विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus In Uttar Pradesh Live: यूपी में एक और संक्रमित मिला, संख्या बढ़कर हुई 66

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस का कहर देश में लगातार बढ़ता जा रहा है। रविवार को कोरोना से जम्मू-कश्मीर और गुजरात में एक-एक लोगों की मौत हो गई। वहीं, यूपी में भी लगातार संक्रमिता का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है।

29 मार्च 2020

विज्ञापन

Sp baghpat said

28 मार्च 2020

विज्ञापन

मुरादाबाद

रविवार, 29 मार्च 2020

दुबई से लौटे युवक के घर पर पुलिस ने चस्पा किया नोटिस

मुरादाबाद। मुरादाबाद थानाक्षेत्र निवासी एक युवक पंद्रह मार्च को दुबई से अपने घर लौटा। तक से वह अपने घर में ही मौजूद है। लोगों ने इसकी जानकारी पुलिस को दी। पुलिस मौके पर पहुंची और परिजनों से इसकी जानकारी ली। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग को सूचना दी गई। इसके बाद भी स्वास्थ्य विभाग की टीम मौके पर नहीं पहुंची। तब पुलिस ने खुद ही युवक के घर पर नोटिस चस्पा किया।
कोतवाली सीओ राजेश कुमार ने बताया गया कि मुगलपुरा क्षेत्र में रहने वाला एक युवक पंद्रह मार्च को दुबई से आया था। शुक्रवार को इसकी जानकारी मिली तो पुलिस टीम ने मौके पर पहुंचकर जानकारी दी गई। उनके घर पर नोटिस चस्पा कर दिया गया है। युवक और उसके परिवार को होम क्वारंटाइन रहने को कहा गया है। होम क्वारंटाइन के दौरान युवक को कोरोना वायरस के लक्षण पाए जाते हैं उसे अस्पताल में भर्ती कराया जाएगा और उसका सैंपल लेकर जांच कराई जाएगी।
... और पढ़ें

बुखार और खांसी से युवक की मौत, कोरोना सैंपल लिया

मुरादाबाद। मुगलपुरा थाना क्षेत्र के एक युवक की गुरुवार देर रात जिला अस्पताल में मौत हो गई। युवक चार दिन से बुखार, खांसी और सांस फूलने की परेशानी से पीड़ित था। युवक की मौत से स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मचा है। मृतक युवक का सैंपल लेने के साथ उसकी बीमारी से संबंधित हिस्ट्री चेक की जा रही है। सैंपल रिपोर्ट पाजिटिव आती है तो उसके परिवार और संपर्क में आए लोगों की जांच भी की जाएगी।
22 साल के युवक को गुरुवार रात करीब 11 बजे जिला अस्पताल की इमरजेंसी में भर्ती किया गया। युवक की हालत बेहद खराब थी। इमरजेंसी मेडिकल आफिसर पवन कुमार ने युवक की स्थिति देख कोरोना मरीजों का इलाज करने वाले पैनल के चिकित्सक डा. प्रवीण शाह को आन कॉल बुलाया। डा. शाह ने युवक की बीमारियों को लेकर परिवारजनों से जानकारी ली। परिवारजनों ने बताया कि युवक एक कारखाने में काम करता था। चार दिन से उसे बुखार और खांसी हो रही थी। सांस लेने में तकलीफ हो रही थी। गुरुवार को तबीयत खराब होने पर अस्पताल लाया गया।
डा. शाह के मुताबिक युवक की हालत नाजुक थी। उसका दम फूल रहा था और बुखार भी था। भर्ती होने के करीब एक घंटे बाद उसकी मौत हो गई। डा. शाह के मुताबिक युवक में कोरोना संक्रमण जैसे लक्षण थे। कोरोना आशंकित लोगों के इलाज के लिए जारी गाइन लाइन के मानकों को देखते हुए ही युवक की मृत्यु के बाद सैंपल लिया गया है। रात दो बजे सीएमओ डा. एमसी गर्ग और उनकी टीम अस्पताल पहुंची। टीम ने मृतक युवक के परिजनों से घंटों पूछताछ भी की। परिवारजनों ने बताया कि चार दिन पहले तक युवक स्वस्थ था।
- युवक की मौत के बाद सैंपल भेजा गया है। सैंपल रिपोर्ट का इंतजार है। इसके बाद ही आगे की कार्यवाही की जाएगी। रिपोर्ट पाजिटिव आने पर उसके परिवार और संपर्क में आए अन्य लोगों के सैंपल लिए जाएंगे। - डा. एमसी गर्ग, सीएमओ
- युवक में कोरोना वायरस की तरह लक्षण थे। सरकार से जारी गाइन लाइन के अनुसार ही एहतियातन उसका सैंपल लेकर जांच के लिए अलीगढ़ भेजा गया है। - डा. प्रवीण शाह, वरिष्ठ फिजिशियन
... और पढ़ें

