विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus in UP Live Updates: 27 लाख मनरेगा मजदूरों के खाते में भेजे गए 611 करोड़ रुपये

शासन और प्रशासन संक्रमण के चेन को तोड़ने के लिए लगातार कोशिश कर रहा है। लोगों से भी हर वक्त घरों में रहने की अपील की जा रही है।

30 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

मिर्जापुर

सोमवार, 30 मार्च 2020

डीएम व एसपी ने किया भ्रमण, लिया जायजा

मिर्जापुर। कोरोना को लेकर हुए लाकडाउन का बुधवार को डीएम सुशील कुमार पटेल व एसपी डॉ. धर्मवीर सिंह ने भ्रमण कर जायजा लिया। इस दौरान इक्का-दुक्का लोग अपने घरों के सामने बाहर बैठने वालों को हिदायत देते हुये घरों के अंदर रहने की नसीहत दी गई। कहा कि दुबारा यदि कोई बाहर पाया जायेगा तो कड़ी कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने रमई पट्टी, रोडवेज, रेलवे स्टेशन, संगमोहाल, मुकेरी बाजार, लालडिग्गी, इमामबाड़ा, मुसफ्फरगंज, बसहीं होते हुये विन्ध्याचल जाकर मॉं विंध्यवासिनी देवी का मंदिर प्रांगण व गलियों का भी भ्रमण कर जायजा लिया।
कोरोना को लेकर शासन के निर्देश हुए लाकडाउन का बुधवार को मण्डलायुक्त प्रीति शुक्ला व आईजी पीयूष श्रीवास्तव ने नगर में भ्रमण कर बंद का जायजा लिया। इस दौरान आयुक्त ने कहा कि कोरोना लाक डाउन के प्रतिबन्धों को सख्ती से लागू किया जाये। इमें किसी भी प्रकार लापवरवाही न बरती जाये। उन्होंने कहा कि लाकडाउन की स्थिति में आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता भी सुनिष्चित करें ताकि लोगों को परेशानी न होने पाये। आईजी पीयूष श्रीवास्तव ने पब्लिक एड्रेस सिस्टम से अनांउस किया कि लोग अपने घरों में रहे। उन्होंने कहा कि यदि कोई अनावश्यक घरों के बाहर धूमता हुआ पाया जाता है, उसके विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जायेगी।
... और पढ़ें

