बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
इस गायत्री जयंती फ्री में कराएं गायत्री मंत्र का जाप एवं हवन,  दूर होंगी समस्त विपदाएं - रजिस्टर करें
Myjyotish

इस गायत्री जयंती फ्री में कराएं गायत्री मंत्र का जाप एवं हवन, दूर होंगी समस्त विपदाएं - रजिस्टर करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

संदिग्ध हालात में विवाहिता की मौत, हत्या की आशंका

सिरसिया (श्रावस्ती)। बालापुर मोड़ निवासिनी एक विवाहिता की शुक्रवार रात संदिग्ध हालात में मौत हो गई। सूचना पर पहुंचे मृतका के पिता ने पुत्री की हत्या की आशंका जताते हुए सिरसिया पुलिस को तहरीर दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने पति को हिरासत में ले लिया है। वहीं पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भिनगा भेजा है।
रंजीतपुर निवासी बलिराम कसौधन पुत्र स्वामी दयाल ने अपनी पुत्री पुष्पा देवी (25) का विवाह सिरसिया थाना क्षेत्र के ग्राम बालापुर मोड़ निवासी मनोज कुमार पुत्र शोभाराम के साथ पांच वर्ष पूर्व किया था। पुष्पा देवी की शुक्रवार रात को संधिग्ध परिस्थितियों मे मौत हो गई। जिसकी सूचना शनिवार सुबह मनोज कुमार ने बलिराम कसौधन को दी। मौके पर पहुंचे मृतका के पिता व परिवार के अन्य सदस्यों ने ससुरालीजनों पर पुष्पा देवी की हत्या की आशंका जताते हुए सिरसिया पुलिस को सूचना दी।
सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने मनोज, शोभाराम सहित परिवार के अन्य सदस्यों को हिरासत में ले लिया। जिन्हें पुलिस अपने साथ सिरसिया थाने ले आई। वहीं पुलिस ने लाश का पंचनामा भराकर उसे पोस्टमार्टम के लिए भिनगा भेज दिया है। वहीं घटना स्थल का पुलिस अधीक्षक अरविंद कुमार मौर्य व पुलिस क्षेत्राधिकारी हौसला प्रसाद ने जायजा लिया। इस बारे में सिरसिया थाना प्रभारी राम समुझ प्रभाकर का कहना है कि मामला दर्ज कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के सही कारणों का पता चल सकेगा। उसी के अनुसार कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

बाइकों की भिड़ंत में एक की मौत, चार घायल

सिरसिया (श्रावस्ती)। भिनगा-सिरसिया मार्ग स्थित जनकपुर पॉलिटेक्निक पुल के पास शुक्रवार देर शाम दो बाइकों की आमने सामने भिड़ंत हो गई। इसमें मोटर साइकिल सवार पांच लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। जिन्हें अस्पताल लाया गया। जहां एक की मौत हो गई। जबकि चार अन्य घायलों को भिनगा रेफर किया गया है।
सिरसिया थाना क्षेत्र के सोहेलवा निवासी गुल्ले (20) बाइक से सिरसिया की ओर आ रहा था। इस दौरान बाइक पर उसके साथ बलरामपुर के थाना हरैया अंतर्गत ग्राम मणिपुर निवासी जाकिर (32) भी था। वहीं सामने से मोटरसाइकिल लेकर थाना क्षेत्र के चिल्हरिया निवासी अरुण कुमार वर्मा (32) गांव के ही रामू (32) व रियाज उर्फ सैंपल (20) के साथ आ रहे थे। जैसे ही गुल्ले मोटर साइकिल लेकर भिनगा-सिरसिया मार्ग स्थित भैंसाही नाला पुल पहुंचा। तभी सामने से आ रही बाइक से भिड़ंत हो गई। जिसमें पांचों लोग गंभीर रूप से घायल हो गए।
स्थानीय लोगों की सूचना पर पहुंची सिरसिया पुलिस ने सभी घायलों को एंबुलेंस से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सिरसिया पहुंचाया। जहां चिकित्सकों ने गुल्ले को मृत घोषित कर दिया। वहीं शेष घायलों की हालत गंभीर होने के कारण उन्हें संयुक्त जिला चिकित्सालय भिनगा रेफर किया गया है।
... और पढ़ें

