विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान - 8 अप्रैल 2020
Astrology Services

हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान - 8 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus in UP Live Updates: संक्रमितों की संख्या बढ़कर 127, मेरठ में मिले पांच नए मामले

यूपी में गुरुवार को कोरोना के नौ नए मामले सामने आए हैं। बुधवार को बस्ती जिले के मरीज की मौत के बाद दो अन्य व्यक्ति को कोरोना संक्रमित पाया गया है। वहीं मेरठ में पांच नए मामले मिले हैं तो गाजीपुर, लखनऊ, और हापुड़ में भी एक-एक मरीज मिला है।

2 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

शाहजहाँपुर

शुक्रवार, 3 अप्रैल 2020

निजामुद्दीन मरकज से लौटे तबलीगी जमात में शामिल लोगों की तलाश शुरू

शाहजहांपुर। निजामुद्दीन मरकज में तब्लीगी जमात के जलसे में शामिल हजारों लोगों में 74 से अधिक लोग कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद देश भर में हड़कंप मचा है। तब्लीगी जमात में शामिल लोगों की तलाश में शाहजहांपुर में मदरसों और मस्जिदों में सर्च ऑपरेशन चलाया गया। हालांकि इस दौरान ऐसा कोई भी व्यक्ति नहीं मिला लेकिन जानकारी अब भी जुटाई जा रही है।
कोरोना वायरस ने पूरे विश्व में हड़कंप मचा रखा है। ऐसे में दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में तब्लीगी जमात में शामिल लोगों में कोरोना संक्रमण की खबर से देश भर में हड़कंप मच गया है। पूरे देश में जमात में शामिल लोगों की तलाश शुरू की गई है। यूपी के 19 जिलों से लोग भी इसमें शामिल थे। शासन स्तर से जो सूची जारी की गई है, उसमें शाहजहांपुर का नाम नहीं है। मगा एहतियात के तौर पर पुलिस ने मंगलवार देर रात जिले में सर्च अभियान चलाया। चौक कोतवाली पुलिस ने मंडी मोड़, चौक, आदि स्थानों पर स्थित मदरसों और मस्जिदों में जाकर जांच की। वहीं सदर पुलिस ने जलालनगर, महमंद जलालनगर, हद्दफ, उस्मानबाग क्षेत्र में स्थित मदरसों और मस्जिदों में चेकिंग अभियान चलाया। इन स्थानों पर तब्लीगी जमात में शामिल होने वाला कोई भी नहीं मिला। इसके अलावा एहतियात के तौर पर पुलिस टीमें अभी भी तब्लीगी जमात के बारे में जानकारी जुटा रही है।
एहतियात के तौर पर चौक और सदर कोतवाली क्षेत्र में दिखवा लिया गया है। यहां निजामुद्दीन मरकज में शामिल होने वालों में कोई नहीं मिला है। एहतियातन और भी जानकारी की जा रही है। - दिनेश त्रिपाठी, एएसपी सिटी
... और पढ़ें

सफाई नायक को धमकाना भाजपा नेता को पड़ा भारी, रिपोर्ट दर्ज

शाहजहांपुर। शहर के वार्ड नंबर तीन में तैनात सफाई नायक अर्जुन ने बताया कि सफाई निरीक्षक ने उन्हें बताया कि तिलहरजई निवासी भाजपा नेता अरुण गुप्ता के यहां सैनिटाइजर कराना है। इस पर बुधवार को उन्होंने अरुण गुप्ता से फोन पर संपर्क किया। आरोप है कि अरुण गुप्ता ने जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल करते हुए गाली दी और कहा कि वह भाजपा के नगर अध्यक्ष हैं इसलिए पहले उनके घर पर सैनिटाइज होगा। इसके साथ ही उन्होंने जान से मारने की धमकी दी। भाजपा नेता द्वारा धमकी दिए जाने से आहत सफाई नायक ने साथी कर्मचारियों को जब इस बात की जानकारी दी, तो वह सभी गुस्से में आ गए और बुधवार सुबह करीब 10 बजे चौक कोतवाली पहुंच गए। भाजपा नेता के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराए जाने की मांग को लेकर हंगामा शुरू कर दिया। जानकारी मिलते ही अपर नगर आयुक्त एसके सिंह भी पहुंच गए। कोतवाल प्रवेश सिंह और नगर आयुक्त ने सफाई कर्मचारियों को शांत करने की कोशिश की, लेकिन वह लोग बिना कार्रवाई के शांत होने को तैयार नहीं थे। इसके बाद सफाई नायक अर्जुन की तहरीर पर भाजपा नगर अध्यक्ष अरुण गुप्ता के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली गई। इसके बाद सफाई कर्मचारी शांत हुए। ... और पढ़ें

