विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

मेरठ में हॉटस्पॉट इलाकों की ड्रॉन से निगरानी, यूपी में 427 हुई संक्रमितों की संख्या

उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस के मरीज मिलने का सिलसिला थम नहीं रहा है। शुक्रवार की सुबह आगरा में पांच नए मामले सामने आए हैं। यूपी में संक्रमितों की संख्या 427 पहुंच गई है।

10 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

संत कबीर नगर

शुक्रवार, 10 अप्रैल 2020

कोरोना की वजह से 12वीं तक बच्चों का ट्यूशन फीस किया माफ

कोरोना की वजह से 12वीं तक बच्चों का ट्यूशन फीस किया माफ
- स्कूल प्रबंधक ने यूथ आईकॉन प्रदीप सिंह के साथ डीएम को सौंपा पत्र
- स्कूल में एलकेजी से 12वीं तक पढ़ते है करीब 1000 विद्यार्थी
अमर उजाला ब्यूरो
संतकबीरनगर। कोरोना की महामारी से लोगों के बचाव में समाजसेवी रामफेर चौधरी भी आगे आ गए हैं। शिवसरा में संचालित अपने स्कूल में 12वीं तक पढ़ने वाले सभी बच्चों की साल भर की ट्यूशन फीस माफ कर दिए हैं। सोमवार को वह अपने मित्र यूथ आईकॉन प्रदीप सिंह के साथ डीएम, डीआईओएस और बीएसए से मिले और इस संबंध में पत्रक भी सौंपा।
समाजसेवी रामफेर चौधरी ने कहा कि खलीलाबाद विकास खंड के शिवसरा में उनका पार्वती उच्चतर माध्यमिक विद्यालय संचालित है। जिसमें एलकेजी से 12वीं तक की पढ़ाई होती है। करीब 1000 छात्र-छात्राएं विद्यालय में पढ़ते है। इधर कोरोना की वजह से लॉकडाउन है। कामकाज बंद होने से लोगों के समक्ष आर्थिक संकट उत्पन्न हो गया है। मित्र यूथ आईकॉन प्रदीप सिंह के सुझाव पर राष्ट्रहित में वह अपने स्कूल में पढ़ने वाले सभी छात्र-छात्राओं का वर्ष 2020-21 का साल भर का ट्यूशन शुल्क माफ करने कर दिए हैं। जिससे कोई भी बच्चा आर्थिक संकट की वजह से शिक्षा प्राप्त करने से वंचित न हो। उन्होने डीएम, डीआईओएस और बीएसए से मिलकर पत्रक भी सौंपा। यूथ आईकॉन प्रदीप सिंह ने कहा कि साथी रामफेर चौधरी की पहल सराहनीय है। कोरोना वैश्विक महामारी है। इससे निजात के लिए प्रत्येक व्यक्ति का दायित्व है कि जरूरतमंदों की मदद करें। कोरोना से बचने के लिए लोगों को अपने घरों में रहना चाहिए। लॉकडाउन का अनुपालन करना चाहिए। तभी करोना की जंग जीती जा सकेंगी।
... और पढ़ें

