विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Corona Virus in UP Live: प्रदेश में 80 संक्रमित, लखनऊ में 9 दिनों से नहीं मिला कोई मरीज

शासन और प्रशासन संक्रमण के चेन को तोड़ने के लिए लगातार कोशिश कर रहा है। लोगों से भी हर वक्त घरों में रहने की अपील की जा रही है।

30 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

जालौन

सोमवार, 30 मार्च 2020

सड़कों पर सन्नाटा, दुकानें होने लगी खाली

उरई/कोटरा/सिरसाकलार। लॉकडाउन के तीसरे दिन शुक्रवार को भी सड़कों पर सन्नाटा रहा। बाजारों में जरूर खाने का सामान दुकानों में कम होने से लोगों में ऊहापोह की स्थिति रही। हालांकि प्रशासन का दावा है कि कहीं पर भी सामग्री कम नहीं होने दी जाएगी।
उरई शहर में डीएम और एसपी ने काफिले के साथ गश्त कर लाकडाउन का पालन कराया। दवा और अन्य आवश्यक चीजों की दुकानें निर्धारित समय पर खुलीं। कोटरा प्रतिनिधि के अनुसार एसडीएम सत्येंद्र सिंह ने कस्बे के मुख्य बाजार का निरीक्षण किया। मंडी में भीड़ देख सब्जी विक्रेताओं को निर्देश दिया कि दुकानों के बाहर लोगों को बेवजह न खड़ा होने दें।
नगर पंचायत अधिशाषी अधिकारी प्रद्युम्न कुमार व थानाध्यक्ष रमेशचंद्र मिश्रा से कहा कि लोगों को घरों से बाहर न निकलने दें। जबकि सिरसाकलार में किराना व्यापारी लला पुरवार, छोटे पुरवार, रामधनी, राम श्याम आदि ने बताया कि दुकानों में खाने का सामान आटा, दाल, चावल आदि कम हो रहा है लेकिन प्रशासन की ओर से किसी तरह के पास का इंतजाम न होने से माल नहीं मंगा पा रहे हैं।
राठ रोड स्थित गल्ला मंडी के पास सड़क पर पसरा सन्नाटा
राठ रोड स्थित गल्ला मंडी के पास सड़क पर पसरा सन्नाटा- फोटो : ORAI
... और पढ़ें

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ पहुंचाएगा, जरूरत मंदों को खाना

उरई। कोरोना वायरस की जंग के दौरान हुए लॉकडाउन में किसी भी गरीब व्यक्ति को खाद्य सामग्रियों को परेशानी का सामना न करना पड़े, इसके लिए अब राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ ने भी मोर्चा खोल दिया है।
राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के जिला प्रचारक दीपक ने बताया कि वैश्विक महामारी के बचाव के लिए हुई लॉकडाउन में दिव्यंाग, निर्धन, वृद्ध, बीमार एवं असहाय वर्ग के भोजन के लिए लंब पैकेट की व्यवस्था संघ से की गई है। उन्होंने बताया कि इसके लिए सभी तहसीलों में नंबरों को जारी किया है, जिस पर फोन करने से जरूरत मंद के पास भोजन पहुंचाया जाएगा। उन्होंने आम जन मानस से अपील की है कि कि जरूरत मंदों लोगों तक लंच पैकिट पहुंचाने के लिए सहयोग करे अगर उनके क्षेत्र में ऐसे लोग दिखाई दें तो तत्काल संघ के कार्यकर्ताओं के नंबरों पर सूचना दें। जिससे उन तक भोजन को पहुंचाया जा सके।
इन नंबरों पर दें सूचना
ब्रह्मानंद (उरई) -9695802245
विपिन (कोंच) -9415365344
विनय (माधौगढ़) -9839684625
भुनेश (कालपी) -7007284386
कृष्ण प्रताप (जालौन) -7007162829
... और पढ़ें