शाहजहांपुर में कोरोना के दो और संदिग्ध लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई

शाहजहांपुर। दिल्ली नोएडा गाजियाबाद हरियाणा से लौटे 12 प्रवासी मजदूरों को कोरोना संदिग्ध पाए जाने पर जिला अस्पताल के क्वारंटीन वार्ड में भर्ती कराया गया था। इनमें से दस लोगों की रिपोर्ट मंगलवार को निगेटिव आ गई थी। शेष दो लोगों की रिपोर्ट आने को बाकी थी। बुधवार को उनकी रिपोर्ट भी निगेटिव आ गई। इससे स्वास्थ्य विभाग में राहत की सांस ली है और शाहजहांपुर वालों के लिए भी यह राहत देने वाली खबर है। वहीं मंगलवार देर रात एक और कोरोना संदिग्ध पाए जाने पर जिला अस्पताल के क्वारंटीन वार्ड में भर्ती कराया गया। जिसका स्वास्थ्य परीक्षण करने के बाद सैंपल लेकर जांच के लिए लखनऊ भेज दिया है। ... और पढ़ें

दुबई से लौटा युवक जांच के बाद गायब, क्वारंटीन करने को हो रही तलाश

तिलहर। दिल्ली के निजामुद्दीन में तब्लीगी जमात के जलसे के बाद देश भर में तेजी से बढ़े कोरोना पॉजिटिव के मामलों ने हड़कंप मचा दिया है। बृहस्पतिवार को अमेरिका और दुबई से लौटे दो युवकों की सूचना मिलने पर प्रशासन में हड़कंप मच गया। अमेरिका से लौटा युवक चीनी मिल के एक कर्मचारी का पुत्र है। वह घर में 14 दिन क्वारंटीन रह चुका है और उसके परिवार ने भी खुद को आइसोलेट कर रखा है। मगर मीरानपुर कटरा क्षेत्र के एक गांव में रहने वाला दुबई से लौटा युवक सीएचसी में स्क्रीनिंग कराने के बाद से लापता है। उसका पता नहीं लगने से प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है और तलाश कराई जा रही है।
तिलहर सीएचसी प्रभारी डॉ. कमरुज्जमा ने बताया कि 30 मार्च को सीएचसी पर चीनी मिल कर्मचारी के अमेरिका से लौटे बेटे ने स्क्रीनिंग कराई थी। इसके अलावा दुबई से लौटा कटरा क्षेत्र का युवक 31 मार्च को स्क्रीनिंग कराने आया था। दोनों की स्क्रीनिंग ठीक पाई गई। चीनी मिल कर्मचारी ने बताया कि उनका बेटा गुरुग्राम में एक सॉफ्टवेयर कंपनी में कार्यरत है। वह कंपनी के कार्य से दिसंबर में अमेरिका गया था, 14 मार्च को वहां से लौटकर 15 मार्च को तिलहर आ गया था। 20 मार्च को जब उन्होंने कनिका कपूर की खबर सुनी तो 21 और 22 मार्च को अपने बेटे के आने की सूचना डीएम और सीएमओ को दी। बाद में भी डीएम ने उनके पुत्र का हालचाल लिया। उन्होंने बताया कि पुत्र को 14 दिन घर में आइसोलेशन में रखा और 29 मार्च को यह समय पूरा हो गया। पुत्र के यहां आने के बाद से वह भी ड्यूटी नहीं गए और परिवार के पांचों सदस्यों के साथ घर में ही आइसोलेशन में हैं। तीन मार्च को पूरा परिवार 14 दिन का आइसोलेशन पूर्ण कर लेगा, फिलहाल सभी स्वस्थ हैं।
दुबई से लौटे युवक की तलाश में जुटा प्रशासन
वहीं, दुबई से लौटा युवक 31 मार्च को सीएचसी पर स्क्रीनिंग कराने के बाद गायब हो गया है। वह दुबई में किसी कंपनी में काम करता था। एसडीएम सौरभ गंगवार ने बताया कि दुबई से लौटे युवक की कई दिन से तलाश कराई जा रही है। उसका मोबाइल नंबर भी नहीं मिल रहा है। टीमें उसकी तलाश में लगाई गई हैं। वह 31 मार्च को सीएचसी पर स्क्रीनिंग के लिए आया था, लेकिन स्वास्थ्य विभाग ने उन्हें इसकी जानकारी नहीं दी। युवक को तलाशने के बाद उसे क्वारंटीन किया जाएगा।
... और पढ़ें

