विज्ञापन
विज्ञापन
व्यापार में सफलता एवं आर्थिक वृद्धि हेतु, पौष पूर्णिमा पर जगन्नाथमंदिर में कराएं विष्णुसहस्रनाम पाठ !
Purnima Special

व्यापार में सफलता एवं आर्थिक वृद्धि हेतु, पौष पूर्णिमा पर जगन्नाथमंदिर में कराएं विष्णुसहस्रनाम पाठ !

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

तमंचे के बल पर युवती से किया दुष्कर्म, विरोध करने पर छत से दे दिया धक्का, घायल

डिलारी थानाक्षेत्र के गांव में रहने वाली एक युवती ने दुष्कर्म का आरोप लगाया है। उसका कहना है कि आरोपी युवक उसे तमंचे के बल पर मकान की छत पर ले गया। जहां उसके साथ दुष्कर्म किया। शोरशराबा सुनकर परिजन छत पर आए तो आरोपी ने युवती को छत से धक्का दिया। जिसमें युवती घायल हो गई। पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया है।

यह घटना मंगलवार रात करीब ग्यारह बजे की है। पीड़ित युवती ने पुलिस को अपने बयानों में बताया कि वह अपने घर में चारपाई पर सो रही थी। इसी दौरान आरोपी युवक अरविंद तमंचा लेकर घर में घुस गया। उसने युवती को तमंचे के बल पर डराया और धमकाकर मकान की छत पर ले गया। युवती का कहना है कि आरोपी ने उसके साथ दुष्कर्म किया। शोरशराबा सुनकर परिजन छत पर पहुंच गए।

आरोप है कि इसी दौरान आरोपी युवक ने युवती को मकान की छत से धक्का दे दिया। जिससे युवती मकान के पीछे खेत में गिर गई। इसके बाद आरोपी मौके से भाग गया। परिजनों ने नीचे जाकर देखा तो युवती घायल अवस्था में पड़ी थी। परिजन घायल युवती को लेकर अस्पताल पहुंचे और उसका इलाज कराया। यहां होश में आने पर युवती ने घटना के बारे में जानकारी दी। पुलिस ने युवती के पिता की तहरीर पर छेड़खानी व मकान से धक्का देने और मारपीट करने की धाराओं में केस दर्ज किया है।

इसके बाद आरोपी अरविंद को भी गिरफ्तार कर लिया गया। पीड़ित परिवार को जब इसकी जानकारी हुई कि पुलिस ने छेड़खानी में केस दर्ज किया तो वह एसएसपी कार्यालय पहुंच गए। उन्होंने एसएसपी से डिलारी पुलिस की शिकायत की। विवेचक अस्पताल पहुंचे और युवती के बयान दर्ज किए। इसके बाद पुलिस केस में दुष्कर्म की धारा भी बढ़ा ली। बुधवार को आरोपी युवक अरविंद का पुलिस ने चालान कर दिया है।

डिलारी थानाक्षेत्र की घटना है। अदालत में युवती के बयान कराए गए हैं। जिसमें युवती ने अपने साथ दुष्कर्म की घटना स्वीकार की है। आरोपी युवक जेल में बंद है। जांच जारी है। उसी आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।
- प्रभाकर चौधरी, एसएसपी

मेरी पिता से सादा कागज पर कराए हस्ताक्षर

मुरादाबाद। पीड़ित युवती की ओर से एसएसपी कार्यालय में बुधवार को एक प्रार्थनापत्र दिया गया। जिसमें युवती ने बताया कि चार जनवरी की रात अरविंद नाम के युवक ने तमंचे के बल पर उसके साथ दुष्कर्म किया था। इसके बाद आरोपी मुझे छत से धक्का देकर भाग गया था। मेरे पिता व भाई ने डिलारी थाने में इस मामले की शिकायत की थी। लेकिन पुलिस ने सादा कागज पर हस्ताक्षर कराकर हमें घर लौटा दिया था।
... और पढ़ें

बर्ड फ्लू की दहशत से कम हुई अंडे की डिमांड, पशु चिकित्साधिकारियों को किया अलर्ट

देश में कई स्थानों पर बर्ड फ्लू ने दस्तक दी है। जिले में भी अलर्ट कर दिया गया है। हालांकि पशुपालन विभाग का दावा है कि जिले में इसका कोई असर नहीं है। मुर्गीफार्म में सभी पक्षी सुरक्षित हैं, लेकिन इसकी दहशत से जिले में अंडे की डिमांड 20 प्रतिशत कम हो गई है। अंडे के भाव भी 30 रुपये सैकड़ा गिर गए हैं। उधर जिले के सभी पशु चिकित्साधिकारियों को अपने क्षेत्र के मुर्गी फार्म पर जाकर जांच करने और जरूरत होने पर पक्षियों के नमूने लेने को कह दिया गया है।

प्रदेश सरकार ने भी अलर्ट करते हुए सभी जनपदों के पशु चिकित्साधिकारियों ने अपने यहां के पोल्ट्री फार्मोें, उनमें मौजूद पक्षियों को सूची तैयार करने के अलावा पक्षियों की जनपद और उसके बाहर से आने और जाने वाली आपूर्ति का ब्योरा मांगते हुए निगरानी के लिए कहा गया है। मुख्य पशु चिकित्साधिकारी के स्तर से इस संबंध में जिले के सभी पशु चिकित्साधिकारियों को अर्लट किया है।

