विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020
Astrology Services

विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

उत्तर प्रदेश : योगी सरकार का चौथा बजट आज, वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना करेंगे पेश

वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना मंगलवार को विधानसभा में योगी सरकार का चौथा बजट पेश करेंगे। वित्त वर्ष 2020-21 के लिए प्रस्तावित बजट से प्रदेश को बड़ी उम्मीदें हैं।

18 फरवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

महाराजगंज

मंगलवार, 18 फरवरी 2020

संसाधनों के अभाव में भयावह हो सकती है जंगलों की आग

वन की आग बुझाने के इंतजाम नहीं
महराजगंज। गर्मी में आग लगने की घटनाएं अधिक होती हैं। सामान्य स्थल हो अथवा जंगल आग लगने की वजह से जो हानि होती है, उसकी भरपाई आसान नहीं होती। वन एवं वन्यजीवों के मामले में महत्वपूर्ण माने जाने वाले जिले के सोहगीबरवां वन्यजीव प्रभाग व अन्य प्रभाग के जंगलों में आग से बचाव के लिए स्थाई व्यवस्था न होना गंभीर चिंता का विषय है। यदि जिम्मेदारों ने इस दिशा में समय रहते सार्थक पहल नहीं की तो कभी भी उनको इसकी भारी कीमत चुकानी पड़ सकती है।
जिले के सोहगीबरवां प्रभाग में सात वन क्षेत्र तथा गोरखपुर वन प्रभाग के दो वन क्षेत्र हैं। इन सभी में वन संपदा अत्यंत अधिक है। सोहगीबरवां में तो वन्यजीवों की संख्या अधिक है। वन एवं वन्यजीवों के संरक्षण के लिए विभाग द्वारा बार-बार पहल की जाती है मगर इस प्रकार की किसी विपरीत परिस्थिति से निपटने की दिशा में प्रभावी पहल नहीं की जाती। विभाग तैयारियों के नाम पर जंगलों में फायर लाइन का निर्माण करा देता है तथा सूख कर गिरे पत्तों को कर्मियों के देखरेख में जलवा देता है। गर्मी आने वाली है, इन दिनों आग की घटना बढ़ती है लेकिन उस पर त्वरित रूप से अंकुश लगाने के लिए विभाग के पास कोई स्थाई संसाधन मौजूद नहीं है। यदि समय रहते हुए जिम्मेदारों ने संसाधनों को लेकर गंभीरता नहीं दिखाई तो कभी भी बड़ी समस्या उत्पन्न हो सकती है। किसी प्रकार की अप्रिय स्थिति से बचने के लिए विभागीय जिम्मेदारों को इस पर सार्थक पहल करना होगा। सोहगीबरवां वन्यजीव प्रभाग के प्रभागीय वनाधिकारी पुष्प कुमार कांधला ने बताया कि वन क्षेत्रों में फायर लाइन कटिंग का कार्य कराया जा रहा है। संसाधनों की उपलब्धता को लेकर भी कवायद की जाएगी।
तीन वन क्षेत्रों में पहले लग चुकी है आग
गोरखपुर वन प्रभाग के बांकी रेंज व फरेंदा रेंज तथा सोहगीबरवां वन्यजीव प्रभाग के निचलौल रेंज में पहले आग लगने की घटना हो चुकी है। गनीमत रही कि उसे समय रहते काबू कर लिया गया।
आग रोकने के लिए इन संसाधनों की है आवश्यकता
- वाटर टैंकर
- आग से बचाव के लिए प्रशिक्षित कर्मचारी
- जंगल के अंदर पानी की उपलब्धता वाले स्थल
... और पढ़ें

पिता ने शहीद बेटे की मूर्ति पर फेरा हाथ तो फफक पड़े लोग, कहा- बच्चे के जाने का गम तो आजीवन रहेगा