मरकज दिल्ली से आए युवक समेत 14 लोग भेजे गए अस्पताल

मरकज दिल्ली से आए युवक समेत 14 लोग भेजे गए अस्पताल
- जांच के बाद डॉक्टरों ने सभी को घर पर ही 14 दिन तक क्वारंटीन रहने की दी सलाह
- सर्विलांस पर इलाहाबाद के रहने वाले युवक के नंबर को लगाकर पुलिस करेंगी जांच पड़ताल
अमर उजाला ब्यूरो
संतकबीरनगर। मरकज दिल्ली से आए इलाहाबाद के एक युवक को रविवार की रात दुधारा पुलिस ने ऊंचहरा कला गांव से पकड़ा। पुलिस ने उस युवक के संपर्क में आए गांव के 13 अन्य लोगों को चिह्नित किया। सोमवार को पुलिस ने प्रधान प्रतिनिधि की मदद से जांच के लिए 14 लोगों को जिला अस्पताल पहुंचवाया। जांच के बाद डॉक्टरों ने उन्हें वापस घर भेज दिया। सभी को अपने घरों पर 14 दिन तक क्वारंटीन रहने का सुझाव दिया गया। अब पुलिस मरकज दिल्ली से आए इलाहाबाद के युवक के मोबाइल नंबर को सर्विलांस पर लगाएगी और उसके बताए गए तथ्यों के सत्यता की जांच करेगी।
एएसपी असित श्रीवास्तव ने बताया कि एसओ दुधारा श्रीप्रकाश यादव ने रविवार की रात इलाके के ऊंचहरा कला गांव की मस्जिद से पांच लोगों को पकड़ा। जिसमें एक युवक इलाहाबाद का रहने वाला था जो 12 मार्च को मरकज दिल्ली से आकर ऊंचहरा कला गांव की मस्जिद में रह रहा था। उसके संपर्क में गांव के 13 अन्य लोग आ गए थे। पुलिस ने उस गांव के प्रधान प्रतिनिधि मोहम्मद रफीक के जरिए सभी 14 लोगों को जांच के लिए जिला अस्पताल भेजवाया। उन्होंने बताया कि इलाहाबाद के युवक की बातों की सत्यता की जांच के लिए उसके मोबाइल नंबर को सर्विलांस पर लगा दिया गया है। यदि जांच में 15 मार्च के बाद मरकज दिल्ली से आना पाया जाएगा तो इनकी फिर से सैंपलिंग कराई जाएगी। उसके साथ ही यदि जांच में रिपोर्ट निगेटिव आई तो उन्हें क्वारंटीन कराया जाएगा और यदि पॉजिटिव रिपोर्ट आई तो आइसोलेट कराया जाएगा। इसके अलावा तथ्य छुपाने का केस भी दर्ज किया जा सकता है। पूर्व में मरकज दिल्ली से आए 15 लोग दुधारा क्षेत्र के बढ़यामाफी मस्जिद में पाए गए थे। जिन्हें जिला अस्पताल में क्वारंटीन कराया गया है। उनकी जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। उन्हें खलीलाबाद के लाल मैरेज हाल में क्वारंटीन करवा दिया गया है। इन 15 लोगों के अलावा इन्हें संरक्षण देने वाले बढ़यामाफी गांव के दो सगे भाईयों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है। जबकि मगहर की एक मस्जिद में 11 लोग पाए गए थे। उन्हें भी लाल मैरेज हाल खलीलाबाद में क्वारंटीन करवा दिया गया है। एएसपी ने बताया कि बस्ती और महराजगंज में कोरोना के पॉजिटिव मरीज पाए जाने से जिले की सीमा पर 22 जगह बैरियर लगाया गया है। सीमा पर कड़ी चौकसी बरती जा रही है। वैसे अब तक लॉकडाउन के उल्लंघन के मामले में 111 मुकदमें में 223 लोगो को आरोपी बनाया जा चुका है। पुलिस सख्ती के साथ लॉकडाउन का अनुपालन कराने में जुटी हुई है। सीएमओ डॉक्टर हरिगोविंद सिंह ने बताया कि जो 14 लोग आए थे, उनकी जांच करके घर भेज दिया गया है। उन्हें घर पर ही 14 दिन तक क्वारंटीन रहने की सलाह दी गई है।
... और पढ़ें

संतकबीर नगर: मरकज से आकर घर में रह रहे थे नौ जमाती, प्रशासन को मिली सूचना तो भेजे गए अस्पताल

उत्तर प्रदेश के संतकबीर नगर में मरकज दिल्ली से आए नौ और जमाती मिले हैं। इसकी सूचना मिलते ही प्रशासन ने उन्हें जांच के लिए जिला अस्पताल पहुंचा दिया है।

एएसपी असित श्रीवास्तव और सीओ आनंद पांडे ने बताया कि दुधारा इलाके के ऊचहरा कला के रहने वाले नौ जमाती मरकज दिल्ली से आए थे। उस गांव के प्रधान ने मरकज से आए लोगों को जांच के लिए जिला अस्पताल भेजवा दिया है।

पूछताछ के दौरान जमातियों ने बताया कि वे 10 मार्च से पहले ही मरकज से वापस घर आए हैं। इनकी बातों की सत्यता जांचने के लिए इनके नंबरों को सर्विलांस पर लगा दिया गया है। यदि जांच में 15 मार्च के बाद मरकज दिल्ली से आना पाया जाएगा तो इनके नमूनों की जांच कराई जाएगी।

बता दें कि बस्ती जिले में सात लोग कोरोना संक्रमित पाए गए थे, जिसमें एक की मौत हो चुकी है। जनपद की सीमा से जुड़े 22 जगहों पर बैरियर लगाकर सील कर दिया गया है। खास कर बस्ती की सीमा पर कड़ी चौकसी बरती जा रही है।
... और पढ़ें

