विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus In Uttar Pradesh Live: नोएडा में चार और संक्रमित मरीज मिले, यूपी में संख्या बढ़कर हुई 70

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस का कहर देश में लगातार बढ़ता जा रहा है। रविवार को कोरोना से जम्मू-कश्मीर और गुजरात में एक-एक लोगों की मौत हो गई। वहीं, यूपी में भी लगातार संक्रमिता का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है।

29 मार्च 2020

विज्ञापन

Sp baghpat said

28 मार्च 2020

विज्ञापन

कौशांबी

रविवार, 29 मार्च 2020

विद्यार्थियों को यात्रा पर नहीं जाने की सलाह

छात्र-छात्राओं को घर पर ही रहने की दी सलाह
संवाद न्यूज एजेंसी
मंझनपुर। कोरोना वायरस को लेकर शिक्षा विभाग भी आगे आया है। जिला विद्यालय निरीक्षक ने जिले के छात्र-छात्राओं से अपील की है कि वह दो अप्रैल तक घरों में ही रहें। किसी प्रकार की यात्रा पर नहीं जाएं।
डीआईओएस एसके सिंह ने कहा कि नोवल कोरोना वायरस देश के लिए बड़ा खतरा है। इसे देखते हुए सरकार ने दो अप्रैल तक सभी स्कूल-कॉलेज को बंद कर दिया है। ऐसे में सभी छात्र-छात्राएं अपने घरों पर ही रहें। किसी भी प्रकार की यात्रा पर नहीं जाएं। यात्रा पर जाने से उनके जीवन को खतरा हो सकता है। कोरोना ऐसा वायरस है जो हमारे पास नहीं आएगा, लेकिन यदि हम बाहर जाएंगे तो उसे लेकर आएंगे। ऐसे में सभी बच्चे और अभिभावक अपने घरों पर ही रहें। सभी कॉलेजों के प्रधानाचार्यों ने भी छात्र-छात्राओं से घरों में रहने की अपील की है। श्री दुर्गा देवी इंटर कॉलेज ओसा के प्रधानाचार्य चुन्नीलाल, महेश्वरी प्रसाद इंटर कॉलेज के जितेंद्र श्रीवास्तव, हनुमान इंटर कॉलेज अजुहा के बृजेश सिंह, एसएवी इंटर कॉलेज सैनी के अश्वनी तिवारी, धर्मा देवी इंटर कॉलेज केन के डॉ रामकिरन त्रिपाठी, जीजीआईसी कड़ा की अनामिका विद्यार्थी, करारी इंटर कॉलेज की रन्नो मिश्रा आदि ने अभिभावक व छात्र-छात्राओं से घरों में रहने की अपील की है।
... और पढ़ें

