विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान - 8 अप्रैल 2020
Astrology Services

हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान - 8 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रेड जोन घोषित इलाकों में 60 हजार घरों के लोग चार दिन रहेंगे कैद, अघोषित कर्फ्यू जैसा होगा माहौल

कानपुर में रेड जोन घोषित क्षेत्रों के करीब 60 हजार घरों के लोग चार दिन तक घर से बाहर नहीं निकल पाएंगे। स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम की टीमें जब तक एक-एक घर में पहुंचकर स्वास्थ्य परीक्षण नहीं करा लेतीं इन इलाकों में अघोषित कर्फ्यू जैसा माहौल रहेगा।

6 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

कानपुर

सोमवार, 6 अप्रैल 2020

कानपुर में मरकज सील, जमातियों संग नमाज पढ़ने वाले 100 लोगों की जांच, क्वारंटीन की सलाह

कानपुर में कोरोना संक्रमण के खतरे से बचने के लिए प्रशासन ने शनिवार को चमनगंज के हलीम प्राइमरी मस्जिद में बने तब्लीगी जमात के मरकज को सील करा दिया है। वहां से भन्नानापुरवा चौराहे तक की सड़क पर बैरीकेडिंग लगा दी गई है। लोगों के इधर से गुजरने पर रोक है।

कर्नलगंज की मस्जिद शेख हुमायूं में 18 से 20 मार्च तक नमाज पढ़ने वाले करीब 100 लोगों की जांच भी उर्सला अस्पताल में कराई गई। इन्हें क्षेत्रीय कांग्रेसी पार्षद मोहम्मद अमीम खां और मुरसलीन खां भोलू अस्पताल लेकर गए। यह सभी कर्नलगंज छिपियाना के रहने वाले हैं, यहां पर 18 से 21 मार्च तक अफगानिस्तान, ईरान समेत नौ विदेशियों वाली जमात भी रुकी थी।

अमीम खां ने बताया कि किसी में कोरोना संक्रमण के लक्षण नहीं मिले हैं। सभी के हाथों में मुहर लगाकर 14 दिनों तक उन्हें क्वारंटीन रहने को कहा गया है। लोगों से कहा गया है कि जिन लोगों ने यहां पर नमाज पढ़ी थी, वह जांच करा लें।

चमनगंज मरकज में मोअज्जिन सज्जाद ही अजान देने के लिए रुकेंगे। मस्जिद और सड़क किनारे नगर निगम की टीम ने सैनिटाइजेशन किया है। क्षेत्रीय निवासी मोहम्मद शाहिद ने बताया कि यहां खाना बनवाकर बांटने वालों से यह काम फिलहाल बंद करने को कहा गया है।
... और पढ़ें

कोरोना-ओरोना कुछ नहीं होता, दवा नहीं खाएंगे, हैलट में भर्ती संक्रमित छह जमातियों से डॉक्टर परेशान

रहबर ही बताएंगे कहां-कहां संक्रमण ले गए जमाती, मस्जिदों से जमात मोहल्लों में ले जाने वालों की तलाश

रेड जोन घोषित इलाकों में 60 हजार घरों के लोग चार दिन रहेंगे कैद, अघोषित कर्फ्यू जैसा होगा माहौल

कानपुर में रेड जोन घोषित क्षेत्रों के करीब 60 हजार घरों के लोग तीन से चार दिन तक क्षेत्र से बाहर नहीं निकल पाएंगे। स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम की टीमें जब तक एक-एक घर में पहुंचकर स्वास्थ्य परीक्षण नहीं करा लेतीं और क्षेत्रों को सैनिटाइज करने का काम पूरा नहीं हो जाता तब तक इन इलाकों में अघोषित कर्फ्यू जैसा माहौल रहेगा। 

कानपुर के मछरिया, बाबूपुरवा, चमनगंज और घाटमपुर इलाके रेड जोन में हैं। कोरोना वायरस संक्रमित जमाती शहर की जिन-जिन मस्जिदों में रुके थे, उन मस्जिदों समेत आसपास के इलाकों को रेड जोन घोषित कर दिया गया है। इन क्षेत्रों में से किसी को न तो बाहर निकलने और न ही यहां जाने की अनुमति है।

नगर आयुक्त अक्षय त्रिपाठी ने बताया कि 60 हजार से ज्यादा घरों को चिह्नित किया गया है। रोज यही कोशिश रहेगी कि स्वास्थ्य विभाग और निगम की टीमें इन घरों में पहुंचें। यहां रहने वालों के बारे में जानकारी जुटाएं। उनका मेडिकल परीक्षण कराएं और उसके बाद इलाकों को सेनीटाइज करें।

