विज्ञापन
विज्ञापन
आज ही बनवाएं फ्री जन्मकुंडली, और जानें कुंडली पर सूर्य का प्रभाव
Kundali

आज ही बनवाएं फ्री जन्मकुंडली, और जानें कुंडली पर सूर्य का प्रभाव

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

Pratapgarh Crime News: पुलिस की पिटाई से वृद्ध की मौत, ग्रामीणों ने जमकर किया हंगामा

लालगंज कोतवाली क्षेत्र के बाबूतारा गांव में दबिश देने गई सांगीपुर पुलिस की पिटाई से मकबूल (68) की मौत हो गई। आक्रोशित लोगों ने पोस्टमार्टम हाउस पर जमकर हंगामा किया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बुजुर्ग की मौत लिवर फटने से होना बताया गया है। बवाल की आशंका में गांव में कई थानों की फोर्स तैनात रही। मामले की जांच सीओ लालगंज को सौंपी गई है।

शनिवार की रात सांगीपुर के प्रभारी थानाध्यक्ष प्रमोद सिंह ने भारी पुलिस बल के साथ चोरी की एक घटना के मामले में बाबूतारा गांव में बशीर अहमद के घर पर दबिश दी। आरोप है कि पुलिस को सामने जो भी मिला, उसे पीटने लगी। पुलिस को देखकर बशीर के चचेरे भाई मकबूल (68) घर के पीछे भागने लगे। नजर पड़ने पर पुलिसकर्मियों ने उन्हें दौड़ाकर पकड़ लिया। वे मकबूल को पीटते हुए घर तक ले आए। पिटाई से मकबूल की तबीयत बिगड़ गई। पुलिसकर्मी बशीर व उसके बेटे रकीब को जीप में बैठाने लगे।

इसी दौरान मकबूल की मौत हो गई। यह देख पुलिसकर्मी दोनों को लेकर वहां से भाग निकले। रविवार को पोस्टमार्टम हाउस पर सपा और एआईएमआईएम नेताओं का जमावड़ा लग गया। आक्रोशित लोग हंगामा करते हुए सांगीपुर पुलिस के खिलाफ मुकदमा दर्ज करते हुए कार्रवाई की मांग करने लगे। मृतक मकबूल के बेटे रमजान ने सांगीपुर थानाध्यक्ष समेत पुलिसकर्मियों के खिलाफ तहरीर दी है। अपर पुलिस अधीक्षक पूर्वी सुरेंद्र प्रसाद द्विवेदी ने बताया कि घटना की जांच सीओ लालगंज कर रहे हैं, जो भी दोषी होगा, उसके खिलाफ कार्रवाई होगी।
... और पढ़ें

Pratapgarh News: प्रतापगढ़ में पीसीएस परीक्षा पास कर सगे भाई बने असिस्टेंट कमिश्नर 

पीसीएस-2018 की परीक्षा में कुंडा के सगे भाइयों ने एक साथ सफलता हासिल की है। दोनों का चयन असिस्टेंट कमिश्नर के पद पर हुआ है। उनकी सफलता से कुंडा के ककरिहा गांव में जश्न का माहौल है। 

ककरिहा गांव निवासी लक्ष्मीकांत त्रिपाठी एयरफोर्स से रिटायर हुए हैं। उनके बेटे सौरभ व अनुपम ने पीसीएस की परीक्षा में सफलता अर्जित की है। सौरभ व अनुपम ने दसवीं तक की पढ़ाई इंद्रा आइडियल सीनियर सेकेंडरी स्कूल दिल्ली और 12वीं की पढ़ाई बाल भारती स्कूल प्रयागराज से की है। इसके बाद दिल्ली यूनिवर्सिटी से स्नातक किया।

स्नातक की पढ़ाई करने के बाद ही दोनों ने तैयारी शुरू की। अनुपम बड़े हैं। दोनों भाई दिल्ली में रहकर ही प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे थे। सौरभ का यह दूसरा प्रयास था, जबकि अनुपम का तीसरा। सफलता से उत्साहित अनुपम व सौरभ ने बताया कि मेहनत व लगन से मुश्किल से भी मुश्किल लक्ष्य भी हासिल किया जा सकता है। 

जय जीआईसी प्रिंसिपल, विजय बने एडीआईओएस 

पीसीएस की परीक्षा में कुंडा इलाके के दो और सगे भाइयों ने बाजी मारी है। दोनों को शिक्षा विभाग में पद हासिल हुआ है। जय जीआईसी में प्रिंसिपल बने हैं, वहीं विजय का चयन एडीआईओएस के पद पर हुआ है। दोनों की सफलता से गांव में जश्न का माहौल है। 

बाघराय थाना क्षेत्र के फूलपुर रामा गांव के स्व. शिव बहादुर यादव के बेटे जय और विजय बचपन से ही पढ़ने में मेधावी थे। दोनों ने रामस्वरूप इंटर कालेज बाघराय से दसवीं की पढ़ाई, आनापुर प्रयागराज से 12वीं की परीक्षा पास की।

