विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
एक माह तक वृंदावन बिहारी जी मंदिर में कराएं चन्दन तुलसी इत्र सेवा , मिलेगा नौकरी व व्यापार से जुड़े समस्याओं का समाधान
Puja

एक माह तक वृंदावन बिहारी जी मंदिर में कराएं चन्दन तुलसी इत्र सेवा , मिलेगा नौकरी व व्यापार से जुड़े समस्याओं का समाधान

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

बैंकों में ताला, एटीएम में खत्म हो गए रुपये 

माह का चौथा शनिवार होने के कारण बैंकों में जहां ताला लटकता रहा, वहीं एटीएम में दोपहर बाद रुपये खत्म हो गए। इससे ईंद की खरीदारी करने के लिए निकलने वाले ग्राहकों को झटका लगा। मजबूरी में अधिकांश ग्राहकों को लौटना पड़ा। 

सोमवार को ईद है। मुस्लिम भाई त्योहार की तैयारी में लगे हुए हैं। शनिवार को दोपहर में धूप तेज होने के बाद जब वह शाम को बाजारों खरीदारी करने पहुंचे तो देखा कि एटीएम में रुपये ही नहीं हैं। रविवार और सोमवार को बंदी होने से उनकी समस्या और गहरा गई है। दरअसल, माह का चौथा शनिवार होने के कारण बैंकों में ताला लटकता रहा, जबकि एटीएम में दोपहर बाद रुपये निकलना बंद हो गए।

जो लोग घर से नगदी लेकर निकले थे, वह तो खरीदारी करते रहे, मगर जो एटीएम के भरोसे से थे उन्हें वापस होना पड़ा। हालांकि कुछ दुकानदारों ने स्वैप मशीन लगा रखी थी, जिससे वह डेविड कार्ड से भुगतान करने में सफल रहे। इससे सबसे अधिक नुकसान फुटकर दुकानदारों का हुआ। एसबीआई के चीफ मैनेजर जीपी निगम ने बताया कि रविवार को अवकाश होने के  बाद भी एटीएम में रुपये डाले जाएंगे।
... और पढ़ें

illiterate will be literate in mission of government

 जिले की महिलाओं और पुरुषों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए जमीनी पहल प्रारंभ की जा रही है। शहर और गांव के निरक्षर लोगों को साक्षर करने के लिए पढ़ला-लिखना अभियान प्रारंभ किया जाएगा। लॉकडाउन के प्रारंभ होने वाली इस योजना से गांव के महिलाओं,पुरुषों को जागरूक किया जाएगा। इससे वह अपनी पसंद के मुताबिक रोजगार का चयन कर सकेंगे।

जिले में अभी भी 7,53,149 लोग अशिक्षित हैं। इसमें 2,15,028 पुरुष और 5,38,121 महिलाएं शामिल हैं। इन लोगों को साक्षर करने के लिए बेसिक शिक्षा विभाग से पढ़ना-लिखना अभियान प्रारंभ किया जा रहा है। साक्षर भारत मिशन के तर्ज पर यह अभियान प्रारंभ होगा, जो शहर और गांव के निरक्षर लोगों की सूची तैयार करने के साथ ही उन्हें शिक्षित करने का प्रयास करेंगे।

लॉकडाउन के चलते अभी यह अभियान गति नहीं पकड़ रहा है। मगर जुलाई में गति पकड़ने की संभावना है। साक्षर भारत मिशन के तहत जिले भर की ग्राम पंचायतों में प्रेरकों की तैनाती कर रखी थी। मगर योजना के समाप्त होते ही निरक्षरों को साक्षर करने के दिशा में कोई पहल नहीं हुई। मगर दो माह के लॉकडाउन और प्रवासी मजदूरों की संख्या में लगातार इजाफा होने से अब इन लोगों को स्वरोजगार से जोड़ने की पहल हो रही है। 

अशिक्षित लोगों को साक्षर करने से वह अपने नुकसान और फायदे की बात सोच सकेंगे। इसीलिए शासन ने एक तरफ रोजगार मुहैया कराने के लिए दरवाजे खोल दिया है, वहीं निरक्षर लोगों को साक्षर करने के लिए भी व्यापक अभियान प्रारंभ होने जा रहा है। 