बाग में फंदे से लटकता मिला युवक का शव

इकौना (श्रावस्ती)। मध्यनगर मनोहरापुर निवासी एक युवक की लाश शनिवार को गांव के बाहर बाग में गमछे के सहारे फंदे से लटकती मिली। सूचना पर पहुंची इकौना पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भिनगा भेज दिया है। परिवारीजन मौत का कारण आत्महत्या बता रहे हैं।
इकौना थाना क्षेत्र के ग्राम मध्यनगर मनोहरपुर निवासी योगेंद्र शर्मा सागौन के बाग में लगे आम के पेड़ पर शनिवार दोपहर एक युवक की लाश गमछे के फंदे के सहारे लटक रही थी। इस बीच बाग में शौच के लिए गए हरि प्रसाद गौतम के छोटे बेटे ने युवक की पहचान अपने चाचा जीवन लाल गौतम (22) पुत्र विन्द्रा प्रसाद के रूप में की। जिसने घर आकर पिता को घटना की जानकारी दी। जिसके बाद बाग में पहुंचे परिवारीजन जीवन लाल का शव देख हक्का बक्का रह गए।
हरिप्रसाद ने घटना की सूचना इकौना पुलिस को दी। सूचना के बाद मौके पर पहुंचे वरिष्ठ उपनिरीक्षक शिवकुमार शर्मा ने परिवारीजनों के सहयोग से शव को फंदे से नीचे उतरवाया। जिसका पंचनामा भराकर उसे पोस्टमार्टम के लिए भिनगा भेज दिया है। मृतक के भाई हरि प्रसाद का कहना था कि जीवन लाल गौतम अविवाहित था। वह शराब का आदी था। जो अपने अन्य साथियों के साथ शराब के नशे में हमेशा धुत रहता था। वह घर पर कभी-कभी आता था। अक्सर शराब के नशे में वह घर के बाहर बने मड़हे में ही सो जाता था।
... और पढ़ें

राप्ती का घट रहा जलस्तर, तेज हुई कटान

श्रावस्ती। राप्ती नदी का जलस्तर गुरुवार तेजी के साथ घट रहा है। लेकिन इसके बावजूद राप्ती नदी अभी भी खतरे के निशान से काफी ऊपर है। राप्ती नदी के तटीय इलाके में बसे गांवों में कटान व जलभराव है। कुछ गांवों के ग्रामीण कटान को देखते हुए अपने पक्के मकान को तोड़ कर मलवा सहित सुरक्षित स्थान की ओर निकल रहे हैं। इसी के साथ भिनगा जमुनहा का जमीनी संपर्क एक ओर से कट गया है। गुरुवार को जलस्तर 128.10 सेमी पर पहुंच गया जो कि खतरे के निशान 127.7 सेमी. से 40 सेमी. ऊपर है। जबकि बुधवार को जलस्तर खतरे के निशान से 70 सेमी. ऊपर पहुंच गया था।
लगातार जिले में हो रही बरसात के कारण राप्ती नदी अपना तांडव शुरू कर चुकी है। सुबह से ही राप्ती नदी मधवापुर सहित कुछ इलाकों में तेजी से कटान कर रही है। इसको देखते हुए मधवापुर, भगवानुपर गांव में अमेरिका प्रसाद व कमला प्रसाद अपने घरों को तोड़ कर सुरक्षित स्थान की ओर घर का सभी सामान व मलवा लेकर निकल चुके हैं। ताकि जहां वह अपना आशियाना बनाएं। वहां इस मलवे का उपयोग कर सकें। यही स्थिति भगवानपुर गांव का भी है। जहां राप्ती नदी गांव को काट रही है। जबकि भंगहा पुलिस चौकी अंतर्गत गोंडरा राजावीरपुर से भंगहा बाजार का संपर्क कट चुका है। जिसके चलते कई गांव एक दूसरे से जुड़ नहीं पा रहे हैं। बाढ़ की स्थिति को देखते हुए जमुनहा व हरिहरपुरनी क्षेत्र में विद्युत आपूर्ति बाधित कर दी गई है। ताकि करंट से कोई दुर्घटना न हो सके।
यह गांव बाढ़ से हुए प्रभावित
वीरपुर, सर्रा, लक्ष्मरनपुर सेमरहनिया, संगमपुरवा, बेलरी, गंगाभागड़, मुजेहना, अमवा, शाहपुर कला, अशरफ नगर, टिकुइया, सुल्तानजोत, मनिकापुर, जरकुसहा, मनिकाचौक, महरौली, अलीनगर धर्मनगर, अशरफ नगर, कोकल, सुल्तानजोत, बरंगा, नेवादा भोजपुर, राजापुर वीरपुर, खजुहा झनझिनिया, तिलकपुर, शिकारी, लौकिहा, मोहनपुर, गोडऱा रेहरा,नाउन मनकापुर के साथ लालबोझा दर्वेश गांव व डिलवा के पास नदी ज्यादा कटान कर रही है।
इन गांवों में नदी कर रही घरों का कटान
राप्त्ी नदी मौजूदा समय में जमुनहा के भगवानपुर निवासी अमेरिका प्रसाद, कमला प्रसाद सहित अन्य लोगों के घरों का कटान कर रही है। राप्ती नदी की विभीषिका को देखते हुए सभी लोग अपने अपने आशियाने को उजाड़ कर सुरक्षित स्थान की तरफ जा रहे हैं। यही स्थिति कुछ अन्य गांवों का है। जहां लोग अपने पक्के मकान को तोड़ रहे हैं।
जमुनहा तहसील का जमीनी संपर्क जिला मुख्यालय से कटा
मधवापुर घाट के साथ ही तिलकपुर मोड़ के पास राप्ती नदी लगातार कटान कर रही है। कई स्थानों पर सड़क क्षतिग्रस्त है। यहां तक कि कुछ ऐसे भी स्थान हैं जहां मुख्य मार्ग से काफी ऊपर पानी बह रहा है। जिसके चलते यह देख पाना संभव नहीं है कि कहां कहां सड़क कटानग्रस्त हैं। ऐसे स्थिति में जमुनहा तहसील का जमीनी संपर्क जिला मुख्यालय से कटा हुआ है।
मार्ग हुआ क्षतिग्रस्त
विकास खंड सिरसिया के दुर्गापुर केपी से सिरसिया जाने वाला मार्ग कट गया है। पहाड़ों पर लगातार हो रही बरसात से दुर्गापुर केपी नाले में बाढ़ का पानी आ जाने से सड़क कट गई। जिससे आने जाने वाले लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
मोटरसाइकिल बही, युवक बचा
लालपुर महरी निवासी दिनेश कुमार (25) पुत्र संतराम बुधवार को अपनी ससुराल इकौना थाना क्षेत्र के ओड़ाझार गया था। गुरुवार को वह वापस अपने घर आ रहा था। रेवलिया के खड़ंजा मार्ग पर करीब चार फिट पानी होने के कारण व मार्ग कटा होने के कारण मोटर साइकिल सहित पानी में बह गया। करीब सौ मीटर दूर दिनेश कुमार पेड़ की ओट पा गया। जिससे वह पानी से बाहर आ सका। जबकि मोटरसाइकिल का अभी कोई पता नहीं चल सका है।
अधिकारियों ने बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों का किया दौरान
बाढ़ की संभावनाओं व स्थिति को देखते हुए डीएम टीके शिबु, एडीएम योगानंद पांडे सहित अन्य अधिकारियों के साथ बाढ़ ग्रस्त क्षेत्र मधवापुर घाट, राप्ती बैराज सहित अन्य क्षेत्रों का दौरा करके स्थिति का अनुमान लगाया।
राप्ती नदी का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर है। कुछ स्थानों से कटान की सूचना भी आई है। लेकिन अभी स्थिति सामान्य है। पानी तेजी के साथ निकल रहा है। उम्मीद है कि यदि बरसात नहीं हुई तो देर रात तक राप्ती नदी का जलस्तर पूर्ण रूप से सामान्य हो जाएगा। -योगानंद पांडे एडीएम
... और पढ़ें