घर-घर सर्वे कराके तैयार होगा प्रत्येक परिवारों का डॉटावेश

घर-घर सर्वे कराके तैयार होगा प्रत्येक परिवारों का डॉटावेश
संतकबीरनगर। कोरोना वायरस के संक्रमण पर काबू पाने के लिए प्रशासन ने मास्टर प्लान तैयार किया है। इसके तहत घर-घर सर्वे कराकर जनपद के प्रत्येक परिवारों का डॉटावेश तैयार कराया जाएगा। इसमें प्रत्येक परिवार का पूरा विवरण अंकित होगा और उसमें यदि कोई बाहर से आया होगा तो उसकी पहचान हो जाएगी। किसी परिवार के सदस्य को खांसी, सर्दी ,बुखार आदि होगा तो उसका भी पता चल जाएगा। कोरोना के संभावित लक्षण प्रतीत होने पर संबंधित की जांच कराई जाएगी और उसे 14 दिनों के लिए क्वारंटीन की व्यवस्था होगी।
प्रशासन ने जनपद को 30 सेक्टर में बांट दिया है। प्रत्येक सेक्टर में सेक्टर मजिस्ट्रेट और सेक्टर पुलिस अधिकारी की नियुक्ति की है। इसके साथ ही लेखपाल, एएनएम, ग्राम पंचायत सचिव और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की चार सदस्यीय टीम बनाया है। टीमें गांवों में घर-घर जाएंगी और वे प्रत्येक परिवार का डाटावेश तैयार करेंगी। प्रत्येक परिवार में कितने सदस्य हैं और कौन सदस्य किस जगह से कब आया है। परिवार के किसी सदस्य को यदि खांसी, सर्दी और बुखार होगा तो उसका भी पता लगाएगी। ऐसे लोगों के उपचार की व्यवस्था होगी। यदि कोरोना के लक्षण प्रतीत होंगे तो उन्हें 14 दिनों के लिए क्वारंटीन कराया जाएगा।
एडीएम संजय कुमार पांडेय ने बताया कि सेक्टर मजिस्ट्रेट पर्यवेक्षण का काम करेंगे। अपने सेक्टर में जरूरत की वस्तुओं की आपूर्ति भी सुनिश्चित कराएंगे। घर-घर सर्वे करने के लिए जो चार सदस्यीय टीम बनाई गई है, वह अपनी रिपोर्ट सेक्टर मजिस्ट्रेट को सौंपेगी। इस प्रकार ब्लॉक और तहसीलवार सर्वे रिपोर्ट तैयार होगी। फिर जिले की कंपाइल रिपोर्ट बनाई जाएगी। कोरोना में स्वयं सेवी संगठनों की ओर से राहत वितरण का कार्य किया जा रहा है। इसका लेखाजोखा भी सेक्टर मजिस्ट्रेट के पास होगा। सेक्टर मजिस्ट्रेट सोशल डिस्टेंसिंग का भी अनुपालन कराएंगे। इतना ही नहीं कोरोना संक्रमित संदिग्ध मरीज पाए जाने पर मौके पर मेडिकल टीम जांच के लिए भेजा जाएगा। यदि प्रामाणिक जांच की जरूरत होगी तो उसे भी कराया जाएगा। संबंधित का बेहतर उपचार हो, इसकी व्यवस्था कराई जाएगी। ऐसे लोगों को स्कूलों में बने क्वारंटीन सेंटरों में 14 दिनों तक रखवाया जाएगा। 11 अप्रैल के बाद क्वारंटीन सेंटरों पर मेडिकल टीम भेजी जाएगी, जो वहां पहुंच कर जांच करेंगी और उसके बाद जैसी स्थिति होगी,आगे निर्णय लिया जाएगा। अब तक जिले में 18000 लोगों की जांच हो चुकी है। दो बार में 27 लोगों की जांच कराई गई जिसमें सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई है। अब तक जिले में कोरोनो पॉजिटिव एक भी मरीज नहीं पाया गया है। प्रशासन की ओर से लॉकडाउन का अनुपालन सख्ती से कराया जा रहा है।
लॉकडाउन के उल्लंघन में 127 मुकदमें दर्ज
लॉकडाउन के उल्लंघन में अब तक जिले में 127 मुकदमें दर्ज हो चुके हैं और 141 लोगों को आरोपी बनाया जा चुका है। आवश्यक वस्तु अधिनियम के कुल पांच मुकदमें दर्ज हुए हैं और उसमें आठ लोग आरोपी बनाए गए हैं। 26 जगहों पर बैरियर लगाकर जिले की सीमा को सील कर दिया गया है। 2643 वाहनों की जांच की गई जिसमें 1492 वाहनों का चालान हुआ और सात वाहन सीज किए गए हैं। जबकि 1405800 रुपये शमन शुल्क वसूला गया है।
-असित श्रीवास्तव, एएसपी
... और पढ़ें

