विज्ञापन
विज्ञापन
घर बैठें बनवाएं फ्री जन्मकुंडली और जानें भविष्य की कहानी ग्रह - नक्षत्रों की ज़ुबानी
Kundali

घर बैठें बनवाएं फ्री जन्मकुंडली और जानें भविष्य की कहानी ग्रह - नक्षत्रों की ज़ुबानी

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

बाॅडी बनाने के लिए दिए जा रहे थे पशुओं की दवा के इंजेक्शन, चार जिम संचालक गिरफ्तार, प्रतिबंधित दवाएं बरामद

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर शहर में चलाए जा रहे जिम में युवाओं को बॉडी बनाने के लिए स्टेरॉयड व पशुओं की दवा के प्रतिबंधित इंजेक्शन देने का बड़ा खुलासा हुआ है। पुलिस ने शहर के विभिन्न क्षेत्रों में छापा मारकर चार जिम संचालकों सहित पांच लोगों को गिरफ्तार किया है, जिनके कब्जे से बड़ी मात्रा में प्रतिबंधित दवाएं बरामद की गईं हैं।

पुलिस लाइन स्थित सभागार में प्रेसवार्ता करते हुए एसएसपी अभिषेक यादव ने बताया कि सूचना के आधार पर शहर क्षेत्र के पचेंडा रोड स्थित फिटनेस फैक्टरी जिम, सिटी सेंटर स्थित वॉरियर जिम, रामपुरी स्थित ग्लोबल जिम, लद्दावाला स्थित फिट फैक्टरी जिम के साथ ही अहिल्याबाई चौक स्थित अर्श फूड सप्लीमेंट पर छापा मारे गए।
... और पढ़ें

कोरोना काल में आधे से भी ज्यादा घटा रावण के पुतले का कद, 70 से 15 फीट घटी कुंभकरण-मेघनाद की लंबाई

कोरोना काल में रावण के पुतले का भी कद घट गया है। हर वर्ष दशहरे पर 60 से 70 फीट के रावण, मेघनाद और कुंभकरण के पुतलों का दहन किया जाता था, लेकिन इस बार 10 से 15 फीट के रावण का ही पुतला तैैयार किया जा रहा है।

सहारनपुर में प्राचीन श्री रामलीला कमेटी के तत्वावधान में बेहट अड्डा रामलीला मैदान पर हर वर्ष 60 से 70 फीट के रावण, मेघनाथ और कुंभकरण के पुतले फूंके जाते थे, लेकिन इस बार 15 फीट का एक ही पुतला तैयार किया जा रहा है, जिसे रामलीला भवन में फूंका जाएगा।

कमेटी के प्रधान अनिल अग्रवाल और मंत्री माईदयाल सिंह मित्तल का कहना है कि कोरोना को लेकर सरकार की ओर से जारी गाइडलाइन का पालन करते हुए ऐसा किया जा रहा है। रामलीला मैदान बेहट बस अड्डा पर आयोजन करेंगे तो भीड़ हो जाएगी, जिससे कोरोना संक्रमण फैलने का खतरा है।
... और पढ़ें

मेरठ: सोतीगंज में खुलेआम काटे जा रहे चोरी के वाहन, कबाड़ियों को पुलिस का संरक्षण, सीएम तक पहुंची बात

मेरठ शहर के सोतीगंज में वाहन कमेला चलाने वाले कबाड़ियों पर शिकंजा कसवाने के लिए मेरठ-हापुड़ सीट से भाजपा सांसद राजेंद्र अग्रवाल को भी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को चिट्ठी लिखनी पड़ रही है। इससे पता चलता है कि मेरठ पुलिस को लेकर सांसद की राय क्या है। जाहिर है कि इसस पहले उनके द्वारा किए गए प्रयासों से जिला पुलिस की नींद कायदे से नहीं टूट रही है। बस दिखाने के लिए कुछ कार्रवाई जरूर शुरू हो गई है।

