विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus in UP Live Updates: प्रदेश में 80 संक्रमित, लखनऊ में 9 दिनों से नहीं मिला कोई मरीज

शासन और प्रशासन संक्रमण के चेन को तोड़ने के लिए लगातार कोशिश कर रहा है। लोगों से भी हर वक्त घरों में रहने की अपील की जा रही है।

30 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

संभल

सोमवार, 30 मार्च 2020

लॉकडाउन: हाइवे सुनसान, शहरी क्षेत्र में कुछ लोगों पर नहीं दिख रहा प्रभाव

चंदौसी/गुन्नौर/बनियाठेर। कोरोना से जंग को हाइवे सुनसान है, तो आबादी क्षेत्र में कुछ लोग इसे मजाक बना रहे हैं। सोशल डिस्टेंस खत्म कर गली-मोहल्ले चौराहे पर एकत्र होकर तमाशा देखने लगे हैं। मंडी में भीड़ लगी है। यही हाल रहा तो चंदौसी में लॉकडाउन का कोई फायदा नहीं होने वाला है। पुलिस को देख लोग घरों में दुबक जाते हैं। गुरुवार को पुलिस ने कार्रवाई कर कई लोगों को हिरासत में ले लिया और थाने आई।
कोरोना वायरस से जंग में लॉकडाउन का दूसरा दिन है। बदायूं स्टेट हाइवे, आगरा-अलीगढ़, मुरादाबाद एनएचएआई पर पूरी तरह से सन्नाटा पसरा रहा। इमरजेंसी सेवा वाले वाहन ही दिखाई दिए। दिन निकलते ही चंदौसी शहर के कुछ क्षेत्रों में लोगों ने घर से बाहर का रुख कर दिया। घरों से निकले लोग नुक्कड़ चौराहे, गली के मुहाने पर एकत्र हो गए। बाजार में भी यही हाल रहा। दिन भी लोग पैदल, बाइक पर घूमते नजर आए।
नहीं बरत रहे सावधानी, मंडी में सोशल डिस्टेंस खत्म
सब्जी मंडी चंदौसी में लॉकडाउन के दौरान बरती जाने वाली सोशल डिस्टेंस खत्म हो रही है। लोगों को भय नहीं है। मंडी में सब्जी खरीदते समय जमघट लगा रहे हैं। कोरोना से बचाव को बरती जा रही सोशल डिस्टेंस का किसी को कोई ध्यान नहीं है। गुरुवार सुबह को पुलिस को सूचना देरी से मिली। मौके पर पहुंची पुलिस ने लोगों को फटकार कर मंडी को खाली कराया।
... और पढ़ें

यूपीः जुमे की नमाज पर जामा मस्जिद में नहीं होगी भीड़, शाही इमाम ने की अपील

कोरोना के प्रकोप को देखते हुए, संभल जामा मस्जिद में जुमे की नमाज पर अबकी बार भीड़ भाड़ नहीं रहेगी। शाही जामा मस्जिद के इमाम मौलाना आफताब हुसैन वारसी ने गुरुवार को अपील जारी की। इसमें उन्होंने कहा है कि शुक्रवार को अपने घरों में रहें। कोरोना का खतरा है। इसलिए गली मोहल्लों में भीड़ न लगाएं।

नमाज के लिए जामा मस्जिद का रूख न करें। जो दो चार लोग जामा मस्जिद में हैं वो अजान के बाद वहीं पर नमाज पढ़ सकते हैं लेकिन बड़ी संख्या में मस्जिदों मे नहीं जाना है। सरकार के निर्देश पर लॉकडाउन का पालन करना है। जरूरी एहतियात भी बरतनी है। 

अपनी हिफाजद के लिए मॉस्क लगाएं। घर के आसपास साफ सफाई का विशेष ख्याल रखना भी जरूरी है। घरों में रहें,ज्यादा से ज्यादा इबादत करें, मस्जिद में जुमे की नमाज मुल्तवी की जाएगी। 

शिया जामा मस्जिद सिरसी के इमाम मौलाना एहतेशाम नकवी ने कहा कि मुल्क की हुकूमत के जरूरी हुक्म को मानना हर मुसलमान पर वाजिब है। मुल्क और दुनिया में फैली कोरोना वायरस की बीमारी को देखते हुए हुकूमत ने हर तरह की भीड़ पर रोक लगाई है। ऐसे में अगले हुक्म आने तक जुमे की नमाज मुल्तवी की जाती है।

