बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
शनिवार का दिन, जानें इन तीन राशियों के लिए क्यों होगा शुभ ?
Myjyotish

शनिवार का दिन, जानें इन तीन राशियों के लिए क्यों होगा शुभ ?

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

अब मदरसों के बच्चे भी करेंगे ऑनलाइन पढ़ाई

कोरोना काल में संक्रमण से बचाव को लेकर जिले में संचालित हो रहे मदरसों की शिक्षण व्यवस्था भी डिजिटल होगी। मदरसों के बच्चों को भी ऑनलाइन क्लास दी जाएगी। मदरसों में तैनात शिक्षक- शिक्षिकाओं को इसके लिए ट्रेनिंग दी जाएगी। इसे लेकर विभागीय अफसरों ने तैयारी शुरू कर दी है। 


जिले में 58 मदरसे संचालित होते है। इसके तहत सात हजार बच्चे शिक्षा ग्रहण करते है। कोरोना काल में प्राइमरी, मिडिल व माध्यमिक विद्यालयों के साथ मदरसों की भी शिक्षण व्यवस्था प्रभावित हुई है। संक्रमण फैलने की वहज से मदरसे भी बंद कर दिए गए। पिछले साल कोविड के चलते पठन- पाठन नहीं हो पाया था। नवंबर माह में विद्यालय खुले तो मगर महज चार महीने बाद ही फिर से संक्रमण का कहर शुरू हो गया।

स्कूल, कालेजो में ताला लटक गया। परीक्षा नहीं हो सकी। यही हाल मदरसों का भी रहा। शिक्षण व्यवस्था ठप होने के साथ ही परीक्षाएं भी टल गई। प्राइमरी व माध्यमिक विद्यालयों में ऑनलाइन क्लास संचालित किए जा रहे है। इन्हीं की तर्ज पर अब मदरसो में भी ऑनलाइन क्लास की योजना है। मदरसा की पढ़ाई को हाईटेक करने की तैयारी में प्रशासन जुट गया। इसके लिए मदरसों में नियुक्त शिक्षक- शिक्षिकाओं को जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान में प्रशिक्षित किया जाएगा। जिसमें ऑनलाइन पढ़ाई का तरीका बताया जाएगा। ताकि संक्रमण काल में मदरसों की पढ़ाई प्रभावित न हो सके।

हालांकि इस पहल से मदरसों की शिक्षा व्यवस्था पिछले साल की तरह प्रभावित नहीं होगी। इससे शिक्षण व्यवस्था में बदलाव दिखेगा। इस बारे में जिला अल्पसंख्यक अधिकारी सच्चिदानंद ने बताया कि मदरसो में अब ऑनलाइन पढ़ाई की व्यवस्था होगी। संक्रमण काल को देखते हुए यह पहल की जाएगी। इसके लिए तैयारी की जा रही है। 
 

पढाई में आड़ेे आएंगे संसाधन 

ऑनलाइन पढ़ाई में संसाधन की कमी आड़े आएगी। अधिकांश बच्चे ऐसे है जिनके पास स्मार्ट फोन नहीं है। जिनके पास है भी वहां नेटवर्किंग की समस्या है। ऐसे में ऑनलाइन पढ़ाई बच्चों के लिए चुनौतीपूर्ण होगी। हालांकि ऑनलाइन क्लास की यह पहल सराहनीय है।
... और पढ़ें

प्रतापगढ़ के सांगीपुर में गाली देने से मना करने पर किसान की लाठी डंडे से पीटकर हत्या

मामूली कहासुनी को लेकर गाली देने से रोकने पर पड़ोसियों ने किसान को लाठी डंडे से पीटकर मार डाला। बीच-बचाव करने परिवार के लोगों पर भी आरोपियों ने हमला बोला। परिजन घायल को लेकर थाने पहुंचे। मगर पुलिस उनकी फरियाद को अनसुना कर दिया गया। इससे आक्रोशित लोगों ने किठावर-सगरासुंदरपुर मार्ग पर शव रखकर जाम लगा दिया। करीब तीन घंटे बाद सीओ लालगंज के आश्वासन पर परिजन माने। तब जाकर पुलिस शव को कब्जे में ले सकी। मृतक के परिजन की तहरीर पर चार नामजद व दस अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई।

