विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Corona Virus in UP Live: प्रदेश में 80 संक्रमित, लखनऊ में 9 दिनों से नहीं मिला कोई मरीज

शासन और प्रशासन संक्रमण के चेन को तोड़ने के लिए लगातार कोशिश कर रहा है। लोगों से भी हर वक्त घरों में रहने की अपील की जा रही है।

30 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

महाराजगंज

सोमवार, 30 मार्च 2020

सड़कों पर सन्नाटा, दिख रहे सिर्फ पुलिसकर्मी

सड़कों पर सन्नाटा, दिख रहे सिर्फ पुलिसकर्मी
महराजगंज। देशव्यापी लॉकडाउन की वजह से शुक्रवार को भी जिले भर में सन्नाटा पसरा रहा। राष्ट्रीय राजमार्ग हो या सामान्य मार्ग सिर्फ आवश्यक वस्तुओं को ले जाने वाले वाहन व आकस्मिक चिकित्सा के लिए जाने वाले लोगों को ही राहत दी गई है। सड़कों पर जगह-जगह पुलिसकर्मी नजर आ रहे हैं।
लॉकडाउन के तीसरे दिन शुक्रवार को लोग घरों में रहे। 60 घंटे से अधिक समय से घरों में मौजूद लोग जहां एक ही काम से बोर हो रहे हैं, वहीं बाहर न निकलने की मजबूरी में अपने समय को बिताने को लेकर तरीका भी ढ़ूंढ रहे हैं। लोगों के घरों में रहने से दिन भर सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा। नगर के फरेंदा, गोरखपुर व निचलौल मार्ग पर सन्नाटा पसरा रहा। सक्सेना चौक पर सड़कों पर पुलिसकर्मी तैनात मिले तथा आने-जाने वाले लोगों से जानकारी लेते रहे। नगर के साथ-साथ फरेंदा, पनियरा, परतावल, घुघली, सिसवां, निचलौल, धानी, बृजमनगंज, लक्ष्मीपुर व कोल्हुई आदि में भी पुलिसकर्मी प्रत्येक हलचल पर नजर रखे रहे। जिलाधिकारी डॉ. उज्ज्वल कुमार ने बताया कि जिले में लॉकडाउन का पूरी तरह पालन कराने का प्रयास जारी है। अभी स्थिति ठीक है, आगे जैसी स्थिति बनेगी निर्णय लिया जाएगा।
अधिकारी रख रहे पैनी नजर
भारत-नेपाल सीमा पर स्थित ठूठीबारी, सोनौली, झुलनीपुर आदि जगहों पर तैनात एसएसबी जवान, पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी भी व्यवस्था पर नजर रख रहे हैं।
... और पढ़ें

सोशल डिस्टेंसिंग: स्वयं कर नहीं रहे, दूसरों को पढ़ा रहे पाठ

सोशल डिस्टेंसिंग: स्वयं कर नहीं रहे, दूसरों को पढ़ा रहे पाठ
महराजगंज। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए जितना जरूरी सैनिटाइजर व मास्क का प्रयोग है, उससे भी कहीं जरूरी है सामाजिक दूरी(सोशल डिस्टेंसिंग) का पालन करना। इसका ध्यान रखना सभी के लिए जरूरी है, लेकिन दुर्भाग्य कि इसका पाठ पढ़ाने वाले लोग ही इसका पालन नहीं कर रहे हैं।
लॉकडाउन में घरों में भी सैनिटाइजर के नियमित प्रयोग तथा एक मीटर की दूरी बनाए रखने की बात कही जा रही है। भीड़भाड़ वाली जगह पर पहुंचने के दौरान भी इस बात पर विशेष जोर देने के लिए कहा जा रहा है कि वे सामाजिक दूरी बनाए रखते हुए ही अपने कार्यों को करना सुनिश्चित करें। समाज के अधिकांश लोग जहां इसका पालन कर रहे हैं, वहीं कुछ लोग इसे नजरंदाज भी कर रहे हैं। लोगों ने बताया कि सक्सेना चौक पर लोगों को नैतिकता का पाठ पढ़ा रहे अधिकारी व अन्य लोग स्वत: भी उसका पालन करते नहीं देखे गए।
एडीएम कुंज विहारी अग्रवाल ने बताया कि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हर किसी को करना चाहिए। इसपर सभी को ध्यान देने की जरूरत है। चाहे आम जनता हो या अधिकारी, सभी को इसका पालन करने के लिए कहा गया है।
... और पढ़ें

सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाई तो होगी कार्रवाई

सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाई तो होगी कार्रवाई
महराजगंज। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे अफवाहों पर ध्यान न देने के लिए लोगों को जागरूक किया जा रहा है। इन दिनों कोरोना को लेकर लोग तरह तरह का पोस्ट कर भ्रम फैला रहे हैं। ऐसे में लोगों को सतर्क रहने की जरूरत है। वही पुलिस विभाग की ओर से ऐसे अफवाह फैलाने वालों पर नजर रखी जा रही है। सोशल मीडिया सेल ने ऐसी पोस्टों पर निगरानी बढ़ा दी है। सोशल मीडिया पर कोरोना को लेकर कई पोस्ट वायरल हो रहे हैं। वहीं कोरोना की अफवाह फैलाई जा रही है तो कहीं लोग मजाक के साथ ऑडियो, वीडियो पोस्ट कर रहे हैं, जिससे लोग भयभीत हो रहे हैं।
सोशल मीडिया पर कोई अफवाह न फैलाए, इसके लिए पुलिस विभाग विशेष सतर्कता बरत रहा है। अगर कोई अफवाह फैला रहा है तो मुकदमा दर्ज किया जाएगा। सोशल मीडिया सेल को निगरानी करने की जिम्मेदारी सौंपी गई।
रोहित सिह सजवान ने बताया कि कोई भी अफवाह न फैलाएं। अनावश्यक संदेश वायरल न करें। ऐसा करने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। सोशल मीडिया सेल के माध्यम से निगरानी की जा रही है।
इन धाराओं में हो सकती है कार्रवाई
आईपीसी की धारा 188- सरकारी नियमों का उल्लंघन करना। सजा और जुर्माना
आईपीसी की धारा 269-उपेक्षा पूर्ण कार्य करना, जिससे कि कोई बीमार हो जाए। छह माह की सजा एवं जुर्माना।
आईपीसी की धारा 270- जानबूझकर ऐसे कृत्य करना, जिससे दूसरे को नुकसान पहुंचे दो साल तक की सजा और जुर्माना।
आईपीसी की धारा 153 मतभेद फैलाना एक साल तक की कैद और जुर्माना।
... और पढ़ें

दिल्ली से आए नेपाली नागरिको को नेपाल में नहीं मिला प्रवेश

दिल्ली से आए नेपाली नागरिकों को नेपाल में नहीं मिला प्रवेश
सोनौली। कोरोना वायरस को लेकर पूरे देश में लॉकडाउन के बाद दिल्ली सहित नोएडा, फरीदाबाद, गुड़गांव की सभी फैक्ट्रियां और होटल बंद होने से मजदूरों के लिए संकट उत्पन्न हो गया है। काम बंद होने के बाद लोग घर जाने पर मजबूर हो गए हैं। शनिवार की शाम सोनौली डिपो से गोरखपुर रवाना हुई डिपो की छह बसों में दिल्ली से गोरखपुर पहुंचे यात्रियों को सोनौली लाया गया, जिसमें नेपाल के भी 22 यात्री शामिल हैं। उन्हें नेपाल सरकार ने नेपाल में प्रवेश की अनुमति नहीं दी। सभी सरहद के पास सड़क पर वक्त काट रहे हैं।
एआरएम सीके भाष्कर ने बताया कि गोरखपुर से सोनौली के बीच के यात्री दिल्ली से गोरखपुर पहुंचे, जिन्हें प्रशासन की अनुमति के बाद गंतव्य तक पहुंचा दिया गया। नेपाल के नागरिकों को सीमा तक छोड़ दिया गया है।
नेपाल प्रशासन को कराया अवगत
दिल्ली से सोनौली पहुंचे नेपाल जाने के लिए 22 नेपाली नागरिकों के सीमा पर रोके जाने की सूचना के बाद सोनौली पहुंचे एसडीएम नौतनवां जसधीर सिह यादव ने नेपाल प्रशासन से बातचीत की। उन्होंने बताया कि नेपाली यात्री भारत में रुकने के लिए तैयार नहीं हो रहे हैं, जिसकी सूचना नेपाल के अधिकारियों को दी गई है। 14 दिन क्वारंटीन में रखने पर वार्ता चल रही है।
... और पढ़ें
बस स्टेशन पर बस में बैठे यात्री। बस स्टेशन पर बस में बैठे यात्री।