दोनों भाइयों ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय से स्नातक किया। प्रयागराज में रहकर ही दोनों प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे थे। दोनों को पहले ही प्रयास में सफलता मिली है। उनकी सफलता से गांव में जश्न का माहौल है। परिजनों ने बताया कि पिछले वर्ष पीसीएस-जे की परीक्षा में जय के बड़े पिता के बेटे दिग्विजय ने सफलता अर्जित की थी। उनसे प्रेरणा लेकर दोनों भाइयों ने कड़ी मेहनत कर सफलता अर्जित की।
... और पढ़ें

Prayagraj News: नहीं चलेगी बहानेबाजी, पीड़ित के साथ सेल्फी लेकर भेजेंगे पुलिसकर्मी

पुलिसकर्मी अब थाने व चौकी पर बैठकर प्रार्थना पत्रों पर फर्जी रिपोर्ट नहीं लगा सकेंगे। अब उन्हें मौके पर जाकर फरियादियों की समस्या सुननी होगी। आरोपी पक्ष की बातों को भी सुनकर सही-गलत का फैसला करना होगा। प्रकरण का निस्तारण कराने के बाद फरियादी के साथ सेल्फी भी लेनी होगी। उसकी तस्वीर रिपोर्ट में लगातार संबंधित अफसरों के पास भेजनी होगी। 

पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य ने फरियादियों की समस्या थाने पर ही निस्तारित करने के लिए एएसपी व सभी क्षेत्राधिकारी को अपने-अपने थानों में तय दिन पर बैठकर जनता की समस्या सुनने के लिए निर्देश दिया है। अब एसपी के नए आदेश से मातहतों में हड़कंप मचा है। उ

न्होंने कहा है कि प्रार्थना पत्रों की जांच कर मामले का निस्तारण कराने का प्रयास करें। यदि शिकायत गंभीर है तो बीट सिपाही व हल्का दरोगा मौके पर पहुंचकर छानबीन करें।

आरोपी पक्ष से भी बातचीत कर हकीकत जानें। इसके बाद फरियादी के साथ सेल्फी लें। बाद में रिपोर्ट के साथ वह तस्वीर भी भेजनी होगी। ताकि दोबारा शिकायत करने पर उसके सामने जांच रिपोर्ट व तस्वीर रखी जा सके।

एसपी अनुराग आर्य ने बताया कि इससे यह तय होगा कि सिपाही या दरोगा फरियादी के पास तक पहुंचेंगे। लोग दोबारा शिकायत करने के लिए सोचेंगे।
... और पढ़ें

मऊआइमा में बोलेरो की टक्कर से हाईवे पार कर रहीं मां-बेटी की गई जान, मासूम की हालत गंभीर

सोमवार की दोपहर प्रयागराज-प्रतापगढ़ हाईवे मार्ग को पार करते समय तेज रफ्तार की बोलेरो ने जोरदार टक्कर मार दिया। जिससे मौके पर ही मां एवं बेटी की मौत हो गई। हाईवे मार्ग पर हुई घटना के बाद मौक लोगों की भीड़ एकत्र हो गई। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस घायल मासूम को उपचार के लिए अस्पताल में दाखिल कराया गया है। जहां हालत नाजुक बताई जा रही है। उधर घटना की खबर पाकर परिजन भी रोते-विलखते हुए मौके पर पहुंचे, जहां कोहराम मचा रहा। पुलिस मृतकों में मां-बेटी के शव को पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। घटना मऊआइमा इलाके के सरपताही नहर के हाइवे मार्ग की है। 

थाना मऊआइमा पिलखुआं मजरा मौलवी का पुरा गांव निवासिनी राजेश कुमार की पत्नी नीतू देवी (25) बेटी मानसी देवी (4) एवं डेढ माह के दुधमुंहे बच्चे साथ मायक ा शीतलपुर कमलानगर से ससुराल के लिए विक्रम से निकली। सोमवार की दोपहर वह विक्रम से प्रयागराज-प्रतापगढ़ हाइवे मार्ग के मऊआइमा सरपताही नहर पर उतरीं। जिसके बाद नीतू बेटी मानसी एवं दुधमुंहे बच्चे को लेकर हाइवे मार्ग को पार करने लगी। बताया जाता है कि इसी बीच तेज रफ्तार की बोलेरो चालक ने अपना संयम खोते हुए रौंदते हुए निकल गया।

बोलेरो से हुई घटना देख लोगों का मजमा लग गया। जब-तक उपचार के लिए अस्पताल ले जाया जाता। मौके पर ही नीतू (25) एवं उसकी चार वर्षीय बेटी मानसी की मौत हो चुकी थी। घटना की खबर पाकर पुलिस मौके पर पहुंची और घायल मासूम को आनन-फानन उपचार के लिए सदर के लिए जे जाया गया। जहां हालत नाजुक बताई जा रही है। घटना की खबर जैसे ही गांव में पहुंची तो ग्रामीण संग परिजन भी रोते हुए मौके पर पहुंचे, जहां परिजन में कोरहाम मचा रहा। पुलिस दोनों शवों का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। हालांकि घटना देख लोगों की रूह सिहर उठीं थी।  