नमाजिए के लिए बंद रहे मस्जिदों के दरवाजे

उरई/जालौन। शुक्रवार को लॉक डाउन के चलते नगर में स्थित किसी भी मस्जिद में जुमे की नमाज अदा नहीं की गई। लोगों ने अपने अपने घरों में नमाज अदा कर कोरोना वायरस के खात्मे की दुआ मांगी। उरई में शहर काजी शकील वेग रहमानी, शाही इमाम फिरोज अली रहमानी,शहर इमाम हाफिज मंजूर बरकाती, धर्मगुरु हाफिज जब्बार ने मस्जिदों में नमाज अदा की और लोगों से घरों में रहकर नमाज अदा करने की अपील की। मस्जिदों में कहीं दो चार लोग दिखाई दिए, कहीं ताले लटके नजर आए।
इस समय कोरोना के कहर से पूरी दुनिया त्रस्त है। सोशल डिस्टेंस बनाए रखने के लिए पूरे देश को 14 अप्रैल तक लॉकडाउन किया गया है। मस्जिदों में भी ताला नजर आने लगा है। शुक्रवार को मुस्लिम समाज के लोग मस्जिदों में जुमे की नमाज अदा करते हैं। लेकिन कोरोना वायरस के संक्रमण से लोगों से घरों में ही नमाज अदा करने की अपील की गई थी। जिसके चलते शुक्रवार को नगर में स्थित मरकज जामा मस्जिद, वाले वाली मस्जिद, तकिया मस्जिद, मदरसा मस्जिद, हुसैनी जामा मस्जिद, इमामबाग मस्जिद, बड़ी ईदगाह, सुब्हानी मस्जिद मस्जिद समेत किसी भी मस्जिद में जुमे की नमाज अदा नहीं की गई। लोगों ने अपने अपने घरों में ही जोहर की नमाज अदा की। इस संबंध में मौलाना सहाबुद्दीन, मौलाना सुल्तान, मौलाना इरफान, कारी उजैर, मौलाना उवैश, मौलाना साकिब ने बताया कि इस समय हुकूमत कोरोना वायरस के संक्रमण से लोगों को बचाने की कवायद में लगी है। देशहित में और लोगों की भलाई के लिए जो भी फैसला लिया जा रहा है। उसका पालन किया जाना चाहिए।
इमामों ने किया पालन, घरों में अदा हुई जुमे की नमाज
कोंच। मस्जिदों के इमामों और मौलवियों ने सरकार के निर्देशों का पालन करते हुए मस्जिदों के दरबाजे नमाजियों के लिए बंद रखे जिसके चलते मस्जिदों से अजान के वक्त ऐलान किया गया कि नमाजी मस्जिदों में न जुटें और घरों में रह कर ही जुमे की नमाज अदा करें। शुक्रवार को नमाज के वक्त मस्जिदों में लोग नहीं गए और जुमे की नमाज घरों में ही पढ़ी गई। मस्जिदों में सिर्फ वहां के धर्म गुरुओं ने ही नमाज पढ़ी।
मुहम्मदाबाद में पीरों वाली मस्जिद नमाज अदा कराते पेश इमाम
मुहम्मदाबाद में पीरों वाली मस्जिद नमाज अदा कराते पेश इमाम- फोटो : ORAI
... और पढ़ें

महिला ने फांसी लगाई, मौत

उरई। मानसिक रुप से बीमार महिला ने घर के कमरे में रस्सी का फंदा बनाकर फांसी लगा ली। परिजनों की सूचना पर पहुंचेे चौकी इंचार्ज दिलीप वर्मा ने शव को फंदे से उतारकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा।
शहर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला राजेंद्र नगर निवासी भानु सिंह राजपूत की 40 वर्षीय पत्नी मीरा राजपूत ने शनिवार देर शाम कमरे में लगे पंखे के हुक से फांसी लगाकर जान दे दी। परिजनों को जब इसकी जानकारी हुई तो घर में कोहराम मच गया। लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को उतारकर जांच पड़ताल की। पड़ताल के बाद पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। परिजनों ने पुलिस को बताया महिला एक साल से मानसिक रुप से बीमार थी। उसका इलाज भी चल रहा था।
... और पढ़ें

