विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus Lockdown in UP Live Updates: 15 जिलों के हॉटस्पॉट आज रात 12 बजे से होंगे सील, जानिए उनके नाम

यूपी में लॉकडाउन की अवधि बढ़ाए जाने की अटकलों के बीच प्रदेश सरकार ने कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए प्रदेश के 15 जिलों को रात 12 बजे से सील करने का निर्णय लिया है।

8 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

मेरठ

बुधवार, 8 अप्रैल 2020

कोरोना: एसएसपी ने दी चेतावनी, आज रात आठ बजे के बाद जिले में जमाती मिले तो लगेगा रासुका

निजामुद्दीन मरकज के कोरोना कनेक्शन के सामने आने के बाद जमातियों को लेकर मुजफ्फरनगर पुलिस ने कड़ा रुख अख्तियार कर लिया है। एसएसपी ने जनपद में छिपे जमातियों को मंगलवार रात आठ बजे तक खुद सामने आने का समय दिया है। इसके बाद जानबूझकर लोगों को संक्रमित करने का दोषी मानते हुए उनके खिलाफ रासुका के तहत कार्रवाई की जाएगी।

वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण के निजामुद्दीन मरकज से जुड़े कनेक्शन के सामने आने के बाद जिले में छिपकर रह रहे जमातियों को लेकर एसएसपी ने कड़ी चेतावनी दी है। एसएसपी अभिषेक यादव ने कहा कि जनपद में जो भी जमाती या अन्य व्यक्ति निजामुद्दीन मरकज से अथवा किसी ऐसे जनपद या शहर से आया है, जहां कोरोना संक्रमण फैला हुआ है और वह यहां छिपकर रह रहा है, ऐसा व्यक्ति रात आठ बजे तक खुद ही पुलिस-प्रशासन के सामने आकर अपनी स्वास्थ्य जांच करा ले।

यदि मंगलवार रात आठ बजे के बाद आगे इस तरह के जमाती या अन्य लोग जनपद में कहीं से भी पकड़े जाते हैं, तो उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। ऐसे लोगों को जानबूझकर संक्रमण फैलाने का दोषी मानते हुए न केवल उनके खिलाफ अभियोग पंजीकृत किया जाएगा, बल्कि उन्हें रासुका में भी निरुद्ध किया जाएगा। एसएसपी ने ऐसे लोगों की सूचना पुलिस-प्रशासन को नहीं देने वाले व्यक्ति के खिलाफ भी इसी तरह की कड़ी कार्रवाई किए जाने के निर्देश दिए हैं।

यह भी पढ़ें: 
बागपत में अस्पताल से भागा कोरोना पॉजिटिव मरीज, पुलिस ने काठा गांव से दबोचा

अब तक 37 जमात के 410 जमाती हो चुके चिह्नित
जनपद में निजामुद्दीन मरकज के कोरोना कनेक्शन के बाद चलाए गए अभियान के दौरान अब तक जिले के विभिन्न क्षेत्रों में आई हुईं 37 जमात चिह्नित की जा चुकी हैं। इन जमात में कुल 410 जमाती शामिल हैं, जिनमें से 12 नेपाल मूल के विदेशी भी शामिल हैं। सभी जमातियों को स्वास्थ्य जांच के बाद उनके ठहरने के स्थान पर ही होम क्वारंटीन किया गया था। इनमें से नेपाल निवासी 12 जमातियों को न्याजूपुरा स्थित मस्जिद से निकालने के बाद उनके सैंपल लेकर बीआईटी मेडिकल कॉलेज में बनाए गए क्वारंटीन केंद्र में दाखिल कर दिया गया है।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें


https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
... और पढ़ें

Corona Update: जिले में चार जमाती कोरोना पॉजिटिव आने से मचा हड़कंप, 35 को किया क्वारंटीन

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में एक साथ चार जमातियों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के अफसरों में हड़कंप मच गया। डीएम, एसएसपी और सीएमओ समेत तमाम अधिकारी स्वास्थ्य विभाग की टीमों के साथ पॉजिटिव मिले जमातियों के ठहरने के स्थानों पर पहुंचे। पॉजिटिव मिले जमातियों के संपर्क में आए कुल 35 लोगों को मेडिकल क्वारंटीन सेंटरों में लाया गया। इनसे अलग खाता खेड़ी की मस्जिद में ठहरे तमिलनाडु के 11 लोगों को सरस्वती विहार में बने क्वारंटीन सेंटर में ले जाया गया। मंगलवार को कुल 45 लोगों के सैंपल जांच के लिए भेजे हैं। 