होलागढ़। बाइक चालक सड़क पर उखड़ी गिट्टी से बचने के चक्कर में अनियंत्रित्रत होकर सड़क के बगल मजार से जा टकराया।। जिसमें बाइक सवार दो युवक घायल हो गए। घटना के बाद लोगों की मदद से एम्बुलेंस द्वार उपचार के लिए सीएचसी सांगीपुर ले जाया गया। जहां डॉक्टरों ने एक को मृत घोषित कर दिया। जबकि दूसरे घायल को उपचार के लिए सदर के अस्पताल के लिए भेज दिया। घटना होलागढ़ के हुलासगंज गांव के समीप की है। 

थाना होलागढ़ रामदासपुर गांव निवासी रवि पुत्र भोला गांव के ही राकेश पुत्र सुखदेव के साथ बाइक से दहियावां क ी तरफ जा रहे थे। बताया जाता है कि जैसे ही वह बाइक से हुलासगंज गांव के समीप पहुंचे कि रास्ते में उखड़ी गिट्टी से बचने का प्रयास किया। जिससे बाइक अनिंयत्रित होकर सड़क के बगल बने मजार में जा टकराईं। जिसमें दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए। सूचना पाकर मौके पर पहुंची 108 एम्बुलेंस द्वारा उपचार के लिए सीएचसी सांगीपुर ले जाया गया। जहां डॉक्टरों ने राकेश कुमार (35) पुत्र सुखदेव को मृत घोषित कर दिया गया। जबकि घायल को उपचार के बाद सदर के अस्पताल के लिए भेज दिया गया। सूचना पाकर परिजन में क ोहराम मचा रहा। पुलिस मृतक के शव को कब्जे में लेते हुए पंचनामा कर पोस्टमार्टम हाऊस के लिए भेज दिया है। 
 
... और पढ़ें
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

प्रतापगढ़ में छेड़खानी से आहत किशोरी ने कुएं में कूदकर जान दी

छेड़खानी से आहत होकर पवांसी गांव की शिवानी अग्रहरि (17) ने मंगलवार को कुएं में कूदकर जान दे दी। पीड़ित परिवार ने गांव के ही तीन युवकों के खिलाफ नामजद रिपोर्ट लिखाई है। घटना से आक्रोशित किशोरी के परिजनों ने तीन घंटे तक पुलिस को शव नहीं उठाने दिया। बाद में समझाने-बुझाने के बाद वे शव के पोस्टमार्टम के लिए राजी हुए। पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है। 

बाघराय थाना क्षेत्र के पवांसी गांव निवासी शीतला प्रसाद अग्रहरि की बेटी शिवानी अग्रहरी मंगलवार को अपने घर में थी। अचानक ढाई बजे के करीब अपने ही घर के पास स्थित कुएं में कूद गई। लोगों की मदद से किसी तरह शिवानी को बाहर निकाला जा सका। हालांकि तब तक उसकी सांसें थम चुकी थीं। सूचना पर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। मृतका के पिता शीतला प्रसाद ने आरोप लगाया कि गांव के डब्बू सिंह, गुड्डू सिंह व गुन्नू तिवारी काफी दिनों से उसकी बेटी को परेशान कर रहे थे।

वे लोग प्रभावशाली हैं। उनके परिवार के साथ कुछ भी कर सकते हैं, जिसके कारण भयवश वह शिकायत नहीं कर सके। पुलिस शव को पोस्टमार्टम भेजने के लिए तैयारी करने लगी तो परिजनों ने रोक दिया। परिजन तत्काल आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जिद कर रहे थे। लगभग तीन घंटे की मशक्कत के बाद पुलिस शव को कब्जे में ले सकी। 
  • मृतका के पिता की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर आरोपियों की तलाश में पुलिस की दो टीमें लगाई गई हैं। घटना की गहराई से छानबीन की जा रही है। कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ हो रही है। -दिनेश कुमार द्विवेदी, एएसपी पश्चिमी 
... और पढ़ें

प्रधानमंत्री आवास प्लस योजना के तहत बनेंगे 5.50 लाख आवास : मोती सिंह 

कैबिनेट मंत्री राजेंद्र प्रताप सिंह मोती सिंह ने कहा है कि प्रधानमंत्री आवास प्लस योजना के तहत छूटे हुए 5.50 लाख लाभार्थियों को आवास निर्माण कराने के लिए जल्द ही धनराशि दी जाएगी। उन्होंने कहा कि जिले में कोई भी पात्र व्यक्ति आवास से वंचित नहीं रहेगा। पट्टी तहसील के दाउदपुर और इटवा तालाब को पक्षी विहार के रूप में विकसित किया जाएगा। रविवार को कैबिनेट मंत्री डीएम कैंप कार्यालय में अफसरों के साथ समीक्षा बैठक कर रहे थे। 

उन्होंने विधानसभा क्षेत्र पट्टी में प्रस्तावित विकास खंड रूरे के सृजन एवं नवीन नगर पंचायत सैफाबाद, उड़ैयाडीह, रामगंज एवं ढकवा के संबंध में जानकारी मांगी।  एसडीएम पट्टी ने बताया कि टाउन एरिया रामगंज एवं ढकवा का प्रस्ताव शासन को भेजा जा चुका है। रूरे विकास खंड के लिए पहले ही प्रस्ताव गया है। विकास खंड पट्टी, आसपुर देवसरा एवं बाबा बेलखरनाथधाम की ग्राम पंचायतों को रूरे विकास खंड में शामिल किया जाएगा। कैबिनेट मंत्री ने दाउदपुर तालाब एवं इटवा तालाब के सौंदर्यीकरण एवं संरक्षण कराए जाने का निर्देश दिया।