पिता ने शहीद बेटे की प्रतिमा पर फेरा हाथ

पिता ने शहीद बेटे की मूर्ति पर फेरा हाथ तो फफक पड़े लोग
फरेंदा (महराजगंज)। शहीद पंकज के जाने का गम तो पूरी जिंदगी सभी को सताता रहेगा, लेकिन फक्र से सीना भी चौड़ा हो रहा है कि एक बेटा देश की सेवा करते हुए शहीद हो गया। अब देश को जरूरत पड़ी तो दूसरे बेटे को भी सेना में भेजेंगे। सरकार को जब भी पाकिस्तान को मुंहतोड़ जबाब देने की जरूरत पड़ेगी तो दूसरा बेटा भी सीना तान कर आगे होगा। यह कहते हुए शहीद के पिता ओमप्रकाश त्रिपाठी फफक कर रो पड़े। घटना के एक वर्ष बीत जाने के बाद भी यादें अभी ताजी बनी हुई हैं। भीड़ को देेख परिजन वर्ष भर पूर्व के मंजर याद करते हुए गमगीन हो गए।
शुक्रवार को शहीद पंकज त्रिपाठी के स्मारक पर लगी मूर्ति पर पुष्प अर्पित करने का सिलसिला शुरू हुआ। सभी ने श्रद्धांजलि दी। वहीं पिता बेटे की मूर्ति को हाथों से सहलाते हुए आंखों में आंसू लेकर यादों में खो गए। लड़खड़ाते बूढ़े कदमे के बीच मां सुशीला देवी, बहू रोहिनी के साथ स्मारक पर पहुंचीं तो सभी लोग भावुक हो गए। मां जहां बेटे की मूर्ति को एकटक निहारते हुए दहाड़ मारकर रोने लगीं, वहीं पत्नी रोहिनी की आंखों से निकलते आंसू थमने का नाम नहीं ले रहे थे। पति की मूर्ति के ऊपर सिर पटक कर रो रही थीं। पांच वर्षीय बेटे प्रतीक ने भी पिता की मूर्ति पर पुष्प अर्पित करते हुए सैल्यूट किया। नन्हीं आंखें अभी भी पिता को ही तलाश रही थी। शहीद की तीन बहनें महिमा, ममता व सीमा भी भाई की मूर्ति के करीब पहुंचीं तो उनकी आंखें भी छलक पड़ीं, बहनों ने भाई की मूर्ति को पकड़कर काफी देर तक विलाप किया, वहां का मंजर देख सभी की आंखे नम हो गईं।
शहीद की पत्नी को दिया चेक
पुलवामा में शहीद पंकज त्रिपाठी की शहादत के एक वर्ष पूरे होने पर जुटे अधिकारियों ने संवेदना व्यक्त करते हुए सीआरपीएफ के एसआई फरहाद खान ने शहीद की पत्नी रोहिनी को एक लाख 27 हजार पांच सौ रुपये का चेक प्रदान किया। चेक लेते समय पत्नी रोहिनी की आंखें भर आईं, जिस पर एसआई ने ढांढस बंधाते हुए कहा कि विभाग सहित पूरा देश उनके परिवार के साथ खड़ा रहेगा।
जनप्रतिनिधियों के न पहुंचने पर नाराज हुए लोग
पुलवामा में शहीद पंकज त्रिपाठी कीे बरसी पर लगे मेले में क्षेत्र के कोई भी जनप्रतिनिधि नहीं पहुंचे। पिता ओमप्रकाश त्रिपाठी ने कहा कि शहीद के एक वर्ष पूरे होने के बाद जनप्रतिनिधि भूल रहे हैं। उस दिन सभी ने आश्वासन दिया था कि हमेशा शहीद परिवार के साथ खड़े रहेंगे, लेकिन अब लोग भूल रहे हैं। न तो सांसद पहुंचे और न ही विधायक।
घोषणाएं नहीं हुईं पूरी
हरपुर के बेलहिया में शहीद पंकज त्रिपाठी की शहादत पर की गई घोषणाएं बेकार साबित हो रही हैं। समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक विनोद तिवारी ने कहा कि शहादत के एक वर्ष बीत जाने के बाद भी क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि के साथ भी कोई भी सत्ता पक्ष का न पहुंचना दुखद है। कांग्रेस नेता त्रिभुवन नरायन मिश्रा ने कहा कि शहीद की याद मे की गई घोषणाएं भी नहीं पूरी हो सकी। गांव में बन रहा क्रीड़ास्थल, सड़क के चौड़ीकरण आदि कार्य अभी तक शुरू नहीं हो सके हैं।
... और पढ़ें