यूपी: पुलिस ने बांटे बिस्किट तो फफक पड़ा भूखा यात्री, प्रयागराज में गरीबों के लिए अधिकारियों ने बनाया खाना

रामपुर में मजदूरों से भरा ट्रक पलटा, एक की मौत, कई घायल

उत्तर प्रदेश के रामपुर में मजदूरों से भरा ट्रक पलट गया। हादसे में एक मजदूर की मौत हो गई है। जबकि 10 मजदूर घायल हो गए। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 
आपको बता दें कि पटवाई थाना इलाके में मथुरापुर के पास मजदूरों से भरा ट्रक पलट गया। हादसे में 10 मज़दूर घायल हो गए हैं। घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जिनमें से एक की मौत हो गई। 

ये सभी मज़दूर अहमदाबाद से शुक्रवार को ट्रक में सवार होकर रामपुर आ रहे थे। ट्रक में 55 मज़दूर थे। मृतक की शिनाख्त यासीन पुत्र ज़की खान निवासी तुमड़िया शहज़दनागर जिला रामपुर के रूप में हुई है। घायलों में सलमान, इमरान, सलमान,माहिर, मुज़्ज़मिल, अज़ीम, तनवीर, नक्शे अली शामिल हैं। ये सभी रामपुर के हैं। जबकि एक घायल नादिर उत्तराखंड के बाजपुर निवासी है।

 
... और पढ़ें
घायल घायल

मुरादाबाद: लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर कांग्रेस नेता गिरफ्तार, शराब पीकर हंगामा करने का आरोप

लॉकडाउन के नियमों को तोड़कर भीड़ इकट्ठा करने के आरोप में शनिवार देर रात अमरोहा लोकसभा से कांग्रेस के प्रत्याशी रहे सचिन चौधरी और उनके साथियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने उनपर शराब पीकर हंगामा करने का भी आरोप लगाया है। 

हालांकि चिकित्सीय परीक्षण में शराब पीने की पुष्टि नहीं हुई है। इस पर पुलिस ने उन पर सरकारी कार्य में बाधा डालने और लॉकडाउन का उल्लंघन करने का मामला दर्ज किया और बाद में उन्हें थाने से जमानत पर छोड़ दिया गया।

मालूम हो कि दिल्ली और हरियाणा से आ रही मजदूरों की भारी भीड़ हाइवे से होकर पूर्वी उत्तर प्रदेश और बिहार जा रही है। सचिन चौधरी के मुताबिक शनिवार देर रात हाइवे पर जीरो प्वाइंट के पास भारी भीड़ जमा थी। वह शुभम अग्रवाल और प्रदीप सिंह के साथ रात करीब सवा बारह बजे हाइवे पर पहुंच गए और जीरो प्वाइंट के पास मजदूरों की मदद करने लगे। 

