विज्ञापन

फिर सामने आई यूपी पुलिस की लापरवाही, सच जानकर एसपी क्राइम भी हैरान, ये है पूरा मामला

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, मेरठ Updated Fri, 21 Feb 2020 03:02 PM IST
विज्ञापन
सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर - फोटो : pexels.com
ख़बर सुनें

सार

मेरठ में दुष्कर्म के मामले में पुलिस की लापरवाही सामने आई है। सच्चाई जानकर एसपी क्राइम भी हैरान रह गए।

विस्तार

महिला अपराध के प्रति सरकार गंभीर है। इसके बावजूद पुलिस लापरवाही करती है। मेरठ में दौराला पुलिस का खेल एसएसपी ऑफिस पर पहुंचा है। सामूहिक दुष्कर्म जैसे गंभीर अपराध में दौराला पुलिस ने 16 दिन में फाइनल रिपोर्ट लगा दी। पीड़ित परिवार ने एसपी क्राइम से गुहार लगाई कि इस मामले की दोबारा से जांच कराई जाए।
विज्ञापन
मामला दौराला थानाक्षेत्र का है। तीन जनवरी को तीन युवकों ने एक युवती से दुष्कर्म की वारदात की थी। युवती की शिकायत पर अंकित, अरुण और रवि के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज हुआ था। जिसकी जांच दरोगा राजकुमार सिंह को सौंपी गई। पीड़िता के परिजनों ने एसपी क्राइम को बताया कि पुलिस ने बिना जांच पड़ताल के मुकदमे में अंतिम रिपोर्ट लगा दी जबकि पीड़िता कोर्ट में दर्ज कराए बयान में मुकदमे का समर्थन कर चुकी है। सामूहिक दुष्कर्म के केस में महज 16 दिन में एफआर लगना सुनकर एसपी क्राइम भी हैरान रह गए। 

यह भी पढ़ें: औने-पौने दाम में नीलाम हुई डायल 100, सवालों के घेरे में यूपी पुलिस, एडीजी बोले- होगी जांच

एसपी क्राइम ने इंस्पेक्टर दौराला से मामले की जानकारी ली। एसपी क्राइम ने बताया कि युवती के परिजनों का दूसरे पक्ष से विवाद हुआ था। युवती के परिजनों के खिलाफ पहले से मुकदमा दर्ज है। क्रास मुकदमा दर्ज कराने के लिए युवती से सामूहिक दुष्कर्म का केस दर्ज कराया गया था। जांच में मामला झूठा पाया गया। हालांकि युवती के परिजनों की शिकायत पर जांच की जाएगी।

नहीं दर्ज हुए बयान, छात्रा बोली तबीयत ठीक नहीं  

सामूहिक दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली पीड़ित छात्रा के बृहस्पतिवार को भी बयान दर्ज नहीं हो सके। सदर बाजार थाना पुलिस गढ़ में छात्रा के घर बयान दर्ज करने गई थी। लेकिन छात्रा ने कह दिया कि अभी मेरी तबीयत ठीक नहीं है। शुक्रवार को फिर पुलिस बयान दर्ज करने जाएगी। गढ़मुक्तेश्वर निवासी एक युवती सीसीएसयू की छात्रा है। आरोप है कि 13 फरवरी को मेरठ से गढ़ लौटते समय छात्रा के साथ अपहरण और सामूहिक दुष्कर्म की वारदात हुई थी। छात्रा के पिता ने गढ़ थाने में प्रियांश निवासी स्याना बुलंदशहर, आकाश, सुमित और सोनी निवासी हापुड़ के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। छात्रा के पिता की शिकायत पर आईजी ने विवेचना मेरठ ट्रांसफर की थी। सदर बाजार पुलिस केस की विवेचना कर रही है। एसपी सिटी डॉ. एएन सिंह का कहना है कि बयान के बाद ही पुलिस आगे की कार्रवाई करेगी।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें


https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us