हथौडा, चाकू से मार कर महिला की हत्या

हथौडा, चाकू से वार कर महिला की हत्या
सोनौली/ महराजगंज। स्थानीय कस्बे के बस स्टैंड के पास एक मकान से खून से लथपथ एक महिला का शव पुलिस ने बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। घटनास्थल से पुलिस ने चाकू और हथौडी बरामद किया है। मृत महिला के पिता की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर पुलिस घटना की जांच कर रही है। घटना के मृत महिला का पति अपने दो बच्चों के साथ फरार बताया जा रहा है।
सोमवार की सुबह सोनौली पुलिस को सूचना मिली कि एक कमरे में महिला की लाश पड़ी है। मौके पर पहुंची पुलिस ने लाश को कब्जे में लेकर लोगों की मदद से महिला के परिजनों को सूचित किया। बताया गया है कि कोल्हुई निवासी शकीना (36) तथा दो बच्चों के साथ लंबे समय से किराए के मकान में पति के साथ रहता थी। पति ठेला पर फल बेचकर रोजगार करता है। घटना की सूचना पर पहुंचे महिला के पिता इरशाद ने सोनौली पुलिस को तहरीर देकर बताया है कि उसकी बेटी का पति से काफी दिनों से कहासुनी चल रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि दामाद आखिर अली ने शकीना की हत्या कर दोनों बच्चों के साथ फरार हो गया है। बच्चों की उम्र पांच साल और तीन साल है। कोतवाल निर्भय सिंह ने बताया कि महिला के पिता की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर घटना की जांच की जा रही है।
... और पढ़ें

कोटेदारो को मिलने वाले राशन ढुलाई में घोटाले की आशंका

कोटेदारों को मिलने वाले राशन ढुलाई में घोटाले की आशंका
महराजगंज। राशन की ढुलाई में घोटाले की आशंका जाहिर हो रही है। यह गड़बड़ी जिले में ही नहीं आसपास के जिलों में भी है। कोटेदारों को राशन की ढुलाई का भाड़ा नहीं दिया गया है। कहीं ऐसा तो नहीं की विभाग की ओर से ढुलाई मद के रकम को हजम कर लिया गया हो। इसे लेकर कोटेदारों ने अपने संगठन के माध्यम से कई बार आवाज बुलंद की, लेकिन उनकी आवाज आज भी फाइलों में बंद है। इस मामले की जानकारी जन सूचना अधिकार अधिनियम के तहत मिली सूचना से हुई है। संभागीय खाद्य विपणन अधिकारी गोरखपुर ने पूरी जानकारी दी है।
संभागीय खाद्य विपणन अधिकारी की ओर से जारी पत्र के अनुसार महराजगंज जिले के सदर, सिसवा, निचलौल, लक्ष्मीपुर एवं परतावल ब्लॉक के कोटेदारों को ढुलाई भाड़ा वर्ष 2014 में दिया गया है। शासन के निर्देश के मुताबिक 10 किमी की दूरी तक 15 रुपया प्रति क्विंटल एवं 11 किमी से अधिक दूरी के लिए 18 रुपये प्रति क्विंटल की दर से भाड़ा देना है। वहीं गोरखपुर एवं देवरिया के कुछ ब्लॉक के कोटेदारों को वर्ष 2016-17 में भुगतान किया गया है। वहीं गोरखपुर, महराजगंज, देवरिया, कुशीनगर में वर्ष 2012-13, 2013-14 एवं वर्ष 2015-16 में कोई भुगतान नहीं हुआ है, जबकि नियम के मुताबिक विशेष सचिव की ओर से जारी पत्र में ढुलाई भाड़ा देने का निर्देश है।
आरटीआई कार्यकर्ता अनिल कुमार गुप्ता ने कहा कि जन सूचना अधिकार के तहत सूचना मिलने पर इस बात की जानकारी हुई है। कोटेदारों को राशन ढुलाई मद में रकम नहीं दी जा रही है। उन्हें यह रकम मिलनी चाहिए। विभागीय अधिकारियों की यह लापरवाही है। कहीं ऐसा तो नहीं की ढुलाई मद में आए रकम को अधिकारी हजम कर गए।
जिलापूर्ति अधिकारी गौरीशंकर शुक्ल ने बताया कि भाडे़ के भुगतान के लिए कोटेदारों को पत्रावली तैयार कर जिला खाद्य विपणन अधिकारी कार्यालय को देना पड़ता है। वहीं से उनके भाड़े की धनराशि दी जाती है। जिले में 993 ग्रामीण एवं 54 कोटेदार शहरी क्षेत्र में हैं।
जिला खाद्य विपणन अधिकारी अखिलेश कुमार सिंह ने बताया कि कोटेदारों से डिमांड करने के लिए कहा जाता है। जब तक जरूरी प्रपत्र कार्यालय को उपलब्ध नहीं होंगे तो भुगतान कैसे किया जाएगा।
... और पढ़ें

