बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
शनिवार का दिन, जानें इन तीन राशियों के लिए क्यों होगा शुभ ?
Myjyotish

शनिवार का दिन, जानें इन तीन राशियों के लिए क्यों होगा शुभ ?

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

मजहब के हिसाब से नाम बदलकर देती थी शादी का झांसा, लूटपाट था पेशा, अब गिरफ्त में

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अविवाहित लोगों को शादी कराने का झांसा लेकर लूट करने वाले वाले गिरोह के तीन सदस्यों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। गिरोह में एक युवती व महिला भी शामिल है। बदमाशों ने मथुरा के एक व्यक्ति को शादी का झांसा लेकर लूट की थी। इसके अलावा उससे काफी पैसा पहले ही ठगा जा चुका है।

शनिवार को पुलिस ऑफिस में प्रेसवार्ता के दौरान एएसपी समर बहादुर ने बताया कि पिछले दिनों मथुरा निवासी पूरन ने चरवा कोतवाली में शिकायत दर्ज कराई थी कि कुछ लोगों ने उसे शादी कराने का कराने का झांसा देकर लूट की है। इस पर सीओ चायल के नेतृत्व में महगांव चौकी प्रभारी वीर प्रताप सिंह की टीम को लगाया गया।
... और पढ़ें

पुलिसकर्मी बनकर सशस्त्र बदमाशों ने राहगीरों को बंधक बनाकर की लूटपाट

कौशाम्बी कोतवाली के वंशी बाबा देव स्थान के समीप शुक्रवार रात दर्जन भर बेखौफ बदमाशों ने राहगीरो को बंधक बनाकर लूटपाट की। असलहों से लैश बदमाश खुद को पुलिसकर्मी बता रहे थे। लूटपाट के शिकार लोगों ने शनिवार को कोतवाली में शिकायत दर्ज कराई तो पुलिसकर्मी भी भौचक रह गए। आशंका है कि वारदात को किसी गैर जनपद के गैंग ने अंजाम दिया है। फिलहाल पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

कौशाम्बी कोतवाली के विदांव गांव निवासी राजू चौधरी शुक्रवार शाम किसी काम से विजिया चौराहा गया था। रात करीब आठ बजे वह बाइक से घर लौट रहा था। राजू के मुताबिक जैसे ही वह वंशी बाबा देव स्थान के समीप पहुंचा तभी वहां पहले से घात लगाकर 12-15 की संख्या में बदमाशों ने उसे रोक लिया। राजू का कहना है कि सभी के पास राइफल व बंदूकें थीं। बदमाशों ने खुद को पुलिसकर्मी बताया और उससे 48 सौ रुपये नकद व 14 हजार कीमत का मोबाइल छीन लिया।  राजू की मानें तो घटनास्थल पर चार-पांच लोग पहले से ही बंधक बनाए गए थे।

इसी दौरान कबरहा गांव का राजाराम भी अपनी बाइक लेकर पहुंचा। बदमाशों ने उसे भी रोक कर उसके से 32 सौ रुपये व 12 हजार रुपये कीमत का मोबाइल छीन लिया। बदमाशों ने राजाराम से भी पुलिस के रूप में परिचय दिया। करीब दो घंटे तक सड़क पर बदमाश इसी तरह से उत्पात मचाते रहे। 12  से ज्यादा लोगों को लूटने के बाद बदमाश भाग निकले। इस मामले में शनिवार सुबह राजू ने थाने जाने पर पता चला कि कोई पुलिस वंशी बाबा देव स्थान के पास नहीं थी। लूट के शिकार राजू ने मामले में अज्ञात बदमाशों के खिलाफ पुलिस को तहरीर दी है। घटना से इलाके में दहशत है। माना जा रहा है कि क्षेत्र में किसी बाहरी गिरोह ने पनाह ले रखी है। उन्हीं लोगों ने वारदात को अंजाम दिया है।
 

इनका कहना है 

घटना की जानकारी मिली है। सात लोगों के साथ लूटपाट की बात पता चली है। मामले में एक व्यक्ति ने ही तहरीर दी है। लूटपाट करने वाले बदमाश खुद को पुलिसकर्मी बता रहे थे। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है। जल्द ही घटना का खुलासा किया जाएगा। -महामाया प्रसाद सिंह-इंस्पेक्टर कौशाम्बी 
... और पढ़ें