वहां भारी भीड़ जमा हो गई थी, जिसे देख कर पुलिस भी मौके पर पहुंची। पुलिस ने जब भीड़ खत्म करने को कहा तो हंगामा शुरू हो गया। पुलिस ने आरोप लगाया की कांग्रेसी नेता ने शराब के नशे में पुलिस से अभद्रता करनी शुरू कर दी। 

हंगामे की सूचना पाकर एसएसपी सहित तमाम अधिकारी मौके पर पहुंच गए और सचिन चौधरी, उसके साथी शुभम अग्रवाल, प्रदीप सिंह को लाकॅडाउन का उल्लंघन करने और सरकारी कार्य में बाधा डालने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने उन्हें थाने से जमानत पर रिहा कर दिया है। सीओ हाइवे राम सागर सिंह ने बताया कि चिकित्सीय परीक्षण में शराब पीने की पुष्टि नहीं हुई।
... और पढ़ें

अमरोहा: दिल्ली से लौटे कैब चालक की रिपोर्ट निगेटिव, कोरोना के लक्षण दिखने पर कराई गई थी जांच

दिल्ली से अमरोहा लौटे कोरोना वायरस के संक्रमण के आशंकित कैब चालक का सैंपल भी शनिवार को निगेटिव निकला। चालक की रिपोर्ट आते ही प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग ने राहत की सांस ली। जिले के पांचवें आशंकित को भी कोरोना संक्रमित नहीं पाए जाने पर लोग भी खुश हैं।

मालूम हो कि अमरोहा जिले का एक युवक दिल्ली में कैब चलाने का काम करता है। वह दिल्ली हवाई अड्डे से सवारियां लेकर उन्हें गंतव्य तक पहुंचाता था। ऐसे में की बार उसके कैब में विदेशी पर्यटक या विदेशी से लौटे नागरिक बैठते थे। 

जनता कर्फ्यू से एक दिन पहले 21 मार्च को वह अपने गांव लौटा था। दो दिन बाद उसे जुकाम, खांसी और सीने में दर्द की शिकायत हुई। परिवारवालों ने कोरोना के लक्षण समझकर संबंधित विभाग को सूचना दी, जिसके बाद टीम उसे जिला अस्पताल लाई।

थर्मल स्क्रीनिंग और जांच के बाद उसे अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती करा दिया गया। गुरुवार को उसका सैंपल लेकर जांच के लिए अलीगढ़ भेजा गया था। शनिवार को रिपोर्ट आई तो पता चला कि मरीज कोरोना से संक्रमित नहीं है। इससे पहले जिले से चार अन्य कोरोना आशंकित मरीजों की रिपोर्ट भी निगेटिव आ चुकी है।
... और पढ़ें

पलायनः केजरीवाल की घोषणाएं भूख नहीं मिटा पाईं तो छोड़ आए दिल्ली, छलका मजदूरों का दर्द

हाईवे पर काफिलों की भरमार है। थके-मांदे और पसीने से तरबतर लोग लगातार चलते ही जा रहे हैं। एक-एक कदम बढ़ाना भारी पड़ रहा है लेकिन फिर भी सफर लगातार जारी है। चलते-चलते तमाम पैरों में चप्पलें और जूते फट गए हैं जो इस दर्दनाक यात्रा के गवाह के तौर पर हाईवे पर ही जगह-जगह छोड़ दिए गए हैं। सूजे हुए पैरों के खून से रिसते जख्म बता रहे हैं कि जिंदगी बचाने का यह सफर कितना भारी पड़ रहा है।

शनिवार तड़के ऐसे तमाम काफिलों की सेटेलाइट बस स्टैंड के अलावा बड़ा बाईपास पर विलयधाम ओवरब्रिज और इज्जतनगर के परातासपुर इलाके में सड़कों पर भरमार थी। ज्यादातर लोग दिल्ली से आ रहे हैं जिनके एक तरफ कोरोना की चुनौती थी और दूसरी तरफ भूख की। कभी उन्होंने भूख मिटाने के लिए ही दिल्ली का रुख किया था लेकिन लॉक डाउन होने के बाद जब भूख ही जिंदगी लेने पर आमादा हो गई तो दिल्ली छोड़ दी।