कायाकल्प की प्रदेश स्तरीय टीम जिला अस्पताल में परखेगी मानक

प्रदेश स्तरीय टीम जिला अस्पताल की देखेगी सुविधाएं
महराजगंज। 18 व 19 फरवरी को क्वालिटी इंश्योरेंश कार्यक्रम के कायाकल्प अवार्ड के लिए प्रदेश स्तरीय टीम जिला अस्पताल में सूची के अनुसार सुविधाओं के बारे में जांच करेगी। अगर 70 प्रतिशत से अधिक अंक मिला तो अस्पताल को धनराशि व प्रमाणपत्र देकर सम्मानित किया जाएगा। इसके लिए जिला अस्पताल को तैयार किया जा रहा है।
जिला सलाहकार क्वालिटी इंश्योरेंश डॉ. संतोष कुमार ओझा ने बताया कि जिला अस्पताल में 18 व 19 फरवरी को क्वालिटी इश्योरेंश कार्यक्रम के कायाकल्प अवार्ड के तहत अस्पताल के रखरखाव, इंफेक्शन कंट्रोल, बायोमेडिकल बेस्ट निस्तारण, अस्पताल के बाहरी परिवेश की जांच कर चेकलिस्ट के अनुसार सात बिंदुओं पर जरूरी जांच कर प्रदेश स्तर पर जरूरी प्रपत्र जमा किया जाएगा। इसके अनुसार अंक पर ही अस्पताल को पुरस्कार दिया जाएगा।
उन्होंने बताया कि पूर्व में जिला अस्पताल को कायाकल्प अवार्ड में सांत्वना पुरस्कार के रूप में 3 लाख रुपये से सम्मानित हुए थे। टीम में जांच के लिए प्रदेश स्तर से डॉ. शालिनी, डॉ. प्रियंका व गोरखपुर डीपीएम पंकज को नामित किया गया है। उन्होंने बताया कि जिला अस्पताल के अलावा जिले के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को भी इस योजना के तहत शामिल किया गया है। जल्द ही संबंधित अस्पतालों में टीम के जांच के लिए समय का निर्धारण होगा।
... और पढ़ें