 साथ ही शाही इमाम ने अवाम से अपील की है कि अपने घरों रहें। ज्यादा से ज्यादा इबादत करें। जरूरत मंदों की मदद करें।
... और पढ़ें

लॉकडाउन के दौरान मंडी में उमड़ी भीड़

चंदौसी। लॉकडाउन के बाद सब्जी मंडी में सुबह के समय भीड़ उमड़ पड़ी। सुबह दस बजे तक मंडी पूरी तरह से खाली हो गई। शहर में लगने वाली सब्जी की दुकान व फड़ को पुलिस ने बंद करा दिया। ठेले वालों को घर-घर सब्जी पहुंचाने के निर्देश दिए।
मंडी में फुटकर में आलू 20 रुपये किलो में बिका। जबकि अन्य सब्जियों के दाम सामान्य रहे। बुधवार को मंडी खुलते ही ठेले वालों व आम नागरिकों की भीड़ पहुंच गई। आपधापी में लोगों की सब्जी की खूब खरीददारी की। लोगों ने घर की जरूरत के हिसाब से अधिक से अधिक सब्जी खरीदी। शहर में लगने वाली सब्जी मंडी व फड़ पर बिकने वाली सब्जी की दुकानों को बंद करा दिया।
बाजार से ठेले वालों ने सब्जी का उठान किया और मोहल्लों में घर-घर जाकर सब्जी दी। लोगों को घर से बाहर न निकलने की अपील की गई। मंडी में आलू फुटकर 20 रुपये किलो में बिका है। जबकि मंडी से बाहर आने पर यही आलू 25 रुपये से 30 रुपये प्रति किलो बिका।
... और पढ़ें

बाबा ने कहा-बेटा देह त्यागने से ही मिलेगी मुक्ति, युवक ने दे दी जान

चंदौसी/गुन्नौर। छह दिन पूर्व राजघाट के पास खाई में मिले गांव मीरमपुर के घेर निवासी जुगेश के शव के मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। जुगेश ने बाबा यानी पुजारी के उकसाने पर फंदा लगा लिया था। पुलिस ने खुलासा करते हुए आरोपी बाबा व दो अन्य लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। परिजनों ने पुलिस को जुगेश के घर न लौटने की तहरीर दी थी।
रविवार को कोतवाली गुन्नौर में प्रभारी निरीक्षक प्रवीन सोलंकी ने जुगेश प्रकरण का खुलासा करते हुए बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक जुगेश की मौत फंदा लगने से हुई थी। जबकि उसका शव राजघाट के पास खाई में पड़ा मिला था। जांच में सामने आया था कि जुगेश का मीरमपुर के चामुंडा मंदिर के बाबा हरिओम गिरि के पास आना जाना था। बाबा से पूछताछ की तो उसने सारा राज उगल दिया। बताया कि 23 मार्च की रात जुगेश बाइक से मंदिर पर पहुंचा। उस समय मंदिर पर गांव निवासी संजय, रामवीर थे। चारों ने बैठकर शराब पी। जुगेश ने बाबा से पारिवारिक व आर्थिक समस्या बताई।
नशे में बाबा हरिओम गिरि ने जुगेश को सलाह दी कि बेटा इस समस्या से मुक्ति का एक ही रास्ता है। तुम इस देह को त्याग दो। इसके बाद बाबा, संजय व रामवीर अंदर कमरे में चले गए। जुगेश ने दीवार पर चढ़कर पीपल के पेड़ की डाली से गमछा बांध कर फंदा लगा लिया। बाहर आने पर उन्हें जुगेश फंदे पर लटका मिला। उन्होंने जुगेश के शव को नीचे उतारा और उसकी बाइक से शव राजघाट की ओर ले गए और खाई में डाल दिया। उसकी बाइक भी वही छोड़ आए। इस मामले में तीनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया।
साथ बैठकर पी थी शराब
बाबा हरिओम गिरि ने बताया कि जुगेश रात को दस बजे मंदिर पहुंचा था। वह साथ में शराब व खाना भी लेकर आया था। सभी ने शराब पी। नशे में ही जुगेश ने बताया कि उसकी पत्नी लड़ती है। बोलेरो की किश्त भी नहीं भरी जा रही है। बेटी शादी लायक हो गई है। बताया कि नशे में ही उसे मरने की सलाह दे दी थी। उन्हें नहीं पता था, कि वह तुरंत ही ऐसा आत्मघाती कदम उठा लेगा।
... और पढ़ें

