विज्ञापन
विज्ञापन
कालाष्टमी प्राचीन कालभैरव मंदिर दिल्ली में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात
Astrology

कालाष्टमी प्राचीन कालभैरव मंदिर दिल्ली में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

फर्जी डिग्री से नौकरी करने वाले शिक्षकों की सेवा समाप्त

फर्जी डिग्री पाकर नौकरी करने वाले 65 शिक्षकों की सेवा विभाग द्वारा समाप्त कर दी गई है। इस संबंध में विभाग ने खंड शिक्षा अधिकारियों को शिक्षकों की सूची सौंप दी है। विभाग की इस कार्यवाही से शिक्षकों में खलबली मच गई है।
आगरा विश्व विद्यालय से वर्ष 2004-05 की बीएड की फर्जी डिग्री के आधार पर विशिष्ट बीटीसी के तहत नौकरी पाने वाले शिक्षकों की बर्खास्तगी को हाईकोर्ट द्वारा सही ठहरा दिए जाने के बाद विभाग ने 65 शिक्षकों की सेवाएं समाप्त कर दी। इसी के साथ ही इन शिक्षकों की सूची संबंधित विकास क्षेत्र के खंड शिक्षा अधिकारियों को सौंप दी है। ताकि वे शिक्षकों से सेवा समाप्ति की रिसीविंग प्राप्त कर लें। वहीं खंड शिक्षा अधिकारियों को इन शिक्षकों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराने के आदेश जारी किए गए है। इसके साथ ही विभाग ने इन शिक्षकों के नाम वेतन बिल से भी काटने की तैयारी शुरू कर दी है।
2017 से चल रही थी जांच
शिक्षक भर्ती के फर्जीवाड़े की जांच वर्ष 2017 से चल रही थी। एसआईटी ने जांच के बाद शिक्षा विभाग को सूची भेजी। विभाग ने जिले में तैनात शिक्षकों का मिलान कर लिया लेकिन अभ्यर्थी कोर्ट चले गए। इसके बाद जिला स्तर पर मामला लटक गया। एसआईटी ने वर्ष 2019 में फिर से संशोधित सूची भेजी। इसके बाद सूची में मिलान हो जाने पर विभाग ने अक्तूबर 2019 में 91 शिक्षकों की सेवाएं समाप्त कर दी थी।
कोर्ट चले गए थे शिक्षक
फर्जी डिग्री के आधार पर सेेवा समाप्त हो जाने के बाद 91 शिक्षकों ने हाईकोर्ट में रिट दायर कर दी थी। कोर्ट ने इन शिक्षकों की सेवा समाप्ति पर रोक लगा दी। इसके बाद ये शिक्षक जनवरी 2020 में बहाल हो गए और फिर से विभाग में अपनी नौकरी करने लगे थे।
शिक्षकों को अप्रैल से नहीं मिल रहा था वेतन
हाईकोर्ट के आदेेश के बाद जनवरी 2020 में नौकरी पर बहाल हो जाने के बाद 91 शिक्षकों को मात्र तीन माह ही वेतन मिल सका। इसके बाद इनके वेतन आहरण पर अप्रैल 2020 से रोक लगा दी गई थी। इसके बाद से शिक्षक बिना वेतन आहरण के ही अपनी नौकरी कर रहे थे।
हाईकोर्ट के आदेश के बाद 65 शिक्षकों की बर्खास्तगी कर दी गई है। खंड शिक्षा अधिकारियों को शिक्षकों की सूची सौंप दी है ताकि वे उनसे रिसीविंग प्राप्त कर सकें। । कोर्ट ने शिक्षकों के वेतन की रिकवरी पर रोक लगा रखी है। जिससे अभी रिकवरी की कार्यवाही नहीं होगी। -अंजली अग्रवाल, बेसिक शिक्षा अधिकारी।
... और पढ़ें

कासगंज: पिता ने किया 15 महीने के मासूम बेटे का अपहरण, बड़े बेटे ने दर्ज कराई रिपोर्ट

उत्तर प्रदेश के कासगंज में एक व्यक्ति ने अपने 15 महीने के मासूम बेटे का अपहरण कर लिया। थाना कोतवाली में सोमवार को आरोपी पिता के खिलाफ बड़े पुत्र ने रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस ने आरोपी पिता को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है। मासूम बच्चे का पता नहीं चला है। उसकी मां और भाई-बहनों का रो-रोकर बुरा हाल है।  

