विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus in Uttar Pradesh Live Updates: यूपी में एक दिन में 14 नए मरीज, अब तक 65 लोग कोरोना संक्रमित

यूपी में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। शनिवार को एक ही दिन 14 नए मरीज सामने आने के साथ ही प्रदेश में संक्रमितों की संख्या 65 हो गई है।

28 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

पीलीभीत

शनिवार, 28 मार्च 2020

नमाज पढने के लिए मस्जिद में जुटी भीड़, इमाम समेत 100 पर एफआईआर

पीलीभीत। लॉकडाउन का उल्लंघन करते हुए बेलों वाली मस्जिद में नमाज पढ़ने के लिए पहुंची भीड़ पर पुलिस ने सिपाही की तहरीर पर इमाम समेत 100 लोगों के खिलाफ धारा 188 के तहत एफआईआर दर्ज की है।
कोरोना वायरस को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लॉकडाउन की घोषणा के साथ ही धार्मिक स्थलों पर भीड़ एकत्र न करने की अपील की थी। इसका सख्ती से पालन कराने के लिए थाना प्रभारियों को निर्देशित किया गया है। धर्मगुरुओं की अपील के बावजूद बुधवार को बेलों वाली मस्जिद में करीब सौ लोग पहुंच गए और नमाज पढ़ने लगे। गश्त पर निकले सिपाही मनीष यादव ने मस्जिद में भीड़ देखी। सभी को समझाने का प्रयास किया, लेकिन कोई नहीं माना। नमाज पढ़ने के बाद सभी पास में ही चौराहा पर समूह में एकत्र हो गए। मस्जिद के इमाम मुजम्मिल खां को भी बुला लिया। कोतवाली में सूचना दी गई, जिसके बाद अतिरिक्त पुलिस बल के पहुंचने से पहले सभी चले गए। कोतवाल श्रीकांत द्विवेदी ने बताया कि सिपाही की ओर से पूरनपुर क्षेत्र के गांव महोलिया रामपुर के रहने वाले इमाम मुजम्मिल खां समेत करीब एक सौ लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। इनमें मोहल्ला भूरे खां निवासी मोहम्मद रिजवान, सिराज, फैजान, उस्मान, शाहिद, मोहम्मद गाजी, अनवर, मोहम्मद इमरान, मेराज, जफर कादरी, भूरा कुरैशी, मदीनाशाह निवासी बाबू, देशनगर निवासी दानिश, मोहल्ला शेर मोहम्मद निवासी मोहम्मद अजीम और मोहल्ला मुनीर खां निवासी फैजान को नामजद किया गया है, बाकी अज्ञात हैं।
बरखेड़ा में 20 के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज
बरखेड़ा। लॉकडाउन के बीच बिना किसी काम के घर से निकलने वाले लोगों पर कार्रवाई करते हुए निषेधाज्ञा के उल्लंघन का मामला दर्ज किया है। जारी है। गाजीपुरकुंडा गांव के रहने वाले महेंद्रपाल, रामबाबू, रामगुन, तोताराम, वार्ड नंबर आठ निवासी देवेंद्र सिंह, मोहम्मद उवैस, वार्ड नंबर तीन निवासी आशी गुप्ता, वार्ड नंबर 10 निवासी शमशुल, वार्ड नंबर छह निवासी मोहम्मद नजफ, भैंसहा ग्वालपुर गांव निवासी दुर्गाप्रसाद, पौटाकलां गांव निवासी मिश्किन अहमद, जहीर अहमद, मोहम्मद सैफ, शोएब, सोनू, धर्मेंद्र कुमार, लियाकत हुसैन, भैंसहा सतरापुर गांव निवासीर रामेश्वर दयाल, ज्योराह कल्याणपुर निवासी राजेश कुमार को आरोपी बनाया हैै।
लॉकडाउन का पालन कराने के लिए सख्ती की जा रही है। निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने पर एफआईआर दर्ज की गई हैं। अब तक 1317 वाहनों के चालान किए गए हैं, 53 वाहन सीज किए गए हैं। वहीं 504601 रुपये जुर्माना वसूला है। -अभिषेक दीक्षित, एसपी
बीसलपुर में 33 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज
बीसलपुर। 21 दिन के लॉकडाउन में सड़कों पर बिना मतलब घूमने निकले 33 लोगों पर पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है। कोतवाल केशव कुमार तिवारी ने बताया कि मोहल्ला ग्यासपुर निवासी अंसार, मोहल्ला हबीबुल्ला खां शुमाली निवासी असलम, आलम, गांव अहिरपुरा निवासी सुनील, जयदेव, योगेंद्र, इमलिया मरौरी निवासी सलीम, इरशाद, गांव परसिया निवासी सत्यपाल, जितेंद्र, मेवाराम, इरफान, कृपाल, विकास, रोहिताश, रामऔतार, जगदीश, छविनाथ, मेवाराम , लीलाधर, प्रेमपाल, संजीव, दिनेश, लीलाधर, सरोज कुमार, ओमकार, परमेश्वरी दयाल, रामनिवास, दुर्गपाल, रामसिंह, मुन्नालाल, बबलू, गांव अमृता खास निवासी राजेश, और अजीत समेत 33 लोगों को आरोपी बनाया गया है। संवाद
भट्ठा मालिक पर भी एफआईआर
न्यूरिया। लॉकडाउन के बीच देवीपुरा गांव निवासी भट्ठा मालिक नफीस मजदूरों को बुलाकर ईंट भट्ठा पर पथाई कराने लगे। बृहस्पतिवार दोपहर सूचना मिलने पर सुहास चौकी इंचार्ज सुभाष चंद्र ने भट्ठा पर दबिश दी तो भट्ठा मालिक भाग गया। मजदूरों को कोरोना वायरस की भीषणता समझाकर वापस घर भेज दिया गया। इंस्पेक्टर जेपी सिंह ने बताया कि भट्ठा मालिक के खिलाफ धारा 188 की रिपोर्ट दर्ज की गई है।
बिना काम घूमने में 13 और फंसे
न्यूरिया। पुलिस ने बिना काम घरों से बाहर निकलने पर मोहल्ला खेड़ा निवासी प्रेमराज, प्रेमशंकर, राधेश्याम, मोहल्ला ठाकुरद्वारा निवासी मशहर अली, साजिश, बंगाली कॉलोनी निवासी गोपाल, मझोला निवासी नफीस अहमद, सत्यपाल, धर्मपाल, यूसुफ, उमेश, आरिफ, पप्पू समेत 13 के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की।
... और पढ़ें