गैर जरूरी सामानों की तमाम जगहों पर खुली रहीं दुकानें

गैर जरूरी सामानों की तमाम जगहों पर खुली रहीं दुकानें
जिले में कई जगहों पर धारा 144 का किया गया खुलेआम उल्लंघन
संवाद न्यूज एजेंसी
मंझनपुर। प्रशासन की तमाम कोशिशों के बाद भी दोआबा के लोग एहतियात नहीं बरत रहे हैं। जनता कर्फ्यू के तीसरे दिन यानी मंगलवार को जिले में कई जगहों पर धारा 144 का खुलेआम उल्लंघन होते हुए देखा गया। अनावश्यक वस्तुओं की दुकानें भी खोली गईं। इससे साफ है कि जरूरत पड़ने पर जनपद में लॉक डाउन प्रभावी बनाने के लिए पुलिस-प्रशासन को एड़ी-चोटी का जोर लगाना पड़ेगा। हालांकि सोमवार को अफसरों की मेहनत रंग लाई थी।
राज्य सरकार ने प्रयागराज सहित प्रदेश के जिन 16 जनपदों को पहले 25 मार्च तक के लिए लॉकडाउन किया था, उनमें कौशाम्बी नहीं था, लेकिन पड़ोसी जनपद प्रयागराज की सीमा से सटे होने के कारण एहतियातन डीएम मनीष कुमार वर्मा ने यहां भी सोमवार की सुबह 11 बजे से निषेधाज्ञा लागू कर दी थी। इसके बाद पुलिस वाले अपने-अपने इलाकों में एनाउंस करके दुकानें बंद करवा रहे थे। लोगों से लगातार बेवजह घर के बाहर नहीं निकलने की अपील की जा रही थी। इसके बावजूद मंगलवार को देखा गया कि कई जगहों पर प्रशासनिक आदेशों का माखौल उड़ाया गया। शराब के ठेके तकरीबन सभी जगह मनाही के बाद भी खुले रहे। सरायअकिल इलाके में रेडीमेड कपड़ा, ताला-चाभी, हार्डवेयर पान आदि की दुकानें खुली रहीं। कमोवेश यही हाल चायल में भी रहा। यहां स्थानीय पुलिस द्वारा मना किए जाने के बाद भी सब्जी बाजार में जबर्दस्त भीड़ जमा रही। बिजिया चौराहे पर जनरल स्टोर खुले रहे। पश्चिमशरीरा में तो कोतवाली के सामने पान की दुकान खुली थी। मूरतगंज में मोबाइल आदि की दुकानों पर ग्राहकों की भीड़ जमा थी। मनौरी में भी हार्डवेयर जैसी अनावश्यक वस्तुओं की दुकानों का शटर उठा था। सड़कों पर चाट-फुल्की के ठेले लगे थे। कई जगहों पर निषेधाज्ञा होने के बाद भी पांच से अधिक लोग एक स्थान पर बैठकर गप्पे लड़ा रहे थे।
... और पढ़ें

जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में बढ़ाए गए 30 बिस्तर

जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में बढ़ाए गए 30 बिस्तर
संवाद न्यूज एजेंसी
मंझनपुर। कोरोना से जंग लड़ने के लिए स्वास्थ्य विभाग सक्रिय है। जिला अस्पताल में आइसोलेशन वार्ड में बिस्तरों की संख्या 20 से बढ़ाकर 50 का उी गई है। प्रत्येक बेड के लिए दवा, कोरोना किट, आक्सीजन सप्लाई सपोर्ट सिस्टम समेत अन्य जरूरी इंतजाम कर दिए गए हैं।
फिलहाल जिले में अभी तक एक भी कोरोना पॉजिटिव मरीज नहीं मिला है, लेकिन संक्रमण बढ़ने का खतरा बरकरार है। ऐसे में हालात कभी भी बेकाबू हो सकते हैं। इसेे लेकर सीएमएस ने संयुक्त जिला चिकित्सालय में बने कोरोना वार्ड में तीस और बिस्तर बढ़ा दिए हैं। इसके साथ ही सभी जरूरी उपकरण और दवाओं का भी इंतजाम कर दिया गया है। सीएमएस ने बताया कि अस्पताल में दस दिन तक पचास संक्रमित मरीजों का इलाज करने की व्यवस्था कर ली गई है। संक्रमण अधिक दिन भी रह सकता है। इसके लिए शासन को कम से कम एक माह के लिए सामान का स्टाक मुहैया कराने की लिस्ट भेज दी गई है।
वहीं संयुक्त जिला चिकित्सालय में इमरजेंसी में आने वाले मरीजों के साथ तीमारदार भी चेकअप करा रहे हैं। मरीज को अस्पताल में छोड़ने के बाद वह थर्मल स्क्रीनिंग कर रहे चिकित्सक के पास पहुंचकर चेकअप करा रहे हैं। चेकअप के दौरान भीड़ बढ़ने पर चिकित्सक द्वारा लाइन लगवा दी गई। ऐसे में जिनको न खासी थी न जुकाम वे भी चेकअप कराने के लिए खड़े हो गए।
... और पढ़ें