आरोपी पिता का नाम किशन कुमार है। वह शहर की ज्वालापुरी कॉलोनी में परिवार के साथ रहता है। पिता किशन के खिलाफ उसके बड़े बेटे सचिन ने अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कराई है। आरोप है कि किशन ने शनिवार रात को अपने 15 महीने के बेटे यश का अपहरण कर लिया। मासूम का सोमवार शाम तक कोई पता नहीं चला है। 

परिजनों ने बताया कि मासूम यश अपनी छोटी बहन कृष्टि के साथ एक चारपाई पर सो रहे थे। रविवार सुबह उठकर देखा तो यश गायब था। यश को गायब देखकर परिवार के लोग सकते में आ गए। परिजनों को यश के पिता किशन कुमार की धमकी याद आ गई, जब वह बात-बात पर बेटे के अपहरण की धमकी देते थे। 
... और पढ़ें

सड़क हादसे में एक बच्ची की मौत, तीन लोग घायल

अलग-अलग सड़क हादसों में एक मासूम बच्ची की मौत हो गई, जबकि तीन लोग गंभीर घायल हो गए। पटियाली के मेन चौराहा पर तेज गति से आ रही कार ने मासूम बच्ची को टक्कर मार दी। जिससे उसकी मौत हो गई, जिससे परिजनों में कोहराम मच गया। वहीं सोरों मार्ग पर हुए सड़क हादसे में टेंपो पलटने से उसमें सवार तीन लोग घायल हो गए। उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया।
पटियाली के मोहल्ला जोशियान निवासी जितेंद्र की चार वर्षीय पुत्री दिव्या अपनी दादी उषादेवी के साथ सोमवार की सुबह बाजार के लिए जा रही थी। वह जब चौराहे पर पहुंची तो अलीगंज की ओर से आ रही तेज रफ्तार कार ने उसमें टक्कर मार दी। जिससे दिव्या (4) गंभीर घायल हो गई और उसने मौके पर ही दम तोड़ दिया। हादसे के बाद कार चालक कार को छोड़कर मौके से भाग गया। हादसे की जानकारी जब परिजनों को हुई तो वह भी मौके पर पहुंच गए। बच्ची का शव देखकर परिजनों में कोहराम मच गया। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।
वहीं सोरों मार्ग पर भिटौना के समीप एक टेंपो अनियंत्रित हो कर पलट गया। जिससे उसमें सवार विजय निवासी मोहल्ला नबाब, शिवम गुप्ता एवं भूूदेव निवासी कासगंज गंभीर घायल हो गए। हादसे पर पहुंची पुलिस ने उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया।
मां का था रो रो कर बुरा हाल
कार की टक्कर से मौत का शिकार हुई दिव्या एक भाई और एक बहन थी। उसकी मौत के बाद अब केवल उसका छोटा भाई ही रह गया है। अपनी पुत्री की मौत से उसकी मां सपना का रो-रो कर बुरा हाल था।
ासगंज के पटियाली में कार की टक्कर से मृत मासूम के परिजन रोते बिलखते
ासगंज के पटियाली में कार की टक्कर से मृत मासूम के परिजन रोते बिलखते- फोटो : KASGANJ
... और पढ़ें

कासगंज: पिता ने दिया था खौफनाक वारदात को अंजाम, हत्या के बाद नहर में फेंका मासूम का शव