कौशाम्बी में रेलवे लाइन पर मिला युगल का छत-विक्षत शव, सनसनी

कोखराज कोतवाली के रोही बाईपास के समीप बुधवार रात रेलवे ट्रैक पर एक युगल का छत-विक्षत शव बरामद किया गया। दोनों की उम्र 25 से 30 साल के करीब थी। स्टेशन मास्टर की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शवों के शिनाख्त कराने का प्रयास किया, लेकिन सफलता नहीं मिल सकी। युगल ने खुदकुशी की अथवा उनकी हत्या कर लाश रेलवे ट्रैक पर फेंकी गई? फिलहाल साफ नहीं हो सका है। पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

बुधवार रात करीब 11 बजे अप लाइन पर देहरादून एक्सप्रेस गुजर रही थी। इस दौरान चालक की नजर लाइन पर पड़े एक युवक व युवती के शव पर पड़ी। लोको पायलट ने घटना की जानकारी तत्काल भरवारी रेलवे स्टेशन के अधीक्षक को दी। अधीक्षक ने मामले की सूचना पुलिस को दी। घटना की जानकारी होने के बाद मौके पर पहुंचे भरवारी चौकी इंचार्ज एसएस यादव ने शवों को ट्रैक से बाहर हटवाया।

दोनों की गर्दन धड़ से निकल चुकी थी। युवक काले रंग की जींस व टी-शर्ट पहने था। इसी तरह युवती भी काले रंग की लैगी व बैगनी रंग की कुर्ती पहने थी। घटना स्थल पर ऐसा कुछ नहीं मिला, जिससे शवों की शिनाख्त हो सके। चौकी प्रभारी एसएस यादव का कहना कि मामला खुदकुशी का लग रहा है। शवों की शिनाख्त नहीं हो सकी है। सोशल मीडिया के माध्यम से शव के शिनाख्त कराने का प्रयास किया जा रहा है। अभी हत्या की बात कहना जल्दबाजी होगी।
... और पढ़ें

जन्मदिन के बहाने दूसरी शादी रचा रहा था आशिक मिजाज युवक, बेटी संग पत्नी के पहुंचने पर खुला भेद फिर जो हुआ...

लव मैरिज के बाद एक युवक अपनी पत्नी को धोखा देने लगा। टांडा गांव में रहने वाली लक्ष्मी देवी को गांव का एक युवक प्रेमजाल में फंसाकर मुंबई ले गया। वहां कुछ दिन साथ रखने के बाद अकेला छोड़कर गांव भाग आया। किसी तरह घर पहुंची महिला ने परिजनों को आपबीती बताई तो मामला पुलिस के पास पहुंचा। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर युवक को जेल भेजा तो उसने जेल से युवती को पत्र लिखकर समझौता करने की बात कही। अदालत से हुए समझौते के बाद वह कुछ दिनों तक तो लक्ष्मी व उसकी बेटी के साथ रहा, लेकिन बाद में घर से निकाल दिया। शुक्रवार को युवक घर में जन्मदिन की पार्टी के बहाने दूसरी शादी रचाने लगा। इसकी सूचना पर लक्ष्मी व उसकी बेटी वहां पहुंच गए। इसके बाद जिस युवती से वह दूसरी शादी करने जा रहा था उसके परिजनों के सामने सारा भेद खुल गया। मामले की शिकायत पर फिलहाल पुलिस ने शादी रुकवा दी है।

वर्ष 2018 में युवक लक्ष्मी को शादी का झांसा देकर मुंबई भगा ले गया। वहां वह लोग पति-पत्नी की तरह रहे। इस दौरान लक्ष्मी ने एक बेटी को जन्म दिया। इसी बीच युवक लक्ष्मी को वहीं पर छोड़कर गांव भाग आया। इस दौरान लक्ष्मी ने एक बच्ची को जन्म दिया। इसके बाद किसी तरह लक्ष्मी भी गांव आ गई। उसने परिवार के लोगों को आपबीती बताई तो वह सन्न रह गए। मामले में लक्ष्मी के प्रेमी के खिलाफ सैनी कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराई गई। पुलिस ने आरोपी युवक को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। इस बीच जेल से युवक ने लक्ष्मी को कई खत भेजे। जिसमें उसने अपनी गलती स्वीकार करते लक्ष्मी व उससे जन्मी बेटी को अपनाने की बात कही। बाद में लक्ष्मी ने उसे माफ कर दिया और परिवार न्यायालय में दोनों पक्ष सुलह हो गई।

