विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020
Astrology Services

विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

सीएम योगी ने तय किया सरकार के काम का एजेंडा, पूरे होंगे श्रम सुधार, बढ़ेगी जीएसटी वसूली

मुख्यमंत्री योगी ने नए साल में सभी प्रमुख विभागों के लिए कामकाज का एजेंडा तय कर दिया है।

17 फरवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

मेरठ

सोमवार, 17 फरवरी 2020

दरिंदों को सजा दिलाने की मांग, आईजी के आश्वासन पर खत्म हुआ हजारों छात्र-छात्राओं का धरना

उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले में सीसीएसयू कैंपस की छात्रा के साथ हुई हैवानियत के विरोध में शनिवार सुबह से आईजी ऑफिस के बाहर चल रहा हजारों छात्र-छात्राओं का धरना समाप्त हो गया है।एसएसपी अजय साहनी ने आश्वासन दिया है कि पीड़िता का निजी अस्पताल में इलाज कराया जाएगा। उन्होंने कहा आरोपियों की तत्काल गिरफ्तारी की जाएगी और पीड़ित परिवार को सुरक्षा दी जाएगी।

ज्ञापन में प्रमुख मांगें -
- छात्रा का उपचार मेडिकल की बजाय न्यूट्रिमा अस्पताल में कराया जाए
- सभी आरोपियों की गिरफ्तारी 24 घंटे के भीतर हो
- पीड़िता को पूरी सुरक्षा दी जाए
- अपराधियों को सार्वजनिक किया जाए और उन्हें सोशल मीडिया पर वायरल किया जाए
- सभी आरोपियों पर 50-50 हजार का इनाम घोषित हो

सड़क पर उतरे थे हजारों छात्र-छात्राएं
हजारों छात्र-छात्राएं शनिवार सुबह को ही सड़क पर उतर आए थे। इसके बाद उन्होंने आईजी ऑफिस का घेराव करते हुए जमकर हंगामा किया। छात्राओं की मांग है कि आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए। 

वहीं एक छात्र नेता के नेतृत्व में पांच छात्र आईजी से मिले। उन्होंने आईजी से कार्रवाई की मांग करते हुए दोषियों को सख्त से सख्त सजा दिलाने की मांग की है। हालांकि इसके बाद आईजी प्रवीण कुमार अपने ऑफिस से बाहर आए और उन्होंने छात्र- छात्राओं से बताया कि मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। उन्होंने कार्रवाई का पूरा आश्वासन देकर धरना- प्रदर्शन खत्म करने की अपील की है लेकिन छात्राएं अभी तक धरने डटीं हुई हैं। इसके अलावा एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने भी सीसीएसयू कैंपस का गेट बंद कर धरना-प्रदर्शन शुरू कर दिया है। मौके पर कई थानों की पुलिस फोर्स पहुंची।

उधर, शहर के कई मुख्य स्थानों पर पुलिस फोर्स लगा दी गई है। खास बात यह है कि इतनी ज्यादा संख्या में छात्र- छात्राओं को देख पुलिस भी अलर्ट हो गई है। वहीं एसएसपी अजय साहनी भी मौके पर पहुंच गए हैं। उन्होंने भी छात्राओं से अपील की है कि धरना समाप्त करके घर चले जाएइये। पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार कर कड़ी कार्रवाई करेगी। लेकिन छात्राओं ने हापुड़ पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए जल्द से जल्द कार्रवाई की मांग की है।

यह भी पढ़ें: 
दुष्कर्म पीड़िता की मौत का मामला, पूर्व ब्लाक प्रमुख गिरफ्तार, दो प्रधान समेत तीन हिरासत में
... और पढ़ें

पहले गुरुजी बोले, फिर सीने में उतार दी गोली, ये है डायरेक्टर की हत्या के पीछे की बड़ी वजह

मुकदमे की तारीख के लिए मेरठ आया था बदमाश, गोली लगने से हो गई थी मौत, अब हुई शिनाख्त