बाहर से आने वालों की जांच के लिए खुली ओपीडी

मिर्जापुर। कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते लोग मुंबई, महाराष्ट्र, गुजरात से आने वाले लोगों में सर्दी-जुकाम होने पर भय का वातावरण है। सीएम ने भी बाहर से आने वाले लोगों को 14 दिनों तक होम क्वारंटीन करने और बीमार होने पर आईसोलेशन वार्ड में भर्ती करने का निर्देश दिया, दो दिनों से जांच न होने से सभी परेशान रहे। इसे देखते हुए सीएमओ के निर्देश पर मंगलवार को मंडलीय अस्पताल के इमरजेंसी कक्ष के सामने कमरा नंबर चार में फीवर हेल्प डेस्क बनाया गया है। जहां पर बाहर से आने वाले लोगों की थर्मल स्कैनर आदि से जांच की जा रही है। प्रमुख अधीक्षक डा. आलोक कुमार ने बताया कि प्रतिदिन एक डाक्टर की ड्यूटी लगाई गई है। जो संदेहास्पद खांसी, सर्दी, जुकाम आदि के मरीजों की जांच करेंगे। इसमें सोमवार को डा. एसके सिंह, मंगलवार को डा. एनके त्रिपाठी, बुधवार को डा. प्रदीप कुमार, गुरुवार को डा. देवर्षि पाठक, शुक्रवार को डा. आनंद कुमार, शनिवार को डा. केपी श्रीवास्तव की ड्यूटी लगाई गई है। कक्ष में सुबह आठ बजे से दोपहर दो बजे तक जांच कर दवा दी जाएगी। मंगलवार को बाहर से आने वाले 130 लोगों ने अपनी जांच कराई।
कोरोना वायरस के प्रकोप ने पूरी दुनिया को हिला कर रख दिया है। कोरोनो को लेकर हर किसी में डर का माहौल है। जिस बीमारी की कोई दवा नहीं बन सकी है, उस रोग से ग्रसित मरीज व संदिग्ध की सेवा में लगे डाक्टर, स्वास्थ्य कर्मी और अन्य स्टाफ असली हीरो से कम नहीं है। आज डाक्टर और उनके साथ काम करने वाले स्टाफ के दम पर ही कोरोना खतरनाक रोग से लोगों को ठीक करने और जागरुकत करने का काम किया जा रहा है।
जिले में अब तक कोरोना का कोई पाजिटीव मरीज नहीं है। बीते सप्ताह विदेश से आने वाले कोरोना के चार संदिग्धों को मंडलीय अस्पताल में भर्ती कर उनकी जांच कराई गई। सभी की जांच निगेटिव आई। ये राहत भरी खबर थी, पर कोरोना वार्ड में काम कर रहे डाक्टर, स्टाफनर्स और सफाईकर्मियों के लिए सब आसान नहीं था। कोरोना की दवा न बनने और कोरोना मरीज के संपर्क में आने से बीमार होने के खतरे के बाद भी डाक्टर और अन्य स्टाफ लगे रहे। बाहर से आने वाले मरीजों का डाटा इकट्ठा करने और घर जाकर उनकी जांच करने वाले जन स्वास्थ्य विशेषज्ञ डा. अरुन वर्मा की भूमिका सबसे महत्वपूर्ण है। कोरोना वार्ड में मरीजों का इलाज करने के लिए डा. केपी श्रीवास्तव, कोरोना के मरीजो का सेंपल लेेने के लिए डा. राजन, स्टाफ नर्स सुषमा देवी, वार्ड ब्वाय राम निहोर और सुरेंद्र यादव, सफाईकर्मी दिनेश की ड्यूटी लगी है। जो सुबह आठ बजे से दोपहर दो बजे तक रहते है। इसके बाद ड्यूटी बदलने पर चिल्ड्रेन वार्ड का स्टाफ इस वार्ड के मरीजों की देखरेख करते है।
कोरोना वायरस के चलते जिले में विदेशों से आने वाले 80 लोगों का फालोअप किया जा रहा है। सभी अपने घरों में क्वारंटीन किए गए है। इसमें किसी को सर्दी-जुकाम या कोरोना का लक्षण मिलने पर आईसोशन वार्ड में भर्ती किया जाएगा। इसमें चार संदिग्धों की रिपोर्ट निगेटिव आने पर डिस्चार्ज कर दिया गया था। मार्च माह में अब तक 80 लोग विदेशों से आए है। इसमें आस्ट्रेलिया, सउदी अरब, साउथ अफ्रिका, दुबई, नेपाल, श्रीलंका आदि देश है। विदेश से आने वालों के घर वापस आने की सूची स्वास्थ्य विभाग को उपलब्ध कराई गई। जन स्वास्थ्य विशेषज्ञ डा. अरुन वर्मा ने बताया कि 22 मार्च से विदेश की कोई फ्लाइट भारत नहीं आ रही है। जो है उनको एयरपार्ट पर ही क्वारंटीन कर दिया गया है। अब तक जिले में 80 विदेशी भारत आए है। जिनका फालोअप किया जा रहा है।
विदेश से आने वाले लोगों के बाद देश के विभिन्न राज्यों से महाराष्ट्र, गुजरात, बिहार से होकर लोग अपने घर आए है। इसमें कई सर्दी-जुकाम से ग्रसित है। मुख्यमंत्री के ट्वीट करने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने आशाओं के जरीए बाहर से आने वालों का डाटा इकट्ठा कर रहा है। मंगलवार को 493 लोगों का डाटा इकट्ठा किया गया। सभी को होम क्वारंटीन कर दिया गया है। इसमें 130 लोग मंगलवार को मंडलीय अस्पताल के फीवर हेल्प डेस्क में थर्मल स्कैनर से इलाज कराया।
... और पढ़ें