लक्ष्मी का कहना है कि कुछ दिन तक तो प्रेमी ने उसे साथ रखा बाद में दहेज की मांग करके प्रताड़ित करने लगा। पिछले दिनों उसे व उसकी बेटी को मारपीट कर घर से निकाल दिया गया। लक्ष्मी का आरोप है कि बृहस्पतिवार को उसका प्रेमी घर में जन्मदिन मनाने के बहाने दूसरी शादी कर रहा था। इसकी शिकायत उसने एसडीएम सिराथू से की। एसडीएम के आदेश पर अजुहा चौकी पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने फिलहाल शादी रुकवा दी है। लक्ष्मी को कोर्ट में हुए फैसले की प्रति के साथ चौकी बुलाया गया है।
... और पढ़ें
मैरिज मैरिज

Kaushambi: खरीदारी कर लौट रहे सराफा कारोबारी से नकदी व आभूषण लूटे

मंझनपुर। कोखराज कोतवाली के गरीबदास का पूरा के समीप हाईवे पर मैजिक से घर आ रहे सराफा कारोबारी से ओमनी व बोलेरो सवार बदमाशों ने मारपीट कर लूटपाट की। वारदात को अंजाम देने के बाद बदमाश कारोबारी को जान से मारने की धमकी देते हुए भाग निकले। घटना की शिकायत पुलिस से की गई है। फिलहाल, पुलिस घटना को संदिग्ध मानकर जांच कर रही है।

कोखराज कोतवाली के टेढ़ीमोड़ निवासी राम प्रताप सोनी सराफा कारोबारी हैं। राम प्रताप के पास खुद मैजिक वाहन है। बृहस्पतिवार को राम प्रताप खरीदारी के लिए प्रयागराज गए थे। राम प्रताप के मुताबिक उसने प्रयागराज में जेवरात खरीदे और रात को अपने मैजिक से घर लौट रहा था। रास्ते में उसने कुछ सवारियों को बैठा लिया। देर रात जैसे ही राम प्रताप गरीब दास का पूरा गांव के समीप पहुंचे तभी हाईवे पर पीछे से आए ओमनी कार व बोलेरो सवार बदमाशों ने उसे ओवरटेक कर रोक लिया। इसके बाद बदमाशों ने उसके साथ मारपीट शुरू कर दी। मारपीट होते देख मैजिक में बैठी सवारियां भाग निकलीं। इस बीच बदमाशों ने राम प्रताप से 30 हजार रुपये व दो लाख के जेवर लूट लिए।

लूट के शिकार राम प्रताप ने घटना की शिकायत पुलिस से की। कोखराज इंस्पेक्टर पीके राय का कहना है कि मामले की शिकायत मिली है। घटना संदिग्ध लग रही है। मामले की जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

Kaushambi: ट्रैक्टर ने मासूम को रौंदा, मौत 

सिराथू। कड़ा धाम कोतवाली क्षेत्र के दौलतपुर कसार गांव में बुधवार को करीब छह वर्षीय एक बच्चे की ट्रैक्टर से कुचलकर मौत हो गई। हादसे से आक्रोशित लोगों ने ड्राइवर को पीट दिया। पुलिस ने पंचनामा भरकर शव परिजनों के हवाले कर दिया।

दौलतपुर कसरा निवासी मोहन लाल खेती कर परिवार का गुजारा करता है। बुधवार को उसके पड़ोस में गांव के ही सुनील का ट्रैक्टर खाद लादने गया था। इस दौरान बच्चे ट्रैक्टर के इर्द-गिर्द खेल रहे थे। खाद लादने के बाद जैसे ही चालक ने ट्रैक्टर आगे बढ़ाया वैसे ही ट्राली पर बैठा मोहन का छह वर्षीय बेटा आर्यन नीचे गिर गया। चालक कुछ समझ पाता इससे पहले ट्रैक्टर आर्यन को कुचलते हुए आगे बढ़ गया। इससे बच्चे की मौके पर ही मौत हो गई।

हादसे से गुस्साए लोगों ने ट्रैक्टर रोककर ड्राइवर की पिटाई कर दी। हंगामा बढ़ता देख लोगों ने सूचना पुलिस को दे दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने मामला शांत कराया। मासूम की मौत से पीड़ित परिवार में कोहराम मचा हुआ है।
... और पढ़ें

Kaushambi: प्रतिबंधित मांस के साथ मंझनपुर के निवर्तमान चेयरमैन समेत पांच गिरफ्तार