CoronaVirus: कालाबाजारी रोकने के लिए तय हुए खाद्य पदार्थों के दाम

 कोरोना महामारी से बचाव के लिए जिले में 21 दिनों के लिए घोषित लॉकडाउन में कालाबाजारी रोकने के लिए जिला प्रशासन ने थोक और फुटकर विक्रेताओं के लिए बिक्री की दर निश्चित कर दी है।

21 वस्तुओं को निर्धारित दर पर ही दुकानदार बेच सकेंगे। अगर किसी ग्राहक से निर्धारित दर से अधिक धनराशि लेते हैं तो उनके खिलाफ धारा 188 के तहत कार्रवाई होगी।
 

आज से होम डिलेवरी की सुविधा, घर बैठे मंगाइए दवा और सामान

शहर के लोगों को परेशान होने की जरूरत नहीं है। जिला प्रशासन की पहल पर दुकानदारों ने आज से होम डिलेवरी की सुविधा प्रारंभ कर दी है। आप घर बैठे फोन घुमाइए और अपनी जरूरत के सामान और दवाएं लीजिए।

दूध और किराना के सामानों की खरीद के लिए इन नंबरों पर फोन कर सकते हैं

दुकानदार का नाम    मोबाइल नंबर
अनिकेत किराना स्टोर    7800030063
रुपेश किराना स्टोर    9838532784   
बच्चा किराना स्टोर    9554340664
पवन प्रविजन    9598379897
दयाल स्टोर    9839483742
छोटेलाल किराना स्टोर    9918374806
अरविंद कसौंधन    9120902136
अभिनंदन जैन    8765007096
सहनंदन जैन    8115385632
अंकित किराना स्टोर    9005143981
राजीव किराना स्टोर    8299029260
निर्मल जैन    9506758331
बच्चा उमरवैश्य किराना स्टोर    9889182250
रंजीत जायसवाल किराना स्टोर    8960141112


होम डिलेवरी दवा के लिए इन नंबरों पर संपर्क कर सकते हैं

पवन मेडिकल स्टोर    8543980415
संजय मेडिकल स्टोर    9415628405
शारदा मेडिकल स्टोर    9451822228
मीरा मेडिकल स्टोर     8795097892
रतन मेडिकल स्टोर    9919688555
गेएंड मेडिकल स्टोर    9415628003
रमेश मेडिकल स्टोर    9415229016
जमजम मेडिकल स्टोर    9670752990
भारत मेडिकल स्टोर    8896241330
रायल मेडिकल स्टोर    9452222469
... और पढ़ें
भुपियामऊ स्थित सब्जी मंडी में ग्राहकों की लगी भीड़। भुपियामऊ स्थित सब्जी मंडी में ग्राहकों की लगी भीड़।

CoronaVirus: 70 घंटे रात-दिन साइकिल चलाकर नागपुर से घर पहुंचा बबलू

 कोरोना के चलते देश में लाकडाउन लागू होने पर नागपुर में ईंट भट्ठे परमजदूरी करने गया युवक सत्तर घंटे साइकिल चलाकर घर पहुंचा। रास्ते में खाना नहीं मिला तो सिर्फ पानी पीकर रात-दिन साइकिल चलाता रहा।

भूखा प्यासा घर पहुंचा तो रात उसे बाहर सोकर गुजारनी पड़ी। उसकी आपबीती सुनकर परिजनाें की आंखाें से आंसू छलक उठे। दूसरे दिन चेकअप के बाद वह घर में परिजनाें से मिल सका।

लालगंज कोतवाली के हंडौर पूरे बल्दियान निवासी बबलू सरोज (20) पुत्र लल्लू सरोज महाराष्ट्र के नागपुर में ईंट भठ्ठे पर मजदूरी करने गया था। तभी कोरोना का संक्रमण फैलने लगा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को लाकडाउन करने की घोषणा कर दी।