संदिग्ध हालात में पेड़ पर लटकता मिला युवक का शव

तुलसीपुर (श्रावस्ती)। अहिरा घासी निवासी एक युवक बुधवार शाम किसी काम से घर से बाहर गया था। गुरुवार सुबह युवक का शव संदिग्ध हालात में आम के पेड़ पर लुंगी के फंदे के सहारे लटकता मिला। परिवारीजनों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।
सोनवा थाना क्षेत्र के अहिराघासी निवासी अदालत (44) पुत्र रामतेज बुधवार शाम घर से किसी काम के लिए निकला था। देर रात तक वापस न लौटने पर परिवारीजनों द्वारा युवक की तलाश की गई। इसके बाद भी युवक का कहीं कोई पता न चला। गुरुवार सुबह गांव के पश्चिम उसी के खेत में लगे आम के पेड़ पर लुंगी के फंदे के सहारे अदालत का शव लटकता मिला।
देखते ही देखते मौके पर काफी संख्या में ग्रामीण एकत्र हो गए। परिवारीजनों व गांव के चौकीदार की सूचना पर पहुंची सोनवा पुलिस ने शव को ग्रामीणों के सहयोग से नीचे उतारा। पुलिस ने शव का पंचनामा भरा कर उसे पोस्टमार्टम के लिए भिनगा भेज दिया है। वहीं इस संबंध में थाना प्रभारी सोनवा सुरेंद्र कुमार शर्मा बताते हैं कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों का पता चल सकेगा। (संवाद)
... और पढ़ें