पॉजिटिव मिले जमातियों में एक किरगिस्तान, दो आंध्र प्रदेश और एक सहारनपुर शहर की माहीपुरा कॉलोनी का है। आंध्र प्रदेश और एक किरगिस्तानी व्यक्ति दिल्ली जमात में गए थे। वहां से लौटने के बाद वह शहर की कई मस्जिदों में गए और वहां कुछ लोगों के संपर्क में रहे, जबकि माहीपुरा निवासी व्यक्ति पंजाब के कपूरथला में जमात में गया था। लौटने के बाद से घर पर ही ठहरा था। तीन अप्रैल को इनकी जानकारी चिकित्सा विभाग को मिली। विभागीय टीम चारों को तीन अप्रैल को आईआईटी कैंपस में बने मेडिकल क्वारंटीन सेंटर में ले आई थी। तीन अप्रैल को सैंपल जांच को भेजे। छह अप्रैल की देर शाम चारों की रिपोर्ट पॉजिटिव होने की जानकारी सीएमओ को फोन के जरिए मिली। चारों को रात में ही क्वारंटीन सेंटर से फतेहपुर सीएचसी में बने कोविड अस्पताल में भर्ती कराया गया।

यह भी पढ़ें: 
कोरोना: एसएसपी ने दी चेतावनी, आज रात आठ बजे के बाद जिले में जमाती मिले तो लगेगा रासुका
... और पढ़ें

कोरोना वायरस: घरों में छिपे मिले 23 जमाती, निजामुद्दीन मरकज के जलसे से लौटे थे गांव

दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज के जलसे में शामिल होने वाले 23 जमाती और मिले हैं। इसके अलावा एक और जमाती जो छह मार्च को दक्षिण अफ्रीका से लौटा था उसे भी क्वारंटीन किया गया है। यह जमाती केंद्र सरकार द्वारा 500 लोगों की जारी सूची में भी शामिल है। ये सभी जमाती मरकज से लौटकर अपने घरों में छिपे थे। पुलिस व स्वास्थ्य विभाग की टीम इन सभी जमातियों को बिजनौर में नूरपुर मार्ग स्थित एक कॉलेज में क्वारंटीन कराया है, जबकि एक जमाती को जिला अस्पताल में आइसोलेशन में रखा गया है। जिले में अब तक 433 जमाती मिल चुके हैं। इनमें 16 विदेशी जमाती भी शामिल हैं।

केंद्र सरकार ने विदेश से जमात कर लौटे 500 लोगों की सूची जारी की गई। इसमें कोतवाली शहर के मोहल्ला चाहशीरी निवासी जावेद का नाम भी था। जावेद चार महीने जमात में दक्षिण अफ्रीका में रहा था। वह छह मार्च को दक्षिण अफ्रीका से लौटा था। पुलिस ने जावेद को एक कॉलेज में क्वारंटीन किया है। चांदपुर के रहने वाले एक जमाती कानपुर में कोरोना पॉजिटिव मिला है। 

वहीं मंगलवार को शेरकोट में मरकज से लौटे पांच जमाती घर पर ही छिपे मिले। इन जमातियों को स्वास्थ्य विभाग की टीम अफजलगढ़ सीएचसी में भर्ती कराने के लिए ले गई। पर वहां जगह नहीं होने के कारण उन्हें बिजनौर के नूरपुर मार्ग के एक कॉलेज में क्वारंटीन में रखा गया है।

यह भी पढ़ें: 
यूपी: अस्पताल की खिड़की से कूदकर भागा था कोरोना पॉजिटिव, 12 घंटे बाद पुलिस ने दबोचा, आइसोलेशन वार्ड में भर्ती
... और पढ़ें

मेरठ में एक महिला समेत तीन जमाती मिले कोरोना पॉजिटिव, अब संख्या बढ़कर हुई 37

कोरोना वायरस कोरोना वायरस

कोरोना वायरस: आज रात 12 बजे से सील हो जाएंगे मेरठ और शामली के हॉटस्पॉट, घर पहुंचेगा जरूरत का सामान

उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। यूपी में कोरोना पाॅजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर 350 हो गई है। वहीं कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए प्रदेश सरकार ने सूबे के 15 जिलों के हॉटस्पॉट को सील करने का फैसला किया है जिनमें पश्चिमी यूपी का मेरठ और शामली जिला भी शामिल है। 


