विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus in UP Live Updates: प्रदेश में 80 संक्रमित, लखनऊ में 9 दिनों से नहीं मिला कोई मरीज

शासन और प्रशासन संक्रमण के चेन को तोड़ने के लिए लगातार कोशिश कर रहा है। लोगों से भी हर वक्त घरों में रहने की अपील की जा रही है।

30 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

रामपुर

सोमवार, 30 मार्च 2020

रेडियोलॉजिस्ट ने महिला सीएमएस को दी जान से मारने की धमकी

रामपुर। जिला महिला अस्पताल की सीएमएस के साथ गाली-गलौज करते हुए जान से मारने की धमकी देने और सीसीटीवी कैमरों को तोड़ देने के मामले में तहरीर के आधार पर पुलिस ने रेडियोलोजिस्ट के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है।
महिला अस्पताल की सीएमएस डॉ. प्रभा रानी का आरोप है कि रेडियोलॉजिस्ट डॉ. भरत सिंह निर्धारित समय पर ड्यूटी पर मौजूद नहीं रहते हैं। इस बारे में लगातार शिकायत मिल रही थी। उन्होंने बुधवार को जब उनसे इस बारे में पूछा तो डॉ. भरत सिंह ने जान से मारने की धमकी देते हुए पूरे स्टाफ के साथ गाली-गलौज शुरू कर दी। इस दौरान उन्होंने अस्पताल में लगे सीसीटीवी कैमरे को भी तोड़ दिया था। बाद में इस मामले में सीएमएस ने आरोपी डाक्टर के खिलाफ तहरीर दी थी। जिसके आधार पर कोतवाली पुलिस ने डॉ भरत सिंह के खिलाफ सरकारी कार्य में बांधा डालने के साथ ही सीएमएस को जान से मारने की धमकी देने के मामले में रिपोर्ट दर्ज करने के बाद मामले की जांच कर रही है।
... और पढ़ें

रामायण को पहले ही दिन मिला जबरदस्त रिस्पांस

रामपुर। दशकों बाद एक बार फिर दूरदर्शन पर प्रसारित हुए रामायण धारावाहिक को दर्शकों ने पहले की तरह ही प्यार दिया। शनिवार सुबह 9 बजे से शुरू हुए धारावाहिक रामायण को पहले दिन बड़ी संख्या में लोगों ने देखा।
करीब तीन दशक पहले दूरदर्शन चैनल पर रामानंद सागर द्वारा निर्मित रामायण धारावाहिक काफी पसंद किया गया था। उस वक्त जब रामायण का प्रसारण टीवी पर होता था तो सड़कों पर भीड़ खत्म हो जाती थी। टीवी अधिक घरों में न होने के कारण लोग दूसरे घरों में जाकर रामायण देखते थे। कुछ दिनों पूर्व लॉकडाउन की अवधि में लोगों द्वारा रामायण धारावाहिक के पुन: प्रसारण की मांग की गई थी। इस पर सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने शनिवार से पुन: रामायाण धारावाहिक के सुबह 9 बजे और रात में 9 बजे दूरदर्शन पर प्रसारण की जानकारी दी थी।
शनिवार 28 मार्च को सुबह 9 बजे रामायण धारावाहिक एक बार फिर दूरदर्शन पर दिखाई दिया तो इसके लिए लोगों में उत्साह भी देखा गया। लोग 9 बजे से पहले ही दूरदर्शन लगाकर बैठ गए और धारावाहिक का पहला एपीसोड बड़ी संख्या में लोगों ने पूरे परिवार के साथ देखा। इतना ही नहीं लोगों ने रामायण देखते हुए अपने फोटो भी सोशल मीडिया पर साझा किए तो वहीं कई लोगों ने सोशल मीडिया पर पुराने समय में रामायण प्रसारण और आज के रामायण प्रसारण को लेकर मस्ती के अंदाज में भी पोस्ट अपलोड की। लोगों ने कहा कि इस बार रामायण देखने के लिए एंटीने को नहीं घुमाना पड़ा तो किसी ने कहा कि पहले जब रामायण टीवी पर आती थी तो सड़कों पर सन्नाटा हो जाता था और आज भी जब रामायण फिर से दूरदर्शन पर आई है तो सड़कों पर सन्नाटा है।
... और पढ़ें