यश की फाइल फोटो यश की फाइल फोटो

आज से चलेंगी अनारक्षित ट्रेनें

कासगंज। 11 माह बाद एक बार फिर यात्री ट्रेेनों में बिना आरक्षण के यात्रा कर सकेंगे। रेलवे ने ट्रेनों के संचालन को हरी झंडी देने के साथ समय सारणी भी जारी कर दी है। कासगंज से पांच जोड़ी ट्रेनों का संचालन किया जाएगा।
विगत मार्च 2020 में कोरोना संक्रमण के डर से ट्रेनों का संचालन बंद कर दिया गया था। अनलॉक में धीमे-धीमे ट्रेनों का संचालन किया गया लेकिन सभी ट्रेनें नहीं चलाई गईं। कासगंज से सिर्फ दो जोड़ी दैनिक स्पेशल ट्रेन कानपुर ट्रैक पर दौड़ी। वहीं पांच जोड़ी साप्ताहिक ट्रेनें चलाई गईं।
बिना आरक्षण यात्रा की सुविधा नहीं होने के कारण कम दूरी के स्टेशनों तक यात्रा करने में यात्रियों को परेशानी आ रही थी। हालांकि अब रेलवे बोर्ड ने कासगंज से बरेली ट्रैक, मथुरा ट्रैक पर 2-2 और कानपुर ट्रैक पर एक अनारक्षित ट्रेन संचालन के लिए मंजूरी दे दी है। बृहस्पतिवार से ट्रेनें संचालित होने लगेगी।
यह रहेगी समय सारणी
काशीपुर-कासगंज एक्सप्रेस (05335): यह ट्रेन सुबह 5:40 बजे काशीपुर से चलकर 9:25 बजे को बरेली सिटी पहुंचेगी। यहां से चलकर रात 12:40 बजे कासगंज जंक्शन स्टेशन पहुंचेगी।। वापसी में इस ट्रेन का नंबर 05336 हो जाएगा, जो कासगंज से दोपहर 1:40 बजे प्रस्थान करेगी।
कासगंज-बरेली सिटी एक्सप्रेस (05337): कासगंज से सुबह 10:20 बजे रवाना होगी और दोपहर 1:50 बजे बरेली सिटी स्टेशन पर पहुंचेगी। वापसी में इस ट्रेन का नंबर 05338 नंबर हो जाएगा, जो बरेली सिटी से शाम 5:10 बजे चलकर रात 8:15 बजे कासगंज जंक्शन स्टेशन पहुंचेगी।
कासगंज-मथुरा एक्सप्रेस (05345): यह ट्रेन दोपहर 12:10 बजे कासगंज जंक्शन स्टेशन से चलकर दोपहर 3:05 बजे मथुरा पहुंचेगी। वापसी में इस ट्रेन का नंबर 05346 नंबर हो जाएगा, जो मथुरा से रात 9:00 बजे चलकर 11:30 बजे कासगंज स्टेशन पहुंचेगी।
कासगंज-अछनेरा एक्सप्रेस (05347): यह ट्रेन सुबह 5:15 बजे कासगंज से चलकर सुबह 9:20 बजे अछनेरा पहुंचेगी। वापसी में इन ट्रेन का नंबर 05348 होगा, जो अछनेरा से सुबह 10:25 बजे चलकर दोपहर 2:15 बजे कासगंज स्टेशन पहुंचेगी।
कासगंज-फर्रुखाबाद एक्सप्रेस (03549): यह ट्रेन शाम 5:35 बजे कासगंज से चलकर रात 8:30 बजे फर्रुखाबाद स्टेशन पहुंचेगी। वापसी में इन ट्रेन का नंबर 05350 हो जाएगा, जो फर्रुखाबाद से सुबह 4:50 बजे चलकर 7:50 बजे कासगंज जंक्शन स्टेशन पहुंचेगी।
अनारक्षित ट्रेनों के संचालन को हरी झंडी मिल गई है। बृहस्पतिवार से ट्रेनें दौड़ने लगेंगी। समय सारणी भी जारी कर दी गई है। ये सभी स्पेशल एक्सप्रेस ट्रेन हैं।
- राजेंद्र सिंह, पीआरओ
... और पढ़ें

