विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
एक माह तक वृंदावन बिहारी जी मंदिर में कराएं चन्दन तुलसी इत्र सेवा , मिलेगा नौकरी व व्यापार से जुड़े समस्याओं का समाधान
Puja

एक माह तक वृंदावन बिहारी जी मंदिर में कराएं चन्दन तुलसी इत्र सेवा , मिलेगा नौकरी व व्यापार से जुड़े समस्याओं का समाधान

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

मथुराः थाना सदर बाजार के थानाध्यक्ष सहित 11 पुलिसकर्मी क्वारंटीन

जनपद के थाना सदर बाजार के प्रभारी निरीक्षक सहित थाने के 11 पुलिसकर्मियों को क्वारंटीन किया गया है। यहां अस्थाई जेल में निरुद्ध एक बंदी की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई हैं। अब मथुरा में कुल संक्रमितों की संख्या 74 हो गई है। चार मरीजों की अब तक मौत हो चुकी है। वहीं 44 ठीक होकर घर में हैं। हालांकि अभी 128 रिपोर्ट लंबित हैं। सक्रिय केस अब 26 हो गए हैं।

आगराः कोरोना संक्रमण से दो और मौतें, पांच नए संक्रमित, 770 हुए ठीक

मथुरा में एक आरोपी को गिरफ्तार करने वाली टीम के 11 पुलिसकर्मी क्वारंटीन किए गए हैं इनमें थानाध्यक्ष सदर बाजार भी शामिल हैं। पुलिसकर्मी नगर निगम की टीम पर हुए हमले के आरोपी युवक को गिरफ्तार करने गई थी। युवक को 25 मई को जेल भेजा था। जेल भेजने के बाद उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई।
 
विगत करीब दो माह पूर्व नगर निगम की टीम पर क्लेंसी इंटर कॉलेज स्थित चर्च जमीन से कब्जा हटवाने गई नगर निगम की टीम पर कुछ लोगों ने हमला कर दिया था। इस हमले में सदर बाजार निवासी युवक भी वांछित था। युवक को 25 मई को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। पुलिस टीम में थाना अध्यक्ष सदर बाजार समेत 11 पुलिसकर्मी थे। जेल भेजने से पूर्व युवक का कोरोना टेस्ट कराया गया, जिसकी रिपोर्ट 27 मई को रात में पॉजिटिव आई।  ... और पढ़ें

