विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus In Uttar Pradesh Live: नोएडा में चार और संक्रमित मरीज मिले, यूपी में संख्या बढ़कर हुई 70

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस का कहर देश में लगातार बढ़ता जा रहा है। रविवार को कोरोना से जम्मू-कश्मीर और गुजरात में एक-एक लोगों की मौत हो गई। वहीं, यूपी में भी लगातार संक्रमिता का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है।

29 मार्च 2020

विज्ञापन

Sp baghpat said

28 मार्च 2020

विज्ञापन

शामली

रविवार, 29 मार्च 2020

लॉकडाउन में पीआरवी की पुलिस बनी पीड़ितों का सहारा

शामली। लॉकडाउन में पुलिस कानून व्यवस्था संभालने के साथ ही पीड़ित लोगों को उनके घर पर ही मदद भी पहुंचाने में जुटी है।
शुक्रवार रात को डायल 112 पर गांव दुल्लाखेड़ी निवासी गुलजार ने पत्नी के सीने में तेज दर्द होने की सूचना दी। पीआरवी ने मौके पर पहुंचकर क्षेत्र के एक चिकित्सक के यहां से उपचार दिलाया और उसे घर छोड़ा।
शनिवार सुबह कांधला निवासी रिजवान ने डायल 112 पर सूचना देकर चार दिन से परिवार के भूखा होने की समस्या बताई। पीआरवी ने रिजवान के घर पहुंचकर राशन डीलर के यहां ले जाकर महीने भर का राशन उपलब्ध कराया। कांधला में हरियाणा के अंबाला से कांधला पहुंचे 20 परिवारों को समाजसेवी विपुल जैन, मयंक जैन, वरुण जैन आदि की मदद से पुलिस ने राशन उपलब्ध कराया। इसी तरह झिंझाना के हसनपुर निवासी आकाश ने पुलिस को बताया कि घर पर आटा नहीं है। दुकान पर पहुंचा तो वह बंद हो चुकी थी। पीआरवी ने उसे आटा उपलब्ध कराया गया।
कैराना क्षेत्र कैथवाड़ा निवासी वसीम ने सूचना दी कि वह रिक्शा से फेरी लगाकर कपड़े बेचता है। लॉक डाउन के कारण उसका काम बंद हो गया और घर का राशन भी खत्म हो गया है। पीआरवी ने मौके पर पहुंचकर राशन डीलर से राशन उपलब्ध कराया। गांव लांक निवासी विजेंद्र ने डायल 112 पर 13 वर्षीय बेटे को कुत्ते काटने और स्टोर पर इंजेक्शन मिलने की समस्या बताई। पीआरवी ने इंजेक्शन उपलब्ध कराया और अस्पताल में लगाया। इसी तरह एसपी को जहानपुरा में स्थित फैक्टरी में काम करने वाले बिहार निवासी 20 श्रमिकों ने राशन न होने पर लौटने की सूचना दी। एसपी विनीत जायसवाल ने मौके पर पहुंचकर जनसहयोग से राशन और भोजन उपलब्ध कराया। एसपी ने कांधला विकास मंच के सहयोग से 52 परिवारों को राशन उपलब्ध कराया।
शामली रोडवेज बस अड्डे पर सैनिटाईजर से हाथ साफ करवाते लायंस क्लब के सदस्य।
शामली रोडवेज बस अड्डे पर सैनिटाईजर से हाथ साफ करवाते लायंस क्लब के सदस्य।- फोटो : SHAMLI
... और पढ़ें