कार्यालयों में पसरा सन्नाटा, वर्क टू होम पर है जोर

कार्यालयों में पसरा सन्नाटा, वर्क टू होम पर है जोर
महराजगंज। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए विभागीय जिम्मेदार हों या कर्मी, संभी गंभीर हैं। शासकीय सेवा में आने के उपरांत सामाजिक दायित्वों के निर्वहन के प्रति वे संकल्पित रहते हुए कार्य कर रहे हैं। कुछ कार्यालय में आकर कार्य पर जोर दे रहे हैं तो कुछ घर से ही अपने दायित्वों को निभा रहे हैं। स्थिति यह है कि आम दिनों में हमेशा चहल-पहल दिखने वाले कार्यालय से रौनक गायब है।
अधिकांश लोगों के घर से काम करने की वजह से सड़कों की तरह विकास भवन के अधिकांश कार्यालयों में भी सन्नाटा है, जबकि कुछ कार्यालय में कर्मी काम कर रहे हैं। बेवजह की समस्याओं से बचने के लिए घरों से भी लोग आनलाइन कार्य करने पर जोर दे रहे हैं। कोई ग्राम पंचायतों से बाहर से आने वालों का आंकड़ा एकत्र कर रहा है तो कोई बजट व वेतन संबंधी आवश्यक कार्य को निपटा रहा है। मुख्य विकास अधिकारी पवन अग्रवाल ने बताया कि कर्मियों को इस वायरस से बचाने के लिए भी पूरी सतर्कता बरती जा रही है। जिम्मेदारों को भी घर से काम करने का निर्देश दिया गया है। अत्यधिक आवश्यकता महसूस होने पर आगे दिशा निर्देश जारी किए जाएंगे।
... और पढ़ें

इंडो नेपाल बॉर्डर पर कोरोना की रोकथाम बनी चुनौती

इंडो नेपाल बॉर्डर पर कोरोना की रोकथाम बनी चुनौती
निचलौल(महराजगंज)। इंडो नेपाल बॉर्डर पर कोरोना वायरस को लेकर स्वास्थ्य महकमा से लेकर सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट हैं। इनके द्वारा संदिग्ध लोगों की जांच कर सुरक्षा बरती जा रही है, लेकिन रविवार की सुबह करीब ग्यारह बजे 14 बंगाल के लोग बॉर्डर पर बगैर जांच कराए भारतीय सीमा क्षेत्र में घुसकर एक मकान में छिप गए। इसकी भनक लगते ही ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना देकर उन लोगों को पुलिस के हवाले कर दिया। इंडो नेपाल बॉर्डर की खुली सीमा पर कोरोना की रोकथाम करना चुनौती बना हुआ है। हालांकि स्वास्थ्य विभाग की टीम लोगों के स्वास्थ्य की जांच में जुटी है।
बॉर्डर से सटे ठूठीबारी निवासी दीपक निगम, राजकुमार चौधरी, भोला वर्मा, दीपू जायसवाल, पवन सहानी में बताया कि रविवार को बॉर्डर पर तैनात कई सुरक्षा एजेंसियों व स्वास्थ्य विभाग की टीम को चकमा देकर 14 बंगाली अर्घखाची से इंडो नेपाल के खुले बॉर्डर के रास्ते ठूठीबारी में प्रवेश कर एक मकान में छिप गए। गांववालों ने कोतवाली पुलिस को तत्काल सूचना देकर उनके हवाले कर दिया गया। इससे जाहिर है कि बॉर्डर पर कोरोना की रोकथाम के पुख्ता इंतजाम नहीं हैं।
इस संबंध में ठूठीबारी कोतवाल छोटेलाल का कहना है कि बॉर्डर की खुली सीमा के रास्ते यह लोग बगैर स्वास्थ्य परीक्षण कराए भारतीय सीमा में घुस गए थे, जिन्हें सूचना मिलने के बाद स्वास्थ्य परीक्षण कराकर छोड़ दिया गया है।
... और पढ़ें

लॉकडाउन: दिल्ली से आए नेपाली नागरिकों को नेपाल में नहीं मिला प्रवेश, ये है बड़ी वजह