कुत्ता बचाने में बाइक से गिरकर घायल युवक की मौत

विंध्याचल। कोतवाली क्षेत्र के अटल चौराहा के पास सोमवार की रात कुत्ते को बचाने के चक्कर में बाइक से गिरकर घायल हुए युवक की मंगलवार की सुबह उपचार के दौरान मौत हो गई। परिजनों ने शव को पोस्टमार्टम न कराकर अंतिम संस्कार कर दिया। क्षेत्र के महुआरी कला गांव निवासी 16 वर्षीय कन्हैया यादव सोमवार की रात महुआरी कला गांव के सामने बाइक से बाजार सामान लेने के लिए गया था। सामान लेकर वापस आते समय अटल चौराहे के पास बाइक के सामने कुत्ता आ गया। उसे बचाने में बाइक अनियंत्रित हो गई। इससे बाइक सवार सड़क पर गिरकर गंभीर रूप से घायल हो गया। स्थानीय लोगों ने परिजनों को सूचना दिया। सूचना पर पहुंची पहुंचे परिजन उसे उपचार के लिए स्थानीय अस्पताल में ले आए। जहां से उसे मंडलीय अस्पताल रेफर कर दिया गया। मंडलीय अस्पताल में उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। युवक की मौत से परिवार में कोहराम मच गया। परिजनों ने शव को पोस्टमार्टम न कराकर अंतिम संस्कार कर दिया। ... और पढ़ें

जेल से दो माह के पेरोल पर छोड़े गए बंदी

मिर्जापुर। कोराना वायरस के प्रकोप के चलते जेल में बंद 32 बंदियों को जिला कारागार से दो माह के पेरोल पर छोड़े जाने का आदेश आ गया। रविवार की देर शाम को इसमें से कई बंदियों को छोड़ा गया। जो पास के थे वे परिवार के साथ पैदल चले गए, बाकी को जेल प्रशासन ने गाड़ी से छोड़वाया। देर शाम होने से वाराणसी निवासी तीन महिला बंदियों को सोमवार को छोड़ा जाएगा।
कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने जेल से भी बंदियों को कम करने के लिए सात वर्ष से कम सजा वालों को दो माह के पैरोल पर छोड़ने का आदेश दिया। इसके बाद जिला जेल प्रशासन ने जेल में सात वर्ष से कम सजा काट रहे 33 बंदियों की सूची बनाई। जेल अधीक्षक अनिल राय ने बताया कि रविवार को 32 बंदियों को छोड़ने का आदेश आ गया। इसमें चुनार, पड़री,ख् विंध्याचल के बंदी है। एसपी डा. धर्मवीर सिंह ने कहा कि 32 बंदियों को दो माह के लिए पैरोल पर छोड़ा जाएगा। पेरोल खत्म होने के बाद उनको वापस जेल आना पड़ेगा। अगर वे पेरोल खत्म होने के बाद वापस नहीं आएंगे तो उन पर अन्य धाराओं में भी कार्रवाई की जाएगी। क्षेत्र के थाना प्रभारी को उन पर नजर रखने को कहा गया है।
... और पढ़ें