यूपी बोर्ड की परीक्षाएं आज से, पंजीकृत हैं 73

यूपी बोर्ड की परीक्षाएं आज से, पंजीकृत हैं 73868 परीक्षार्थी
महराजगंज। मंगलवार से प्रारंभ हो रही यूपी बोर्ड की परीक्षा के लिए जिले में कुल 73868 परीक्षार्थी पंजीकृत हैं। परीक्षा को बेहतर ढंग से संपन्न कराने के लिए केंद्रों पर दिनभर तैयारियां होती रहीं। सीसीटीवी कैमरे आदि की भी सक्रियता देखी गई। जिलाधिकारी डॉ. उज्ज्वल कुमार ने भी परीक्षा केंद्रों पर पहुंच कर तैयारियों का जायजा लिया।
शासन द्वारा यूपी बोर्ड की परीक्षा को निष्पक्ष, पारदर्शी व शुचितापूर्ण ढंग से संपन्न कराने के लिए नियमित रूप से बैठकों व समीक्षा का दौर चला। तैयारियों की वास्तविकता को भी कई बार जांचा गया। सोमवार को परीक्षा केंद्रों पर डेस्क स्लिप लगाने, साफ-सफाई संबंधी कार्य को पूरा कराया गया। जिलाधिकारी ने नगर के गणेश शंकर विद्यार्थी स्मारक इंटर कालेज व महराजगंज इंटर कालेज में पहुंचकर तैयारियों की वास्तविकता देखी। उन्होंने जिम्मेदारों को निर्देशित किया कि बोर्ड परीक्षा को पूरी पारदर्शिता से कराएं। किसी प्रकार की गड़बड़ी मिलने पर दोषियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी। केंद्रों के निरीक्षण के दौरान जिला विद्यालय निरीक्षक अशोक कुमार सिंह, विजय बहादुर सिंह, अमरेंद्र शर्मा व महराजगंज इंटर कालेज के जिम्मेदार मौजूद रहे।
जिले में दो संकलन केंद्र भी बनाए गए
जिला विद्यालय निरीक्षक अशोक कुमार सिंह ने बताया कि यूपी बोर्ड की उत्तर पुस्तिकाओं को जमा करने के लिए जिले में दो संकलन केंद्र बनाए हैं। सदर व निचलौल तहसील के 69 परीक्षा केंद्रों की उत्तर पुस्तिकाएं महराजगंज इंटर कालेज में बने संकलन केंद्र पर जमा होंगी। वहीं फरेंदा व नौतनवां के 29 परीक्षा केंद्रों की उत्तर पुस्तिकाएं सेठ आनंदराम जयपुरिया इंटर कालेज में बने उपसंकलन केंद्र में जमा की जाएंगी।
वेबकास्टिंग से केंद्रों पर नजर रखेंगी सात टीमें
यूपी बोर्ड की परीक्षा के लिए जिले में कुल 98 केंद्र बनाए गए हैं। वेबकास्टिंग के माध्यम से इन पर नजर रखने के लिए जीएसवीएस इंटर कालेज में नियंत्रण कक्ष बनाया गया है। नियंत्रण कक्ष में सात टीमों को लगाया गया है, जो परीक्षा केंद्रों की गतिविधियों पर नजर रखेंगी। प्रत्येक टीम में दो कर्मियों को रखा गया है। डीएम ने जीएसवीएस में बने नियंत्रण कक्ष में पहुंचकर वेबकास्टिंग व्यवस्था के बारे में भी जानकारी प्राप्त की तथा आवश्यक दिशानिर्देश दिया।
कंट्रोल रूम में इन नंबरों पर दें सूचना
जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय -किसी प्रकार की अप्रिय स्थिति के उत्पन्न होने पर केंद्र के जिम्मेदार व आमजन नियंत्रण कक्ष के नंबर 9984286706 तथा जिला विद्यालय निरीक्षक के नंबर 9454457344 पर सूचना दे सकते हैं।
वेबकास्टिंग संबंधी---किसी प्रकार की सूचना जीएसवीएस के नियंत्रण कक्ष के प्रभारी व अपर उप जिलाधिकारी के मोबाइल नंबर 9005854545पर दी जा सकती है।
चार सचल दल टीम भी करेगी निगरानी
यूपी बोर्ड की प्रारंभ हो रही परीक्षा पर निगरानी के लिए चार सचल दल टीम को लगाया है। जिला विद्यालय निरीक्षक, डायट प्राचार्य, बेसिक शिक्षा अधिकारी, माध्यमिक शिक्षा विभाग के वित्त लेखाधिकारी के नेतृत्व वाली सचल दल परीक्षा केंद्रों पर पहुंचकर निगरानी करेगी।
------------------यूपी बोर्ड परीक्षा एक नजर में
कुल परीक्षा---73868
हाईस्कूल के पंजीकृत परीक्षार्थी-----41471
इंटरमीडिएट के पंजीकृत परीक्षार्थी--32397
परीक्षा में तैनात सेक्टर मजिस्ट्रेट--15
परीक्षा में तैनात स्टेटिक मजिस्ट्रेट--04
परीक्षा में तैनात जोनल अधिकारी-05
बोर्ड परीक्षा में आज
हाई स्कूल में हिन्दी, प्रारंभिक हिन्दी-8 बजे से 11.15 बजे तक
इंटर में हिन्दी, सामान्य हिन्दी-2 बजे से 5.15 बजे तक
... और पढ़ें

यूपी: शादी के लिए नहीं मान रही थी लड़की, नाराज प्रेमी ने फिल्मी अंदाज में कर लिया अपहरण

बोर्ड परीक्षा को लेकर डेस्क पर स्लिप चस्पा करते शिक्षक।
कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में फिल्मी अंदाज में युवती का अपहरण का युवक फरार हो गए। युवती से शादी करने के लिए युवक ने उसका अपहरण कर लिया। अब युवती के परिजनो की तहरीर पर पुलिस चार आरोपियों पर अपहरण समेत अन्य धारा में केस दर्ज कर मामले की जांच में जुटी है।