चंडीगढ़ से दो ऑटो में सवार होकर पीलीभीत आ गए 12 लोग

पीलीभीत। देश में लॉकडाउन होने के बाद हर राज्य की सीमाएं सील हैं। इसके बावजूद चंडीगढ़ से दो ऑटो लेकर माधोटांडा के 11 और गजरौला का एक व्यक्ति पीलीभीत आ गया। उन्हें सुनगढ़ी पुलिस ने रोका और डॉक्टरों की टीम से परीक्षण कराकर घरों पर क्वारंटीन कराया। इसकी सूचना स्थानीय थाना पुलिस को भी दी गई है।
माधोटांडा के 11 और गजरौला क्षेत्र का एक व्यक्ति कई महीनों से चंडीगढ़ में रहकर काम करते थे। इनमें कोई ऑटो चलाता था तो कोई मजदूरी करता था। लॉकडाउन होने के बाद घर वापसी के लिए तीन दिन पहले ये सब अपने ही दो ऑटो लेकर घर के लिए चल दिए। अंतर्राज्यीय सीमा पर रास्ते में कहीं पर भी इन्हें रोका नहीं गया। बृहस्पतिवार शाम को एसएसआई सुनगढ़ी कोतवाली सतीश चंद बाजपेई टीम के साथ गौहनिया चौराहा पर तैनात थे। उनके नेतृत्व में पुलिस टीम ने इन लोगों को यहां रोक लिया। एसएसआई ने बताया कि सभी को परीक्षण के बाद घर पर अकेले रहने की हिदायत देकर भेज दिया है। इसकी सूचना गजरौला और माधोटांडा पुलिस को दे दी गई है।
संक्रमित महिला की दो बेटियां और दामाद सीएचसी में क्वारंटीन
पीलीभीत। सऊदी अरब से लौटी महिला के कोरोना संक्रमित मिलने के बाद उसकी दो बेटियों और दो दामाद को स्वास्थ्य विभाग ने स्क्रीनिंग करने के बाद सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अमरिया में क्वारंटीन वार्ड में शिफ्ट किया गया है। स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ. लोकेश गंगवार ने बताया कि संक्रमित मिली महिला के सऊदी अरब से घर वापस आने पर उनकी दो बेटियां और दो दामाद भी उनसे मिले थे।
... और पढ़ें