उत्तर प्रदेश में मेरठ जनपद के कंकरखेड़ा थाना क्षेत्र में तीन दिन पहले जिस बदमाश की गोली लगने से मौत हुई थी उसकी शिनाख्त हो गई है। पुलिस के अनुसार वह शाहजहांपुर जिले का रहने वाला है। उसका नाम धनपाल है। 

बताया गया कि वह लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र से चोरी के एक मामले में जेल गया था। इसी मुकदमे की तारीख करने के लिए वह मेरठ आया था।

ये था मामला
मेरठ के कंकरखेड़ा स्थित खिर्वा रोड पर दिल्ली के बदमाशों के बीच गुरुवार रात हुई गोलीबारी के बाद दिल्ली के एसीपी और मेरठ के इंस्पेक्टर की हत्या की साजिश को लेकर बड़ा खुलासा हआ। दिल्ली निवासी सरगना शक्ति नायडू दोनों की हत्या कराकर पश्चिमी यूपी में अपना नेटवर्क जमाना चाहता था। इसके लिए उसने अपने साथियों के संग मिलकर खौफनाक साजिश रची। इंस्पेक्टर और एसीपी की हत्या का दिन मुकर्रर किया लेकिन एन वक्त पर पूरी वारदात पलट गई और बदमाशों में आपस में ही गोलीबारी हो गई। इसमें कुख्यात नायडू के साथी बदमाश चाचा और भतीजे को गोली लगी जिसमें भतीजे की मौत हो गई।

दिल्ली स्पेशल सेल के एसीपी (एडिशनल कमिश्नर ऑफ पुलिस) ललित मोहन नेगी ने दिल्ली निवासी सरगना शक्ति नायडू पर मकोका की कार्रवाई की थी। जिसके बाद नायडू ने एसीपी को रास्ते से हटाने की प्लानिंग करनी शुरू कर दी। 

एसीपी का देहरादून आना जाना था, ऐसे में कुख्यात नायडू ने मेरठ में अपना नेटवर्क मजबूत करना शुरू किया ताकि वह एसीपी को आसानी से निशाना बना सके। लेकिन उसकी इस प्लानिंग में मेरठ का एक इंस्पेक्टर राह का रोड़ा बन रहा था। ऐसे में उसने इंस्पेक्टर की हत्या कर वेस्ट यूपी के बदमाशों को अपने गैंग में जोड़ना चाहता था।
... और पढ़ें

देश में सबसे ज्यादा सुरक्षित व अत्याधुनिक होगा दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे 

दिल्ली से सीधे मेरठ को जोड़ने वाले एक्सप्रेस-वे को सबसे अत्याधुनिक तकनीक से लैस करने की कवायद शुरू हो गई है। दूसरी ओर चौथे चरण के निर्माण के बीच नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआई) ने सेफ्टी फीचर और जनसुविधा की दिशा में भी काम शुरू कर दिया है। 

82 किमी लंबे एक्सप्रेस-वे पर वाहनों की गति के साथ एक्सप्रेस-वे को पार (क्रास) करने वाले लोगों को भी ध्यान में रखा जा रहा है। सड़़क परिवहन मंत्रालय के निर्देश पर अब डासना से यूपी गेट के बीच बड़ी संख्या में आधुनिक फुटओवर ब्रिज बनाने का निर्देश दिया है, इनमें एस्कलेटर के साथ ही लिफ्ट तक की सुविधा होगी। 

 निर्धारित समय सीमा के हिसाब से मई तक एनएचएआई को एक्सप्रेस-वे तैयार करके देना है, जिसके पूरी तरह से तैयार होने पर असल दिक्कत उन लोगों को होगी जो विजय नगर की ओर से नोएडा या नोएडा की ओर से विजय नगर हर रोज पैदल ही सड़क पारकर आते-जाते हैं। 

ऐसी ही दिक्कतें डासना, हाईटेक सिटी, लालकुआं, एबीईएस कट से लेकर यूपी बोर्ड तक दर्जनों जगह हैं, जहां पर एक्सप्रेस-वे खुलते ही पैदल निकलना बंद हो जाएगा। पैदल आने-जाने व सड़क पार करने वालों की संख्या भी लाखों में है और भविष्य में उसमें बढ़ोत्तरी होने की संभावना है। 