डीसी मनरेगा को निर्देशित किया गया कि सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियंता से संपर्क कर इन तालाबों के सौंदर्यीकरण एवं संरक्षण का प्रस्ताव तैयार करके शासन को भेजा जाए। कैबिनेट मंत्री ने पट्टी के बीबीपुर में फायर स्टेशन की स्थापना के लिए जमीन आवंटित होने की बात कहते हुए निर्माण के लिए शासन को पत्र लिखने को कहा है। उन्होंने कोविड-19 की रोकथाम एवं उपचार से संबंधित किए जा रहे उपायों की भी समीक्षा की। कैबिनेट मंत्री ने उप मुख्य चिकित्साधिकारी से अधिक से अधिक लोगों की जांच कराने को कहा है। बैठक में डीएम डा. रुपेश कुमार, एडीएम शत्रोहन वैश्य, सीआरओ इंद्रभूषण वर्मा प्रमुख रूप से मौजूद रहे। 
... और पढ़ें

पुलिस निगरानी में प्रयागराज से फरार हो गए प्रतापगढ़ के दो हत्यारोपी, दो दरोगा सहित चार सस्पेंड

शहर में आठ मई को प्रापर्टी डीलरों के बीच हुए विवाद के दौरान हुई युवक की हत्या में नामजद दो आरोपी गुरुवार को प्रयागराज के एक प्राइवेट अस्पताल से फरार हो गए। गोलीबारी में घायल होने के बाद उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था। घटना की जानकारी होने के बाद एसपी ने उनकी निगरानी में लगे दो दरोगा समेत चार पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया। इनके खिलाफ जांच बैठा दी गई है। 

नगर कोतवाली के चांदमारी मारुत नगर में जमीन की प्लाटिंग के रुपये को लेकर बराछा निवासी राम पांडेय और ओझा का पुरवा सगरा निवासी सर्वेश तिवारी के बीच आठ मई को विवाद हो गया था। इस दौरान दोनों ओर से जमकर फायरिंग हुई थी। इस दौरान गोली लगने से राम पांडेय की मौत हो गई। उसका भाई लक्ष्मण घायल हो गया। जबकि दूसरे पक्ष से सर्वेश तिवारी और आनंद तिवारी को भी गोली लग गई थी। पुलिस की निगरानी में प्रयागराज के आनंद हॉस्पिटल में आनंद और सर्वेश का इलाज चल रहा था।

गुरुवार को दोनों अस्पताल से फरार हो गए। उनकी निगरानी में लगे पुलिसकर्मियों को इसकी भनक तक नहीं लगी। इसकी जानकारी होने पर पुलिस के होश उड़ गए। उनकी खोजबीन शुरू कर दी गई, लेकिन कुछ पता नहीं चला। एसपी अनुराग आर्य ने बताया कि लापरवाही सामने आने पर हत्यारोपियों की निगरानी में लगे उपनिरीक्षक कमलेश मिश्र और धीरेंद्र ठाकुर के साथ ही आरक्षी रामाराव व प्रेमशंकर पांडेय को सस्पेंड कर दिया गया है। इनके खिलाफ जांच बैठा दी गई है। आरोपियों की तलाश की जा रही है। 
... और पढ़ें

प्रतापगढ़ में ट्रक की टक्कर से ट्रक की टक्कर से चाचा भतीजी की मौत, मां गंभीर

प्रतीकात्मक तस्वीर
मानिकपुर थाना क्षेत्र के रहमतअली का पुरवा के समीप मंगलवार को ट्रक की टक्कर से बाइक सवार सैदासीपुर गांव निवासी इंद्रजीत (34) और उसकी भतीजी मुस्कान (8) की मौत हो गई। हादसे में इंद्रजीत की मां सूरजकली (62) गंभीर रूप से घायल हो गईं। डाक्टरों ने उन्हें प्रयागराज रेफर कर दिया। तीनों लोग हौदेश्वरनाथधाम में दर्शन-पूजन करने के बाद बाइक से घर लौट रहे थे। 

नवाबगंज थाना क्षेत्र के सैदासीपुर गांव निवासी इंद्रजीत पुत्र हरीलाल अपनी मां सूरजकली व भतीजी मुस्कान पुत्री चंद्रजीत के साथ मंगलवार को हौदेश्वरनाथधाम दर्शन करने गया था। दोपहर करीब एक बजे दर्शन के बाद तीनों बाइक से घर लौट रहे थे। रहमतअली का पुरवा के समीप उसकी बाइक अनियंत्रित हो गई। इस दौरान सामने से आ रहे ट्रक ने बाइक में टक्कर मार दी।