सैनिटाइजर की कालाबाजारी पर मेडिकल स्टोर संचालक पर एफआईआर

पूरनपुर। सैनिटाइजर की कालाबाजारी करना मेडिकल स्टोर संचालक को महंगा पड़ा। ड्रग इंस्पेक्टर बबिता रानी ने मेडिकल स्टोर संचालक आकाश आनंद पर आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत एफआईआर दर्ज करा दी। इससे पहले पीलीभीत में सैनिटाइजर प्रिंटरेट से अधिक पर बेचने पर कार्रवाई की गई थी।
21 मार्च को डीएम से की गई शिकायत में स्टेशन चौराहा के पास आनंद मेडिकल स्टोर में सैनिटाइजर की कालाबाजारी करने का आरोप लगाया गया था। डीएम के निर्देश पर अधिकारियों ने आसपास के लोगों से संपर्क कर सैनिटाइजर की कालाबाजारी के बारे में जानकारी की तो मामला सही निकला था। सोमवार को एसडीएम हरिओम शर्मा, सीओ योगेंद्र कुमार, कोतवाल एसके सिंह के अलावा ड्रग इंस्पेक्टर बबिता रानी ने मेडिकल स्टोर पर जाकर कुछ मास्क और सैनिटाइजर कब्जे में लिए गए थे। इसमें सैनिटाइजर की ओवररेट बिक्री की बात सामने आई थी। ग्राहकों को बिल भी नहीं दिया जा रहा था। ड्रग इंस्पेक्टर ने बृहस्पतिवार को मेडिकल स्टोर संचालक पर एफआईआर दर्ज कराने के लिए तहरीर दी। कोतवाल एसके सिंह ने बताया कि मेडिकल स्टोर संचालक आकाश आनंद के खिलाफ आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत रिपोर्ट दर्ज की गई है।
... और पढ़ें

दूरदर्शन पर रामायण धारावाहिक शुरू होने से दौड़ी खुशी की लहर

पीलीभीत। तीन दशक पुरानी बात है। जब रामानंद सागर के बनाए धारावाहिक रामायण टेलीविजन के दूरदर्शन चैनल पर शुरू हुआ था तो उस समय सड़कें जाम हो जाती थीं। दर्शक घरेलू कामकाज छोड़कर दूरदर्शन पर धारावाहिक देखने दौड़ पड़ते थे। इतना ही नहीं, उस समय रामायण के सभी पात्रों को दर्शक भक्ति भाव से देखते थे। इसी धारावाहिक से ही टेलीविजन की भी बिक्री बढ़ गई थी। उसके बाद महाभारत सीरियल ने भी टेलीविजन खासतौर से दूरदर्शन की टीआरपी खूब बढ़ाई थी। बाद में यह ये दोनों धारावाहिक पूरे होने के बाद बंद हुए तो दूरदर्शन की टीआरपी भी कम हो गई।
लॉकडाउन के समय बिताने के लिए दर्शकों द्वारा की गई मांग पर केंद्र सरकार ने अब कई साल बाद रामानंद सागर के बनाया रामायण धारावाहिक ही दूरदर्शन पर दोबारा शुरू कराया है। यह धारावाहिक शनिवार से शुरू हो गया, प्रतिदिन सुबह नौ बजे और रात में 10 बजे से एक-एक घंटे का आएगा। यूं तो अब दूरदर्शन देखने वालों की संख्या बहुत कम है क्योंकि अब तमाम अन्य निजी चैनलों की दर्शकों के बीच टीआरपी अधिक है। मगर, सरकारी टीवी चैनल दूरदर्शन पर रामायण धारावाहिक शुरू होने से दर्शकों में दौड़ी खुशी की लहर दौड़ गई है। बुजुर्ग, महिलाओं के अलावा बच्चे भी मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम का धारावाहिक देखने के प्रति उत्साहित हैं। बच्चों के लिए तो यह नया ही है। शनिवार को पहले एपिसोड में दिखाया गया-अयोध्या के महाराज दशरथ ने संतान न होने पर पुत्रेष्टि यज्ञ कराया। उसमें प्रसाद के रूप में मिली खीर तीन रानियों कौशिल्या, केकेयी और सुमित्रा को खिलाई।
वैसे तो हम दूरदर्शन कम देखते हैं। मगर, रामायण धारावाहिक शुरू होने के बाद हम रोजाना सुबह या शाम को नौ से 10 बजे तक भगवान राम की लीला जरूर देखेंगे। यह सबसे अच्छा धारावाहिक है। हमें भगवान राम की मर्यादा से सीख लेनी होगी। तभी समाज और संस्कृति बचेगी। नीरा शर्मा, गृहणी
दूरदर्शन पर रामायण धारावाहिक शुरू होना सबसे अच्छा कदम है। इस धारावाहिक को प्रत्येक घर में सबको देखना चाहिए, ताकि वह अपने बच्चों को बेहतर संस्कार दे सकें क्योंकि आजकल के बच्चे तमाम आधुनिक चीजें देखकर बिगड़ रहे हैं। वह हिंदू संस्कृति को भूलते जा रहे हें।
महंत ओमकार नाथ
... और पढ़ें