  सांगीपुर थाना क्षेत्र के बासूपुर गांव निवासी सोना देवी का आरोप है कि रविवार देर शाम वह अपने दरवाजे पर बैठी थी। तभी किसी बात को लेकर पड़ोस के राम किशोर गाली गलौज करने लगे। जिस पर उसके पति रामलखन सरोज (50) ने मना किया। विरोध के चलते रामकिशोर वहां से चला गया। थोड़ी देर बाद अपने साथियों के साथ लौटा और घर में घुसकर रामलखन को लाठी डंडे से पीटने लगा। हमलावरों ने उसके ऊपर सरिया से भी प्रहार किया। परिवार के रवि (25), रामप्रसाद (40) व विकास (25) बीच-बचाव करने के लिए दौड़े तो हमलावरों ने उन लोगों को भी मारपीट कर घायल कर दिया। गांव के लोगों के बीच बचाव पर लोगों की जान बची।

गंभीर रूप से घायल रामलखन को लेकर परिजन सीएचसी सांगीपुर गए। वहां हालत नाजुक देख डाक्टरों ने उसे मेडिकल कालेज रेफर कर दिया। परिजन घायल रामलखन को लेकर थाने गए लेकिन वहां उनकी फरियाद पुलिसकर्मियों ने अनसुनी कर दी। जिसके बाद परिजन उसे लेकर मेडिकल कालेज पहुंचे। यहां से भी उसे एसआरएन रेफर कर दिया गया। वहां ले जाने के दौरान उसकी मौत हो गई। परिजन रोते बिलखते शव लेकर घर लौट पड़े। सोमवार की सुबह आक्रोशित परिजन संग ग्रामीणों ने किठावर- सगरासुंदरपुर मार्ग पर पहाड़पुर चौराहे पर शव रखकर जाम लगा दिया। 

परिजनों की मांग थी कि मुकदमा दर्ज कर आरोपियों को गिरफ्तार किया जाए। प्रकरण की जानकारी के बाद पुलिसकर्मी मौन साधे रहे। ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। जाम की खबर मिलने पर पुलिस के हाथ पांव फूल गए। कुछ  देर बाद सांगीपुर थानाध्यक्ष व सीओ लालगंज जगमोहन मौके पर पहुंचे। करीब तीन घंटे बाद सीओ लालगंज द्वारा मुकदमा दर्ज कर सख्त कार्रवाई के आश्वासन पर परिजन माने। जिसके बाद पुलिस शव को कब्जे में ले सकी।  मृतक की पत्नी सोना की तहरीर पर सांगीपुर पुलिस ने गांव के राम किशोर, राम बहादुर, धर्मेंद्र व शुभम और दस अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया।

चुनावी रंजिश में मारपीट, मुकदमा
चुनावी रंजिश को लेकर चले लाठी डंडे में आधा दर्जन लोग चुटहिल हो गए। घटना में एक दर्जन लोगों के खिलाफ बलवा, मारपीट व जान से मारने की धमकी की रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। स्थानीय थाना क्षेत्र के पूरे नरायणदास गांव में चुनावी रंजिश को लेकर रविवार देर शाम दो पक्षों में मारपीट हो गई जिसमें सुभाष सरोज 15, देशराज 25, मालती देवी, राकेश पुष्पाकर, शशि प्रभा सिंह, सोनू,  सिद्धार्थ घायल हो गए। घायलों को इलाज के लिए सीएचसी सांगीपुर लाया गया। जहां डाक्टरों ने गंभीर हालत में मेडिकल कालेज रिफर कर दिया। पुलिस ने राजकुमार की तहरीर पर जितेंद्र, देशराज, पंकज, सुरेंद्र, झरीलाल, संजय मिश्र, भोले, सुरेश, दीपू व रवींद्र के खिलाफ केस दर्ज कर लिया।
... और पढ़ें

प्रतापगढ़ में व्यापारी से मांगी गई पांच लाख की रंगदारी, मुकदमा दर्ज

कस्बे के व्यापारी से बदमाशों ने पांच लाख की रंगदारी मांगी। पूर्व में व्यापारी के पिता व चाचा की रंगदारी ना देने पर हत्या हो चुकी है। रंगदारी मांगने की ख़बर मिलते ही कारोबारी सहम गए। तहरीर मिलने पर पुलिस ने केस दर्ज कर लिया।

कोहड़ौर बाजार निवासी अनुभव जायसवाल सीमेंट सरिया कारोबारी हैं। उसके पिता श्याम सुंदर जयसवाल व चाचा श्याम मूरत जयसवाल से भी बदमाशों ने पांच लाख की रंगदारी मांगी थी। रुपये न देने पर बदमाशों ने 26 जुलाई 2018 की रात दुकान के भीतर घुसकर दोनों भाइयों को गोलियों से भून दिया था। दोनों भाइयों की दर्दनाक मौत हो गई थी। इससे आक्रोशित व्यापारियों ने प्रयागराज अयोध्या राजमार्ग पर जाम लगा दिया था। 