चिह्नित कर गरीबों के खाते में दिए जाएंगे 1000 रुपये

चिह्नित कर गरीबों के खाते में दिए जाएंगे 1000 रुपये
संतकबीरनगर। कोरोना वायरस की महामारी में कामकाज बंद होने से मजदूरों को परेशान होने की जरूरत नहीं है। ऐसे लोगों को ग्राम्य विकास विभाग और नगरीय प्रशासन चिह्नित कराकर शासन की ओर से प्रति व्यक्ति एक-एक हजार रुपये की सहायता दिया जा रहा है।
पीडी/प्रभारी सीडीओ प्रमोद यादव ने बताया कि ऐसे व्यक्ति जिनके पास राशन व जॉब कार्ड नहीं है, सरकारी पेंशन नहीं मिल रही है या श्रम विभाग में पंजीकृत मजदूूर नहीं हैं तो उन्हें चिह्नित कर एक हजार रुपये की सहायता देने का निर्देश है। सभी बीडीओ को निर्देशित किया गया है कि वे अपने-अपने क्षेत्रों में ऐसे लोगों को चिह्नित कर सूची तैयार कराकर प्रेषित करें। सत्यापन के बाद ऐसे लोगों के खातों में रकम भेजी जा रही है। अब तक 1382 लोगों की सूची प्राप्त हुई है, जिसमें बघौली ब्लॉक क्षेत्र से 219 , बेलहर ब्लॉक से 114, हैंसर बाजार से 207, खलीलाबाद से 100, मेंहदावल से 214, नाथनगर से 140, पौली से 150, सांथा से 110 और सेमरियावां से 128 लोगों की सूची प्राप्त हुई है।
ईओ बीना सिंह ने बताया कि ऐसे मजदूर जो ठेला, खुमचा लगाकर जीविकोपार्जन करते हैं या फिर किसी दुकान पर काम करते हैं, पल्लेदारी का काम करते हैं, किसी कंपनी में काम करते हैं, फेरी लगाकर सामान की बिक्री करते हैं, रिक्शा चालक, ई-रिक्शा चालक हैं, जिनके पास आजीविका का कोई दूूसरा साधन नहीं है, उन्हें चिह्नित कर प्रति व्यक्ति 1000 रुपये दिए जाने का निर्देश है। अब तक नगर पालिका खलीलाबाद में 840 लोग, नगर पंचायत मगहर में 850 लोग, नगर पंचायत हरिहरपुर में 202 लोग और नवसृजित नगर पंचायत बखिरा में 350 लोगों की सूची मिल चुकी है, जिसमें खलीलाबाद में 243 लोगों को, हरिहरपुर में 86 लोगों और मगहर में 125 लोगों के खाते में रकम ट्रांसफर करा दिया गया है। बृहस्पतिवार को कुछ और लोग चिह्नित हुए हैं। अगले दो दिनों में खलीलाबाद में 800 लोगों को मगहर में 600 लोगों और हरिहरपुर में 350 लोगों को रकम दिया जाएगा। सत्यापन के बाद बखिरा में भी चिह्नित लोगों के खाते में रकम दिया जाएगा। नगर पंचायत मेंहदावल के ईओ प्रदीप शुक्ला ने बताया कि101 लोगों को रकम दे दिया गया है। 150 लोगों की और सूची तैयार हुई है। जबकि नवसृजित नगर पंचायत बेलहर कला में 101 लोगों की सूची तैयार की गई है। एसडीएम के सत्यापन के उपरांत डीएम को रकम ट्रांसफर करने के लिए सूची भेजी जाएगी।
... और पढ़ें