बिना काम घूमने वाले और 119 पर एफआईआर, पांच गिरफ्तार

पूरनपुर। लॉकडाउन के बीच बिना काम घूूमने वालों पर पुलिस ने 49 लोगों को नामजद करते हुए 119 लोगों के खिलाफ धारा 188 के तहत एफआईआर दर्ज की है। जबकि पांच लोगों को गिरफ्तार कर शांतिभंग में उनका चालान किया गया है।
लॉकडाउन की घोषणा के बाद कुछ लोग बाहर निकलने के लिए मान नहीं रहे हैं। पुलिस देखते ही अंदर हो जाते हैं। हटते ही घूमना शुरू कर देते हैं। लॉकडाउन का उल्लंघन करने में 400 से अधिक लोगों पर एफआईआर दर्ज होने के बाद भी यह सिलसिला थमा नहीं है। शनिवार को भी लोग नहीं मानें। पुलिस ने फिर इन पर कार्रवाई की। दरोगा विजय प्रकाश द्विवेदी ने बताया कि शेरपुर तिराहे पर धारा 144 का उल्लंघन करने पर 49 नामजद लोगों पर एफआईआर दर्ज की गई।
... और पढ़ें

लाकडाउन के चलते तीन चीनी मिलें बंद होने के कगार पर

पीलीभीत। लॉकडाउन के चलते जनपद की चार में से तीन चीनी मिलें बंद होने के कगार पर हैं। शहर की एलएच शुगर मिल को छोड़ दिया जाए तो पूरनपुर, बरखेड़ा और बीसलपुर में गन्ने की पर्याप्त आपूर्ति नहीं हो पा रही है। बीसलपुर किसान सहकारी चीनी मिल में कोरोना की दहशत के चलते कर्मचारी काफी कम संख्या में पहुंच पा रहे हैं। वहीं, पूरनपुर में वारदाना और चूना सप्लाई बाधित हो गई है। हर साल अधिकांश चीनी मिलें अप्रैल के आखिरी दिनों या फिर मई तक बंद होती थीं। इस बार अनिश्चितता की स्थिति बन गई है।
शहर की एलएच शुगर मिल पर फिलहाल लॉकडाउन का खास प्रभाव नहीं है। यह मिल पूरी क्षमता से गन्ना पेराई कर रही है। एलएच शुगर मिल में प्रतिदिन 1.20 लाख से 1.25 लाख क्विंटल गन्ने की पेराई होती है। किसानों को गन्ने का इंडेंट भी जारी किया जा रहा है। जीएम केबी शर्मा ने बताया कि किसानों से चीनी मिल को गन्ने की आपूर्ति लगातार हो रही है। लॉकडाउन के बाद भी किसानों से गन्ना मंगवाया जा रहा है। कोरोना के चलते लॉकडाउन के बाद मिल के स्टाफ को निश्चित दूरी बनाकर काम करने को कहा गया है। बाकी सैनिटाइजर और मास्क का इस्तेमाल किया जा रहा है।
बरखेड़ा मिल में गन्ने की आपूर्ति घटी
बरखेड़ा की बजाज हिंदुस्तान चीनी मिल में गन्ने की पेराई क्षमता 70 हजार क्विंटल प्रतिदिन है। लॉकडाउन से पहले चीनी मिल में प्रतिदिन 67. 68 हजार क्विंटल गन्ने की पेराई हो रही थी। अब गन्ने की आवक काफी कम हो चुकी है। गन्ने की पर्याप्त आवक न होने से चीनी का उत्पादन भी कम हो चुका है। कई क्रय केंद्रों पर किसान गन्ना नहीं ला रहे हैं। जीएम केन ललित तोमर ने बताया कि लॉकडाउन के बाद गन्ने की आपूर्ति कम हो गई है। फिर भी किसानों के हित में मिल चलाने का पूरा प्रयास किया जा रहा है।
चूने और वारदाना की कमी से जूझ रही पूरनपुर चीनी मिल
पूरनपुर। किसान सहकारी चीनी मिल चूने और वारदाना की कमी से जूझने लगी है। लॉकडाउन के चलते मिल को चूना और वारदाना नहीं पहुंच पा रहा है। इसे स्थानीय स्तर पर खरीदने की योजना बनाई जा रही है। अगर सप्ताह भर के अंदर चूना और वारदाना नहीं मिले तो स्थानीय चीनी मिल समय से पहले बंद हो सकती है। चूने का उपयोग गन्ना के रस को साफ कर चीनी बनाने के लिए किया जाता है। प्रतिदिन 40 से 50 क्विंटल चूने की खपत होती है। चीनी मिल में चूना राजस्थान से मंगवाया जाता है। हर सप्ताह ट्रक से चूना पहुंचता था। वारदाना कोलकाता से मंगवाए जाते थे। लॉकडाउन के चलते राजस्थान और कोलकाता से चीनी मिल में ये दोनों चीजें नहीं पहुंच रही हैं। जीएम वीपी पांडेय का कहना है कि चूना और वारदाना का स्टाक केवल 31 मार्च तक का है।
क्रय केंद्र बंद करने का नोटिस
पूरनपुर। चीनी मिल ने गन्ना की कमी पर एक दर्जन गन्ना क्रय केंद्रों को बंद करने का पहला नोटिस जारी कर दिया है। चंदुइया, अभयपुर माधोपुर, उदयकरनपुर गन्ना क्रय केंद्र बंदी का दूसरा नोटिस जारी किया है। तीसरा नोटिस क्रय केंद्र बंद होने के बाद जारी किया जाता है।
लॉकडाउन के चलते नहीं पहुंच रहा स्टाफ
बीसलपुर। लॉकडाउन के चलते चीनी मिल स्टाफ ड्यूटी पर नहीं पहुंच पा रहा है। इससे चीनी मिल का कामकाज प्रभावित हो रहा है। पेराई सत्र में प्रतिदिन लगभग 500 कर्मचारी मिल में काम करते हैं। इनमें 10 प्रतिशत कर्मचारी मिल की आवासीय कॉलोनी में रहते हैं, इन्हें ड्यूटी पर आने में दिक्कत नहीं है। बाकी 90 प्रतिशत कर्मचारी बाहर से आते हैं, जो लॉकडाउन के बाद नहीं आ पा रहे। उन्हें पुलिस बीच रास्ते ही लौटा देती है। चीनी मिल प्रशासन ने इन कर्मचारियों को परिचय पत्र जारी नहीं किए। कुछ कर्मचारी तो छिपकर किसी तरह ड्यूटी पर पहुंच जाते है लेकिन अधिकांश नहीं पहुंच पाते हैं। मिल में आधा स्टाफ भी नहीं पहुंच पा रहा है। इससे गन्ना तौल और कारखाने के विभिन्न पटलों का काम बंद हो गया है। क्रय केंद्रों पर भी गन्ना तौल रुक गई है। जीएम एसडी सिंह ने बताया कि कर्मचारियों को परिचय पत्र जल्द जारी कर दिए जाएंगे।
पूरनपुर चीनी मिल के पास पर्याप्त चूना और वारदाना है। आगे के लिए डिमांड भेजी है। प्रमुख सचिव स्वयं मॉनिटरिंग कर रहे है। उन्होंने सारी व्यवस्था की है। जहां कमी हो, वहां बताई जाए। उसे ठीक कराएंगे। बाकी मिलों की समस्या स्थानीय स्तर पर दूर करने के प्रयास चल रहे हैं। -जितेंद्र मिश्र, जिला गन्ना अधिकारी
... और पढ़ें

