विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सावन के सोमवार पर कराएं शिव का सहस्राचन, मिलेगी समस्त आकस्मिक परेशानियों से मुक्ति
SAWAN Special

सावन के सोमवार पर कराएं शिव का सहस्राचन, मिलेगी समस्त आकस्मिक परेशानियों से मुक्ति

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

फर्रुखाबाद: बसपा नेता अनुपम बोले- मुझे फंसाने को रची गई थी साजिश, पुलिस ने दर्ज किया लॉकडाउन के उल्लंघन का मुकदमा

राजनैतिक षड्यंत्र के तहत विकास दुबे से संबंध व कारों में अवैध हथियार होने की पुलिस को सूचना देकर सीतापुर जनपद में उन्हें फंसाने का प्रयास किया गया। लेकिन सत्य की जीत हुई वह घिनौनी राजनीति करने वालों से डरने वाले नहीं हैं। यह कहना है सीतापुर से पुलिस हिरासत से वापस आए बसपा नेता डॉ. अनुपम दुबे का। 

फतेहगढ़ स्थित अपने आवास पर सोमवार को डॉ. अनुपम ने बताया कि वह हर वर्ष की भांति रविवार को भी जनपद सीतापुर के नौमिषारण्य में अपने गुरुदेव के आश्रम में गुरु पूर्णिमा के अवसर पर दो कारों से गए थे। वहां पर पूजा अर्चना करने के बाद लगभग चार बजे घर आ रहे थे।

तभी गोमती पुल के पास बड़ी संख्या में मौजूद पुलिस बल ने अत्याधुनिक असलहों को दिखाकर उनके वाहनों को घेर लिया। वाहन में सवार सभी लोगों को उतार लिया और उनके लाइसेंसी असलहों व विकास दुबे से संबंध के बारे में पूछने लगे। इस पर बसपा नेता ने बताया कि उनका विकास दुबे से कोई संबंध नहीं है।

इसके बाद सीतापुर पुलिस ने कई घंटों तक छानबीन के बाद उनको क्लीन चिट दे दी। यह पूरी साजिश राजनैतिक षड्यंत्र के तहत की गई थी। जिले का पुलिस व प्रशासन उनसे भली भांति परिचित है। इसके चलते राजनैतिक लोगों ने जनपद सीतापुर के पुलिस अफसरों को भ्रमित करके उनको कई घंटो तक परेशान कराया। 

पुलिस ने अपने बचाव में दर्ज किया लॉकडाउन के उल्लंघन का मुकदमा
जनपद सीतापुर में डॉ. अनुपम दुबे, उनके सुरक्षाकर्मियों व अन्य लोगों के खिलाफ पुलिस ने लॉकडाउन उल्लंघन का मुकदमा दर्ज कर सभी को मुचलके पर सोमवार सुबह छोड़ दिया। डॉ. अनुपम ने बताया कि वह अपनी कार में मास्क लगाकर बैठे थे। कार में सैनिटाइजर भी रखा था। आधा सैकड़ा मास्क अलग से लोगों को देने के लिए रखे थे।
... और पढ़ें

विकास दुबे के खौफ से थाने में दफन उसके अपराधों का काला चिट्ठा फिर से खुलेगा, एडीजी ने दिया कड़ी कार्रवाई का भरोसा

बिकरू गांव पहुंचे एडीजी जोन जय नारायण सिंह ने कहा कि शुरुआती दौर में मामूली अपराधों को अनदेखा किया जाना ही विकास दुबे का हौसला बढ़ाता गया। विकास दुबे से जुड़े पुराने मामलों की फाइलें पुन: खुलवाई जा रही हैं। घटना में संलिप्त किसी भी शख्स को बख्शा न जाएगा।

रविवार दोपहर बिकरू गांव पहुंचे एडीजी ने पत्रकारों के यह पूछे जाने पर कि विकास दुबे का नाम आखिर शहर के टॉपटेन अपराधियों में क्यों नहीं शामिल था। इस पर एडीजी ने इतना भर कहा कि यह जांच का विषय है। विकास की शुरुआती गतिविधियों पर यदि स्थानीय पुलिस गंभीरता दिखाती तो शायद आज वह इतनी बड़ी घटना को अंजाम न दे पाता।