कहते हैं, केजरीवाल ने आधार कार्ड पर राशन के साथ सभी जरूरी सुविधाएं घर पर ही मुहैया कराने की घोषणा तो की लेकिन फिर भी जब कई दिन झुग्गियों में भूखे रहना पड़ा तो निकल आए। दिल्ली से आने वालों के अलावा अच्छी-खासी तादाद नोएडा और रुद्रपुर की फैक्टरियों में काम करने वाले मजदूरों की भी है। रुद्रपुर से बेदखल हुए लोगों का सफर अपेक्षाकृत कम लंबा हैं लेकिन चिंताएं वही हैं कि घर लौटकर शायद कोरोना से तो बच जाएं लेकिन परिवार का पेट कैसे भरेंगे।

रेलवे ट्रैक के किनारे-किनारे दिल्ली से बाराबंकी का पैदल सफर

तीन दिन में बरेली पहुंचा भूखा-प्यासा दस मजदूरों का जत्था, अभी इससे भी ज्यादा सफर बाकी
बाराबंकी के सफदरगंज इलाके के धौरागांव में रहने वाला दस मजदूरों का जत्था दिल्ली से बुधवार को पैदल घर की ओर निकला था। इस जत्थे में शामिल रामबाबू, शिवांश और संदीप ने बताया कि उनमें से कोई दिल्ली में रिक्शा चलाता था तो कोई फैक्टरी में काम करता था। जनता कर्फ्यू के दिन से ही खाने के लाले पड़ गए और हवा फैलने लगी कि लॉक डाउन तीन महीने से पहले खत्म नहीं होगा। इसके बाद घर लौटना बेहतर समझा। काफी कोशिश की लेकिन किसी सवारी का इंतजाम नहीं हुआ। सड़क पर निकलने पर जगह-जगह पुलिस पीट रही थी। लिहाजा बुधवार रात सभी लोग अपने बैग लेकर अलग-अलग निकले और स्टेशन से अलग हटकर एक जगह इकट्ठे होने के बाद रेलवे ट्रैक के किनारे-किनारे सफर शुरू कर दिया। रेलवे ट्रैक पर सफर करने से पुलिस का खतरा नहीं था। जहां मौका मिला वहां सड़क पर आ गए। रामहजारे के पैर से खून निकल रहा था। शिवांश और उसके साथियों के पैर सूज गए थे। रामबाबू की हालत सबसे ज्यादा खराब थी जिनकी आंत का बमुश्किल 15 दिन पहले ही ऑपरेशन हुआ था।

शुक्रवार को चली बसें मगर दिल्ली नोएडा से बरेली लाकर छोड़ दिया

दिल्ली-नोएडा और गाजियाबाद से मजदूरों को लाने के लिए बरेली रीजन की करीब सवा सौ बसें शुक्रवार को चलनी शुरू हुईं तो हजारों लोगों को राहत भी मिली। इसके अलावा दिल्ली की भी तमाम बसें उन्हें यूपी के तमाम शहरों तक छोड़ रही हैं। लेकिन फिर भी हजारों की तादाद ऐसे लोगों की भी हैं जो बसें शुरू होने से पहले ही दिल्ली छोड़कर चल पड़े थे। खचाखच भरी बसों में उन्हें रास्ते में जगह नहीं मिली लिहाजा उन्हें परिवार के साथ पूरा सफर पैदल तय करना पड़ा।