दूसरे राज्यों व जिलों से लौटे 2300 लोगों को भिजवाया गया घर

उरई। दिल्ली, नोएडा और गाजियाबाद शहरों में काम करने वाले करीब 2300 लोग जिले में आए। रामपुरा, ऊमरी, शंकरपुर चौकी, माधौगढ़ जैसे क्षेत्रों में भी लोग लौटकर आए। राठ रोड ओवरब्रिज पर भी करीब एक हजार लोग राठ, महोबा, बांदा, चित्रकूट आदि स्थानों के लिए गए। बाहर से आए लोगों की ओवरब्रिज के पास ही स्वास्थ्य विभाग की टीम ने जांच की। कुछ लोग जिला अस्पताल भी जांच कराने पहुंचे। इस दौरान पुलिस बल भी मौजूद रहा। कुछ समाजसेवियों ने बाहर से आने वाले लोगों के लिए लंच पैकेट की इंतजाम किया।
एआरएम केएन चौधरी का कहना है कि सुबह आठ बजे से पांच बजे तक करीब दस रोडवेज की बसों से बाहर से आए लोगों को राठ की ओर रवाना किया गया। जिले की सीमाओं पर भी रोडवेज बसें भेजी जा रही है, उन्हें भी गंतव्य तक पहुंचाया जाएगा। बाहर से आए लोगों की मदद के लिए कुछ लोगों ने अपने ट्रैक्टर और निजी ट्रक भी लगा दिए हैं, ताकि वे अपने घरों तक पहुंच जाए। इतने बड़ी संख्या में बाहरी लोगों के आ जाने से प्रशासन के हाथ पांव फूले रहे। सीओ पुलिस बल लेकर मौके पर डटे रहे। सीएमएस डा. एके सक्सेना का कहना है कि जिला अस्पताल में भी कई बाहर से लौटे लोग जांच कराने पहुंचे, लेकिन उनमें से कोई ऐसा नहीं था, जिसे आइसोलेट किया जा सके। हालांकि सबसे कहा गया है कि वे अपने ही घरों में रहे। बाहर न निकले और लोगों से ज्यादा मुलाकात आदि न करें।
सामाजिक दूरी बनाकर की गई जांच
रामपुरा। सीएचसी रामपुरा में एक सैकड़ा लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग की गई। रामपुरा इंस्पेक्टर आरके सिंह ने दिल्ली, गुजरात से आ रही चार गाड़ियां को रोककर अस्पताल पहुंचाया और सभी की जांच कराई। जांच के बाद ही लोगों को घर जाने दिया गया। प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ अमित सिंह ने बताया कि रविवार को लगभग एक सैकड़ा लोग जांच कराने आए। सभी लोगों की दूर-दूर खड़ा रखकर जांच की गई। हालांकि जांच में कोई संदिग्ध नहीं मिला। इसके अलावा आरआरटी ने जमालपुरा में 77, चंदावली में 20, हुसेपुरा जागीर में 9, राठौरनपुरा में 13, किशनपुरा में 8, नरौल में 24 लोगों की स्क्रीनिंग की।
बाहरी लोगों को विद्यालय में रुकवाया
माधौगढ़। मजदूरी के लिए शहरों में गए मजदूरों के सामने घर वापसी भी मुसीबत बन गई है। गांव के लोग बाहर से आए लोगों को गांव के अंदर आने देने के लिए तैयार नही है। प्रधानों ने गांव के बाहर विद्यालयों में ठहरने की व्यवस्था कर दी है। कोतवाली थाना क्षेत्र के गांव भगवानपुरा निवासी देवेंद्र, जंगबहादुर, भूपेंद्र हैदलपुरा, प्रवेश कुरौंती, सुरेंद्र, रोशन, जितेंद्र गोपालपुरा कहना है कि दिल्ली, गुड़गांव, नोएडा में मजदूरी कर परिवार का पेट पालते थे। लॉकडाउन होने से बिना कामकाज के वहां रहना मुश्किल था। बस में बैठकर घर आ गए। चिकित्सा प्रभारी डा. विनोद राजपूत का कहना है कि लगभग ढाई सैकड़ा मजदूरों की जांच की जा रही है। किसी में भी कोरोना के लक्षण नहीं पाए गए। सबको घर भेज दिया गया है।
वाहन न मिलने से पैदल पहुंचे लोग
कोंच। कोरोना वायरस को लेकर ऐसे तमाम परिवार रविवार को मारकंडेयश्वर तिराहे, पहाड़गांव चुंगी और पंचानन चौराहे पर बैठे मिले जो फिलहाल एट से पैदल चल कर कोंच पहुंचे थे और इंतजार कर रहे थे कि आगे कोई साधन मिले तो घरों को जाया जाए क्योंकि अब वह थक चुके थे। इनमें ज्यादातर लोग दिल्ली, हरियाणा, गुजरात, राजस्थान आदि जगहों से आने वाले हैं।
सरकारी स्कूल में बनाया ठिकाना
कोंच। ग्राम सतोह से एक अच्छी खबर आई है, बाहर से अपने घरों को लौटे परिवारों को गांव से अलग थलग पूर्व माध्यमिक विद्यालय में ठहराया गया है ताकि उन्हें आइसोलेशन में रखा जा सके। दूसरे प्रांतों में रोजी कमाने गए लोग लॉक डाउन की बजह से अपने घरों को लौट रहे हैं और ग्रामीणों में इस बात को लेकर भय व्याप्त है कि कहीं इनमें कोई संक्रमित हुआ तो पूरा गांव खतरे में पड़ सकता है। ग्राम प्रधान सतोह अजयकुमार सिंह ने बताया है, उनके गांव में भी लगभग दो दर्जन लोग गैर प्रांतों से लौटे हैं जिन्हें समझा बुझाकर सरकारी स्कूल में ठहरा दिया गया है और गांव वालों तथा उनके परिवारों को भी उनसे दूर रहने के लिए कह दिया गया है।
शहर के कोंच बस स्टैंड पर बाहर से आए लोगों को बस के पास लगी भीड़
शहर के कोंच बस स्टैंड पर बाहर से आए लोगों को बस के पास लगी भीड़- फोटो : ORAI
अपने ट्रक से भरकर लोगों को घर पहुंचाने में मदद करता सोनू यादव
अपने ट्रक से भरकर लोगों को घर पहुंचाने में मदद करता सोनू यादव- फोटो : ORAI
राठ रोड स्थित बाहर से आए लोगों को भोजन वितरित कर आते समाजसेवी
राठ रोड स्थित बाहर से आए लोगों को भोजन वितरित कर आते समाजसेवी- फोटो : ORAI
राठ रोड ओवर ब्रिज पर यात्रियों को ले जाने के लिए खड़ी रोडवेज बस
राठ रोड ओवर ब्रिज पर यात्रियों को ले जाने के लिए खड़ी रोडवेज बस- फोटो : ORAI
... और पढ़ें