मामला पांच फरवरी की शाम का है। कोतवाली क्षेत्र के गांव की युवती को गांव के कुछ महिलाएं साथ में शाम को शौच के लिए गांव के बाहर ले गई। रास्ते में बाइक सवार पहले मौजूद रहे। युवती को बाइक सवारो ने रोक लिया। उसे जबरन गाड़ी पर बैठाकर लेकर चले गए।

गांव के कुछ लोगों ने देखा तो शोर मचाया लेकिन बाइक सवार युवती को लेकर फरार हो गए। इस मामले की जानकारी होने पर युवती के परिजन तलाश करने लगे। आरोपी युवक के घर गए तो उसके परिजन झगड़ा करना शुरू कर दिए।

काफी खोजने के बाद भी युवती का पता नहीं चलने पर उसके पिता ने कोतवाली में तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की। रविवार की शाम को कोतवाली पुलिस ने चार आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज की।

बताया जा रहा है कि युवती का युवक से प्रेम संबंध था। उसने शादी के लिए मना किया तो युवक गुस्सा होकर उसका अपहरण कर लिया। कोतवाल सर्वेश कुमार सिंह ने बताया कि केस दर्ज कर आरोपियों की तलाश की जा रही है। जल्दी ही आरोपी पकड लिए जाएंगे। 
... और पढ़ें

70 स्कूल बसों में नहीं मिला कैमरा, वाहन स्वामियों का चेतावनी

70 स्कूल बसों में नहीं मिले कैमरे, वाहन मालिकों को चेतावनी
महराजगंज। जिले के स्कूलों में चलने वाले वाहनों के मानकों की जांच की जा रही है। रविवार को संभागीय निरीक्षक संजय सिंह ने जिले के विभिन्न स्कूलों से कुल 82 बसों को लाकर उसके मानक की जांच की। जिससे 70 बसों में कैमरे, जीपीएस आदि नहीं लगे थे। जिससे संबंधित वाहन चालकों को एक सप्ताह में मानक के अनुसार उपकरण लगवाने की चेतावनी दी।
उन्होंने बताया कि स्कूली बसों व छोटे वाहन में जरूरी मानक तय किए गए हैं। जीपीएस, लोकेशन टैकिंग सिस्टम, कैमरा, आपातकालीन खिड़की के लिए जरूरी मानक, पीले रंग में रंगे होने सहित अन्य मानक तैयार किए गए हैं। बसों के लिए 25 और छोटे वाहनों के लिए 14 बिंदु निर्धारित किए गए हैं। जिले के सभी स्कूल में चलने वाले वाहनों को जांच के लिए एआरटीओ कार्यालय बुलाया गया था। विभिन्न स्कूलों के ही केवल 82 वाहन ही आए। जांच के दौरान केवल 12 वाहनों में ही कैमरे, लोकेशन ट्रैकिंग सिस्टम सहित अन्य उपकरण ठीक मिले। आए हुए 70 वाहनों में उपकरण ठीक नहीं मिले। संबंधित वाहन स्वामियों को वाहन में जरूरी उपकरण एक सप्ताह में लगवाने की चेतावनी दी गई। लेकिन अभी भी तमाम वाहन स्वामियों द्वारा अपने वाहन की जांच नहीं कराई गई।
वरिष्ठ सहायक नसीम अहमद ने कहा कि ऐसे स्कूल वाहन स्वामियों को नोटिस भेजकर रविवार को अपने स्कूल के वाहनों की जांच के लिए एआरटीओ कार्यालय परिसर में लाया गया। अगले रविवार को भी स्कूल वाहन भेजने को कहा गया है। अगर स्कूल वाहन एआरटीओ कार्यालय समय से नहीं पहुंचे तो कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