साइकिल पर लादी पत्नी-बेटी के साथ पूरी गृहस्थी फिर रुद्रपुर से बरेली की यात्रा

पीलीभीत के बीसलपुर के गांव अखौली में रहने वाले नीरज रुद्रपुर की कंपनी में काम करते हैं। नीरज ने बताया कि रुद्रपुर में दस दिन पहले ही काम पूरी तरह बंद हो गया था। उनका पूरा परिवार कमरे में ही पूरा वक्त गुजार रहा था। ज्यादा दिक्कत तब शुरू हुई जब बाहर निकलने पर पाबंदी के बीच घर में रखा राशन खत्म हो गया और राशन, सब्जी-दूध जैसी चीजें खरीदने को पैसे भी नहीं बचे। कई बार बस और टेंपो स्टैंड गए ताकि गांव जाने के लिए कोई साधन मिल जाए लेकिन सब सुनसान पड़ा हुआ था। आखिर में साइकिल पर ही घर का जरूरी सामान लेकर लौटने का फैसला किया। पत्नी कुसुमा और दो साल की बेटी आकांक्षा के साथ रात में दो बजे चल दिए। नीरज ने उम्मीद जताई कि शाम तक घर पहुंच जाएंगे। रास्ते में पुलिसवालों ने कई जगह रोका पर परेशानी सुनकर जाने दिया।

पैर उठते नहीं, मां-बहनों का हाल देखकर दिल भी बैठा जा रहा है

शाहजहांपुर के सिंधौली कस्बे में रहने वाले तालिब अपने परिवार के साथ रुद्रपुर में रहते हैं जहां उनके पिता रिक्शा चलाते हैं और वह खुद फैक्टरी में काम करते हैं। तालिब विलयधाम पर अपनी मां, तीन बहनों और परिवार के और लोगों के साथ गाड़ी का इंतजार कर रहे थे। उसने बताया कि शुक्रवार रात तीन बजे वे सभी पैदल ही घर के लिए चल दिए थे। रास्ते में टेंपो, डनलप. तांगा जो भी मिला, उस पर कुछ दूर के लिए बैठ लिए। कुछ नहीं मिला तो पैदल चलते रहे। बरेली आकर उनकी हिम्मत जवाब दे गई है। मां और बहनों की हालत देखकर दिल भी बैठा जा रहा है। बोले, काफी इंतजार के बाद यहां भी कोई गाड़ी नहीं मिल रही है। किसी तरह शाहजहांपुर पहुंच जाएं तो घर जाने की भी कोई जुगाड़ हो ही जाएगी।

 

... और पढ़ें

कटघर में गला रेत कर महिला की हत्या

जिंदगी का सफर...
मुरादाबाद। लॉक डाउन के दौरान कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच कटघर क्षेत्र में एक महिला की गला रेत कर हत्या कर दी गई। शनिवार सुबह रामगंगा पुल के पास हाईवे किनारे महिला का रक्तरंजित शव पड़ा मिला तो सनसनी फैल गई। सूचना मिलने पुलिस पहुंची और शव कब्जे में लेकर मृतका की पहचान कराने का प्रयास कियाए लेकिन शिनाख्त नहीं हो पाई। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में में धारदार हथियार से गला रेतकर हत्या की पुष्टि हुई है। इसके अलावा दुष्कर्म की आशंका में स्लाइड भी तैयार की गई है।
सीओ पूनम सिरोही ने बताया कि शनिवार सुबह सूचना मिली कि कटघर क्षेत्र में रामगंगा पुल के पास रामपुर हाईवे किनारे तीस वर्षीय एक महिला का शव पड़ा है। पुलिस मौके पर पहुंची शव कब्जे में ले लिया। महिला के गले पर गहरा घाव था। उसने सफेद रंग की कुर्ती, लाल रंग की पायजामी, काली रंग की चुन्नी और चप्पल पहन रखी थीं। काफी प्रयास के बाद भी मृतका की पहचान नहीं हो पाई। इसके बाद शव पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया गया। शनिवार शाम आई पोस्टमार्टम रिपोर्ट से पता चला है कि महिला की गला रेत कर हत्या की गई है। शव तीन से चार दिन पुराना बताया जा रहा है। सीओ ने बताया गया कि संभावना जताई जा रही है कि हत्या कहीं दूसरी जगह करने के बाद शव यहां फेंका गया है। मुरादाबाद जनपद के थानों समेत अन्य आस पड़ोस जनपदों के थानों में सूचना भिजवाई गई कि कहीं से कोई 30.35 वर्षीय महिला लापता तो नहीं है। शनिवार रात तक महिला की पहचान नहीं हो पाई थी।
... और पढ़ें