महाराष्ट्र के कई शहरों में पहले से कर्फ्यू लगा दिया गया था। कोरोना के खौफ से बबलू घर आना चाहता था, लेकिन ट्रेन व बस बंद होने से फंस गया। कोरोना से भयभीत होकर वह हर हाल में अपने परिजनाें के पास आना चाहता था। जिसके चलते गाढ़ी कमाई का जो पैसा बचा था, उससे युवक ने किसी से पुरानी साइकिल खरीदकर घर आने का फैसला कर लिया।

मंगलवार को भोर दो बजे वह साइकिल से अपने घर के लिए निकल पड़ा। रास्ते में सारी दुकानें बंद होने के चलते उसे कहीं पर चाय नाश्ता व खाना भी नसीब नही है। वह घर पहुंचने के जुनून में लगातार साइकिल चलाता रहा। भूख लगने उसे जहां कहीं पानी मिलता उसे पीने के बाद थोड़ा आराम करने के बाद फिर साइकिल चलाने लगता।

बबलू लगभग 70 घंटे साइकिल चलाकर गुरुवार की देर रात घर पहुंचा तो परिजन सन्न रह गए। रात दिन लगातार सैकड़ों किलोमीटर साइकिल चलाने के चलते उसके पैर में छाले पड़ गए थे। लेकिन यहां पहुंचने पर उसे घर के बाहर ही रात गुजारनी पड़ी। कोरोना से खौफजदा परिजन उसके पास भी नहीं गए। दूर से कुछ खाना पानी देकर उसे घर के बाहर ही सुला दिया।

शुक्रवार को वह परिजनों के साथ लालगंज सीएचसी पहुंचा और कोरोना की जांच कराई। जांच में कोरोना वायरस का कोई लक्षण नहीं मिलने पर बबलू व उसके परिजनों ने राहत की सांस ली। चिकित्सकाें ने उसे कुछ दिनाें तक घर में रहकर स्वास्थ्य की देखभाल कर निर्देश दिया है।

कोरोना निगेटिव निकलने के बाद बबलू घर पहुंचा और परिजनाें से मिलकर  आपबीती सुनाई। उसकी आपबीती सुनकर परिजनों के आंखाें से आंसू छलक उठे। नागपुर से घर पहुंचने पर ग्रामीणाें ने युवक के हौसले की सराहना की है।
... और पढ़ें

CoronaVirus: मस्जिदों के दरवाजे बंद, घरों में अदा की जुमे की नमाज

कोरोना वायरस के संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए पहली बार मस्जिदों के दरवाजे बंद हुए। लोगों ने घरों में जुमे की नमाज अदा की। शहर से लेकर गांव तक भारी फोर्स तैनात मुस्तैद थी। शहर में सुरक्षा व्यवस्था रंगरूटों के हवाले कर दी गई थी। मस्जिदों के आसपास भी फोर्स लगाई गई थी।

शुक्रवार को जुमे की नमाज प्रशासन के लिए चुनौती बनी हुई थी। अब तक जामा मस्जिदों में जुमे की नमाज होती रही है। ऐसा पहली बार हुआ जब नमाज के लिए मस्जिदों के दरवाजे बंद किए गए। कोरोना वायरस के संक्रमण से लोगों को बचाने के लिए सामाजिक दूरी बरकरार रखने के लिए मंदिरों में पूजा तो मस्जिदों में नमाज की पाबंदी लगा दी गई है।

 
... और पढ़ें

धोखाधड़ी के आरोपी को हाइकोर्ट ने दी जमानत

रेलवे स्टेशन रोड पर बंद के दौरान पसरा सन्नाटा।
इलाहाबाद हाईकोर्ट ने लॉक डाउन के दौरान जेल में बंद धोखाधड़ी के आरोपी की न सिर्फ जमानत मंजूर की है, बल्कि उसकी रिहाई के लिए स्थापित प्रक्रिया में डील देते हुए आदेश की ऑनलाइन कॉपी स्वीकार करने का आदेश दिया है।

