विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
होली के दिन, किए-कराए बुरी नजर आदि से मुक्ति के लिए कराएं कोलकाता के दक्षिणेश्वर काली मंदिर में पूजा : 9- मार्च-2020
Astrology Services

होली के दिन, किए-कराए बुरी नजर आदि से मुक्ति के लिए कराएं कोलकाता के दक्षिणेश्वर काली मंदिर में पूजा : 9- मार्च-2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

यूपी में आज जुमे की नमाज को लेकर खुफिया एजेंसियों का अलर्ट, सुरक्षा व्यवस्था कड़ी

दिल्ली में पिछले दिनों हुई हिंसा को देखते हुए शुक्रवार की नमाज को लेकर प्रदेश की खुफिया एजेंसियों ने अलर्ट किया है। इसे देखते हुए सभी जिलों के अफसरों को चौकन्ना कर दिया गया है।

28 फरवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

संत कबीर नगर

शुक्रवार, 28 फरवरी 2020

पहले दिन ही 655 परीक्षार्थियों ने छोड़ दी मदरसा बोर्ड की परीक्षा

संतकबीरनगर। मदरसा बोर्ड की परीक्षा मंगलवार को 12 परीक्षा केेंद्रों पर शुरू हुई। दो पॉलियों में हुई परीक्षा में 655 परीक्षार्थियों ने परीक्षा छोड़ दी। डीएम की ओर से गठित सचल दस्ते परीक्षा केंद्रों पर भ्रमण करते रहे। सभी परीक्षा केंद्रों पर दो- दो पुलिस कर्मी मुस्तैद मिले।
जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी तनमय पांडेय ने बताया कि प्रथम पॉली में मुंशी, मौलवी सेक्रेंड्री स्तर की परीक्षा हुई। जिसमें 2177 परीक्षार्थी नामांकित थे। उसमें से 1706 परीक्षार्थियों ने परीक्षा दी। 471 परीक्षार्थियों ने परीक्षा छोड़ दी। दूसरी पॉली में सीनियर सेकेंड्री आलिम,कामिल और फाजिल की परीक्षा हुई। जिसमें 1303 परीक्षार्थी नामांकित थे। उसमें से 1120 परीक्षार्थियों ने परीक्षा दी। इसमें 184 परीक्षार्थियों ने परीक्षा छोड़ दी। डीएम की ओर से गठित डीआईओएस, बीएसए, जिला समाज कल्याण अधिकारी, जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी और जिला अल्प संख्यक कल्याण अधिकारी की अगुआई में सचल दस्ता परीक्षा केंद्रों का जायजा लेता रहा।
... और पढ़ें

यूपी बोर्ड : मोबाइल लेकर दे रहा था परीक्षा, रस्टीकेट

लापरवाही पर एक केंद्र व्यवस्थापक बदले गए
संवाद न्यूज एजेंसी
संतकबीरनगर। यूपी बोर्ड की इंटरमीडिएट परीक्षा में सोमवार को मोबाइल लेकर परीक्षा दे रहे एक छात्र को पकड़कर रस्टीकेट कर दिया गया। इसी के साथ ही एक केंद्राध्यक्ष को लापरवाही के चलते बदल दिया गया।
डीआईओएस गिरीश कुमार सिंह ने बताया कि द्वितीय पाली में इंटरमीडिएट रसायन विज्ञान की परीक्षा थी। स्वामी विवेकानंद इंटर कॉलेज मुसहरा केंद्र पर एक परीक्षार्थी मोबाइल लेकर कक्ष में चला गया। परीक्षा शुरू होने के बाद भी वह मोबाइल हाथ में लिए था। कक्ष निरीक्षक की नजर उस पर पड़ी तो उन्होंने मोबाइल छीन लिया। केंद्र व्यवस्थापक और स्टेटिक मजिस्ट्रेट मौके पर पहुंचे। परीक्षार्थी की उत्तर पुस्तिका और प्रश्न पत्र को कब्जे में लेकर उसे रस्टीकेट कर दिया गया। सरदार पटेल इंटर कॉलेज भरवलिया में तैनात केेंद्र व्यवस्थापक अजय वर्मा को लापरवाही के चलते हटा दिया गया है। उनकी जगह नए केंद्र व्यवस्थापक की तैनाती की जाएगी। डीआईओएस ने बताया कि कई परीक्षा केंद्रों का निरीक्षण किया गया है। परीक्षा शांति पूर्वक संपन्न होते मिली। सेक्टर मजिस्ट्रेट विनय कुमार चतुर्वेदी ने नेहरू कृषक इंटर कॉलेज समेत अन्य परीक्षा केंद्रों का निरीक्षण किया और परीक्षा का हाल जाना।
देर से उत्तर पुस्तिकाएं जमा होने पर डीआईओएस ने जताई नाराजगी
संतकबीरनगर। सुबह और शाम की पाली की परीक्षा समाप्त होने के बाद उत्तर पुस्तिकाएं देर से जमा होने पर डीआईओएस ने केंद्र व्यवस्थापकों से नाराजगी जताई। डीआईओएस गिरीश कुमार सिंह ने निर्देश दिया है कि परीक्षा समाप्ति के तुरंत बाद स्टेटिक मजिस्ट्रेट व सीसीटीवी की निगरानी में उत्तर पुस्तिकाओं को सील कर संकलन केंद्र पर जमा कर दिया जाए। दोनों पाली की परीक्षा समाप्त होने के दो घंटे में उत्तर पुस्तिकाएं जमा हो जाएं।
... और पढ़ें