सफाईकर्मी बने कर्मवीर, निभा रहे कर्तव्य

सफाईकर्मी बने कर्मवीर, निभा रहे कर्तव्य
संतकबीरनगर। कोरोना महामारी में जब लोग अपने घरों में हैं तो ऐसे में सफाई कर्मी कर्मवीर की भूमिका निभा रहे हैं। गांवों में साफ-सफाई का कार्य तो की जा रही है। जरूरत पड़ने पर अस्पतालों में भी चिकित्सकों की मदद में जुट जाते हैं। ऐसे में सफाई कर्मियों के कार्यों की अफसर भी सराहना कर रहे हैं। डीपीआरओ उमाशंकर मिश्र ने बताया कि सफाई कर्मी कोरोना की रोकथाम की दिशा में ईमानदारी से अपने कर्तव्य निभा रहे हैं। 1600 से अधिक सफाई कर्मी जिले में नियुक्त हैं। क्वारंटीन केंद्रों की सफाई व्यवस्था, गांवों में सार्वजनिक स्थलों पर सफाई व्यवस्था के साथ गांवों में दवा के छिड़काव में भी प्रधानों का सहयोग कर रहे हैं। सफाई कर्मचारी संघ के जिलाध्यक्ष परमहंस, उदयराज ने बताया कि गांव सफाई कर्मी गांवों में साफ-सफाई के साथ-साथ आईसोलेशन वार्ड में भी काम कर रहे हैं। इसके अलावा क्वारंटीन केंद्रों पर लोगों की देखभाल की जिम्मेदारी भी संभाल रहे हैं। लॉकडाउन का अनुपालन करने और घरों में ही रहने की अपील की।
... और पढ़ें

लॉकडाउन ः हर तरफ पसरा सन्नाटा

लॉकडाउन : हर तरफ पसरा सन्नाटा
संतकबीरनगर। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए हुए लॉक डाउन के चलते शहर से लेकर गांव तक सन्नाटा पसरा रहा। इस बीच शहर के विभिन्न सार्वजनिक स्थलों को सैनिटाइज किया गया। बृस्पतिवार को डीएम रवीश गुप्ता व एसपी ब्रजेश सिंह ने प्राथमिक विद्यालयों व पंचायत भवनों में बनाए गए क्वारंटीन सेंटरों का निरीक्षण किया। साथ ही ईंट-भट्ठों पर पहुंचकर मजदूरों का हाल जाना।
लॉकडाउन हुए 16 दिन हो गए हैं। लोग घरों में कैद हैं। शहर में मेडिकल, सब्जी, फल व किराना की दुकानों के खुलने का समय बदल दिया गया है। अब सुबह दस से शाम पांच बजे तक लोग रोजमर्रा की जरूरतों के सामान खरीद कर सकते हैं। इसके बाद लोगों के घरों से निकलने पर पूरी तरह प्रतिबंध है।
बैंकों में भी भीड़ कम हो गई है। इस बीच मेंहदावल बाईपास, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र खलीलाबाद सहित सार्वजनिक स्थलों को सैनिटाइज किया गया। डीएम रवीश गुप्ता व एसपी ब्रजेश सिंह ने बेलहरकला क्षेत्र के क्वारंटीन सेंटरों में शामिल प्राथमिक विद्यालय कौड़िया का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी प्राप्त की। गांव के लोगों को जागरूक करते हुए मास्क लगाने सहित सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए घरों में रहने की अपील की। कंबाइन से कटे फसलों की पराली न जलाने की किसानों को सख्त हिदायत दी। बखिरा क्षेत्र के ईंट-भट्ठे का निरीक्षण कर काम करने वाले मजदूरों से कुशलता पूछी। मजदूरों ने बताया कि हम लोगों को यहां ईंट-भट्ठे पर रहने व खाने-पीने की कोई समस्या नहीं है। लोगों को कोरोना महामारी से बचाव के लिए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने व मास्क पहनने के लिए जागरूक किया। एडीएम संजय कुमार पांडेय ने बताया कि जो लोग 14 दिनों से क्वारंटीन सेंटरों में हैं, उन्हें अभी वहीं रहने के लिए कहा गया है। 11 अप्रैल को ऐसे लोगों की जांच स्वास्थ्य विभाग की टीमें करेंगी। इसके बाद ही इन लोगों के बारे में निर्णय लिया जाएगा।
... और पढ़ें

सोशल मीडिया पर टिप्पणी करना पिता-पुत्र को पड़ा भारी, अब पुलिस सिखाएगी सबक

मेंहदावल तहसील क्षेत्र में क्वारंटीन सेंटर का निरीक्षण करते डीएम और एसपी।
फेसबुक पर समुदाय विशेष के विरुद्ध अभद्र टिप्पणी करने, अमर्यादित एवं अपमानजनक पोस्ट लिखने के आरोप में पुलिस ने मंगलवार की शाम चार लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया। आरोप है कि प्रभा सेवा समिति के संरक्षक विनय चतुर्वेदी और उनके बेटे वैभव चतुर्वेदी के इशारे पर यह टिप्पणी फेसबुक पर पोस्ट की गई।