कोरोना वायरस को लेकर पूरे देश में लॉक डाउन के बाद दिल्ली सहित नोएडा, फरीदाबाद, गुड़गांव की सभी फैक्ट्रियां और होटल बंद होने से मजदूरों के लिए संकट लेकर आया है। काम बंद होने के बाद लोग घर को पलायन करने पर मजबूर हो गए हैं।

शनिवार की शाम सोनौली डिपो से गोरखपुर रवाना हुई डिपो की छह बसों में दिल्ली से गोरखपुर पहुंचे यात्रियों सोनौली लाया गया। जिसमें नेपाल के भी 22 यात्री शामिल हैं। जिन्हें नेपाल सरकार ने नेपाल प्रवेश की अनुमति नहीं दी। सभी सरहद के निकट सड़क पर वक्त काट रहे हैं।

एआरएम सीके भाष्कर ने बताया कि गोरखपुर से सोनौली के बीच के यात्री दिल्ली से गोरखपुर पहुंचे थे। जिन्हें प्रशासन की अनुमति के बाद गंतव्य तक पहुंचा दिया गया। नेपाल के नागरिकों को सीमा तक छोड़ दिया गया है।

नेपाल प्रशासन को कराया अवगत
दिल्ली से सोनौली पहुंचे नेपाल जाने के लिए 22 नेपाली नागरिकों के सीमा पर रोके जाने की सूचना के बाद सोनौली पहुंचे एसडीएम नौतनवां जसधीर सिह यादव ने नेपाल प्रशासन से बातचीत की। उन्होंने बताया कि नेपाली यात्री भारत में रुकने के लिए तैयार नहीं हो रहे हैं। जिसकी सूचना नेपाल के अधिकारियों को दी गई है। 14 दिन कवारेंटीन में रखने पर वार्ता चल रही है।
... और पढ़ें

महराजगंज में यहां बनेगा COVID 19 अस्पताल, नहीं होगी कोरोना मरीजों को परेशानी

इंडो नेपाल बार्डर पर दिल्ली से आए नेपाली नागरिक।
कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव को लेकर स्वास्थ्य विभाग ने मिठौरा व मंसूरगंज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को कोविड समर्पित चिकित्सालय बनाने का निर्णय लिया है। दोनों चिकित्सालयों को सक्रिय रुप से संचालित किए जाने के लिए 25 सदस्यीय चिकित्सकीय दल के गठन की प्रक्रिया भी शुरु हो गई है। मंशा है कि कोरोना का सक्रिय मरीज मिलने के बाद उसे इन चिकित्सालयों में रखकर बेहतर ढंग से इलाज किया जाए।

शासन के निर्देश पर प्रत्येक जिले में कोविड समर्पित चिकित्सालय (एल-वन) की स्थापना की जानी है। मंशा है कि कोरोना से संक्रमित मरीजों को वहां पर भर्ती कर उनका बेहतर ढंग से इलाज किया जाए। यह भी कहा गया है कि जिन चिकित्सालयों को कोविड समर्पित चिकित्सालय बनाया जाए वहां पर भर्ती अन्य मरीजों को नजदीकी अस्पतालों में भर्ती कराते हुए उनके बेहतर इलाज की व्यवस्था का प्रबंध किया जाए।

जिम्मेदारों ने कोविड समर्पित चिकित्सालय के रुप में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मिठौरा व मंसूरगंज को चिन्हित कर लिया है। वहां पर 25 सदस्यीय चिकित्सक दल के दो टीमों को तैयार करने की प्रक्रिया भी जारी है। प्रत्येक दल 15 दिवस तक वहां पर उपचार आदि की व्यवस्था सुनिश्चित करेगा। कोरोना के नोडल अधिकारी डॉ. आईए अंसारी ने बताया कि कोविड समर्पित चिकित्सालय के रुप में मिठौरा व मंसूरगंज का चयन किया गया है। चिकित्सकीय दल बनाने की प्रक्रिया जारी है। जल्द ही उसे अस्तित्व में लाया जाएगा।
... और पढ़ें