तीसरे दिन दोनों भाइयों के शव का अंतिम संस्कार हुआ था। हालांकि कुछ दिनों बाद पुलिस ने घटना का खुलासा करते हुए थाना क्षेत्र के ही शातिर बदमाश अब्बू सरोज वह सद्दाम समेत अन्य लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। रविवार की रात अनुभव जायसवाल के मोबाइल पर अनजान नंबर से कॉल आई। फोन करने वाले ने उससे पांच की रंगदारी मांगी। रुपये ना देने पर पिता व चाचा की तरह अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहने को कहा। इससे पूरा परिवार भयभीत हो उठा। पीड़ित अनुभव ने घटना की जानकारी पुलिस को दी। पुलिस अज्ञात लोगों के खिलाफ  मुकदमा दर्ज कर नंबर ट्रेस करने में माथापच्ची शुरू कर दिया। थानाध्यक्ष कोहंडौर ने बताया कि रंगदारी मांगने के मामले में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।
... और पढ़ें

प्रतापगढ़ में कोरोना माता मंदिर पर चला प्रशासन का बुलडोजर, एक हिरासत में

pratapgarh news : कोरोना माता मंदिर को प्रशासन ने बुलडोजर चलवाकर ध्वस्त कर दिया। pratapgarh news : कोरोना माता मंदिर को प्रशासन ने बुलडोजर चलवाकर ध्वस्त कर दिया।

शादी का झांसा देकर किशोरी के साथ युवक ने किया दुष्कर्म, आरोपी के खिलाफ केस दर्ज

अंतू थाना क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली एक किशोरी ने पड़ोसी गांव के एक युवक पर शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है। उसका आरोप है कि पड़ोसी गांव का एक युवक काफी दिनों से उसके घर आता जाता था तथा उसके साथ शादी करने का प्रस्ताव रखा तथा युवती को बहला-फुसलाकर करीब दो महीने पहले उसके साथ दुष्कर्म किया।
 
बाद में जब युवती के परिजनों को मामले की जानकारी हुई तो उन लोगों ने पंचायत बुलाई जिसमें दोनों पक्ष शादी करने को राजी हो गए। बाद में किशोरी द्वारा शादी करने का दबाव बनाने पर करीब एक सप्ताह पूर्व आरोपी युवक के परिजन तथा युवक शादी करने से इंकार कर दिया। मामले में किशोरी के पिता ने पुलिस अधीक्षक को प्राथना पत्र देकर आरोप लगाया कि उनकी पुत्री को शादी का झांसा देकर युवक शिवम पुत्र शिवराम ने उसकी बेटी के साथ दुष्कर्म किया और कुछ महीने पहले गांव में हुई पंचायत में शादी करने की बात कही थी, लेकिन बाद में शादी करने से मना कर दिया।
 
मामले में पीड़िता के पिता की तहरीर पर अंतू पुलिस ने आरोपी युवक के विरुद्ध शनिवार को दुष्कर्म तथा  पास्को  सहित विभिन्न धाराओं मे मुकदमा दर्ज कर लिया है। इस मामले में प्रभारी एसओ प्रवीण कुशवाहा ने बताया कि आरोपी युवक के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर लिया गया है मामले की जांच की जा रही है।
... और पढ़ें

जन्मदिन के बहाने दूसरी शादी रचा रहा था आशिक मिजाज युवक, बेटी संग पत्नी के पहुंचने पर खुला भेद फिर जो हुआ...

लव मैरिज के बाद एक युवक अपनी पत्नी को धोखा देने लगा। टांडा गांव में रहने वाली लक्ष्मी देवी को गांव का एक युवक प्रेमजाल में फंसाकर मुंबई ले गया। वहां कुछ दिन साथ रखने के बाद अकेला छोड़कर गांव भाग आया। किसी तरह घर पहुंची महिला ने परिजनों को आपबीती बताई तो मामला पुलिस के पास पहुंचा। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर युवक को जेल भेजा तो उसने जेल से युवती को पत्र लिखकर समझौता करने की बात कही। अदालत से हुए समझौते के बाद वह कुछ दिनों तक तो लक्ष्मी व उसकी बेटी के साथ रहा, लेकिन बाद में घर से निकाल दिया। शुक्रवार को युवक घर में जन्मदिन की पार्टी के बहाने दूसरी शादी रचाने लगा। इसकी सूचना पर लक्ष्मी व उसकी बेटी वहां पहुंच गए। इसके बाद जिस युवती से वह दूसरी शादी करने जा रहा था उसके परिजनों के सामने सारा भेद खुल गया। मामले की शिकायत पर फिलहाल पुलिस ने शादी रुकवा दी है।