घटना से एक दिन पूर्व विकास दुबे द्वारा थानेदार विनय तिवारी से की गई अभद्रता के बाबत पूछे जाने पर एडीजी ने कहा कि घटना की जानकारी थाना प्रभारी ने उच्चाधिकारियों को नहीं दी। अधिकारियों के संज्ञान में मामला होता तो दबिश के दौरान पुलिस टीम पूरी सतर्कता और सुरक्षा के साथ कार्रवाई करती। थाना प्रभारी के साथ अन्य संदिग्ध पुलिस कर्मियों की भूमिका के बाबत उच्च स्तरीय जांच कराई जा रही है।
... और पढ़ें

विकास दुबे की दहशत: बगैर चढ़ावा चढ़ाए नहीं चलने देता उद्योग-धंधे, इन क्षेत्रों से विकास को पहुंचता है 50 लाख गुंडा टैक्स

कुख्यात विकास दुबे की निजी जिंदगी की ऐसी है कहानी, पहले प्यार फिर शादी और इसके बाद धोखा

बेटे और पत्नी के साथ विकास दुबे बेटे और पत्नी के साथ विकास दुबे

विकास दुबे की ग्रामीणों में अब भी दहशत, बोले-पुलिस वाले खुद का बचा न पाए, तो हमार कौउन गारंटी...

कानपुर एनकाउंटर

कानपुर हत्याकांड: विकास दुबे के करीबी जिला पंचायत सदस्य के घर पर पुलिस की दबिश, परिवार के साथ हुआ फरार

रूरा देहात में विकास दुबे के करीबी कहे जाने वाले एक जिला पंचायत सदस्य के रूरा कस्बा स्थित घर में  रविवार शाम एसटीएफ ने दबिश दी। इनकी पत्नी अकबरपुर ब्लाक की एक ग्राम पंचायत से प्रधान हैं। वह परिवार समेत रूरा स्थित मकान में रहते हैं।

टीम के पहुंचने पर इनके घर में ताला बंद मिला। मोहल्ले के लोगों ने बताया कि कई दिन से परिवार समेत बाहर हैं। टीम ने इनके दो भाइयों से आधे घंटे तक बंद कमरे में पूछताछ की। वहीं कस्बा में ही इनकी बिल्डिंग मटेरियल की दुकान से दो मजदूरों को हिरासत में लिए जाने की चर्चा है। हालाकि इंस्पेक्टर विद्यासागर सिंह ने किसी को हिरासत में लिए जाने की बात से इंकार किया है।
... और पढ़ें

Coronavirus in UP: हैलट अस्पताल में तीन डॉक्टरों समेत चार कोरोना पॉजिटिव मिलने से हड़कंप

कानपुर में कोरोना का संक्रमण जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज और हैलट कैंपस में भी फैल रहा है। हैलट के तीन डॉक्टरों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। साथ ही हैलट इमरजेंसी में मरीजों की बीएचटी बनाने वाला एक लिपिक भी संक्रमित मिला है। संक्रमितों को सोमवार को कोविड अस्पताल में भर्ती कराया गया।

इसके बाद इमरजेंसी और फ्लू ओपीडी सैनिटाइज कराई गई। अब इनकी संक्रमण चेन पता लगाई जा रही है। संक्रमितों में सर्जरी विभाग के 40 साल के असिस्टेंट प्रोफेसर भी शामिल हैं। रिपोर्ट आने के बाद उन्हें मैटरनिटी विंग में भर्ती कराया गया है। उनमें अभी कोरोना के कोई गंभीर लक्षण नहीं उभरे हैं।

इसी तरह फ्लू ओपीडी के दौलतगंज निवासी 26 वर्षीय एक नॉन पीजी जूनियर डॉक्टर में संक्रमण की पुष्टि हुई है। माना जा रहा है कि इन्हें फ्लू ओपीडी में ही किसी मरीज से संक्रमण मिला है। वहीं हैलट इमरजेंसी में भर्ती होने वाले मरीजों की बीएचटी बनाने वाले आरएसपुरम के जिस कर्मी की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, वह 22 साल का है। 

इनके अलावा इंटर्नशिप पूरी कर नॉन पीजी जेआर के रूप में काम कर रहा 25 वर्षीय डॉक्टर भी संक्रमित मिला है। वह नॉन पीजी जेआर मेडिकल कॉलेज के कैंपस स्थित छात्रावास में रहता है। इसके कमरे को सील कर सैनिटाइज कराया गया। अब यह पता करने की कोशिश हो रही है कि फ्लू ओपीडी के डॉक्टरों को छोड़कर बाकी को संक्रमण कहां से मिला।