मंझनपुर। नगर कोतवाली पुलिस ने मंगलवार की रात प्रतिबंधित मांस की तस्करी करने के आरोप में मंझनपुर नगर पंचायत के निवर्तमान चेयरमैन एवं बसपा नेता समेत पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने कार में 60 किलो प्रतिबंधित मांस बरामद करने का भी दावा किया है। सभी आरोपियों को पुलिस ने बुधवार को जेल भेज दिया। इसे लेकर बसपाइयों ने एसपी दफ्तर का घेराव कर निवर्तमान चेयरमैन के रिहाई की मांग की।


मंझनपुर कोतवाली के प्रभारी रामजीत यादव ने बताया कि मंगलवार को वह गश्त पर थे। पता चला कि कुछ लोग पतौना पुल के समीप कार लेकर खड़े हैं। गाड़ी में प्रतिबंधित मांस रखा हुआ है। वह हमराहियों के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिस को देखते ही तस्कर भागने लगे। घेराबंदी कर उन्हें पकड़ लिया गया। गाड़ी से पुलिस ने 60 किलो प्रतिबंधित मांस बरामद किया। पुलिस ने कार सहित मांस को कब्जे में लिया। पकड़े गए आरोपितों में बसपा नेता एवं मंझनपुर नगर पंचायत (इस समय नगर पालिका) के निवर्तमान चेयरमैन महताब आलम, अतीक अहमद, अनवर हुसैन निवासी लाल गोपालगंज का मजरा इमामगंज थाना नवाबगंज प्रयागराज, लल्लू उर्फ रईस निवासी चकनगर द्वितीय, वैश अहमद निवासी चकनगर प्रथम मंझनपुर शामिल हैं।


पुलिस ने सभी को कोतवाली लाकर मामला दर्ज किया। इसके बाद बुधवार को चालान न्यायालय में भेज दिया, जहां से सभी को जेल भेज दिया गया। इधर निवर्तमान चेयरमैन की गिरफ्तारी की जानकारी मिलने पर जिलाध्यक्ष संतोष गौतम की अगुवाई में बसपा के दर्जन भर नेताओं ने पहले कोतवाली और फिर बाद में एसपी आफिस का घेराव किया। एसपी से मिलकर निवर्तमान चेयरमैन के रिहाई की मांग की।

नंबर प्लेट बदलकर की जा रही थी तस्करी

मंझनपुर। पुलिस से बचने के लिए तस्करों ने कार की नंबर प्लेट बदल रखी थी। ई-एप से चेक करने पर पता चला कि सैंट्रो कार पर लगा नंबर प्लेट पश्चिमशरीरा निवासी पुष्पराज के नाम दर्ज है। पूछताछ में तस्करों ने बताया कि वह पुलिस की नजरों से बचने के लिए हर बार गाड़ी का नंबर बदल देते थे।
... और पढ़ें

पत्नी की हत्या कर किया खुदकुशी का नाटक, गिरफ्तार

एसपी आफिस का घेराव करते बसपाई।
कोखराज कोतवाली के जलापुर टेंगाई गांव में चरित्र पर शक में एक किसान ने पत्नी की सब्बल मारकर हत्या कर दी और खुद लाश के पास बेहोश होने का नाटक करते हुए लेट गया। कमरे से बच्ची के रोने की तेज आवाज सुनकर आसपास के लोगों ने अंदर देखा। बिस्तर पर महिला का खून से लथपथ शव पड़ा था। पुलिस ने खिड़की तोड़वाकर शव बाहर निकलवाया। पुलिस ने पति से सख्ती की तो उसने सच्चाई बयां कर दी। 

जलापुर टेंगाई गांव का राकेश किसानी करता है। आठ साल पहले उसकी शादी लक्ष्मी (32) के साथ हुई थी। शादी के बाद दंपती को एक बेटा रंजीत व साढ़े सात माह की बेटी रोशनी हुई। पिछले कुछ दिनों से लक्ष्मी व राकेश के रिश्तों में खटास थी। पति-पत्नी के बीच बोलचाल भी नहीं थी। मंगलवार सुबह करीब साढ़े सात बजे राकेश के घर से बेटी रोशनी के जोर-जोर से रोने की आवाज मोहल्ले वालों को सुनाई दी। इसके बाद भी घर का दरवाजा नहीं खुला तो लोग आशंकित हो गए। राकेश का बेटा रंजीत घर के बाहर ही खेल रहा था।