गांव से लेकर शहर तक चौथे दिन भी सन्नाटा

गांवों से लेकर शहर तक चौथे दिन भी सन्नाटा
महराजगंज। प्रधानमंत्री द्वारा घोषित किए गए 21 दिवसीय लॉकडाउन के चौके दिन शनिवार को जिले के ग्रामीण क्षेत्रों से लगाए नगरीय क्षेत्रों में सन्नाटा पसरा मिला। हालात पर नजर रखने के लिए जगह-जगह पुलिस तैनात मिली। सड़कें सूनी रहीं।
लॉकडाउन की वजह से आमजन को जहां घरों में रहने का निर्देश दिया गया है, वहीं पुलिसकर्मियों व चिकित्सा कर्मियों को अपने दायित्वों के प्रति सजग रहने को कहा गया है। शनिवार को जिले के ग्रामीण क्षेत्र की सड़क हो अथवा राष्ट्रीय राजमार्ग सभी पर सन्नाटा पसरा मिला। वे ही इक्का-दुक्का वाहन चलते मिले जो आवश्यक सामग्री को ले जा रहे हैं। हालात पर नजर रखने के लिए पुलिसकर्मी सड़कों पर तथा चिकित्सा कर्मी अस्पतालों पर पूरे मनायोग से जुटे हुए हैं तथा अपने दायित्वों का निर्वहन कर रहे हैं। नगर के सभी तीनों मार्गों के साथ-साथ, सिसवां, पनियरा, निचलौल, परतावल, फरेंदा, धानी, बृजमनगंज, नौतनवां, सोनौली, ठूठीबारी, कोल्हुई, घुघली आदि जगहों पर जहां जगह-जगह माहौल शांत दिखा।
जिलाधिकारी डॉ. उज्ज्वल कुमार ने बताया कि लॉकडाउन को लेकर पूरी तरह सतर्कता बरती जा रही है। सभी से इसका पालन सुनिश्चित कराने का प्रयास भी जारी है।
इन जगहों पर मुस्तैद हैं पुलिसकर्मी
अपर पुलिस अधीक्षक आशुतोष शुक्ला ने बताया कि जिले में बनाए गए 50 से अधिक स्थलों पर पुलिसकर्मियों को मुस्तैद किया गया है। वे आने व जाने वाले वाहनों पर पूरी तरह नजर रखे हुए हैं तथा यह भी सुनिश्चित कर रहे हैं कि वे ही वाहन आएं व जाएं जो वास्तविक रुप से उसके पात्र हैं। सक्सेना चौक, परतावल चौक, फरेंदा बाईपास, धानी कस्बे, बृजमनगंज, घुघली, सिसवां, ठूठीबारी, झुलनीपुर, सोनौली में विशेष सतर्कता बरती जा रही है।
... और पढ़ें

चौथे दिन श्रद्धलुओं ने की मां कुष्मांडा की पूजा

चौथे दिन श्रद्धालुओं ने की मां कुष्मांडा की पूजा
महराजगंज। वासंतिक नवरात्र के चौथे दिन शनिवार को श्रद्धालुओं ने घर में मौजूद रहकर माता कुष्मांडा की पूजा की। हर वर्ग के लोग पूजा को लेकर गंभीर नजर आए तथा पूरे विधि-विधान से पूजा कर अपनी समस्या को दूर करने की मनौती मांगी।
कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव को देखते हुए जिला प्रशासन ने मंदिरों को बंद रखा है, जिसके तहत लोग घर में ही रहकर पूजा करने को मजबूर हैं। जिले के प्रमुख लेहड़ा देेेमंदिर, बनैलिया देवी मंदिर, नगर के सिविल लाइंस व मऊपाकड़ दुर्गा मंदिर, बोकड़ा देवी मंदिर, सोनाड़ी देवी मंदिर, टिकुलहिया मंदिर व कुड़िया माता के मंदिर को एहतियात के तौर पर बंद रखा गया है। मंशा है कि लोगों की भीड़ एकत्रित न हो तथा कोरोना के संक्रमण को भी बढ़ने से रोका जाए। इसे ध्यान में रखते हुए श्रद्धालुओं ने भी अपनी तैयारी घर पर ही मजबूत करते हुए वहीं पूजन-अर्चन प्रारंभ कर दिया है। बुजुर्ग, युवा, बच्चे व महिलाएं हर वर्ग के लोग पूजा करने में जुटे हैं। सभी अपने मनोकामना को पूरा करने के साथ ही इस सामाजिक समस्या को दूर कराने की प्रार्थना करने में जुटे हैं। पंडित अवधेश ने बताया कि लोगों घरों मेें रहकर पूजा कर रहे हैं। लाक डाउन के कारण मंदिर श्रद्धालुओं के लिए बंद कर दिया गया है।
... और पढ़ें