अपनी अपनी चौकियों पर मौजूद रहें बाढ़ चौकी प्रभारी

श्रावस्ती। मधवापुर घाट व राप्ती नदी पर स्थित लक्ष्मणपुर बैराज एवं आसपास क्षेत्रों का जिलाधिकारी ने गुरुवार को निरीक्षण कर जायजा लिया। निरीक्षण के दौरान लक्ष्मणपुर बैराज पर जल स्तर दोपहर 01 बजे 128.00 मीटर पाया गया। जो खतरे के निशान से 30 सेंटीमीटर ऊपर था। जलस्तर पहले की अपेक्षा 10 सेंटीमीटर कम हुआ है। संभावित बाढ़ को देखते हुए जिलाधिकारी ने जिले में स्थापित सभी 18 बाढ़ चैकियों को संचालित करने का निर्देश दिया है।
निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी टीके शिबु ने बाढ़ चैकी प्रभारियों को निर्देश दिया कि उनकी चौकी के अंतर्गत आने वाले गांवों में वह घटते-बढ़ते जलस्तर पर पैनी नजर रखें। यदि किसी भी गांव में पानी भरने की संभावना उत्पन्न होती है तो ग्रामवासियों को तत्काल राहत शिविर में आवासित करने की व्यवस्था की जाए। इसके साथ ही जिलाधिकारी ने बाढ़ राहत कार्य में तैनात किये गये सभी नोडल अधिकारियों व सभी उपजिलाधिकारियों को निर्देश दिया कि वह अपने-अपने क्षेत्रों में निरन्तर भ्रमण कर राप्ती नदी के जलस्तर पर नजर रखें।
पूर्व अनुभव के आधार पर जलस्तर को देखते हुए कौन-कौन संभावित गांव किस स्तर तक प्रभावित हो सकते है। इस आकलन के आधार पर बाढ़ प्रभावित लोगों को राहत शिविर में ठहराने एवं अन्य राहत और बचाव कार्य किए जाएं। जिलाधिकारी ने ग्रामवासियों से कहा कि बाढ़ संबंधी किसी भी प्रकार की सहायता के लिए कंट्रोल रूम के नंबर 9454417485, 9454417486 पर अपनी समस्या बता सकते हैं। इसके अतिरिक्त बाढ़ के संबंध में जानकारी तहसीलदार भिनगा 9454416092, तहसीलदार इकौना 9454416093 व तहसीलदार जमुनहा 9454416095 के सीयूजी नंबर पर प्राप्त कर सकते है। निरीक्षण के दौरान एडीएम योगानंद पांडे, एसडीएम प्रवेन्द्र कुमार, तहसीलदार नारायन सिंह, बाढ़ कार्य खंड के अधिशासी अभियंता विनोद कुमार गुप्ता एवं अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग एसके हरित मौजूद रहे।
एसडीएम ने बाढ़ पीड़ितों को बांटे लंच पैकेट
जिलाधिकारी के निर्देश पर गुरुवार को उपजिलाधिकारी राजेश कुमार मिश्रा व तहसीलदार राजकुमार पांडे ने तहसील भिनगा के ग्राम कोकल के मजरा मुरावन पुरवा व ग्राम राजवीरपुर के मजरा मनकापुर में बाढ़ का पानी गांव में भर जाने से वहां पहुंचकर ग्रामीणों को लंच का पैकेट भी प्रदान किया। इस दौरान उन्होंने ग्रामीणों से कहा कि किसी भी प्रकार की समस्या होने पर जिला स्तर पर संचालित बाढ़ कंट्रोल रूम में सूचना दे सकते हैं। यह कंट्रोल रूम 24 घंटे क्रियाशील रहेगा।
... और पढ़ें

जिले में कम हो रहा कोरोना, सिर्फ 36 एक्टिव मामले

श्रावस्ती। जिले में वैश्विक महामारी कोरोना का प्रकोप थम रहा है। जिले में गुरुवार को मात्र 36 एक्टिव मामले शेष बचे हैं। इसके साथ ही जिले में कुल संक्रमितों की संख्या 4483 पहुंच गई है। वहीं कोरोना से अब तक 35 लोगों की मौत हो चुकी गई।
जिले में कोरोना की रफ्तार तेजी से घट रही है। जिले में अब तक आरटीपीसीआर से 1,74,605, एंटीजेन टेस्ट किट से 2,00,171 तथा ट्रू नॉट मशीन से 3,75,903 जांच कराई जा चुकी हैं। अब तक जिले में 4,483 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आ चुकी है। जिनमें से 4,413 मरीज ठीक हो चुके हैं। इनमें से 35 लोगों की मौत हो चुकी है। गुरुवार तक 36 मामले ही एक्टिव बचे हैं।
मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. एपी भार्गव ने बताया कि कि होम आइसोलेशन वाले मरीजों को समय से दवाओं की किट प्रदान की जा रही है। साथ ही उनकी फीडिंग गूगल शीट पर प्रतिदिन अपडेट की जा रही है। होम आइसोलेशन वाले मरीजों को प्रतिदिन उनके नंबर पर संपर्क कर निगरानी कर उन्हें उचित सुझाव एवं दवाएं दी जा रही हैं।
साथ ही कोविड-19 मरीज के संपर्क में रहे व्यक्तियों की कांटेक्ट ट्रेसिंग भी हो रही है। उन्होंने जिले वासियों से कहा है कि कोविड-19 से घबराएं नही। धैर्य से काम लें। अनिवार्य रूप से मास्क लगाने के साथ सोशल डिस्टेंसिंग अपनाएं और बेवजह घरों से बाहर न निकलेें। ग्रामीण क्षेत्रों में 397 तथा नगरीय क्षेत्रों में 37 निगरानी समितियों द्वारा घर-घर जाकर सर्वे किया जा रहा है। साथ ही जिले वासियों से अपील है कि 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के सभी लोग वैक्सीनेशन सेंटर जाकर टीकाकरण जरूर कराएं।
... और पढ़ें