जानकारी के मुताबिक मामले की एफआईआर सेमरियावां ब्लॉक प्रमुख मुमताज अहमद ने कराई है। आरोप है कि आरोपित चतुर्वेदी के इशारे पर उनके विद्यालय में नौकरी करने वाले विकास सिंह और गोलू सिंह ने फेसबुक पर अभद्र टिप्पणी की है। इस वजह से वह और मुस्लिम समुदाय काफी आहत है। कोतवाल गौरव सिंह ने बताया कि मामले में मानहानि और अपमानजक टिप्पणी करने के आरोप में एफआईआर दर्ज कर ली गई है।

प्रभा सेवा समिति के प्रवक्ता विजय राय ने कहा कि जिस पोस्ट का जिक्र करके आरोप मढ़ा गया, उसमें समिति के संरक्षक और उनके बेेटे का नाम तक नहीं है। सिर्फ राजनीतिक साजिश के तहत उन्हें और उनके पिता को फंसाया गया है। सदर विधायक जय चौबे के जरिये प्रशासन को मिलाकर उनकी संस्था के डॉयरेक्टर और उनके लोगों का उत्पीड़न कराया जा रहा है। यह सिर्फ उनकी संस्था के डॉयरेक्टर वैभव चतुर्वेदी को भाजपा की राजनीति में आने से रोकने का कुचक्र है।
... और पढ़ें

संतकबीर नगर: सदर विधायक के भाई समेत 12 लोगों पर मुकदमा दर्ज, वजह जानकर हो जाएंगे हैरान

 एक व्यक्ति को बंधक बनाकर मारने-पीटने के आरोप में कोतवाली पुलिस ने बुधवार को सदर विधायक के भाई डॉक्टर उदय प्रताप चतुर्वेदी समेत बारह लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया। आरोप है कि एक युवक ने फेसबुक पर विधायक के खिलाफ कमेंट पोस्ट कर दी थी, इससे नाराज आरोपितों ने उसके पिता को घर से उठवा लिया और बेरहमी से मारा-पीटा।

जानकारी के मुताबिक मामले की प्राथमिकी फरेंदिया गांव निवासी सरोज देवी पत्नी फूलचंद्र मौर्या ने दर्ज कराई है। तहरीर में आरोप है कि उसके बेटे सतीशचंद्र ने फेसबुक पर विधायक दिग्विजय नारायण उर्फ जय चौबे के बारे में एक पोस्ट डाली थी।

इससे नाराज होकर तीन अप्रैल की शाम पौने आठ बजे विनोद यादव पुत्र पारस यादव निवासी गोसाईपुर कोतवाली व राजकुमार समेत तीन लोग दो बाइक से उसके घर पहुंचे। बेटा घर में नहीं था, लिहाजा वे सभी उसके पति फूलचंद्र मौर्या को जबरियां महुली क्षेत्र के भिटहा गांव उदय प्रताप चतुर्वेदी के घर ले गए।

वहां उन्हें जमकर मारा-पीटा। उसके बेटे सतीश ने घटना की संक्षिप्त सूचना आईजीआरएस पोर्टल पर पंजीकृत किया। एएसपी असित श्रीवास्तव ने बताया कि केस दर्ज कर लिया गया है। पीड़ित परिवार की सुरक्षा का ख्याल रखने के लिए चौकी प्रभारी मगहर को निर्देश दे दिया गया है। विधायक पहले ही इस मामले को फर्जी और आरोपित उदय प्रताप इस मामले में कुछ भी टिप्पणी करने से इंकार कर चुके हैं।
... और पढ़ें