आशंकावश लोगों ने मकान की खिड़की के पल्ले को धक्का दिया तो वह खुल गया। अंदर का नजारा देख मोहल्ले के लोग सन्न रह गए। लक्ष्मी का शव बेड पर पड़ा था और उसके सिर से खून रिस रहा था। पास में ही राकेश औंधे मुंह पड़ा था। आननफानन मामले की जानकारी पुलिस को दी गई। सूचना पर एएसपी समर बहादुर, सीओ सिराथू योगेंद्र कृष्ण नारायण सिंह, इंस्पेक्टर कोखराज पीके राय फोर्स के साथ पहुंचे। पुलिस खिड़की तोड़कर अंदर दाखिल हुई तो देखा कि लक्ष्मी की मौत हो चुकी थी जबकि, राकेश जिंदा था।

उसके मुंह पर पानी के छींटे माए गए तो वह होश में आ गया। पुलिस ने लक्ष्मी के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। घर का दरवाजा व खिड़की अंदर से बंद होने व मकान में अंदर जाने का अन्य रास्ता नहीं होने के कारण पुलिस को राकेश पर हत्या का शक हुआ। पुलिस ने राकेश को गिरफ्तार कर कड़ाई से पूछताछ की तो वह टूट गया। राकेश ने बताया कि उसकी पत्नी का चरित्र ठीक नहीं था। इसी वजह से अक्सर झगड़ा होता था। दो महीने पहले हुए झगड़े के बाद से लक्ष्मी उससे बात तक नहीं कर रही थी। इसी वजह से सुबह उसने बेटे को घर से बाहर निकालने के बाद लक्ष्मी को सब्बल से पीटकर मार डाला। पुलिस ने राकेश को गिरफ्तार कर उसकी निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त सब्बल बरामद कर लिया है।

जलालपुर टेंगाई गांव में विवाहिता की हत्या होने की खबर के बाद तत्काल पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने देखा कि जिस कमरे में शव था वहां राकेश के अलावा अन्य कोई नहीं था। कमरे का दरवाजा भी अंदर से बंद किया गया था। इस वजह से राकेश से पूछताछ की गई तो उसने हत्या की बात कुबूल कर ली। समर बहादुर, एएसपी

सुबह गाय को दिया चारा, फिर वारदात को दिया अंजाम
मोहल्ले वालों के अनुसार राकेश ने गाय पाल रखी है। मंगलवार सुबह रोज की तरह ही उसने अपनी गाय को चारा दिया। इस दौरान उसका बेटा रंजीत बाहर आकर खेलने लगा। इसके बाद राकेश फिर से घर में चला गया। इस बीच जब रोशनी के रोने की आवाज आई तो मोहल्ले के लोगों को लक्ष्मी की हत्या के बारे में जानकारी हो सकी।

सनकी है राकेश, अब हो रहा पछतावा
पत्नी की हत्या में गिरफ्तार राकेश को अब पछतावा हो रहा है। उसने हत्या तो कर दी लेकिन, अपनी जान देने से वह डर गया। पहले नाटक रचा कि दोनों ने खुदकुशी की है लेकिन, किस्मत से वह बच निकला। जब पुलिस ने कड़ाई की तो वह सच उगलने लगा। घटना को लेकर अब उसे पछतावा हो रहा है। गांव के लोगों का कहना है कि राकेश सनकी दिमाग का था। पत्नी से उसका अक्सर विवाद होता था। इसके अलावा गांव व मोहल्ले वालों के प्रति भी उसका व्यवहार ठीक नहीं था।

भूख से रो रही थी रोशनी
मृतका लक्ष्मी का जिस बेड पर शव पड़ा था, उसी के पास में बोतल में दूध भी मिला। चर्चा रही कि जिस वक्त लक्ष्मी बेटी के लिए दूध बना रही होगी तभी राकेश ने उस पर हमला कर दिया। इसके बाद खुद भी खुदकुशी करने का नाटक करने लगा। लक्ष्मी मर चुकी थी और राकेश नाटक कर लेटा था। इस वजह से भूखी बच्ची जोर-जोर से रोने लगी तब जाकर मोहल्ले के लोगों को घटना के बारे में जानकारी हो सकी।
... और पढ़ें