पुलिस ने दो आरोपी किए गिरफ्तार

विदेश से लौटे 28 लोग रडार पर

शामली। शामली जनपद में दुबई से लौटे युवक में कोरोना पॉजीटिव मिला था। बागपत जिले में भी कोरोना पॉजीटिव दुबई से लौटा था। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग भी मान रहा है कि विदेश से ही ये वायरस देश में आया है। ऐसे में हाल ही में विदेश से लौटे लोगों के चिह्निकरण का काम शुरू कर दिया गया था। राजस्व विभाग की टीम को इसमें जुटाया गया था। डीएम जसजीत कौर के अनुसार जिले में विदेश से लौटे कुल 28 लोग चिह्नित किए गए हैं, करीब एक हजार के आसपास लोग दूसरे राज्यों से आए हैं। सीएमओ के अनुसार विदेश से लौटे सभी लोगों की मॉनिटरिंग की जा रही है। उनकी जांच हो रही है। जिनमें लक्षण नजर आ रहे हैं उनके सैंपल जांच को भेजे जाएंगे। छह लोगों को सैंपल जा चुुके हैं। शनिवार को भी सिंगापुर से लौटे युवक और उसकी पत्नी को आइसोलेशन में भर्ती कर इनके सैंपल जांच को भेजे हैं। ... और पढ़ें

जरूरतमंदों को भोजन पैकेट मिले

झिंझाना के बिड़ौली मे खाने के पैकिट वितरित करते व्यापारी। झिंझाना के बिड़ौली मे खाने के पैकिट वितरित करते व्यापारी।

सड़क पर बाइक सवार गंभीर हालत में मिला

सड़क पर बाइक सवार गंभीर हालत में मिला
कैराना। शनिवार सुबह करीब 5.30 बजे शामली रोड पर मन्ना माजरा के निकट बाइक सवार युवक गंभीर हालत में सड़क पर पड़ा मिला। निकट ही उसकी बाइक भी क्षतिग्रस्त हालत में पड़ी थी। सूचना पर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर घायल को सरकारी अस्पताल पहुंचाया। सिर में गंभीर चोट के कारण उसे शामली रेफर कर दिया। वहां से भी गंभीर हालत के चलते उसे मेरठ रेफर कर दिया। सरकारी अस्पताल के डाक्टर विकास चंद्रा ने बताया कि घायल की जेब से मिले आधार कार्ड के आधार पर उसका नाम साजिद निवासी मुजफ्फरनगर है। घायल के मोबाइल से उसके परिजनों को सूचना दे दी गई।
लॉकडाउन में 50 बाइकों के टायर पंक्चर किए
कैराना। लॉकडाउन में कोतवाली प्रभारी यशपाल धामा ने सुबह बेवजह सड़कों पर घूम रहे लोगों के खिलाफ अभियान चलाया। इस दौरान पुलिस ने चौक बाजार, बेगमपुरा, जोड़िया कुआं आदि क्षेत्रों में बाइक सवारों को रोककर उनके आने का कारण पूछा। सही कारण नहीं मिलने पर पुलिस ने करीब 50 बाइकों के टायर पंक्चर कर दिए।
... और पढ़ें

पश्चिमी विक्षोभ का असर खत्म, धूप निकली, पारा में चार डिग्री बढ़ोत्तरी

पश्चिमी विक्षोभ का असर खत्म, धूप निकली,
शामली। पश्चिमी विक्षोभ का असर खत्म हो गया है। बारिश बंद होने के बाद शनिवार को धूप निकलने से मौसम में सुधार हुआ। 19 किलोमीटर की रफ्तार से तेज हवा चलने से मौसम में ठिठुुरन बरकरार रही। शनिवार को धूप निकलने से दिन का पारा चार डिग्री सेल्सियस और रात के पारा में एक डिग्री सेल्सियस बढ़ोतरी दर्ज की गई। मौसम वैैैज्ञानिकों के मुताबिक इस सप्ताह दिन के तापमान में पांच से छह डिग्री तापमान में बढ़ोतरी होगी।
पिछले चार दिन पूर्व पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने से मौसम में बदलाव आना शुरू हो गया था। पश्चिमी विक्षोभ का असर पहाड़ों से लेकर मैदानी क्षेत्रों तक रहा। शुक्रवार सुबह से लेकर देर रात तक रुक रुक कर बारिश होती रही। शनिवार को दिन का तापमान 27 डिग्री दर्ज किया गया। पूर्वी यमुना नहर खंड के उपराजस्व अधिकारी अंबुज कुमार ने बताया कि शुक्रवार को सुबह से लेकर शाम तक 10 एमएम बारिश रिकार्ड की गई है।
... और पढ़ें