हालांकि विभाग ने जिले में कहीं भी बर्ड फ्लू के लक्षण आदि से इंकार किया है लेकिन दहशत के कारण लोग अंडों से कुछ परहेज करने लगे हैं जिस कारण इसकी बिक्री में कुछ कमी आई है। पशुपालन विभाग के अनुसार जिले में ताजपुर और भोजपुर में विभाग के अनुदानित दो बड़े मुर्गी फार्म हैं। इसके अलावा सैकड़ों छोटे बड़े मुर्गी फार्म भी चल रहे हैं। 1.16 लाख मुर्गियां हैं। करीब एक लाख अंडों का प्रतिदिन उत्पादन होता है। पोल्ट्री फार्म संचालकों के अनुसार उनके फार्म में सभी पक्षी सुरक्षित हैं लेकिन लोगों में डर की वजह से अंडे की मांग कम हुई है। इसी कारण भाव भी गिर गए हैं।

बीमारी कोई नहीं, लोगों में बस दहशत

भोजपुर स्थित पोल्ट्री फार्म संचालक गुरमीत सिंह ने बताया कि उनके यहां 24 हजार मुर्गियां हैं। रोजाना 20 हजार अंडा उत्पादन होता है। उनके यहां के सभी पक्षी सुरक्षित हैं। उत्पादन भी सामान्य है, लेकिन बर्ड फ्लू की दहशत से लोग जरूर डर रहे हैं। इसी वजह से उनके अंडे की डिमांड में कमी आई है। जिन फार्मों से उनका पहले से अनुबंध है वह लोग सप्लाई ले जा रहे हैं। बाकी छोटे खरीददारों ने आपूर्ति कम की है। जिसकी भरपाई दूसरे ग्राहकों को माल बेचकर कर रहे हैं। इसी डर की वजह से भाव 30 -40 रुपये क्रेट कम हुआ है। उन्होंने कहा कि देश में भी अभी तक कहीं से भी मुर्गी के मरने की सूचना नहीं है।

30 रुपये क्रेट गिरे दाम

ताजपुर के पोल्ट्री फार्म संचालक जुबैर के फार्म में 25 हजार मुर्गियां हैं। बताया कि सभी मुर्गी ठीक हैं। कहा कि इस क्षेत्र में कहीं भी ये बीमारी नहीं है लेकिन लोगों में डर बैठने लगा है। वह अंडा खाने से फिलहाल परहेज कर रहे हैं। इस वजह से मांग में कुछ कमी बनी है। माल निकालने की वजह से भाव भी घटना पड़ा। पहले 30 अंडे की केरेट 180 रुपये की थी जो तीन दिन में ही 150 पर आ गई है। कहा कि लॉक डाउन में मोटा नुकसान हुआ था। अब कुछ काम निकला था।
पक्षियों के स्वैब बरेली लैब भेजे जाएंगे

पशुपालन विभाग के रोग नियंत्रण एंव प्रक्षेत्र के निदेशक रामगोपाल सिंह ने इस संबंध में प्रदेश भर के जिला पशु चिकित्साधिकारियों को एडवाइजरी जारी कर अलर्ट रहने और मुर्गी फार्म आदि स्थानों पर निगरानी और वहां पर बचाव के इंतजामों के लिए निरीक्षण करने को कहा गया है। साथ ही क्लोएकल स्वैब पैकिंग में बरेली स्थित कॉडरेड प्रयोगशाला आरवीआरआई इज्जतनगर बरेली को भेजने के लिए कहा गया है।

जिले के आंकडें

जिले में मुर्गियों की संख्या 1,16,205
अनुमानित अंडा उत्पादन 1 लाख
अंडे का रेट तीन दिन पूर्व 180 रुपये प्रति 30 नग
बुधवार का भाव 150 रुपये प्रति 30 नग
कोट
जिले में कहीं भी बर्ड फ्लू के लक्षण आदि की जानकारी नहीं मिली है। शासन के निर्देश पर जिले के सभी पशु चिकित्सालयों को अलर्ट कर दिया गया है। उनसे अपने क्षेत्र के पोल्ट्री फार्मों, उनमें मौजूद पक्षियों की रिपोर्ट मांगी गई है। साथ ही उन फार्मों में जाकर व्यवस्थाएं देखने और एहतियात के तौर पर बचाव के लिए पर्याप्त इंतजाम सुनिश्चित कराने को कहा गया है। बड़े पोल्ट्री फार्म संचालकों से बात की गई तो उन्होंने सब कुछ सामान्य बताया है। अंडे का उत्पादन भी सामान्य है। दहशत की वजह से अंडे की बिक्री पर थोड़ा प्रभाव जरूर हुआ है। पोल्ट्री फार्मों की संख्या और डाटा जुटाया जा रहा है।
- डा. हरिओम, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी।
... और पढ़ें