तीन दरोगा सहित 11 पुलिसकर्मी कराए क्वारंटीन

दुकानों में रद्दी हो गए शादियों के छपे हुए लाखों कार्ड

मांट (मथुरा)। कोरोना वायरस के संक्रमण ने शादी कार्ड के कारोबार की कमर तोड़कर रख दी है। जी हां, अचानक शादियां रद्द होने की वजह से लाखों की संख्या में छपे हुए कार्ड दुकानों और प्रिंटिंग प्रेसों में पड़े - पड़े ही रद्दी हो गए हैं। हालांकि, अब शादियों के लिए छूट तो दी गई है, लेकिन इन समारोहों में शामिल होने वालों की संख्या 20 तक सीमित कर दी गई है। ऐेसे में शादी कार्ड कारोबारियों को आने वाला समय भी अंधकारमय नजर आ रहा है। वैसे तो कोरोना वायरस के संक्रमण का असर सभी कारोबारों पर पड़ा है। लेकिन, इनमें शादी कार्ड का कारोबार बुरी तरह से प्रभावित हो गया है। दरअसल, मार्च के अंतिम सप्ताह से शादियों की शुरुआत होनी थी। अप्रैल, मई और जून माह तक अनवरत रूप से शादियों के शुुभ मुहूर्त थे। मार्च, अप्रैल और मई में होने वाली शादियों के लिए कार्ड भी छपवाए जाने लगे थे। लोगों ने कार्ड पसंद कर उन्हें छपने के लिए कार्ड की दुकानों व प्रिंटिंग प्रेसों में छोड़ दिए थे। इसके बदले विक्रेताओं को 20 से 25 फीसदी एडवांस रकम दे दी थी। समय कम और शादियां अधिक होने की वजह से धड़ाधड़ कार्ड छपाई का काम शुरू भी हो गया था। ये छपे हुए कार्ड ग्राहकों तक पहुंच पाए, इससे पहले ही लॉकडाउन की घोषणा हो गईं। इस दरम्यान होने वाली शादियां भी रद कर दीं गईं। ऐसे में लोगों ने कार्ड वापस लेना जरूरी नहीं समझा। ये कार्ड दुकानों और प्रेसों में पड़े - पड़े रद्ददी हो गए। कारोबारियों के अनुसार पूरे जिले में लगभग दो लाख कार्ड रद्दी हो चुके हैं। इन्हें कोई उठाने नहीं आ रहा है और न ही लोग कारोबारियों को हुए नुकसान की भरपाई को तैयार हैं। हालांकि, अब शादियों के लिए रियायत तो दी गई है, परंतु इसमें भी महज 20 लोग ही शामिल हो सकते हैं। अब बीस लोगों को बुलाने के लिए लोग कार्ड छपवाने से रहे, ऐसे में आने वाले समय से भी कारोबारियों को कोई खास उम्मीदें नहीं हैं। भारी संख्या में शादियों के कार्ड छपे हुए रखे हुए हैं। शादियां रद्द होने की वजह से लोग अब इन कार्ड को उठाने भी नहीं आ रहे हैं। ऐसे में शादी कार्ड कारोबार को भारी नुकसान पहुंचा है। - राम उपाध्याय, कार्ड विक्रेता ... और पढ़ें

लॉकडाउन में एक किलोमीटर लंबा जाम, भीड़ के आगे ध्वस्त हुए प्रशासन के इंतजाम

दरेसी मार्ग पर लगा जाम दरेसी मार्ग पर लगा जाम

किशोरपूरा में चली गोलियां, दोनों पक्ष के पांच हिरासत में

बरसात से लोगों को मिली गर्मी से राहत

मथुरा। मौसम ने बृहस्पतिवार को अचानक करवट बदली और दिन भर बादल छाने के बाद जनपद के कई इलाकों में बारिश हुई। बारिश के बाद पिछले कई दिनों से पड़ रही भीषण गर्मी से लोगों को राहत मिली है। बारिश के बाद पारा पांच डिग्री सेल्सियस तक गिर गया। राया के संभागीय कृषि परीक्षण केंद्र के अनुसार अधिकतम तापमान 41 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।
जबकि फरह के बकरी अनुसंधान केंद्र के अनुसार अधिकतम तापमान 41.5 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 25.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ। 25 मई से नौतपा शुरू हुए थे। उसके बाद से लगातार तापमान बढ़ रहा था। मई में गर्मी ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए। सुबह 8 बजे से झुलसाने वाली गर्मी का अहसास होने लगता था।
दिन भर चलने वाली गर्म हवाओं के कारण दोपहर में सड़कों पर कर्फ्यू जैसा माहौल हो जाता था। विगत कई दिनों तक लोगों ने भीषण गर्मी का सामना किया है और लोगों ने 46 डिग्री सेल्सियस तापमान की गर्मी का अहसास किया। राहत के लिए बादलों की राह तक रहे थे। राहत बृहस्पतिवार की सुबह आई। सुबह से हवा में नमी आ गई और बादल छा गए।
इससे सूरज की तपिश थम गई और पारा नीचे आ गया। शाम होते होते जनपद के कई इलाकों में बारिश शुरू हो गई। सौंख में खूब बारिश हुई। गोवर्धन और बरसाना में हवाओं के साथ हल्की बारिश हुई। वहीं मथुरा, राया, टैंटीगांव, मांट आदि इलाकों में बादल छाने से लोगों को गर्मी से राहत मिली है।
... और पढ़ें