एसडीएम पहुंचे स्कूल, कहीं ताला तो कहीं शिक्षक नदारद

ककरहा प्राथमिक विद्यालय का दोपहर एक बजे निरीक्षण को पहुंचे थे
संवाद न्यूज एजेंसी
धनघटा। एसडीएम ने सोमवार को विकास खंड पौली के रसूलपुर और ककरहा प्राथमिक विद्यालय का औचक निरीक्षण किया। रसूलपुर में ताला बंद मिला। ककरहा में शिक्षामित्र मौजूद थे और शिक्षक अनुपस्थित मिले। एसडीएम ने कार्रवाई के लिए बीएसए को रिपोर्ट भेजी है।
एसडीएम प्रमोद कुमार ने बताया कि प्राथमिक विद्यालय रसूलपुर पर दोपहर करीब एक बजे पहुंचे तो विद्यालय गेट पर ताला लटका हुआ था। पता करने पर बताया गया कि विद्यालय आज खुला ही नहीं। उसके बाद प्राथमिक विद्यालय ककरहा पर पहुंचे। जहां कुल 52 नामांकित बच्चोें में से 17 बच्चे उपस्थित पाए गए। शिक्षामित्र केशनी पांडेय मौजूद थी और प्रधानाध्यापक समेत चार शिक्षक अनुपस्थित मिले। पूछने पर बताया गया कि प्रधानाध्यापक बीआरसी पर गए हुए हैं। तीन अध्यापक आए ही नहीं। एसडीएम ने बताया कि जांच रिपोर्ट बीएसए को भेजी गई है।
... और पढ़ें

सऊदी अरब के मदीना शहर में करही के एक वृद्ध की मौत

सऊदी अरब के मदीना शहर में करही के एक वृद्ध की मौत
बाघनगर (संतकबीरनगर)। दुधारा थाना क्षेत्र के करही गांव के एक वृद्ध की सऊदी अरब के मदीना शहर में बुधवार की रात अचानक मौत हो गई। इस खबर से गांव में कोहराम मच गया। मौत की सूचना से आसपास व रिश्तेदारों ने जुटकर परिजनों को ढांढस बंधाया।
करही गांव निवासी 85 वर्षीय अकबाल अहमद की सऊदी अरब के मदीना शहर में बुधवार की रात करीब 12 बजे अचानक तबीयत बिगड़ गई और रात में दो बजे के करीब मौत हो गई। बड़े बेटे नूरूल होदा ने बताया कि 15 फरवरी को पिता उमरा के लिए सऊदी अरब गए थे। उमरा के सभी कार्यक्रम पूरा कर तीन मार्च को घर वापसी थी। छोटा भाई बदरूल सऊदी में ही रहता है। बदरूल ने बुधवार की रात 12 बजे अब्बू की तबीयत खराब होने की सूचना दी। अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती किया गया। रात में दो बजे उनका निधन हो गया। मौत की सूचना पर जिला पंचायत सदस्य मेहताब आलम लड्डू, प्रधान माबूदी, जमील अहमद, अंजारूलहक, दयाराम, मो आरिफ, अख्तर कलीम, सद्दाम, सेराजुद्दीन, मो रफीक आदि ने शोक जताया है।
... और पढ़ें
अकबाल अहमद की फाइल फोटो। अकबाल अहमद की फाइल फोटो।