बरसात से राप्ती का बढ़ा जलस्तर, लाल निशान से 70 सेंटीमीटर ऊपर पहुंची

श्रावस्ती। लगातार हो रही बरसात से राप्ती नदी जिले में उफना गई। बुधवार दोपहर तक राप्ती नदी का जलस्तर खतरे के निशान से 70 सेंटीमीटर ऊपर पहुंच गया। इस दौरान कई गांवों में बाढ़ का पानी घुस गया। जबकि कई क्षेत्रों का संपर्क मार्ग बाधित रहा। बाढ़ की आशंका को देखते हुए डीएम सहित कई अन्य अधिकारी क्षेत्र का दौरा कर रहे हैं। वहीं जिले में अलर्ट जारी किया गया है।
जिले में लगातार तीन दिनों से दिन रात बरसात हो रही है। ऐसी ही बरसात नेपाल व पहाड़ी क्षेत्रों में भी हो रही है। इस बरसात के कारण मंगलवार दोपहर से ही राप्ती नदी का जलस्तर तेजी के साथ बढ़ने लगा था। जबकि बुधवार यह जल स्तर बढ़ कर खतरे के निशान से 70 सेंटीमीटर ऊपर पहुंच गया। अचानक आई इस बाढ़ के कारण राप्ती नदी के तटीय क्षेत्र के कई गांवों में पानी लोगों के घरों में घुस गया। वहीं भिनगा के जंगल में बाढ़ का पानी आ जाने के कारण लगभग दो फीट पानी भर गया।
संभावित बाढ़ की यह स्थिति देखते हुए डीएम सहित अन्य अधिकारी स्थिति का जायजा लेने के लिए क्षेत्र में निकले। इस दौरान डीएम ने सबसे पहले राप्ती बैराज पर पहुंच कर बाढ़ क लेबिल को देखा। इस दौरान देखा गया कि लक्ष्मणपुर बैराज पर बुधवार जल स्तर शाम चार बजे 128.40 सेंटीमीटर पाया गया जो खतरे के निशान से 70 सेंटीमीटर ऊपर है जबकि खतरे का निशान 127.70 सेंटीमीटर है। इस दौरान डीएम ने संभावित बाढ़ के मद्देनजर राहत एवं बचाव कार्य के लिए तैयार रहने का निर्देश दिया। जबकि बढ़ते जल स्तर पर निगरानी रखने के लिए राप्ती बैराज पर तैनात अधिकारियों कर्मचारियों को प्रति घंटा जलस्तर की जानकारी देने का निर्देश दिया। इस दौरान अपर जिलाधिकारी योगानंद पांडे, उपजिलाधिकारी प्रवेंद्र कुमार, तहसीलदार नारायन सिंह व बाढ़ कार्य खंड के अधिशासी अभियंता विनोद कुमार गुप्ता मौजूद रहे।
सुबह 5 बजे 127.55 सेंटीमीटर,
6 बजे 127.60 सेंटीमीटर,
7 बजे 127.75 सेंटीमीटर,
8 बजे 127.75 सेंटीमीटर,
9बजे 127.85 सेंटीमीटर,
10 बजे 127.90 सेंटीमीटर,
11 बजे 128.05 सेंटीमीटर
12 बजे 128.15 सेंटीमीटर
शाम 4 बजे 128.40 सेंटीमीटर
जलस्तर प्रति घंटा 5 से 15 सेंटीमीटर बढ़ रहा है।
बाढ़ से प्रभावित होने वाले क्षेत्र लक्ष्मनपुर कोठी, नेवादा, डेहरिया, मोहम्मदपुर, धर्मनगर, गाजोबारी, मोहनपुर, टेपरा, वीरपुर लौकिहा, हसनापुर, बरंगा, अशरफ नगर, लक्ष्मनपुर सेमरहनीय, हरिहरपुर करनपुर, शिकारी, सर्रा, जोगिया, संगमपुरवा, पोंदला, पोंदली, बेलरी, गंगाभागड, मुरावपुरवा, वीरपुर सहित अन्य गांव प्रभावित हो रहे हैं।
बाढ़ का पानी आ जाने के कारण भिनगा से तेंदुआ रतनपुर मार्ग जंगल में बाधित रहा। यहां बाढ़ का पानी सड़क के आरपार चल रहा है। इन स्थानों पर ग्रामीणों
को रास्ते की जानकारी के लिए लकड़ी लगानी पड़ी ताकि यह जानकारी हो सके कि किधर से आना-जाना है।
राप्ती नदी का जलस्तर बढ़ा है। इसको देखते हुए सभी बाढ़ चौकी व अधिकारियों को अलर्ट कर दिया गया है। फिलहाल पानी तेजी के साथ डिस्चार्ज हो रहा है। इससे अनुमान है कि शाम तक जलस्तर सामान्य हो सकता है। - टीके शिबु डीएम
... और पढ़ें