पहले दिन अभय तिवारी बने कोरोना वारियर

उरई। लाक डाउन के दौरान घरों में कैद हो चुके बच्चों को रचनात्मक गतिविधियों से जोड़ा जाएगा। यूपी बोर्ड, सीबीएसई, आईसीएसई के कक्षा छह से इंटर तक के विद्यार्थियों की चिंतामुक्ति के लिए उन्हें स्वास्थ्य, शिक्षा और मनोरंजन की गतिविधियों से जोड़ने के लिए लॉकडाउन की अवधि तक 21 एक्टिविटी का आयोजन रविवार से शुरू हो गया। पहले दिन कोरोना वायरस का प्रभाव मानव शरीर पर सबसे पहले कहां पड़ता है, विषय पर सवाल पूछा गया। इसमें 98 प्रतिभागियों ने भाग लिया। सबसे पहले एसआर पब्लिक स्कूल के कक्षा 11 के छात्र अभय तिवारी पुत्र अरविंद ने जवाब दिया। उन्हें पहले दिन का कोरोना योद्धा घोषित किया गया।
डीआईओएस भगवत पटेल ने बताया कि कोरोना से जुड़े स्वास्थ्य, विज्ञान से संबंधित पोस्टर, चित्रकला, निबंध, संगीत, गायन जैसी प्रतियोगिताएं होगी। इसमें रोजाना एक सवाल का आनलाइन जवाब देना होगा। सबसे पहले सबसे सही उत्तर देने वाले विजेताओं को पुरस्कृत किया जाएगा। उन्होंने बताया कि 14 अप्रैल तक गीत गायन, लघु फिल्म, भाषण, स्लोगन, चित्रकला, पोस्टर, रंगोली, स्वचरित कविता, निबंध प्रतियोगिता, कविता पाठ, कहानी लेखन, संपादकीय लेखन, बुक रिव्यू, योगा, लोक नृत्य, जनहित अपील जैसे कार्यक्रम अलग अलग दिन आयोजित होंगे। सबसे पहले सही उत्तर देने वाले को कोरोना योद्धा घोषित किया जाएगा। 21 दिन सबसे ज्यादा उत्तर देने वाले प्रथम तीन प्रतिभागियों को पुरस्कार एवं प्रमाणपत्र दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि 30 मार्च को लघु फिल्म एक्टिविटी का आयोजन किया जाएगा। इसमें छात्र-छात्राए अपनी एक्टिविटी को एजुकेशन एक्टिविटी जालौन एट द रेट जीमेल डाट काम पर सुबह 11 बजे तक भेज सकते हैं।
... और पढ़ें