जयाप्रदा पर अभद्र टिप्पणी करने के मामले में आजम खां और अब्दुल्ला की वीडियो कांफ्रेंसिंग से हुई पेशी, अगली सुनवाई 12 जनवरी को

पूर्व मंत्री एवं सपा सासंद आजम खां और उनके बेटे अब्दुल्ला आजम की बुधवार को एमपी-एमएलए स्पेशल कोर्ट में वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए पेशी हुई। अभिनेत्री जयाप्रदा पर अभद्र टिप्पणी करने के मामले में आजम खां के वकील द्वारा जमानत का प्रार्थनापत्र पेश किया गया, जिस पर अदालत ने सुनवाई के लिए अगली तिथि 12 जनवरी तय की है।

पिछली तिथि पर अदालत ने आजम खां और उनके बेटे को जयाप्रदा पर अभद्र टिप्पणी के आरोप में कस्टडी में लेकर जेल भेज दिया था। इसके बाद बुधवार को दोनों आरोपियों की पेशी अदालत में होनी थी। बुधवार को अदालत में आजम खां के वकील द्वारा जमानत के लिए प्रार्थनापत्र पेश किया गया, जिस पर सुनवाई के लिए 15 जनवरी की तारीख तय की गई है। बता दें कि यह मामला मुरादाबाद के कटघर थाना क्षेत्र में एक कार्यक्रम के दौरान रामपुर की पूर्व सासंद जयाप्रदा पर अभद्र टिप्पणी किए जाने का है।

इसके अलावा छजलैट प्रकरण में चार्ज पर बहस की गई। आजम खां और अब्दुल्ला आजम के अधिवक्ता शाहनवाज सिब्तेन ने कहा कि पुलिस ने जो मुकदमे दोनों पर लगाए हैं, उनमें आज तक कोई साक्ष्य अदालत में पेश नहीं किया। मामले मात्र राजनीति से प्रेरित हैं। ऐसा कोई साक्ष्य पुलिस के पास नहीं है, जिससे दोनों पर आरोप साबित हो।

वहीं दूसरी और सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता कौशल कुमार गुप्ता ने बचाव पक्ष के तर्कों का विरोध करते हुए कहा कि पुलिस ने साक्ष्य प्रस्तुत किए हैं। न केवल आजम खां बल्कि उनके बेटे ने कानून अपने हाथ में लेकर अपराध किया है। इन सबूतों के आधार पर दोनों ही आरोपियों पर मुकदमा चलाया जाना चाहिए। अदालत ने दोनों पक्षों की बहस सुन कर आदेश सुरक्षित कर लिया है।

साथ ही 16 जनवरी की तारीख तय की है। बता दें कि निजी यात्रा पर सपरिवार जाते समय छजलैट में पुलिस द्वारा वाहनों की चेकिंग पर आपत्ति करते हुए आजम खां ने विरोध जताया था। इस जानकारी पर तमाम सपा नेता वहां जुट गए थे और रास्ता जाम कर दिया था।
... और पढ़ें

किसान नेता ने पुलिस चौकी में आग लगाने की दी धमकी, ऑडियो वायरल

दढ़ियाल पुलिस चौकी को आग लगाने और इंचार्ज को धमकी देने का एक आडियो क्षेत्र में चर्चा में है। यह आडियो एक किसान नेता का बताया जा रहा है। वार्ता शनिवार रात की बताई जा रही है। चौकी इंचार्ज ने मामले की शिकायत एसपी से की है। पुलिस ने घटना का तस्करा थाने में डाल दिया गया है।

मामला एक थाना आदमपुर के एक गांव में बीती 13 जनवरी को हुई छेड़खानी से जुड़ा है। आरोप है कि मुकदमा दर्ज होने के बाद भी पुलिस मामले में कार्रवाई नहीं कर रही है। मुकदमे की विवेचना थाना आदमपुर की दढ़ियाल चौकी के एसआई रामगोपाल शर्मा कर रहे थे।

शनिवार रात दस बजे एक किसान संगठन के नेता ने चौकी पर तैनात कांस्टेबल गुलफाम को फोन लगाया और दरोगा को गंदी-गंदी गालियां देनी शुरू कर दीं। कहा कि अपने दरोगा से मेरी बात कराओ उसने छेड़खानी वाले मामले में मुलजिम पक्ष से डेढ़ लाख रुपये लिए हैं। उसे जेल नहीं भेज रहा है। 

पुलिस का कहना है कि उसके बाद कांस्टेबल ने किसान नेता की बात दरोगा से कराई तो किसान नेता बैकफुट पर आ गया। कहा कि मैंने कोई गाली नहीं दी है। उसके बाद दरोगा ने कहा कि मेरे पास सारी रिकॉर्डिंग है। मैं अपने उच्च अधिकारियों को अवगत करा चुका हूं। अभी तुम्हारे खिलाफ मुकदमा पंजीकृत करा रहा हूं।

एक किसान संगठन से जुड़े नेता ने अभद्र भाषा का प्रयोग करते हुए चौकी में आग लगाने की धमकी दी है। उच्चाधिकारियों को अवगत कराया गया है। उच्चाधिकारियों का निर्देश मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।
- रामगोपाल शर्मा, पुलिस चौकी इंचार्ज दढ़ियाल, थाना आदमपुर।

- बातचीत का ऑडियो मिला है। मामले की गहराई से जांच कराई जा रही है। जांच पड़ताल के बाद कार्रवाई कराई जाएगी। 
-सतीश चंद्र पांडे, सीओ हसनपुर।
... और पढ़ें
demo pic... demo pic...