इससे तीनों गंभीर रूप से घायल हो गए। आसपास के लोगों के शोर मचाने पर चालक ट्रक छोड़कर फरार हो गया। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और घायलों को कुंडा सीएचसी ले गई। अस्पताल में चिकित्सकों ने जांच के बाद इंद्रजीत और मुस्कान को मृत घोषित कर दिया। सूरजकली की हालत गंभीर देख प्रयागराज रेफर कर दिया। अस्पताल पहुंचे परिजन दोनों का शव देख बिलख पड़े। पुलिस ने दोनों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।
... और पढ़ें

प्रतापगढ़: शादी के बाद एचआईवी पॉजिटिव हो गईं 14 महिलाएं, जानें पूरा मामला

शादी के बाद जिले की 14 महिलाएं एचआईवी पॉजिटिव हो गई हैं। उन्हें यह गंभीर बीमारी पतियों से मिली है। इसका खुलासा तब हुआ, जब इन महिलाओं के गर्भवती होने के बाद डाक्टरों ने इलाज शुरू करने से पहले जांच कराई। एचआईवी संक्रमित पाए जाने पर सभी महिलाओं के पतियों की जांच कराई गई तो उनकी भी रिपोर्ट पॉजिटिव आई। कोरोना काल में अब इन महिलाओं का सुरक्षित प्रसव कराना स्वास्थ्य विभाग के लिए चुुनौती बना है। इन सभी महिलाओं का इलाज जिला अस्पताल स्थित एआरटी सेंटर में किया जा रहा है।

शादी के बाद पहली बार गर्भवती होने पर ये महिलाएं इलाज के लिए जिला अस्पताल पहुंची थीं। डाक्टरों ने गर्भावस्था के दौरान की जाने वाली सभी जरूरी जांचों के साथ ही एचआईवी का भी टेस्ट कराया तो पता चला कि ये महिलाएं एचआईवी की चपेट में हैं। इसके बाद सभी के पतियों की भी जांच कराई गई। उनकी रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई। ऐसे में डाक्टरों का यह मानना है कि सभी महिलाओं को पतियों से ही यह बीमारी मिली है। पीड़ित सभी महिलाओं की उम्र 22 से 28 वर्ष के बीच है। ज्यादातर महिलाएं ग्रामीण इलाकों की रहने वाली हैं। इनमें से कई ऐसी भी हैं जिनका प्रसव का समय नजदीक आ गया है।

कोरोना के दौर में एचआईवी पीड़ित महिलाओं का प्रसव कराना स्वास्थ्य विभाग के लिए बड़ी चुनौती है। रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होने के कारण इन महिलाओं को संक्रमण का सबसे ज्यादा खतरा है। जिला अस्पताल स्थित एआरटी (एंटी रेक्टोवायरल थेरेपी) सेंटर के चिकित्सक एचआईवी पीड़ितों के लिए काम करने वाली संस्था पीएनपी को जानकारी देने के बाद उसकी निगरानी में उनका इलाज कर रहे हैं।
शादी के बाद गर्भवती होने पर 14 महिलाओं के एचआईवी पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई है। इन महिलाओं के पति भी पीड़ित मिले हैं। सभी का जिला अस्पताल स्थित एआरटी सेंटर से इलाज कराया जा रहा है। नियमित निगरानी की जा रही है। - सतीश यादव, परियोजना समन्वयक, पीएनपी


नहीं बुलाया जाता अस्पताल, घर पहुंचाई जाती हैं दवाएं
कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए गर्भवती एचआईवी पॉजिटिव महिलाओं को अस्पताल नहीं बुलाया जा रहा है। घर पर ही उनकी नियमित जांच होती है। एचआईवी पीड़ित महिलाओं के लिए काम करने वाली संस्था आहान की प्रोग्राम मैनेजर विमला यादव ने बताया कि एचआईवी पीड़ित गर्भवती महिलाओं की जांच के बाद उन्हें दवाएं घर पर पहुंचा दी जाती हैं। बच्चे के जन्म से लेकर 18 माह तक होने के अंतराल में तीन बार एचआईवी की जांच कराती हैं।

एचआईवी पीड़ित से शादी करने वाली चार संक्रमित महिलाएं भी गर्भवती
एचआईवी पीड़ित से शादी करने वाली चार और संक्रमित महिलाएं भी गर्भवती हैं। उनका भी इलाज चल रहा है। एचआईवी पीड़ित होने के बाद इनकी शादी भी संक्रमित पुरुषों के साथ कराई गई थी। अब गर्भवती होने के बाद उनका भी एआरटी सेंटर से इलाज चल रहा है।

छह माह में 13 एचआईवी पीड़ित महिलाओं ने दिया स्वस्थ बच्चों को जन्म
छह माह के भीतर जिले की 13 एचआईवी पॉजिटिव महिलाओं ने बच्चों को जन्म दिया। बच्चों की रिपोर्ट निगेटिव होने के साथ ही वह पूरी तरह स्वस्थ हैं। हालांकि जन्म से 18 माह तक उनकी तीन बार एचआईवी की जांच कराई जाएगी। एचआईवी पीड़ित महिलाओं के लिए काम करने वाली संस्था आहान की प्रोग्राम मैनेजर विमला यादव ने बताया कि पहली बार जांच में सभी बच्चे निगेटिव पाए गए हैं।
समय से इलाज होने से एचआईवी संक्रमित महिलाओं से जन्म लेने वाले बच्चों को एचआईवी का खतरा बहुत ही कम होता है। एचआईवी पीड़ित प्रसव पीड़िताओं का इलाज जिला महिला अस्पताल में ही किया जाता है। सभी चिकित्सकों और स्टाफ को इसकी ट्रेनिंग दी गई है। - डा. राकेश कुमार त्रिपाठी, प्रभारी, एआरटी सेंटर, जिला अस्पताल।