एक दुपट्टे से फांसी लगाकर प्रेमी युगल ने दे दी जान

वृंदावन/छटीकरा (मथुरा)। प्रेमिका की शादी आगरा में पक्की हो जाने से क्षुब्ध प्रेमी युगल ने फांसी लगाकर जान दे दी। नाना के घर कमरे में दोनों एक ही दुपट्टे का फंदा बनाकर पंखे के कुंदे पर लटक गए। पुलिस के अनुसार चार साल से दोनों में प्रेम प्रसंग चल रहा था। होडल का रहने वाला प्रेमी पिछले चार साल से अपनी ननिहाल वृंदावन के नगला रामताल में रह रहा था। सूचना पर पहुंची वृंदावन पुलिस ने कमरे का दरवाजा तोड़कर दोनों शवों को उतारकर कब्जे में लिया।
होडल के कच्चा तालाब निवासी मंजीत (21) पुत्र मुकेश निवासी पिछले चार साल से अपने नाना प्रेम सिंह के घर वृंदावन के नगला रामताल में रह रहा था। बिजली मिस्त्री का काम करने वाले मंजीत का ननिहाल में पड़ोस की युवती से प्यार हो गया। दोनों ने एक साथ जीने-मरने की कसमें खाईं। 27 मई (बुधवार) को युवती की शादी आगरा से पक्की हो गई। यह प्रेमी युगल को नागवार गुजरी।
बृहस्पतिवार को प्रेमी युगल के पंखे पर लटके मिलने की सूचना पर सीओ सदर रमेश तिवारी और कोतवाल संजीव कुमार दुबे पहुंच गए। रमणरेती पुलिस ने कमरे का दरवाजा तोड़कर शवों को उतारकर कब्जे में लिया। चौकी प्रभारी ललित शर्मा ने बताया कि एक ही दुपट्टे का फंदा बनाकर प्रेमी युगल ने जान दी है। फिलहाल नगला रामताल में माहौल शांत है। खास यह है कि दोनों ही एक ही जाति के थे।
प्रेमी युगल के सुसाइड से नगला रामताल में कोहराम
प्रेमी युगल के फांसी लगाकर सुसाइड किए जाने से नगला रामताल मेें सनसनी फैल गई। हर कोई तरह-तरह की चर्चाएं कर रहा है। युवक तीन बहन भाइयों में दूसरे नंबर का था। युवती पांच बहन भाइयों में सबसे बड़ी थी। उससे छोटे दो भाई और दो बहनें हैं। दोनों परिवारों का रो-रोकर बुरा हाल है। होडल से भी युवक का परिवार नगला रामताल पहुंच गया।
... और पढ़ें

कोविड-19 से सतर्कता बरतने की दी जानकारी

मथुरा। नगला रामताल में प्रेमी युगल के सुसाइड करने के बाद पहुंची पुलिस जानकारी जुटाते हुए।
नौहझील/मांट/बलदेव/गोवर्धन। थाना नौहझील क्षेत्र में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। प्रशासनिक अफसरों में हड़कंप मचा हुआ है। बृहस्पतिवार को ब्लॉक सभागार में कोविड-19 से बचाव को निगरानी समिति की बैठक हुई। इसमें सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए कोविड-19 से बचाव की जानकारी दी गईं।
एसडीएम डॉ. सुरेश कुमार ने बताया कि ग्राम पंचायतों में दूसरे शहरों से आने वाले प्रवासी लोगों को होम क्वारंटाइन रहना है। इनके स्वास्थ्य से जुड़ी जानकारी स्वास्थ्य विभाग तक पहुंचाने के लिए निगरानी समिति को निर्देश दिया गया। प्रधानों की हर तीसरे दिन प्रवासी मजदूरों की जानकारी देने के निर्देश दिए।
नोडल अधिकारी ओमप्रकाश तिवारी, सीएचसी प्रभारी डॉ. अरविंद कुमार, बीडीओ अमित कुमार आदि थे। मांट ब्लॉक पर निगरानी समिति की बैठक हुई। नोडल अधिकारी डॉ. प्रीतम सिंह ने प्रधान, ग्राम पंचायत सचिव, लेखपाल, आशा कार्यकर्ता, आंगनबाड़ी, रोजगार सेवकों को कोरोना के बचाव, उपाय के बारे में जानकारी दी।
सीएचसी प्रभारी डॉ. विकास जैन, एडीओ पंचायत रामकुमार शर्मा, योगेश शर्मा, भूमित्र शर्मा, यतिन शर्मा, राजू प्रसाद, पुष्पेंद्र सिंह, धीरेंद्र पाल थे। बलदेव ब्लॉक पर समिति की बैठक नोडल अधिकारी बीडीओ श्वेतांक पांडेय, एसडीएम जगप्रवेश, सीएचसी प्रभारी डॉ. विजेंद्र सिसौदिया की मौजूदगी में हुई। एडीओ पंचायत विजयराज सिंह व अन्य लोग थे। गोवर्धन में हुई बैठक में एडीएम वित्त एवं राजस्व ब्रजेश कुमार, चिकित्सा प्रभारी डॉ. रूपेंद्र सिंह, एसडीएम राहुल यादव, बीडीओ ब्रजबिहारी त्रिपाठी थे।
... और पढ़ें