राम मंदिर निर्माण के नाम पर वसूली के आरोप में केस दर्ज

अयोध्या में भले ही राम मंदिर का निर्माण अभी शुरू नहीं हुआ है, लेकिन राम नाम पर अवैध रूप से चंदा वसूली शुरू हो गई। इसी तरह का एक और मामला शनिवार को मुरादाबाद में सामने आया। श्रीराम निर्माण निधि समर्पण समिति मुरादाबाद के अध्यक्ष ने थाना सिविल लाइंस में चार लोगों के खिलाफ केस दर्ज कराया है। इससे पहले भी फर्जी रसीद छपवाकर राम मंदिर के नाम पर वसूली का केस मझोला थाने में दर्ज किया जा चुका है।

श्री राम मंदिर निधि समर्पण समिति मुरादाबाद के अध्यक्ष ओम प्रकाश शास्त्री समिति के मंत्री प्रभात गोयल के साथ सिविल लाइंस थाने पहुंचे। उन्होंने आरोपी रोहन सक्सेना निवासी विजय नगर थाना कटघर, अमित अग्रवाल निवासी पुरानी तहसील के सामने कोतवाली, हर्ष वर्मा निवासी चौरासी घंटा थाना नागफनी और मनोज व्यास पूर्व कार्यकर्ता विश्व हिंदू परिषद के खिलाफ धोखाधड़ी की धारा में केस दर्ज कराया है। जिसमें उन्होंने बताया कि आरोपियों ने अयोध्या राम मंदिर निर्माण के मिलते जुलते नाम से रसीद तैयार करा कर लोगों से अवैध रूप से चंदा वसूलना शुरू कर दिया हैं।

उन्होंने बताया कि जब वह लोगों के पास समर्पण के लिए पहुंचे तो पता चला कि उनके पास से पहले ही कोई चंदा लेकर जा चुका है। सिविल लाइंस थाना प्रभारी दर्वेश कुमार ने बताया कि केस दर्ज कर लिया गया है। जांच में जो भी तथ्य सामने आएंगे। उसी आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

इससे पूर्व 25 दिसंबर को मझोला थाने में भाजपा के जिलाध्यक्ष राजपाल चौहान ने एक व्यक्ति के खिलाफ रसीद पर उनका और कैबिनेट मंत्री भूपेंद्र चौधरी का फोटो छपवाकर राम मंदिर के नाम पर चंदा लेने का केस दर्ज कराया था।
... और पढ़ें

रामपुर: कोहरे का कहर जारी, रोडवेज बसों की टक्कर में 11 लोग गंभीर घायल

रामपुर के शहजादनगर थाना क्षेत्र में हाईवे पर दो बसों की भिड़ंत हो गई। हादसे में 11 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। मेरठ और बरेली डिपो की रोडवेज की बसों आपस में टकरा गई। जिससे 11 लोग घायल हो गए हैं। घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बताया जा रहा है कि हादसा घने कोहरा की वजह से हुआ है।

वहीं इससे पहले बिलासपुर में नैनीताल हाईवे पर घने कोहरे के बीच दो कारें आपस में टकरा गई थीं। दोनों कारों की गति कम होने के कारण कोई घायल नहीं हुआ. मगर दोनों कारें क्षतिग्रस्त हो गई थीं। हादसे के बाद मौके पर काफी लोग एकत्र हो गए थे। दोनों कारें क्षतिग्रस्त होने के कारण दोनों के चालक आपस में भिड़ने लगे। बाद में लोगों ने समझाकर विवाद को शांत करा दिया। 

उधर गुरुवार को हयातनगर थाना क्षेत्र के गांव सौंधन में बेकाबू ट्रैक्टर ने बाइक सवार युवक को रौंद दिया था। गंभीर रूप से घायल युवक को पुलिस जिला अस्पताल लेकर पहुंची जहां चिकित्सक ने मृत घोषित कर दिया। इसकी जानकारी परिजनों को हुई तो कोहराम मच गया। गुस्साए ग्रामीणों ने जाम लगाने का प्रयास किया लेकिन पुलिस ने सख्त कार्रवाई का आश्वासन दिया तो जाम नहीं लगाया जा सका। हादसा उस समय हुआ जब युवक बाइक पर सवार होकर गांव में घूमने के लिए निकला था। 
... और पढ़ें