साक्षर भारत मिशन के तहत जिले के प्रेरकों का लगभग 24 माह का मानदेय बकाया है। प्रेरकों की मांग के बाद भी बकाया भुगतान के लिए अभी तक कोई पहल नहीं हुई है। ऐसेे में प्रेरक दुबारा कार्य करने को कैसे राजी होंगे। इस पर संशय बना हुआ है। फिलहाल अभी यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि निरक्षरों को साक्षर करने की जिम्मेदारी कौन निभाएगा। 

जिले में पढ़ना लिखना अभियान प्रारंभ होना है, जिसमें निरक्षर लोगों को साक्षर किया जाएगा। फिलहाल योजना का क्या स्वरुप होगा, इसका स्पष्ट आदेश नहीं आया है। फिलहाल जुलाई माह से योजना प्रारंभ होगी।
अशोक कुमार सिंह, बीएसए
... और पढ़ें

जमीन के विवाद में जमकर मारपीट, 12 घायल 

 जमीन के विवाद में दो पक्षों में जमकर मारपीट हो गई। इसमें एक पक्ष से दर्जर भर लोग घायल हो गए। रात में ही सूचना पर कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंची। उधर एक अन्य मामले में दोनों पक्षों से आठ लोगों पर मुकदमा दर्ज कराया गया है।
 
लाकडाउन में महामारी के दौरान भी लोगों का रक्त उबल रहा है। छोटी-छोटी बात पर खूनी संघर्ष हो रहे हैं। कोतवाली क्षेत्र के सलेमपुर ददौरा में भी छोटी सी बात को लेकर दो पक्षों में मारपीट हो गई। इसमें करीब छह लोग घायल हो गए। पुलिस ने सभी का मेडिकल करवाकर शांतिभंग में चालान कर दिया है। इसके साथ ही एक पक्ष से रोहित की तहरीर पर चार लोगों व दूसरे पक्ष से दीपक सोनकर की तहरीर पर चार लोगेां पर मुकदमा दर्ज किया है।  

उधर रैयापुर में जमीन के विवाद को लेकर मत्तू का पुरवा गांव निवासी शिवमूर्ति यादव का उसके पड़ोसियों से शुक्रवार की शाम जमीन को लेकर विवाद हो गया। इस दौरान विपक्षियों ने उसके घर पर चढ़कर लाठी डंडे से जमकर मारपीट की। इस दौरान शिवमूर्ति के परिवार के एक दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए। शोर शराबे पर गांव के लोग जुटे तो वह लोग पीछे हटे।

सूचना पर कई थानों की फोर्स रात में पहुंच गई। इसके साथ ही घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया। रात में ही शिवमूर्ति की तहरीर पर राजबहादुर यादव, सचिन यादव, राजू यादव, लल बाहदुर यादव, रमाकांत यादव, अजय यादव सहित आठ लोगों के खिलाफ बलवा, घर में घुसकर मारपीट सहित विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।
 
... और पढ़ें

प्रतापगढ़ में मिले छह और कोरोना संक्रमित, मरीजों की संख्या पहुंची 66

जिले में कोरोना पीड़ित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। मंगलवार को रानीगंज इलाके के एक गांव में छह लोग पॉजिटिव मिले हैं। इनमें से चार मुंबई से आए कोरोना संक्रमित युवक के परिवार के सदस्य हैं, जबकि दो अन्य भी मुंबई से लौटे सगे भाई हैं।

सभी को एंबुलेंस से लालगंज कोविड-19 एल-1 अस्पताल भेजा गया। जिले में अब कोरोना संक्रमितों की संख्या 66 पहुंच गई है। इनमें 32 लोग इलाज के बाद स्वस्थ हो चुके हैं, जबकि तीन लोगों की मौत हो चुकी है। उधर प्रयागराज में कोरोना के सात और मामले सामने आए हैं।    