संक्रमित गर्भवती महिलाओं को दी गई राहत किट
पीएनपी संस्था की ओर से एचआईवी पीड़ित गर्भवती महिलाओं के साथ ही प्रसूताओं को बुधवार को राहत किट वितरित की गई। उन्हें दाल, चावल, आटा के साथ ही हैंडवाश, मॉस्क, नैपकिन आदि वितरित किया गया। इस मौके पर पीएनपी संस्था के परियोजना समन्यवयक सतीश यादव, प्रोजेक्ट डायरेक्टर विनोद यादव, नरेश यादव, जिला अस्पताल के डॉक्टर राकेश त्रिपाठी, विमला यादव, साधना शर्मा, सर्वेश शर्मा आदि लोग मौजूद रहे।
... और पढ़ें

नवसृजित नगर पंचायतों के बहुरेंगे दिन, विकास के लिए मिलेंगे 30-30 लाख

प्रतापगढ़। जिले की नवसृजित पृथ्वीगंज, सुवंसा व कोहड़ौर नगर पंचायत के लोगों को शहर जैसी सुविधाएं मुहैैया कराने के लिए तीस-तीस लाख रुपये दिए जाएंगे। पहली अक्तूबर से राज्यवित्त से मिलने वाली धनराशि से इन नगर पंचायतों में तेजी से काम कराए जाएंगे।
वर्ष 2019 के आखिरी माह में शासन ने जिले में तीन नगर पंचायतों के गठन को मंजूरी दी थी। नगर पालिका की सीमा का विस्तार हुआ था। नगर पंचायतों के गठन के बाद वहां अधिशाषी अधिकारी भी तैनात कर दिए गए। तीनों नगर पंचायतों में अस्थायी कार्यालय भी खुल गए, मगर शासन से नवसृजित नगर पंचायतों में लोगों को सुविधाएं मुहैया कराने के लिए धनराशि नहीं मिली। जिसके चलते तीनों नगर पंचायतों में नागरिकों की सहूलियत के लिए कोई प्रयास नहीं हो सका। अधिशाषी अधिकारी कार्यालय बैठते और चले जाते।
शासन ने नगर पंचायतों में शामिल गांवों के विकास का जिम्मा पंचायत विभाग को ही सौंप दिया था। पहले 31 मार्च तक गांवों का विकास कार्य प्रधान व सेक्रेटरी को देखना था। बाद में इसका समय बढ़ाकर 30 सितंबर कर दिया गया। 25 दिसंबर को जिले के प्रधानों का कार्यकाल समाप्त हो रहा है। राज्य निर्वाचन आयोग ने पंचायत चुनाव के लिए मतदाता सूची पुनरीक्षण अभियान की अधिसूचना भी जारी कर दी है। ऐसे में नगर पंचायतों व नगर पालिका में शामिल गांवों को अलग कर पुनरीक्षण करने की प्रक्रिया भी प्रारंभ हो गई है।
जिसे देखते हुए शासन से नवसृजित नगर पंचायतों को आबादी के हिसाब से राज्यवित्त मद से 30-30 लाख रुपये मिलने की संभावना जताई जा रही है। जिससे तीनों नगर पंचायतों में नागरिकों के लिए पेयजल, प्रकाश व सफाई व्यवस्था का खाका खींचा जा सके। नगर पंचायतों के नोडल अधिकारी व नगर पालिका के अधिशाषी अधिकारी मुदित सिंह ने बताया कि पहली अक्तूबर से नवसृजित नगर पंचायतों में विकास के लिए शासन से धनराशि मिलने की बात सामने आई है।
नगर पालिका का भी बढ़ेगा बजट
नगर पालिका में अभी तक 25 वार्ड थे। सीमा विस्तार के बाद वार्डों की संख्या 36 पहुंच गई है। शहर में शामिल गांवों का भी जोड़ लिया गया है। अभी तक शहर में शामिल गांवों में विकास कार्य पंचायत विभाग देख रहा था। अब संभावना जताई जा रही है कि अक्तूबर से नवसृजित नगर पंचायतों के साथ नगर पालिका को भी अतिरिक्त बजट विकास कार्यों के लिए मिलेगा। चूंकि सीमा विस्तार में करीब 42 हजार आबादी नगर पालिका में शामिल हुई है। अब नगर पालिका ए ग्रेड की हो चुकी है। इससे केंद्र सरकार की अमृत योजना समेत अन्य सुविधाओं का लोगों को लाभ मिलेगा।
... और पढ़ें