वनटांगिया व मुसहर गांवों में व्यवस्था देखेंगे अधिकारी

वनटांगिया व मुसहर गांवों की व्यवस्था देखेंगे अधिकारी
महराजगंज। जिला प्रशासन ने कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव व व्यवस्था पर नजर रखने के लिए वनटांगिया व मुसहर गांवों में नोडल अधिकारियों की तैनाती की है। वनटांगिया गांवों में 18 तथा मुसहर गांवों में 28 अधिकारियों को तैनात किया गया है। सभी जिला स्तरीय नोडल अधिकारी को बीडीओ, सचिव व प्रधान का नंबर उपलब्ध कराते हुए उन्हें व्यवस्था पर नजर रखने के निर्देश दिए गए हैं।
जिला प्रशासन ने बृजमनगंज ब्लॉक के खुर्रमपुर में जिला कार्यक्रम अधिकारी, फरेंदा ब्लॉक के भारीबैंसी में अधिशासी अभियंता आरईएस, सूरपार में उपायुक्त श्रम रोजगार, लक्ष्मीपुर ब्लॉक के कानपुर व बेलौहा दर्रा में जिला दिव्यांगजन सशक्तिकरण अधिकारी तथा अचलगढ़ व तिकोनिया में जिला विकास अधिकारी, सदी ब्लॉक के चेतरा में जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी, बीट में कृषि अधिकारी एवं उसरहवा में पीडी, मिटौरा ब्लॉक के हथिअहवा व बुलअहिया में जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी, कंपार्ट नबर 24 में डीआईओएस, कंपार्ट नंबर 26 व 27 में बीएसए, कंपार्ट नंबर 28 में बीईओ सदर, पनियरा ब्लॉक के बरहवां चंदनचाफी में भूमि संरक्षण अधिकारी तथा परतावल ब्लॉक में बेलासपुर में खंड शिक्षा अधिकारी परतावल व दौलतपुर में जिला गन्ना अधिकारी को नोडल अधिकारी बनाया गया है।
मुसहर गांवों में भी तैनात हुए नोडल
घुघली ब्लॉक के लिकवनिया में सीडीपीओ घुघली, बृजमनगंज ब्लॉक के दुबौलिया में अधिशासी अभियंता विद्युत फरेंदा व फुलमनहां में सहायक अभियंता लघु सिंचाई, मिठौरा ब्लॉक के नक्सा-बक्सा में एक्सईएन जलनिगम, सिसवां ब्लॉक के सबया में उपनिदेशक कृषि, खेसरारी में जिला समाज कल्याण अधिकारी व रानीपुर अहिरौली में एआर कोआपरेटिव, निचलौल ब्लॉक के डोमा में डीपीआरओ, पैकौली कला में सहायक अभियंता लोक निर्माण विभाग, कलनही में सीवीओ, बहुआर में डीएसओ, ढेंसो में जिला खादी ग्रामोद्योग अधिकारी, अमड़ा मे अधिशासी अभियंता सिंचाई खंड द्वितीय, कनभिसवा में अधिशासी अभियंता सिंचाई खंड प्रथम, करमहिया में युवा कल्याण अधिकारी, बजहां में उपायुक्त स्वरोजगर, गेड़हवा में क्षेत्रीय खाद्य अधिकारी, बढ़या मुस्तकीम में पीओ नेडा, भेड़िहारी में जिला खाद्य विपणन अधिकारी, रामचंद्रही में प्रोबेशन अधिकारी, बजही में पीओ डूडा, बसुली में उपायुक्त उद्योग, बड़हरा चरगहां में श्रम प्रवर्तन अधिकारी, गुरली रमगढ़वा में एक्सईएन विद्युत, सोहगीबरवां में सीडीपीओ निचलौल व भोथहां में बीईओ निचलौल तथा लक्ष्मीपुर ब्लॉक के कजरी में सहायक अभियंता लोक निर्माण विभाग व जंगल गुलरिया में बीईओ लक्ष्मीपुर को तैनात किया गया है।
... और पढ़ें