रानीगंज थाना क्षेत्र के एक गांव का तीस वर्षीय युवक मुंबई में रहता था। वह 12 मई को अपने भाई व पड़ोस के सगे भाइयों के साथ ट्रक से घर आया। कुछ दिनों बाद उसे तेज बुखार के साथ ही सूखी खांसी व सांस लेने में दिक्कत होने पर सीएचसी रानीगंज लाया गया। कोरोना के लक्षण देख 17 मई को उसका सैंपल लिया गया।

19 मई को उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई। हालांकि एक दिन पहले ही उसे एसआरएन भेजा जा चुका था। स्वास्थ्य विभाग ने उसके परिवार की महिला व बच्चों का सैंपल भी जांच के लिए भेजा।

मंगलवार को संक्रमित युवक की भाभी, बड़े भाई की तीन बेटियां और मुंबई से साथ आए पड़ोस के सगे भाई पॉजिटिव निकले। सभी संक्रमित लोगों को एंबुलेंस से लालगंज ट्रामा सेंटर में बने कोविड-19 एल-1 अस्पताल लाया गया। जिला प्रशासन ने पहले ही गांव को सील कर दिया था। 
... और पढ़ें
कोरोना वायरस की जांच कोरोना वायरस की जांच

Pratapgarh: रास्ता बनाने के विवाद में पुलिस से भिड़े ग्रामीण, बवाल

कोहड़ौर के धरौली मुफरिद में रास्ता बनाने को लेकर बवाल हो गया। मौके पर पहुंची पुलिस पर भी लाठी-डंडे से लैस उपद्रवी हमलावर हो गए। पुलिसकर्मियों से हाथापाई करने के साथ ही ईंट-पत्थर लेकर दौड़ा लिया। हालांकि बाद में कोहड़ौर व कंधई थाने से पहुंची फोर्स ने उपद्रवियों को पीछे हटने के लिए मजबूर कर दिया। खबर लिखे जाने तक उपद्रवियों की तलाश में पुलिस दबिश देती रही। प्रधानपति समेत चार लोगों को हिरासत में लिया था।

कोहड़ौर थाना क्षेत्र के धरौली मुफरिद में सुरेश कुमार सिंह का लालबहादुर सिंह इंटरमीडिएट कालेज है। कालेज के करीब पटेल बस्ती है। आरोप है कि ग्रामीण कालेज की जमीन के बीच से रास्ता बनाना चाह रहे थे। इसे लेकर कई दिनों से तनातनी चल रही थी। मंगलवार को रास्ता बनाने को लेकर कालेज संचालक व ग्रामीणों के बीच विवाद हो गया।

 
... और पढ़ें

कैंसर पीड़ित कोरोना पॉजिटिव की दिल्ली के अस्पताल में मौत, सवालों के घेरे में संक्रमण की पुष्टि करने वाली निजी लैब

कैंसर पीड़ित कोरोना पॉजिटिव की दिल्ली के जीटीबी अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई। सवालों के घेरे में आई मेरठ की निजी लैब ने कैंसर पीड़ित को कोरोना की पुष्टि की थी। जीटीबी प्रबंधन ने परिजनों को शव नहीं दिया। परिवार के दो लोगों की जांच रिपोर्ट आनी बाकी है। सीएमओ डॉ. आरके टंडन का कहना है कि मृतक का जिले में सैंपल नहीं लिया गया था। 

बागपत जनपद के ढिकौली गांव निवासी 45 वर्षीय व्यक्ति गले के कैंसर से पीड़ित था। हालत गंभीर होने पर मेरठ के नर्सिंग होम पहुंचा, जहां से उसकी कोविड-19 की जांच मेरठ की निजी लैब में कराई गई। रिपोर्ट आने से पहले ही मरीज को जीटीबी दिल्ली रेफर कर दिया गया था। इसके बाद 22 मई को रिपोर्ट आई तो उसे कोरोना पॉजिटिव बताया गया। तब से उसका दिल्ली में ही उपचार चल रहा था। मंगलवार को उपचार के दौरान मौत हो गई। 