पांच हजार से ज्यादा कामगार पहुंचे जिले में

पांच हजार से ज्यादा कामगार पहुंचे जिले में
मिर्जापुर। कोरोना संक्रमण बढ़ने की आशंका के बीच दूसरे राज्यों और जिलों से पांच हजार से ज्यादा कामगार पिछले चार से पांच दिनों में जिले में पहुंचे या यहां से होकर गुजरे। इसके चलते शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्र में संक्रमण की आशंका व इनकी जांच न हाने से प्रशासन के प्रति रोष है। कुछ लोग रविवार को रोडवेज बस से जिले में पहुंचे।
लॉकडाउन के बावजूद बड़े-बड़े बैग सिर पर रखे या हाथ में झोला लिए बड़ी संख्या में परिवार सड़कों पर दिख रहे हैं। कोई दिल्ली तो कोई कोलकाता तो कोई लखनऊ, कानपुर या इलाहाबाद से आ रहा है। सभी का एक ही दर्द है कि खाने को पैसा व देने को किराया न होने की वजह से वे अपने गांव वापस लौट आए हैं। संक्रमण के खतरे की बात करने पर उनका कहना है कि कोरोना तो बाद में पहले भूख से ही उनकी मौत हो जाएगी। यह दर्द सुनकर हर किसी का दिल पसिज जा रहा है पर उनके साथ कहीं अनदेखा, अनजाना वायरस तो नहीं है, इसकी आशंका लोगों में डर पैदा कर दे रही है। जिगना, कछवां, शहर के विभन्न क्षेत्र, लालगंज, राजगढ़, चुनार, हलिया, ड्रमंडगंज, मड़िहान, चील्ह, पटेहरा आदि क्षेत्रों में बड़ी संख्या में कामगार घर लौटे हैं। गांवों में दहशत का माहौल है। लोग साइकिल, बाइक, आटो, टैक्सी, बस, ट्रक जो पा रहे उसी पर सवार हो जा रहे हैं। सबसे बड़ी बात यह है कि इनकी जांच की कोई सटीक व सही व्यवस्था नहीं की गई है। यहां तक कि खांसी जुकाम होने की स्थानीय लोगों द्वारा सूचना देने के बाद भी कोई सुनवाई नहीं हो रही है। लोगों का कहना है कि भगवान न करे कोई व्यक्ति संक्रमित निकला तो वो एक बड़ी आबादी के लिए जानलेवा साबित होगा।
... और पढ़ें

मुश्किल हालातों के बीच पैदल ही निकल पड़े गांव की ओर

चुनार। कोरोना के डर से लोग पैदल ही अपने गांव के लिए निकल पड़े हैं। शनिवार को ऐसे दो परिवार चुनार पहुंचे। एक परिवार के लोग वाराणसी से मध्य प्रदेश के छिलौवा गांव जाने के लिए एक नन्हे बच्चे के साथ लॉकडाउन के बाद साधन के अभाव में पैदल ही अपने गांव जाने के लिए निकल पड़े।
शनिवार की सुबह लगभग साढ़े नौ बजे वह चुनार पहुंचे। परिवार के मुखिया दिनेश वर्मा व कन्हैया लाल व अशोक राम ने बताया कि वह वाराणसी में लगभग डेढ़ माह से अन्य सदस्य सदभामा, नरोइया के साथ राजगीर व लेबर का काम कर परिवार का जीविकोपार्जन चलाते हैं। वाराणसी से आते समय वह शुक्रवार की देर शाम यात्रा के दौरान थक जाने पर चुनार थाना क्षेत्र के रूदौली स्थित एक व्यक्ति के बरामदे में रात गुजारी। अल सुबह वहां से गांव जाने के लिए निकले। इसी प्रकार एक अन्य घटना में गाजीपुर से घोरावल जा रहे चार युवक राजीव, रामबदन, सुभाष व हरिराम जो मकान पेंटिंग का कार्य करते हैं वह शनिवार की सुबह लगभग 10.45 बजे पैदल चुनार पहुचें। उन्होंने बताया कि गुरुवार की शाम गाजीपुर से निकले थे और सब्जी लदे एक वाहन पर चुपके से बैठकर आधे रास्ते का सफर तय किया। युवकों ने बस किसी तरह अपने गांव पहुंचने की बात कही। लालगंज। क्षेत्र के बाहर कमाने गए दिहाड़ी मजदूर लाक डाउन के बाद घर वापसी कर रहे हैं। ये मजदूर, गुजरात, सूरत ,मुंबई दिल्ली ,राजस्थान से वापस लौट रहे हैं। जिन्हें स्थानीय बाजार के युवा भोजन कराने में लगे हुए हैं। इनमें बाला मिश्रा, शुभम अग्रहरी, विश्वनाथ मिश्रा, सिंटू केशरी, अभिषेक अग्रहरी, राजकुमार सेवा में लगे रहे।
... और पढ़ें