प्रतापगढ़ के लालगंज कोतवाली में सिपाही ने खुद को गोली से उड़ाया, मचा हड़कंप

लालगंज कोतवाली में तैनात सिपाही आशुतोष यादव (24) ने शुक्रवार शाम बैरक की तीसरी मंजिल पर खुद को गोली से उड़ा दिया। सात घंटे बाद पुलिस को घटना की जानकारी हो सकी। बैरक की तीसरी मंजिल की सीढ़ी पर उसका रक्तरंजित शव मिलने पर हड़कंप मच गया। मृतक सिपाही गाजीपुर जिले का रहने वाला था। सूचना पर पुलिस अधीक्षक भी फोरेंसिक टीम के साथ पहुंचे और घटना का जायजा लिया।  

गाजीपुर जिले के खानपुर थाना क्षेत्र के खरौना निवासी आशुतोष यादव पुत्र अखिलेश यादव लालगंज कोतवाली में सिपाही था। शुक्रवार को प्रभारी निरीक्षक राकेश भारती के साथ उसकी हमराही में ड्यूटी लगी थी। कार्यालय से एके-47 लेकर वह सुबह 11 बजे निकला। उसके बाद उसका कुछ पता नहीं चला। उसका मोबाइल भी बंद था। शाम साढ़े छह बजे एक पुलिसकर्मी बैरक की छत पर गया तो उसका रक्तरंजित शव सीढ़ी पर पड़ा था। करीब सात घंटे बाद पुलिस को घटना की जानकारी हो सकी। बगल में ही उसकी एके-47 पड़ी मिली। बुलेट का एक खोखा भी बरामद हुआ।

प्रभारी निरीक्षक ने सिपाही का शव मिलने की सूचना अफसरों को दी। इस पर सीओ जगमोहन व अपर पुलिस अधीक्षक दिनेश द्विवेदी मौके पर पहुंचे। करीब एक घंटे बाद पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य भी फोरेंसिक एक्सपर्ट की टीम के साथ पहुंचे और घटना का जायजा लिया। सिपाही के परिजनों को सूचना दे दी गई है। 
  • सिपाही की मौत को लेकर छानबीन की जा रही है। पूछताछ में साथी सिपाहियों ने किसी कारण वश उसके परेशान रहने की जानकारी दी है। कुछ दिनों पहले ही वह छुट्टी से लौटकर ड्यूटी पर आया था। मौके से खोखा व बुलेट का टुकड़ा मिला है। दोपहर में गोली चलने की आवाज सुनाई दी थी। - अनुराग आर्य, पुलिस अधीक्षक


कुछ दिनों से तनाव में था, साथियों से बनाई दूरी

गाजीपुर जिले के खरौना निवासी आशुतोष यादव 2018 बैच का सिपाही था। लालगंज कोतवाली में 16 फरवरी 2019 को उसे पहली तैनाती मिली थी। नौकरी पाने के बाद वह बहुत खुश रहता था। अभी उसकी शादी भी नहीं हुई थी। इधर, कुछ दिनों से वह तनाव में था। साथियों ने उससे इस बारे में कई बार पूछा, लेकिन उसने कोई जानकारी नहीं दी। अभी 17 सितंबर को ही उसने छुट्टी से लौटने के बाद ड्यूटी ज्वाइन की थी। घर से लौटने के बाद वह अधिक शांत व एकांत में रहने लगा।

साथी पुलिसकर्मियों से उसने दूरी बना ली थी। हल्का नंबर चार में उसकी नियमित तैनाती थी, लेकिन शुक्रवार को उसकी ड्यूटी कोतवाल के साथ हमराह के रूप में लग गई। ड्यूटी लगने के बाद कार्यालय से जब वह एके-47 लेकर निकला तो किसी तो नहीं मालूम था कि उसके दिमाग में क्या चल रहा है। कोतवाल लोगों की समस्याएं सुनने लगे तो वह परिसर के पीछे बिना किसी को कुछ बताए बैरक में चला गया। बताया जाता है कि बैरक की तीसरी मंजिल पर सीढ़ी पर बैठकर उसने एके-47 को गर्दन से कनपटी के बीच रखकर खुद को गोली मार ली।

उसे अपना मोबाइल फोन भी बंद कर लिया था। पुलिसकर्मियों को दोपहर में गोली की आवाज सुनाई दी। इस पर उन्होंने कोतवाली के पीछे बने बैरक में जाकर देखा तो वहां कुछ नहीं मिला। जिसके बाद पुलिसकर्मी अपने काम में जुट गए। घटना के लगभग सात घंटे बाद उसका रक्तरंजित शव मिला। उसका शरीर अकड़ चुका था। सिपाही आशुतोष की मौत के बाद कोतवाली के पुलिसकर्मियों में शोक की लहर दौड़ गई। 

पोस्टमार्टम की कराई जाएगी वीडियोग्राफी

सिपाही के  आत्महत्या करने की जानकारी पर पहुंचे पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य ने लगभग आधे घंटे तक छानबीन की। सिपाही की बैरक में रहने वाले साथी पुलिसकर्मियों से भी उन्होंने पूछताछ की। घटना की जांच के बाद एसपी ने बताया कि सिपाही के शव का पोस्टमार्टम जिला अस्पताल में वीडियोग्राफी के बीच कराया जाएगा। इसके लिए चिकित्सकों का पैनल गठित करने के लिए सीएमओ से कहा जाएगा। परिजनों को सूचना दे दी गई है। 