सोतीगंज में दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, राजस्थान व यूपी के जिलों से चोरी होने वाले वाहन काटे जा रहे हैं। इसका खुलासा दूसरे जनपद की पुलिस कई बार कर चुकी है। मेरठ पुलिस भी वाहन चोरों को मुठभेड़ में गोली मार चुकी है लेकिन सोतीगंज के शातिर कबाड़ियों पर आज तक पुलिस शिकंजा नहीं कस पाई।
... और पढ़ें

मेरठः 14 महीने बाद काले तेल का जिन्न फिर बोतल से बाहर, गिरफ्तारी के बाद जेल पहुंचा माफिया

आखिरकार 14 महीने बाद काले तेल के कारोबार का जिन्न एक बार फिर बोतल से बाहर आ गया है। अमर उजाला के खुलासे के बाद मेरठ छोड़कर भाग गए तेल माफिया अब पुलिस की गिरफ्त में आने लगे हैं। बुधवार को पुलिस ने तेल कारोबारी पंकज माहेश्वरी को सुपरटेक पामग्रीन से गिरफ्तार किया था। उसकी आगरा स्थित फर्म से 84 हजार लीटर मिलावटी तेल और केमिकल बरामद हुआ है। इसका मामला सिकंदरा थाने में दर्ज कराया गया था।

पिछले साल 19 अगस्त को काले तेल के कारोबार का खुलासा हुआ था। इसके बाद सितंबर में भी नकली तेल पकड़ा गया। साल्वेंट से नकली पेट्रोल बनाने और केरोसिन मिलाकर डीजल बनाने का धंधा बेरोकटोक चल रहा था। जब इस पूरे खेल का खुलासा अमर उजाला ने किया और पुलिस प्रशासन ने सख्ती से कार्रवाई की तो तेल माफिया ने अपने ठिकाने बदल दिए। मेरठ में मिलावटी तेल बनना लगभग बंद हो चुका है। लेकिन सूत्रों के अनुसार अब मिलावटी तेल बाहर के जनपदों से मेरठ के पेट्रोल पंपों पर फिर से बिकना शुरू हो गया है।

आगरा से पंजाब-हरियाणा तक फैला है जाल
मेरठ में भले ही नकली तेल बनना बंद हो गया हो लेकिन आगरा, सहारनपुर और दादरी में नकली तेल बनाया जा रहा है। यहां से भारी मात्रा में फिर से नकली तेल की सप्लाई शुरू हो गई है। आशंका है कि मेरठ के कई पेट्रोल पंपों पर इसकी आपूर्ति की जा रही है। मेरठ में सख्ती के बाद अन्य माफिया आगरा, फिरोजाबाद, मुजफ्फरनगर, गौतमबुद्धनगर के दादरी और पंजाब से लेकर हरियाणा में अपना काला कारोबार चला रहे हैं। 

पुराना तेल कारोबारी है पंकज माहेश्वरी
आगरा में नकली तेल बनाने के धंधे में शामिल पंकज माहेश्वरी मेरठ का निवासी है। आगरा पुलिस ने सितंबर में इसके यहां छापा मारा था तब से यह फरार चल रहा था। दो दिन पूर्व ही मेरठ के सुपरटेक पामग्रीन स्थित आवास से पुलिस पंकज को पकड़ कर ले गई। पंकज व उसके भाइयों की मेरठ व मुजफ्फरनगर में थोक व फुटकर की केरोसिन बिक्री की दुकानें थी, जिनका लाइसेंस इन्होंने लिया हुआ था। आरएल वीरेंद्रा एंड संस के नाम से इनकी फर्म थी लेकिन भाइयों के आपसी विवाद में दुकानें बंद हो गईं। 