मासूम का हत्यारा निकला पिता

कासगंज। अपने ही मासूम को अगवा करने और उसकी हत्या कर नहर में फेंकने के मामले में पुलिस ने पिता और उसकी पुत्रवधू को गिरफ्तार कर मामले का खुलासा कर दिया। सीसीटीवी फुटेज से मिले साक्ष्यों के आधार पर पुलिस ने कार्रवाई सुनिश्चित की है। घटना में प्रयुक्त लोडर गाड़ी भी बरामद कर ली गई है।
विगत 27 फरवरी की रात ज्वालापुरी कॉलोनी निवासी किशन कुमार ने अपने ही 15 माह के मासूम बेटे यश का अपहरण कर लिया। बड़े बेटे सचिन ने पिता किशन कुमार के खिलाफ मासूम के अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया। पुलिस ने मामला दर्ज होने के बाद पिता को हिरासत में ले लिया। पुलिस हिरासत में पिता किशन कुमार ने पुलिस को बताया कि उसने मासूम की हत्या कर शव हजारा नहर में फेंक दिया है। पुलिस ने नहर में मासूम के शव की तलाश कराई, लेकिन कोई साक्ष्य नहीं मिला। पुलिस को ज्वालापुरी कॉलोनी में एक सीसीटीवी कैमरे से कुछ साक्ष्य मिले।
इसमें आरोपी पिता किशन कुमार बच्चे को ले जाता नजर आ रहा है। पुलिस ने किशन कुमार की पुत्रवधू ममता को भी हिरासत में लिया और पूछताछ की। एसपी मनोज कुमार सोनकर ने बताया कि किशन कुमार और ममता ने पूछताछ में मासूम का अपहरण और हत्या करने की बात कबूल की है। उन्होंने बताया कि वह एक लोडर गाड़ी से मासूम को लेकर हजारा नहर पहुंचे थे, जहां उसे फेंका गया। एसपी ने बताया कि अभी मासूम के शव की तलाश जारी है। एटा, फिरोजाबाद जनपदों में भी तलाश कराई जा रही है। किशन कुमार और ममता को पुलिस ने जेल भेज दिया गया है।
जाल डलवाकर की जा रही तलाश
एसपी मनोज कुमार सोनकर ने बताया कि हजारा नहर में गोताखोरों के माध्यम से जाल लगवाकर मासूम के शव की तलाश कराई गई है। हालांकि अभी तक कोई सफलता नहीं मिली है। टीमें लगातार नहरों के इलाकों में निगरानी कर रही हैं। उन्होंने स्वयं भी मौके का निरीक्षण किया है।
... और पढ़ें

आपसी सौहार्द के साथ मनाएं त्योहार: जिलाधिकारी

कासगंज। आगामी दिनों में महाशिवरात्रि, होली, शब-ए-बरात समेत अन्य त्योहारों और विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान को सफल बनाने के लिये समस्त नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में व्यापक रूप से स्वच्छता अभियान चलाया जाए। सभी त्योहारों को बेहतर सामंजस्य, आपसी सौहार्द और प्रेमभाव के साथ मनाया जाए। यह बात डीएम सीपी सिंह ने कही।
वह बुधवार को कलक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कांवड़ मेले के दौरान समस्त एसडीएम और सीओ क्षेत्र में कानून व्यवस्था बनाने में विशेष सतर्कता बरतें। नगरीय क्षेत्रों में ईओ और ग्रामीण क्षेत्रों में खंड विकास अधिकारी स्वच्छता अभियान का नियमित निरीक्षण करें। पेयजल और प्रकाश सहित समस्त व्यवस्थाएं सुव्यवस्थित रहें। कचरा निस्तारण, जलभराव रोकने, शुद्ध पेयजल की उपलब्धता पर विशेष ध्यान दिया जाए।
मच्छरजनित बीमारियों के नियंत्रण के लिए नगरीय क्षेत्रों में फॉगिंग और ग्रामीण क्षेत्रों में व्यापक रूप से साफ सफाई अभियान चलाया जाए। कोविड-19 और संक्रामक रोगों से बचाव के लिये जनता को अधिक से अधिक जागरूक किया जाये। प्रत्येक गॉव में ब्लीचिंग का छिड़काव और हैंडपंपों के पानी की जांच की जाये। एसपी मनोज सोनकर, सीडीओ तेज प्रताप मिश्र, एडीएम एके श्रीवास्तव, एएसपी आदित्य वर्मा सहित समस्त एसडीएम, सीओ एवं संबंधित अधिकारी और संभ्रांत नागरिक उपस्थित रहे।
... और पढ़ें