दुष्कर्म के विरोध पर हत्या की अफवाह से मची खलबली

मकसूदापुर/बंडा। दुष्कर्म के विरोध पर हत्या की अफवाह पुलिस में खलबली मच गई। जांच में सूचना झूठी मिलने पर पुलिस ने झूठी सूचना देने वाले की तलाश शुरू कर दी है।
गांव नवाबपुर पुक्खी के किसी व्यक्ति ने यूपी-112 को बृहस्पतिवार सुबह सूचना दी कि गांव में उसकी पत्नी के साथ कुछ लोगों ने दुष्कर्म की कोशिश की और विरोध करने पर गोली मारकर हत्या कर दी। सूचना पर पुलिस में खलबली मच गई। थाना पुलिस के साथ ही यूपी-112 की चार गाड़ियां गांव पहुंचीं। थाना प्रभारी राजेंद्र बहादुर सिंह भी पहुंच गए। सूचना देने वाले को फोन किया तो कॉल रिसीव ही नहीं हुई। पुलिस के मुताबिक कॉलर एप पर सूचना देने वाले का नाम अमन कुमार लिखकर आ रहा था, उसने अपना नाम अमन त्रिपठी बताया था। गांव वालों ने बताया कि वहां अमन त्रिपाठी नाम का कोई व्यक्ति नहीं रहता। पुलिस ने अमन नाम के दो युवकों को बुलाकर भी पूछताछ की लेकिन सूचना देने वाला मोबाइल नंबर उनका नहीं निकला। थाना प्रभारी राजेंद्र बहादुर सिंह ने बताया कि झूठी सूचना देने वाले के नंबर की जांच कराई जा रही है, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

वितरण में धांधली पर मलिका के कोटेदार पर रिपोर्ट

खुटार। कार्डधारकों को कम राशन देने और चार लोगों के हस्ताक्षर कराने के बाद भी राशन नहीं देने पर पूर्ति निरीक्षक ने खुटार के गांव मलिका के कोटेदार पर रिपोर्ट दर्ज करा दी है।
शासन के निर्देश पर एक अप्रैल को राशन वितरण किए जाने के निर्देश थे। इसी के तहत बुधवार को कोटेदार राशन का वितरण कर रहे थे। एसडीएम दशरथ कुमार और सीओ नवनीत कुमार नायक अचानक खुटार के गांव मलिका में औचक निरीक्षक किया था। जानकारी मिली थी कि कोटेदार रमेशचंद्र अंत्योदय कार्डधारकों को 35 किलो के स्थान पर 32 किलो राशन ही दे रहे थे। गांव के छह अंत्योदय कार्डधारकों से वितरण रजिस्टर पर हस्ताक्षर करा लिए गए थे, लेकिन राशन केवल दो लोगों को ही दिया गया था।
एसडीएम ने पूर्ति निरीक्षक आलोक कुमार को मौके पर बुलाकर पूरे मामले की जांच करने के निर्देश दिए थे। पूर्ति निरीक्षक ने बताया जिलाधिकारी के आदेश पर कोटेदार के खिलाफ आवश्यक वस्तु अधिनियम की धारा 3/7 के तहत कोटेदार रमेशचंद्र के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करा दी गई है। दुकान को निलंबित भी कर दिया गया है।
... और पढ़ें

बेवजह घूमने वालों को मिला सबक, दुकानदार गिरफ्तार

जलालाबाद। लॉकडाउन के नौवें दिन नगर में बृहस्पतिवार को अलग नजारा दिखाई दिया। सुबह के समय बेवजह घूमने वालों और चोरी छिपे दुकान खोलने वालों को पुलिस ने सबक सिखाते हुए किसी को उठक-बैठक लगवाई तो किसी को डंडे फटकारकर भगाया। महिलाओं को भी कड़ी हिदायत दी गई। पुलिस ने एक किराना दुकानदार को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है।
पुलिस ने बृहस्पतिवार सुबह नगर के प्रमुख रास्तों पर पैदल, बाइक और साइकिल से जाने वालों से कड़ाई से पूछताछ करनी शुरू कर दी। सही जवाब न मिलने पर कई लोगों को उठक बैठक लगवाई गई, जबकि रौब झाड़ने वालों को डंडे भी लगाए। गली नुक्कड़ में दुकान खोलने वालों को भी नहीं बक्शा गया। पुलिस के कड़े रुख से कुछ ही देर में सड़कों पर सन्नाटा हो गया। गांव रौली बौरी में एक व्यक्ति किराना की दुकान खोले सामान बेच रहा था और वहां लोगों की भीड़ लगी थी। पुलिस को देख अन्य लोग भाग निकले, जबकि दुकानदार को पकड़कर पुलिस कोतवाली ले आई। कोतवाल रवि कुमार ने बताया कि दुकानदार के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। संवाद
... और पढ़ें