इतिहास के गवाह बनेंगे 600 स्वास्थ्य कर्मी, आज लगेगा कोरोना का टीका

कोरोना संक्रमण काल में जिले के 600 हेल्य केयर वर्कर आज टीका लगवाकर इतिहास के गवाह बनेंगे। कोरोना टीकाकरण को लेकर स्वास्थ्य विभाग की तैयारी पूरी है। शनिवार को जिले के छह केंद्रों पर छह सौ हेल्थ केयर वर्करों को वैक्सीन की पहली डोज दी जाएगी। इसके लिए क्रेंदों पर 36 स्वास्थ्य कर्मियों की ड्यूटी लगाई है। वहीं टीकाकरण की सूचना हेल्थ वर्करोंके मोबाइल पर एसएमएस के जरिए पहुंच गई है।

कोरोना वैक्सीन की 22950 डोज गुरुवार को ही मुरादाबाद पहुंच गई थी। शनिवार को टीकाकरण का इंतजार खत्म हो जाएगा। छह केद्रों पर हेल्थ केयर वर्करों को टीका लगाया जाएगा। इसमें चार सरकारी और दो निजी अस्पताल शामिल हैं। हर केंद्र पर सौ-सौ स्वास्थ्य कर्मियों का टीकाकरण किया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग के नोडल अफसरों की निगरानी में 36 कर्मचारियों की देखरेख में टीका लगाया जाएगा। इसके अलावा पुलिस कर्मियों और होमगार्डों की भी ड्यूटी लगाई गई है। वहीं शुक्रवार को स्वास्थ्य विभाग, यूनिसेफ, डब्ल्यूएचओ की टीम ने तैयारियों की समीक्षा की। टीकाकरण की ड्यूटी में लगे स्वास्थ्य कर्मियों को दोबारा प्रशिक्षण दिया गया।

- तैयारी पूरी है। शुक्रवार को ठाकुरद्वारा और बिलारी भी वैक्सीन की डोज भेज दी गई। छह केंद्रों पर 600 स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया जाएगा। इसके लिए जिम्मेदारी तय कर दी गई है। नोडल अधिकारी अपने-अपने केंद्रों पर नजर रखेंगे। शनिवार सुबह नौ बजे से शाम पांच बजे तक टीका लगाया जाएगा। - डा. एमसी गर्ग, सीएमओ
यहां होगा टीकाकरण
- जिला अस्पताल
- महिला अस्पताल
- विवेकानंद अस्पताल
- टीएमयू
- ठाकुदारा सीएचसी
- बिलारी पीएचसी
ये हैं इंतजाम
- 100 हेल्थ केयर वर्करों को हर केंद्र पर लगेगा टीका
- 110 डोज हर केंद्र पर भेजी गई
- 06 स्वास्थ्य कर्मियों की हर केंद्र पर लगाई गई ड्यूटी
हर केंद्र पर इनकी डयूटी
- टीका कर्मी, सत्यापन कर्मी, सहयोगी कर्मी, अतिरिक्त टीका कर्मी, मोबोलाइजर
हर केंद्र पर चार कक्ष
- रजिस्ट्रेशन कक्ष
- सत्यापन कक्ष
- टीकाकरण कक्ष
- निगरानी कक्ष
एक नजर पूर्वाभ्यास पर
- 05 जनवरी को 06 केंद्रों पर 194 स्वास्थ्य कर्मियों पर ड्राई रन, 37 स्वास्थ्य कर्मी नहीं आए
- 11 जनवरी को 27 केंद्रों पर 774 स्वास्थ्य कर्मियों पर ड्राई रन, 125 स्वास्थ्य कर्मी नहीं आए
... और पढ़ें

यूपी: भ्रष्टाचार का विरोध करने पर जनप्रतिनिधि को पति ने दिया तीन तलाक, देवर ने की दुष्कर्म की कोशिश

corona vaccine
मुरादाबाद जनपद की एक जनप्रतिनिधि ने अपने पति पर तीन तलाक देने और देवर पर दुष्कर्म की कोशिश का आरोप लगाया है। महिला की शिकायत पर पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

पीड़ित महिला का आरोप है कि पति ने सरकारी निर्माण कार्यों में भ्रष्टाचार किया था। जब महिला ने इसका विरोध किया तो पति ने उसके साथ मारपीट की। इस मामले में महिला ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। 

अब महिला के साथ फिर से मारपीट की गई है। पीड़ित महिला ने बताया कि रविवार की रात करीब 12 बजे पति देवर और नंदोई घर में घुस आए। तीनों ने महिला के साथ मारपीट की। इसके बाद पति ने तीन तलाक दे दिया। 

महिला ने आरोप लगाया है कि इस दौरान देवर ने उसके साथ दुष्कर्म की कोशिश भी की। थाना प्रभारी ने बताया महिला की शिकायत पर केस दर्ज कर लिया गया है।
... और पढ़ें

रामपुर: बिजलीघर के भूमि पूजन में ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन, विधायक के खिलाफ की नारेबाजी

उत्तर प्रदेश के रामपुर जिले में बिजलीघर निर्माण के लिए भूमि पूजन कार्यक्रम के दौरान ग्रामीणों ने जल निकासी की समस्या को लेकर प्रदर्शन कर विरोध जताया। गुस्साए ग्रामीणों ने बिजली विभाग के अफसरों को कार्यक्रम स्थल पर जाने से रोक दिया। 