वर्ष 2018 में युवक लक्ष्मी को शादी का झांसा देकर मुंबई भगा ले गया। वहां वह लोग पति-पत्नी की तरह रहे। इस दौरान लक्ष्मी ने एक बेटी को जन्म दिया। इसी बीच युवक लक्ष्मी को वहीं पर छोड़कर गांव भाग आया। इस दौरान लक्ष्मी ने एक बच्ची को जन्म दिया। इसके बाद किसी तरह लक्ष्मी भी गांव आ गई। उसने परिवार के लोगों को आपबीती बताई तो वह सन्न रह गए। मामले में लक्ष्मी के प्रेमी के खिलाफ सैनी कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराई गई। पुलिस ने आरोपी युवक को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। इस बीच जेल से युवक ने लक्ष्मी को कई खत भेजे। जिसमें उसने अपनी गलती स्वीकार करते लक्ष्मी व उससे जन्मी बेटी को अपनाने की बात कही। बाद में लक्ष्मी ने उसे माफ कर दिया और परिवार न्यायालय में दोनों पक्ष सुलह हो गई।

लक्ष्मी का कहना है कि कुछ दिन तक तो प्रेमी ने उसे साथ रखा बाद में दहेज की मांग करके प्रताड़ित करने लगा। पिछले दिनों उसे व उसकी बेटी को मारपीट कर घर से निकाल दिया गया। लक्ष्मी का आरोप है कि बृहस्पतिवार को उसका प्रेमी घर में जन्मदिन मनाने के बहाने दूसरी शादी कर रहा था। इसकी शिकायत उसने एसडीएम सिराथू से की। एसडीएम के आदेश पर अजुहा चौकी पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने फिलहाल शादी रुकवा दी है। लक्ष्मी को कोर्ट में हुए फैसले की प्रति के साथ चौकी बुलाया गया है।
... और पढ़ें

प्रतापगढ़: घर में सो रहे रिटायर्ड सीओ को खिड़की से मारी गोली, हालत गंभीर

घुइसरनाथधाम। घर के अंदर सो रहे रिटायर्ड सीओ को रंजिश के चलते खिड़की से गोली मार दी गई। आधी रात सीओ को गोली मारने की घटना से हड़कंप मच गया। पेट व हाथ में गोली लगने से घायल सीओ को जिला अस्पताल रेफर किया गया है। मामले में गांव के ही पांच लोगों पर हत्या के प्रयास का केस दर्ज करते हुए दो आरोपियों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है। 

सांगीपुर थाना क्षेत्र के देऊम पूरब निवासी विनय चंद्र शुक्ल (62) पुलिस उपाधीक्षक के पद से सेवानिवृत्त हुए हैं। उनके पिता स्व. राजाराम किसान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी व मां अमोला देवी विधायक रह चुकी हैं। सीओ पद से सेवानिवृत्त होने के बाद वह परिवार के साथ प्रयागराज में रहते हैं। बुधवार को वह खेती-किसानी व गोशाला की देखभाल के सिलसिले में गांव आए थे। रात में वह घर के आगे के कमरे में सो रहे थे। आरोप है कि इस बीच गांव के पांच लोग पहुंचे और खिड़की से सो रहे सीओ पर फायर झोंक दिया। आधी रात गोली की आवाज सुनकर परिजन व आसपास के लोग पहुंचे तो सीओ को खून से लथपथ देख सन्न रह गए। परिजन घायल सीओ को लेकर सांगीपुर थाने पहुंचे, जिसके बाद उन्हें स्थानीय अस्पताल ले जाया गया। हालत नाजुक देख चिकित्सकों ने उन्हे जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया।

मामले में पीड़ित की तहरीर पर गांव के उमाकांत शुक्ल, सत्यम, शिवम, अरविंद तिवारी व अभिषेक के खिलाफ हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज किया गया है। रिटायर्ड सीओ का आरोप है कि गोशाला व खेतीबारी की देखभाल के के लिए उन्होंने आरोपियों को रखा था। कुछ दिन पहले आरोपियों ने गोशाला से मोटर व राशन गायब कर दिया, जिसके बाद आरोपियों से उनकी अनबन हो गई। इसके बाद से आरोपी उन्हें मार डालने की धमकी दे रहे थे। सांगीपुर एसओ ने बताया कि तहरीर के आधार पर मुकदमा लिखा गया है। दो आरोपियों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है। जांच के बाद उचित कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

खुला खेल फर्रूखाबादी: प्रधानों को पासवर्ड जारी करने के लिए पांच-पांच हजार की वसूली 