मैटर्निटी विंग के संचालन में कर्मियों की कमी बनी रोड़ा

मैटर्निटी विंग के संचालन में कर्मियों की कमी बना रोड़ा
संतकबीरनगर। संयुक्त जिला अस्पताल परिसर में बने 100 बेड के मैटर्निटी विंग के संचालन में कर्मियों की कमी रोड़ा बन गई है। अस्पताल के संचालन के आए सामान जंग खा रहे हैं। अस्पताल के संचालन में 15 चिकित्सक, 25 स्टाफ नर्स समेत 100 कर्मियों की आवश्यकता है। शासन से पहल न होने से मामला ठप पड़ा है। सीएमओ ने इस बावत दो बार पत्र लिखकर दिशा-निर्देश भी मांगे, पर अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हो पाई।
गर्भवती को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा देने के लिए शासन ने चार साल पहले जिले में 100 बेड के मैटर्निटी विंग की सौगात दी। इसके लिए 19 करोड़ रुपये भी जारी कर दिया। करीब एक साल पहले मैटर्निटी विंग का निर्माण कार्य पूरा हो गया और अस्पताल विभाग को मिल गया। इसमें लिफ्ट से लगायत अन्य जरूरी संसाधन भी मुहैया हैं। अस्पताल के संचालन के लिए अन्य सामान भी छह माह पहले आ गए हैं। अब ये सामान देखरेख के अभाव में धूल एवं गंदगी से खराब हो रहे हैं। फर्नीचर जंग खा रहे हैं। अन्य मशीन बंद पड़ी हुई है। इसके खराब होने का डर है। अस्पताल के संचालन के लिए 15 चिकित्सक जिसमें बाल रोग विशेषज्ञ, सर्जन, बेहोशी के डॉक्टर महत्वूपर्ण हैं, उनकी तैनाती होनी है। इसके साथ ही 25 स्टाफ नर्स, 10 फार्मासिस्ट, लिपिक, चतुर्थ श्रेणी, वार्ड व्वाय, सफाई कर्मी समेत कुल 100 कर्मियों की आवश्यकता है। इन कर्मियों की तैनाती न होने से अस्पताल के संचालन नहीं हो पा रहा है। सीएमओ ने दो बार स्वास्थ्य महानिदेशक को पत्र लिखकर अस्पताल संचालन के लिए मार्ग दर्शन मांगा, अभी तक इस दिशा में कोई ठोस पहल नहीं हो पाया। निकट भविष्य में अभी अस्पताल के संचालन की संभावना नहीं दिख रही है।
निर्देश मिलने पर आगे की कार्रवाई होगी : सीएमओ
सीएमओ डॉ. हर गोविंद सिंह ने बताया कि दो बार स्वास्थ्य महानिदेशालय को पत्र भेजा जा चुका है। अस्पताल के संचालन के लिए स्टाफ की आवश्यकता है। वहां से जैसा निर्देश मिलेगा,आगे की कार्रवाई की जाएगी। सामान को कमरोे में रखवा दिया गया है। वह सुरक्षित है।
... और पढ़ें