दिल्ली से 150 किमी साइकिल चलाकर पहुंचे युवक को गांव मे घुसने से रोका

संभल। कोरोना से बचाव के लिए लोग इस तरह सतर्क हो गए हैं कि अगर कोई व्यक्ति गांव आता है तो उसे उसके ही घर में स्वास्थ्य परीक्षण के बिना नहीं जाने दे रहे हैं। ऐसा ही एक मामला सिंहपुर सानी में सामने आया। गांव निवासी सतीश दिल्ली से 150 किलोमीटर साइकिल चलाकर रविवार को दिन में 11 बजे पहुंचा।
गांव के ही लोगों ने उसे गांव में अपने घर जाने से रोक दिया और आंगनबाड़ी केंद्र से आगे नहीं बढ़ने दिया। युवक भूखा था। गांव के लोगों ने उसके घर खबर दी। मां घर से भोजन लेकर आई। उसने आंगनबाड़ी केंद्र में ही भोजन किया।
इसके बाद सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर फोन पर दिया। चिकित्साधीक्षक डा. जुहेब करीम पहुंचे। उन्होंने जांच की तो पता लगा कि युवक ठीक है। इसके बाद युवक को उसके घर जाने दिया गया।
... और पढ़ें

संभल में कोई कोरोना पाजिटिव नहीं, जिले की सीमाओं पर बढ़ी सख्ती (लीड)

संभल। लॉक डाउन के पांचवें दिन दिल्ली एनसीआर और दूसरे राज्यों से लोगों के आने का सिलसिला जारी रहा। रविवार को सड़कें सूनी रहीं लेकिन गली-मोहल्लों में भीड़ भाड़ का माहौल रहा। लॉक डाउन का पालन करने के लिए पुलिस और प्रशासन की ओर से सख्ती बरती जा रही है। जिले में 39 स्थानों पर बैरियर लगा दिए गए हैं। आवश्यक सेवाओं को जारी रखा गया है लेकिन अनावश्यक किसी को नहीं निकलने दिया जा रहा है। पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद ने लोगों से घरों में रहने का आग्रह किया है।
जिले में आवश्यक वस्तुओं की अभी कहीं कोई कमी नजर नहीं आई। जो जरूरतमंद हैं उनके लिए प्रशासन और सामाजिक लोग सक्रियता दिखा रहे हैं। राजेश सिंघल, सुशील ठाकुर और चंद्रप्रकाश भट्ठे वालों ने सामुदायिक रसोई शुरू कराई है। जिलाधिकारी अविनाश कृष्ण सिंह ने आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता सुुनिश्चित करने के लिए दवा, फल, सब्जी दुकानदारों की सूची मय फोन नंबर के जारी कराई है।
निजी अस्पतालों में कोरना से निबटने के लिए वार्ड बनाए जा रहे हैं। अभी तक जिले में एक भी कोरोना पाजिटिव नहीं है। जिन छह लोगों के नमूने कोरोना आशंकित मानकर भेजे गए थे वे सभी नमूने निगेटिव आए हैं। अब जिले में विदेशों से आए 44 लोगों की सेहत की निगरानी स्वास्थ्य विभाग कर रहा है। वैसे अब तक कुल 59 लोग कोरोना आशंकित देशों से आए हैं। इसमें 15 लोग ऐसे हैं जो 28 दिन की अवधि पार कर चुके हैं और पूरी तरह से सेहतमंद हैं।
... और पढ़ें