सड़कों पर उमड़ी भीड़, लॉकडाउन के नियमों की उड़ी धज्जियां

मथुरा। लॉकडाउन को लेकर पुलिस-प्रशासन की लापरवाही एक बार फिर उजागर हो गई। बृहस्पतिवार को बाजार खुलने के दौरान होलीगेट से दरेसी रोड तक एक किलीमीटर के क्षेत्र में उमड़ी भीड़ ने प्रशासन के तमाम दावों की हवा निकाल दी। हजारों लोग और सैकड़ों वाहन जाम में फंसे रहे। इस दौरान लॉकडाउन के नियमों की धज्जियां उड़ गईं। सामाजिक दूरी का पालन तो हुआ ही नहीं लोग मास्क पहनकर भी घर से नहीं निकले। जिस मार्ग पर जाम लगा वह शहर के उस हॉटस्पॉट एरिया से लगा है, जहां सर्वाधिक कोरोना पॉजिटिव केस मिले हैं।
जिस क्षेत्र में एक-एक व्यक्ति के जाने और आने का रिकॉर्ड रखा जा रहा था बृहस्पतिवार को इसके विपरीत स्थितियां बन गईं। प्रशासन तथा पुलिस अधिकारियों की लापरवाही के चलते होलीगेट पर चौतरफा जाम लग गया। जो एक बार जाम में फंसा वह कई घंटे तक सैकड़ों लोगों के बीच रहा। जहां पर न तो सोशल डिस्टेंसिंग थी और न ही लॉकडाउन की अन्य गाइड लाइन का अनुपालन। सुबह से ही होलीगेट क्षेत्र मेें कार से लेकर मोटरसाइकिल और स्कूटी का प्रवेश शुरू हो गया।
देखते-देखते दस बजे तक होलीगेट चौराहे से भरतपुर गेट, डीग गेट, आर्य समाज रोड पर वाहन फंस गए। जिसकी जानकारी जाम में फंसे कई लोगों ने पुलिस तथा प्रशासनिक अधिकारियों को दी। सिटी मजिस्ट्रेट मनोज कुमार सिंह, सीओ सिटी आलोक दुबे, कोतवाली प्रभारी अवधेश प्रताप सिंह तथा नगर निगम के सहायक नगर आयुक्त राज कुमार मित्तल टीम के साथ जाम को खुलवाने का प्रयास किया लेकिन अधिकारी जाम खुलवाने में असफल रहे।
खुद अधिकारियों की गाड़ियां भी जाम में फंसीं
जाम खुलवाने के लिए सड़क पर दुकानदारों तथा लोगों को समझाने के लिए निकले अधिकारियों की टीम खुद जाम में फंस गई। दरअसल यह लोग पैदल -पैदल चलकर दुकानदारों को समझा रहे थे कि वह अपने यहां पर कम से कम ग्राहकों को रखें या फिर उनसे सोशल डिस्टेंसिंग भी रखने को कहें। इसके बाद जब अधिकारियों ने अपनी गाड़ियां मंगाईं तो वह जाम में फंस गईं।
बैरियर सिस्टम ही हो गया खत्म
लॉकडाउन के बाद बाजार खुलते ही पुलिस द्वारा होलीगेट तक वाहनों को रोकने के लिए जो बैरियर सिस्टम लागू किया गया था वह खत्म हो गया। जिसके चलते चौपहिया वाहन तक होलीगेट तक पहुंच गए। इन वाहनों के फंसने से ही जाम की समस्या पैदा हुई।
ऐसे कैसे होगा कोरोना से बचाव
आम आदमी जिसे नहीं पता कि होलीगेट पर इस प्रकार का जाम लग गया है वह जाम में फंसने के बाद यही कहता नजर आया कि ऐसे कैसे होगा कोरोना से बचाव। घाटी बहालराय निवासी हेमंत गोयल का कहना था कि इस प्रकार से कैसे जाम से मुक्ति मिलेगी।
होलीगेट क्षेत्र को नो व्हीकल जोन बनाने पर विचार
होलीगेट क्षेत्र को नो व्हीकल जोन बनाने पर विचार चल रहा है। जिस दिन यह बाजार खुलेगा उस दिन इस क्षेत्र में कोई भी वाहन प्रवेश नहीं करेगा। जिससे हम कोरोना की गाइड लाइन का अनुपालन कर सकेंगे।
- मनोज कुमार सिंह, सिटी मजिस्ट्रेट
... और पढ़ें