700 किलोमीटर का सफर, जेब में पैसे, न पेट भरने को भोजन

शामली। लॉकडाउन में काम धंधा बंद होने पर श्रमिकों का सैकड़ों किलोमीटर दूर अपने घर की तरफ लौटने को सिलसिला जारी है। कोई रेहडे से अपने परिवार के साथ लौट रहा है कोई अकेला। इन श्रमिकों का कहना था कि जेब में पैसे नहीं है और न खाने को भोजन।
- 700 किलोमीटर दूर घर जाने को पैदल निकले
शनिवार दोपहर डेढ़ बजे कैराना रोड पूर्वी यमुना नहर पर चार श्रमिक पीठ पर बैग लगाए शामली की तरफ आते मिले। रामसागर, लालाराम, मनोज और परदेशी ने बताया कि उनका घर 700 किलोमीटर दूर हरदोई जिले में गांव बिलकराम है। वे कैराना क्षेत्र में देहरादून के ठेकेदार के साथ टंकी निर्माण कार्य में मजदूरी कर रहे थे। काम बंद होने पर उनके पास न खाने को राशन रहा और न ही जेब में पैसे। कैराना में पुलिस ने उन्हें भोजन खिलाया।
- सिर पर सामान की गठरी, बच्चे साथ
शहर में फव्वारा चौक पर दोपहर 12 बजे एक परिवार करनाल की तरफ जाता हुआ मिला। दंपती के सिर पर सामान की गठरी थी और पांच बच्चे साथ। हरियाणा के करनाल जिले के नीलोखेड़ी के रहने वाले हैं। मुजफ्फरनगर के मंसूरपुर में झोपड़ी डालकर लोहे का सामान बेचते थे। शनिवार सुबह घर के लिए निकले। मुजफ्फरनगर से लालूखेड़ी तक निजी वाहन में बैठकर पहुंचे, वहां से पैदल आ रहे हैं।
- रेहड़े में परिवार, इटावा का सफर
शहर के अजंता चौक पर चार-पांच रेहड़े में परिवार मेरठ की तरफ जाते हुए मिले। रमेश ने बताया कि उसकी पत्नी गर्भवती है। वह पानीपत में कंबल फैक्टरी में काम करते थे। फैक्टरी बंद होने पर उनके पास खाने को राशन बचा न पैसे। अब वे रेहडे़ से परिवार को लेकर जिला इटावा में अपने घर लौट रहे है।
शामली में पैदल लौटती महिला व युवक।
शामली में पैदल लौटती महिला व युवक।- फोटो : SHAMLI
शामली पानीपत से हरदोई पैदल लौटते लोग।
शामली पानीपत से हरदोई पैदल लौटते लोग।- फोटो : SHAMLI
शामली में रेहडे़ से हरियाणा से अपने घर लौटते लोग।
शामली में रेहडे़ से हरियाणा से अपने घर लौटते लोग।- फोटो : SHAMLI
... और पढ़ें