संक्रमित महिला के संपर्क में आए चार बेटी-दामादों जांच रिपोर्ट निगेटिव निकली

पीलीभीत। सऊदी अरब से लौटी अमरिया की कोरोना संक्रमित महिला की दो बेटियों और दोनों दामादों की जांच रिपोर्ट निगेटिव निकली। इसके बावजूद चारों लोग क्वारंटीन वार्ड में ही 14 दिन तक निगरानी में रहेंगे।
अमरिया क्षेत्र के 37 यात्रियों का जत्था सऊदी अरब से 20 मार्च को लौटा था। स्वास्थ्य विभाग की स्क्रीनिंग के दौरान मां-बेटे को संदिग्ध मानते हुए दोनों को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया था। खून की जांच में मां-बेटे कोरोना संक्रमित पाए गए थे। महिला के साथ आए अन्य सभी 35 संदिग्धों को क्वारंटीन वार्ड में शिफ्ट किया गया है। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग ने संक्रमित महिला और बेेटे इस बीच में मिलने वाले अन्य लोगों की तलाश शुरू कर की। जानकारी मिलने पर स्वास्थ्य विभाग ने संक्रमित महिला की दो पुत्रियों और दो दामादों को क्वारंटीन वार्ड में शिफ्ट कर उनके सैंपल भी जांच के लिए लखनऊ भेजे थे। इधर शनिवार को स्वास्थ्य विभाग को चारों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हो गई। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक चारों की रिपोर्ट निगेटिव पाई गई है। फिलहाल उन्हें अभी क्वारंटीन वार्ड में 14 दिन तक निगरानी में रखा जाएगा, हालांकि स्वास्थ्य विभाग ने काफी राहत महसूस की है। वहीं विभाग ने संक्रमित महिला से मिलने वाले अन्य लोगों की भी तलाश शुरू की है। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग की टीमें लगाई गई हैं। कुल मिलाकर अब तक पूरे जिले में दो ही लोगों में कोरोना का संक्रमण पाया गया है।
संक्रमित महिला के चार रिश्तेदारों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हो गई है। इसमें सभी निगेटिव पाए गए हैं। फिलहाल चारों को क्वारंटीन वार्ड में रखकर 14 दिन तक उनकी निगरानी की जाएगी। -डॉ. सीमा अग्रवाल, सीएमओ
... और पढ़ें