रिटायर्ड सीओ को गोली मारने की सूचना पर पहुंचकर जांच करती पुलिस।
जिले के प्रधानों को खाता संचालन के लिए डोंगल का रजिस्ट्रेशन कराने और पासवर्ड जारी करने के लिए पांच-पांच हजार रूपये की वसूली हो रही है। ब्लाक से डीपीआरओ कार्यालय तक हो रही वसूली रोकने के लिए कोई पहल नहीं हो रही है। कर्मचारियों की जेब नहीं भरने वाले प्रधानों को पासवर्ड देने के लिए परेशान किया जा रहा है।जिले में 702 ग्राम पंचायतों के संगठित होने के बाद खाता खुलने की कार्रवाई ब्लाक के माध्यम से प्रारंभ हुई है।

आनलाइन भुगतान होने से प्रधानों की डिजिटल सिग्नेचर का रजिस्ट्रेशन डीपीआरओ कार्यालय में करके पासवर्ड दिया जाता है। इन दिनों डीपीआरओ की तबियत खराब चल रही है। इससे विभागीय कर्मचारी मनमानी पर उतर आए हैं। आलम यह है कि डिजिटल सिग्नेचर का रजिस्ट्रेशन और पासवर्ड के लिए पांच-पांच हजार रूपये की मांग हो रही है। जो प्रधान नहीं दे रहे हैं, उन्हें परेशान किया जा रहा है। जिले के 17 ब्लाकों के सिर्फ 26 प्रधानों का ही खाता आनलाइन शो कर रहा है।

अधिकांश ब्लाकों में एडीओ पंचायत के माध्यम से और आसपास  के ब्लाकों में सीधे कर्मचारी वसूली कर रहे हैं। प्रभारी डीपीआरओ और सदर के एडीओ पंचायत उमेश व्दिवेदी जब इस बावत बात की गई, तो पहले उन्होंने कहा कि पांच नहीं बल्कि दो हजार लिए जा रहे हैं। बाद में उन्होंने कहा कि यह रूपये डिजिटल सिग्नेचर के लिए हैं। अगर कोई प्रधान बाहर से बनवाकर देता है, तो उसे रूपये देने की जरूरत नहीं है। 

सदर एडीओ पंचायत बने प्रभारी डीपीआरओ 

डीपीआरओ के बीमार होने से सीडीओ ने सदर ब्लाक के एडीओ पंचायत उमेश व्दिवेदी को प्रभारी डीपीआरओ नामित किया है। हालांकि उन्हें बैठकों में प्रतिभाग करने और पत्राचार करने का ही अधिकार दिया गया है। 
... और पढ़ें

उपचुनाव: आज ब्लॉकों से रवाना होंगी पोलिंग पार्टियां 

प्रधान पद के दो, बीडीसी सदस्य के 11 और ग्राम पंचायत सदस्य के 610 पदों पर होने वाले मतदान के लिए शुक्रवार को ब्लॉकों से पोलिंग पार्टियां रवाना होंगी। जिले में ग्राम पंचायत सदस्य के 127 पद अभी भी रिक्त पड़े हुए हैं, इन पदों के लिए किसी ने आवेदन ही नहीं किया है। 


जिले के 17 विकास खंडों में 12 जून को मतदान और 14 जून को मतगणना होगी। उपचुनाव में प्रधान पद के दो, बीडीसी सदस्य 11 और ग्राम पंचायत सदस्यों के 610 पदों पर  होेन वाले चुनाव के लिए शु्क्रवार को पोलिंग पार्टियां ब्लॉकों से बूथ के लिए रवाना होंगी। मतदान कार्मिकों को बूथ तक ले जाने के लिए वाहनों को अधिगृहीत कर ब्लाकों पर भेज दिया गया है। छह जून को ब्लाकों पर  हुए नामांकन में ग्राम पंचायत सदस्यों के 4809 पदों पर निर्विरोध निर्वाचन हुआ था।

बिहार ब्लाक के पड़वासी और कालाकांकर ब्लॉक के मुहम्मदाबाद उपरहार में प्रधान का निर्विरोध चयन किया जा चुका है। ग्राम पंचायत सदस्य के 127 पदों के लिए किसी ने आवेदन ही नहीं किया। इससे यह सीटें खाली पड़ी हुई हैं। हालांकि उपचुनाव के बाद असंगठित 491 ग्राम पंचायतों के संगठित होने का रास्ता साफ हो जाएगा। एडीएम शत्रोहन वैश्य ने बताया कि शांतिपूर्ण उपचुनाव कराने के लिए अफसरों और पुलिस के जवानों को तैनात किया गया है। 
... और पढ़ें

