पुलिस चौकी के करीब जमीन पर कब्जे को लेकर बवाल

अमर उजाला ब्यूरो, प्रतापगढ़ Updated Sun, 13 Aug 2017 11:49 PM IST
विज्ञापन
अमर उजाला ब्यूरो
अमर उजाला ब्यूरो - फोटो : pratapgarh

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
 इलाहाबाद-फैजाबाद राजमार्ग पर जमीन पर कब्जे को लेकर रविवार दोपहर भाजपा नेता व पूर्व एमएलसी आंनद भूषण सिंह व अधिवक्ता अजय सिंह पटेल के बीच बवाल हो गया। दोनों ओर से जमकर पथराव हुआ। जिससे सड़क किनारे खड़ी बस के शीशे टूट गए। बवाल के दौरान ही फायरिंग होने लगी। जिसके बाद हाईवे पर भगदड़ मच गई। राजस्वकर्मी जान बचाकर भाग निकले। खबर मिलने पर पहुंची पुलिस ने मामला संभाला। खबर भेजे जाने तक किसी ने तहरीर नहीं दी थी।
विज्ञापन

नगर कोतवाली के पूरे नरसिंहभान निवासी अजय सिंह कचहरी में अधिवक्ता हैं। सरायसागर निवासी शिवाकांत शुक्ल से जमीन को लेकर उनकी मुकदमेबाजी चल रही है। रविवार दोपहर अधिकारियों के आदेश पर सदर तहसील से गठित राजस्वकर्मियों की टीम नायब तहसीलदार की अगुवाई में विवादित जमीन की पैमाइश करने पहुंची। अधिवक्ता अजय पटेल ने यह कहते हुए विरोध किया कि जिस जमीन की पैमाइश करने के लिए वे आए हैं उसका स्थगन आदेश है। जिसके बाद राजस्व विभाग की टीम बैकफुट पर आ गई। मामले की जानकारी से अधिकारियों को अवगत कराया। एसडीएम सदर ने दोनों पक्षों को अपने पास बुलाया। अजय का आरोप है कि तभी पूर्व एमएलसी आनंद भूषण सिंह अपने अन्य साथियों के साथ पहुंचे। वे जबरन पैमाइश करने के लिए दबाव बनाने लगे। अचानक जेसीबी बुला ली गई। जेसीबी से दीवार गिराने की प्रयास हुआ तो वे लोग विरोध करने लगे। उसके व परिवार के लोगों के साथ हाथापाई की गई। जिसके वे घर के भीतर चले गए और गेट बंद कर लिया। देखते ही देखते ईंट पत्थर चलने लगे। इस बीच अधिवक्ता के शिक्षक भाई विजय सिंह ने लाइसेंसी असलहे से फायरिंग शुरू कर दी। इससे हाईवे पर भगदड़ मच गई। पथराव से एक बस की शीशा टूट गया। राजस्वकर्मी जान बचाकर भाग निकले। घटना की खबर मिलने पर प्रभारी कोतवाल दलबल के साथ भागकर मौके पर पहुंचे। पुलिस के पहुंचने पर बवाली भाग निकले। उधर पूर्व एमएलसी के करीबी विकास सिंह ने प्रभारी कोतवाल से बताया कि शिवाकांत से पूर्व एमएलसी बब्बू राजा, अमर सिंह निवासी अजीत नगर व शैलेंद्र सिंह निवासी सरायजमुआरी ने जनवरी में एग्रीमेंट कराया है। उसकी की पैमाइश के लिए जिलाधिकारी को प्रार्थना पत्र दिया गया था। डीएम के आदेश पर एसडीएम ने राजस्वकर्मियों की टीम पैमाइश के लिए गठित की थी। पैमाइश के दौरान अजय सिंह समेत अन्य लोग बवाल करने लगे। वे ईंट पत्थर चलाने के साथ ही फायरिंग भी कर रहे थे। वे लोग जबरन जमीन पर कब्जा कर लिए हैं। पैमाइश होने पर उनकी असलियत सामने आ जाती। पुलिस ने दोनों पक्षों को समझा बुझाकर मौके से हटाया। हालांकि उस समय राजस्वकर्मी कोई नहीं था। प्रभारी कोतवाल ने बताया कि शहर में जुलूस निकला था। जिसकी सुरक्षा में फोर्स लगी थी। बिना पुलिस बल के ही पैमाइश के लिए राजस्वकर्मी गए थे। दोनों पक्षों ने कोई तहरीर नहीं दी है।
 
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X