सेनिटाइज करना तो दूर फागिंग का बेहतर इंतजाम नहीं

सैनिटाइज करना तो दूर फागिंग का इंतजाम नहीं
महराजगंज। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए निकायों की भी तैयारी आधी-अधूरी है। जिले के नौतनवां नगर पालिका को छोड़ दिया जाए तो अन्य कहीं पर भी नगर को सैनिटाइज करने की व्यवस्था नहीं है। सीमित संसाधनों में सिर्फ फागिंग व एंटी लार्वा का छिड़काव कर ही काम चलाया जा रहा है।
जिले में इस समय सक्रिय रूप से सात निकाय पूर्णत: काम कर रही हैं। इनमें से नौतनवां नगर पालिका ही ऐसी नगर पालिका है जिसके पास सैनिटाइज करने वाला टैंकर मौजूद है। 2000 लीटर क्षमता वाले इस टैंकर में सोडियम हाईड्रोक्लोराइड डालकर नगर में छिड़काव कराया जा रहा है। इसके अतिरिक्त दो मशीनों के सहारे नालियों में एंटी लार्वा का भी छिड़काव जारी है। अधिशासी अधिकारी वीरेंद्र राव ने बताया कि नगर में नियमित रूप से छिड़काव की व्यवस्था जारी है। इसके साथ ही नगर पालिका नौतनवां में तीन फागिंग मशीन से फागिंग कराई जा रही है तथा दवाओं का छिड़काव नालियों में कराया जा रहा है।
ईओ अविनाश कुमार ने बताया कि उपलब्ध संसाधनों के मुताबिक बेहतर ढंग से कार्य कराए जा रहे हैं। सिसवां नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी आशुतोष कुमार ने बताया कि दो मशीन से नगर में फागिंग व छिड़काव जारी है। घुघली, निचलौल, सोनौली, फरेंदा नगर पंचायत में भी फागिंग मशीनों से वार्डों में बचाव को लेकर प्रयास जारी है। अपर जिलाधिकारी कुंजबिहारी अग्रवाल ने बताया कि सभी अधिशासी अधिकारियों को साफ-सफाई व्यवस्था व छिड़काव कार्य को बेहतर ढंग से कराने का निर्देश दिया गया है।
... और पढ़ें

सोशल डिस्टेंसिंग को नजरंदाज करना पड़ सकता है भारी

सोशल डिस्टेंसिंग को नजरंदाज करना पड़ सकता है भारी
महराजगंज। कोरोना के संक्रमण से बचाव को लेकर आवश्यक सामाजिक दूरी (सोशल डिस्टेंसिंग) को कुछ लोगों द्वारा नजरंदाज किया जाना पूरे समाज पर भारी पड़ सकता है। शासन ने जिलाधिकारी को यह अधिकार दे रखा है कि वे स्थिति के आंकलन के आधार पर संपूर्ण जिले में अथवा थाना क्षेत्र में भी कर्फ्यू लगा सकते हैं। ऐसे में लापरवाही बरत रहे लोग अब भी चेत जाएं, अन्यथा उनकी शरारत की सजा पूरे शहर अथवा कस्बे को भुगतनी पड़ेगी।
जिला प्रशासन ने आमजन के हितों को दृष्टिगत रखते हुए प्रतिदिन सुबह छह बजे से 11 बजे तक की ढील दी है। प्रशासन चाहता है कि इस अवधि में जरूरतमंद घरों से बाहर निकल कर दवा तथा अन्य आवश्यक सामग्री लेकर पुन: वापस चले जाएं। मगर छूट की अवधि में घर से बाहर निकल रहे लोग एक-दूसरे से न्यूनतम एक मीटर दूरी बनाए रखने का पालन नहीं कर रहे हैं। जिला मुख्यालय हो या ग्रामीण क्षेत्र, छूट की अवधि में व्यक्तियों द्वारा यह ध्यान न रखा जाना समाज की मुश्किलों को बढ़ा सकता है। जरूरी यह है कि लोग समय रहते हुए चेत जाएं तथा ऐसी नौबत न आने दें, जिससे कि कर्फ्यू लगे। जिलाधिकारी डॉ. उज्ज्वल कुमार ने बताया कि लॉकडाउन में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना सभी का दायित्व है, इसका पालन न करने पर आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।
सोशल डिस्टेंसिंग में एक मीटर से अधिक की रखें दूरी
प्रशासन ने कहा है कि सोशल डिस्टेंसिंग में प्रति व्यक्ति एक-दूसरे से न्यूनतम एक मीटर अथवा उससे अधिक की दूरी बनाए रखे। भीड़भाड़ वाले स्थलों पर जाने तथा एक-दूसरे से संपर्क में आने से बचें।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us