किराना समेत सभी जरुरी चींजे घर के दरवाजे पर मिलेंगी, बाहर न निकले

पीलीभीत। लॉकडाउन के दौरान किराना समेत अन्य खाद्य सामग्री लोगों के दरवाजे तक पहुंचेगी। प्रशासन ने तीन नगरपालिका समेत छह नगर पंचायतों में 271 दुकानदारों की सूची मोबाइल नंबर सहित जारी की है। फोन पहुंचने के बाद दुकानदार वार्ड सदस्य के साथ घर पहुंचकर बताया गया सामान उपलब्ध कराएगा। वार्डों में वितरण व्यवस्था पर अधिशासी अधिकारी पूरे समय नजर रखेंगे।
डीएम ने कहा कि आम नागरिकों को जरूरी सामान घर के दरवाजे पर मिलेगा। इसमें किराना और अन्य खाद्य सामग्री शामिल है। इसके लिए जनपद की सभी तीन नगरपालिका और छह नगर पंचायत क्षेत्र में वार्ड वार पड़ने वाली 271 किराना दुकानों की सूची मोबाइल नंबर सहित जारी की की गई है। इसके नोडल संबंधित वार्ड के सदस्य बनाए गए हैं। नगरपालिका पीलीभीत में 27 वार्डों में 53 किराना दुकानें सूची में शामिल हैं। बीसलपुर नगरपालिका क्षेत्र के 25 वार्डों में 50, पूरनपुर नगरपालिका क्षेत्र के 25 वार्डों में 46, जहानाबाद नगर पंचायत के 11 वार्डों में 19, गुलड़िया भिंडारा नगर पंचायत के 10 वार्डों में 10, बरखड़ा नगर पंचायत में 10 वार्डों में 21, कलीनगर नगर पंचायत में 10 वार्डों में 20, बिलसंडा नगर पंचायत क्षेत्र के 12 वार्डों में 24 और न्यूरिया नगर पंचायत क्षत्र के 14 वार्डों में 27 किराना दुकानों को शामिल किया गया है। डीएम वैभव श्रीवास्तव ने बताया कि इन दुकानदारों के मोबाइल नंबर पर संपर्क करने से जरूरत का सामान आसानी से दरवाजे पर ही उपलब्ध होगा। लॉकडाउन के दौरान लोगों को घर से बाहर निकलने की जरूरत नहीं है।
... और पढ़ें

घरों पर पढ़ी जुमे की नमाज, इस बार मस्जिदों में नहीं जुटी भीड़

पीलीभीत। धार्मिक स्थलों पर भीड़ न जुटने देने के लिए पुलिस और जिला प्रशासन की ओर से किए गए प्रयास जुमे की नमाज के दिन आखिर कामयाब दिखे। यह समझाने का ही असर था कि मस्जिदों में इस बार जुमे की नमाज सिर्फ इमामों ने अदा की, जबकि बाकी नमाजियों ने घरों पर ही नमाज पढ़ ली। इस बीच डीएम-एसपी समेत कई अधिकारी राउंड लेकर हालात पर नजर रखते रहे।
कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 दिन का लॉकडाउन किया है। इस दौरान लोगों से घरों में रहने की अपील की गई है। पिछले शुक्रवार के साथ ही लॉकडाउन होने के बाद भी हर दिन शहर की कुछ मस्जिदों में नमाज पढ़ने के लिए भीड़ पहुंच रही थी। इसको देखते हुए जुमे की नमाज पर पुलिस प्रशासन का खास फोकस था। कई दिनों से पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी इमामों और मुस्लिम धर्मगुरुओं से संपर्क साध रहे थे। कोरोना वायरस को देखते हुए मस्जिदों में भीड़ न जुटाने की अपील की गई थी। इस पर इमामों की ओर से भी आश्वस्त किया गया था। शहर काजी मौलाना जरताब रजा खां ने भी एक दिन पूर्व मुस्लिम समाज के लोगों से घरों पर नमाज पढ़ने की अपील की थी।
इसका असर शुक्रवार के दिन देखने को मिला। सुबह से ही मस्जिदों से एनाउंसमेंट कर लोगों से घरों में नमाज पढ़ने की अपील की जाती रही। इसका नमाजियों ने भी पालन किया। जामा मस्जिद समेत अन्य सभी मस्जिदों में केवल इमामों ने नमाज अदा की। बाकी नमाजी अपने घर पर ही नमाज अदा करते रहे। शहर से सटे जंगरौली गांव की एक मस्जिद में इसको लेकर कुछ असमंजस की स्थिति बनी। इंस्पेक्टर अतर सिंह ने मुस्लिम समाज के कुछ वरिष्ठ लोगों का सहयोग लेकर मामला सुलझा लिया। बाद में सिर्फ तीन लोगों ने ही मस्जिद में नमाज की। डीएम वैभव श्रीवास्तव, एसपी अभिषेक दीक्षित, सीओ सिटी प्रवीण मलिक, कोतवाल श्रीकांत द्विवेदी दोपहर में शाही जामा मस्जिद पहुंचे। नमाज होने तक बाहर रहकर हालात पर नजर रखी। उधर, एडीएम अतुल सिंह, एएसपी रोहित मिश्र ने शहर की अन्य मस्जिदों को लेकर भ्रमण किया। सभी जगह सकुशल नमाज अदा कराई गई। ग्रामीण इलाकों में भी पुलिस-प्रशासनिक टीमें नमाज को लेकर निगाह रखती रहीं। मस्जिद के इमामों से संपर्क कर एनाउंसमेंट कराया जाता रहा। अधिकांश मस्जिदों में सुबह से मेनगेट पर ताला लगा रहा।
जुमे की नमाज को लेकर भीड़ मस्जिदों में न जुटने की अपील की गई थी। इसमें नमाजियों ने भी पूरा सहयोग किया है। कोरोना वायरस को लेकर सभी से अपील है कि खुद भी सुरक्षित रहें और दूसरों को भी जागरूक करते रहें। - अभिषेक दीक्षित, एसपी
... और पढ़ें