साथ ही भाजपा विधायक के खिलाफ भी जमकर नारेबाजी की। ग्रामीणों के प्रदर्शन की सूचना पर प्रशासन में भी हड़कंप मच गया। एसडीएम समेत तमाम अधिकारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए और बमुश्किल ग्रामीणों को शांत कराया।

तहसील क्षेत्र के गांव पट्टी फजीलाबाद में दस एमवीए के बिजलीघर बनने के लिए सोमवार को भूमि पूजन रखा गया था। इस भूमि पूजन में भाजपा विधायक राजबाला को शिरकत करनी थी। भूमि पूजन से पूर्व विद्युत विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों ने पूरी तैयारी कर ली थी। 

ग्रामीणों ने इस बिजलीघर का विरोध प्रदर्शन करना शुरू कर दिया। ग्रामीणों का कहना था कि प्रधान, लेखपाल ने गलत भूमि का प्रस्ताव कर दिया है। इस बिजलीघर के बनने से गांव की ओर से जाने वाले जंगल का रास्ता बंद हो जाएगा और गांव के जल की निकासी भी बंद हो जाएगी। 

इस दौरान विद्युत विभाग के अधिकारियों की गाड़ी पहुंचने पर ग्रामीणों ने बिजलीघर जाने से रोक दिया। नाराज ग्रामीणों ने विधायक हाय-हाय के नारे लगाए और विधायक के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया। 

सूचना पर एसडीएम राकेश कुमार गुप्ता, तहसीलदार महेंद्र बहादुर सिंह और कोतवाल शिवचरन सिंह भी मौके पर पहुंच गए। इनको भी ग्रामीणों ने रोकने का प्रयास किया। जिसके बाद एसडीएम ने प्रदर्शन कर रहे ग्रामीणों से बातचीत की। बातचीत में ग्रामीणों ने पूरी बात बताई। इस दौरान एसडीएम ने विद्युत विभाग से नक्शा मांगा। 

एसडीएम राकेश कुमार गुप्ता ने दूसरी ओर से रास्ता देने का आश्वासन दिया। जिसके बाद ग्रामीणों का गुस्सा शांत हुआ। इस दौरान विधायक राजबाला भी अपने समर्थकों के साथ गांव पहुंच गईं। नाराज ग्रामीणों ने विधायक के भूमि पूजन में बैठने का विरोध किया और महिलाओं ने जमकर हंगामा किया। 

भूमि पूजन में एसडीएम राकेश कुमार गुप्ता, अधीक्षण अभियंता संजय कुमार गर्ग, तहसीलदार महेंद्र बहादुर सिंह, नायब तहसीलदार हर्ष कुमार, विधायक पति दिलीप सिंह लोधी उपस्थित रहे।
 
... और पढ़ें

किसान की हत्या करके खेत में फेंका शव

पाकबड़ा/मुरादाबाद। पाकबड़ा थानाक्षेत्र के गिन्नौर दी माफी गांव में एक किसान की गला दबाकर हत्या कर दी गई। सोमवार सुबह उसका शव खेत में मिला तो क्षेत्र में सनसनी फैल गई। सूचना मिलने पर मौके पर पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। पीएम रिपोर्ट में गला दबाकर हत्या की पुष्टि हुई है। पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ हत्या का केस दर्ज जांच शुरू कर दी है।
थाना क्षेत्र के गिन्नौर दी माफी गांव निवासी संजय उर्फ लाला (35) पुत्र छोटे लाल सिंह पेशे से किसान थे। उसकी शादी 2006 में जगवती देवी के साथ हुई थी, लेकिन शादी के दो साल बाद ही उसका तलाक हो गया था। संजय उर्फ लाला अपने पिता और मां माया देवी के साथ रहता था। संजय का बड़ा भाई ओमकार सिंह और छोटा भाई राज कुमार है। रविवार शाम करीब पांच बजे किसान को घर के पास ही घेर में देखा गया था इसके बाद से किसान गायब था। सोमवार सुबह उसकी लाश गांव के पास मालीपुर रतनपुर कलां गांव को जाने वाले रास्ते पर एक खेत में पड़ी मिली। ग्रामीणों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। सूचना मिलते ही पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव अपने कब्जे में ले लिया। किसान का पूरा शरीर मिट्टी में सना हुआ था। किसान के मुंह और सीने पर खून लगा हुआ था। शरीर पर चोटों के निशान थे। पुलिस ने आशंका जताई है कि हत्या से पहले किसान और हत्यारों के मारपीट और संघर्ष हुआ था। घटना की जानकारी पाकर एसएसपी प्रभाकर चौधरी, एसपी सिटी अमित आनंद भी मौके पर पहुंचे। मृतक के भाई राजकुमार सिंह ने बताया की किसान के शव को गांव के बीच एक खेत से खींच कर करीब पांच सौ मीटर दूर मालीपुर रतनपुर कलां गांव के रास्ते पर डाला गया है। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट से खुलासा हुआ है कि किसान की गला दबाकर हत्या की गई थी। उसके शरीर पर भी चोटों के निशान मिले हैं। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रभाकर चौधरी ने बताया कि अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।
एक माह पहले गांव में हुआ था संजय का विवाद
पाकबड़ा। संजय के भाई ने पुलिस को बताया कि 12 दिसबंर को फैक्टरी से लौटते समय गांव के ही गुड्डू का विवाद दूसरी जाति के युवकों के साथ हो गया था। आरोप है कि गुड्डू के साथ मारपीट की गई थी। इसके बाद गुड्डू संजय के पास आया था और उसने पूरी घटना की जानकारी संजय को दी थी, तब किसान उसे लेकर थाने गया था। पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने गुड्डू और गांव निवासी एक अन्य युवक के खिलाफ शांतिभंग की आशंका में कार्रवाई की थी। बाद में किसान के पैरवी करने पर निषेधात्मक कार्यवाही कर दी थी। मृतक के भाई राज कुमार सिंह ने बताया कि किसान का किसी से कोई विवाद नहीं हुआ था। वह तो गुड्डू की पैरवी करने को थाने पर गया था, लेकिन इसके बाद भी पुलिस ने दबाव में आकर किसान का नाम भी निषेधात्मक कार्यवाही में दर्ज कर लिया था। परिजनों का कहना है कि उसका तो बस इतना कसूर था कि वो पीड़ित की पैरवी करने को थाने गया था।
हत्या से गांव में तनाव की स्थिति
पाकबड़ा। संजय की हत्या के बाद गांव में तनाव फैला की स्थिति बनी हुई है। इसे देखते हुए गांव में पुलिस बल भी तैनात किया गया है।
एक खेत में जाकर रुक गया डॉग
पाकबड़ा। पाकबड़ा थानाक्षेत्र के गांव गिन्नौर दी माफी गांव में हुई हत्या की जानकारी मिलने पर एसएसपी प्रभाकर चौधरी व अन्य अधिकारी भी मौके पर पहुंचे थे। इसके बाद फॉरेंसिक टीम और डॉग स्वाक्यड भी मौके पर बुला लिया गया था। किसान शाम पांच बजे घर से चला था। इसके बाद उसको किसी ने नहीं देखा था। एक खेत में खून पड़ा मिला है।फॉरेंसिक टीम ने खेत से नमूने इकट्ठा किए हैं। इस खेत को सुबह तड़के ही जोता गया था। इसके अलावा डॉग भी उसकी खेत में आकर रुक गया, जिस खेत को तड़के जोता गया है। पुलिस की जांच भी इस खेत के इर्द गिर्द की घूम रही है।
... और पढ़ें