नगर सीमा विस्तार से पंचायतों में ऊहापोह

नगर सीमा विस्तार से पंचायतों में ऊहापोह
संतकबीरनगर। नगर पालिका खलीलाबाद और नगर पंचायत मेंहदावल के सीमा विस्तार के साथ ही जिले में दो नई नगर पंचायतें बखिरा और बेलहर कला सृजित हुई हैं। इसमें 41 ग्राम पंचायतों के कुल 86 गांव शामिल हुए हैं। जबकि कई ग्राम पंचायतों से जुड़े राजस्व गांव नगरीय सीमा से बाहर हैं। इधर, 31 मार्च तक ग्रामीण योजनाओं के तहत विकास कार्य कराए जाने हैं। उधर, पंचायत चुनाव के नजदीक आने से नगरीय सीमा में शामिल होने से बचे राजस्व गांवों के अस्तित्व को लेकर तमाम तरह की चर्चाएं शुरू हो गई हैं। जबकि पंचायत राज विभाग ऐसे गांवों को चिह्नित करने में जुटा हुआ है। नगरीय सीमा में शामिल हुए गांवों के संभावित उम्मीदवार अभी से नगरीय चुनाव की तैयारी शुरू कर दिए हैं, जबकि नगरीय सीमा से बाहर वाले गांवों के लोगों में ऊहापोह की स्थिति बनी हुई है।
नगर पालिका खलीलाबाद के सीमा विस्तार में 12 ग्राम पंचायतों के 21 गांव शामिल किए गए हैं। जबकि उन्हीं ग्राम पंचायतों से जुड़े पांच राजस्व गांव सीमा से बाहर हैं। नई सृजित नगर पंचायत बखिरा में 11 ग्राम पंचायतों में 23 राजस्व गांव हैं और उसमें से 18 गांव शामिल हुए हैं। जबकि अन्य गांव शेष बच गए हैं। नई सृजित हुई नगर पंचायत बेलहर कला में ग्राम पंचायत बेलहर कला और बेलहर खुर्द को पूरा शामिल कर लिया गया हैं। इसी तरह नगर पंचायत मेंहदावल के सीमा विस्तार में 16 ग्राम पंचायतों में कुल 54 गांव हैं और उसमें से 45 गांव नगरीय सीमा विस्तार में शामिल किए गए हैं। शेष गांव सीमा से बाहर हैं। शासन के निर्देश के तहत 31 मार्च तक नगरीय सीमा में शामिल हुई ग्राम पंचायतों और उससे जुड़े गांवों में ग्रामीण विकास की योजनाओं का लाभ पहुंचाना हैं। इधर पंचायती चुनाव भी नजदीक आ रहा हैं और गांवों में संभावित उम्मीदवार जनता में अपनी पकड़ मजबूत करने की कवायद शुरू कर दिए हैं। ऐसे में संभावित उम्मीदवारों में ऊहपोह की स्थिति बनी हुई हैं कि जो राजस्व गांव नगरीय सीमा में शामिल होने से बच गए हैं,उन्हें नई ग्राम पंचायत का दर्जा मिलेगा अथवा वह राजस्व गांव किसी ग्राम पंचायतों में जुुडेंगी। यह चर्चाए सुबह-शाम इन गांवों में शुरू हो गई हैं। जबकि नगरीय सीमा में शामिल होने वाले गांवों के संभावित दावेदार नगरीय चुनाव की तैयारियां अभी से शुरू कर दिया है। जिला पंचायत राज विभाग भी नगरीय सीमा में शामिल होने से बच गए गांवों को चिह्नित करने में जुटा हुआ है।
नगरीय सीमा में शामिल होने से बच गए गांवों को चिह्नित करने की प्रक्रिया चल रही है। शासन की ओर से निर्धारित होने वाले तय मानकों के आधार पर नई पंचायतें गठित की जाएगी। नगर पालिका खलीलाबाद के सीमा विस्तार में मोहिउद्दीनपुर को शामिल होने की रिपोर्ट डीएम की ओर से शासन को भेजवा दिया गया है।
उमाशंकर मिश्र, डीपीआरओ
नगर पालिका खलीलाबाद के सीमा विस्तार में 21 गांव शामिल हुए हैं। जबकि कुसम्हीडाड़ी, लकाड़ी, चकपिहानी, केरमुआमाफी और सांवरचक जैसे पांच गांव सीमा से बाहर हो गए हैं। वैसे मोहिउद्दीनपुर नगरीय सीमा भी शामिल हैं। इसमें कोई संशय की स्थिति नहीं हैं। जिला पंचायत राज विभाग अपना नोटिफिकेशन कराने की कार्रवाई कर रहा हैं। दो मार्च को नगर पालिका बोर्ड की बैठक होगी। उसी में नगर में शामिल हुए गांवों में विकास कार्य कराए जाने की रूपरेखा तैयार की जाएगी। उसके बाद वहां नगरीय विकास के कार्य कराए जाने की कार्रवाई प्रस्तावित कर दी जाएगी।
बीना सिंह, ईओ नगर पालिका खलीलाबाद
... और पढ़ें

पुलिस कर्मी बनकर बदमाशों ने मौलाना को चलती बाइक से दिया धक्का, लूट लिए पंद्रह हजार रुपये

दुधारा क्षेत्र के करही मदरसा के एक मौलाना से बुधवार की रात पुलिस कर्मी बनकर दो बदमाशों ने 15000 रूपये लूट लिया। बाद में मौलाना की बाइक को धक्का देकर नीचे गिरा भी दिया। जिससे मौलाना की बाइक पर पीछे बैठे दूसरे दिव्यांग मौलाना के दाए पैर की हड्डी टूट गई। घायल मौलाना का गोरखपुर के एक प्राइवेट अस्पताल में उपचार चल रहा हैं।