किशोरी का अश्लील वीडियो बनाकर दो साल तक किया दुष्कर्म

कौशाम्बी कोतवाली इलाके के एक गांव में रहने वाली किशोरी का पड़ोसी युवक ने अश्लील वीडियो बना लिया। इसी वीडियो को वायरल करने की धमकी देकर वह डेढ़ साल तक दुष्कर्म करता रहा। इस दौरान किशोरी गर्भवती हुई तो आरोपी ने बड़े भाई की शादी होने के बाद विवाह करने की बात कहकर दो बार गर्भपात कराया। अब आरोपी शादी से मुकर गया है। मामले में किशोरी ने आरोपी के खिलाफ मंगलवार को पुलिस से शिकायत की है।

क्षेत्र के एक गांव में रहने वाली किशोरी का कहना है कि करीब डेढ़ साल पहले वह खेत की तरफ शौच करने गई थी। इस दौरान पड़ोस में रहने वाले युवक ने उसका वीडियो बना लिया। इसके बाद वह वीडियो वायरल करने की धमकी देकर आए दिन दुष्कर्म करता रहा। इस बीच किशोरी गर्भवती हो गई तो आरोपी युवक ने कहा कि बड़े भाई की शादी हो जाने के बाद वह विवाह कर लेगा।

झांसे में आई किशोरी का उसने गर्भपात करा दिया। कुछ महीनों बाद किशोरी फिर से गर्भवती हो गई। इस बार भी वही बहाना बनाकर आरोपी ने गर्भपात करा दिया। किशोरी का कहना है कि अब युवक शादी करने के लिए राजी नहीं है। उलाहना देने पर वह जान से मारने की धमकी देता है। इससे परेशान किशोरी ने मंगलवार को पुलिस से शिकायत की है। शिकायती पत्र लेने के बाद पुलिस ने कार्रवाई का आश्वासन दिया है।
... और पढ़ें

किशोरी की फोटो एडिट कर फेसबुक पर की वायरल, रिपोर्ट दर्ज

चरवा कोतवाली इलाके के एक गांव में रहने वाली किशोरी की फोटो को एडिट कर अराजकतत्वों ने फेसबुक पर वायरल कर दिया। मामले की जानकारी होने पर किशोरी की मां उलाहना देने पहुंची तो आरोपी ने अपने परिवार के साथ मिलकर उसे जमकर पीटा। घटना की शिकायत पर पुलिस ने चार लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है।

क्षेत्र के एक गांव में रहने वाली महिला ने बताया कि रतगहां गांव के बृजलाल ने उसकी बेटी की फोटो खींच ली। आरोप है कि इसके बाद फोटो को एडिट कर उसे फेसबुक पर वायरल कर दिया गया। इसकी जानकारी होने पर किशोरी ने पूरा मामला मां को बताया। इस पर किशोरी की मां उलाहना देने बृजलाल के यहां पहुंची। यहां बृजलाल ने अपने परिवार के तीन सदस्यों के साथ मिलकर किशोरी की मां को पीट दिया। शोरगुल पर पहुंचे ग्रामीणों ने बीचबचाव कर मामला शांत कराया। किशोरी की मां ने घटना की पुलिस को तहरीर दी है। पुलिस ने जांच के बाद रविवार को चार आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है।
... और पढ़ें

पत्नी की हत्या करने के बाद ड्रामेबाज पति ने खुदकुशी का नाटक किया, लेकिन पकड़ा गया, जाने क्या है पूरा मामला...

मंझनपुर। कोखराज कोतवाली के जलापुर टेंगाई गांव स्थित मकान में एक विवाहिता का रक्तरंजित शव मिला। लाश के बगल में ही उसका पति कथित तौर पर बेहोश मिला। कमरे के अंदर रो रही उसकी बच्ची की आवाज सुनकर मोहल्ले के लोग वहां पहुंचे। ग्रामीणों  ने खिड़की खोलकर देखा तो उन्हें घटना के बारे में जानकारी हुई। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने खिड़की तोड़वाकर शव बाहर निकलवाया। इस दौरान पुलिसवालों ने महसूस किया पति की सांसे चल रहीं हैं, पुलिस ने पानी का छीटा मारा तो वह होश में आ गया। इसके बाद पुलिस ने पति से कड़ाई से पूछताछ की तो वह टूट गया और हत्या की बात कुबूल कर ली। उसने बताया कि उसे पत्नी के चरित्र पर शक था, इसलिए उसे मौत के घाट उतार दिया।