ट्रेन से कटकर मासूम भाई-बहन की मौत

छोटी बहन को बचाया, फिर भाई को बचाने दौड़ी फातिमा पर ट्रेन की स्पीड से हार गई, भाई बहन दोनों की चली गई जान
- रेलवे ट्रैक पर जा रहे बड़े भाई इसहाक को बचाने दौड़ी थी पांच वर्षीय फातिमा, दोनों की गई जान
- फातिमा ने ढाई वर्षीय गुड़िया को धक्का देकर बचाई जान
अमर उजाला ब्यूरो
मुरादाबाद।
रेलवे ट्रैक पर तेज रफ्तार ट्रेन से अपने भाई बहन को बचाने के चक्कर में फातिमा बिजली की तरह दौड़ी और छोटी बहन को धक्का देकर ट्रैक से दूर कर दिया। फिर भाई को भी बचाना चाहा पर ट्रेन की स्पीड ज्यादा थी। इस कोशिश में खुद भी इसकी चपेट में आ गई। भाई बहन दोनों की ही जान चली गई।
कबीर नगर निवासी बब्बू की पांच वर्षीय बेटी फातिमा पड़ोस के घर से कुरान शरीफ पढ़कर लौट रही थी। वह प्रेम वंडर लैंड के समीप बने फ्लाई ओवर के नीचे से गुजर ही रही था उसने देखा कि उसका आठ वर्षीय भाई इसहाक व छोटी बहन ढाई वर्षीय गुड़िया एक साथ ट्रैक से गुजर रहे हैं। उनके पीछे से ट्रेन आती दिखाई दी तो फातिमा बिजली के तेजी से दौड़ी। वह चिल्लाई पर भाई बहन ने ट्रेन की आवाज में सुनी नहीं। ऐसे में उसने बिजली की तेजी से अपनी बहन को धक्का दिया जो ट्रैक से दूर जा गिरी और उसकी जान बच गई। भाई को बचाने के लिए जैसे ही वह उस पर झपटी तो ट्रेन आ गई और उसने दोनों को ही अपनी चपेट में ले लिया। यह पूरा वाकया वहां प्रत्यक्षदर्शियों ने इन बच्चों के पिता को बताया। प्रत्यक्षदर्शियों ने भी चिल्लाकर उन्हें बचाने की कोशिश की पर बच्चों तक आवाज नहीं जा पाई। अब इस परिवार में छोटी बेटी गुड़िया सदमे से सहम गई है और बड़ा बेटा इरफान (16) दुखी मां को संभालने में लगा है।
मौके पर पहुंचे एसएसपी
हादसे के बाद दुर्घटनास्थल पर पहुंचे लोगों ने इसकी सूचना परिजनों को दी तो घर में मातम छा गया। बच्चों के पिता बब्बू निवासी कबीर नगर रोते बिलखते हुए रेलवे ट्रैक पर पहुंचे और बच्चों के क्षत विक्षत शव देखकर बेसुध हो गए। लोगों ने उन्हें संभाला और सांत्वना दी। घटना की सूचना एसएसपी प्रभाकर चौधरी को व्हाट्सएप के जरिए मिली। जीआरपी का क्षेत्र होने के बावजूद वह तुरंत घटनास्थल पर पहुंचे और रेलवे पुलिस द्वारा शवों को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। बच्चों के पिता ने बताया कि डीएम राकेश कुमार सिंह और एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने परिवार की आर्थिक मदद के लिए शासन से अपील करने का आश्वासन दिया है।
... और पढ़ें