तीसरे दिन भी मेहरबान रहे मेघ, झमाझम बरसात से खुश हुए किसान

श्रावस्ती। तराई में मंगलवार तीसरे दिन भी मौसम मेहरबान रहा। मानसूनी मेघ रुक रुक कर खूब बरसे। इससे न सिर्फ जेठ की तपिश व गर्मी से लोगो को राहत मिली वरन किसानों के चेहरों पर मुस्कान दिखने लगी। खेतों में पर्याप्त पानी पाकर सिरसिया सहित जिले के कई क्षेत्रों में किसान किसान धान की नर्सरी लगाने में जुट गए हैं। दूसरी तरफ निकासी की उचित व्यवस्था न होने के कारण बरसात का पानी जमा हो जाने से कई इलाकों में हुए जलभराव ने भी लोगों की परेशानी बढ़ा दी है।
जिले में रविवार से शुरू हुई बरसात मंगलवार को भी जारी रही। बरसात के कारण खेतों में लगी मेंथा, गन्ना, आम सहित जायद की फसलों को काफी फायदा मिला। वहीं लतादार सब्जियों की पैदावार से जुड़े किसानों के लिए यह बारिश नुकसान पहुंचाने वाली रही। कभी रिमझिम तो कभी तेज बरसात के कारण भिनगा व इकौना नगर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में जगह जगह कीचड़ व जलभराव की समस्या उत्पन्न हो गई। इसके कारण लोगों को आवागमन में काफी दुश्वारी भी झेलनी पड़ी। जिला कृषि अधिकारी ओपी राना ने बताया कि जिले में धान की अच्छी पैदावार होती है। सिरसिया क्षेत्र असिंचित होने के कारण यहां ज्यादातर किसान बरसात पर निर्भर हैं। ऐसे में इस बरसात से असिंचित क्षेत्र के किसानों को लाभ होगा। इसके साथ ही इस पानी से खरीफ की दलहन, मक्का को भी फायदा होगा। किसानों के लिए यह पानी अमृत के समान है।
श्रावस्ती। बरसात के कारण नेपाल के पहाड़ों से आ रहे पानी के कारण राप्ती नदी का जलस्तर भी बढ़ने लगा है। इससे राप्ती की कछार में बसे गांवों मे बाढ़ का खतरा बढ़ने लगा है। इसको देखते हुए ही प्रशासन ने किसी भी तरह की आपदा से निपटने की कवायद भी तेज कर दी है। जिलाधिकारी टीके शिबु के निर्देश पर जिले में बाढ़ एवं अन्य आपदाओं के प्रबंधन एवं सूचनाओं के त्वरित आदान प्रदान के लिए 24 घंटे क्रियाशील रहने वाला कंट्रोल रूम भी कलेक्टेट में संचालित किया गया है। यह जानकारी देते हुए अपर जिलाधिकारी योगानंद पांडे ने बताया कि यहां तैनात कर्मचारी अपने निर्धारित समय पर उपस्थित रहकर नदी के जलस्तर में होने वाली वृद्धि से जुड़ी सूचनाओं को पंजिका में दर्ज करके प्राप्त सूचनाओं से प्रभारी अधिकारी कंट्रोल रूम को अवगत कराएंगे। कंट्रोल रूम का मोबाइल नंबर 9454417485 व 9454417486 है। जिला स्तर पर नोडल अधिकारी के रूप में डिप्टी कलेक्टर शिवध्यान पांडे को तैनात किया गया है। बाढ़ के संबंध में आवश्यक जानकारी व सूचना तहसीलदार भिनगा (9454416092), तहसीलदार इकौना (9454416093) एवं तहसीलदार जमुनहा (9454416095) के सीयूजी नंबर पर भी दी जा सकती है।
श्रावस्ती। तीन दिन से लगातार हो रही बरसात से राप्ती नदी का जलस्तर बढ़ने लगा है। हालाकि अभी नदी का जलस्तर खतरे के निशान से काफी नीचे है लेकिन मौसम विभाग ने अलर्ट जारी करते हुए लोगों को नदी के जल स्तर पर निगाह रखते हुए सुरक्षित स्थान तलाशने की सलाह दी है।
मानसून की आमद के साथ ही बीते तीन दिन से हो रही बरसात का असर पहाड़ों पर भी हो रहा है। नेपाल के पहाड़ों पर हो रही बरसात का पानी सीधे राप्ती नदी में आ रहा है। इसके चलते राप्ती नदी का जलस्तार बीते दो दिनों से धीरे धीरे बढ़ने लगा है। मंगलवार सुबह 10 बजे श्रावस्ती के राप्ती बैराज पर मापे गए जल स्तर में राप्ती 127.35 मीटर पर बह रही है। यहां खतरे का निशान 127.70 मीटर पर है। ऐसे में देखा जाए तो 0.35 मीटर ही अब नदी खतरे के निशान पर पहुंचने से बची है। मौजूदा समय में यहां पानी का डिस्चार्ज रेट 28609 क्यूसेक है। ऐसे में देखा जाए तो बहाव की स्थिति भी तेज है। जिसके चलते आसपास खतरे की संभावना बढ़ गई है। इसको देखते हुए ही मौसम विभाग ने जिले के लिए अलर्ट जारी कर नदी के आसपास के इलाकों में रहने वाले ग्रामीण को समय रहते अपने लिए सुरिक्षत स्थान तलाश लेने की सलाह भी दी है ताकि अचानक बाढ़ की चपेट में आने से बचा जा सके। यह अलर्ट राप्ती किनारे बसे बस्ती, गोंडा, बहराइच, बलरामपुर व सिद्धार्थनगर सहित कई अन्य जिलों के लिए भी जारी किया गया है।
इस संबंध में एडीएम योगानंद पांडे बताते हैं कि बरसात के कारण राप्ती नदी में जल स्तर थोड़ा बढ़ा है। सुबह 8 बजे राप्ती बैराज पर जल स्तर 127.40 मीटर था। लेकिन 10 बजे घट कर 127.35 मीटर हो गया है। प्रशासन लगातार राप्ती के जल स्तर पर निगाह बनाए हुए है। यदि बाढ़ की स्थिति आती है तो तत्काल कार्रवाई के लिए प्रशासन तैयार है।
... और पढ़ें