पहले स्क्रीनिंग, फिर जिले में एंट्री

शामली: मुजफ्फरनगर से अपने परिवार सहित करनाल लौटती महिलाएं।
शामली। बाहर से दूसरे राज्यों और जिलों से आने वाले लोगों को स्क्रीनिंग के बाद एंट्री दी जाएगी। बाहर से आने वाले लोगों को रोकने के लिए स्कूल-कालेजों को रैन बसेरा बनाया गया है। स्क्रीनिंग के बाद उन्हें घर भेजा जाएगा।
कोरोना वायरस से बचाव के लिए प्रशासन पूरी एहतियात बरत रहा है। हरियाणा, राजस्थान, दिल्ली, मेरठ समेत गैर राज्यों व जनपद में काम करने वाले जिले के लोग लॉकडाउन के बाद बॉर्डर पर फंसे हुए हैं। इन लोगों का अब जिले में पहुंचना शुरू हो गया है। प्रशासन ने जिले में कोराना संक्रमण से बचाव के लिए इन्हें जिले की सीमा पर ही रोककर उनकी स्क्रीनिंग करने की व्यवस्था की गई है। सीएमओ डा. संजय भटनागर ने बताया कि दिल्ली लोनी बार्डर की तरफ से आने वाले लोगों के लिए एलम में इंटर कालेज, कांधला में जीआईसी इंटर कालेज, मेरठ की तरफ से आने वालों के लिए काबड़ौत पुल के निकट पंचायतघर, मुजफ्फरनगर की तरफ से आने वालों के लिए लालूखेड़ी इंटर कालेज में रोककर स्क्रीनिंग की व्यवस्था की गई है।
सीएमओ ने बताया कि इन स्थानों पर स्वास्थ्य टीम लगा दी गई है। स्क्रीनिंग के बाद उन्हें घर भेजा जाएगा और जिन्हें रोकने की जरूरत होगी, उन्हें वहीं पर रखा जाएगा। बाहर से आने वाले लोग अपने घर में भी 14 दिन तक क्वारंटीन में रहेंगे। उधर, जिला प्रशासन द्वारा करनाल रोड बिड़ौली बार्डर पर और पानीपत रोड पर यमुना पुल बार्डर पर दो रैन बसेरों की व्यवस्था की गई है। अभी तक जनपद की सीमाओं पर पहुंचने वालों में जनपद बदायूं, अमरोहा, बरेली, रामपुर, मुजफ्फरनगर, हरदोई, मुरादाबाद, शाहजहांपुर, सहारनपुर आदि के लोग शामिल हैं, जिनकी खाने-पीने की व्यवस्था की गई है।
पंजाब से पहुंचे दो महिलाओं सहित 12 लोगों ने सीएचसी में कराई जांच
शामली। जिला मुजफ्फरनगर के फुगाना थानाक्षेत्र के एक गांव में पंजाब से पहुंचे दो महिलाओं समेत 12 लोगों को गांव में घुसने से रोक दिया और अस्पताल में जांच कराने को कहा।
शनिवार शाम करीब चार बजे दो महिला सहित 12 लोग सीएचसी पहुंचे। उन्होंने चिकित्सकों को बताया कि वे पंजाब में काम करते थे। लॉकडाउन में काम बंद होने पर वे फुगाना थानाक्षेत्र स्थित गांव में अपने घर पहुंचे। जहां ग्रामीणों ने उन्हें घर जाने से पहले अस्पताल में जांच कराने को कहा। ग्राम प्रधान की चिट्ठी लेकर सभी लोग सीएचसी शामली पहुंचे। इमरजेंसी में चिकित्सकों ने सभी की जांच की। चिकित्सकों ने बताया कि जांच में एक गर्भवती समेत दो महिलाओं को हल्का बुखार था। जबकि बाकी सभी लोग स्वस्थ पाए गए। सभी लोगों को 14 दिन तक गांव में क्वारंटीन में रहने की सलाह दी गई है। इसके बाद सभी लोग अपने गांव चले गए।
डोकपुरा में ट्रैक्टर-बुग्गी लगाकर रास्ता रोका
झिंझाना। क्षेत्र के गांव डोकपुरा में कोरोना से बचाव को लेकर ग्रामीण सजग हैं। ग्रामीणों ने बाहरी व्यक्तियों को रोकने के लिए गांव के मुख्य रास्तों पर ट्रैक्टर और बुग्गी खड़ी कर रास्ते बंद कर दिए। ग्राम प्रधान ओमपाल, पूर्व जिला पंचायत सदस्य ईश्वर सिंह, रामहेर, देवेंद्र आदि का कहना है कि पूरा गांव इस बीमारी को लेकर काफी गंभीर है। गांव के जो युवा रोजगार के लिये गांव से बाहर गये हुए थे, उनको भी गांव में घुसने से पहले अपना पूर्ण चिकित्सीय परीक्षण के बाद ही गांव में घुसने दिया जा रहा है। साथ ही जो लोग दिहाड़ी मजदूर है। रोजगार नहीं होने की दशा में ग्रामीण उन परिवारों का सहयोग कर उन्हें राशन आदि मुहैया करा रहे हैं।
झिंझाना के गांव डोकपुरा मे ग्रामीणों ने रास्ते किए बंद।
झिंझाना के गांव डोकपुरा मे ग्रामीणों ने रास्ते किए बंद।- फोटो : SHAMLI
... और पढ़ें