क्षेत्र के करही गांव स्थित मदरसा हिदायतुल उलूम के मकतब का निर्माण हो रहा हैं। मकतब निर्माण के लिए लोगों से चंदा के रुप में पैसा जुटाया जा रहा हैं। बुधवार की शाम छह बजे नमाज मगरिब के बाद रात आठ बजे तक नाजिम मौलाना शमशुज्जोहा व मौलाना मतीउल्लाह ने करही गांव के पूरब मोहल्ला की मस्जिद में चंदा एकत्र किया।

नाजिम मौलाना शमशुज्जोहा ने बताया कि गांव के पूरब मोहल्ला मस्जिद से रात नौ बजे चंदा इकट्ठा करके अपनी बाइक से लौट रहे थे। उसी दौरान गांव के मस्जिद से दो सौ मीटर पूरब सड़क के मोड़ पर दो युवकों ने उनकी बाइक रोकवा लिया। दोनों युवक खुद को पुलिस कर्मी बताकर पूछताछ की और उनकी तलाश भी ली।

आरोप है कि मकतब निर्माण के लिए चंदे से जुटाए 15000 रुपये ले लिया। मौलाना ने बताया कि थाने पर ले जाने की बात कहकर एक युवक उसकी बाइक पर पीछे बैठ गया और थाने पर चलने की बात की। दूसरा युवक बाइक से पीछे- पीछे आ रहा था। मदरसा के करीब मोड़ पर जैसे ही बाइक पहुंची,वैसे ही उसकी बाइक पर पीछे बैठा युवक उसे धक्का देकर गिरा दिया।

उसके बाद पीछे - पीछे चल रहे दूसरे युवक बाइक से दोनों उसरा शहीद की तरफ भाग निकले। आरोप है कि दोनों पुलिस कर्मी बन कर उससे 15 हजार रूपये नगदी लेकर भाग गए। उनकी बाइक से गिरने से दिव्यांग मौलाना मतीउल्लाह के पैर की हड्डी टूट गई। घायल मौलाना का गोरखपुर के एक प्राइवेट अस्पताल में उपचार चल रहा।

मौलाना मतीउल्लाह पहले से दांए पैर से दिव्यांग हैं। एक बार फिर उसी पैर की हड्डी टूट जाने से उनके समक्ष संकट खडा हो गया। पीड़ित ने घटना की सूचना पुलिस को दे दी हैं। एसओ गौरव सिंह ने बताया कि कि मामले की जानकारी नही हैं। तहरीर मिलने फर जांच कर आगे की कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

सात गांवों में बनेंगे नए आंगनबाड़ी केंद्र भवन

सांकेतिक तस्वीर।
सात गांवों में बनेंगे नए आंगनबाड़ी केंद्र भवन
- प्रत्येक भवन पर खर्च होंगे 7.52 लाख रुपये
- ग्राम पंचायतें ही कराएंगी निर्माण
अमर उजाला ब्यूरो
संतकबीरनगर। जिले के छह ब्लॉकों के सात गांवों में नए आंगनबाड़ी केंद्र भवन बनाए जाएंगे। इसके लिए विभाग की ओर से तैयारी शुरू कर दी गई है। कार्यदायी संस्था ग्राम पंचायत ही होगी। आंगनबाड़ी केंद्र भवन बन जाने केंद्र पर नामांकित बच्चों के साथ आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं को भी काम करने में सहूलियत होगी।
सीडीओ बब्बन उपाध्याय ने बताया कि जनपद में सात नए आंगनबाड़ी केंद्र भवन बनाने की स्वीकृति शासन से मिली है। छह ब्लॉकों के सात गांवों में आंगनबाड़ी केंद्र भवन बनाए जाएंगे। नाथनगर ब्लॉक के पड़रहा और ओनबिलाई, बघौली ब्लॉक के अमरडोभा, सेमरियावां ब्लॉक के ऊंचहरा कला गांव में सांथा ब्लॉक के कटया, मेंहदावल ब्लॉक के बीमापार और खलीलाबाद ब्लॉक के लक्ष्मीपुर गांव में नए आंगनबाड़ी केंद्र बनाए जाएंगे। प्रत्येक आंगनबाड़ी केंद्र भवन की लागत 7 लाख 52 हजार रुपये होगी। प्रत्येक आंगनबाड़ी केंद्र भवन के निर्माण के लिए दो- दो लाख रुपये बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग, 1. 6 लाख ग्राम पंचायतें और 4. 46 लाख रुपये मनरेगा से देने का प्रावधान है। कार्यदायी संस्था ग्राम पंचायतें होंगी। धनराशि प्राप्त होने के तीन महीने के भीतर निर्माण कार्य पूरा करना होता है। कार्य की गुणवत्ता की जांच भी होगी। सातों गांवों में आंगनबाड़ी केंद्र भवनों का निर्माण जल्द ही शुरू करा दिया जाएगा।
... और पढ़ें