मंझनपुर कौशांबी के कृष्ण मुरारी की सशर्त जमानत मंजूरकरते हुए कोर्ट ने कहा है कि आदेश की धोखाधड़ी के आरोपी को सशर्त जमानत आदेश की आन-लाइन कंप्यूटर कापी अधिवक्ता के हस्ताक्षर से दाखिल की जाय और कोर्ट आदेश का सत्यापन कर जमानत पर रिहा करे। कोर्ट बंद होने से आदेश की सत्यापित प्रति जारी न हो पाने के कारण आन-लाइन कापी को मान्यता प्रदान की गयी है। यह आदेश मुख्य न्यायाधीश गोविन्द माथुर ने दिया है।

कोर्ट ने कहा है कि याची जमानत का दुरूपयोग नहीं करेगा।कोर्ट कार्यवाही में सहयोग करेगा।समय पर हाजिर होगा।शर्तों के उल्लंघन की दशा में कोर्ट को कुर्की सहित कानूनी कार्रवाई की छूट होगी।याची का कहना था कि जमीन को लेकर सिविल विवाद के चलते उसे धोखाधड़ी के आरोप में फंसाया गया है। कोर्ट बंद होने के बावजूद कोर्ट ने अर्जी की सुनवाई की।और राहत दी है।
... और पढ़ें

CoronaVirus: लॉकडाउन का दिखा असर, हर तरफ सन्नाटा

सील रहीं सभी सीमाएं, बाहरियों को घुसने नहीं दिया

मंझनपुर। पहले से सील की गई जिले की सभी सीमाओं पर बुधवार को लॉक डाउन के मद्देनजर कड़ी चौकसी बरती गई। बाहरियों को बिल्कुल भी प्रवेश नहीं करने दिया गया। दूसरी जगहों से आए जनपद के लोगों को स्वास्थ्य परीक्षण के बाद ही बार्डर क्रॉस करने की इजाजत दी गई। ऐसे में गैरजनपदों से आए कई लोग बैरंग लौट गए।
कौशाम्बी जिला प्रशासन लॉक डाउन लागू कराने की सभी तैयारियां पहले ही पूरी किए हुए था। डीएम मनीष कुमार वर्मा ने सोमवार से ही जिले भर की बाजारों में बंदी कराने के साथ निषेधाज्ञा लागू कर दी थी। मंगलवार रात पीएम मोदी ने राष्ट्र को संबोधित किया तो अफसर और सक्रिय हो गए। एसपी अभिनंदन ने बताया कि जिले की सभी सीमाओं पर 16 बार्डर बनाए गए हैं।
इन बार्डरों से सिलेंडर, आवश्यक खाद्य सामग्री, जानवरों के भूसे आदि के वाहन सहित अन्य जरुरी सामान लदे भार वाहनों को ही क्रॉस होने दिया गया। दूसरे जनपद के किसी भी व्यक्ति को इंट्री नहीं दी गई। कौशाम्बी के जो लोग किसी तरह बाहर से आए उनका स्वस्थ्य परीक्षण कराने के बाद घर जाने की इजाजत दी गई। बाहरी कोई व्यक्ति साक्ष्यों के साथ ऐसी परिस्थिति नहीं बता सका, जिससे उसको बॉर्डर क्रॉस करने दिया जाए। विषेश परिस्थिति में बाहरी लोगों को स्वास्थ्य परीक्षण के बाद जिले की सीमा में प्रवेश दिया जाएगा। बाहर से आए जिन लोगों को लौटाया गया, उन्हें कई जगह पुलिसिया पूछताछ का सामना करना पड़ा। लिहाजा काफी परेशानी हुई।
कोतवालीवार यहां बनाए गए हैं बार्डर
सैनी- कनवार
कड़ा- लहदरी पुल, अलीपुरजीता (नहर पर)
पइंसा- उदिहिन (धाता रोड), खूजा पुलिया, जाम तिराहा, जहीदपुर सरैया
कोखराज- गंगा ब्रिज
पूरामुफ्ती- मंदर मोड़
पिपरी- रहीमाबाद, कटहुला रोड, असरावल भट्ठा, बजहा खेलगांव स्कूल के पास, लखनपुर
महेवाघाट- यमुना पुल, हिनौता धाता मोड़
मंझनपुर- जुबरा धाता बार्डर
----
कोरोना संक्रमण कंट्रोल रूम के नंबर
9454417886- 05331-232796
... और पढ़ें