मोती के फरार दो भाइयों का नहीं लगा सुराग

कासगंज कलक्ट्रेट में बैठक करते डीएम सीपी सिंह साथ में सीडीओ व एडीएम व अन्य अधिकारी
कासगंज। सिपाही की हत्या और पुलिस टीम पर हमले के मुख्य आरोपी माफिया मोती की मौत के बाद उसके फरार दोनों भाइयों की तलाश के लिए पुलिस का ऑपरेशन जारी है। हालांकि अभी तक पुलिस को दोनों भाइयों का कोई सुराग नहीं लग सका है।
विगत नौ फरवरी की रात गांव नगला धीमर के समीप काली नदी की खादर में वांछितों की तलाश में पहुंचे दरोगा और सिपाही पर शराब माफिया मोती और उसके भाइयों ने साथियों के साथ मिलकर हमला कर दिया था। हमले में घायल सिपाही की उपचार के दौरान मौत हो गई थी।
जवाबी कार्रवाई में पुलिस अब तक मोती और उसके भाई एलकार को मुठभेड़ के बाद ढेर कर चुकी है। हालांकि उसके दो भाई अभी भी फरार हैं। फरार मोहर सिंह एवं मानपाल की तलाश में पुलिस की टीमें लगी हुई हैं। हालांकि 22 दिन के बाद भी पुलिस की आठ टीमों को अभी तक कोई सफलता नहीं मिल सकी है। काली एवं गंगा नदी की खादर के साथ-साथ बदायूं, फर्रुखाबाद, मैनपुरी, हाथरस जिलों में भी फरार आरोपियों की तलाश की जा रही है।
मोती के फरार दोनों भाइयों की तलाश की जा रही है। हालांकि अभी तक सफलता नहीं मिल सकी है। उनकी लोकेशन ट्रेस नहीं हो पा रही है। लगातार प्रयास जारी हैं। मनोज कुमार सोनकर , एसपी
... और पढ़ें

सरसई रजबहा में दो माह से नहीं आ रहा पानी, किसान चिंतित

सिढ़पुरा (कासगंज)। सरसई रजबहा में दो माह से पानी नहीं आ रहा है। इससे ग्राम पंचायत पिथनपुर के ग्रामीण परेशान हैं। किसानों की फसलें सूख रही हैं। किसानों ने डीएम से रजबहा में शीघ्र पानी छोड़ने की मांग की है।
ग्राम पंचायत पिथनपुर के ग्रामीणों को सिंचाई के लिए पानी सरसई रजबहा से पानी मिलता है। किसानों का कहना है कि रजबहा में दो माह से पानी नहीं आया है। इससे किसानों की फसलें सूखने के कगार पर हैं।
सिंचाई के लिए पानी न मिलने से किसान चिंतित हैं। किसान फसलों को सूखने से बचाने के लिए डीजल पंप सेट से सिंचाई करने को मजबूर हैं। इससे फसलों की लागत बढ़ रही है। किसानों ने डीएम से मांग की कि शीघ्र रजबहा में पानी छोड़ा जाए।
सूख रही फसल
सरसई रजबहा में पानी नहीं आने से खेतों में खड़ी फसल सूख रही हैं। रजबहा में पानी आने का इंतजार हैं। रजबहा में पानी आए तो सिंचाई करें।
- छोटेलाल, किसान, पिथनपुर
पट्टे लेकर की है खेती
पांच बीघा खेत पट्टे पर लेकर गेहूं की फसल की है। अब खड़ी फसल सिंचाई के अभाव में सूख रही है। मजबूरी में डीजल पंप सेट से महंगी सिंचाई करनी पड़ रही है। - विजयपाल, किसान, नगला बल्देव।
महंगी सिंचाई को मजबूर
दो माह से रजबहा में पानी नहीं है। मेहनत की फसलें को सूखते नहीं देख सकते। डीजल पंप सेटों से महंगी सिंचाई कर खेतों में पानी लगाने को मजबूर हैं। रजबहा में शीघ्र पानी छोड़ा जाए।
- सौदान सिंह, किसान, पिथनपुर
गोशाला में चारे की घास भी सूख रही है
एक माह पूर्व गोशाला में 15 बीघा जमीन पर नेपियर घास लगाई थी। रजबहा में पानी न आने से घास सूख रही है। गोशाला में दो सबमर्सिबल हैं, इनसे गोवंश के लिए पानी की जरूरत तो पूरी हो जाती है, लेकिन घास की सिंचाई मुश्किल है।
- चंद्रशेखर, गोसेवक, पिथनपुर गोशाला
गंगा नदी में ही पानी कम
गंगा नदी में ही पानी कम है। इससे नहरों में पानी की आपूर्ति कम हो पा रही है। इसके चलते रजबहों में भी पानी नहीं पहुंच पा रहा है। 500 से 300 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। नरौरा से 1000 क्यूसेक पानी छोड़े जाने की डिमांड की गई है।
- अरुण कुमार, अधिशाषी अभियंता, सिंचाई।
... और पढ़ें