गौरतलब है कि मेरठ में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 35 है, जबकि शामली में 17 लोगों में कोराना की पुष्टि हो चुकी है। इसके अतिरिक्त सहारनपुर में भी 14 लोग कोरोना संक्रमित है जिनमें सबसे ज्यादा संख्या निजामुद्दीन मरकज से लौटे जमातियों की है।

अब योगी सरकार के फैसले के बाद मेरठ और शामली जनपद के कोरोना वायरस की दृष्टि से संवेदनशील माने जा रहे क्षेत्रों पर पूरी तरह सील लगा दी जाएगी। ऐसे में क्षेत्र में सब्जी, राशन और दूध की दुकानें भी बंद रहेंगी। केवल मेडिकल स्टोर खुले रहेंगे। वहीं जरूरी काम के लिए लोग बिना पास के सड़क पर नहीं निकल पाएंगें। 
... और पढ़ें

लॉकडाउन: घबराएं नहीं, मेरठ-शामली के सिर्फ इन हॉटस्पॉट इलाकों को किया गया सील, एक क्लिक में देखें पूरी लिस्ट

लाॅकडाउन का पंद्रहवां दिन: सुबह से ही शुरू हुई कैश निकालने की आपाधापी, भीड़ कम करने को पुलिस अब घर तक पहुंचाएगी रुपये

मेरठ में लाॅकडाउन के पंद्रहवें दिन लाॅकडाउन बेअसर दिखाई दियाा। सड़कों पर भीड़ भले ही कम रही लेकिन सब्जी मंडी, दवा मार्केट और बैंकों के बाहर सुबह से ही भारी भीड़ दिखाई दी। सहारनपुर, बागपत समेत अन्य जिलों में भी लोग कई स्थानों पर लाॅकडाउन के नियमों का पालन करने में लापरवाही दिखा रहे हैं। आगे जानें कैसा है पंद्रहवें दिन का हाल:-

मेरठ में 150 से ज्यादा जमातियों का आज टेस्ट होना है। जमातियों के संपर्क में आने वाले 70 लोगों की आज रिपोर्ट आएगी। वहीं पॉजिटिव आए जमाती युवक के संपर्क में आने आने वालों की तलाश की जा रही है।

मेरठ में 18 लाख की आबादी में सर्वे पूरा हो चुका है जबकि 600 से ज्यादा लोग खांसी-जुकाम और बुखार के मरीज मिले हैं। स्वास्थ्य विभाग 24 शहरी स्वास्थ्य केंद्रों के क्षेत्रों में अभियान चला रहा है। 

उधर, रेलवे प्रशासन की ओर से मेरठ में तैयार हुए आइसोलेशन कोच आज दिल्ली के लिए रवाना किए जाएंगे। इन आइसोलेशन कोच को मेरठ सिटी स्टेशन के कोच केयर सेंटर में तैयार किया गया है।
... और पढ़ें

Corona Virus: बागपत में मिला तीसरा कोरोना पॉजिटिव जमाती, मेरठ के लिए रेफर

लॉकडाउन मेरठ
उत्तर प्रदेश के बागपत जिले में कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद नेपाल के दूसरे जमाती को भी मेरठ रेफर कर दिया गया है। जिले में अब तक तीन केस मिल चुके हैं। दुबई से लौटे युवक की हालत ठीक है। डीएम शकुंतला गौतम और एसपी प्रताप गोपेंद्र यादव ने स्क्रीनिंग सेंटर पर व्यवस्थाएं देखीं। स्टाफ का हौसला बढ़ाया, जमातियों से जानकारी ली। सेंटर को सैनिटाइज कराया गया।

नेपाल के 58 वर्षीय जमाती में कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई है। इससे पहले इसी जमाती के गांव का 65 वर्षीय बुजुर्ग कोरोना संक्रमित मिल चुका है। सीएमओ डॉ. आरके टंडन और डिप्टी सीएमओ डॉ. यशवीर सिंह ने बताया कि कोरोना पॉजिटिव जमाती को मेरठ के लिए रेफर कर दिया गया है। स्क्रीनिंग सेंटर से अब तक दो कोरोना पॉजिटिव के केस मेरठ के लिए रेफर किए गए हैं। जिले में कुल 249 जमाती स्क्रीनिंग सेंटरों में रखे गए हैं। इनमें से अब तक 207 के सैंपल जांच के लिए भेजे जा चुके हैं। 

यह भी पढ़ें: 
कोरोना वायरस: संकटकाल के नायक, परिवार से दूर रहकर निभा रहे जिम्मेदारी, बोले- कर लेता हूं वीडियो कॉलिंग