लॉकडाउन में फंसे लोगों निकालने के लिए भेजी गईं 16 बसें

रामपुर। लॉकडाउन घोषित होने के बाद दिल्ली, लखनऊ और हल्द्वानी सहित अन्य कई शहरों में फंसे यूपी-बिहार के लोगों को वहां से निकालने की कोशिश शुरू हो गई है। इसके लिए यूपी सरकार दिल्ली-एनसीआर में फंसे मजदूरों को उनके घर पहुंचाने के लिए विशेष बसें चलाने का फैसला लिया है। इस निर्णय के बाद शनिवार को रामपुर डिपो से 16 बसें दिल्ली, लखनऊ और हल्द्वानी के लिए रवाना की गईं।
कोरोना वायरस से जंग को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 दिन का लॉकडाउन घोषित किया है। लॉकडाउन घोषित होने के बाद फैक्टरियां, बाजार, दुकानें, मॉल सब कुछ बंद हो गया। ऐसे में मजदूरों के सामने रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया। आमदनी का जरिया नहीं होने पर खाने-पीने का संकट पैदा हो गया। ऐसी स्थिति में मजदूरों ने महानगरों में टिकने की बजाए अपने घर जाने की ठान ली। बस-ट्रेनें बंद होने की स्थिति पैदल ही सैकड़ों किलोमीटर का सफर तय करने के लिए बड़ी संख्या में निकल पड़े हैं। खास यूपी, बिहार, झारखंड के मजदूर अपने गृहराज्य जाने के लिए सफर पर निकल पड़े हैं। दिल्ली के निकट एनएच-24, नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे पर हजारों की भीड़ सड़कों पर पैदल ही चली जा रही है। रामपुर में प्रतिदिन हजारों की संख्या में लोग पैदल पहुंच रहे है।
मजदूरों की इस समस्या को देखते हुए यूपी सरकार ने लोगों को घरों तक पहुंचाने की योजना बनाई है। इसके लिए यूपी रोडवेज की बसें चलवाई जा रहीं हैं। शासन के निर्देश पर शनिवार को रामपुर डिपो की 16 बसें अलग-अलग शहरों के लिए रवाना कीं गईं। रोडवेज के सहायक क्षेत्रीय प्रबंधक कपिल कुमार वार्ष्णेय का कहना है कि शनिवार को रामपुर डिपो की 13 बसें दिल्ली, दो लखनऊ और एक हल्द्वानी के लिए रवाना की गई है। इन बसों में इन शहरों फंसे लोगों को उनके गन्तव्य तक पहुंचाया जाएगा।
... और पढ़ें

युवक ने रात में फोन कर पुलिस से मंगवाए समोसे, डीएम ने पकड़कर नाली साफ करवाई

लॉकडाउन के कारण लोगों को किसी तरह की दिक्कत न हो और उन्हें जरूरत के सामान घर में ही उपलब्ध हों इसके लिए पुलिस प्रशासन लगातार कोशिश कर रहा है। लोगों से अपील की जा रही है कि वो घरों में ही रहें और प्रशासन द्वारा जारी किए गए नंबरों पर कॉल कर आवश्यक सामान मंगवाएं।

ऐसे में इस व्यवस्था का दुरुपयोग करने वालों की भी कमी नहीं है। उत्तर प्रदेश के रामपुर जिले में डोरस्टेप डिलीवरी की इस व्यवस्था की आड़ में पुलिस के साथ मजाक करना एक युवक को भारी पड़ गया। रामपुर के रहने वाले एक युवक ने रविवार रात हेल्पलाइन नंबर पर फोन कर पुलिस को उसके घर चार समोसे पहुंचाने को कहा। 

पुलिस ने युवक की बदमाशी समझते हुए उसे एक बार मना किया, लेकिन चेतावनी देने के बाद भी वह नहीं माना तो पुलिस को मजबूरन उसके घर तक समोसे पहुंचाने पड़े। पुलिस ने उसे समोसा तो दिया, लेकिन साथ ही सरकारी सुविधा का दुरुपयोग करने के कारण उसे सजा भी दी गई।
 