किशोरी को अगवाकर किया दुष्कर्म

मुरादाबाद। पाकबड़ा थानाक्षेत्र में रहने वाली एक किशोरी को अगवा उसके साथ दुष्कर्म किया गया। किशोरी के पिता ने एसएसपी कार्यालय में प्रार्थना पत्र देकर आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।
पीड़ित किशोरी का परिवार पाकबड़ा थानाक्षेत्र में रहता है। किशोरी के पिता ने सोमवार को एसएसपी कार्यालय में प्रार्थना पत्र दिया। इसमें उन्होंने बताया कि उसकी 16 वर्षीय बेटी को रामपुर जनपद के मिलक थानाक्षेत्र के गांव निवासी युवक एक माह पहले बहला फुसलाकर अपहरण ले गया था। पीड़ित ने इस मामले की शिकायत पाकबड़ा थाने में की थी, तब पुलिस कर्मियों ने आरोपी के मोबाइल नंबर पर कॉल की तो उसने किशोरी को बस में बैठा दिया था और खुद फरार हो गया था। पुलिस ने किशोरी को बरामद करने के बाद परिजनों की सुपुर्दगी में दे दी थी। पिता का आरोप है कि किशोरी ने बताया था कि उसके साथ दुष्कर्म किया गया था और आरोपी ने वीडियो भी बनाया था। अब आरोपी किशोरी के परिवार को कॉल कर धमकी दे रहा है कि उसके पास वीडियो है, जिसे वह सोशल मीडिया पर वायरल कर देगा। आरोपी शादी के लिए दबाव बना रहा है। एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने पाकबड़ा थाना प्रभारी को जांच कर केस दर्ज करने के आदेश दिए हैं।
... और पढ़ें

शहर के दो जान में जल्द डोर टू-डोर कूड़ा कलेक्शन करेंगी दिल्ली-चंडीगढ़ की फर्म

शहर में जल्द कूड़ा क
मुरादाबाद। शहर के 38 वार्ड में बंद चल रहा डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन का काम जल्द शुरू होने वाला है। इसके लिए तीन कंपनियों से बात हो गई है। इनमें से चंडीगढ़ और दिल्ली की दो फर्मों से आज अनुबंध हो सकता है। जिसके बाद ये फर्म काम शुरू कर देंगी। दोनो फर्मों को शहर के तीन वार्डों में काम दिया जाएगा। एक अन्य फर्म से भी जल्द अनुबंध होने का दावा है। नगर निगम का दावा है कि शहर के प्रत्येक घर तक यह टीमें पहुंचेंगी।
शहर में कुल 70 वार्ड हैं। 32 वार्ड में एक प्राइवेट कंपनी डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन कर रही है, जबकि 38 वार्ड में ये काम बंद हैं। नगर निगम के कर्मचारियों पर ही कूड़ा कलेक्शन का काम देख रहे हैं लेकिन कर्मचारियों की संख्या सीमित होने की वजह से ये काम सही ढंग से नहीं हो रहा है। जिस कारण लोग अपने घर के आसपास ही कूड़ा डाल रहे हैं। अब नगर निगम ने शहर में कूड़ा कलेक्ट करने को तीन कंपनियों से बात की है। नगर निगम की ओर से डोर-टू डोर कूड़ा कलेक्शन का काम देख रहे हिमांशु कुमार ने बताया कि दिल्ली, चंडीगढ़ और लखनऊ की तीन फर्मों से बात फाइनल हो चुकी है। इनमें चंडीगढ़ और दिल्ली की दो फर्मों से सोमवार को अनुबंध होना था लेकिन किसी कारणवश से नहीं हो सका। अब मंगलवार को उक्त फर्मों से अनुबंध होगा। इसके बाद ये दोनों फर्म काम शुरू कर देंगी। इनमें चंडीगढ़ की फर्म को नौ और दिल्ली की फर्म को 19 वार्ड में काम दिए जाने की तैयारी है। बाकी बचे 10 वार्ड तीसरी फर्म का अनुबंध होने पर उसे दिए जाएंगे। लोगों से कलेक्शन चार्ज में कोई बदलाव नही होगा, जो चार्ज पहले लिया जाता था वही अब वसूला जाएगा। सहायक नगर आयुक्त गंभीर सिंह ने बताया कि अनुबंध होते ही ये फर्म काम शुरू कर देंगी।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X