मिलावटी पेट्रोल- डीजल के धंधे का एसटीएफ ने किया भांडाफोड़, पेट्रोल पंप सीज

टैंकर से मिलावटी डीजल व पेट्रोल की सप्लाई करने वाले गिरोह का भांडाफोड़ करते हुए एसटीएफ ने सरगना समेत चार लोगों को धर दबोचा। मिलावटी डीजल व पेट्रोल बनाने में प्रयुक्त होने वाले 11500 लीटर साल्वेंट भी बरामद किया। जिला पूर्ति अधिकारी ने पेट्रोल पंप को सीज कर दिया। पकड़े गए सरगना समेत चार लोगों के खिलाफ प्रतापगढ़ के फतनपुर थाने में मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने जेल भेज दिया।


एसटीएफ प्रयागराज की टीम सीओ नावेंदु सिंह के नेतृत्व में प्रयागराज, कौशांबी समेत प्रतापगढ़ जनपद स्थित पेट्रोल पंपों पर टैंकर की मदद से मिलावटी डीजल व पेट्रोल सप्लाई करने वाले गिरोह की धरपकड़ टीम लगी हुई थी। टीम को जानकारी हुई कि फतनपुर के पटहटिया कला स्थित पेट्रोल पंप पर मिलावटी डीजल पेट्रोल बेचने वाला गिरोह मौजूद है। जिसके बाद टीम के लोगों ने जिला पूर्ति अधिकारी कार्यालय के अधिकारियों की मौजूदगी में पेट्रोल पंप पर छापा मारा। एसटीएफ ने मौके से एक टैंकर बरामद किया। जिसमे 11500 लीटर सालवेंट अधोमानक पेट्रोलियम पदार्थ बरामद हुआ। मौके से एक कार, 9000 लीटर हाईड्रोकार्बन मिक्सचर,2500 लीटर सालवेंट, एक डीप राड, दो फर्जी बिल्टी, एक टैक्स इनवाइस, 1,95 हजार रुपये , मोबाइल, टैब्लेट बरामद हुआ। टीम के हत्थे चढ़े सरगना राजकुमार जायसवाल ने पूछताछ में बताया कि वह पहले वह तेल टैंकर के चालक के रूप में काम कर चुका है। उसे इस बात की जानकारी हो गई कि मिलावटी पेट्रोल व डीजल किस तरह तैयार होता है। इससे वह कम समय में पैसा कमा सकता है। इसके लिए उसने पेट्रोल पंपों पर नकली डीजल व पेट्रोल सप्लाई करने की ठानते हुए वर्ष 2000 में जायसवाल इंटरप्राइजेज नाम से एक फर्म पंजीकृत कराया। कुछ दिनों बाद मिलावटी डीजल व पेट्रोल सप्लाई के मामले में फंस गया और जिला पूर्ति अधिकारी प्रयागराज ने मुकदमा दर्ज कराते हुए जेल भेज दिया। जेल से छूटने के बाद नए सिरे से काम शुरू किया। रायबरेली की एक कंपनी से उसका संपर्क हुआ।


कंपनी की आड़ में मिलावटी डीजल व पेट्रोल बेचे जाने वाले साल्वेंट का अवैध कारोबार होता है। मनमाने ढ़ग से बिल्टी तैयार कर पेट्रोल पंपों पर भेजा जाता था। एसटीएफ ने मिलावटी पेट्रोल व डीजल बेचने का कारोबार के सरगना राजकुमार जायसवाल निवासी सीओडी छिवंकी रोड संजय नगर नैनी प्रयागराज, पंप संचालक विपिन मिश्रा निवासी शेखपुर अठगवां, पंप मैनेजर अंकित शर्मा निवासी ग्राम गुड़रु रामपुर मानधाता व ट्रैंकर चालक बरमदीन उर्फ तेगा निवासी ग्राम मुंगारी औद्योगिक क्षेत्र प्रयागराज के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया। मौके पर मौजूद जिला पूर्ति विभाग की टीम ने पेट्रोल पंप को सीज कर दिया। सीओ रानीगंज डा. अतुज अंजान त्रिपाठी ने बताया कि मिलावटी डीजल-पेट्रोल का कारोबार करने वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जेल भेजा जा रहा है।