प्रयागराज के एक युवक समेत 12 लोगों की जांच रिपोर्ट मिली निगेटिव

प्रयागराज के एक युवक समेत 12 लोगों की जांच रिपोर्ट मिली निगेटिव
- निगेटिव रिपोर्ट आने के बाद प्रशासन ने ली राहत की सांस
संवाद न्यूज एजेंसी
संतकबीरनगर। मरकज दिल्ली से आए प्रयागराज के एक युवक को रविवार की रात दुधारा पुलिस ने ऊंचहरा कला गांव से पकड़ा था। युवक के संपर्क में आए 11 अन्य लोगों का भी पुलिस ने चिह्नित किया था। इन सभी को जिला अस्पताल में आइसोलेट किया गया था। इनके लार की जांच मेडिकल कॉलेज गोरखपुर भेजी गई थी। सभी की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है।
दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित मरकज में तबलीगी जमात के लिए पूरे देश से काफी संख्या में लोग इकट्ठा हुए थे। प्रयागराज का एक जमात से वापस लौट कर दुधारा क्षेत्र के ऊचहरा कलां गांव रुक गया। पांच अप्रैल की रात को पुलिस को सूचना मिली तो उक्त युवक को पकड़कर जिला अस्पताल में लाकर क्वारंटीन कर दिया। इसके बाद उक्त युवक के संपर्क में आए 11 लोगों को भी जिला अस्पताल में क्वारंटीन कर दिया। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने इन सभी के लार की जांच मेडिकल कॉलेज गोरखपुर भेज दिया। बुधवार को मेडिकल कॉलेज से सभी की जांच रिपोर्ट आई जिसमें सभी निगेटिव पाए गए। डीएम रवीश गुप्त ने बताया कि सभी 12 लोगों के लार के नमूने लेकर जांच के लिए मेडिकल कॉलेज गोरखपुर भेजा गया था। सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई है। किसी में कोई भी संक्रमण नहीं मिला है।
... और पढ़ें

ग्राहक सेवा केंद्र पर भीड़ देख डीएम ने एसओ से जताई नाराजगी

ग्राहक सेवा केंद्र पर भीड़ देख डीएम ने एसओ से जताई नाराजगी
- डीएम और एसपी ने मेंहदावल कस्बे का निरीक्षण किया
- लॉकडाउन का पालन कड़ाई से कराने का निर्देश दिया
संवाद न्यूज एजेंसी
मेंहदावल। डीएम रवीश गुप्त और एसपी ब्रजेश सिंह ने बुधवार को मेंहदावल कस्बे का निरीक्षण किया। इस दौरान लोगों के सड़कों पर बेवजह निकलने और ग्राहक सेवा केंद्र पर भीड़ देख एसओ से नाराजगी जताई। अधिकारियों ने लॉकडाउन का पालन कड़ाई से कराने का निर्देश दिया।
डीएम और एसपी पैदल ही नगर का निरीक्षण किया। भारतीय स्टेट बैंक के समीप ग्राहक सेवा केंद्र का निरीक्षण किया तथा वहां पर भीड़ पर ग्राहक सेवा केंद्र के प्रभारी से सवाल-जवाब भी किया। लॉकडाउन में केंद्र पर एकत्रित भीड़ पर ग्राहक सेवा केंद्र संचालक को फटकार लगाई। मौके पर मौजूद एसओ करूणाकर पांडेय की जमकर क्लास ली। लॉकडाउन का जमीनी स्तर पर पालन न होने पर अधिकारियों ने नाराजगी भी जताई। दोनों अधिकारियों ने एसओ को कड़े शब्दों में निर्देश दिया कि वह मौके पर लॉकडाउन का पालन कराए। बैंक या ग्राहक सेवा केंद्र पर भीड़ कदापि एकत्रित न होने दें और सामाजिक दूरी का इन केंद्रों पर पालन अति आवश्यक है। इसके विपरीत परिस्थितियों पर संबंधित के विरुद्ध कार्रवाई करें अन्यथा दोषी अधिकारी के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। इसके बाद डीएम और एसपी ने धर्मसिंहवा कस्बे का निरीक्षण किया। वहां भी लॉकडाउन का पालन कराने का निर्देश दिया।
... और पढ़ें