CoronaVirus: जांच करा लो भैया, गांव-गांव आ गए हैं बंबइया

 जिले के लाखों लोग मुंबई, गुजरात, दिल्ली में रहकर परिवार के गुजर बसर के लिए काम करते हैं। कोरोना वायरस के प्रभाव को रोकने के लिए सरकार ने रेल मार्ग, सड़क मार्ग और हवाई मार्ग की यात्रा पर प्रतिबंध लगा दिया। तमाम बंदिशों के बाद भी लोग अपने घर पहुंच रहे हैं।

अब प्राइवेट वाहनों के सहारे कुछ न कुछ बहाना बताकर लोग घर आ रहे हैं। घर आने के बाद वह जांच कराने के बजाय घरों में छिपकर बैठ जा रहे हैं। परदेश से आने वाले लोगों को खोजने के लिए सेक्रेटरी, लेखपाल व आशा की ड्यूटी लगाई गई लेकिन सभी लोग खानापूर्ति कर रहे हैं। ऐसे में कोरोना के संक्रमण को फैलने से कोई रोक नहीं सकता।

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रभाव को रोकने के लिए जनता कर्फ्यू लगाया गया। लोगों के एक दूसरे के संपर्क में आने के बाद यह तेजी से फैलता है। कोरोना के खौफ को देखते केंद्र व प्रदेश सरकार ने कड़ा फैसला लेते हुए लोगों को घरों में रहने का फरमान जारी करते हुए लाक डाउन कर दिया है।

इसके बावजूद दिल्ली, मुंबई, गुजरात समेत अन्य प्रांतों में काम करने वाले लोग प्राइवेट वाहनों को बुक कर घर लौट रहे हैं। घर आने के बाद वह परिवार के साथ पहले की तरह घुल मिलकर रहने लगे हैं। सभी जांच कराना मुनासिब नहीं समझ रहे। परदेश से आने वाले लोगों के जांच न कराने से गांव के लोगों में खौफ है। एक सप्ताह के भीतर बड़ी संख्या में मुंबई में रहने वाले लोग अपने घर वापस लौटे हैं।

काफी संख्या में लोग सर्दी खांसी जुकाम से पीड़ित भी हैं लेकिन वे अस्पताल जाकर जांच कराना बेहतर नहीं समझ रहे। परदेश से आए परदेशियों को लेकर लोगों में खौफ है। हर कोई उनकी जांच कराना चाहता है ताकि गांव के लोग सुरक्षित रहें लेकिन सभी खामोश होकर अपने घरों में रुके हुए हैं।

बाहर से आने वाले परदेशियों पर निगाह रखने के लिए जिला प्रशासन ने सेक्रेटरी, लेखपाल, आशा और प्रधानों को सूचना देने की जिम्मेदारी देते हुए उनकी जांच कराने के लिए लगाया है। इसके बाद भी संबंधित लोग अपनी जिम्मेदारी से भाग रहे हैं। यदि ऐसा ही रहा तो वह दिन दूर नहीं जब गांव के लोग भी इस महामारी से जूझकर जिंदगी गंवाते नजर आएंगे।