आवास निर्माण की गति सुस्त, बने महज

आवास निर्माण की गति सुस्त, बने महज 81
महराजगंज। जिले में मुख्यमंत्री आवास के निर्माण की प्रगति सुस्त है, जिससे लाभार्थियों का आवास लक्ष्य के अनुरूप पूरा होने में ज्यादा वक्त लगेगा। इसे लेकर संबंधित अधिकारी भी सुस्त हैं। यही कारण है कि अभी तक महज 81 आवास का निर्माण पूरा हुआ है। धानी, घुघली, परतावल और सिसवा ब्लॉक में एक भी आवास का निर्माण पूरा नहीं हुआ है। वहीं योजना के तहत आवास बनवाने के लिए लाभार्थी विभाग का चक्कर लगाने को विवश हैं।
मुख्यमंत्री आवास योजना ग्रामीण का लक्ष्य 979 निर्धारित है। अभी तक 81 आवासों का निर्माण पूरा हुआ है। बृजमनगंज ब्लॉक में 74 आवास की जगह छह, लक्ष्मीपुर में 105 की जगह 14, महराजगंज सदर में 45 की जगह एक, मिठौरा में 73 की जगह तीन , नौतनवां में 12 की जगह पांच, निचलौल में 444 की जगह 28, पनियरा में 37 की जगह एक, फरेंदा में 103 की जगह 23 आवास ही बन सके हैं। इसके अलावा धानी में दो, घुघली में एक, परतावल में 69 और सिसवा ब्लॉक में 14 आवास निर्माण का लक्ष्य दिया गया है। लेकिन एक भी आवास का काम पूरा नहीं हुआ है। वहीं योजना के तहत आवास बनवाने की आस लगाकर कई लाभार्थी बैठे हैं। अधिकारी इसे लेकर ज्यादा गंभीर नहीं हैं। यहीं कारण है कि आवास निर्माण में तेजी नहीं आ रही है। लोगों का कहना है कि पहले तो योजना के तहत चयनित होने के लिए अधिकारियों के दफ्तर का चक्कर लगाना पड़ता है। अगर चयन हो गया तो रकम समय समय से नहीं मिलती है। यही कारण है कि आवास निर्माण में तेजी नहीं आ रही है, जबकि संबंधित विभाग का दावा है कि लक्ष्य को पूरा करने के लिए तेजी से प्रयास किए जा रहे हैं। जल्दी ही लक्ष्य को पूरा कर लिया जाएगा।
मुख्य विकास अधिकारी पवन अग्रवाल ने बताया कि मुख्यमंत्री आवास के निर्माण में तेजी लाने के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया गया है। निर्माण के प्रगति का पर्यवेक्षण हर रोज किया जाता है। लापरवाही किसी भी दशा में बर्दाश्त नहीं की जाएगी। योजना के तहत चयनित लाभार्थियों को लाभान्वित करने का प्रयास किया जा रहा है।
... और पढ़ें

बगैर एनओसी के तीसरे मुल्क नहीं जा सकेंगे नेपाली

बगैर एनओसी के तीसरे मुल्क नहीं जा सकेंगे नेपाली
सोनौली/महराजगंज। अब नेपाल के लोग दिल्ली के नेपाली दूतावास से एनओसी लेकर ही तीसरे देश की यात्रा कर सकेंगे। इसके लिए उन्हें जरूरी औपचारिकताएं पूरी करनी होंगी। नेपाल टूर एंड ट्रेवल्स साटा प्रदेश पांच के अध्यक्ष संजय बाजियमय ने बताया कि बीते रविवार को नेपाली राजदूतावास दिल्ली ने इसकी जानकारी दी। नेपाल से स्थल मार्ग का प्रयोग करते हुए भारत में प्रवेश कर तीसरे मुल्क हवाई मार्ग से जाने वालों के लिए यह नियम लागू किया गया है। नेपाली नागरिकों को त्रिभुवन अन्तर्राष्ट्रीय विमानस्थल से उड़ान के लिए अनुरोध किया है। उन्होंने बताया कि खुला बार्डर होने के कारण बहुत से नेपाली नागरिक भारतीय विमान स्थल का प्रयोग कर तीसरे मुल्क सउदी अरब, कतार, कुवेत, संयुक्त अरब सहित अन्य देशों में जाते हैं। जिस पर नेपाल सरकार से एनओसी (नो आब्जेक्शन सर्टिफिकेट) लेना अनिवार्य कर दिया है, अब नेपाली नागरिक को भारत से कहीं विदेश जाने के लिए दिल्ली में नेपाली दूतावास से एनओसी लेना होगा।
... और पढ़ें