आप ने फूंका रेल मंत्री का पुतला

मथुरा। आम आदमी पार्टी (आप) के कार्यकर्ताओं ने बृहस्पतिवार को रेलमंत्री पीयूष गोयल का सिविल लाइंस क्षेत्र में पुतला फूंका। पार्टी जिलाध्यक्ष अजय गोतम ने कहा कि रेल मंत्री ने लॉकडाउन में फंसे श्रमिकों को उनके घर पहुंचाने के लिए पूरे देश में श्रमिक स्पेशल ट्रेन का संचालन तो शुरू कर दिया, लेकिन कुप्रबंधन और संवेदनहीनता के कारण गरीब और मजदूर घर पहुंचने से पहले ट्रेनों में भूख-प्यास से तड़प कर मर रहे हैं।
जिलाध्यक्ष ने इसे सिविल लाइंस स्थिति अपने घर के बाहर रेल मंत्री को पुतला फूंका। मांग की कि रेल मंत्री को बर्खास्त किया जाए। जिला सचिव रवि प्रकाश भारद्वाज, महिला विंग की जिलाध्यक्ष रूपा लवानिया, प्रिंस योगी, युवा अध्यक्ष महानगर श्रमिक प्रकोष्ठ के अध्यक्ष दलीप सिंह, जिला उपाध्यक्ष सुरेश सैनी अधिवक्ता प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष पृवेश सिंह एडवोकेट, जिला अध्यक्ष किसान प्रकोष्ठ भगत सिंह, ब्लाक अध्यक्ष नीरज शर्मा, चंद्र पाल बघेल आदि मौजूद थे।
... और पढ़ें

फल-सब्जी की दुकानें भी खुलवाएं

वृंदावन। उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल वृंदावन के पदाधिकारियों ने यूपी व्यापारी कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष रविकांत गर्ग को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में व्यापारियों ने कहा है कि वृंदावन में फल और सब्जी की आजतक दुकानें नहीं खोलने दी गई हैं। इससे व्यापारी काफी परेशान हैं, जबकि हर दुकान अपने निर्धारित समय से खुल रही हैं।
फल और सब्जी की दुकानें सुबह साढ़े सात बजे से दोपहर एक बजे खुलवाई जाएं। सब्जी और फल रोज की जरूरत है। इससे आमजनता को आसानी होगी, वहीं व्यापारियों को भी लाभ हो सके। ज्ञापन सौंपने वालों में हरिओम अग्रवाल, जुगल किशोर रोकड़िया, सुरेश कुमार अरोड़ा और संजय गुलाटी हैं।
... और पढ़ें