प्रशासन ने जारी की खाद्या वस्तुओ की रेट लिस्ट

पीलीभीत। लॉकडाउन के बाद बाजार में शुरु हुई कालाबाजारी को रोकने के लिए प्रशासन ने सब्जियों के साथ अब खाद्य वस्तुुओं की रेट लिस्ट जारी कर दी है। डीएम वैभव श्रीवास्तव ने निर्देश दिए है दुकानदार इस रेट लिस्ट के हिसाब से ही सामान बेचेंगे। अगर कोई कालाबाजारी करते पकड़ा गया तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएंगी।
खाद्य वस्तु - थोक भाव - फुटकर भाव
आटा - - 2000.00 - 25.00 प्रतिकिलो
चावल मंसूरी - 2500.00 - 30 प्रतिकिलो
नमक - 800.00 - 13 प्रतिकिलो
चीनी - 3200 38 प्रतिकिलो
सरसों का तेल - 9500.00 - 100प्रतिकिलो
हल्दी - 15000.00 - 200 प्रतिकिलो
लाल मिर्च- 21000.00 - 250 प्रतिकिलो
दाल उरद - 7000.00 - 80 प्रतिकिलो
दाल मूंग - 9000.00 - 100 प्रतिकिलो
दाल अरहर - 8500.00 - 90 प्रतिकिलो
दाल मसूर - 8000.00 - 85 प्रतिकिलो
दाल चना - 6200.00 - 65 प्रतिकिलो
राजमा - 8000.00 - 85 प्रतिकिलो
------------------
... और पढ़ें

संक्रमित महिला के संपर्क में आये चार लोंगो के सैंपल जांच को भेजे

पीलीभीत। अमरिया की महिला के कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद उनसे मिलने वाले चार रिश्तेदारों के ब्लड सैंपल लेकर लखनऊ भेजे गए हैं। स्वास्थ्य विभाग ने इन सभी को घरों में ही क्वारंटीन किया है। इसके साथ इन सभी को घर बाहर न निकलने की हिदायत दी गई है। वहीं आइसोलेशन वार्ड में भर्ती संक्रमित मां- बेटे की हालत में सुधार है।
सऊदी अरब से 37 लोगों का जत्था अमरिया में 20 मार्च को लौटा था। जत्थे में शामिल सभी सदस्य बिना जांच कराए घरों में चले गए थे। स्वास्थ्य विभाग ने इसकी जानकारी मिलने के बाद 35 लोगों की स्क्रीनिंग कर क्वारंटीन वार्ड में ठहरा दिया था। इसमें जांच के दौरान एक महिला और उसके बेटे में कोरोना वायरस का संक्रमण पाया गया। संक्रमित मां- बेटे आइसोलेशन वार्ड में भर्ती हैं। इधर स्वास्थ्य विभाग की टीम जत्थे में शामिल लोगों के संपर्क में आने वालों को तलाश कर रही है। इसी बीच टीम को शहर के मोहल्ला भूरे खां और शेर मोहम्मद में रहने वाले चार रिश्तेदारों के महिला के संपर्क में आने की जानकारी लगी थी। इसके बाद स्वास्थ्य टीम ने उनके घर जाकर जांच पड़ताल की। जांच पड़ताल के बाद चारों लोगों का ब्लड सैंपल लेकर परीक्षण के लिए लखनऊ भेजा है। अधिकारी अब जांच रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं।
इधर जिला अस्पताल के डॉ. रमाकांत सागर ने बताया कि आइसोलेशन वार्ड में भर्ती मां- बेटे की हालत में सुधार देखा जा रहा है। सीएमओ डॉ. सीमा अग्रवाल ने बताया कि रविवार को दोनों का सैंपल फिर से जांच को भेजा जाएगा।
नेपाल से आए बुजुर्ग में मिले कोरोना के लक्षण
पूरनपुर। विदेशों और अन्य प्रदेशों से आए 180 लोगों की स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने जांच की। जांच में नेपाल से चार दिन पहले घर लौटे गांव गजरौला खास निवासी एक बुजुर्ग में कोरोना के लक्षण पाए गए। इसके बाद बुजुर्ग को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराने के लिए जिला अस्पताल भेज दिया गया।
प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ. सीपी सिंह ने बताया कि विदेश और अन्य प्रदेशों से क्षेत्र में आए लोगों की जांच के दौरान गांव गजरौला निवासी एक बुजुर्ग में कोरोना के लक्षण पाए गए। बुजुर्ग चार दिन पहले नेपाल से अपने गांव गजरौला खास आए थे। संवाद
... और पढ़ें