बीएचटी बनने वाले कर्मी के संक्रमित होने से इमरजेंसी में हड़कंप है। इस दौरान वह कई स्टाफ से मिला था। उसके संपर्क में आने वालों की भी जांच कराई जाएगी। इसके पहले बालरोग विभाग की नॉन पीजी जेआर की रिपोर्ट कोरोना संक्रमित आई थी। उसे कोविड अस्पताल में भर्ती किया गया है।
... और पढ़ें

औरैया: विकास दुबे के फर्जी एनकाउंटर की फोटो वायरल, अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज

इनामी हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे का औरैया में इंस्पेक्टर ऋषिकांत द्वारा एनकाउंटर किए जाने की भ्रामक फोटो, वीडियो ट्विटर, फेसबुक व व्हाट्एप पर वायरल किए जाने को लेकर एसपी सुनीति ने सख्ती दिखाई है। एसपी के आदेश पर प्रभारी साइबर सेल एसआई लोकेश कुमार ने कोतवाली में अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है। एसपी ने बताया कि इस तरह के फोटो, वीडियो और खबर वायरल करने वालों को चिह्नित कर सूची तैयार कराई जा रही है। 

अमित के गांव में ब्याही है विकास दुबे के गांव की लड़की
औरैया। सदर कोतवाली में लखन वाटिका गेस्ट हाउस के सामने मिली अमित दुबे की लावारिस कार को लेकर शुरू छानबीन में पुलिस के जानकारी मिली है कि हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के बिकरू गांव की एक लड़की अमित के गांव में ब्याही है। एसपी सुनीति ने बताया कि इस लड़की का विकास दुबे या उसके परिवार से दूर-दूर तक कोई लेना-देना नहीं पाया गया है। मामले में लापता प्रापर्टी डीलर अमित के पिता कमलेश ने बताया कि वह न तो विकास दुबे को जानते हैं और न ही उनके परिवार में विकास के गांव की कोई लड़की ही ब्याही है। उन्होंने जानकारी को पूरी तरह से गलत बताया है। 
 
... और पढ़ें

Coronavirus in UP: कानपुर में कोरोना से तीन की मौत, 28 मरीज और बढ़े, संक्रमितों की संख्या 1415 हुई

कानपुर में सोमवार को कोरोना संक्रमित तीन रोगियों की और मौत हो गई। रोगी डायबिटीज, सांस रोग और हाइपरटेंशन से ग्रसित रहे हैं। उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई। इसके साथ ही कोरोना संक्रमित मरने वाले रोगियों की संख्या 63 हो गई है। शहर में अब तक कुल 1415 लोग संक्रमित हुए हैं।

इनमें 981 लोग कोरोना संक्रमण मुक्त होकर स्वस्थ हो गए। एक्टिव केस 373 हैं। इसके अलावा 28 नए लोग कोरोना संक्रमित मिले हैं। निजी पैथोलॉजी लैब से इनकी रिपोर्ट पॉजीटिव आई  है। नेहरू नगर के रहने वाले 58 वर्षीय व्यक्ति की कोरोना से हैलट में मौत हुई है।

उन्हें बुखार, खांसी और सांस रोग की दिक्कत रही है। उन्हें वेंटिलेटर पर रख गया। उपचार के दौरान मौत हो गई। इसी तरह ओल्ड हैलट कैंपस की रहने वाली 62 वर्षीय महिला की एसजीपीजीई लखनऊ में मौत हो गई। उन्हें हाई ब्लड प्रेशर, हाइपर टेंशन, डायबिटीज रही है।

उनकी हालत गंभीर होती चली और मौत हो गई। अब तक 62 कोरोना संक्रमित रोगियों की मौत हो चुकी है। इनमें ज्यादातर हाई ब्लड प्रेशर, हाइपर टेंशन और डायबिटीज के रोगी रहे हैं। सोमवार शाम साढ़े सात बजे दानाखोरी हरबंस मोहाल के 47 वर्षीय रोगी की मौत हुई। उसे 4 जुलाई को भर्ती किया गया था।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us