15 जुआरी पकड़े, पांच हजार रुपये बरामद

जालौन। कोतवाली पुलिस ने अलग-अलग गांवों में जुआ खेल रहे 15 लोगों को पकड़कर पांच हजार रुपये बरामद किए हैं। उनके खिलाफ लॉकडाउन उल्लंघन का मामला भी दर्ज किया गया है।
कोतवाली प्रभारी सुनील कुमार सिंह को सूचना मिली कि कोतवाली क्षेत्र के ग्राम भिटारा व जगनेवा में कुछ लोग सार्वजनिक स्थान पर जुआ खेल रहे हैं। सूचना पाकर उन्होंने एसआई प्रमोद कुमार व शफीक अहमद को मौके पर भेजा। जहां पुलिस ने जगनेवा से पांच व भिटारा से 10 जुआरियों को पकड़ लिया। जुआरियों ने अपने नाम राहुल, मोहित कुमार, संजेश, मोहित, संजीव, दयाशंकर, धर्म सिंह, भान सिंह, शिवशंकर व बंटी निवासीगण भिटारा एवं अनिल बाबू, दिनेश कुमार, वीरसिंह, उमाशंकर, निवासीगण जगनेवा व सोनू निवासी हीरापुर बताए। पुलिस ने तलाशी लेने पर उनके पास से लगभग 5 हजार रुपये नगद व मोबाइल बरामद किए। पुलिस ने पकड़े गए सभी आरोपितों के खिलाफ मामला दर्ज किया। कोतवाल ने बताया कि पकड़े गए जुआरियों के खिलाफ कोतवाली पुलिस ने लॉकडाउन के उल्लंघन में धारा 188 की भी कार्रवाई की है।
... और पढ़ें

डीएम ने आइसोलेशन वार्ड का किया निरीक्षण, दिए निर्देश

उरई/मुहम्मदाबाद। जिला अस्पताल और राजकीय मेडिकल कालेज में बनाए गए वार्ड में रोजाना बड़ी संख्या में बाहर से लौटे लोग और खांसी जुकाम से पीड़ित मरीज पहुंच रहे हैं। हालांकि एक भी मरीज संदिग्ध नहीं मिला। डीएम डा. मन्नान अख्तर और एसपी डा. सतीश कुमार ने जिला अस्पताल स्थित आइसोलेशन वार्ड का निरीक्षण किया। वहां गाजियाबाद से लौटे युवक की थर्मल स्क्रीनिंग की गई। डीएम ने स्टाफ को हिदायत दी कि जितने भी मरीज आए, सभी की जांच की जाए, साथ ही उन्हें कोरोना व अन्य बीमारियों के बारे में अंतर समझाएं ताकि वे भ्रम में न रहें। उधर, राजकीय मेडिकल कालेज में भी मरीजों की भीड़ उमड़ी। ओपीडी के बाहर बैठकर डाक्टरों की टीम ने मरीजों की जांच की।
मुहम्मदाबाद प्रतिनिधि के मुताबिक, मुहम्मदाबाद, कुसमिलिया, डकोर आदि में पुलिस व प्रशासन की टीम ने गांव गांव जाकर मुनादी कराई कि जो भी व्यक्ति बाहर से लौटे है, वे अपनी सरकारी अस्पताल में जाकर जांच करा लें। जो भी व्यक्ति जांच नहीं कराएगा, शिकायत मिलने पर उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। एसडीएम सतेंद्र सिंह ने प्रधानों से बाहर से लौटे लोगों की सूची बनाने और उनकी निगरानी करने के निर्देश दिए। साथ ही कहा कि गांव में कोई भूखा न रहने दिया जाए। उधर ऊमरी कस्बे में सुबह खुले बाजार में खानपान का सामग्री खरीदने को भीड़ उमड़ी।
राजकीय मेडिकल कॉलेज में डाक्टरों की टीम मरीज देखती
राजकीय मेडिकल कॉलेज में डाक्टरों की टीम मरीज देखती- फोटो : ORAI
जिला अस्पताल में आइसोलेशन वार्ड में मरीजों से पूछताछ करते डीएम मन्नान अख्तर एसपी सतीश कुमार
जिला अस्पताल में आइसोलेशन वार्ड में मरीजों से पूछताछ करते डीएम मन्नान अख्तर एसपी सतीश कुमार- फोटो : ORAI
राजकीय मेडिकल कॉलेज में जांचकर्ता स्वास्थ्य कर्मी
राजकीय मेडिकल कॉलेज में जांचकर्ता स्वास्थ्य कर्मी- फोटो : ORAI
... और पढ़ें