जलापुर टेंगाई गांव का राकेश किसानी करता है। आठ साल पहले उसकी शादी लक्ष्मी के साथ हुई थी। शादी के बाद दंपती ने एक बेटे रंजीत व एक बेटी रोशनी को जन्म दिया। रोशनी की अभी महज सात माह की है। पिछले कुछ दिनों से लक्ष्मी व राकेश के रिश्तों में खटास थी। तब से पति-पत्नी के बीच बोलचाल भी नहीं थी। मंगलवार सुबह करीब साढ़े सात बजे राकेश के घर से रोशनी के जोर-जोर से रोने की आवाज मोहल्ले वालों को सुनाई दी। इसके बाद भी घर का दरवाजा नहीं खुला तो लोग आशंकित हो गए। राकेश का बेटा रंजीत घर के बाहर ही खेल रहा था। आशंकावश लोगों ने खिड़की के पल्ले को धक्का दिया तो वह खुल गया। अंदर का दृश्य देख मोहल्ले के लोग सन्न रह गए। लक्ष्मी का शव बेड पर पड़ा था और उसके सिर से खून रिस रहा था। पास में ही राकेश औंधे मुंह पड़ा था। दंपती की मौत की खबर लेकर गांव में फैल गई। आननफानन मामले की जानकारी पुलिस को दी गई।
सूचना पर एएसपी समर बहादुर, सीओ सिराथू योगेंद्र कृष्ण नरायण सिंह, इंस्पेक्टर कोखराज पीके राय फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिस खिड़की तोड़कर अंदर दाखिल हुई तो देखा कि लक्ष्मी की मौत हो चुकी थी जबकि राकेश की सांसें चल रहीं थीं। उसके मुंह पर पानी का छीटा मारा गया तो पता चला कि वह बेहोशी का ड्रामा कर रहा था। इसके बाद पुलिस ने कड़ाई से पूछताछ शुरू की तो उसने पत्नी की हत्या की बात कुबूल कर ली। पुलिस ने लक्ष्मी के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।
 
पुलिस के अनुसार घर का दरवाजा व खिड़की अंदर से बंद होने व मकान में अंदर जाने का अन्य रास्ता नहीं होने के कारण पुलिस को राकेश पर शक हुआ। पुलिस ने राकेश को गिरफ्तार कर कड़ाई से पूछताछ की तो वह टूट गया। राकेश ने बताया कि उसकी पत्नी का चरित्र ठीक नहीं था। इसी वजह से अक्सर झगड़ा होता था। दो महीने पहले हुए झगड़े के बाद से लक्ष्मी उससे बात तक नहीं कर रही थी। इसी वजह से सुबह उसने बेटे को घर से बाहर निकालने के बाद लक्ष्मी को सब्बर से पीटकर मार डाला। पुलिस ने राकेश को गिरफ्तार कर उसकी निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त सब्बल बरामद कर लिया है।

एएसपी समर बहादुर सिंह ने बताया कि जलालपुर टेंगाई गांव में विवाहिता की हत्या होने की खबर के बाद पुलिस तत्काल मौके पर पहुंची। पुलिस ने देखा कि जिस कमरे में शव था वहां राकेश के अलावा अन्य कोई नहीं था। कमरे का दरवाजा भी अंदर से बंद किया गया था। इस वजह से राकेश से पूछताछ की गई तो उसने हत्या की बात कुबूल कर ली। 
 
 

सुबह गाय को दिया चारा, फिर वारदात को अंजाम दिया

मोहल्ले वालों के अनुसार राकेश ने गाय पाल रखी है। मंगलवार सुबह रोज की तरह ही उसने अपनी गाय को चारा दिया। इस दौरान उसका बेटा रंजीत बाहर आकर खेलने लगा। इसके बाद राकेश फिर से घर में चला गया। इस बीच जब रोशनी के रोने की आवाज आई तो मोहल्ले के लोगों को घटना के बारे में जानकारी हुई।
 

भूख से बिलबिला रही थी रोशनी

मौका मुआयना के बाद पुलिस ने अनुमान लगाया कि शायद मृतका लक्ष्मी अपनी बेटी रोशनी को दूध पिलाने जा रही होगी। जिस बेड पर लक्ष्मी का शव पड़ा था, उसी के पास में बॉटल निपल भी मिला। चर्चा रही कि जिस वक्त लक्ष्मी बेटी के लिए दूध बना रही होगी तभी राकेश ने उस पर हमला कर दिया। इसके बाद खुद भी खुदकुशी करने का नाटक करने लगा। लक्ष्मी मर चुकी थी और राकेश नाटक किए लेटा था। इस वजह से भूखी बच्ची जोर-जोर से रोने लगी तब जाकर मोहल्ले के लोगों को जानकारी हो सकी। 
 