छोटी बहन की जगह परीक्षा देते पकड़ी गई बड़ी बहन

छोटी बहन की जगह परीक्षा देते पकड़ी गई बड़ी बहन
संतकबीरनगर। बुधवार को एचआर इंटर कॉलेज में इंटरमीडिएट की अंग्रेजी विषय की परीक्षा में सगी छोटी बहन की जगह परीक्षा देती हुई बीएससी द्वितीय वर्ष की छात्रा पकड़ी गई। केंद्र व्यवस्थापक ने पकड़ी गई छात्रा को पुलिस के सुपुर्द कर दिया।
एचआर इंटर कॉलेज के केंद्र व्यवस्था अरुण कुमार ने बताया कि दूसरी पाली में इंटरमीडिएट की परीक्षा चल रही थी। उसी दौरान अपनी छोटी बहन की जगह बीएससी द्वितीय वर्ष की छात्रा बैठक कर परीक्षा देते पकड़ी गई। कक्ष निरीक्षक ने जैसे ही इसकी जानकारी दी, वैसे ही पकड़ी गई छात्रा को महिला पुलिस कर्मियों के सुपुर्द कर दिया गया। डीआईओएस ने बताया कि केेंद्र व्यवस्थापक की ओर से तहरीर कोतवाली पुलिस को दी गई है। कोतवाल अजय कुमार सिंह ने बताया कि केंद्र व्यवस्थापक की ओर से तहरीर मिली है। इस मामले में पकड़ी गई छात्रा के खिलाफ केस दर्ज करते हुए आगे की कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

रेल आयुक्त ने मगहर पहुंचकर कबीर को किया नमन

रेल आयुक्त ने मगहर पहुंचकर कबीर को किया नमन
- कबीर की मजार व समाधि पर पुष्प अर्पित किया
संवाद न्यूज एजेंसी
मगहर। कबीर की परिनिर्वाण स्थली मगहर के कबीर चौरा में बुधवार को रेलवे बोर्ड की वित्त आयुक्त मंजुला रंगराजन पहुंची। उन्होंने परिनिर्वाण स्थली को नमन कर कबीर समाधि और मजार पर पुष्प अर्पित कर आशीर्वाद प्राप्त किया। इनके परिनिर्वाण स्थली पहुंचने पर कबीर चौरा मठ के महंत विचार दास ने कबीर की साखी पुस्तक व प्रतीक चिन्ह भेंट किया।
संतकबीर की परिनिर्वाण स्थली मगहर में बुधवार को रेलवे बोर्ड की वित्त आयुक्त मंजुला रंगराजन के आवागमन को लेकर विभाग पूरी तरह से सक्रिय रहा। इन्हें यहां आने में कोई असुविधा न हो, इसको ध्यान में रखकर अधिकारी व कर्मचारी लगे रहे। परिनिर्वाण स्थली पहुंचने पर भव्य स्वागत किया। मंजुला रंगराजन सीधे कबीर की समाधि पहुंची जहां उन्होंने पुष्प अर्पित कर शीश झुकाया। इसके बाद कबीर मजार पर पहुंच मत्था टेका। कबीर चौरा मठ के महंत विचार दास ने उन्हें कबीर के जीवन के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दी। उन्होंने कहा कि यहां आकर उनका जन्म सफल हो गया। यहां का पर्यावरण स्वच्छ एवं सुखद है। यहां के लोग और वातावरण को देख बहुत खुशी मिली। इस दौरान कबीर चौरा मठ के महंत विचार दास से कबीर चौरा परिसर के विकास पर भी चर्चा की। उन्होंने यहां के विकास में हर संभव मदद का भरोसा दिलाया। इस दौरान चेयरमैन संगीता वर्मा, राजेश उर्फ गुड्डू वर्मा, मुतवल्ली खादिम हुसैन, डॉ. हरिशरण शास्त्री, संत केशवदास, संत अरविंद दास शास्त्री, संत रामशरन दास, विजय तिवारी, अजय कुमार पांडेय, रवि प्रकाश पांडेय, मोनू वर्मा के अलावा रेल विभाग के तारकेश्वर त्रिगुनायक तिवारी, रतन कुमार श्रीवास्तव, बीके श्रीवास्तव, अजय त्रिपाठी, श्याम राज आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