दहेज हत्या के तीन वांछित गिरफ्तार

ग्रामीण क्षेत्रों में विद्युत आपूर्ति व्यवस्था ध्वस्त

श्रावस्ती। ग्रामीण क्षेत्रों को दी जाने वाली विद्युत आपूर्ति भगवान भरोसे है। पुराने तार व जर्जर पोल के सहारे मिलने वाली यह आपूर्ति कब ठप हो जाए। इसका कोई ठिकाना नहीं रहता। वहीं आए दिन हो रही शॉर्ट सर्किट कब किसी बड़ी दुर्घटना का कारण बन जाए। इसका अंदाजा लगाना मुश्किल है। इसकी लगातार शिकायतों के बावजूद निगम की ओर से ध्यान न दिए जाने के कारण स्थानीय लोगों में नाराजगी है।
जिले के ग्रामीण क्षेत्रों को आज भी जर्जर विद्युत पोल व तार के सहारे आपूर्ति दी जा रही है। वहीं कस्बों व बाजारों में विद्युत पोल पर लटक रहे तार व तारों के मकड़जाल के कारण आए दिन शॉर्ट सर्किट होती रहती है। इतना ही नहीं बदहाल व्यवस्था के कारण उपभोक्ताओं को आए दिन लोग वोल्टेज व अघोषित कटौती का दंश झेलना पड़ रहा है। ऐसी स्थिति सिर्फ दूर दरज क्षेत्र ही नहीं बल्कि जिले के सभी प्रमुख कस्बों व बाजारों का भी है। जहां उत्पन्न समस्या के कारण उपभोक्ताओं को कई कई दिन विद्युत आपूर्ति के लाभ से वंचित होना पड़ता है।
ऐसा ही कुछ सिरसिया विकास क्षेत्र के जोखवा बाजार में देखने को मिला। जहां बाजार को दी जाने वाली विद्युत आपूर्ति के लिए बिछाया गया हाईटेंशन तार पूरी तरह से जर्जर हो चुका हैं। जिसे लगातार शिकायत के बाद भी बदला नहीं जा रहा है। जिसके कारण यहां आए दिन शॉर्ट सर्किट होती रहती है। ऐसा ही कुछ रविवार रात देखने को मिला। जहां बाजार में लगे जर्जर तार से हुई शॉर्ट सर्किट के कारण विद्युत लाइन टूट कर सड़क पर गिर गई। जबकि इस मार्ग से नियमित क्षेत्रवासियों का आना जाना रहता है।
बिजली निगम की यह लापरवाही कब किसी बड़ी दुर्घटना का कारण बन जाए। इसकी संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है। समस्या पर ध्यान न देने से लोगों में भारी नाराजगी है। वहीं इस बारे में अधिशाषी अभियंता विद्युत रमाशंकर मौर्य बताते हैं कि जानकारी मिली है। जल्द ही समस्या का स्थाई समाधान कराया जाएगा।
... और पढ़ें