रामपुर से डीएम ने रविवार रात ट्वीट कर के बताया कि युवक चार समोसे भिजवाने की जिद पर अड़ा हुआ था। उसे चेतावनी दी गई, लेकिन इसके बावजूद नहीं मानने पर पुलिस को समोसा भिजवाना पड़ा। ऐसा करके उसने कंट्रोल रूम को परेशान करने का काम किया।

इसकी सजा में उससे सामाजिक कार्य के तहत नाली सफाई करवाई गई। डीएम ने नाली साफ करवाने के दौरान समोसा मंगवाने वाले युवक की तस्वीर शेयर करते हुए लिखा 'नाली साफ कर सामाजिक कार्य में योगदान देकर प्रशासन को सहयोग देते व्यवस्था का दुरुपयोग करने वाले व्यक्ति।'

डीएम ने आगे लिखा कि राष्ट्रीय आपदा के समय आप सभी का सहयोग प्रार्थनीय है। उन्होंने लोगों से अपील की कि वे जिम्मेदार नागरिक बनें। स्वस्थ रहें। सुरक्षित रहें।
... और पढ़ें
सजा के रूप में नाली साफ करता युवक सजा के रूप में नाली साफ करता युवक

कोरोना से जंग में जरुरतमंदों की मदद को बढ़ रहे तमाम हाथ

रामपुर। कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम को लेकर जहां लोग घरों में बंद हैं तो वहीं तमाम समाजसेवी संगठन और युवा इन दिनों पैदल ही घरों की ओर निकले लोगों को भोजन, नाश्ता घर जाने के लिए वाहन की व्यवस्था से लेकर सड़कों पर मौजूद अन्य लोगों की मदद कर रहे हैं।
वीर खालसा सेवा समिति द्वारा विभिन्न हिस्सों में पहुंचकर जरूरतमंदों को खाना उपलब्ध कराया जा रहा है। समिति के अध्यक्ष अवतार सिंह ने कहा कि समिति लॉकडाउन लागू होने के बाद से ही अलग-अलग क्षेत्रों में आवश्यकतानुसार लोगों को भोजन, नाश्ता और अन्य सामग्री उपलब्ध कराकर मदद कर रही है। इसके साथ ही राष्ट्रीय युवा क्रांति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष इंजीनियर नलिन सिंह और पुष्पेंद्र चौधरी ने घरों को पैदल जा रहे लोगों को पिछले दो दिन से खाना, नाश्ता खिलवाया। नलिन सिंह अपने कुछ साथियों के साथ हाईवे पर पहुंचे और घरों को पैदल जा रहे लोगों को भोजन-नाश्ता करवा रहे हैं। नलिन सिंह और उनके साथियों द्वारा भी लॉकडाउन के लागू होने के बाद से ही जरुरतमंदों की सहायता का काम जारी है।
स्वामी विवेकानंद सेवा ट्रस्ट के सदस्य भी संगठन के चेयरमैन विनोद सिंह यादव के साथ जरुरतमंदों को भोजन व राशन की आपूर्ति की। पुलिस कर्मियों को मास्क और सैनिटाइजर भी उपलब्ध कराए गए।
इसके साथ ही सिंघ सेवक जत्था समिति व गुरुद्वारा संत भाई जी बाबा प्रबंधक कमेटी के सदस्यों द्वारा भी बाहर से आ रहे लोगों व स्थानीय जरुरतमंदों की मदद की जा रही है। इसके साथ ही अन्य तमाम संगठन भी जरुरतमंदों की सेवा में लगे हुए हैं।
... और पढ़ें