ऐसे में सड़क परिवहन मंत्रालय चाहता है कि सिर्फ सीमित संख्या में एस्कलेटर व लिफ्टयुक्त ओवरब्रिज न बनाए जाएं। अगले 20 साल की जरूरत और लोगों के आवागमन को आधार बनाकर तैयार हों। इसी बाबत एनएचएआई को विस्तृत सर्वे करने का निर्देश दिया गया है। मंत्रालय के निर्देश से स्पष्ट हो गया है कि अब बड़ी संख्या में फुटओवर ब्रिज बनाने की तैयारी में हैं। 

एफओबी बनने से सुरक्षित होगा एक्सप्रेस-वे का सफर 
मंत्रालय चाहता है कि दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे पर कहीं कोई रुकावट न हो। एफओबी का डिजाइन भी उसी तरह से बनाया जाएगा, जिसमें व्यक्ति सुरक्षित तरीके से एक्सप्रेस-वे को पार कर सकेगा। साथ ही दिव्यांगों, बुजुर्गों और बच्चों को एस्कलेटर व लिफ्ट लगने से आसानी रहेगी।  

कंट्रोल रूम से रहेगी नजर 
एक्सप्रेस-वे के तैयार होने पर डासना में ही मॉडल कंट्रोल रूम बनाया जाएगा, जहां से पूरे हाईवे पर नजर रखी जाएगी। ग्रीन एक्सप्रेस-वे पर दौड़ने वाले वाहनों की गति सीमा से लेकर किसी भी तरह की सड़क दुर्घटना होने पर तत्काल मदद दी जाएगी। इसी तरह से सभी एफओबी पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे, जो सीधे कंट्रोल रूम से लिंक होंगे। एफओबी पर लिफ्ट बंद होने या खराब होने की सूचना तत्काल कंट्रोल रूम तक पहुंचेगी। 

संभावित एस्कलेटर  
आईएएमएस कॉलेज के सामने डासना 
हाईटेक सिटी की सामने 
लालकुआं 
एबीईएस 
विजयनगर तिराहा 
एलएनटी तिराहा 
कोलंबिया एशिया हॉस्पिटल के पास

एक्सप्रेस-वे पर जहां भी जरूरत होगी और जिन क्षेत्रों में भविष्य में आबादी बढ़ने की संभावना है। उन सभी क्षेत्रों में अतिरिक्त एफओबी बनाए जाएंगे। इसके लिए मंत्रालय ने एनएचएआई को निर्देश दिए हैं। साथ ही लोगों से भी राय ली जा रही है, जिससे की बेहतर सुविधाएं दी जा सकें। 
- वीके सिंह, केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग राज्यमंत्री
... और पढ़ें
मेरठ-दिल्ली एक्सप्रेस वे मेरठ-दिल्ली एक्सप्रेस वे

मेरठः तीन करोड़ की ठगी में आरोपी गिरफ्ता,  राजस्थान पुलिस ने दबोचा

राजस्थान में तीन करोड़ रुपये की ठगी के मामले में राजस्थान पुलिस ने रविवार सुबह नेहरूनगर में आरोपी के घर दबिश दी। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। परिजनों ने विरोध करते हुए हंगामा किया। सूचना पर नौचंदी पुलिस भी पहुंची। राजस्थान पुलिस आरोपी को गिरफ्तार कर ले गई।

सीओ सिविल लाइन संजीव देशवाल के अनुसार, नौचंदी थाना क्षेत्र के नेहरू नगर निवासी पंकज पुत्र राजपाल ने राजस्थान के करोली जिले में फर्जी चिट फंड सोसायटी बनाकर 500 से ज्यादा लोगों से ठगी कर ली। बाद में ऑफिस बंद कर फरार हो गया। उसके ऑफिस की जांच में राजस्थान पुलिस को एक सिम मिला। 