सीएचसी अधीक्षक ने सीएचओ संग मिलकर चिकित्सक को पीटा

श्रावस्ती। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सोनवा में तैनात एक चिकित्सक को रविवार शाम सीएचसी अधीक्षक ने सीएचओ संग मिल कर पिटाई कर दी। जिसकी सूचना के बाद सोनवा पुलिस मामले की जांच कर रही है। वहीं घटना की जानकारी के बाद एसीएमओ ने मौके पर पहुंच कर जांच की। जबकि सीएमओ द्वारा तीनों लोगों को अपने कार्यालय में तलब किया गया है।
सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सोनवा में तैनात चिकित्सक डॉ. आशुतोष कुमार संयुक्त जिला चिकित्सालय भिनगा में भी अपनी सेवा दे रहे हैं। जिनका आरोप है कि रविवार शाम जिला अस्पताल से वापस लौटने के बाद वह सीएचसी आए थे। जहां उनके द्वारा अपने कक्ष का ताला खोला गया तो यहां तैनात चीफ हेल्थ ऑफीसर डॉ. रजत कुमार उन पर बिफर पड़े। इसके बाद दोनों में कहासुनी होने लगी। इस दौरान बात इतनी बढ़ी कि सीएचओ डॉ. रजत कुमार ने पीड़ित की पिटाई शुरू कर दी। इस बीच पहुंचे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अधीक्षक डॉ. राकेश कुमार भारती ने भी पीड़ित को मारा पीटा। जिसकी सूचना डॉ. आशुतोष कुमार ने मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. एपी भार्गव को दी। जिनके द्वारा तीनों को सीएमओ कार्यालय तलब किया गया है।
वहीं सोमवार को डॉ. आशुतोष कुमार की ओर से सीएचसी अधीक्षक व सीएचओ के विरुद्ध सोनवा थाने में तहरीर दी गई है। तहरीर मिलने के बाद सोनवा पुलिस मामले की जांच कर रही है। वहीं इस बारे में अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. मुकेश मातनहेलिया ने बताया कि घटना की जानकारी के बाद मैं स्वयं सीएचसी सोनवा गया था। जहां दोनों ही पक्षों ने अपनी-अपनी बात बताई। चिकित्सक व सीएचओ के बीच हाथापाई की बात प्रकाश में आई है। सीएमओ द्वारा तीनों लोगों को अपने कार्यालय में तलब किया गया है। आगे जो भी कार्रवाई होनी होगी वह सीएमओ के स्तर से होगी।
... और पढ़ें

पंचायत उपचुनाव की मतगणना पूरी

श्रावस्ती। त्रिस्तरीय पंचायत उपचुनाव के दौरान जमुनहा के लालबोझा व गिलौला के मनसुखा में ग्राम प्रधान का पद रिक्त होने के कारण मतदान कराया गया था। जहां पड़े मतों की सोमवार को गणना कराई गई। इस दौरान 41 मत से लखपता लालबोझा की व 140 मत से रानी देवी मनसुखा की प्रधान चुनी गई।
त्रिस्तरीय पंचायत उपचुनाव में विकास खंड जमुनहा के ग्राम पंचायत लालबोझा में प्रधान पद के लिए पड़े मतों की गणना सोमवार का विकास खंड परिसर जमुनहा में कराई गई। यहां कुल 1059 मतदाताओं में से 879 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया था। मतगणना के दौरान लखपता को 344 मत प्राप्त हुए। जबकि उनकी प्रतिद्वंदी सुमन वर्मा को 303 व गीता देवी को 222 मत मिले। वहीं 10 मत अवैध घोषित किए गए। मतगणना के बाद लखपता को 41 मत से विजेता घोषित किया गया।
वहीं क्षेत्र के चंदन कोटिया वार्ड नंबर 100 में क्षेत्र पंचायत सदस्य के लिए हुए चुनाव में रहमातुन पत्नी सद्दाम को 362 व रेशमा पत्नी गुडु उर्फ परवेज को भी 362 मत मिले। दोबारा रीकाउंटिंग करने पर भी बराबर मत मिलने के कारण गोटी डलाई गई। जिसमें रेशमा विजेता घोषित हुई। इस मौके पर उपजिलाधिकारी जमुनहा प्रवेंद्र कुमार, प्रभारी निरीक्षक मल्हीपुर दद्दन सिंह व चौकी प्रभारी आदि मौजूद रहे। वहीं गिलौला विकास क्षेत्र के ग्राम पंचायत मनसुखा में प्रधान पद के लिए हुए चुनाव में सर्वाधिक 386 मत प्राप्त कर रानी देवी पत्नी मोतीलाल ग्राम प्रधान चुनी गई। जबकि उनकी प्रतिद्वंदी रानी देवी पत्नी धनीराम को मात्र 246 मत प्राप्त हुए।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us