लॉकडाउन का उल्लंघन करने में कांग्रेसी नेता गिरफ्तार

पाकबड़ा (मुरादाबाद)। शनिवार देर रात को लॉकडाउन को तोड़कर भीड़ इकट्ठा करने के आरोप में कांग्रेस के अमरोहा लोकसभा से प्रत्याशी रहे सचिन चौधरी और उनके साथियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया । शराब पीकर हंगामा करने का भी आरोप लगाया पर चिकित्सीय परीक्षण में शराब पीने की पुष्टि नहीं हुई। इस पर पुलिस ने उन पर सरकारी कार्य में बाधा डालने और लॉकडाउन का उल्लंघन करने का मामला दर्ज किया और बाद में थाने से जमानत पर छोड़ दिया गया।
हाइवे पर भारी भीड़ दिल्ली और हरियाणा से आ रही और वह हाइवे से होकर पूर्वी उत्तर प्रदेश और बिहार जा रही है। शनिवार देर रात हाइवे पर जीरो पांइट के पास भारी भीड़ जमा थी। काग्रेसी नेता सचिन चौधरी निवासी सुपरटेक नया मुरादाबाद और शुभम अग्रवाल और प्रदीप सिंह निवासी लाइनपार थाना मझोला करीब रात्रि सवा बजे हाइवे पर पहुंच गये और जीरो पाइंट के पास पहुंचते ही इन लोगों ने वहां पर मौजूद लोगों की मदद करनी शुरू कर दी। भारी भीड़ वहां पर जमा हो गई थी। इसी बीच वहां पर पुलिस आ गई। पुलिस ने जब इन लोगों से भीड़ को हटाने को कहा तो हंगामा शुरू हो गया। पुलिस ने आरोप लगाया की कांग्रेसी नेता ने पुलिस से शराब के नशे में पुलिस से अभद्रता करनी शुरू कर दी। हंगामे की सूचना पाकर एसएसपी सहित तमाम अधिकारी मौके पर पहुंच गये और सचिन चौधरी, उसके साथी शुभम अग्रवाल, प्रदीप सिंह को लाकॅडाउन का उल्लंघन करने और सरकारी कार्य में बाधा डालने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने उन्हें थाने से जमानत पर रिहा कर दिया है। सीओ हाइवे राम सागर सिंह ने बताया कि चिकित्सीय परीक्षण में शराब पीने की पुष्टि नहीं हुई।
... और पढ़ें