रायबरेली से तीन जिलों में होती थी सप्लाई

एसटीएफ के सीओ नावेंदु सिंह ने बताया कि सरगना राजकुमार जायसवाल ने पूछताछ में बताया कि रायबरेली अमावां की एमकैप मार्केटिंग प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के संचालक नरेश अग्रवाल व उसके पौत्र प्रणव अग्रवाल से मिलकर यह काम करने लगा। इस कंपनी के जरिए मिलावटी डीजल कौशांबी, प्रयागराज में संचालित क्रेशर प्लांटों पर भी बेचा जाने लगा। नरेश अग्रवाल से वह 50-55 रुपये प्रति लीटर की दर से मिलावटी डीजल व पेट्रोल खरीदता था। जिसे पेट्रोल पंपों पर 60-65 रुपये प्रतिलीटर बेचा जाता था। जिले के भी पेट्रोल पंपों पर मिलावटी डीजल व पेट्रोल की सप्लाई करता था।
... और पढ़ें

Pratapgarh: डकैतों ने प्रधान समेत छह भाइयों को कमरे में बंद कर 50 लाख के आभूषण उड़ाए

बिहार। बाघराय थाना क्षेत्र के समसपुरदामू में प्रधान समेत छह भाइयों को कमरे में बंद कर बदमाशों ने जमकर लूटपाट की। सभी के घरों से करीब 50 लाख के आभूषण  व दो लाख रुपये नगद समेट ले गए। जानकारी होने पर बाहर से बंद दरवाजा तोड़कर लोग बाहर निकले। सूचना मिलने के बाद पहुंची पुलिस बदमाशों की तलाश में हाथ पैर मारती रही मगर कामयाबी नहीं मिली। घटना से इलाके के लोग सहमे हुए हैं। अपर पुलिस अधीक्षक पश्चिमी व सीओ सदर ने पहुंचकर छानबीन की। तीन संदिग्धों को हिरासत में लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है।


बाघराय के समसपुरदामू के प्रधान आदित्य मिश्र छह भाई हैं। उनके बड़े भाई शिव प्रसाद बैंक कर्मचारी रहे हैं। इसके साथ ही अन्य भाइयों को भी अच्छा कारोबार है। मंगलवार की रात प्रधान आदित्य मिश्र के मकान में छत के रास्ते बदमाश भीतर घुसे। सीढ़ी पर बंद दरवाजे का ताला तोड़ डाला। कुछ बदमाश बाहर रखवाली कर रहे थे। बदमाशों ने कमरे के भीतर सो रहे लोगों का दरवाजा बाहर से बंद कर दिया। सभी का कमरा बंद करने के बाद बदमाश बेखौफ होकर लूटपाट करने लगे। बदमाश पहले प्रधान आदित्य व उनके बड़े भाई शिव प्रसाद मिश्र के घर इसके बाद घर में रखी नकदी व गहने बटोर लिए।

 
 
... और पढ़ें

प्रतापगढ़: सपा जिलाध्यक्ष छविनाथ यादव को भेजा नैनी जेल

जमीन कब्जा करने के मामले में हुए विवाद को लेकर नौ माह से जेल में निरुद्घ सपा जिलाध्यक्ष छविनाथ यादव को बुधवार दोपहर प्रशासनिक आधार पर नैनी जेल स्थानांतरित कर दिया गया। चर्चा है कि जेल में उनकी व एक बंदी के बीच दो बार मारपीट हुई और टकराव के हालात बने हुए थे। नैनी जेल जाने से पहले उनका शराब माफिया से गले मिलना जेल के भीतर से लेकर बाहर तक चर्चा का विषय बना हुआ है।


मानिकपुर थाना क्षेत्र के मऊदारा निवासी सपा जिलाध्यक्ष छविनाथ यादव पिछले साल सितंबर माह में गांव के दो पक्षों के बीच जमीन कब्जाने के मामले का निस्तारण करने गए थे। वहां हुए विवाद के बाद उनके खिलाफ पुलिस ने उनके खिलाफ गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया था। तब से वह जेल में ही निरुद्घ हैं। जेल सूत्रों के अनुसार सपा जिलाध्यक्ष छविनाथ यादव की एक बंदी से दो बार मारपीट हुई। उनके बीच अक्सर टकराव बना रहता था। उन पर बंदीरक्षक भी दिन रात नजर रखते थे। जेल प्रशासन ने सपा जिलाध्यक्ष को समझाया मगर उनकी आदत में सुधार नहीं हुआ।


प्रशासनिक आदेश पर बुधवार को जेल प्रशासन ने उन्हें नैनी जेल स्थानांतरित कर दिया। इसके अलावा बाहर के शातिर बंदी को भी कौशांबी जेल भेज दिया गया। नैनी जेल जाने के पहले सपा जिलाध्यक्ष छविनाथ यादव हाल ही में जेल गए शराब माफिया से गले मिलकर बाहर निकले। जिसकी चर्चा जेल के बाहर भी होती रही। हालांकि जेल अधीक्षक आरपी चौधरी ने बताया कि सपा जिलाध्यक्ष व दूसरे बंदी को दूसरी जेल प्रशासनिक आधार पर भेजा गया है। मारपीट की बात निराधार है। जेल मैनुअल का कड़ाई से पालन कराया जा रहा है।