कासगंज: बुजुर्ग ने दी धर्म परिवर्तन की चेतावनी, वीडियो वायरल होने से मची खलबली

कासगंज में एक बुजुर्ग का वीडियो वायरल हुआ है, जिसमें वह धर्म परिवर्तन करने की बात कह रहा है। मंगलवार को यह वीडियो वायरल हुआ तो पुलिस प्रशासन में खलबली मच गई। डीएम और एसपी ने मामले की जांच कर एसडीएम और सीओ से रिपोर्ट मांगी है। पुलिस के अनुसार मामला जमीन विवाद से जुड़ा है। धर्म परिवर्तन की चेतावनी देने वाला बुजुर्ग एक मुकदमे का आरोपी है, कार्रवाई से बचने के लिए उसने ऐसा वीडियो शेयर किया है।

मंगलवार सुबह सोशल मीडिया पर एक वीडियो साझा किया गया। इसमें एक बुजुर्ग अपना नाम केसरी बता रहा है और कह रहा है कि वह दबंगों से परेशान है। इसलिए धर्म परिवर्तन करना चाहता है। वीडियो वायरल होने से पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों में खलबली मच गई। अधिकारियों ने जांच कराई तो मामला कुछ और सामने आया।  

एसडीएम और सीओ ने की जांच
एसडीएम ललित कुमार और सीओ आरके तिवारी ने मामले की जांच की। जिसमें सामने आया कि वीडियो में जो बुजुर्ग धर्म परिवर्तन की बात कह रहा है वह अमानत में खयानत का आरोपी है और उसके खिलाफ सदर कोतवाली में मुकदमा दर्ज हो चुका है और वह फरार चल रहा है। उसने मुकदमे से बचने के लिए ऐसा वीडियो बनाकर शेयर किया है। 
... और पढ़ें

महाशिवरात्रि: गंगाघाटों पर गूंज रहे बम-बम भोले के स्वर, कांवड़ के लिए पहुंच रहे शिवभक्त

तीर्थनगरी सोरों में अब बम-बम भोले के जयकारे गूंजने लगे हैं। महाशिवरात्रि भले ही 11 मार्च की है लेकिन सोरों के लहराघाट तक भोले के भक्त पहुंच रहे हैं। वहीं दुकानदारों ने भी कांवड़ सजाने में काम आने वाला सामान लगाना शुरू कर दिया है।

लहराघाट पर कांवड़ मेला शुरू हो चुका है। मंगलवार को मध्यप्रदेश के शिवभक्तों ने तीर्थनगरी से कांवड़ की साज सज्जा का सामान खरीदा और लहराघाट पर कांवड़ सजाकर गंगाजल भरा। उसके बाद भोले के जयकारे लगाते हुए गंतव्य की ओर रवाना हो गए।

इस वर्ष शिव-सिद्ध योग में मनेगा महाशिवरात्रि का पर्व, ऐसे करें भगवान भोले की आराधना

लहराघाट से गंगाजली लेकर महाशिवरात्रि के दिन जलाभिषेक व दुग्धाभिषेक करने वाले भक्त पहुंचने लगे हैं। जिन भक्तों को अपने गंतव्य तक पहुंचने में समय लगता है वह अपनी कांवड़ सजाने के लिए तीर्थनगरी धीरे-धीरे पहुंच रहे हैं। अभी यहां हर साल की तरह मध्यप्रदेश के शिवपुरी, ग्वालियर, मुरैना, राजस्थान के जयपुर, भरतपुर, करौली, बालाजी, महुआ सहित विभिन्न जिलों से श्रद्घालु पहुंच रहे हैं। यहां पहुंचकर कांवड़िए पुरोहितों से पूजा-पाठ कराकर विधि विधान से कांवड़ में में जल भरवाते हैं। 
  ... और पढ़ें