इसके बाद परिजन शव लेने पहुंचे तो अस्पताल प्रबंधन ने फिलहाल शव देने से इंकार कर दिया। परिवार के दो लोगों की रिपोर्ट आने का इंतजार किया जा रहा है। सीएमओ डॉ. आरके टंडन ने कैंसर पीड़ित की मौत की पुष्टि की है। उनका कहना है कि एक जांच मेरठ में हुई थी, जिसके बाद जीटीबी में भर्ती किया गया था। उन्हें यह जानकारी नहीं है कि जीटीबी में कोविड जांच के लिए सैंपल लिया गया था या नहीं। इस वजह से जीटीबी प्रशासन ही इस पर कोई अंतिम फैसला कर सकता है।

यह भी पढ़ें: 
श्रमिक स्पेशल ट्रेन में प्रवासी मजदूर की मौत, अधिकारियों में मचा हड़कंप, कोरोना की होगी जांच
... और पढ़ें

प्रतापगढ़ में कोरोना से तीसरी मौत, मुंबई के लौटा था, प्रयागराज में दम तोड़ा

कोरोना से मौत
प्रतापगढ़ के एक और कोरोना पाजिटिव मरीज ने इलाज के दौरान प्रयागराज के एसआरएन अस्पताल में दम तोड़ दिया। दस दिनों पहले वह मुंबई से परिवार सहित टैक्सी से घर आया था। अब जिले में कोरोना से मरने वालों की संख्या तीन हो गई है।

लक्ष्मणपुर विकास खंड के सरायमकई निवासी एक टैक्सी चालक परिवार सहित मुंबई के कुलावा में रहता था। 12 मई को वह पत्नी व दो बच्चों को लेकर गांव पहुंचा। 15 मई को उसे सांस लेने में दिक्कत होने लगी। पत्नी उसे लेकर लालगंज सीएचसी पहुंच, जहां से उसे व पत्नी को प्रयागराज के एसआरएन भेज दिया गया।  

एसआरएन के चिकित्सकों ने दोनों को भर्ती कर इलाज शुरू कर दिया। रविवार शाम अधेड़ की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। पत्नी की रिपोर्ट निगेटिव थी। डाक्टरों ने उसे घर भेज दिया। अधेड़ का इलाज चल रहा था। रविवार देर रात उसने दम तोड़ दिया। 
... और पढ़ें

प्रतापगढ़ में तेंदुए ने फिर दी दस्तक, पांच जानवरों को बनाया शिकार 

राजगढ़ के जंगल में तेंदुए ने दस्तक दे दी है। सोमवार को उसने पांच जानवरों को अपना शिकार बनाया। बछड़े, दो कुत्ते सहित पांच जानवरों के मांस के लोथडे़ मिलने से लोगों में दहशत फैल गई। ग्रामीणोें की सूचना पर पहुंची वन विभाग की टीम ने तेंदुए को पकड़ने के लिए कांबिंग शुरू कर दी है। हालांकि दिनभर चले अभियान के बाद भी वन विभाग को उसकी सही लोकेशन नहीं मिल सकी।

राजगढ़ में सोमवार को तेंदुए ने गांव के ही अनुज कुमार मिश्र के  बछड़े, दो कुत्ते व दो नीलगाय के बच्चों को अपना शिकार बनाया। गांव में पांच जानवरों के मांस के लोथेड़े देख ग्रामीणों में दहशत फैल गई। ग्रामीणों ने इसकी सूचना फौरन वन विभाग के अधिकारियों को दी। तेुदंए की दस्तक की खबर सुनकर अफसरों में हड़कंप मच गया। आननफानन में वन रेंजर केके पांडेय, वन दरोगा आशीष सिंह, वनरक्ष्राक शिवशंकर सिंह आदि मौके पर पहुंचे। वन विभाग की टीम ने ग्रामीणों से जानकारी लेने के बाद जंगल में कांबिंग शुरू की।
... और पढ़ें

Pratapgarh: आठ श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से पहुंचे पांच हजार प्रवासी 