शेल्टर होम में क्वारंटीन लोग खेतों में काट रहे गेहूं

पुवायां/मिर्जापुर। कोरोना का संक्रमण खतरनाक स्तर न पहुंचे इसलिए जिला प्रशासन ने ग्राम पंचायत स्तर पर शेल्टर होम बनाकर बाहर से आने वालों को क्वारंटीन करने की व्यवस्था की है। मगर इस व्यवस्था पर बदहाली और लापरवाही हावी हो गई है, जिसके चलते कागजों में क्वारंटीन किए लोग खेतों में गेहूं काटने के साथ ही गांवों में घूमकर दूसरों के लिए भी खतरा पैदा करते हैं। कई गांवों में हालात यह हैं कि दिनभर तो लोग शेल्टर होम में रहते हैं और अंधेरा होते ही घर चले जाते हैं। इसके पीछे एक बड़ी शेल्टर होम की बदइंतजामी भी है।
मिर्जापुर की ग्राम पंचायत नरौरा में दस लोगों को क्वारंटीन में रहने को कहा गया था। शेल्टर होम में इनमें से आठ लोग ही बचे हैं और ये भी खेतों में गेहूं की फसल की कटाई कर रहे हैं। गांववालों को कहना है कि जब भी कोई अधिकारी आता है तो ये लोग वापस आ जाते हैं। अधिकारी के जाते ही फिर खेतों में पहुंच जाते हैं।
रात में घर चले जाते हैं शेल्टर होम में रखे गए लोग
बंडा। क्षेत्र के गांव कढ़रेचौरा के प्राथमिक स्कूल में बनाए गए शेल्टर होम में हरियाणा से आए गांव के 26 श्रमिकों को रखा गया है। यह श्रमिक 29 मार्च को गांव आए थे और 31 मार्च से इनको शेल्टर होम में रखा गया है। दिन में श्रमिक शेल्टर होम में मौजूद मिले। कुछ श्रमिकों ने बताया कि स्कूल में मच्छरों की भरमार है, रात भर नींद नहीं आती। तीन दिन में सिर्फ एक दिन यूपी-112 पुलिस खाना दे गई थी, इस वजह से उन्हें भूखा रहना पड़ता है। वहीं, प्रधान संतोष राठौर ने बताया कि स्कूल में सभी व्यवस्थाएं कराई गई हैं लेकिन श्रमिक रात में घरों को चले जाते हैं और सुबह खाना खाने आ जाते हैं।
बसंतापुर में 15 लोग क्वरंटीन
मझिगवां। गांव बसंतापुर में देहरादून से 11, दिल्ली व नेपाल से एक-एक और उत्तराखंड से दो लोग आए हैं। सभी को गांव के स्कूल में बने शिविर में रखा गया है। प्रधान संजीव पटेल ने बताया कि बाहर से आया कोई भी व्यक्ति घरों में नहीं रह रहा है। स्कूल में रहने वालों के भोजन आदि की उचित व्यवस्था है।
बाहर से आए 13 लोगों ने घरों में जमाया डेरा
पुवायां। गांव जुझारपुर में गैर प्रांतों से आए 22 लोग स्कूल में बने शिविर में रह रहे हैं। इसके अलावा बाहर से आए 13 अन्य लोगों ने शिविर में रुकने से इनकार कर दिया और ये लोग अपने घरों में रह रहे हैं। प्रधान अवध किशोर त्रिवेदी ने बताया कि दो से तीन लोग रात में अपने घर चले जाते हैं। शेष लोग स्कूल में ही रहते हैं। शिविर में दो समय भोजन और दो समय चाय दी जाती है।
शिविर में रहने को तैयार नहीं लोग
बंडा। गावं सैदापुर के स्कूल में बने शिविर में बाहर से आए गांव के 23 लोगों को रखा गया है। स्कूल में रखे गए लोग सामाजिक दूरी का ख्याल नहीं रख रहे हैं और पास ही बैठते हैं। ऐसे में यदि कोई भी व्यक्ति बीमार हुआ तो अन्य लोगों में भी बीमारी फैलने की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता है। उधर पड़रिया दलेलपुर गांव में बाहर से आए 33 लोगों में केवल 20 लोग ही स्कूल में रह रहे हैं। प्रधान वीरपाल ने बताया कि 13 लोग शिविर में रहने को तैयार नहीं हैं। प्रशासन को सूचना दे दी है।
स्वास्थ्य विभाग की टीम ने की जांच
पुवायां। गांव जलालपुर के स्कूल में बनाए गए शिविर में दूसरे प्रांतों से आए गांव के एक व्यक्ति को रखा गया है। बृहस्पतिवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने स्कूल पहुंचकर शिविर में युवक के स्वास्थ्य की जांच की तो उसका स्वास्थ्य ठीक निकला।
कोरोना वायरस को लेकर लोगों को जागरूक किया गया है लेकिन कुछ लोग फिर भी नहीं मान रहे हैं। बाहर से आए लोगों को शिविर में रखने के लिए पुलिस के माध्यम से सख्ती कराई जाएगी।
दशरथ कुमार, एसडीएम पुवायां
फोटो - 27
गांव में खुलेआम घूम रहे लोग
निगोही। क्षेत्र में बने 79 शेल्टर होम का हाल भी अन्य क्षेत्रों की तरह है, इनमें भी बाहर से आए लोग नहीं रुक रहे और गांवों में खुलेआम बेपरवाह घूम रहे हैं। खंड विकास अधिकारी गोविंद बल्लभ पाठक के मुताबिक क्षेत्र में करीब 2600 लोग बाहर से आए है, इनमें से 260 शेल्टर होम में ठहरे हुए हैं।
11 विदेश और हजारों लोग दिल्ली एनसीआर से लौटे, मगर शेल्टर होम खाली
जलालाबाद। तहसील क्षेत्र की सभी 81 ग्राम पंचायतों के अलावा कस्बे में दो शेल्टर होम बनाए गए हैं, जिनकी देखरेख का जिम्मा प्रधान और सेक्रेटरी पर है, लेकिन हैरानी की बात यह है कि किसी भी शेल्टर होम में एक भी व्यक्ति मौजूद नहीं है, जबकि कस्बा समेत क्षेत्र के विभिन्न गांवों में एक अप्रैल तक बाहर से आए लोगों की तादाद तीन हजार से ज्यादा है, जिनमें 11 लोग विदेशों से आए हैं।
ग्राम पंचायत कोला, सिकंदरपुर, नूरपुर करही, रुस्तमपुर आदि गांवों के प्रधानों का कहना है कि उन लोगों ने प्रशासन के निर्देशानुसार स्कूल अथवा पंचायत भवन में शेल्टर होम बनाकर लोगों को वहां रुकने के लिए सूचना भिजवा दी है, लेकिन वहां कोई नहीं पहुंचा है। एक अप्रैल तक क्षेत्र में 3027 लोग अन्य जिलों से आए हैं, जबकि 9 लोग नेपाल, एक स्पेन और एक फिलीपींस से आया है। नेपाल से आए 8 गांव उबरिया के रहने वाले हैं और एक गुलड़िया गांव का। स्पेन का युवक यहां रिश्तेदारी में आया था जो वापस जा चुका है। फिलीपींस से आने वाला अल्लाहगंज का रहने वाला है।
... और पढ़ें