मुरादाबाद में खुलेगी कोरोना की जांच लैब

मुरादाबाद। जिले में कोरोना आशंकित लोगों की संख्या में भले ही कमी आई है, लेकिन प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग विषम परिस्थितियों के लिए तैयारी में जुट गया है। शनिवार को जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह ने स्वास्थ्य विभाग एवं निजी अस्पताल संचालकों की बैठक ली। डीएम ने 10 निजी अस्पताल संचालकों से वेंटिलेटर व्यवस्थाएं रेडी टू यूज रखने के निर्देश दिए। उन्होंने सीमओ डा. एसी गर्ग को मुरादाबाद में कोरोना जांच लैब की अनुमति के लिए आईसीएमआर से समन्वय बनाने के निर्देश दिए।
मुरादाबाद में अभी तक 22 कोरोना आशंकित लोगों के नमूने लिए हैं। इनमें 21 की रिपोर्ट निगेटिव आई है। जिला अस्पताल में 10 बेड का आइसोलेशन और 10 बेड का क्वारंटीन वार्ड बनाया गया है। महिला अस्पताल, रेलवे अस्पताल और टीएमयू में आइसोलेशन वार्ड बनाने के अलावा केंद्रीय पुलिस अस्पताल का अधिग्रहीत किया है। जिलाधिकारी डा. राकेश कुमार सिंह ने कहा कि मुरादाबाद में स्थितियां सामान्य हैं। लेकिन तैयारियों में किसी तरह कही चूक नहीं होनी चाहिए। उन्होंने निजी अस्पताल के संचालकों से कहा कि वेंटिलेटर की व्यवस्थाएं दुरुस्त रखी जाएं, ताकि आपात स्थिति में मरीजों को भर्ती कराया जा सके।
डीएम ने सीएमओ डा. एमसी गर्ग से कहा कि मुरादाबाद में कोरोना जांच लैब खोलने के लिए इंडियान काउंसलि आफ मेडिकल रिसर्च से समन्वय किया जाए। जल्द से जल्द इसकी प्रक्रिया शुरू कराई जाए।
89 विदेश यात्रियों का सत्यापन
मुरादाबाद। शनिवार को स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने 89 लोगों के घर पहुंचकर उनकी स्क्रीनिंग की। सभी लोग स्वस्थ थे और 14 दिनों के लिए सभी को होम क्वारंटीन में रखा गया। जिला अस्पताल में दो लोग भर्ती हैं, इनमें एक कोरोना पाजिटिव युवती शामिल है। सीएमओ ने बताया कि जिले में 860 विदेश यात्रियों में से अब तक 509 का सत्यापन पूरा हो गया है।
468 लोगों की निगरानी चल रही है। जबकि 41 लोगों की निगरानी पूरी हो गई है।
... और पढ़ें

ई-मेल पर भी सेल्फ रिपोर्टिंग कर सकेंगे विदेश यात्री

मुरादाबाद। विदेशों से लौटने वाले अब ई-मेल से भी स्वास्थ विभाग में अपनी सेल्फ रिपोर्टिंग कर सकेंगे। शनिवार को पहले ही विदेश से लौटे 32 लोगों ने अपनी सूचना दी। स्वास्थ विभाग की टीमें रविवार से उनका सत्यापन और स्क्रीनिंग करेंगी। सभी लोगों को 14 दिन के लिए होम क्वारंटीन में रखा जाएगा।
मुरादाबाद जिले में अब तक कुल 860 लोग विदेश यात्रा कर लौटे हैं। एयरपोर्ट अथोरिटी की सूची के आधार पर यात्रा से लौटने वालों का सत्यापन हो रहा है। सेल्फ रिपोर्टिंग के लिए सीएमओ कार्यालय में कंट्रोल रूम बनाया गया है। इसका नंबर 0591-2411224 है। कई लोग सेल्फ रिपोर्टिंग करना तो दूर स्वास्थ्य विभाग की सर्विलांस टीमों के सत्यापन के लिए घर पहुंचने पर सहयोग नहीं कर रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग ने ऐसे लोगों के खिलाफ महामारी अधिनियम में मुकदमा दर्ज करने की चेतावनी दी है। इसके बाद से लोग सूचनाएं दे रहे हैं। जिले में अब तक 105 लोगों ने कंट्रोल रूम को सेल्फ रिपोर्टिंग की है।
जिला एपेडिमोलॉजिस्ट अजीजुर्रहमान के मुताबिक शनिवार से ई-मेल की व्यवस्था भी सुचारु कर दी गई है। पहले ही दिन 32 लोगों ने ई-मेल के माध्यम से सेल्फ रिपोर्टिंग की है। लोगों ने अपने घर का पता और खुद के स्वस्थ होने एवं अन्य जानकारियां दी हैं। रविवार से टीमें इनके घर जाएंगी और स्क्रीनिंग करेंगी। विदेश यात्रा से लौटने वाले ई-मेल ठ्ठष्श1द्वड्ढस्रञ्चद्दद्वड्डद्बद्य.ष्शद्व पर अपनी जानकारी उपलब्ध करा सकते हैं।
... और पढ़ें