हाईटेंशन करंट से महिला की मौत

चंदौसी के शाहबाद तिराहे पर अपने घरों को पैदल ही जाते राहगीर।
चंदौसी/बनियाठेर। थाना बनियाठेर क्षेत्र के गांव नेहटा में घास काटते समय हाईटेंशन करंट की चपेट में आ गई। हादसे में महिला की मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पीएम को भेज दिया है। परिजनों का रो- रोकर बुरा हाल है।
थाना क्षेत्र के गांव निवासी हरप्यारी 50 वर्ष पत्नी हरद्वारी सिंह जंगल से पशुओं के लिए घास लेने गई थी। जंगल में गांव निवासी रामपाल सिंह ने पशुओं से गेहूं की फसल के बचाव के लिए खेत के चारों ओर तार फेसिंग कर रखी है। शनिवार को खेत के ऊपर से गुजर रही हाईटेंशन विद्युत लाइन का तार टूटकर फेसिंग पर गिर गया था। मेढ़ पर घास काटते समय हरप्यारी फेसिंग में आ रहे हाईटेंशन करंट की चपेट में आ रही है।
फेसिंग का तार महिला के सिर व बाजू में बैठ गया। मौके पर ही उसकी मौत हो गई। करंट से हरप्यारी की आधी बाजू कट गई तथा चेहरे में तार बैठ गया। हाईटेंशन करंट की वजह से शव में आग भी लग गई। खेत पर गए लोगों ने घटना की सूचना परिजनों को दी। मौके पर पहुंचे इंस्पेक्टर सीवी सिंह ने घटना का जायजा लिया और शव कब्जे में लेकर पीएम को भिजवाया। महिला की मौत से परिजनों का रो रोकर बुरा हाल है।
... और पढ़ें

पत्नी और बेटे के साथ साइकिल से पानीपत से गांव लौटा ग्रामीण

दो पक्षों के बीच मारपीट, युवक ने कोरोना मरीज बताकर पीटने का आरोप लगाया

संभल/गवां। रजपुरा थाना क्षेत्र के एक गांव में दो पक्षों में किसी बात को लेकर मारपीट हो गई। एक पक्ष ने पुलिस को सूचना दी कि कोरोना मरीज बताकर पीटा गया है। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच पड़ताल की। मामला मारपीट का निकला।
दोनों पक्षों पर रिपोर्ट दर्ज की गई है। शुक्रवार की देर रात रजपुरा थाना क्षेत्र के गांव निवासी युवक को कुछ ग्रामीणों ने घर के बाहर खींच पर मारपीट शुरू कर दी। पीड़ित ने आरोप लगाया कि ग्रामीण उस पर कोरोना आशंकित मरीज होने का आरोप लगा रहे हैं। जब परिजनों ने मारपीट करने से रोका तो उन्हें भी मारा पीटा गया है। इसमें वह तीन लोग घायल हो गए।
वहीं दूसरे पक्ष का कहना है कि उसकी बेटी का रिश्ता एक गांव निवासी युवक के साथ चल रहा है। जल्दी शादी होनी है। आरोपी युवक ने युवती के होने वाले ससुरालियों को फोन कर आपत्तिजनक बात कही है। दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर आरोप लगाते हुए कार्रवाई को तहरीर दी है। पुलिस क्षेत्राधिकारी केके सरोज का कहना है कि कोरोना मरीज बताकर पीटने की घटना नहीं है। इन दोनों पक्षों में किसी बात को लेकर मारपीट हो गई थी। जिसमें पुलिस ने दोनों पक्षों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है।
... और पढ़ें

संभल में लॉकडाउन में पसरा रहा सन्नाटा

संभल। जिले में लॉकडाउन के चौथे दिन शनिवार को अधिकतर लोगों ने अपने घरों में रहकर वक्त बिताया। शहर की मुख्य सड़कों पर सन्नाटा भरा माहौल रहा। लेकिन गली मोहल्लों और ग्रामीण क्षेत्र में तमाम लोग निकले। भीड़भाड़ रही। संभल की मंडी समिति में सुबह आठ बजे खरीदारों की भारी भीड़ लग गई थी। मौके पर पहुंची पुलिस ने लोगों को डंडा दिखाकर फटकारा। लोगों को तितर-बितर किया।
संभल की उप नगरी सरायतरीन में शनिवार की दोपहर दुकानें खुलीं और लोग जरूरी सामान की खरीदारी के लिए निकले तो बाजार में भीड़ भरा माहौल बन गया। असमोली, ओबरी समेत कई स्थानों पर लोग लॉकडाउन को तोड़ते दिखे।
इस बीच दिल्ली और एनसीआर से पैदल चलकर संभल और बदायूं के लिए लोगों के आने का सिलसिला जारी रहा। पुलिस और सामाजिक व्यक्तियों ने भूखे लोगों को लंच पैकेट दिए। संभल सीएचसी की चार टीमों ने 350 लोगों की सेहत की जांच की। विदेश से आए तीन लोगों को उनके ही घर में क्वारंटीन किया। इनके घर के बाहर क्वारंटीन का नोटिस भी चस्पा किया गया है।
... और पढ़ें