नवरात्र में पांचवें दिन स्कंदमाता की हुई पूजा-अर्चना

रामपुर/बिलासपुर/केमरी/खजुरिया। नवरात्र में पांचवें दिन मां दुर्गा के स्कंदमाता स्वरूप की पूजा-अर्चना की गई। श्रद्धालुओं ने घरों में पूजन कर माता से शक्ति का वर मांगा।
नवरात्र में पांचवें दिन रविवार को भी श्रद्धालुओं ने घरों पर ही पूजा-अर्चना की। माता का रोली से तिलक कर पुष्प व फल अर्पित कर नवरात्र व्रत कथा का पाठ किया। इसके बाद आरती व दुर्गा चालीसा के पाठ के साथ ही अज्ञारी पूजन किया। अज्ञारी में श्रद्धालुओं ने हवन सामग्री के साथ ही धूप,कपूर, लौंग, सूखे मेवा, मिश्री-मिष्ठान, देशी घी के साथ आहुति देकर पूजन किया। इसके साथ ही कई श्रद्धालुओं ने दुर्गा सप्तशती का पाठ भी किया और इसके साथ कवच, कीलक और अर्गला स्तोत्र का पाठ किया।
पंडित नवनीत शर्मा बताते हैं कि नवरात्रि के पांवें दिन मां दुर्गा के स्कंदमाता स्वरूप की पूजा की जाती है। स्कंदकुमार की माता होने के कारण मां के इस स्वरूप का नाम सं्कदमाता पड़ा। तारकासुर के वध के लिए शिवजी ने पार्वती से विवाह किया और उनकी संतान कार्तिकेय भगवान ने तारकासुर का वध किया था। मां का यह रूप नारी शक्ति का प्रतीक है। वहीं कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते शहर के पुराना गंज स्थित माई का थान मंदिर, श्री हरिहर मंदिर, श्री त्रिपुरेश्वरी शक्ति पीठ, सिविल लाइंस स्थित मां दुर्गा का प्राचीन मंदिर, मनोकामना मंदिर समेत सभी प्रमुख मंदिरों में पुजारियों पूजन किया। यहां श्रद्धालु नहीं पहुंचे।
बिलासपुर क्षेत्र में चैत्र नवरात्र के पांचवे दिन रविवार को श्रद्धालुओं ने मां दुर्गा के पांचवे स्वरुप मां स्कंदमाता देवी की अपने घरों और मंदिरों में पूजा अर्चना की। नगर के मोहल्ला कायस्थान के काली माता मंदिर, श्री सनातन धर्म मंदिर साहूकारा, श्री सनातन धर्म मंदिर पंजाबी कालोनी, मां पीतांबरा मंदिर, दुर्गा भवानी पंचायती मंदिर डैम कालोनी, शिव मंदिर, शिवबाग मंडी का मंदिर, मनोरम मंदिर, लक्ष्मीनारायण मंदिर, श्री कृष्णलीला मंदिर आदि मंदिरों व घरों में महिलाओं ने छंद गए और रात को आरती के के बाद व्रत को विश्राम दिया गया।
... और पढ़ें

फुटकर बिक्री पर लगाएं रोक, सिर्फ दुकानदार को ही दें सामान

रामपुर। जिलाधिकारी आंजनेय कुमार सिंह ने मंडी समिति का निरीक्षण किया। इस दौरान आढ़तियों को निर्देश दिए कि सिर्फ दुकानदारों को ही सामान दें। फुटकर बिक्री न करें। ऐसा करेंगे तो भीड़ एकत्र होगी, जिससे व्यवस्था गड़बड़ हो जाएगी। उन्होंने मंडी सचिव को यह भी निर्देश दिए कि दुकानदारों को टोकन के जरिए सामान देने के निर्देश दिए।
लॉकडाउन के बाद से प्रशासनिक अफसर पूरी तरह से मुस्तैद हैं। लिहाजा, रविवार को सुबह के समय जिलाधिकारी अचानक मंडी समिति पहुंच गए। उन्होंने भ्रमण कर आढ़तियों और दुकानदारों से बात की। कहा कि आ़ढ़ती सिर्फ फलों एवं सब्जियों की सप्लाई दुकानदारों को ही करें। किसी को एक किलो या दो किलो सामान न बेंचे। ऐसा इसलिए कि यदि फुटकर बिक्री हुई तो व्यवस्था बाधित हो जाएगी। लॉकडाउन का मतलब ही समाप्त हो जाएगा। उन्होंने आढ़तियों को पूरी सतर्कता बरतने के भी निर्देश दिए। इसके बाद मंडी सचिव को तलब कर लिया। कहा कि यह जिम्मेदारी आपकी है कि दुकानदार के अतिरिक्त कोई और मंडी में अनावश्यक भीड़ न लगाए। सोशल डिस्टेसिंग का ख्याल रखते हुए दुकानदारों को टोकन जारी किए जाएं, जिसके जरिए वे सामान की खरीदारी कर सकें। उन्होंने कहा कि प्रशासन की ओर से घर- घर सामान की सप्लाई का इंतजाम किया गया है। ऐसे में हमें तो लग रहा है कि सबको घर पर सामान मिल रहा है, लेकिन कुछ लोग इधर-उधर से सामान ले रहे हैं। वे हमें बताएं उन्हें सामान लेने के लिए कहीं जाने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि व्यवस्था में किसी भी कमी का भी तो तभी पता लगेगा जब लोग बताएंगे।
... और पढ़ें