सैनिटाइजर बेचने पहुंचे दो युवकों को ग्रामीणों ने पीटा

सैनिटाइजर बेचने पहुंचे दो युवकों को ग्रामीणों ने पीटा
- क्वारंटीन लोगों पर सैनिटाइजर खरीदने का जबरन बना रहे थे दबाव
संवाद न्यूज एजेंसी
धनघटा। महुली थाना क्षेत्र के क्वारंटीन केंद्र अतरौलिया उर्फ मठिया में बुधवार को ग्रामीणों ने सैनिटाइजर बेचने गए युवकों की पिटाई कर दी। युवकों ने क्वारंटीन सेंटर पर लोगों को सैनिटाइजर खरीदने का दबाव बना रहे थे। सूचना पर पहुंची पुलिस ने विवाद को शांत कराते हुए तीन लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है।
ग्राम पंचायत अतरौलिया उर्फ मठिया के ग्राम प्रधान इंद्रेश कन्नौजिया ने बताया कि मंगलवार को दो युवक बाइक से क्वारंटीन सेंटर पहुंचे। लोगों से हर्बल सैनिटाइजर खरीदने का दबाव बनाने लगे। शीशी जो दिखाई गई। उसपर किसी भी कंपनी का स्टीकर नहीं लगा था। लोगों ने सैनिटाइजर लेने से इन्कार कर दिया। बुधवार को दोनों युवक क्वारंटीन सेंटर पर पहुंचे और फिर लोगों को सैनिटाइजर खरीदने का दबाव बनाने लगे। इसकी जानकारी जब ग्रामीणों को हुई तो लोग मौके पर पहुंच गए। ग्रामीणों ने सैनिटाइजर बेच रहे दोनों युवकों की पिटाई कर दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने युवकों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। किसी भी तरफ से थाने में तहरीर नहीं दी गई है। इस संबंध में एसएसआई खुश मोहम्मद ने बताया कि दो युवकों को हिरासत में लिया गया है। मामले की छानबीन हो रही है। किसी भी तरफ से तहरीर नहीं मिली है।
... और पढ़ें

लॉकडाउन: शहर से गांव तक सन्नाटा, बैंकों पर बढ़ी भीड़

लॉकडाउन: शहर से गांव तक सन्नाटा, बैंकों पर बढ़ी भीड़
- बाहर से आने वालों की स्क्रीनिंग के लिए गांवों में पहुंच रही स्वास्थ्य टीमें
संवाद न्यूज एजेंसी
संतकबीरनगर। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए हुए लॉकडाउन के 13वें दिन मंगलवार को सुबह से ही सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा। इस बीच दस बजे के बाद विभिन्न बैंकों पर ग्राहकों की भीड़ देखने को मिली। भीड़ बढ़ने के कारण सुरक्षा गार्डों को सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने के लिए मशक्कत करनी पड़ी। दूसरी तरफ बाहर से आए लोगों की स्क्रीनिंग के लिए स्वास्थ्य विभाग की टीमें के गांवों में पहुंचकर जांच करने में जुटी रही। प्रशासनिक अमला भी लगातार भ्रमण कर स्थिति का जायजा लेता रहा।
लॉकडाउन हुए 13 दिन हो चुके हैं। लोग घरों में ही रहना बेहतर समझ रहे हैं। मंगलवार को सुबह से ही सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा। ग्रामीण क्षेत्रों में कुछ किसान गेहूं की कटाई करने में जुटे रहे, लेकिन उन्होंने भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया, लेकिन शहर में दस बजे के बाद जब बैंक खुले तो विभिन्न बैंकों पर ग्राहकों की भीड़ देखने को मिली। बैंक कर्मी लोगों को बारी-बारी से अंदर प्रवेश देते दिखे, लेकिन बाहर भीड़ लगी रही। लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने के लिए सुरक्षा कर्मी जूझते नजर आए। बैैंकों पर अचानक भीड़ बढ़ने की वजह यह है कि सरकार ने मनरेगा मजदूरों, उज्ज्वला योजना, महिला जनधन खाताधारकों के खाता में धन भेजा है। इसके साथ ही पेंशन योजना का भी धन आया है। ऐसे में उपभोक्ता इस धन की निकासी के लिए बैंकों पर पहुंच रहे हैं। शाम के समय सब्जी, फल, किराना की दुकानें भी खुल रही है, ऐसे में लोग रोजमर्रा की जरूरतों के सामान खरीदने के लिए निकल रहे हैं, हालांकि यहां निर्धारित दूरी बनाकर रखी जा रही है। कारण यह है कि पुलिस कर्मी लगातार भ्रमण कर ऐसे लोगों को दूूरी बनाए रखने की हिदायत दे रहे हैं। इस बीच प्रत्येक ब्लॉक में स्वास्थ्य विभाग की दो-दो बाहर से आए लोगों की स्क्रीनिंग कर रहे हैं। इसी के तहत भरपुरवा, मझगांवा आदि गांवों में टीम ने जांच की। इसके साथ ही डीएम रवीश गुप्ता व पुलिस अधीक्षक ब्रजेश सिंह भी भ्रमण कर जायजा लेते देखे गए।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us