आपूर्ति विभाग में कराता था सेटिंग 
पंकज माहेश्वरी का तेल का कारोबार भले ही मेरठ में बंद हो गया हो लेकिन उसकी आपूर्ति विभाग में खासी पकड़ थी। सूत्रों के अनुसार तमाम तेल कारोबारियों की सांठगांठ वह आपूर्ति विभाग में कराता था, जिसका कमीशन उसे मिलता था। नकली तेल के कारोबारियों के साथ भी पंकज माहेश्वरी के बेहतर संबंध थे। 

काले तेल के कारोबार में आया था नाम 
मेरठ में जब तेल के काले कारोबार को लेकर हल्ला मचा था, तब पंकज का नाम भी सामने आया था। इसके नाम से आईजी ऑफिस में शिकायत की गई थी। इसी आधार पर कई अन्य तेल कारोबारियों के यहां पुलिस ने छापा मारा था। हालांकि इन मामलों में कार्रवाई तो दूर की बात, अभी तक जांच भी पूरी नहीं हो पाई है। 

आगरा में कोर्ट में पेशी के बाद भेजा गया जेल 
पेट्रोल में केरोसिन की मिलावट करने के आरोपी व्यापारी पंकज माहेश्वरी को पुलिस ने शुक्रवार को कोर्ट में पेश किया। उसे जेल भेज दिया गया। सिकंदरा के औद्योगिक क्षेत्र स्थित उसकी फैक्टरी से पुलिस को पेट्रोलियम पदार्थों का अवैध भंडारण भी मिला था। मामले में पूर्ति निरीक्षक अजय कुमार सिंह ने 26 सितंबर को थाना सिकंदरा में आवश्यक वस्तु अधिनियम की धाराओं में मुकदमा दर्ज कराते हुए खंदारी के फ्रैंड्स आशियाना निवासी पंकज और शाहगंज की विष्णु कॉलोनी निवासी राजेश शर्मा को नामजद किया था। सिकंदरा थाना के प्रभारी निरीक्षक  अरविंद कुमार ने बताया कि गोदाम और फैक्टरी में तकरीबन 84 हजार लीटर केमिकल बरामद करने के बाद इसे विधि विज्ञान प्रयोगशाला में जांच के लिए भेजा था। फैक्टरी पर ताला लगा दिया गया था। 
... और पढ़ें
सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर

अनोखी मिसाल: नवरात्र के दौरान माता की भक्ति में लीन हैं जेल के कैदी, मुस्लिम बंदी भी रख रहे उपवास

उत्तर प्रदेश के बिजनौर में नवरात्र के पावन अवसर पर जेल में बंदी भी मां दुर्गा की भक्ति में लीन हैं। हिंदू बंदियों के साथ मुस्लिम बंदी भी नवरात्र में उपवास रख रहे हैं। ये हिंदू बंदियों के साथ बैरक में शाम को होने वाली आरती में भी शामिल होते हैैं। आजीवन  कारावास की सजा काट रही एक महिला कैदी ने भी सारे उपवास रखे हैं। ये महिला भी कीर्तन में हिस्सा ले रही है। जेल में उपवास रखने वाले बंदियों को फलाहार दिया जा रहा है। 

 जिला कारागार भी नवरात्र में मां दुर्गा के जयकारों से गूंज रहा है। जेल में सुबह शाम माता की पूजा अर्चना होती है। जेल में 1101 बंदी हैं, इनमें 35 महिला शामिल हैं। महिलाओं में नौ मुस्लिम महिला बंदी हैं। नवरात्र में हिंदू बंदी ही नहीं मुस्लिम बंदी भी देवी मां की भक्ति में लीन हैं। 19  मुस्लिम बंदियों ने जेल में नवरात्र का उपवास रखा है। एक मुस्लिम महिला कैदी भी सारे उपवास रखे हैं।
... और पढ़ें

आपत्तिजनक स्थिति में युवक के साथ पकड़ी गई तो बहू ने रची खौफनाक साजिश, प्रेमी संग मिलकर की ससुर की हत्या