सीएचसी में तीस बेड का आइसोलेशन वार्ड खुला

कोंच। कोंच के सीएचसी में तीस शैय्या का आइसोलेशन वार्ड तैयार किया गया है ताकि आपात स्थिति में संभावित रोगियों को इसमें भी रखा जा सके। शनिवार को डीएम डॉ. मन्नान अख्तर, एसपी डॉ. सतीश कुमार ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने सीएचसी का दौरा कर वार्ड की तैयारियों का जायजा लिया और जरूरी निर्देश दिए।
अधिकारियों ने कस्बे की गलियों में पैदल गश्त कर लॉक डाउन की स्थिति देखी और सड़कों पर निकले लोगों को घरों के भीतर रहने की हिदायत दी। उन्होंने कांशीराम कालोनी का भी राउंड लिया। सीएचसी प्रभारी डॉ. आरके शुक्ला के मुताबिक उरई में जिन रोगियों के परीक्षण में संक्रमण पाया जाएगा उन्हें जरूरत पड़ने पर कोंच के इस आइसोलेशन वार्ड में शिफ्ट किया जा सकेगा। शनिवार को डीएम और एसपी ने मालवीय नगर इलाके में उन्होंने गलियों में पैदल गश्त की। इस दौरान एसडीएम अशोक कुमार, सीओ आरपी सिंह, तहसीलदार राजेश विश्वकर्मा, नायब तहसीलदार संजय, कोतवाल इमरान खान, संचारी रोग प्रमुख डॉ. सत्यप्रकाश आदि रहे।
... और पढ़ें

स्वास्थ्य विभाग की टीम ने पुलिस कर्मीयों की स्क्रीनिंग की

उरई। कोरोना वायरस के चलते शनिवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने कोतवाली परिसर में मौजूद पुलिस कर्मचारियों की थर्मल स्क्रीनिंग की और नार्मल पाए जाने पर होम्योपैथिक दवा भी पिलाई। वहीं पुलिस कार्यालय में भी सौ पुलिस कर्मियों की स्क्रीनिंग कर दवा पिलाई गई।
कोरोना वायरस को लेकर सचेत स्वास्थ्य कर्मियों ने शनिवार को शहर कोतवाली परिसर में पहुंचकर दरोगा, सिपाही, महिला आरक्षियों व होमगार्डाें की थर्मल स्क्रीनिंग की और दवा भी पिलाई। कोतवाली में डा.विकास चतुर्वेदी ने लगभग 50 पुलिस कर्मियों का परीक्षण किया। जिसमें सभी पुलिस कर्मी सामान्य पाए गए। डाक्टर ने बताया कि अगर शरीर का तापमान 97.4 है तो कोई दिक्कत नहीं है और अगर 98 से अधिक है तो जुकाम बुखार की संभावना पाई जाती है। इसके लिए डाक्टरी परीक्षण करवाना जरूरी होता है। वहीं पुलिस आफिस में पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम ने लगभग एक सैकड़ा पुलिस कर्मियों का स्वास्थ्य परीक्षण कर दवा पिलाई।
... और पढ़ें

प्यास बुझाने के लिए भी जरूरी सामाजिक दूरी

मुहम्मदाबाद। सामाजिक दूरी यानी सोशल डिस्टेंसिंग का असर अब शहर ही नहीं गांव कस्बों में दिखाई देने लगा है। यही वजह है कि गाव कस्बों में लोग हैंडपंपों के सामने चूने के घेरे में खड़े नजर आ रहे हैं।
डकोर ब्लाक के ऐरी रमपुरा गांव में सुबह शाम हैंडपंपों के सामने लोगों की भीड़ तो दिखाई देती है लेकिन न कोई हो हल्ला और न ही लड़ाई झगड़ा। महिलाएं पुरुष हो या बच्चे सभी पंप के सामने चूने के घेरे में बाल्टियां लेकर खड़े हो जाते हैं और अपना नंबर आने पर पानी भरकर चल देते हैं। गांव निवासी सावित्री का कहना है कि बीमारी से बचना है तो सावधानी जरूरी है। बुजुर्ग जियालाल बोले, सबकी सुरक्षा के लिए सभी को एकजुट प्रयास भी करना होगा। प्रधान प्रतिनिधि ओमकार पाल ने बताया कि गांव-गांव जागरुकता का ही परिणाम है कि ग्रामीण में कोरोना से मुकाबले में कंधे से कंधा मिलाकर खड़े नजर आ रहे हैं।
... और पढ़ें