CoronaVirus: अपनों ने बंद किए दरवाजे तो खेतों में मचान बनाकर हुए क्वारंटीन

तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस ने गांव की फिजाओं में भी दहशत घोल दी है। दिल्ली, मुंबई, गुजरात से आने वाले लोगों से ग्रामीण दूरी बना रहे हैं। शासन ने ऐसे लोगों को होम क्वारंटीन रहने का निर्देश दिया है, लेकिन घरवाले भी उनसे दूरी बना रहे हैं। उनके लिए घर के दरवाजे बंदकर बाहर बाग या खेत में क्वारंटीन होने के लिए कह रहे हैं। ऐसे में परदेसियों को बाहर ही क्वारंटीन अवधि पूरी करनी पड़ रही है।

मुंबई से आए परदेसियों ने बगीचे में डाला डेरा

मंगरौरा ब्लाक के मंगापुर के बरियार का पुरवा गांव निवासी सीताराम के बेटे संजय कुमार, सजनलाल, शोभनाथ मुंबई में रहते थे। वहां सभी प्राइवेट कंपनी में कार्य करते थे। उनके साथ उनका परिवार भी रहता था। कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन से कंपनियां बंद हो गईं। 50 दिन लॉकडाउन के दौरान सभी ने मुंबई में बिताए। जब वहां संक्रमण का खतरा बढ़ने लगा तो सभी ने गांव आने का मन बनाया।

सभी वाहन बुक कर तीन दिन में गांव पहुंचे। यहां घरवालों ने होम क्वारंटीन होने के बजाए उन्हें बाहर क्वारंटीन होने को कहा। संजय, सजनलाल व शोभनाथ के नौ सदस्यीय परिवार ने घर से थोड़ी दूर पर स्थित बगीचे में डेरा जमाया। टेंट हाउस से चारपाई आदि की व्यवस्था की है। बगीचे में ही सभी भोजन बनाकर क्वारंटीन की अवधि काट रहे हैं। उनका कहना है कि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए यह बेहद जरूरी है।    

 
... और पढ़ें

प्रतापगढ़ में मिला कोरोना का एक और मरीज

जिले में कोरोना से पीड़ित एक और मरीज सामने आया है। हालाकि पीड़ित युवक प्रयागराज के एसआरएन अस्पताल में भर्ती है। कुछ दिनों पहले वह परिवार के साथ कार से मुंबई से आया था। उसकी पत्नी की रिपोर्ट निगेटिव है। 

जेठवारा के सरायमकई गांव का एक युवक पत्नी और तीन बच्चों के साथ मुंबई के कुलावा में रहता था। बीते 12 मई को अपनी बुआ की कार लेकर परिवार सहित घर आया।

अस्पताल में जांच कराने के बाद खुद परिवार सहित पुराने मकान में क्वारंटाइन हो गया। शुक्रवार को अचानक उसकी तबियत बिगड़ गई। उसे सांस लेने में दिक्कत होने लगी।  परिजन शनिवार को उसे लेकर लालगंज सीएचसी पहुंचे।

उसने चिकित्सकों को खांसी के साथ बुखार आने की जानकारी दी। कोरोना का लक्षण साफ-साफ उसमें जाहिर हो रहा था। इसलिए चिकित्सकों ने उसे एसआरएन रेफर कर दिया। उसके साथ पत्नी भी प्रयागराज चली गई। प्रयागराज में दंपति का सैंपल लेकर जांच की गई। युवक की रिपोर्ट पाजिटिव आई। उसकी पत्नी की रिपोर्ट निगेटिव है।

एसआरएन के चिकित्सकों ने इसकी जानकारी सीएमओ को दी। युवक को कोविड अस्पताल प्रयागराज मेें भर्ती कर इलाज शुरू कर दिया। जानकारी मिलते ही सीएमओ ने लक्ष्मणपुर चिकित्सकों की टीम मौके पर भेजकर उसके परिवार के अन्य सदस्यों को होम क्वारंटाइन कराने का निर्देश दिया।

खबर लिखे जाने तक टीम युवक के गांव में नहीं पहुंची थी। सीएमओ ने बताया कि युवक के साथ मुंबई से घर आने वाले उसके परिवार के  सभी लोगों की सैंपलिंग कराया जाएगा। सभी को परिवार के साथ अन्य लोगों से अलग रखा जाएगा।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us