छेड़खानी के विरोध पर छात्रा को पीटा

छेड़खानी के विरोध पर छात्रा को पीटा
- आरोपी के विरुद्ध मारपीट का केस
अमर उजाला ब्यूरो
धनघटा। क्षेत्र के एक गांव की छात्रा के साथ मंगलवार की शाम को युवक ने छेड़खानी करने की कोशिश की। छात्रा ने विरोध करते हुए शोर मचाया तो आरोपी ने उसकी पिटाई कर दी। पिटाई से छात्रा घायल हो गई और आरोपी मौके से भाग गया। आरोप है कि आरोपी युवक छात्रा का बैग भी साथ उठा ले गया। पुलिस इस मामले में आरोपी के खिलाफ मारपीट का केस दर्ज कर लिया है।
बीए प्रथम वर्ष की छात्रा मंगलवार को साइकिल से धनघटा कोचिंग पढ़ने गई थी। शाम को घर लौट रही थी। अभी वह गांव के करीब पहुंची ही थी। उसी दौरान गांव का एक युवक रोक लिया और उसके साथ छेड़खानी की। उसका आरोप है कि वह जबरियां खेत की ओर ले जाने लगा। विरोध करने आरोपी ने पिटाई की। शोर मचाने पर गांव के लोग दौड़कर पहुंचे तो युवक भाग निकला, लेकिन जाते-जाते साइकिल की हैंडिल में टंगा बैग भी ले गया। छात्रा ने घटना की जानकारी जगदीशपुर पुलिस को दी। पुलिस पहुंची, लेकिन आरोपी नहीं मिला। उल्टे ही युवक के परिवार के लोग छात्रा तथा उसके परिजनों को मारने- पीटने की धमकी दे रहे हैं। बुधवार की सुबह छात्रा अपने पिता के साथ धनघटा थाने पहुंची और एसओ को आपबीती बताई। एसओ अखिलानंद उपाध्याय ने बताया कि इस मामले में आरोपी युुवक के खिलाफ मारपीट का केस दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी गई है।
... और पढ़ें

दिनभर छाई रही बदली, किसान चिंतित

दिनभर छाई रही बदली, किसान चिंतित
ओलावृष्टि से गेहूं की फसल को नुकसान पहुंचा
-फिर लौटी ठंड, ऊनी कपड़े निकालने को मजबूर हुए लोग
संवाद न्यूज एजेंसी
संतकबीरनगर। मंगलवार को हुई तेज बारिश व ओलावृष्टि से फसलों को बड़े पैमाने पर क्षति हुई है। इसके आकलन में कृषि विभाग जुट गया है। वहीं बुधवार को दिनभर बदली छाई रही, जिससे किसानों की चिंता बढ़ गई है। किसानों को फसलों के नुकसान से पूंजी डूबने का भय सता रहा है, जिससे उनमें मायूसी छाई हुई है।
पिछले दो दिनों में मौसम का मिजाज बदला हुआ है। मंगलवार को बेवक्त की बारिश व ओलावृष्टि से जिले के विभिन्न क्षेत्रों में गेहूं की फसलों को नुकसान पहुंचा है। इसके साथ ही सरसों, मटर व आलू की फसल भी प्रभावित हुई है। किसान इसको लेकर परेशान हैं। इस बीच बुधवार को भी दिनभर आसमान में बादल छाए रहे और हल्की बूंदाबांदी हुई। इससे किसानों की चिंता और बढ़ गई है। कारण यह है कि गेहूं की फसल में बाली आनी शुरू हो गई है। तेज बारिश व हवा चली तो फिर फसल जमीन पर लेट जाएगी, जिससे किसानों को बड़े पैमाने पर नुकसान उठाना पड़ेगा। किसान राम हित ने कहा कि गेहूं की ऐसी फसल जिसमें बाली आ गई है, वह तेज हवा से बर्बाद हो सकती है। किसान पन्ने लाल ने कहा कि जो फसल देर से बोई गई है, वह तो ठीक है, लेकिन जिनमें बाली आ गई है, उसके लिए बारिश व तेज हवा नुकसानदायक साबित होगी। उन्होंने कहा कि आलू की खुदाई भी अभी तक किसान नहीं कर सके हैं, जिससे आलू के सड़ने की संभावना है। इधर बारिश व ओलावृष्टि से एक बार फिर ठंड लौट आई है, जिन लोगों ने ऊनी कपड़े रख दिए थे, उन्हें फिर से ऊनी कपड़े निकालने को मजबूर होना पड़ा है।
जिला कृषि अधिकारी पीसी विश्वकर्मा ने कहा कि बारिश व ओलावृष्टि से फसलों को हुए नुकसान का आकलन किया जा रहा है। गेहूं की वह फसल जिसमें अभी बालियां आनी शुरू हुई हैं, उसके लिए बारिश लाभदायक साबित होगी।
... और पढ़ें