प्रतीकात्मक तस्वीर
बागपत एसपी अभिषेक सिंह ने बुधवार को बसी गांव के बुजुर्ग सुखबीर हत्याकांड का खुलासा कर दिया। एसपी के मुताबिक बुजुर्ग ने अपने बेटे की बहू और गांव के ही युवक को आपत्तिजनक स्थिति में पकड़ लिया था। इन अनैतिक संबंधों की पोल खुल जाने के डर से ही दोनों ने कैंची से वार कर उसकी हत्या कर दी थी। दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

एसपी अभिषेक सिंह ने बताया कि नौ अक्तूबर को बुजुर्ग सुखबीर की हत्या की गई थी। शव गन्ने के खेत में पड़ा मिला था। मृतक के बेटे राजकुमार ने हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था। अपर पुलिस अधीक्षक मनीष मिश्रा और सीओ खेकड़ा मंगल सिंह रावत के निर्देशन में जांच हुई।

पुलिस ने बुधवार को आरोपी राजीव पुत्र महेंद्र और मृतक सुखबीर के बेटे की बहू को गिरफ्तार कर लिया। राजीव ने पुलिस को बताया कि वह दर्जी का काम करता है। सुखबीर का बेटा राजस्थान में प्राइवेट नौकरी करता है और उसकी पत्नी गांव में ही रहती है। घर पर आवाजाही के दौरान उसका मेलजोल सुखबीर के बेटे की बहू से हो गया। नौ अक्तूबर को दोनों गन्ने के खेत में मिलने गए थे।

सुखबीर भी उनके पीछे-पीछे खेत में पहुंच गया और दोनों को आपत्तिजनक स्थिति में पकड़ लिया। पोल खुल जाने के डर से दोनों ने उसे दबोच लिया और गर्दन व सिर पर कैंची से चार-पांच वार कर उसकी हत्या कर दी। कैंची को खेत में ही छिपाकर रख दिया था। पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। हत्या में प्रयुक्त कैंची भी बरामद कर ली गई है।

झूठा फंसाने का लगाया आरोप
बुजुर्ग सुखबीर की हत्या के आरोप में जेल गई महिला के ससुराल पक्ष के लोगों ने ही एसपी अभिषेक सिंह को प्रार्थना पत्र देकर कहा कि उसे झूठा फंसाया गया। पुलिस को प्रकरण की निष्पक्ष जांच करनी चाहिए।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें

https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/ ... और पढ़ें

पत्नी बेरोजगार पति को देगी गुजारा भत्ता, यूपी के मुजफ्फरनगर में परिवार न्यायालय ने दिए आदेश 

हिंदू विवाह अधिनियम में महिलाओं की सुरक्षा प्राथमिकता के आधार पर की गई है, वहीं महिला उत्पीड़न से त्रस्त पति के हितों की भी रक्षा की गई है। उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में परिवार न्यायालय ने मंगलवार को ऐसा ही आदेश पारित किया है, जिसमें पेंशन भोगी पत्नी अपने पति को गुजारा भत्ता अदा करेगी।

अधिवक्ता बालेश कुमार तायल के अनुसार खतौली निवासी किशोरीलाल ने वर्ष 1990 में कानपुर निवासी मुन्नी देवी से विवाह किया था। मुन्नी देवी रक्षा अनुसंधान विकास संगठन कानपुर में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के रूप में कार्यरत थी। शादी के कुछ वर्षों बाद किशोरीलाल व मुन्नी देवी के बीच मनमुटाव हो गया।

इसके बाद किशोरीलाल खतौली आकर रहने लगा। उसने वर्ष 2013 में भरण पोषण की मांग करते हुए मुन्नी देवी के विरुद्ध परिवार न्यायालय में याचिका दायर की। इसी बीच मुन्नी देवी सेवानिवृत्त हो गई, जिसे लगभग बारह हजार रुपये मासिक पेंशन के रूप में प्राप्त होने लगे।