मोमबत्ती बेचने जा रहे साइकिल सवार को बेकाबू कार ने रौंदा, मौत

संभल। हयातनगर थाना क्षेत्र के संभल-गवां मार्ग स्थित गांव बेनीपुर चक मोड़ के नजदीक बेकाबू कार ने साइकिल सवार को टक्कर मार दी। जिसमें मौके पर ही युवक की मौत हो गई। मौके पर पहुंची पुलिस शव अस्पताल लेकर पहुंची। इसके बाद परिजनों को सूचना दी गई। अस्पताल पहुंचे परिजनों में कोहराम मच गया। पंचनामा भर शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। वहीं दूसरी ओर पुलिस ने कार कब्जे में कर ली।
अज्ञात चालक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। शनिवार की सुबह 11.30 बजे करीब संभल-गवां मार्ग स्थित गांव बेनीपुर चक मोड़ के नजदीक साइकिल सवार को बेकाबू होंडा सिटी कार ने टक्कर मार दी। इसमें थाना क्षेत्र के गांव कमलपुर सराय निवासी डैनी (35) पुत्र रामस्वरूप की मौत हो गई। हादसा उस समय हुआ जब युवक नखासा थाना क्षेत्र के गांव सलारपुर के लिए साइकिल से जा रहा था।
जैसे ही संभल-गवां मार्ग स्थित गांव बेनीपुर चक मोड़ के नजदीक पहुंचा तो पीछे से आई कार ने टक्कर मार दी। जिसमें मौके पर ही मौत हो गई। मृतक के भाई कल्लू ने बताया कि उनका भाई साइकिल से मोमबत्ती बेचने का काम करता था। शनिवार को गांव सलारपुर मोमबत्ती बेचने के लिए जा रहा था। रास्ते में हादसा हो गया और मौत हो गई। वहीं दूसरी ओर हादसे के बाद आरोपी चालक कार छोड़कर भाग गया। हयातनगर थाना प्रभारी निरीक्षक विद्युत गोयल ने बताया कि हादसे के बाद आरोपी चालक मौके से भाग गया। कार कब्जे में ले ली है। शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और अज्ञात चालक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है।
... और पढ़ें

यूपी: दिल्ली से लौटे युवक को कोरोना संक्रमित मानकर ग्रामीणों ने की पिटाई, बचाने आए पिता भी घायल

लॉकडाउन के कारण दिल्ली और आसपास के शहरों में काम करने वाले लोग बड़ी संख्या में वापस अपने-अपने गांव लौट रहे हैं। ऐसे में तमाम तरह की अफवाहें और शक भी गांवों में फैल रहा है। शनिवार को दिल्ली से उत्तर प्रदेश के संभल जिले में अपने घर लौटे एक युवक को ग्रामीणों ने कोरोना मरीज के शक में पीट डाला। घटना रजपुरा थानाक्षेत्र के सिंघोली कल्लू की है।

युवक दिल्ली में रहकर काम करता था। लॉकडाउन की घोषणा के बाद वह संभल लौटा। आज सुबह ग्रमीणों को शक हुआ कि वह कोरोना वायरस से संक्रमित है। इसके बाद लोगों ने उसे घर से निकालकर बुरी तरह पीटना शुरू कर दिया। 

बेटे को पिटते देख उसे बचाने आए पिता को भी ग्रामीणों ने बुरी तरह पीट डाला। ग्रामीणों ने बीच सड़क पर बेरहमी से पिता-पुत्र की पिटाई की। घायल पिता ने किसी तरह पुलिस को मामले की सूचना दी। पीड़ित युवक ने बताया कि कुछ लोग उसके घर आए और बोलने लगे कि तुम्हारे घर में कोरोना वायरस का मरीज है। पिता और बेटे ने जब ऐसी किसी भी बात से इनकार कर दिया, तो ग्रामीणों ने उन्हें पीटना शुरू कर दिया।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us