डीएम शकुंतला गौतम और एसपी प्रताप गोपेंद्र यादव ने मंगलवार देर रात ही बालैनी सेंटर का निरीक्षण किया। स्वास्थ्य कर्मचारियों, सफाई कर्मचारियों और पुलिसकर्मियों का हौसला बढ़ाया। बालैनी के श्रीकृष्णा कॉलेज को बनाए गए स्क्रीनिंग सेंटर को पूरी तरह सैनिटाइज कराया गया है।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें


https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
... और पढ़ें

मेरठ-शामली में शुरू हुई हाॅटस्पाॅट सील करने की कवायद, ये जगह हुईं चिन्हित, बाजारों में उमड़ी लोगों की भीड़

मेरी जिंदगी के वो सबसे डरावने दो दिन...., चीन से सहारनपुर लौटे युवक की जुबानी, कोरोना के खौफ की कहानी

कोरोना वायरस को लेकर लोगों में जहां दहशत का माहौल है, वहीं दूसरी तरफ कोरोना वायरस के खौफ से लड़कर आइसोलेशन से निकले लोगों की कहानियां ऐसे माहौल में लोगों का उत्साह बढ़ाती हैं। इसी संबंध में चीन से सहारनपुर लौटे एक युवक ने दो दिन आइसोलेशन वार्ड में रहने के अपने अनुभव अमर उजाला के साथ साझा किए।

‘कोरोना के खतरे के बीच विदेश से लौटने के बाद मुझे अपने भीतर कुछ लक्षण नजर आए, जो कोरोना के लक्षणों से मिलते जुलते थे। मैं घबरा गया था। जब मैं जांच कराने जिला अस्पताल पहुंचा तो मुझे आइसोलेट कर दिया गया।

आइसोलेशन वार्ड के एक कमरे में मुझे अकेले दो दिन बिताने पड़े। वह मेरी जिंदगी के सबसे डरावने और टेंशन भरे दिन थे। मैं बार-बार खुद को जिंदगी और मौत के बीच महसूस कर रहा था, मगर रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद लगा कि नया जीवन मिल गया।’ ये शब्द हैं एसबीडी जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में रखे गए चीन से लौटे गंगोह निवासी युवक के।

अमर उजाला से फोन पर बातचीत में पहले तो युवक कुछ बताने को तैयार नहीं था, मगर जब हमने पहचान नहीं खोलने की बात कही तो उसने बताया कि वह चीन में एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करता था। वहां कोरोना का खतरा फैलने के बाद कंपनी ने भारत लौटने की सलाह दी। इसके बाद वह गंगोह आ गया। एयरपोर्ट पर जांच हुई तो शरीर का तापमान सामान्य था। मगर उसे घर पर ही क्वारंटीन रहने की सलाह दी गई थी।
... और पढ़ें

झारखंड के दो जमाती निकले कोरोना पॉजिटिव, मेरठ में संख्या बढ़कर हुई 34, लोगों में दहशत

निजामुद्दीन मरकज से सरूरपुर के खिवाई गांव की मस्जिद में आए झारखंड के दो जमाती कोरोना संक्रमित निकले हैं। मेरठ में कोरोना संक्रमितों की संख्या अब 34 हो गई है।

वहीं, जिस मस्जिद में ये जमाती रुके थे, वहां एक किमी का एरिया तीन दिनों के लिए सील कर इनके संपर्क में आने वाले लोगों की खोजबीन शुरू कर दी गई है। 

सीएमओ के अनुसार मंगलवार को मेरठ के 87 सैंपलों की जांच की गई। इन दोनों लोगों के अलावा एक पुरुष और महिला जमाती पहली रिपोर्ट में संक्रमित आ चुके हैं। बुधवार को इन दोनों की भी कंफर्म रिपोर्ट आएगी। इन सभी को खिवाई में क्वारंटीन किया हुआ था। हालांकि बाकी 85 सैंपल नेगेटिव निकले हैं।

यह भी पढ़ें: 
यूपी: अस्पताल की खिड़की से कूदकर भागा था कोरोना पॉजिटिव, 12 घंटे बाद पुलिस ने दबोचा, आइसोलेशन वार्ड में भर्ती

बता दें कि बीते शनिवार को मेरठ में सात जमातियों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई थी। मेरठ में अब तक 34 कोरोना पॉजिटिव केस मिल चुके हैं। एक की मौत हो चुकी है। मंगलवार को कुल 87 सैंपलों की जांच हुई, इनमें दो जमाती कोरोना पॉजिटिव मिले। इसके अलावा सभी की रिपोर्ट नेगेटिव आई है।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें


https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
... और पढ़ें

कोरोना के खात्मे को घर-घर जाकर कर रहे हवन-पूजन, महामारी से बचाव के लिए लोगों से दिला रहे आहुति