मासूम बेटे की हत्या कर हजारा नहर में फेंकने की बात पुलिस पूछताछ में कुबूली

बच्चे के अपरहण के आरोपी किशन कुमार ने बेटे की हत्या कर शव को हजार नहर में फेंकने की बात कबूली है। पुलिस टीम आरोपी पिता को लेकर नहर पर पहुंची और गोताखोरों से तलाश कराई, लेकिन शव की कोई बरामदगी नहीं हुई है। पुलिस आरोपी पिता के कथन से संतुष्ट नहीं है। ऐसी स्थिति में पुलिस की पूछताछ अभी भी जारी है।
ज्वालापुरी कॉलोनी निवासी किशन कुमार ने शनिवार रात अपने ही 15 माह के बेटे यश का अपहरण कर लिया था। किशन कुमार के बड़े बेटे सचिन ने पिता के खिलाफ अपहरण की धाराओं में मामला पंजीकृत कराया था। पुलिस ने आरोपी पिता को हिरासत में ले लिया है। पूछताछ में आरोपी किशन बार-बार अपना कथन बदल रहा है। उसी ने बताया कि उसने यश की हत्या कर शव को हजारा नहर में फेंक दिया था। यह सुनते ही पुलिस टीम सकते में आ गईं और तत्काल आरोपी को नहर के पास ले जाकर तलाश कराई। गोताखोर काफी देर तक नहर में तलाश करते रहे, लेकिन नहर से कोई शव बरामद नहीं हुआ।
परिवार का है बुरा हाल
जहां एक ओर पुलिस मासूम की तलाश में जुटी है। वहीं दूसरी तरफ पिता द्वारा बेटे की हत्या कर देने की जानकारी मिलने पर परिजन टूट गए हैं। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया है। मां मुन्नी देवी का कहना है कि उन्हें क्या पता था कि मासूम बेटे को पिता ही लापता कर देगा।
पुलिस ने खंगाले सीसीटीवी फुटेज
मासूम की तलाश में जुटी पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज खंगाले हैं। ज्वालापुरी कॉलोनी में जहां पीड़ित का घर है उस गली में जिस जिस घर में सीसीटीवी कैमरे लगे हैं। वहां की फुटेज देखीं हैं। हालांकि पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज की स्थिति स्पष्ट नहीं की है।
वर्जन-
- आरोपी पिता ने पुलिस को बताया है कि उसने बेटे की हत्या कर नहर में फेंक दिया है। उसकी निशानदेही के आधार पर नहर में मासूम की तलाश की गई है। यह भी हो सकता है कि पिता पुलिस को गुमराह कर रहा हो। अभी मामले की विवेचना और पूछताछ जारी है। - आरके तिवारी, सीओ सिटी।
कासगंज की हजारा नहर के पास 15 माह के मासूम की तलाश कराती कोतवाली पुलिस
कासगंज की हजारा नहर के पास 15 माह के मासूम की तलाश कराती कोतवाली पुलिस- फोटो : KASGANJ
... और पढ़ें