यह भी पढ़ें: 
अनोखी मिसाल: नवरात्र के दौरान माता की भक्ति में लीन हैं जेल के कैदी, मुस्लिम बंदी भी रख रहे उपवास
... और पढ़ें

इकनॉमिक कॉरिडोर से बढ़ेगा पर्यटन, पश्चिमी यूपी को मिलेगा खुला बाजार, 41.75 किमी बनेगा हाईवे, भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू

दिल्ली-सहारनपुर-देहरादून इकनॉमिक कॉरिडोर के दूसरे और तीसरे चरण के निर्माण के लिए भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। इसके बनने से पर्यटन और आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा मिलेगा। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लोगों के पास दिल्ली से देहरादून तक खुले बाजार का विकल्प होगा। दिल्ली से देहरादून की दूरी सिर्फ ढाई घंटे में तय हो सकेगी। एनएचएआई ने मार्च 2024 से पहले आर्थिक गलियारे को बनाने का लक्ष्य तय किया है।

अक्षरधाम से ईपीई तक पुराने हाईवे का ही चौड़ीकरण
पहले चरण में अक्षरधाम से ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे पर मवी कलां कट तक हाईवे बनेगा। पुराने हाईवे का ही चौड़ीकरण किया जाएगा। इसके लिए वित्तीय स्वीकृति मिल गई है। हाईवे के दोनों ओर जमीन की पैमाइश का कार्य चल रहा है। यहां पर 18 किमी एलिवेटेड और 13 किमी चौड़ीकरण का कार्य होगा, जिस पर करीब 3300 करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है।

ईस्टर्न पेरिफेरल से सहारनपुर तक नया हाईवे
दूसरे चरण में ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे के मवी कलां कट से सहारनपुर तक नए हाईवे का निर्माण होगा। ईपीई से सहारनपुर बाईपास तक 118 किमी के हाईवे पर करीब पांच हजार करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे।
तीसरे चरण में सहारनपुर के गणेशपुर से देहरादून तक हाईवे बनेगा। एलिवेटेड, सुरंग और चौड़ीकरण से यह हिस्सा बनेगा। इसकी लागत 1600 करोड़ रुपये आएगी।

जिले के 21 गांवों से होकर गुजरेगा हाईवे
इकनॉमिक एक्सप्रेस-वे के लिए जिले में सर्वे शुरू हो गया है। बोड्ढ़ा गांव में किसानों से सहमति पत्र भरवाए गए हैं। भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया जल्द ही शुरू होने की उम्मीद है। जिले में 41.75 किमी के टुकड़े का निर्माण होगा। ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे पर जंक्शन बनेगा, जिससे बड़ा लाभ होगा।

एक्सप्रेस-वे के निर्माण से पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लोगों को लाभ होगा। जिले में सबसे ज्यादा हिस्सा बन रहा है। पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा और वेस्ट यूपी का आर्थिक विकास होगा। -डॉ. सत्यपाल सिंह, सांसद एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें

https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/ ... और पढ़ें

नौकरी दिलवाने के बहाने लेजाकर युवती से गाजियाबाद में सामूहिक दुष्कर्म, एक गिरफ्तार, अन्य फरार

बड़गांव(सहारनपुर)। नौकरी दिलवाने के बहाने युवती को गाजियाबाद ले जाकर सामूहिक दुष्कर्म किया गया। परिजनों की तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज करके पुलिस ने युवती को गाजियाबाद से बरामद कर लिया। एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है, अन्य आरोपी अभी फरार हैं।