कोरोना वायरस के खात्मे के लिए जहां स्वास्थ्य विभाग से लेकर पुलिस प्रशासन तक हर संभव कोशिश कर रहा है। वहीं शामली जिले के एक गांव में लोग कोरोना जैसी भयंकर बीमारी से छुटकारा पाने के लिए पूर्णिमा के दिन हवन पूजन का सहारा ले रहे हैं। ग्रामीण घर घर पहुंचकर लोगों से कोरोना के खात्मे की आहुति दिला रहे हैं।

जिले के गढ़ीपुख्ता के ग्राम हथछैया में पूर्णिमा के अवसर पर सामाजिक विकास समिति के सदस्यों ने घर घर जाकर हवन पूजन करवाया। वहीं सामाजिक विकास समिति के अध्यक्ष कुलदीप तोमर ने बताया कि यह हवन देश में कोरोना जैसी भयंकर संक्रमण वाली बीमारी से छुटकारा पाने हेतू कराया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि समीति के सदस्यों ने ग्रामवासियों से अपील की कि वे लाॅकडाउन का पालन करें और अपने आसपास के गरीब परिवारों की मदद करें ताकि कोई भूखा न रहे।

इस अवसर पर सामाजिक विकास समिति का अध्यक्ष कुलदीप तोमर, रणवीर सिंह, जसवीर, अरविन्द, लाला, विकास शर्मा, गौरव शर्मा, अजय संगल, उमेश गर्ग, अरुण तोमर, अंकुर तोमर आदि समिति के सदस्यों ने अलग.अलग घर जाकर हवन पूजन करवाया।
... और पढ़ें

कोरोना वायरस: मेरठ की तीन मस्जिदों में रुकी थी महाराष्ट्र की जमात, 12 से ज्यादा चिह्नित

मेरठ में शास्त्रीनगर और मवाना के बाद अब शहर का जली कोठी का एरिया भी संवेदनशील हो गया है। जली कोठी स्थित तीन मस्जिदों में महाराष्ट्र के 11 जमाती रुके थे। यहां से जमात जहांगीराबाद बुलंदशहर पहुंची थी, जहां इनमें से दो जमातियों के कोरोना से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। जिसके बाद पुलिस और स्वास्थ्य विभाग ने जली कोठी को निगरानी में ले लिया है। सीएमओ के अनुसार ये जमाती मेरठ में कहां और किस-किस से संपर्क में आए, इसकी पूरी चेन बनाई जा रही है। चार मस्जिदों के आसपास से मंगलवार को 14 सैंपल लिए गए हैं।

देहली गेट थानाक्षेत्र अंतर्गत जली कोठी स्थित मस्जिद कुरैशियान, बिल्डिंग वाली मस्जिद और दरी वाली मस्जिद में महाराष्ट्र के मालेगांव से 11 लोगों की जमात आई थी। दिल्ली निजामुद्दीन की तब्लीगी जमात के निकले कुछ जमातियों के कोरोना संक्रमित होने का शोर मचने के बाद सर्च अभियान शुरू किया गया। इस बीच देहली गेट पुलिस और स्वास्थ्य विभाग ने जली कोठी में आई जमात के बारे में जानकारी जुटा ली थी। लेकिन टीम के पहुंचने से पहले ही महाराष्ट्र की यह जमात बुलंदशहर पहुंच गई थी। बुलंदशहर पुलिस ने इन 11 लोगों को ट्रेस किया था। इनमें से दो जमातियों की मेडिकल मेरठ की माइक्रोबायोलॉजी लैब में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई तो हड़कंप मच गया। पुलिस के अनुसार ये जमाती कई दिनों से जली कोठी की तीन मस्जिदों और मदरसे में रुके थे। 

सील हो सकता है जली कोठी एरिया
थानाध्यक्ष देहली गेट रविंद्र सिंह के अनुसार बुधवार सुबह से पूरे इलाके की छानबीन कराई जाएगी। पता लगाया जाएगा कि महाराष्ट्र से आई जमात कहां-कहां रुकी थी। किस-किस के संपर्क में रही है। इसकी पूरी जानकारी जुटाकर लोगों को अलर्ट किया जायेगा। जरूरत पड़ने पर जली कोठी को सील भी किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें: 
लॉकडाउन में ताबड़तोड़ फायरिंग के तीन मामले, चार लोग घायल, एक की हालत गंभीर
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us