डीएम-एसपी ने गरीबों में वितरित किया भोजन

थाना क्षेत्र मड़िहान के अंतर्गत कलवारी बाजार होते हुए जाते लोग ।
मिर्जापुर। जिलाधिकारी सुशील कुमार पटेल व पुलिस अधीक्षक डा. धर्मवीर सिंह ने विंध्याचल में मुसहर व धरिकार बस्ती में शनिवार को गरीब, वृद्ध, बच्चों, महिलाओं व मजदूरों को पूड़ी-सब्जी, व खिचड़ी वितरित किया। इसके अलावा ग्रामीण क्षेत्रों में मुख्य विकास अधिकारी अविनाश सिंह व तहसील क्षेत्रों के गरीब इलाकों व मलिन बस्तियों में मजदूरों को संबंधित उप जिलाधिकारी ने भोजन का वितरण किया।
तहसील सदर के ग्राम समोगरी में लगभग 50 से अधिक मुसहर परिवारों को आट-दाल, चावल, नमक, आलू, प्याज आदि सामान उप जिलाधिकारी सदर गौरव श्रीवास्तव के द्वारा वितरित किया गया। इसी प्रकार तहसील लालगंज में उप जिलाधिकारी शिव प्रसाद, मडिहान में विमल कुमार दूबे व चुनार में जितेंद्र कुमार के द्वारा अपने-अपने क्षेत्रों में जरूरतमंदों को खाना व राशन का वितरण किया गया।
जिलाधिकारी सुशील कुमार पटेल ने कहा कि जनपद में कोई भी भूखा नहीं सोयेगा। कहा कि ईओ नगर पालिका सहित संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि वे नगर व ग्रामीण क्षेत्रों में सैनिटाइजेशन कराएं। इस दौरान अपने नगर भ्रमण के दौरान जिलाधिकारी ने नगर पालिका के कर्मचारियों के द्वारा किये जा रहे सैनिटाइजेशन कार्य का निरीक्षण भी किया तथा आवश्यक निशा-निर्देश दिए। मुख्य पशु चिकित्साधिकारी को भी निर्देशित किया कि लॉकडाउन के दौरान पशु आहार, भूसा/चारा आदि की भी पशुओं के लिये समुचित व्यवस्था की जाए। इस दौरान अपर जिलाधिकारी यूपी सिंह, नगर मजिस्ट्रेट जगदंबा सिंह, जिला सूचना अधिकारी ओम प्रकाश उपाध्याय, सीओ सदर सुघीर कुमार, थानाध्यक्ष विंध्याचल के अलावा अन्य लोग उपस्थित रहे।
... और पढ़ें

लॉकडाउन के चलते गांवो में नहीं पहुंच पा रहीं रोजमर्रा की चीजें

मिर्जापुर। लॉकडाउन के चलते नगर से ज्यादा ग्राम्यांचलों में रोजमर्रा की चीजें न पहुंचने से लोगों की हालत खराब हो गई है। किराने की दुकानों के साथ ही साथ सब्जियों की दुकानें बंद किए जाने से कई परिवारों के सामने मुसीबत खड़ी हो गई है। सदर तहसील से सिटी ब्लाक, छानबे, कोन, मझवां व पहाड़ी विकास खंड के गांवों में चोरी छिपे यदि कहीं दुकानों पर सामान मिल भी रहे हैं तो निर्धारित दर से कहीं ज्यादा। जिसे लेकर रोज दुकानदारों और ग्राहकों में नोकझोंक हो रही है।
कालाबाजारी रोकने के लिए पुलिस प्रशासन के तमाम डंडा पटकने के बावजूद सामनों के दाम बेतहाशे बढ़ रहे हैं। जिससे कई गांवों में गरीब जरुरी सामानों से वंचित हो रहे हैं। ऐसे विकास खंड के गांवो में अबतक तहसील प्रशासन की ओर से कोई ठोस उपाय न किए जाने से ग्रामीणों में रोष बढ़ता जा रहा है। कमोवेश यही हाल अन्य तहसील क्षेत्रों का बना हुआ है। सीखड़, लाकडाउन के चलते विकास खंड के गरीब तबके के लोगों की स्थिति अब काफी खराब हो रही है। लोग भुखमरी के शिकार हो रहे हैं।
ग्रामीणों की तकलीफ में देख खैरा ग्राम प्रधान शिव बहादुर सिंह ने बनवासियों को आटा, चावल, सरसो तेल, साबुन, नमक पैकेट बटवाया गया। जमालपुर, गरीब असहायों की मदद के लिए समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता व ग्राम प्रधान राजेंद्र यादव ने गरीबों को राशन व सब्जियों का वितरण कर उन्हें राहत पहुंचाया। इस दौरान थानाध्यक्ष अदलहाट प्रमोद यादव, सयुस के जिला उपाध्यक्ष दिनेश यादव, काशीनाथ यादव, बल्ली महेश यादव आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