रसोइयो को निकालने पर आक्रोश

रसोइयों को निकालने पर आक्रोश
महराजगंज। अखिल भारतीय मध्यान्ह भोजन रसोइया महासंघ जिला इकाई पदाधिकारियों की बैठक रविवार को कलेक्ट्रेट परिसर में हुई। जिसमें संगठन को मजबूत करने को लेकर चर्चा की गई। साथ ही जिसमें रसोइयों को निकालने पर आक्रोश व्यक्त किया गया। संगठन के प्रदेश उपाध्यक्ष राजवंशी शर्मा ने कहा कि सरकार स्कूलों के संविलियन की आड में रसोइयों को निकालने का कार्य कर रही है, यह ठीक नहीं है। अब विभाग की ओर से नया मानक तैयार किया गया है, जिससे रसोइयों की मुश्किलें बढ़ेंगी। उन्होंने कहा कि अगर सरकार द्वारा पुरानी व्यवस्था को पुन: लागू नहीं किया गया तो रसोइया आंदोलन करेंगे। संगठन के जिलाध्यक्ष विंदु देवी ने कहा कि सभी रसोइया संगठन को मजबूत बनाएं, ताकि समस्याओं का निस्तारण कराया जा सके। उन्होंने कहा कि अगर मांग जल्दी पूरा नहीं हुई तो रसोइया 23 फरवरी को लखनऊ में आंदोलन करेंगे। इस मौके पर संगठन के जिला महासचिव सरस्वती देवी, विजय लाल श्रीवास्तव, छोटे लाल, फेरई, जवाहर लाल कन्नौजिया, संजोष, कैलाश, पुष्पा देवी, पुनिता, रीता, शकुंतला, यशोदा आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

नेपाल से सटे सीमावर्ती इलाको में मंडरा रहा एड्स का खतरा

नेपाल से सटे सीमावर्ती इलाकों में मंडरा रहा एड्स का खतरा
महराजगंज। नेपाल से पारगमन संधि होने के कारण प्रत्येक दिन सीमावर्ती क्षेत्रों से सैकड़ों लोगों का नेपाल आना-जाना होता है। भारतीय सीमावर्ती क्षेत्र से सटे रूपनदेही सहित नेपाल के अन्य क्षेत्रों में एड्स भयावह रूप घीरे-धीरे ले रहा है। कई लोग काल के गाल मे समा चुके हैं। अब सीमावर्ती क्षेत्रों में भी एड्स का खतरा मंडराने लगा है।
भारतीय सीमा से सटे रूपनदेही में एचआईवी एड्स के कारण पिछले साल 2019 में 34 लोगों की मौत हो चुकी है। साथ ही 973 लोग एचआईवी से पीड़ित हैं। डॉक्टरों की सलाह पर दवा ले रहे हैं। बुधवार को एचआईवी से संबंधित एक संस्था ने जनजागृति संदेश के माध्यम से कंडोम दिवस मनाया।
जिलाधिकारी रूपनदेही महादेव पंथ ने बताया कि जिले में एड्स तेजी से फैल रहा है, जो चिंताजनक है। रूपनदेही में इस संक्रमण से सबसे ज्यादा मौत हुई है। जनता को जागरूक करने के लिए विकास मंत्रालय के सहयोग से अनेक संगठनों के सहयोग से जन चेतना अभियान चलाया जा रहा है। आस्था समूह के अध्यक्ष केशव पुन ने बताया कि नेपाल विकास मंत्रालय के सहयोग से कंडोम वितरण कर लोगों को जागरूक किया जा रहा है। जागरूकता से ही इस बीमारी से बचा जा सकता है।
एड्स के क्षेत्र में अंतरराष्ट्रीय संस्था एड्स हेल्थ फाउंडेशन के कार्यालय के अनुसार एड्स से 27 पुरुष और 7 महिला की एक वर्ष मे रूपनदही जिले में मौत हो गई। बुटवल के लुम्बनी प्रादेशिक हॉस्पिटल में स्थापित एआरटी सेंटर में इस बीमारी से संक्रमित 973 लोग इलाज करा रहे हैं। फाउंडेशन के अनुसार नेपाल में 29944 लोग इससे संक्रमित हैं। उनके लिए नेपाल में 78 क्लीनिक और 22 जगह औषधि वितरण केंद्र खोले गए हैं। इन केंद्रों पर जरूरी सुविधाएं दी जा रही हैं।
सोनौली एसएसबी कंपनी कमांडर संजीव कुमार ने बताया कि एसएसबी के माध्यम से सीमावर्ती क्षेत्रों में एड्स को लेकर हमेशा जागरूकता अभियान चलाया जाता है। इससे लोगों में काफी जागरूकता आई है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us