नवमी पर गोमाता का पूजन और भोजन कराकर किया व्रत पारण

शाहजहांपुर। लॉकडाउन का असर इस बार देवी मां की आराधना के पर्व चैत्र नवरात्रों पर भी पड़ा। देवी भक्तों ने नौ दिनों तक घरों में रहकर ही आराधना की और माता से महामारी से उनके परिवार, समाज और देश को बचाने की कामना की गई। बृहस्पतिवार को चैत्र नवरात्र का नौवां दिन रहा। भक्तों ने देवी मां के सिद्घिदात्री स्वरूप का आह्वान किया। अष्टमी तक व्रत रखने के बाद नवमी को पारण करने वाले भक्तों ने नौ कन्याओं के स्थान पर गोमाता का पूजन कर भोग लगाया। इसके साथ ही हवन पूजन कर पूर्णाहुति दी गई। मंदिरों में पुजारियों ने देवी मां का पूजन किया।
ऐसा पहली बार हुआ है जब नवरात्रि का व्रत रखने वाले भक्तों ने नवमी को कन्या पूजन नहीं किया है, जबकि मान्यता अनुसार नवमी को नौ कन्याओं को नौ देवियों का रूप मानकर लोग उनका मनुहार करते हैं। इंद्रानगर में रहने वाली सुरभि ने नौ दिन का व्रत रखा था। उन्होंने नवमी को परिवार के साथ घर में ही हवन किया। इसके बाद गोमाता का पूजन किया और उनको भोजन कराया। फिर घर के पास ही कुष्ट आश्रम और रेलवे क्रॉसिंग के आसपास रहने वाले जरूरतमंद परिवारों के बच्चों को सुबह खीर, पूड़ी और छोले बांटे। इसके बाद व्रत पारण कर खुद अन्न ग्रहण किया। इसी तरह से शशि और अनारकली ने बताया कि वह लोग नवमी पर कन्याओं को भोज कराते हैं, लेकिन इस बार कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने की वजह से मोहल्ले वालों ने अपनी कन्याओं को घर से नहीं निकलने दिया। इसलिए गोमाता का पूजन और उनको भोजन कराकर व्रत पारण किया है। उन्होंने कहा देवी मां के आशीर्वाद से हम जल्द ही इस महामारी से मुक्ति प्राप्त करेंगे।
हनुमतधाम में मनाई गई रामनवमी
शाहजहांपुर। विसरात स्थित हनुमत धाम पर बृहस्पतिवार को भगवान श्रीराम का जन्मोत्सव मनाया गया। लॉकडाउन के चलते आपसी दूरी के नियम का पालन करते हुए मंदिर समिति के पदाधिकारियों ने भगवान के दर्शन किए। मंदिर के पुजारियों ने स्वस्ति वाचन और मंत्रोच्चारण किया। भजन व बधाइयां गाई गंई। नैवेद्य पुष्प आदि अर्पित करने के बाद आरती हुई। मंदिर में आगंतुकों के प्रवेश पर पूरी तरह से पाबंदी रही। इस मौके पर हनुमत धाम प्रबंध समिति के अध्यक्ष विनोद अग्रवाल, धीरू खन्ना, अवधेश खन्ना मौजूद रहे।
दीप जलाकर मनाया रामनवमी का पर्व
शाहजहांपुर। भगवान श्रीराम के प्रकाट्य उत्सव पर धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन नहीं हुआ, लोगों ने अपने घरों में दीप जलाकर पर्व मनाया। जिसका आह्वान धार्मिक संगठनों की ओर से किया गया था।