नवरात्र के चौथे दिन मां कुष्मांडा की हुई पूजा

मिर्जापुर। चैत्र नवरात्र के चौथे दिन देवी मंडपों में शनिवार को देवी भगवती के चौथे स्वरूप मां कुष्मांडा का पूजन-अर्चन किया गया। घरों व देवी मंडपों में या देवी सर्वभूतेषु तुष्टि रुपेण संस्थिता, नमस्तस्यै, नमस्तस्यै, नमस्तस्यै नमो नम: की गूंज से गुंजायमान रहा। नौ दिनों तक अनवरत व्रत रखने वाले महिला, पुरुष व साधकों की ओर से भोर में स्नान कर अपने-अपने घरों में भोर से ही पूजन-अर्चन किया गया।
पूजा, पाठ के साथ ही आरतियों से घर के साथ ही आसपास के मोहल्लों में घंटी की आवाज से गुंजायमान रहे। मां कुष्मांडा की कांति और आभा सूर्य के समान है। देवी के इसी स्वरुप ने सृष्टि का विस्तार किया। मां यह स्वरुप अन्नपूर्णा का है। शाकंभरी रुप धर कर देवी ने शाक से धरती को पल्लवित किया और शताक्षी बनकर असुरों का संहार किया। देवी प्रकृति और पर्यावरण की अधिष्ठात्री हैं। कुष्मांडा देवी की आराधना के बिना जप और ध्यान संपूर्ण नहीं होते।
... और पढ़ें

स्कार्पियों की टक्कर से वृद्ध की मौत

सीखड़। चुनार कोतवाली क्षेत्र के कछवां-चुनार घाट मार्ग पर पुरनपट्टी गांव के पास शनिवार की भोर में स्कार्पियो की टक्कर से नेत्रहीन वृद्ध की मौत हो गई। स्कार्पियो चालक गाड़ी छोड़ कर भाग गया। पुलिस ने परिजनों को सूचना देकर गाड़ी कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।
कछवां थाना क्षेत्र धन्नूपुर गांव निवासी 75 वर्षीय रमेश सिंह उर्फ फटफट नेत्रहीन थे। वह अपने भाई रामसागर के साथ रहते थे। कभी-कभी घर से बिना बताए निकल जाते थे। शनिवार की भोर में पुरनपट्टी गांव के सामने स्कार्पियो की टक्कर से रमेश सिंह गंभीर रूप से घायल हो गए। स्कार्पियो कछवां से चुनार की ओर जा रही थी। चालक गाड़ी छोड़कर भाग गया। स्थानीय लोगों की सूचना पर पहुंची पुलिस घायल को अस्पताल ले जाती, तब तक वृद्ध की मौत हो चुकी थी। पुलिस स्कार्पियो को कब्जे में लेकर पड़ताल में जुट गई है।
... और पढ़ें