डीआईजी जेल ने किया निरीक्षण

डीआईजी जेल संजीव त्रिपाठी मंगलवार की देर शाम अचानक जेल पहुंचे। उन्होंने जेल में बंदियों को मिलने वाली सुविधाओं की जानकारी ली। इसके अलावा साल भर के क्रियाकलापों की जानकारी ली। अव्यवस्थाएं मिलने पर नाराजगी भी जताई। उन्होंने जेल मैनुअल का सख्ती से पालन कराने का निर्देश दिया। उनके निरीक्षण से जेल में हड़कंप मचा रहा।
... और पढ़ें

22,676 श्रमिकों के खाते में पहुंचे एक-एक हजार रुपये

कोरोना काल में श्रमिकों के परिवारों को खाने-पीने का संकट न उत्पन्न हो, इसके लिए श्रम प्रवर्तन विभाग ने जिले के 22,676 श्रमिकों के खाते-खाते में एक-एक हजार रूपये की धनराशि भेजी है। बुधवार को श्रम प्रवर्तन अधिकारी ने एनआईसी में पांच लाभार्थियों को प्रमाण पत्र वितरित किया। 

आपदा राहत योजना के तहत श्रम प्रवर्तन विभाग ने जिले के 22,676 श्रमिकों के खाते में एक-एक हजार रूपये की रकम आनलाइन खाते में अंतरित की गई।बुधवार को लखनऊ में मुख्यमंत्री के योजना का शुभारंभ करते ही जिले के श्रम प्रवर्तन अधिकारी डा. महेंद्र प्रताप सिंह ने एनआईसी में पांच मजदूरों को प्रमाणपत्र वितरित किया। उन्होंने बताया कि 22,676 मजदूरों के खाते में धनराशि अंतरित कर दी गई है। श्रम विभाग में यह मजदूर पहले से ही पंजीकृत थे। 

बेसहारा बच्चों की कक्षा बारह तक मुफ्त शिक्षा, मिलेगा लैपटॉप , बेटियों की शादी के लिए मिलेंगे एक लाख

प्रतापगढ़। कोरोना महामारी में अपने माता-पिता को गवाने वाले बच्चों को मुफ्त में कक्षा बारह तक की पढ़ाई और लैपटॉप दिया जाएगा। मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के तहत उन बच्चों को लाभान्वित किया जाएगा, जिनका देखभाल करने वाला कोई नहीं होगा।

जिला प्रोबेशन अधिकारी रन बहादुर सिंह ने बताया कि  अनाथ और बेसहारा बच्चों को शिक्षा, चिकित्सा ,आर्थिक सहायता दी जाएगी। कक्षा एक से 12 तक नि:शुल्क शिक्षा की व्यवस्था, बालिकाओं की शादी के लिए एक लाख रूपये का अनुदान, कक्षा नौ या उसके ऊपर की पढ़ाई पर 18 वर्ष तक के बच्चों को टैबलेट,लैपटाप की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी।  अगर किसी बच्चे को कोई गोद लेता है, तो कानूनी रूप से लाभ नहीं मिलेगा। लाभार्थी को उम्र प्रमाणपत्र देना आवश्यक  होगा। 

कोरोना से मृत व्यापारियों के परिजनों को मिलेे दस लाख रुपये

प्रतापगढ़। उप्र उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के प्रदेश अध्यक्ष बनवारीलाल कंछल ने कोरोना संक्रमण से व्यापारियों की हुई मौत पर परिजनों को मुख्यमंत्री से दस-दस लाख रूपये की आर्थिक मद्द देने की मांग की है। प्रदेश अध्यक्ष के इस पहल की जिलाध्यक्ष राजेंद्र कुमार केसरवानी ने सराहना की है। 

उप्र उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के जिलाध्यक्ष राजेंद्र कुमार केसरवानी ने कहा है कि कोरोना संक्रमण काल में सूबे के 3500 व्यापारियों की मौत हुई है। मगर किसी भी व्यापारी के परिजन को एक रूपये भी नहीं दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश अध्यक्ष ने मुख्यमंत्री से यह मांग करके परिजनों को आशा बंधी है कि जल्द ही सरकार आर्थिक सहायता देने की घोषणा करेगी। बुधवार को हुई वर्चुअल मीटिंग  में लखन बाबा, श्यामलाल जायसवाल, कृष्ण मोहन केसरवानी,  रवि अग्रवाल, परितोष शुक्ला ने प्रतिभाग किया।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us