कोरोना वायरस का संक्रमण बढ़ने के चलते धार्मिक आयोजनों पर रोक लगी हुई है। इसको ध्यान में रखते हुए रामनवमी पर कहीं भी कोई कार्यक्रम नहीं हुआ। कुछ धार्मिक संगठनों की ओर से एक दिन पहले ही रामनवमी पर शाम को घरों में पूजन कर दीप जलाए गए। कुछ लोगों ने दोपहर में रामलला का पूजन किया। उनके जन्म पर घंटे-घड़ियाल बजाए और भोग लगाया। वहीं शाम को घर के दरवाजे और छतों पर दीप जलाए गए। इस दौरान भगवान से दुनिया में फैले कोरोना वायरस के संक्रमण को समाप्त करने के लिए प्रार्थना की गई। संवाद
... और पढ़ें

दूसरे प्रदेशों से आए आठ लोगों को किया क्वारंटीन

खुटार। लॉकडाउन होने से दूसरे प्रांतों में काम करने वाले श्रमिक घर लौटे तो शासन के आदेशों के तहत उनको गांव के स्कूल में क्वारंटीन किया गया है।
मंगलवार को गांव नवाजपुर के आठ श्रमिक हरियाणा, हापुड़, दिल्ली, ऊधमसिंह नगर, अमेठी आदि से घर लौटे। गांव के लोगों ने उनको घर जाने से रोक दिया। प्रधान विजय सिंह भदौरिया ने उनको गांव के प्राथमिक स्कूल में ठहरा दिया और राशन, रजाई, बिस्तर आदि उपलब्ध कराया। श्रमिकों की स्वास्थ्य जांच भी की गई, जिसमें उनको कोई बीमारी नहीं पाई गई लेकिन फिर भी उनको 14 दिन तक स्कूल में ही रुकने को कहा गया है।
उधर, गांव कुइयां में दिल्ली, हरिद्वार से काम करके घर लौटे पांच श्रमिकों की खुटार के सरकारी अस्पताल में जांच कराई गई। जांच में सभी की हालत सामान्य बताई गई है। प्रधान विजेंद्र कुमार ने बताया कि जांच के बाद श्रमिकों को घर भेज दिया गया है। बाहर से आने वालों के लिए गांव कुइयां, नवदिया के स्कूल में रजाई, बिस्तर, राशन आदि उपलब्ध है। किसी के बीमार होने की पुष्टि होती है तो 14 दिन तक स्कूल में रोका जाएगा।
दो और कोरोना संदिग्ध लोगों की रिपोर्ट भी आई निगेटिव
कोरोना संदिग्ध पाए गए दो और लोगों की जांच रिपोर्ट बुधवार दोपहर आ गई। दोनों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। वहीं ओमान से आए एक और युवक को जिला अस्पताल में क्वारंटीन किया गया है। उसका सैंपल बुधवार को लेने के बाद जांच को भेजा गया है। ओमान के युवक को मिलाकर अब तक जिले में 20 सैंपल भेजे जा चुके हैं। राहत की बात यह है कि इनमें से 19 की रिपोर्ट निगेटिव आई हैं।
दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद, हरियाणा आदि स्थानों से आने वाले लोगों में 12 लोगों को जिला अस्पताल में क्वारंटीन किया गया था। इनमें से दस लोगों की रिपोर्ट मंगलवार को निगेटिव आ गई थी। दो लोगों का सैंपल लेकर मंगलवार को जांच के लिए भेजा गया था। उनकी रिपोर्ट भी बुधवार दोपहर आ गई, जिसमें कोरोना निगेटिव पाया गया। यह जिले को राहत देने वाली खबर है कि अभी तक बीस सैंपल जांच को भेजे गए, जिनमें 19 की रिपोर्ट निगेटिव आई है। उधर, सीएमओ डॉ. राजीव कुमार गुप्ता ने कहा कि जो भी संदिग्ध लग रहा है। उसकी जांच हो रही है। फिलहाल अभी तक अपने जिले में कोरोना का एक भी मरीज नहीं मिला है। यह अच्छी बात है। उन्होंने लोगों से लॉकडाउन का पालन करने की अपील की।
... और पढ़ें