रास्ते में फंसे लोगों को उनके घर पहुंचाने के लिए चार बसें रवाना

रामपुर।कोरोना वायरस के चलते रास्ते में फंसे लोगों को उनके घर तक पहुंचाने के लिए रामपुर रोडवेज की चार बसें लखनऊ और कानपुर के लिए रवाना कर दी है।
कोरोना वायरस के चलते पूरे देश भर 21 दिन का लॉकडाउन कर दिया गया था।जिसके बाद भारी संख्या में रास्ते में फंसे लोग अपने घरों पर आ रहे है। सवारी नहीं मिलने पर लोग पैदल ही रवाना हो गए है लेकिन परेशानी को देखते हुए शासन की ओर से इन लोगों के लिए काफी बसें भी चलाई जा रही है ताकि सभी लोगों को घर तक पहुुंचाया जा सके। रविवार को काफी संख्या में लोग रामपुर आ गए थे। उसके बाद उन लोगों से जानकारी लेने के बाद दो बसों केे लखनऊ और दो बसों को कानपुर तक के लिए रवाना कर दिया गया ताकि वह लोग अपने घरों को सही से पहुँच सके। इस दौरान उन लोगों को खाना भी खिलाया गया। एआरएम कपिल कुमार ने बताया कि शासन से आदेश मिलने के बाद रविवार को चार बसों को रवाना किया गया है। जिसमे दो बसें कानपुर और दो बसें लखनऊ भेजी गई है ताकि वह लोग अपने घरों तक सही से पहुँच सके।
... और पढ़ें

रामपुर में मजदूरों से भरा ट्रक पलटा, एक की मौत, कई घायल

उत्तर प्रदेश के रामपुर में मजदूरों से भरा ट्रक पलट गया। हादसे में एक मजदूर की मौत हो गई है। जबकि 10 मजदूर घायल हो गए। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 
आपको बता दें कि पटवाई थाना इलाके में मथुरापुर के पास मजदूरों से भरा ट्रक पलट गया। हादसे में 10 मज़दूर घायल हो गए हैं। घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जिनमें से एक की मौत हो गई। 

ये सभी मज़दूर अहमदाबाद से शुक्रवार को ट्रक में सवार होकर रामपुर आ रहे थे। ट्रक में 55 मज़दूर थे। मृतक की शिनाख्त यासीन पुत्र ज़की खान निवासी तुमड़िया शहज़दनागर जिला रामपुर के रूप में हुई है। घायलों में सलमान, इमरान, सलमान,माहिर, मुज़्ज़मिल, अज़ीम, तनवीर, नक्शे अली शामिल हैं। ये सभी रामपुर के हैं। जबकि एक घायल नादिर उत्तराखंड के बाजपुर निवासी है।