उन्होंने कहा कि इस काम को पूरा होने में तीन-चार दिन लगेंगे। तब तक इन इलाकों को रेड अलर्ट रखा जाएगा। उन्होंने बताया कि सर्वे का काम शुरू करा दिया गया है। घरों के हर सदस्य का नाम, पता, मोबाइल नंबर, पूर्व की बीमारी आदि जानकारी ली जा रही है। साथ ही उनका मेडिकल परीक्षण भी कराया जा रहा है।
... और पढ़ें
60 हजार घरों के लोग तीन-चार दिन क्षेत्र से बाहर नहीं निकल पाएंगे 60 हजार घरों के लोग तीन-चार दिन क्षेत्र से बाहर नहीं निकल पाएंगे

2500 लोगों की जिंदगी रोशन करने वाले डॉ. रहमानी नहीं रहे, 22 मार्च को हुआ था ब्रेन अटैक

मेडिकल कॉलेज में जल्द शुरू हो सकती कोरोना जांच, तीन-चार दिन में मशीनें आने की उम्मीद

कानपुर के जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज में तीन-चार दिन में कोरोना की जांच शुरू होने की संभावना है। जांच के लिए शासन स्तर तक से अनुमति मिल गई है। मशीनें आते ही यह कार्य शुरू हो जाएगा। इससे सैंपल वाले दिन ही जांच रिपोर्ट मिलने से मरीज के उपचार में काफी सहूलियत होगी।

अभी कोरोना के संदिग्ध मरीजों के सैंपल जांच के लिए किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) लखनऊ भेजने पड़ रहे हैं। वहां से रिपोर्ट आने में एक से दो दिन लग रहे हैं। उधर, लगातार बढ़ रहे कोरोना मरीजों के मद्देनजर स्थानीय राजकीय एलोपैथिक मेडिकल कॉलेजों में भी जांच शुरू कराने की तैयारियां चल रही हैं।

इन जांचों की मशीनें खरीदने के लिए यहां कॉलेज को डीएम के माध्यम से 1.20 करोड़ रुपये मिल गए हैं। जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज की प्राचार्य डॉ. आरती लालचंदानी ने बताया कि कोरोना जांच के लिए आरटी पीसीआर और ऑटो न्यूक्लिक एक्सट्रैक्टर मशीन खरीदने के लिए ऑर्डर दे दिया गया है।

अत्याधुनिक ऑटो एक्सट्रैक्टर मशीन से कोरोना वायरस का आरएनए तोड़ कर जांच होती है। बॉयो सेफ्टी एक्यूपमेंट भी लिए जा रहे हैं। इन उपकरणों के दो-चार दिन में आने की संभावना है। इनके आते ही कॉलेज में रोज चार-पांच सौ मरीजों की जांच संभव हो सकेगी।
... और पढ़ें

कोरोना संक्रमिताें की संख्या बढ़ने पर सील हुए कई इलाके, ड्रोन से निगरानी, जानकारी छिपाने पर रासुका

कोरोना वायरस

कानपुर में एक और जमाती कोरोना पॉजिटिव, अब तक तब्लीगी जमात के सात लाेगों में हुई संक्रमण की पुष्टि

प्रधानमंत्री की 'दीप' अपील पर कानपुर के कवियों ने भेजीं अपनी रचनाएं

700 किमी का पैदल सफर, सिर पर आग उगलता सूरज और धधकती जमीन, घर पहुंचने की चाह में ये सब कुछ भूल गए

प्रधानमंत्री मोदी सहित देश की राज्य सरकारों ने लॉकडाउन के दौरान 'जो जहां पर है वहीं रूके, जरूरत की हर चीज उसे उपलब्ध करवाई जाएगी' यह अपील की थी पर शायद यह काफी नहीं है। देश में 21 दिन का लॉकडाउन लागू है लेकिन इसके 12 दिन बीत जाने के बाद भी लोगों का पलायन जारी है। इनसे सवाल कोई भी पूछो पर जवाब एक ही आता है। 

खाने को नहीं है साहब, पैसे भी खत्म हो गए हैं। घर नहीं गए तो कोरोना से पहले भूख मार देगी। रविवार को गाजियाबाद से प्रयागराज के लिए पैदल सफर पर निकले पांच मजदूर कानपुर पहुंचे। बताया एक सप्ताह पहले निकले थे और आज कानपुर पहुंचे हैं। 'अमर उजाला' की टीम ने इन सभी से बात की तो उनके आंसू छलक उठे।

 
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us