अष्टमी पर नहीं हो सका कन्या पूजन, देवी मां की हुई आराधना

शाहजहांपुर। चैत्र नवरात्र के आठवें दिन श्रद्घालुओं ने घरों में देवी मां के महागौरी स्वरूप की पूजा अर्चना कर सुख समृद्घि के लिए कामना की। लॉक डाउन की वजह से जहां मंदिरों के कपाट बंद रहे, वहीं इस बार कन्या पूजन भी नहीं हुआ।
अष्टमी पर देवी मां के महागौरी स्वरूप की आराधना होती है। देवी मां का पूजन-अर्चना के बाद कन्या भोज कराने का विधान है। श्रद्घालु हमेशा से इसका पालन करते आ रहे हैं, लेकिन इस बार दुनिया भर में फैले कोरोना वायरस की वजह से संक्रमण का खतरा बना हुआ है। इसके चलते नवरात्र पर बुधवार को श्रद्धालुओं ने घर में ही देवी मां का पूजन किया और परिवार में मौजूद छोटी-छोटी कन्याओं को भोज कराकर परंपरा निभाई। मोहल्ले से एक भी कन्या को न्यौता नहीं दिया गया और लोगों ने भी एक-दूसरे के घर कन्याएं नहीं भेजी। श्रद्घालुओं ने बताया कि बेटियों का पूजन कर देवी मां से महामारी को खत्म करने की प्रार्थना की गई, वह पूरे विश्व की रक्षा करेंगी।
उधर, बाबा विश्वनाथ, फूलमती देवी, दुर्गा माता मंदिर समेत लगभग सभी मंदिरों के कपाट बंद रहे। पुजारियों ने ही मंदिर में देवी पूजन किया। इस बीच हवन-पूजन में भी चंद लोग ही पूर्णाहुति देने के लिए शामिल हुए और कोरोना वायरस से विश्व, देश, प्रदेश और शहरवासियों को मुक्ति की कामना की गई।
हवन-पूजन के लिए नहीं मिली सामग्री
अष्टमी पर देवी पूजन के साथ ही घरों में हवन भी हुए। इसके लिए हवन-सामग्री, लकड़ी और फल-फूल मिलना भी मुश्किल हो गया। कई लोग हवन के लिए लकड़ी लेने मंडी पहुंचे, लेकिन कहीं नहीं मिली। पान की दुकानें भी बंद थी। निराश होकर उन्हें खाली हाथ घर लौटना पड़ा।
आज होगा नवमी पूजन
गुरुवार को नवमी पर मां के नौंवे स्वरूप सिद्धिदात्री की पूजा अर्चना की जाएगी। नवमी के अवसर पर घरों में यज्ञ के आयोजन की तैयारियां भी चल रही हैं। इस बार मंदिर में विशाल भंडारे के आयोजन को रद्द कर दिया गया है। इसके साथ ही चैत्र नवरात्र का समापन होगा।
... और पढ़ें