 
... और पढ़ें

सपा नेता के धर्मकांटे के ताले तोड़कर पचास हजार की चोरी

रामपुर। गंज कोतवाली क्षेत्र में नैनीताल हाईवे किनारे स्थित सपा नेता के धर्मकांटे का ताला तोड़कर चोरी कर ली गई।चोरों ने बैटरी-इन्वर्टर समेत काफी सामान पार कर दिया। घटना की जानकारी पुलिस को दे दी गई है ।
शहर के मोहल्ला पीर की पैठ निवासी सलीम कासिम जिला सहकारी बैंक के पूर्व चेयरमैन हैं। उनका नैनीताल हाईवे पर बग्गी गांव के पास धर्मकांटा है। लॉकडाउन के बाद धर्मकांटे को बंद कर दिया गया है। वहां पर चौकीदार तक नहीं आ रहा है।धर्म कांटे पर चोरों ने ताले तोड़ लिए जहां से इन्वर्टर बैटरी, ट्रैक्टर की बैटरी समेत काफी सामान चुरा लिया।जिससे करीब 50 हजार का नुकसान हुआ है। घटना की तहरीर सपा नेता के पुत्र फैसल कासिम की ओर से गंज कोतवाली में दी गई है।
... और पढ़ें

नवेद मियां के लिए वोट मांगने आए थे बेनी प्रसाद वर्मा

रामपुर। कद्दावर नेता बेनी प्रसाद वर्मा 2014 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के प्रत्याशी नवाब काजिम अली खां उर्फ नवेद मियां के लिए वोट मांगने रामपुर आए थे। तब मिलक क्षेत्र के रठौंडा गांव में उन्होंने फिल्म स्टार नगमा के साथ जनसभा को संबोधित किया था। नवेद मियां ने उनके निधन पर शोक जताया है।
पूर्व मंत्री नवाब काजिम अली खां उर्फ नवेद मियां के पीआरओ काशिफ खां ने बताया कि 13 अप्रैल 2014 को रठौंडा में हुई जनसभा में बेनी प्रसाद वर्मा ने मुख्य अतिथि के रूप में भाग लिया था। तब उनके साथ फिल्म स्टार नगमा भी आई थीं, लेकिन हेलिकॉप्टर का फ्यूल खत्म हो जाने की वजह से उन्हें जनसभा के कई घंटे बाद तक ग्राम सिंगरा में अकरम सुल्तान खां के घर पर बैठना पड़ा था। पूर्व मंत्री नवेद मियां ने बेनी प्रसाद वर्मा के निधन पर शोक व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि बेनी बाबू जनप्रिय और ईमानदार छवि वाले नेता थे। राजनीति में उनकी कमी कभी भी पूरी नहीं की जा सकेगी।
... और पढ़ें

लॉकडाउन के दौरान ज्वालानगर में बंद कराईं दुकानें, सड़कों पर सन्नाटा

रामपुर। कोरोना वायरस के संक्रमण को खत्म करने के लिए लागू किए गए लॉक डाउन के चौथे दिन रामपुर की सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा। इस दौरान ज्वालानगर में जरूरी सामान की दुकानें खुली हुईं थीं, जिसे बाद में डीएम के आदेश पर पुलिस कर्मियों ने दुकानें बंद करा दीं। हालांकि, इसके बाद भी सामान की आपूर्ति जारी रही। लोगों को दूध, सब्जी, फल आदि घर बैठे ही मिले।
कोरोना वायरस से देश में दहशत फैली हुई है। इससे निपटने के लिए सरकार ने तीन दिन पहले देशव्यापी लॉक डाउन की घोषणा की थी, इसके बाद रामपुर भी लॉकडाउन हो गया था और लोग घरों में कैद हो गए थे। लॉकडाउन के चौथे दिन भी सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा। शहर से लेकर गांव तक जरूरी सामानों की आपूर्ति के लिए कुछ दुकानें खुली हुई थीं, लेकिन इन दुकानों पर लोगों की भीड़ नजर आ रही थी, इसके बाद जिलाधिकारी पुलिस कर्मियों को दुकानें बंद कराने के निर्देश दिए। पुलिस कर्मियों ने दुकानें बंद करा दीं। हालांकि, दुकानदारों को यह कहा गया कि वे जरूरी सामान की आपूर्ति कर सकते हैं। दुकानों के शटर बंद रहेंगे, लेकिन सप्लाई जारी रहेगी। इस दौरान फल, सब्जी, दूध आदि के विक्रेताओं ने लोगों को घर बैठे ही सामान की सप्लाई की।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us