जांच में पता चला कि ठगी करने के बाद पंकज हैदराबाद चला गया। उसके खिलाफ करोली जिले के हिंडोन सिटी थाने में केस दर्ज किया गया। रविवार सुबह राजस्थान पुलिस व साइबर सेल की टीम ने आरोपी को पंकज को उसके घर से दबोच लिया। पुलिस आरोपी को गिरफ्तार कर ले गई है। राजस्थान पुलिस ने नौचंदी थाने में आमद दर्ज कराई थी।

मेरठ के आफताब ने राजस्थान में की ठगी
लिसाड़ीगेट के कई लोगों ने राजस्थान के सवाई माधोपुर जिले में बाग व्यापारी से फलों के नाम पर 50 लाख रुपये ठग लिए। आरोपी लंबे समय से फरार हैं। रविवार को राजस्थान पुलिस ने आरोपियों की तलाश में दबिश दी, लेकिन वह हत्थे नहीं चढ़े। पुलिस की एक टीम ने मेरठ में डेरा डाल लिया है। 

सीओ कोतवाली दिनेश शुक्ला के अनुसार, लिसाड़ीगेट के श्यामनगर निवासी आफताब कई लोगों के साथ राजस्थान से अमरूद और अन्य फल लाने का काम करता है। आफताब ने सवाई माधोपुर में हेमराज मीणा के बाग से पांच लाख रुपये के अमरूद खरीदे थे। 

आरोपी उनके पैसे नहीं दे रहा था। बाद में दूसरे लोगों से भी राजस्थान में उधार अमरूद व अन्य फल खरीदे। रविवार को सवाई माधोपुर पुलिस ने आरोपी की तलाश में दबिश दी। पुलिस पहुंचने से पहले ही आरोपी फरार हो गया।
... और पढ़ें

शामली: हाईटेंशन लाइन की चपेट में आने से युवक की मौत, ग्रामीणों ने घेरा बिजली घर

तान्या का फाइल फोटो

बच्चों के लिए पिता के साथ मां का भी फर्ज निभाता था राकेश, जिसका मददगार बना उसी दोस्त ने दिया दगा

मर्डर: रात को घर से अचानक स्कूटी लेकर निकली थी पत्नी, चंद घंटे बाद जंगल में मिली लाश

मेरठ के गढ़ रोड स्थित जयभीमनगर से शुक्रवार रात महिला की अपहरण के बाद हत्या कर दी गई। शनिवार सुबह महिला का शव मुंडाली क्षेत्र के भगवानपुर-समयपुर मार्ग पर मिला।

महिला के परिजनों ने दुष्कर्म के बाद हत्या की आशंका जताई है। महिला के पति ने तीन लोगों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कराया है। पुलिस ने नामजद एक आरोपी को गिरफ्तार किया है।

भावनपुर थाना क्षेत्र के जयभीमनगर के अंबेडकर भवन मोहल्ला निवासी सतपाल की पत्नी लक्ष्मी (35) मेडिकल कॉलेज मोर्चरी के बराबर में पति के साथ दुकान लगाकर कपड़े व जूते बेचती थी।

शुक्रवार रात करीब आठ बजे महिला को कॉल करके घर से किसी ने बुलाया था। महिला स्कूटी लेकर घर से निकल गई। देर रात तक नहीं लौटी तो पति ने कॉल कीए लेकिन कॉल रिसीव नहीं हुई।
... और पढ़ें

मेरठ: आबूलेन बाजार के एक शोरूम में लगी भीषण आग, मची अफरा-तफरी, लाखों रुपये का नुकसान

उत्तर प्रदेश के मेरठ शहर में पॉश आबूलेन पर जोंस शूज शोरूम में शनिवार दोपहर भीषण आग लग गई। आग का भयावह मंजर देखकर आसपास के शोरूम भी खाली करा लिए गए। चार घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद फायर ब्रिगेड ने आग पर काबू पाया।
 
यह शोरूम थापर नगर निवासी गोपाल कृष्ण का है। दोपहर करीब 2:30 बजे शोरूम की तीसरी मंजिल पर स्थित गोदाम से लगी आग को कर्मचारियों ने बुझाने का प्रयास किया। लेकिन वह काबू में नहीं आई। आग की लपटें उठते ही बाजार में अफरातफरी फैल गई। बाजार के सभी व्यापारी सहयोग के लिए जुट गए।