लोगों ने लॉकडाउन का किया पालन, जरूरत पर निकले

लोगों ने लॉकडाउन का किया पालन
सिर्फ जरूरी काम से निकले लोग, सामाजिक दूरी का किया पालन
फोटो-17- बाजारों में पसरा सन्नाटा
उरई/रामपुरा। लाक डाउन के चौथे दिन जिले की सड़कों पर सन्नाटा पसरा नजर आया। सिर्फ जरूरी काम से लोग प्रशासन के छूट के दिए गए समय सुबह 8 से 12 बजे तक ही बाहर निकले। इस दौरान कई किराने की दुकानों व मेडिकल स्टोर पर लोग सामाजित दूरी यानी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते नजर आए।
कोरोना संक्रमण से बचाने की कवायद में 21 दिन के लॉकडाउन का असर होने लगा है। नगर व ग्रामीण क्षेत्र में अधिकांश लोग अब धीरे-धीरे अपने घरों में सिमटकर कैद होने लगे हैं। लॉकडाउन होने के कारण उरई शहर में कई जगह पुलिस ने सख्ती दिखाते हुए अनावश्यक रूप से घरों से बाहर निकले लोगों को डांट फटकार वापस भी किया। शनिवार को रामपुरा थानाध्यक्ष आरके सिंह के नेतृत्व में रामपुरा नगर इंचार्ज नरेश कुमार ने अपने हमराहियों के साथ नगर का भ्रमण कर लोगों को घरों में रहने की हिदायत दी। दुकानदारों से भी समय से ही दुकान खोलने व बंद करने तथा दुकानों पर भीड़भाड़ न लगने देने को कहा। जगम्मनपुर में चौकी प्रभारी भगत सिंह बौद्ध ने जगम्मनपुर बाजार एवं गांव का गश्त कर लोगों से घरों में बैठने और समूह बनाकर न बैठने की नसीहत दी। ऊमरी क्षेत्र व नदिया पार के विभिन्न गांव में भ्रमण कर कोरोना वायरस से बचने के लिए नियमों का पालन करने को कहा। संवाद
आपदा के लिए दिए 25 हजार
उरई। कोरोना से लड़ाई के लिए जारी प्रशासन की लड़ाई में समाजसेवियों ने भी मोर्चो खोल दिया है। जिले के समाजसेवी इंफोपार्क व बंडर प्ले के चेयरमैन अभय द्विवेदी ने जिलाधिकारी आपदा राहत कोस में 25 हजार रुपये का चेक दिया। इस दौरान उन्होंने लोगों से अपील की है कि वह प्रशासन के निर्देशों का पालन करें और घरों में सुरक्षित रहें।
... और पढ़ें

चार सौ किमी का सफर तय करने को निकले पैदल

आटा। लॉकडाउन में लोगों की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। खासतौर पर ऐसे लोग जो रोजगार के लिए दूसरे शहरों में काम कर रहे थे, अब अपने घरों को पहुंचने के लिए समूह में पैदल ही हाईवे पर चल दिए हैं।
आटा हाईवे पर पैदल जा रहे बारह लोगों ने बताया कि हम सभी रायबरेली के रहने वाले है और झांसी में मजदूरी कर परिवार का पेट पालते हैं। लॉकडाउन होने से 25 मार्च से वह सभी झांसी में ही फंसे थे, जिससे काफी दिक्कतें आ रहीं थी। लॉकडाउन अभी 15 अप्रैल तक है, इसलिए इतने दिन बिना कामकाज के झांसी में रहना मुश्किल था और ट्रेन और बस न चलने से सभी ने पैदल ही चलकर करीब 400 किलोमीटर की दूरी तय करने का फैसला किया है। समूह में शामिल सागर, सुनील, रंजीत, सुरेंद्र आदि ने बताया कि वे लोग शुक्रवार की सुबह निकले थे और 24 घंटे में लगभग 120 किमी की दूरी तय कर पाए हैं। अभी तक साथ में खाने पीने का जो सामान था, उसी से काम चलाया। रास्ते में कही कुछ भी नही मिला। कब और कैसे घरों तक पहुंचेंगे, भगवान ही जाने।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us