बड़गांव थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी युवती को गांव के ही दो युवक पांच दिन पूर्व नौकरी दिलाने के बहाने बहला फुसलाकर गाजियाबाद ले गए। युवती के परिजनों ने बड़गांव थाना पुलिस को तहरीर दी, जिसके बाद पुलिस ने युवती को तलाशना शुरू किया। इसी के चलते पुलिस ने गाजियाबाद के लिंक रोड थाना क्षेत्र से दो दिन पूर्व ही युवती को बरामद कर लिया। युवती ने गाजियाबाद में छह युवकों पर सामूहिक दुष्कर्म करने का आरोप लगाया।

थाना प्रभारी निरीक्षक रणवीर सिंह ने बताया कि युवती को मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश करके बयान दर्ज कराए गए हैं। तीन आरोपी गांव के ही बताए गए हैं, जबकि तीन आरोपी बाहर के रहने वाले हैं, जिन्हें पीड़िता जानती नहीं है।

थानाध्यक्ष ने बताया कि मामले में अरविंद, धर्मेंद्र और राहुल सहित छह आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई है। आरोपी राहुल पुत्र उमेश को गिरफ्तार करने के बाद कोर्ट में पेश करके जेल भेज दिया है। अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी का प्रयास चल रहा है।
... और पढ़ें

ताजा गोबर लाईये... कुछ ही देर में खाद बनवाकर ले जाईये, बिजनौर में किसान ने लगाई अनोखी मशीन

बिजनौर में किसानों के खेतों में अब ताजा गोबर भी खाद का काम करेगा। ताला गोबर डालने से लगने वाली दीमक से भी किसानों को मुक्ति मिल जाएगी। एक किसान ने गोबर से खाद बनाने की मशीन लगाई है। ताजा गोबर से एकदम खाद बनने से किसानों को हर समय खाद उपलब्ध हो सकेगी। इससे किसानों को जैविक खेती करने के लिए भी बढ़ावा मिलेगा। जमीन और फसल की जरूरत के हिसाब से पोषक तत्वों वाले जीवाणु खाद में मिलाए जा सकते हैं।

रासायनिक खाद के खेतों में अंधाधुंध प्रयोग के बाद भी गोबर की खाद का महत्व कम नहीं हुआ है। गोबर की खाद जमीन की उर्वरा शक्ति को हमेशा बढ़ाए रख सकती है। जमीन की जान बनाए रखने के लिए किसान खेतों में गोबर की खाद डालते हैं। लेकिन गोबर की खाद भी हर समय किसान के पास उपलब्ध नहीं होती है।
... और पढ़ें

सुरक्षा के दावे तोड़ रहे दम, महिला अपराध नहीं हुए कम, लगातार छेड़छाड़, दुष्कर्म जैसे अपराध की शिकार हो रही बेटियां

महिलाओं की सुरक्षा के लिए मिशन शक्ति अभियान चल रहा है। मकसद यही है कि महिलाओं को जागरूक कर अधिक सशक्त बनाया जाए। इसकी जरूरत इसलिए भी पड़ी है कि तमाम दावों के बावजूद महिलाएं सुरक्षा को लेकर अब तक आश्वस्त नहीं हो सकी हैं।

सहारनपुर जिले में ही इस साल महिला उत्पीड़न की एक हजार से अधिक घटनाएं हो चुकी हैं। बेटियां अब भी छेड़छाड़, दुष्कर्म, सामूहिक दुष्कर्म जैैसे अपराधों की शिकार हो रही हैं। कुछ मामलों में तो पीड़िताओं ने जान तक भी गवां दी।

जिले के 22 थानों के अलावा महिला सहायता प्रकोष्ठ, डीआईजी, एसएसपी कार्यालयों, तहसील और थाना दिवसों के अलावा कोर्ट के माध्यम से महिला उत्पीड़न के मामले आ रहे हैं। इनमें कुछ केस तो विवेचना के दौरान ही पारिवारिक और सामाजिक दबाव या साक्ष्यों के अभाव में खारिज हो जाते हैं। करीब 55 फीसदी मामले ही चार्जशीट और आरोपियों को सजा दिलाने तक पहुंच पाए हैं।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X