यह भी पढ़ें: 
तेज धमाके से दहल उठा इलाका, मलबे में दबी मिलीं पांच लाशें, दर्दनाक थे वो तीन घंटे, तस्वीरें

सूचना मिलने पर करीब दस मिनट में सीएफओ एके शर्मा फायर ब्रिगेड की 10 गाड़ियों के साथ मौके पर पहुंचे और आग बुझाना शुरू किया। आग शोरूम के दूसरे हिस्सों और आसपास न फैले, इसलिए दमकल कर्मियों ने बिल्डिंग को चारों तरफ से कवर कर लिया। इस बीच सेना की दमकल भी बुला ली गई। आग को बुझाते समय शोरूम के दो कर्मचारी भी बेहोश हो गए, जिन्हें पुलिस ने अस्पताल पहुंचाया। 

एसपी सिटी डॉ. एएन सिंह ने बताया कि प्रारंभिक जांच में आग शार्ट सर्किट से लगना बताया गया। आग में लाखों रुपये की कीमत के शूज राख होने की बात कही गई है, जिसकी पुलिस और फायर ब्रिगेड जांच कर रही है।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें


https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
... और पढ़ें

धारदार हथियार सेगला काटकर युवक की हत्या, मोबाइल कॉल में छिपा राज, डॉग स्क्वॉड से नहीं मिली मदद

मुजफ्फरनगर के मोहल्ला पड़ाव चौक निवासी मोनू शर्मा की हत्या का राज उसके मोबाइल पर आई कॉल में छिपा हो सकता है। युवक की हत्या के पीछे लेनदेन का विवाद या फिर प्रेम प्रसंग हो सकता है। पुलिस कई बिंदुओं पर जांच कर रही है।

कस्बे के मोहल्ला कबूलपुुरा पड़ाव चौक निवासी प्यारेलाल शर्मा के चार बेटियों के अलावा चार बेटे सोनू, मोनू, बाबू और वरुण शर्मा है। मोनू कसबे में ही जूते की दुकान पर नौकरी करता था।

साथ ही वह रस्म पगड़ी, शोक सभाओं का सामान भी लेता था। मोनू पिछले दो दिन से दुकान पर नहीं जा रहा था। परिजनों का कहना है कि शुक्रवार रात करीब 8.30 बजे उसके मोबाइल पर किसी की कॉल आई, जिसके बाद वह पैदल ही घर से निकल गया था।
 
... और पढ़ें

संदिग्ध हालात में आठवीं कक्षा की छात्रा की मौत, परिजनों में मचा कोहराम

देवबंद (सहारनपुर)। क्षेत्र के एक गांव में आठवीं कक्षा की छात्रा की संदिग्ध हालात में मौत हो गई। जिससे परिवार में कोहराम मच गया। पुलिस का कहना है कि पूछताछ में पता चला है कि बुखार से उसकी मौत हुई है।

क्षेत्र के एक गांव निवासी व्यक्ति की बेटी तलहेड़ी बुजुर्ग के एक इंटर कालेज में आठवीं कक्षा की छात्रा थी। शुक्रवार को वह वह स्कूल से घर लौटी तो उसकी तबियत खराब हो गई। परिजन उसे लेकर गांव में स्थित एक चिकित्सक के यहां लेकर पहुंचे।

चिकित्सक ने जांच के बाद उसे भर्ती कर लिया, लेकिन देर रात्रि उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। जिससे परिजनों में कोहराम मच गया। इस बीच सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंच गई ।

तलहेड़ी पुलिस चौकी इंचार्ज विजय कुमार का कहना है कि परिजनों और ग्रामीणों से पूछताछ में यह जानकारी मिली कि तेज बुखार आने की वजह से छात्रा की मौत हुई है। वहीं, शनिवार को परिजनों ने गमगीन माहौल में छात्रा का अंतिम संस्कार कर दिया।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us