घर में खोली लाइब्रेरी ताकि पढ़ सकें बालिकाएं

घर में खोली लाइब्रेरी ताकि पढ़ सकें बालिकाएं
शिक्षिका अनीता घर पर बालिकाओं को देती हैं अंग्रेजी व गणित की निशुल्क शिक्षा
शोभित कुमार पांडेय
संतकबीरनगर। सब पढ़े-सब बढ़े के नारे को शिक्षिका अनीता सिंह साकार करने में जुटी हैं। प्राथमिक विद्यालय में अध्यापन करने के बाद खाली समय में वह बालिकाओं को पढ़ाती हैं। बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए उन्होंने मैनसिर चौराहे स्थित अपने मकान में लाइब्रेरी बनाई है। दस से चार बजे तक बालिकाएं और महिलाएं वहां निशुल्क पढ़ सकती हैं। यही नहीं, अपना नाम, पता और मोबाइल नंबर दर्ज कराके छात्राएं किताबें घर भी ले जा सकती हैं।
अनीता सिंह प्राथमिक विद्यालय मंझरिया में सहायक अध्यापिका हैं। पूर्व में वह बच्चों का शौक पूरा करने के लिए खुद के पैसे से स्कूल भवन को ट्रेन का स्वरूप दे चुकी हैं। अब उन्होंने बालिकाओं और महिलाओं के लिए अपने मकान में लाइब्रेरी स्थापित की है। बातचीत में अनीता ने बताया कि बालिकाओं की शिक्षा का स्तर ऊंचा उठाना मेरा ध्येय है। गरीब बालिकाएं धन के अभाव में जरूरी किताबें नहीं खरीद पातीं। इसी वजह से मैंने लाइब्रेरी स्थापित करने की सोची। पहले प्राथमिक स्कूल मंझरिया में लाइब्रेरी बनाना चाहती थी, लेकिन वहां पढ़ाई बाधित न हो, इसलिए खुद के मकान में ही लाइब्रेरी खोली। किताबों के संग्रह पर अभी 50 हजार रुपये खर्च हुए हैं। यहां बालिकाओं और महिलाओं के पढ़ने की समुचित व्यवस्था है। धार्मिक, साहित्यिक, उपन्यास, नाटक और प्रतियोगी परीक्षा से संबंधित करीब 500 किताबें लाइब्रेरी में हैं। उन्होंने कहा कि सामाजिक संस्थाओं से मदद लेकर लाइब्रेरी को और समृद्ध किया जाएगा।
स्कूल से बचे समय में इंटर तक की बालिकाओं को पढ़ाने वाली अनीता घर में अंग्रेजी और गणित की निशुल्क कक्षाएं चलाती हैं। वह घरेलू हिंसा की शिकार महिलाओं को निशुल्क कंप्यूटर और सिलाई-कढ़ाई का प्रशिक्षण देना चाहती हैं। इस दिशा में भी उन्होंने काम शुरू कर दिया है। अनीता की सोच को साकार करने में पति जय प्रकाश सिंह और ससुर हरिबख्श सिंह भी सहयोग करते हैं।
डीएम और सीडीओ ने किया लाइब्रेरी का उद्घाटन
डीएम रवीश गुप्त और सीडीओ बब्बन उपाध्याय ने बुधवार को मैनसिर में अनीता सिंह की लाइब्रेरी का उद्घाटन किया। डीएम ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाली महिलाओं और बालिकाओं की बेहतर शिक्षा के लिए लाइब्रेरी स्थापित करना सराहनीय पहल है। सीडीओ बब्बन उपाध्याय ने कहा कि शिक्षिका अनीता सिंह स्कूल में बेहतर अध्यापन कार्य करने के साथ-साथ बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने का जो प्रयास कर रही हैं, उसकी जितनी प्रशंसा की जाए वह कम है। डीआरओ उमाशंकर मिश्र ने कहा कि सरकार की ओर से दिए गए सब पढ़े-सब बढ़े के नारे को शिक्षिका सिंह सही मायने में साकार कर रही हैं।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us