जिंदगी की चाह में 177 किमी पैदल चला पर घर से 39 किमी मौत ने मारा झपट्टा

मुरादाबाद। जिंदगी की चाह में पैदल ही घर की राह पकड़ ली और 177 किमी का लंबा सफर तय भी कर लिया लेकिन घर से मात्र 39 किमी दूर मौत ने झपट्टा मार दिया। दुर्घटना में इस युवक की मौत हो गई। कुंडली हरियाणा की एक फैक्टरी में काम करने वाला यह युवक कोरोना की दहशत के चलते रामपुर अपने घर जा रहा था लेकिन पाकबड़ा में एक तेज रफ्तार बस ने उसे कुचल डाला। बस का चालक बस लेकर फरार हो गया।
हादसे में जान गंवाने वाला युवक नितिन कुमार (26) पुत्र देवेंद्र सिंह रामपुर जनपद के मिलक थानाक्षेत्र के लाडोपुर गांव का निवासी था। वह अपने भाई पंकज के साथ हरियाणा के कुंडली स्थित जूता फैक्टरी में नौकरी करता था। लॉकडाउन की वजह से फैक्टरी बंद कर दी गई है। दोनों भाई हरियाणा से पैदल ही अपने घर लौट रहे थे। शनिवार दोपहर साढ़े बारह बजे दोनों भाई पाकबड़ा क्षेत्र में जीरो प्वाइंट के पास से गुजर रहे थे। इसी दौरान दिल्ली की ओर से आ रही एक निजी बस ने नितिन को टक्कर मार दी। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि वह दूर जाकर गिरा। इस हादसे में नितिन की मौत हो गई। जबकि उसका भाई बाल-बाल बच गया। हादसे के बाद मौके पर भीड़ जुट गई। दुर्घटना की जानकारी मिलने पर पाकबड़ा पुलिस मौके पर पहुंच गई, लेकिन तब तक चालक मौके से फरार हो चुका था। सीओ हाईवे राम सागर ने बताया गया कि शव पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है। चालक की तलाश की जा रही है। यह भी पता किया जा रहा है कि लॉक डाउन में बस हाईवे पर कैसे और किसके आदेश पर चलाई जा रही थी। यह घटना तब हुई जब घर उसका घर मिलक (रामपुर) मात्र 39 किलोमीटर दूर ही रह गया था। युवक की जून 2018 में ही शादी हुई थी और उसकी करीब डेढ़ साल की एक बेटी है। हादसे पुर परिवार में कोहराम मचा है।
... और पढ़ें

रामपुर: सड़क दुर्घटना में अमरोहा के तीन युवकों की मौत, दो घायल

उत्तर प्रदेश के रामपुर जिले के शहजादनगर थाना क्षेत्र में शनिवार सुबह भीषण दुर्घटना में तीन लोगों की मौत हो गई, जबकि दो अन्य लोग घायल हो गए हैं। घटना में मृतक तीनों लोग अमरोहा के रहने वाले थे।

मृतकों की पहचान अमरोहा के कैथवाली गांव निवासी राकेश और विपिन व खेतपुरा गांव निवासी सुभाष के रूप में की गई है। तीनों युवक ट्रक में सब्जी लेकर बरेली गए थे। बीच रास्ते में ट्रक खराब होने के कारण तीनों उससे उतर गए और गाड़ी को ठीक करने लगे। 

इसी बीच दूसरी ओर से आ रही एक कार ने तीनों को कुचल दिया। मौके पर ही तीनों की मौत हो गई। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई है और मामले की जांच-पड़ताल कर रही है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us