दो दुकानदारों पर दर्ज हुई एफआईआर

बीसलपुर। ग्रामीणों ने जरूरत की चीजों की कालाबाजारी करने की शिकायत की। पुलिस ने दो दुकानदारों पर जरूरी चीजों की कालाबाजारी करने में आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत रिपेार्ट दर्ज कर ली।
गांव अखौली निवासी भद्रसेन ने बताया कि उन्होंने मोहल्ला हबीबुल्ला खां शुमाली निवासी दुकानदार पवन कुमार से मूंगफली के दाने खरीदे। दुकानदार ने उनसे 10 रुपये अधिक वसूल लिए। दूसरी ओर बरेली के थाना भुता क्षेत्र के गांव शेखापुर निवासी अनिकेत शर्मा ने बताया कि उन्होंने शुक्रवार को मोहल्ला हबीबुल्ला खां शुमाली निवासी किराना व्यापारी मुईन अहमद से चीनी, तेल, चावल, आटा और दाल खरीदी। दुकानदार ने उनसे 356 रुपये अधिक ले लिए। जब उसने विरोध किया तो दुकानदार ने उसकी बात नहीं सुनी। ग्रामीणों ने कोतवाली में दुकानदारों के विरुद्ध नामजद तहरीर दी। कोतवाल केशव तिवारी ने बताया कि ग्रामीणों की तहरीर आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत नामजद रिपोर्ट दर्ज कर ली। पुलिस दुकानदारों की तलाश की गई, लेकिन वे नहीं मिले। संवाद
... और पढ़ें

माला कॉलोनी में बाघ दिखने से मचा हड़कंप...वीडियो वायरल

गजरौला। माला कॉलोनी में सप्ताह भर पहले बाघ ने महिला को अपना निवाला बनाया था। इस घटना के बाद शुक्रवार को एक बार कॉलोनी में बाघ दिखाई दिया। इससे कॉलोनी में हड़कंप मच गया। इस बीच कार सवार कुछ लोगों ने घूम रहे बाघ की वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दी। सूचना पर गजरौला इंस्पेक्टर ने वन विभाग की टीम के साथ मौके पर जाकर जांच पड़ताल की। उनकी ओर से ग्रामीणों को सतर्क रहने की बात कही गई। निगरानी के लिए टीम को मौके पर लगा दिया गया है। हालांकि बाघ झाड़ियों से होकर जंगल में चला गया।
माला रेंज के गांव माला कॉलोनी में रहने वाली एक महिला को करीब 7 दिन पहले बाघ ने अपना निवाला बना लिया था। घटना के बाद वन विभाग की टीम निगरानी करती रही। उस समय आसपास क्षेत्र में बाघ दिखाई नहीं दिया था। शुक्रवार दोपहर कुछ लोगों ने माला कॉलोनी में रेलवे स्टेशन के पास झाड़ियों में बाघ को घूमते देखा। बाघ देखकर ग्रामीणों में हड़कंप मच गया। इस बीच कुछ कार सवार मौके पर पहुंच गए और उन्होंने बाघ की वीडियो बना ली। वीडियो को सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया गया। जानकारी होने पर गजरौला इंस्पेक्टर जयप्रकाश सिंह ने माला रेंजर रामजी और अन्य स्टाफ के साथ मौके पर जाकर जांच पड़ताल की। वन विभाग और पुलिस टीम को मौके पर बाघ तो नहीं मिला लेकिन फिर भी ग्रामीणों को सतर्क रहने की बात कही गई। माला रेंजर राम जी ने बताया निगरानी के लिए टीम को मौके पर लगा दिया गया है। बाघ झाड़ियों से होता हुआ जंगल में चला गया।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us