मां कूष्मांडा की पूजा कर लिया आशीर्वाद

लॉकडाउन से मोरना मिल बंद होने के कगार पर

लॉकडाउन से मोरना मिल बंद होने के कगार पर
मोरना। लॉकडाउन के चलते ट्रांसपोर्ट की समस्या आ रही है। जिससे मोरना मिल बंद होने कगार पर पहुंच गया है। इससे मोरना क्षेत्र के किसानों के बीच भारी बैचेनी बनी हुई है। वहीं कोल्हुओं के मालिकों के बीच गुड़ बेचने को संकट गहराया हुआ है। किसानों और कोल्हू स्वामियों ने गुड़ मंडी खोलने की मांग की है।
दि गंगा किसान चीनी मिल में प्रतिदिन 25 हजार क्विंटल गन्ने की पेराई होती है। चीनी को तैयार करने के लिए गंधक, चूना उपयोग में लाया जाता है। जिसका स्टाक मात्र दस दिन का शेष रह गया है। मोरना क्षेत्र के कस्बा भोकरहेड़ी, छछरोली, वजीराबाद, मोरना, किशनपुर, ककराला, चौरावाला, भोपा सहित ककरोली क्षेत्र के गांव तेवड़ा, खेड़ी फिरोजाबाद, टंहेड़ा, ढांसरी, बेहड़ा सादात, खाईखेड़ी, खुजेड़ा, जटवाडा में गांवों में कोल्हू स्वामी के बीच भय का वातावरण बना हुआ है, जिसके चलते कोल्हुओं में गन्ना पेराई ना के बराबर हो रही है। कोल्हू स्वामी नरेंद्र, सतीश चौधरी, गुल मोहम्मद, सालिम, सुधीर सहरावत, ब्रह्मसिंह, पहलवान, प्रधान उन्नाव, बबलू सहरावत, नाजिम, सतेंद्र, भूरा ने बताया कि ट्रांसपोर्ट बंद होने के कारण कोल्हुओं में गुड का स्टॉक हो गया है। लॉकडाउन के चलते गुड मंडी में व्यापारियों ने गुड़ खरीदना बंद कर रखा है। गुड़ नहीं बिकेगा, तो किसान को भुगतान नहीं हो सकेगा। यही हालत रही तो गन्ना खेतों में रह जाएगा।
मोरना मिल प्रबंधक हर्ष वर्धन कौशिक ने बताया कि अभी दस दिन का चीनी तैयार करने के लिए चूना और गंधक शेष बचा हुआ है। इस समास्या से निपटने के लिए गन्ना कार्यालय लखनऊ में उच्च अधिकारियों को अवगत करा दिया गया है। चूना और गंधक राजस्थान से आयात किया जाता है। लॉकडाउन के ट्रांसपोर्ट बंद होने से बड़ी समास्या बनी हुई है।
... और पढ़ें

दिल्ली- गाजियाबाद में फंसे यात्रियों को पहुंचाने के लिए चलाई 200यूपी रोडवेज की बसें