मशीन चालित उपकरण से करें कटाई

मिर्जापुर। जिलाधिकारी सुशील कुमार पटेल ने किसानों को जानकारी देते हुये बताया कि वर्तमान में लाकडाउन के दौरान विभिन्न फसलों की मशीन चालित उपकरणों से कटाई करें। उन्होंने कहा कि हस्त चालित कटाई उपकरण काम लेने पर उपकरणों को दिन में कम से कम तीन बार साबुन के पानी से कीटाणु रहित करें। फसल कटाई में सामाजिक दूरी का सख्ती से पालन किया जाय। खेत में फसल काटने, खाना खाना खाते समय एक व्यक्ति से दूसरे के मध्य कम से पॉंच मीटर की दूरी रखी जायें खाने के बर्तन अलग-अलग रखे तथा प्रयोग प्श्चात साबुन के पानी से अच्छी तरह से साफ करें। एक व्यक्ति द्वारा काम में लिये जाने वाले उपकरण को दूसरा व्यक्ति कदापि काम में न लें। कटाई करने वाले सभी व्यक्ति अपने-अपने उपकरण से ही काम लें। कटाई के दौरान बीच-बीच में अपने हाथों को साबुन के पानी से अच्छी तरह से साफ करते रहे। कटाई कार्य अवधि में पहले दिन पहले कपडे दूसरे दिन काम में न लें, काम में लिये कपडों को अच्छी तरह धोकर धूप में सुखाने के पश्चात ही काम में लें। कटाई के दौरान सभी व्यक्तयि अपनी अलग-अलग पानी की बोतल रखे, कटाई करने वाले सभी व्यक्ति मास्क का प्रयोग करें। थ्रेसरिंग के दौरान भी उपरोक्तानुसार सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क का प्रयोग, खाने व पीने के बर्तनो का प्रयोग आदि सभी सावधानियों का पूर्ण गम्भीरता से पालन करें। ... और पढ़ें

कोरोना पर जागरूकता को लेकर हो रही ऑनलाइन प्रतियोगिता, घर बैठे ऐसे लें हिस्सा

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए अधिक से अधिक लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य माध्यमिक शिक्षा विभाग ने एक नई मुहिम शुरू की है। इसके तहत घर बैठे छात्र-छात्राओं के लिए ऑनलाइन प्रतियोगिता की शुरुआत की जा रही है "कोरोना को हराना है भारत से भगाना है"। इस थीम पर छात्र छात्राओं के लिए पोस्टर, स्लोगन और निबंध प्रतियोगिता की शुरुआत की गई है।

जिले के इंटर कॉलेजों में पढ़ने वाले छात्र छात्रा हिंदी और अंग्रेजी माध्यम में प्रतियोगिता में भाग ले सकेंगे। खास बात यह है कि इस प्रतियोगिता में पंजीकरण और प्रविष्ठियां ऑनलाइन भेजनी होगी। जिला विद्यालय निरीक्षक डॉ. विजय प्रकाश सिंह ने बताया कि सभी इंटर कॉलेजों के प्रधानाचार्य को लिखे पत्र में इसकी जानकारी दी जा चुकी है।

साथ ही उनसे इस बारे में छात्र-छात्राओं को जानकारी देने को भी कहा गया है। बताया कि 31 मार्च की शाम 5 बजे तक प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए पंजीकरण कराया जा सकेगा और 8 अप्रैल तक ऑनलाइन आई प्रविष्टी पर ही विचार किया जाएगा। प्रतियोगिता में हर स्तर पर तीन विजेताओं को पुरस्कृत भी किया जाएगा।

रजिस्ट्रेशन के लिए छात्रों को अपना नाम, पिता का नाम, कक्षा, विद्यालय का नाम और मोबाइल नंबर भी देना होगा। लॉकडाउन में घर बैठे छात्र-छात्राओ का समय व्यतीत हो और कोरोना से बचाव के प्रति जागरूकता ही इसका उद्देश्य है। प्रतियोगिता के लिए जिले में 3 सदस्यीय टीम का गठन किया गया है।

इसमें वाराणसी के राजकीय क्वींस इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य डॉ. राजेश सिंह यादव, सीएम एंग्लो बंगाली कालेज के प्रधानाचार्य डॉ. विश्वनाथ दुबे और सनबीम ग्रुप के मुख्य कार्यकारी अधिकारी संदीप मुखर्जी को नोडल अधिकारी बनाया गया है।

 

 

 

 

 

... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us