मोबाइल खोल सकता है मौत का राज 
कोतवाली में सुबह कोतवाल के हमराही के रूप में ड्यूटी ज्वाइन करने के बाद सिपाही ने अचानक खुदकुशी क्यों की, यह किसी की समझ में नही आ रहा है। सुबह उठने के बाद उसने नाश्ता किया और फिर बाद में खाना भी खाया। फिर अचानक ऐसा क्या हो गया कि उसने बैरक में जाकर खुद को गोली से उड़ा लिया। कोतवाली में उसकी किसी से कोई बातचीत भी नहीं हुई। पुलिस भी इस बार में कुछ नहीं बता सकी। अब उसके मोबाइल फोन से मौत का रहस्य खुल सकेगा। पुलिस भी इस तरफ जांच कर रही है। 

गायब होने की बात छिपाए रहे कोतवाल
सिपाही आशुतोष एके-47 लेकर सुबह 11 बजे के आसपास ड्यूटी से नदारद हो गया। कोतवाल राकेश भारती को कहीं आने-जाने के दौरान हमराही के नहीं होने की जानकारी हो गई। लगभग सात घंटे बाद उसका शव बैरक की तीसरी मंजिल पर मिला। इस बीच एके-47 के साथ लापता हुए सिपाही की सूचना अफसरों को नहीं दी गई। जब उसकी मौत की जानकारी हुई तो कोतवाल के होश उड़ गए।
... और पढ़ें

दलित उत्पीडन में सपा जिलाध्यक्ष के साथ रहे लोगों को खोज नहीं पाई पुलिस

दलित उत्पीड़न के मामले में सपा जिलाध्यक्ष और उनके एक गनर पर त्वरित कार्रवाई करते हुए पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। इसके साथ ही उन पर गैंगस्टर की कार्रवाई भी की गई। इस मामले में तीन अज्ञात लोग भी थे। घटना के दो सप्ताह बीत जाने के बाद भी अभी तक पुलिस उनके बारे में पता नहीं लगा सकी है।
मानिकपुर थाना क्षेत्र के करेंटी निवासी सपा जिलाध्यक्ष छविनाथ यादव और उनके गनर राम सिंह यादव निवासी कुसाहिलडीह बाजार व तीन अन्य अज्ञात गनर के खिलाफ मानिकपुर के बुलाकीपुर निवासी गायत्री पत्नी अर्जुन ने थाने में मारपीट, दूसरे की संपत्ति को कब्जा कराने व दलित उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज कराया था। अगले दिन पुलिस ने सपा जिलाध्यक्ष छविनाथ यादव व उनके गनर राम सिंह को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। इसके बाद सपा जिलाध्यक्ष पर गैंगस्टर भी लगाया गया था।
पुलिस ने उस समय तो त्वरित कार्रवाई की, लेकिन बाद में उनके साथ रहे लोगों के नामों का खुलासा तक नहीं कर सकी। कुंडा सीओ जितेंद्र सिंह ने बताया कि दो लोगों के खिलाफ चार्जशीट लगाई गई है। उनके साथ रहे लोगों के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है।
... और पढ़ें

श्रम प्रवर्तन अधिकारी समेत कोरोना संक्रमित मिले 60 नए मरीज

जिले में बुधवार को 24 घंटे के भीतर कोरोना के 60 नए केस सामने आए हैं। श्रम प्रवर्तन अधिकारी भी संक्रमित हो गए हैं। रानीगंज इलाके के रामापुर बाजार में दस लोग पीड़ित मिले हैं। जिले में अब कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 3456 पहुंच गई है। अब तक 39 लोगों की मौत हो चुकी है।
श्रम प्रवर्तन अधिकारी और उनके विभाग के तीन कर्मचारी कोरोना वायरस की चपेट में आ गए हैं। शहर में स्थित सहारा कार्यालय आठ कर्मचारियों की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। मंगलवार को चार संक्रमित मिले थे। बुधवार को चार और कर्मचारियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। कुंडा सीएचसी में हुई जांच में तीन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इसमें पूरेशाह करम अली, कबड़ियागंज व पावर हाउस के एक-एक व्यक्ति हैं।
रानीगंज सीएचसी में बुधवार को 31 लोगों का रैपिड टेस्ट किया गया। इसमें संडिला और प्रीतम तिवारीपुर के एक-एक युवक संक्रमित मिले। संडवा चंद्रिका सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में बुधवार को 19 लोगों का एंटीजन टेस्ट किया गया। जिसमें अंतू निवासी एक किसान की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। मंगलवार को हुए टेस्ट में इनका बेटा संक्रमित मिला था। उसके संपर्क में आने के कारण पिता भी कोरोना की चपेट में आ गए। महेशगंज सीएचसी में मंगलवार को 36 लोगों की जांच हुई। इसमें भिटारा के बड़ौदा ग्रामीण बैंक के मैनेजर समेत दो लोग संक्रमित मिले। राजापुर बिंधन व बहोरिक के एक-एक व्यक्ति की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। वहीं गौरा में हुए जांच में रामापुर बाजार के दस लोग संक्रमित पाए गए हैं। इनमें छह महिलाएं हैं।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X