

हाथरस: कोविड-19 के लिए उपकरण खरीदने को स्वास्थ्य विभाग को मिले 35.50 लाख

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हाथरस
कोरोना वायरस से बचाव व जागरूकता को स्वास्थ्य सेवाओं को मजबूत किए जाने का काम किया जा रहा है। इसी के चलते जनप्रतिनिधियों द्वारा जिले में स्वास्थ्य सेवाओं में इजाफा करने को लेकर 35.50 लाख रुपये अपनी अपनी निधि से दिए हैं। डीआरडीए की ओर से इस निधि की धनराशि को स्वास्थ्य विभाग को दे दिया गया है। इस निधि के माध्यम से खरीददारी को लेकर शासन स्तर से भी निर्देश जारी कर दिए गए हैं। निधि से खरीदारी को नए निर्देशों में खरीदारी का दायरा बढ़ाया गया है।
कोरोना वायरस को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग में उपकरण व अन्य सामानों की खरीद के लिए सांसद राजवीर दिलेर ने 10 लाख, सदर विधायक हरीशंकर माहौर ने 11.50 लाख, एमएलसी जसवंत सिंह ने 14 लाख रुपये अपनी निधि से खर्च किए जाने के प्रस्ताव जिला प्रशासन को दिए थे। इस प्रस्ताव पर कार्रवाई करते हुए जिला प्रशासन ने निधि को स्वास्थ्य विभाग को दे दिया है और निर्देश भी जारी कर दिए हैं। वहीं शासन ने जनप्रतिनिधियों की निधियों से खरीददारी को लेकर दायरा बढ़ाया है।
शासन ने निर्देश दिए हैं कि निधि से दूर से किसी व्यक्ति के तापमान को रिकॉर्ड एवं ट्रेक करने के लिए चिकित्सा कर्मी की सुविधा के लिए इन्फारेड थर्मामीटर्स, कोविड-19 के लिए अनुमन्य अन्य चिकित्सा उपकरण, चिकित्साकर्मिर्यों के लिए फेस मास्क, गल्ब्स, सैनिटाइजर, आईसीयू वेन्टिलेटर, आदि की खरीद की जा सकती है। सीडीओ आरबी भास्कर ने बताया कि निधि को स्वास्थ्य विभाग को सामान खरीदने के लिए भेज दिया गया है। स्वास्थ्य विभाग अपनी जरुरत के अनुसार सामान खरीदेगा।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us