कोरोना पॉजिटिव के साथ ओमान से लौटे युवक को किया क्वारंटीन

शाहजहांपुर। ओमान से 20 मार्च को लौटे एक युवक को जिला अस्पताल में क्वारंटीन किया गया है। 11 दिन से यह युवक घर में रह रहा था और अपने परिचितों से मिल रहा था। उसके साथ ही लौटा बिहार का युवक कोरोना पॉजिटिव निकला तो इसके बारे में जिला प्रशासन को जानकारी दी गई। इसके बाद युवक को तलाशकर उसे जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर सैंपल जांच के लिए लखनऊ भेजा गया है। अफसरों का कहना है कि यदि युवक की रिपोर्ट पॉजिटिव आती है तो वह अब तक जिन लोगों से मिला, उनकी भी जांच की जाएगी।
सदर क्षेत्र के एक मोहल्ला निवासी युवक ओमान में काम करता था। 20 मार्च को वह शहर लौटा और घर परिवार के साथ ही अन्य लोगों से मिलता रहा। शासन के पास मंगलवार को रिपोर्ट आई कि जिस फ्लाइट से वह ओमान से लौटा था, उसमें बिहार का भी युवक था और वह कोरोना पॉजिटिव निकला है। इसके बाद पुलिस ने युवक की तलाश की और फिर उसे जिला अस्पताल के क्वारंटीन वार्ड में भर्ती करा दिया गया। जांच के बाद बुधवार सुबह उसका सैंपल लखनऊ भेजा गया है। वहीं, जिस मोहल्ले में युवक रहता था, वहां खलबली मची हुई है। स्वास्थ्य विभाग ने लोगों से आपसी दूरी बनाकर लॉकडाउन का पालन करने को कहा है।
दरअसल जिस फ्लाइट से युवक ओमान से आया था। उस फ्लाइट का एक युवक कोरोना पॉजीटिव मिला है। इसलिए संदेह के आधार पर ओमान से लौटे युवक का सैंपल लखनऊ भेजा गया है। रिपोर्ट आने तक तक वह आइसोलेशन वार्ड में रहेगा। यदि रिपोर्ट निगेटिव आती है तो यह भी देखा जाएगा कि वह किन-किन लोगों के संपर्क में रहा है। - डॉ. राजीव कुमार गुप्ता, सीएमओ
कर्नाटक से लौटे पांच लोगों समेत सात क्वारंटीन
कोरोना वायरस के संदिग्ध लोगों में रामचंद्र मिशन क्षेत्र के पांच लोगों को जिला अस्पताल में क्वारंटीन किया गया है। यह लोग 15 मार्च को कर्नाटक से लौटे थे। वही,ं सीएमओ डॉ. राजीव गुप्ता का कहना है कि सिंधौली ब्लॉक क्षेत्र के दो लोग भी क्वारंटीन किए गए हैं।
कुबैत से ससुराल लौटे युवक को घर में किया आइसोलेट
हापुड़ निवासी एक युवक कुबैत में काम करता था। उसकी ससुराल रोजा स्थित एक कॉलोनी में है। रोजा पुलिस को जानकारी मिली कि वह कुबैत से अपनी ससुराल आया है। इस पर बुधवार सुबह पुलिस पहुंच गई और उसका स्वास्थ्य परीक्षण कराने के बाद 14 दिन का नोटिस चस्पा कर दिया गया है कि न तो वह किसी से मिलेगा और न ही उससे कोई मिलेगा।
... और पढ़ें

पांच अप्रैल से मुफ्त मिलेंगे उज्जवला गैस सिलिंडर

शाहजहांपुर। उज्जवला योजना की लाभार्थियों को पांच अप्रैल से मुफ्त गैस सिलिंडर मिलने लगेंगे। यह योजना तीन माह तक प्रभावी रहेगी। जिले के लगभग 2.50 लाख कनेक्शन धारक इससे लाभान्वित होंगे।
एलपीजी डिस्ट्रीब्यूटर एसोसिएशन के जिला सचिव अनुज गुप्ता ने बताया कि इस योजना में लाभार्थी के बैंक खाते में सरकार की ओर से धनराशि ट्रांसफर कर दी जाएगी। ग्राहक यह राशि बैंक से निकालकर गैस एजेंसी से अपना सिलिंडर ले सकते हैं। उज्जवला ग्राहकों को हर माह केवल एक रिफिल दी जाएगी और पहला सिलेंडर मिलने के बाद 15 दिन से पहले दूसरी बुकिंग नहीं कर सकेंगे। अगले माह की धनराशि तभी दी जाएगी, जब पिछले माह सिलिंडर लिया गया हो। यदि नहीं लिया तो अगले महीने की रिफिल की धनराशि नहीं दी जाएगी। योजना का लाभ लेने के लिए मोबाइल नंबर गैस एजेंसी पर उपलब्ध कराना होगा। उन्होंने ग्राहकों से अनुरोध किया कि बुकिंग और भुगतान ऑनलाइन करें ताकि कोरोना संक्रमण से बचा जा सके। डिलीवरी मैन, एजेंसी स्टाफ, ट्रक चालकों एवं अन्य कर्मचारियों की यदि कोरोना संक्रमण से मौत होती है तो इंडियन ऑयल कंपनी उनके परिवार को पांच लाख रुपये की सहायता देगी। संवाद
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us