बांकेहबिहारी मंदिर की छह घंटे हटाई बैरिकेडिंग, फिर लगाई

वृंदावन (मथुरा)। ठाकुर बांकेबिहारी मंदिर के चारों तरफ बैरिकेडिंग बुधवार की दोपहर दो बजे हटा दी गई। उसके छह घंटे बाद फिर बैरिकेडिंग लगा दी। वैश्विक महामारी के चलते ब्रज के मंदिर बंद हैं। ठाकुर बांकेबिहारी मंदिर के पट भी बंद थे, पर देहरी पर माथा टेककर बांकेबिहारी के भक्त अपने को धन्य समझते थे। कुछ दिन पहले मंदिर के चारों तरफ बैरिकेडिंग करके भक्तों पर बंदिशें लगा दी गईं।
लोगों ने इसका विरोध किया। बुधवार की दोपहर बैरिकेडिंग हटा दी गई तो बांकेबिहारी के भक्तों में खुशी छा गई। शाम आठ बजे फिर बैरिकेडिंग लगा दी गई तो भक्त मायूस हो गए। मंदिर के प्रबंधक प्रशासक मुनीश शर्मा ने बताया कि एहतियात के लिए बैरिकेडिंग की गई है। बुधवार को जरूर बैरिकेडिंग हटाई गई थी। फिर लगाने के आदेश आए तो लगा दी गई।
... और पढ़ें

सदर बाजार थाना अध्यक्ष सहित 11 पुलिसकर्मी क्वारंटीन 16-14-28

मथुरा। नगर निगम की टीम पर हमले के एक आरोपी को गिरफ्तार करने गई थाना सदर बाजार की पुलिस टीम को क्वारंटीन कर दिया गया है। 11 पुलिसकर्मियों की टीम में थानाध्यक्ष सदर बाजार भी शामिल हैं। आरोपी को जेल भेजने से पहले की गई उसकी जांच की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आई है। इसके बाद सभी पुलिसकर्मियों को पुलिस मॉडर्न स्कूल में क्वारंटीन किया गया है।
पुलिस टीम के साथ रहने वाले एक होमगार्ड और एक पीआरडी जवान को भी क्वारंटीन किया गया है। जैसे-जैसे कोरोना के केस बढ़ रहे हैं पुलिस के लिए समस्या बढ़ती जा रही है। विगत करीब दो माह पूर्व नगर निगम की टीम पर क्लेंसी इंटर कॉलेज स्थित चर्च जमीन से कब्जा हटवाने गई नगर निगम की टीम पर कुछ लोगों ने हमला कर दिया था। इस हमले में सदर बाजार निवासी युवक भी वांछित था।
युवक को 25 मई को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। पुलिस टीम में थाना अध्यक्ष सदर बाजार सत्यपाल देशवाल समेत 11 पुलिसकर्मी, एक होमगार्ड और एक पीआरडी जवान था। जेल भेजने से पूर्व युवक का कोरोना टेस्ट कराया गया, जिसकी रिपोर्ट 27 मई को रात में पॉजिटिव आई।
रात करीब 11 बजे युवक की रिपोर्ट आते ही पुलिसकर्मियों में हड़कंप मच गया।
स्वास्थ्य विभाग की टीम ने थाना अध्यक्ष, तीन उप निरीक्षक, दो हेड कांस्टेबल, पांच कांस्टेबल, एक होमगार्ड, एक पीआरडी जवान को पुलिस मॉडर्न स्कूल में क्वारंटीन कर दिया। थानाध्यक्ष ने बताया कि बृहस्पतिवार को उनका कोरोना सैंपल लिया जाएगा, जिसकी दो दिन बाद रिपोर्ट आएगी। जिन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव होगी उनको आइसोलेशन में रखा जाएगा। बाकी लोगों को होम क्वारंटीन किया जाएगा।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us