यात्रियों को पहुंचाने के लिए चलाईं 200 रोडवेज बसें
शामली। दिल्ली- गाजियाबाद सीमा पर फंसी सवारियां को उनके शहरों में पहुंचाने के लिए सहारनपुर रीजन की रोडवेज की 200 बसें शनिवार को संचालित की गई। दिल्ली-गाजियाबाद से आने वाली सवारियों का शामली में स्वास्थ्य की जांच होगी। उन्हें अलग रखा जाएगा। इसके बाद ही उन्हें उनके गांव जाने की इजाजत दी जाएगी।
लॉकडाउन में दिल्ली- गाजियाबाद सीमा पर फंसे हजारों यात्रियों को उनके पैतृक शहर और जिला मुख्यालय पर पहुंचाने के लिए उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम के सहारनपुर रीजन से शासन ने 200 रोडवेज बसों को मांगा गया था। सहारनपुर रीजन से यूपी रोडवेज की बसों को दिल्ली और गाजियाबाद लालकुंआ भेजा गया है। शनिवार को सहारनपुर से दिल्ली और गाजियाबाद बॉर्डर के लिए यूपी रोडवेज बसों का संचालन शुरू हो गया है। डीएम जसजीत कौर ने बताया कि दिल्ली-गाजियाबाद के लिए चलाई गई यूपी रोडवेज की बसों का संचालन शुरू होगया है। सवारियों के रुकने और भोजन की अलग से व्यवस्था की जाएगी।
बसों को किया गया सैनिटाइज
शामली। सहारनपुर से गाजियाबाद जाने वाली रोडवेज बसों का शामली पहुंचने पर पहले बस अड्ड़े पर सैनिटाइज करके शामली से मेरठ होकर गाजियाबाद भेजा जा रहा है।
यात्रियों को देना पड़ेगा किराया
शामली। यूपी रोडवेज सहारनपुर रीजन के आरएम मनोज पुंडीर ने बताया कि दिल्ली- गाजियाबाद सीमा में दिहाड़ी मजदूर काफी संख्या में फंसे हुए हैं। मुख्यमंत्री के आदेश पर शनिवार से मजदूरों को उनके शहर और जिला मुख्यालय पर पहुंचाने के लिए रोडवेज बसों को दिल्ली- गाजियाबाद सीमा पर भेजी गई है। सवारियों से किराया लेकर उनके जिलों में पहुंचाने का काम किया जाएगा।
शघमली रोडवेज बस अडडे पर रोडवेज बस में बैठे  यात्री
शघमली रोडवेज बस अडडे पर रोडवेज बस में बैठे यात्री- फोटो : SHAMLI
शामली रोडवेज बस अडडे पर रोडवेज बस में यात्री को सैनीटराईज करते चायक
शामली रोडवेज बस अडडे पर रोडवेज बस में यात्री को सैनीटराईज करते चायक- फोटो : SHAMLI
... और पढ़ें

पति विदेश से लौटा, पत्नी में मिले संदिग्ध लक्षण

शामली। शामली क्षेत्र के एक गांव निवासी दंपती को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया है। 13 दिन पहले पति विदेश से लौटा था। अब पत्नी से संदिग्ध लक्षण मिले हैं। स्वास्थ्य विभाग ने दोनों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं।
शामली क्षेत्र के एक गांव निवासी युवक कुछ दिन पहले किसी काम से विदेश गया था। वह 15 मार्च को विदेश से घर लौटा था। बताया गया है कि उस युवक ने स्वास्थ्य विभाग को विदेश से आने की सूचना नहीं दी थी। ग्रामीणों की सूचना पर स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव में पहुंची। टीम ने युवक और उसके परिवार के बारे में जानकारी ली। सीएमओ डॉ. संजय भटनागर ने बताया कि युवक का स्वास्थ्य ठीक मिला, जबकि उसकी पत्नी में संदिग्ध लक्षण मिले हैं। युवक के विदेश से आने के कारण और पत्नी में संदिग्ध लक्षण मिलने के कारण दोनों को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया है। दोनों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। जांच रिपोर्ट आने के बाद स्थिति स्पष्ट हो पाएगी। सीएमओ ने बताया कि कैराना निवासी कोरोना पीड़ित युवक की हालत में पहले से काफी सुधार है। अभी युवक, उसकी पत्नी और बच्चे को आइसोलेशन वार्ड में ही रखा गया है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us