 
... और पढ़ें

नवरात्र: कलश स्थापना के साथ शुरू हुई शक्ति की उपासना

मंझनपुर। वासंतिक नवरात्र प्रतिपदा के दिन बुधवार को कलश स्थापना के साथ जिले भर में शक्ति की उपासना शुरू हो गई। भक्तों ने घरों में कलश स्थापित कराकर ब्रत का शुभारम्भ किया। मंदिरों में कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे को लेकर कहीं पुलिस का पहरा रहा तो कहीं पर पुजारी ने स्वयं पट बंद रखा। भक्तों का आवागमन बंद होने से मंदिरों में घंट घडिय़ाल और जयकारे गूंज नहीं सुनाई दी।
नवरात्र पर्व की उपासना बुधवार को घरों में कलश स्थापना के साथ शुरू हुआ। पुरोहित से कलश स्थापित कराकर भक्तों ने नौ दिन के ब्रत का शुभारंभ मां के प्रथम स्वरूप शैलपुत्री के पूजन-अर्चन से किया। दूसरी ओर कड़ा स्थित शीतलाधाम, मंझनपुर स्थित दुर्गा मंदिर, पश्चिम शरीरा स्थित झारखंडी देवी मंदिर, अम्बारी स्थित अलोप शंकरी मंदिर के पट बंद रखे गए। पुलिस का पहरा होने और भक्तों के नहीं जाने से मंदिरों में घंट-घडियाल व जयकारे की गूंज इस मौके पर नहीं सुनाई दी। इसी तरह संचवारा स्थित अलोपशंकरी धाम में भक्तों के न जाने से सन्नाटा पसरा रहा। कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर जिले भर में लॉकडाउन के चलते मां के भक्तों में पर्व को लेकर जोश देखने को नहीं मिला। गुरुवार को भक्तों द्वारा मां के ब्रम्हचारिणी स्वरूप का दर्शन-पूजन किया जाएगा।
... और पढ़ें

दोआबा ‘लॉक डाउन’, बेपरवाहों पर चटकी लाठी

मंझनपुर। वैश्विक महामारी यानी कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए पीएम मोदी की अपील पर कौशाम्बी जिला भी लॉक डाउन कर दिया गया। 21 दिनी लॉक डाउन के पहले दिन सुबह कई जगहों पर लोगों ने बेपरवाही की। लिहाजा सख्ती दिखाते हुए पुलिस को मामूली तौर पर लाठी भांजनी पड़ी। हल्के बल का प्रयोग किए जाने के बाद ही नियमों का पालन कराया जा सका।
‘लॉक डाउन’ को देखते डीएम-एसपी के निर्देश पर सुबह छह बजे ही पुलिस ने सभी प्रमुख नगरों व गांवों में एनाउंस करके लोगों से बेवजह बाहर नहीं निकलने की अपील की। अनावश्यक वस्तुओं की दुकानें नहीं खोलने के लिए भी कह दिया गया। लिहाजा कई जगहों पर मेडिकल स्टोर तक बंद रहे। तमाम अपीलों के बावजूद करारी, सरायअकिल, भरवारी, सिराथू, अजुहा, चायल, मनौरी, पश्चिमशरीरा, मंझनपुर आदि जगहों पर अनावश्यक लोग घरों के बाहर निकले। मनमानी बढ़ती देख लॉक डाउन के नियमों का पालन कराने के लिए पुलिस को लाठी चटकानी पड़ी।
हालांकि किसी को बर्बरता के साथ नहीं पीटा गया। इतनी ही कड़ाई की गई कि जनता दहशत में आ जाए और नियमों का पालन करे। पुलिस ने रोक-रोककर लोगों को समझाया भी। बाहर निकलने का वास्तविक कारण बताने पर जाने दिया। लाठी उन्हीं के लिए उठानी पड़ी, जिनपर बातों का असर नहीं हो रहा था या सीनाजोरी कर रहे थे। पुलिस की सख्ती का नतीजा रहा कि दोपहर बाद जिले भर में पूरी तरह से सन्नाटा पसर गया। सड़क पर लोग जरुरी कामों के लिए ही निकले। डीएम मनीष कुमार वर्मा व एसपी अभिनंदन ने खुद जिले भर में मोबाइल रहकर स्थितियों का जायजा लिया। अफसरों ने इस दौरान मातहतों को लॉक डाउन का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का निर्देश दिया।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं
Ishwardin
Ishwardin

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us