पंजाब मेल में जन्मी बच्ची को छोड़कर लापता हुई मां

न्यूज डेस्क, अमर उजाला रायबरेली Updated Tue, 21 May 2019 01:22 AM IST
विज्ञापन
रायबरेली में सोमवार को जिला अस्पताल के बच्चा वार्ड में लावारिस बच्चे का इलाज करते चिकित्सक।
रायबरेली में सोमवार को जिला अस्पताल के बच्चा वार्ड में लावारिस बच्चे का इलाज करते चिकित्सक। - फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
हावड़ा से अमृतसर जा रही गाड़ी संख्या 13005 पंजाब मेल में सोमवार को चलती ट्रेन में जन्मी बच्ची को छोड़कर उसकी मां लापता हो गई। यात्रियों की सूचना के बाद यहां पहुंची ट्रेन से तो रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) ने गार्ड के पास लगी जनरल बोगी नवजात को उतारा और उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। आरपीएफ के मुताबिक नवजात की मां का पता नहीं चल सका है। नवजात की हालत गंभीर है। आरपीएफ को यात्रियों ने पूछताछ में बताया कि यह नवजात चलती ट्रेन में ही जन्मा है, लेकिन नवजात के जन्म के बाद अचानक मां कहीं चली गई। काफी खोजबीन की गई, लेकिन उसका कहीं पता नहीं चला।
विज्ञापन

ट्रेन में लावारिस नवजात के मिलने के कारण गाड़ी को करीब 10 मिनट तक स्टेशन पर रोकना पड़ा। आरपीएफ सिपाहियों ने ही नवजात को जिला अस्पताल पहुंचाया। जहां डॉक्टरों ने परीक्षण करने के बाद नवजात की हालत गंभीर बताई। इस पर आरपीएफ ने नवजात को अस्पताल में भर्ती करा दिया। आरपीएफ के उपनिरीक्षक रमेश चंद्र मिश्र ने बताया कि यात्रियों की सूचना पर पंजाब मेल में छानबीन की गई तो जनरल बोगी में लावारिस नवजात मिला, जिसे जिला अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है। नवजात की मां या किसी परिजन का कुछ भी पता नहीं चल सका है। सीएमएस डॉ. एनके श्रीवास्तव का कहना है कि ट्रेन में मिले नवजात (बच्ची) का इलाज कराया जा रहा है। उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। हालांकि उसे बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं दी जा रही हैं। उम्मीद है कि वह ठीक हो जाएगी।
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X
  • Downloads

Follow Us