पंचायत चुनाव: पांच पदों के लिए आरक्षण की सूची हुई जारी

पंचायत चुनाव 2021 के लिए मंगलवार को सभी पांच पदों के लिए आरक्षण की अनंतिम सूची जारी कर दी गई। सूची जारी होते ही किसी दावेदार के चेहरे खिल उठे तो कोई दावेदार मायूस हो गया। आरक्षण की सूची को जिला पंचायत राज अधिकारी कार्यालय सहित सभी विकास खंड कार्यालयों को उपलब्ध करा दिया गया है।
जिला पंचायत सदस्य, ब्लॉक प्रमुख, क्षेत्र पंचायत सदस्य, ग्राम प्रधान, एवं ग्राम पंचायत सदस्य के पदों के लिए होने वाले आरक्षण पर दावेदारों की निगाहेें टिकी हुई थी।
जैसे ही जिला पंचायत राज विभाग ने आरक्षण की सूची जारी की वैसे ही सूची में आरक्षण की स्थिति जानने के लिए उत्सुकता नजर आने लगी। दावेदार अपने पद व क्षेत्र के हिसाव से आरक्षण की स्थिति जानने के लिए उत्सुक हो गए। दावेदारों का रुख अपने अपने विकास क्षेत्र की ओर हो गया। सूची देखने के बाद मनमाफिक आरक्षण हो जाने के बाद दावेदारों के चेहरे खिल गए तो वहीं कुछ दावेदार ऐसे भी रहे जो चुनाव को लेकर काफी दिनों से तैयारी कर रहे थे, लेकिन उनके मनमाफिक आरक्षण नहीं हो सका, ऐसे में दावेदारों के चेहरे लटक गए और मायूस होकर लौट आए।
जिला पंचायत के चार वार्ड फिर से रहे अनारक्षण की श्रेणी में
जिला पंचायत के 23 वाडों के लिए जारी की गई आरक्षण की सूची में वार्ड 1,4,8,10,11,13,14,15,22 को अनारक्षित श्रेणी में शामिल किया गया है। इनमें से वार्ड 1 तीन बार से, वार्ड 8 दो बार से, वार्ड 14 दो बार से तथा वार्ड 15 तीन बार से अनारक्षित श्रेणी में शामिल होते चले आ रहे हैँ। इनके अलावा वार्ड 6, 16, अनुसूचित जाति के हिस्से में एवं वार्ड 3 व 9 अनुसूचित जाति महिला के हिस्से में आया है। वार्ड 5,18,19,21 पिछड़ी जाति तथा वार्ड 12,17 पिछड़ी जाति महिला के लिए आरक्षित किया गया है। सामान्य महिला को वर्ष 2015 के चुनाव से एक वार्ड कम मिला है। महिलाओं के लिए वार्ड 2,7,20,23 आरक्षित किया गया है।
सहावर, गंजडुंडवारा, अमांपुर ब्लॉक प्रमुख के पद रहे अनारक्षित
जिला में ब्लॉक प्रमुख के सात पद है। सहावर, गंजडुंडवारा एवं अमांपुर ब्लॉक प्रमुख के पद अनारिक्षत रखे गए है। इनमें से अमांपुर एव सहावर के पद वर्ष 2015 के चुनाव में भी अनारक्षित रहे थे। अनुसूचित जाति महिला के लिए सिढ़प़ुरा, पिछड़ी जाति के हिस्से में सोरो, पिछड़ी जाति महिला के हिस्से में पटियाली, जबकि सामान्य महिला के लिए कासगंज ब्लॉक प्रमुख का पद आरक्षित किया गया है।
143 महिलाएं बनेंगी ग्राम प्रधान
जिला की 423 ग्राम पंचायतों के लिए जारी किए गए आरक्षण में महिलाओं के हिस्से में 143 पद आए हैँं। इनमें से अनुसूजित जाति की 29 महिला, पिछड़ी जाति की 41 महिला एवं सामान्य जाति पर 73 महिला चुनाव लड़ सकेंगी। इनके अलावा अनुसूचित जाति के लिए 55, पिछड़ी जाति के लिए 75 पद आरक्षित किए गए हैं। जबकि 150 पद अनारक्षित श्रेणी में रखे गए हैँ।
315 क्षेत्र पंचायत सदस्य पद रहे अनारक्षित
जिला में क्षेत्र पंचायत सदस्य के 579 पद हैं। जिनमें से 315 पदों को अनारक्षित श्रेणी में रखा गया है। महिलाओं के हिस्से में 195 पद आए है। इनमें से 39 अनुसूचित जाति महिला, 53 पिछड़ी जाति महिला, 103 सामान्य जाति महिला के लिए आरक्षित किए गए है। अनुसूचित जाति के लिए 73 तथा पिछड़ी जाति के लिए 99 पद आरक्षित किए गए हैं।
1957 महिलाएं बन सकेंगी ग्राम पंचायत सदस्य
जिला के सात विकास क्षेत्रों की 423 ग्राम पंचायतों में सदस्य के लिए 5421 पद निर्धारित हैं। इनमें से महिलाओं के हिस्से में 1957 पद आए हैं। जिनमें 491 पद पर अनुसूचित जाति महिला, 538 पद पर पिछड़ी जाति महिला एवं 928 पद सामान्य जाति की महिला के लिए आरक्षित किए गए है। अनुसूचित जाति के लिए 561, पिछड़ी जाति के लिए 679 पद आरक्षित किए गए हैं। जबकि 2224 पदों को अनारक्षित रखा गया है।
पंचायत के सभी पांच पदों के लिए आरक्षण निर्धारित कर अनंतिम सूची जारी कर दी गई है। इसके बाद दावे आपत्ति ली जाएंगी। दावे आपित्त् का निस्तारण करने के बाद अंतिम सूची का प्रकाशन किया जाएगा। -एसपी सिंह, जिला पंचायतराज अधिकारी।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X