सनकी है राकेश, अब हो रहा पछतावा

पत्नी की हत्या में गिरफ्तार राकेश को पछतावा हो रहा है। उसने हत्या तो कर दी, लेकिन अपनी जान देने में वह डर गया। पहले नाटक रचा कि दोनों ने खुदकुशी की, लेकिन किस्मत से वह बच निकला। लेकिन जब पुलिस ने कड़ाई की तो वह सच उगल बैठा। घटना को लेकर अब उसे पछतावा हो रहा है। गांव के लोगों का कहना है कि राकेश सनकी दिमाग का था। पत्नी से उसका अक्सर विवाद होता था। इसके अलावा गांव व मोहल्ले वालों के प्रति भी उसका व्यवहार ठीक नहीं था।
... और पढ़ें

कौशाम्बी में महिला की गला काटकर हत्या, नहर में मिली सिरकटी लाश, नहीं मिला सिर

कोतवाली के भैला मकदूमपुर गांव के पास नहर में बृहस्पतिवार की सुबह एक महिला की सिरकटी लाश मिलने से सनसनी फैल गई। महिला के कपड़े अस्त व्यस्त और दोनों पैर बंधे थे। पुलिस की तमाम कोशिश के बावजूद लाश की पहचान नहीं हो सकी है। सूचना पर कई थानों की फोर्स के साथ पहुंचे एसपी ने मौका मुआयना किया। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

करारी कोतवाली के भैला मकदूमपुर गांव के ग्रामीण बृहस्पतिवार की सुबह नहर के रास्ते अपन खेत जा रहे थे। ग्रामीणों की नजर अरविंद मिश्र के नलकूप के पास नहर में करीब 35 वर्षीय एक महिला की सिरकटी लाश पर पड़ी। विवाहिता की सिरकटी लाश मिलने की खबर जंगल में आग की तरह फैल गई। कुछ ही देर में आसपास के ग्रामीणों की भीड़ मौके पर इकट्ठा हो गई। महिला के कपड़े अस्त व्यस्त थे।
 
... और पढ़ें

वृद्ध मां-बाप को तमंचा दिखाकर धमकाने वाला बेटा थाने से फरार

सरायअकिल के कोटिया गांव में कर्ज के पैसे न लौटाना पड़े इसके लिए षडयंत्र के तहत वृद्ध पिता को तालाब में धकेलने और मां को तमंचा सटाकर वीडियो बनाने का आरोपी बेटा थाने से फरार हो गया है। इसे लेकर कोतवाली में हड़कंप मचा हुआ है। पुलिस मामले को अब दबाने में जुटी हुई है। 

 कोटिया निवासी तीरथ के बेटे मनोज कुमार ने चरवा के रामपुर निवासी एक रिश्तेदार से पांच हजार रुपये उधार लिए थे। इसे लेकर मनोज और कपिल के बीच में आए दिन विवाद होता था। कर्ज चुकता नहीं करना पड़े इसके लिए मनोज ने एक षडयंत्र रचा। मनोज ने अपने वृद्ध पिता तीरथ और मां को गांव के बाहर नलकूप में ले जाकर उनके साथ अमानवीयता की, हालांकि यह महज एक ड्रामा था। मनोज खुद बदमाश बन गया और नकली तमंचा लेकर पिता को तालाब में धकेल दिया। पति को बचाने आई मां को मनोज ने तमंचा सटा कर धमकाया।

पूरे प्रकरण का वीडियो उसने अपनी बेटी से बनवाया और कपिल को फंसाने की नीयत से खुद ही वीडियो को वायरल कर दिया। यह वीडियो जब पुलिस के हाथ लगा तो हड़कंप मच गया। पूरे प्रकरण की विधिवत जानकारी और छानबीन के लिए पुलिस ने दोनों पक्षों को थाने बुलाया और आरोपी मनोज कुमार के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर हिरासत में ले लिया। इसी बीच मंगलवार की रात आरोपी मनोज पुलिस को चकमा देकर थाने से फरार हो गया। इससे थाने में हड़कंप मच गया। पुलिस की तमाम कवायद के बावजूद आरोपी का कोई सुराग नहीं लगा। इसे लेकर सरायअकिल इंस्पेक्टर कुछ भी बोलने से कतराते रहे। सीओ चायल श्यामकांत ने बताया कि पुलिस हिरासत से आरोपी के फरार होने की उन्हें कोई जानकारी नहीं है। यदि ऐसा है तो जिम्मेदारों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us